educratsweb logo


आषाढ़ महीने के शुक्ल पक्ष की अंतिम तिथि यानि कि पूर्णिमा ही गुरु पूर्णिमा के रूप जगत प्रसिद्ध है। गुरु पूर्णिमा वो अवसर है, जिसकी प्रतीक्षा दुनिया के सभी अध्यात्म प्रेमी और आत्मज्ञान के साधक बेसब्री से करते हैं। गुरु पूर्ण है, इसीलिए पूर्णिमा ही गुरु की तिथि है।

शास्त्रों में गु का अर्थ बताया गया है- अंधकार या मूल अज्ञान और रु का का अर्थ किया गया है- उसका निरोधक। गुरु को गुरु इसलिए कहा जाता है कि वह अज्ञान तिमिर का ज्ञानांजन-शलाका से निवारण कर देता है। अर्थात अंधकार को हटाकर प्रकाश की ओर ले जाने वाले को ‘गुरु’ कहा जाता है। गुरु तथा देवता में समानता के लिए एक श्लोक में कहा गया है कि जैसी भक्ति की आवश्यकता देवता के लिए है वैसी ही गुरु के लिए भी। बल्कि सद्गुरु की कृपा से ईश्वर का साक्षात्कार भी संभव है। गुरु की कृपा के अभाव में कुछ भी संभव नहीं है।
गुरू पूर्णिमा वर्षा ऋतु के आरंभ में आती है। इस दिन गुरु पूजा का विधान है। भारत भर में गुरू पूर्णिमा का पर्व बड़ी श्रद्धा व धूमधाम से मनाया जाता है। गोवर्धन पर्वत की इस दिन लाखों श्रद्धालु परिक्रमा देते हैं । बंगाली साधु सिर मुंडाकर परिक्रमा करते हैं क्योंकि आज के दिन सनातन गोस्वामी का तिरोभाव हुआ था । ब्रज में इसे ‘मुड़िया पूनों’ कहा जाता है । प्राचीन काल में जब विद्यार्थी गुरु के आश्रम में निःशुल्क शिक्षा ग्रहण करता था तो इसी दिन श्रद्धा भाव से प्रेरित होकर अपने गुरु का पूजन करके उन्हें अपनी शक्ति सामर्थ्यानुसार दक्षिणा देकर कृतकृत्य होता था। आज भी इसका महत्व कम नहीं हुआ है। पारंपरिक रूप से शिक्षा देने वाले विद्यालयों में, संगीत और कला के विद्यार्थियों में आज भी यह दिन गुरू को सम्मानित करने का होता है। मंदिरों में पूजा होती है, पवित्र नदियों में स्नान होते हैं, जगह जगह भंडारे होते हैं और मेले लगते हैं।
गुरु पूर्णिमा के अवसर पर हर धर्मावलंबी अपने गुरु के प्रति श्रद्धा और आस्था प्रकट करता है। जीवन में सफलता के लिए हर व्यक्ति गुरु के रुप में श्रेष्ठ मार्गदर्शक, सलाहकार, समर्थक और गुणी व्यक्ति के संग की चाहत रखता है। इसलिए वह गुरु के रुप में किसी संत, अध्यात्मिक व्यक्तित्व या किसी कार्य विशेष में दक्ष और गुणी व्यक्ति को चुनना चाहता है। क्योंकि गुरु की महिमा ही ऐसी है कि ईश्वर की तरह गुरु हर जगह मौजूद है। सिर्फ चाहत और दृष्टि चाहिए गुरु को पाने और देखने की।
यह दिन महाभारत के रचयिता कृष्ण द्वैपायन व्यास का जन्मदिन भी है। वे संस्कृत के प्रकांड विद्वान थे और उन्होंने चारों वेदों की भी रचना की थी। इस कारण उनका एक नाम वेद व्यास भी है। उन्हें आदिगुरु कहा जाता है और उनके सम्मान में गुरु पूर्णिमा को व्यास पूर्णिमा नाम से भी जाना जाता है।

गुरु पूजन की विधि –
इस दिन (गुरु पूजा) प्रात:काल स्नान पूजा आदि नित्य कर्मों से निवृत्त होकर उत्तम और शुद्ध वस्त्र धारण कर गुरु के पास जाना चाहिए। उन्हें ऊंचे सुसज्जित आसन पर बैठाकर पुष्पमाला पहनानी चाहिए। इसके बाद वस्त्र, फल, फूल व माला अर्पण कर तथा धन भेंट करना चाहिए। इस प्रकार श्रद्धापूर्वक पूजन करने से गुरु का आशीर्वाद प्राप्त होता है। गुरु के आशीर्वाद से ही विद्यार्थी को विद्या आती है। उसके हृदय का अज्ञानता का अन्धकार दूर होता है। गुरु का आशीर्वाद ही प्राणी मात्र के लिए कल्याणकारी, ज्ञानवर्धक और मंगल करने वाला होता है। संसार की संपूर्ण विद्याएं गुरु की कृपा से ही प्राप्त होती हैं और गुरु के आशीर्वाद से ही दी हुई विद्या सिद्ध और सफल होती है। इस पर्व को श्रद्धापूर्वक मनाना चाहिए, अंधविश्वासों के आधार पर नहीं।
गुरु पूजन का मन्त्र है-

गुरु ब्रह्मा गुरुर्विष्णु र्गुरुर्देवो महेश्वर:।
गुरु: साक्षात्परं ब्रह्म तस्मै श्रीगुरवे नम:।।

अर्थात- गुरु ही ब्रह्मा है, गुरु ही विष्णु है और गुरु ही भगवान शंकर है। गुरु ही साक्षात परब्रह्म है। ऐसे गुरु को मैं प्रणाम करता हूं।
एक बात और बड़ी महत्वपूर्ण हमारे समझने योग्य है कि आज के कलयुग में गुरु को तो सब मानते हैं, पर गुरु की कोई नहीं मानता | सब यही सोच कर खुश हो जाते हैं कि यदि हमने गुरुदेव के चरण पकड़ लिए, उनका आश्रय ले लिया तो हमारे ऊपर गुरु की कृपा हो गयी | परन्तु ऐसा नहीं होता | यदि कृपा होनी हो तो केवल आंख के इशारे में हो जाती है और यदि नहीं होनी हो तो चाहे पूरी जिंदगी चरण पकड़ के बैठे रहिये | और कृपा भी उसी पर होती है जो केवल गुरु को नहीं मानता, गुरु की भी मानता है |

educratsweb.com

Posted by: educratsweb.com

I am owner of this website and bharatpages.in . I Love blogging and Enjoy to listening old song. ....
Enjoy this Author Blog/Website visit http://twitter.com/bharatpages

if you have any information regarding Job, Study Material or any other information related to career. you can Post your article on our website. Click here to Register & Share your contents.
For Advertisment or any query email us at educratsweb@gmail.com

RELATED POST
1. Magh Mela 2020-21
Magh Mela 2020-21 Ser. No. Name of Festival Date/Day 1. Makar Sankranti
2. व्रत व त्यौहार नवंबर 2020
  तिथि (Dates)  दिन (Days) त्यौहार (Festivals) 4 नवंबर  बुधवार  करवा चौथ व्रत, करक चतुर्थी 8 नवंबर  रव
3. व्रत व त्यौहार अक्तूबर 2020
  तिथि (Dates) दिन (Days)  त्यौहार (Festivals)  2 अक्तूबर  शुक्रवार  महात्मा गाँधी जयन्ती
4. हरतालिका तीज 2020 की तारीख व मुहूर्त
हरतालिका तीज मुहूर्त 2020 में हरतालिका तीज कब है? 21 अगस्त, 2020(शुक्रवार) प्रातःकाल मुहूर्त :05:53:39 से 08:29:44 तक अवधि
5. अगस्त 2020 के व्रत व त्यौहार
  तिथि (Dates) दिन (Days) त्यौहार (Festivals) 3 अगस्त  सोमवार  श्रावण/श्रावणी पूर्णिमा, रक्षा बन्धन क
6. Nag Panchami Puja Muhurat
Nag Panchami -25th July 2020 Saturday / शनिवार Nag Panchami on Saturday, July 25, 2020 Nag Panchami Puja Muhurat - 05:39 AM to 08:22 AM Duration - 02 Hours 44 Mins Panchami Tithi Begins - 02:34 PM on Jul 24, 2020 Panchami Tithi Ends - 12:02 PM on Jul 25, 2020 Shukla Paksha Panchami during Sawan month is obser
7. स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सम्पूर्ण देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं
स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सम्पूर्ण देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं Independence Day(india) - 15 August #15August  
8. व्रत व त्यौहार दिसंबर 2020
  तिथि (Dates)  दिन (Days)  त्यौहार (Festivals) 7 दिसंबर  सोमवार  श्रीकालभैरवाष्टमी  14 दिसंबर  स
9. Ratha Jatra, the Festival of Chariots of Lord Jagannatha is celebrated every year at Puri, the temple town in Orissa, on the east coast of India.
Ratha Jatra, the Festival of Chariots of Lord Jagannatha is celebrated every year at Puri, the temple town in Orissa, on the east coast of India. The presiding deities of the main temple, Sri Mandira, Lord Jagannatha, Lord Balabhadra and Goddess Subhadra, with the celestial wheel Sudarshana are taken out from the temple precincts in an elaborate ritual procession to their respective chariots. The hu
10. Karma Puja -Also known as festival of nature
Karma Puja -Also known as festival of nature In this era of global warming which leads to low rainfall,droughts,melting glacier and other hazards of nature where whole world is suffering with nature hazards and the only reasons is rapid deforestation,  on other hand tribal c
11. सितंबर 2020 में व्रत व त्यौहार
  तिथि (Dates) दिन (Days) त्यौहार (Festivals)  1 सितंबर  मंगलवार  अनन्त चतुर्दशी व्रत, मेला सोढ़ल-पं
12. Sindhu Darshan Festival
Sindhu Darshan Festival The Sindhu Darshan festival is celebrated along the banks of the river Sindhu in Leh Ladakh region, every year on the full moon day. Celebrated over three days, this is a celebration of River Sindhu, the former Indus Valley Civilisation, with the motive of endorsing the river as an icon of communal harmony in India. The Bollywood movie "Dil Se" was shot at the first Sindhu Darshan Festival. Sindhu Darshan Festival 2020 - Dates & Season
13. गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ महीने के शुक्ल पक्ष की अंतिम तिथि यानि कि पूर्णिमा ही गुरु पूर्णिमा के रूप जगत प्रसिद्ध है। गुरु पूर्णिमा वो अवसर है, जिसकी प्रतीक्षा दुनिया के सभी अध्यात्म प्रेमी और आत्मज्ञान के साधक बे
14. Eid on Monday as moon not sighted today
 Eid ul Fitr is the festival to mark the end of the holy month of Ramzan, and the starting of the month of Shawwal. The festival is celebrated on the first day of Shawwal. Eid is considered to be the gift from Allah for the month long fastings and offering of prayers by Muslims during the month of Ramzan.   The festival of Eid is the most prominent festival among the Muslims. The festival came with the sighting of crescent Moon usually on the 30th day of Ramzan month, howeve
15. Vrat Tyohar in July 2020 : श्रावण का महीना, हरियाली तीज, वरलक्ष्मी समेत ये हैं जुलाई के व्रत त्‍योहार
Vrat Tyohar in July 2020 : श्रावण का महीना, हरियाली तीज, वरलक्ष्मी समेत ये हैं जुलाई के व्रत त्‍योहार जुलाई का महीना शुरू होने वाला है. इस महीने में देवशयनी एकादशी, हरियाली तीज, नाग पंचमी, मंगला गौरी व्
16. वट सावित्री व्रत की कथा
वट सावित्री व्रत की कथा  पौराणिक कथा के अनुसार भद्र देश के राजा अश्वपति के कोई संतान न थी. उन्होंने संतान की प्राप्ति के लिए अनेक वर्षों तक तप किया जिससे प्रसन्न हो देवी सावित्री ने
17. Whatsapp Status Happy Ram Navami Wishes Images With Name
Whatsapp Status Happy Ram Navami Wishes Images With Name Whatsapp Status Happy Ram Navami Wishes Images With Name Viewed 2 times Posted on Tuesday March 31 2020 Photo Sources : https://www.newmynamepix.c
18. जितिया व् जीवित्पुत्रिका व्रत कथा Jitiya or Jivit Putrika Vrat Katha
जितिया व् जीवित्पुत्रिका:- भारतवर्ष त्योहारों का देश है यहाँ लोग भिन्न-भिन्न भाँति के त्यौहार और उपवास , व्रत में विश्वास रखती है यहाँ लोग कोई भी व्रत और त्यौहारबहुत ही श्रद्धा और संयम
19. Gupt Navratri 2020 : गुप्त नवरात्र का आज पहला दिन
इस बार आषाढ़ मास के गुप्त नवरात्र 22 जून सोमवार से प्रारंभ हो रहे हैं और 29 जून तक चलेंगे। नवरात्रों में षष्ठी तिथि का क्षय है, अर्थात नवरात्र 8 दिन ही होंगे। यही नहीं इस अवधि में सिद्धि योग और वृद्धि
20. Rath Yatra
Rath Yatra  - This is a famous temple festival of Orissa held at the Jagannath Temple of Puri. The festival takes place with three chariots or Raths in which the idol of Lord Jagannath, his sister Subhadra and brother Balbhadra is taken out in a procession to their summer temple for a week long festival. The ropes of the chariots or Rathas are pulled by devotees who gather in huge numbers from different places. जगन्नाथ रथ यात्रा भगवा
21. नेपाली महिलाओं ने धूमधाम से मनाया ऋषि पंचमी का पर्व, जानिए कैसे होती है पूजन की शुरुआत
22. Ram Navami Holiday in 2020
Rama Navami is predominantly a Hindu festival that celebrates the birth anniversary of Lord Rama. The day is observed on the ninth day of the Shukla Paksha in the month of Chaitra (Hindu calendar). As per the Gregorian calendar, the day usually falls between the months of March and April. Rama Navami in 2020 falls on the 2nd of April (Tentative date).
23. When Is Good Friday 2020: कब है गुड फ्राइडे, ईसाई समुदाय में क्यों है ये इतना ख़ास?
गुड फ्राइडे ईसाई समुदाय के सबसे प्रमुख त्यौहारों में से एक है। इस बार गुड फ्राइडे 10 अप्रैल को मनाया जाएगा। गुड फ्राइडे को कुछ लोग 'होली फ्राइडे' कहते हैं तो कुछ लोग 'ग्रेट फ्राइडे' कहते हैं। अ
24. Ramzan or Ramadan 2020
Ramzan or Ramadan 2020   Ramzan is the Islamic holy month of fasting by Muslims worldwide. Although worshipping Allah or God, can be done at any time during the year and no special day is ear marked for this, but still every religion has set about a particular date and time for fasting and prayers so that it can bring about maximum benefit to the one observing the fast or praying. This is because one needs to be reminded to thank the Lord and
25. Vat Savitri Vrat 2020
Vat Savitri Vrat 2020: हिन्‍दू महिलाओं के लिए वट सावित्री वट सावित्री व्रत (Vat Savitri Vrat) का विशेष महत्‍व है. मान्‍यता है कि इस व्रत को रखने से पति पर आए संकट चले जाते हैं और आयु लंबी हो जाती है. यही नहीं अगर दां
26 बिहार तकनीकी सेवा आयोग | आयुष चिकित्सा पदाधिकारी की नियुक्ति हेतु विज्ञापान #Bihar 0 Days Remaining for Apply
बिहार तकनीकी सेवा आयोग | आयुष चिकित्सा पदाधिकारी की नियुक्ति हेतु विज्ञापान बिहा ...
27 Educational talent search program, ALLEN academics young talent search program for students | TALLENTEX 2021 #Scholorship 17 Days Remaining for Apply
Educational talent search program, ALLEN academics young talent search program for students | TALLENTEX 2021For student Studying in class 5th, 6th, 7th, 8th, 9th & 10th Stage-1 : Online | Stage-2 : Offline / CBT ...
We would love to hear your thoughts, concerns or problems with anything so we can improve our website educratsweb.com ! visit https://forms.gle/jDz4fFqXuvSfQmUC9 and submit your valuable feedback.
Save this page as PDF | Recommend to your Friends

http://educratsweb(dot)com http://www.educratsweb.com/content.php?id=2560 http://educratsweb.com educratsweb.com educratsweb