educratsweb logo


25. कन्याश्रम- सर्वाणी

कन्याश्रम में माता का पीठ गिरी थी। इस शक्तिपीठ को सर्वाणी के नाम से जाना जाता है।कन्याश्राम को कालिकशराम या कन्याकुमारी शक्ति पीठ के रूप में भी जाना जाता है।कन्याकुमारी दक्षिण भारत के सभी शहरों से सड़क के मार्ग से जुड़ा हुआ है। कन्याकुमारी ब्रॉड गेज द्वारा त्रिवेंद्रम, दिल्ली और मुंबई से जुड़ा हुआ है। तिरुनेलवेली (85 किमी) अन्य नजदीकी रेलवे जंक्शन है जो सड़क मार्ग द्वारा नागरकोइल (19 किमी) तक पहुंचा जा सकता है।निकटतम हवाई अड्डा त्रिवेंद्रम (87 किमी) मे स्थित है।

 

26. कुरुक्षेत्र- सावित्री

हरियाणा के कुरुक्षेत्र जिले में माता के टखने गिरे थे। इस शक्तिपीठ को सावित्री के नाम से जाना जाता है। थनेसर (स्टेशनेश्वर / कुरिक्षेत्र) दिल्ली से 160 किलोमीटर और चंडीगढ़ से 90 किलोमीटर दूर है। यह पिपली से 6 किलोमीटर की दूरी पर राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 1 पर एक महत्वपूर्ण सड़क जंक्शन पर है। यह कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन से 3 किलोमीटर और पिपली बस स्टैंड से 7 किलोमीटर दूर है।

 

27. मणिदेविक- गायत्री

मनीबंध, अजमेर से 11 किमी उत्तर-पश्चिम में पुष्कर के पास गायत्री पहाड़ के पास स्थित है जहां माता की कलाई गिरी थी।अजमेर से ट्रेन और बस सुविधा उपलब्ध हैं, और वहां से, हमें पुष्कर पहुंचने के लिए टैक्सी या रिक्शा मिल सकता है। पुष्कर से निकटतम हवाई अड्डा जयपुर में है।

 

28. श्रीशैल- महालक्ष्मी

बांग्लादेश के सिल्हैट जिले के पास शैल नामक स्थान पर माता का गला (ग्रीवा) गिरा था। बांग्लादेश को दुनिया के किसी भी हिस्से से पहुंचा जा सकता है। राष्ट्रीय हवाई अड्डा ढाका में है, जो शहर से 20 किमी की दूरी पर है।

 

29. कांची- देवगर्भा

कंकाललाला, बीरभूम जिले में बोलीपुर स्टेशन के 10 किमी उत्तर-पूर्व में कोप्पई नदी के तट पर, देवी स्थानीय रूप से कंकालेश्वरी के रूप में जानी जाती है, जहां माता का श्रोणि गिरा था।

 

30. पंचसागर- वाराही

पंचासागर शक्ति पीठ, उत्तर प्रदेश के वाराणसी के पास स्थित जहां मां माता सती के निचले दंत गिरे थे। निकटतम हवाई अड्डा इलाहाबाद में है और यहां तक राष्ट्रीय उड़ानें उपलब्ध हैं। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए, दिल्ली निकटतम हवाई अड्डा है। निकटतम रेलवे स्टेशन वाराणसी रेलवे स्टेशन है। दिल्ली, अहमदाबाद, पटना और अन्य प्रमुख शहरों सड़क द्वारा वाराणसी पहुंचा जा सकता है।

 

31. करतोयातट- अपर्णा

अपर्णा शक्ति पीठ एक ऐसी जगह है जहां देवी माता सती के बाईं पायल गिरी थी। यहां देवी को अपर्णा या अर्पान के रूप में पूजा की जाती है जो कि कुछ भी नहीं खाती और भगवान शिव को बैराभा का रूप मिला। भवानीपुर गांव करवतया नदी के किनारे पर है, शेरपुर (सेरापुर) से 28 किमी। हम ढाका से भानापुर जामुना ब्रिज तक जा सकते हैं। सिराजगंज जिले में चांदिकोना गुजरने के बाद, हम घोगा बोट-टूला बस स्टॉप पर पहुंचते हैं, जहां से भावानिपपुर मंदिर पास है।

 

32. विभाष- कपालिनी

पश्चिम बंगाल के जिला पूर्वी मेदिनीपुर स्थान पर माता की बाएं टखने गिरे थे। यह कोलकाता से लगभग 90 किलोमीटर की दूरी पर है, और बंगाल की खाड़ी के करीब रून्नारयन नदी के तट पर स्थित है। निकटतम रेलवे स्टेशन तमलुक ही है।

 

33. कालमाधव -देवी काली

मध्यप्रदेश के अमरकंटक के कालमाधव स्थित शोन नदी के पास माता का बायाँ नितंब गिरा था। शाहडोल, उमरिया, जबलपुर, रीवा, बिलासपुर, अनुपपुर और पेंद्र रोड से अमरकंटक शहर तक बस सुविधा उपलब्ध की जा सकती है। निकटतम हवाई अड्डा, जबलपुर (228 के.एम.) और रायपुर (230 कि.मी.) हैं।

 

34. शोणदेश- नर्मदा (शोणाक्षी)

मध्यप्रदेश के अमरकंटक जिले में स्थित नर्मदा के उद्गम पर माता का दायाँ नितंब गिरा था। शाहडोल, उमरिया, जबलपुर, रीवा, बिलासपुर, अनुपपुर और पेंद्र रोड से अमरकंटक शहर तक बस सुविधा उपलब्ध की जा सकती है। निकटतम हवाई अड्डा, जबलपुर (228 के.एम.) और रायपुर (230 कि.मी.) हैं।

 

35. रामगिरि- शिवानी

उत्तरप्रदेश के चित्रकूट के पास रामगिरि स्थान पर माता का दायाँ स्तन गिरा था। चित्रकूट के लिए निकटतम रेल प्रमुख चित्रकूट धाम (11 किलोमीटर) झांसी-माणिकपुर मुख्य लाइन पर है। चित्रकूट बांदा, झांसी, महोबा, चित्रकूट धाम, हरपालपुर, सतना और छतरपुर के साथ सड़क से जुड़ा हुआ है। निकटतम हवाई अड्डा खजुराहो (175 के.एम.) में है। मंदाकीनी नदी के तट पर चित्रकूट के 2 किमी दक्षिण में स्थित जानकी सरोवर/ जानकी कुंड नाम का एक पवित्र तालाब, शक्तिपीठ के रूप में माना जाता है। कुछ लोग इसे राजगिरि (आधुनिक राजगीर) कहते हैं,यह एक प्रसिद्ध बौद्ध तीर्थस्थान हैं। राजगीर के गिद्ध का पीक (ग्रीधकोटा / ग्राध्रुका) को शक्ति पिठ के रूप में माना जाता है।

 

36. शुचि- नारायणी

तमिलनाडु के कन्याकुमारी-तिरुवनंतपुरम मार्ग पर शुचितीर्थम शिव मंदिर है, जहाँ पर माता की ऊपरी दंत (ऊर्ध्वदंत) गिरे थे। कन्याकुमारी तक पहुंचने के लिए रेलवे सबसे सामान्य साधन है। कन्याकुमारी से, सुचितंद्र मंदिर तक पहुंचने के लिए स्थानीय परिवहन की आवश्यकता है। निकटतम हवाई अड्डा त्रिवेन्द्रम है।

 

37. प्रभास- चंद्रभागा

गुजरात के जूनागढ़ जिले में स्थित सोमनाथ मंदिर के प्रभास क्षेत्र में माता का उदर गिरा था। वायुमार्ग के संदर्भ में, दोनों अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय हवाईअड्डा जूनागढ़ के पास स्थित हैं। देश के हर हिस्से से ट्रेनें इस शहर की तरफ आती हैं। कई निजी बस सेवाएं हैं जो विभिन्न शहरों से जुनागढ़ तक जाती हैं।

 

38. भैरवपर्वत- अवंती

मध्यप्रदेश के उज्जैन नगर में शिप्रा नदी के तट के पास भैरव पर्वत पर माता के ऊपरीओष्ठ गिरे थे। उज्जैन भारत के सभी शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है और लोग यहां आने के लिए परिवहन के सभी साधनों का उपयोग कर सकते हैं। इंदौर निकटतम हवाई अड्डा इंदौर मैं है और यह 52 किलोमीटर की दूरी पर है। निकटतम रेलवे स्टेशन उज्जैन ही है।

 

39. जनस्थान- भ्रामरी

महाराष्ट्र के नासिक नगर पर माता की ठोड़ी गिरी थी। निकटतम रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा नासिक स्थित है।

 

40. रत्नावली- कुमारी

बंगाल के हुगली जिले के खानाकुल-कृष्णानगर मार्ग पर माता का दायां कंधा गिरा था। रेल सड़क परिवहन देश के इस हिस्से में आने का सबसे सामान्य साधन है। यद्यपि इस भाग के लिए कोई सीधी ट्रेन नहीं है, इसलिए तीर्थयात्रियों को यहां तक पहुंचने के लिए ट्रेन बदलने की जरूरत है। हावड़ा एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है जो खानकुल से लगभग 81 किलोमीटर की दूरी पर है। निकटतम हवाई अड्डा कोलकाता (पश्चिम बंगाल की राजधानी) में है, और इस हवाई अड्डे पर दोनों राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का प्रावधान है।

 

41. मिथिला- उमा (महादेवी)

भारत-नेपाल की सीमा पर जनकपुर रेलवे स्टेशन के निकट मिथिला में माता का बायाँ कंधा गिरा था। निकटतम हवाई अड्डा पटना मैं है। निकटतम रेलवे स्टेशन जनकपुर स्टेशन है। मिथिला - उमा देवी शक्ति पिठ मंदिर तक पहुंचने के लिए कई सार्वजनिक और निजी वाहनों का प्रयोग किया जा सकता है।

 

42. नलहाटी- कालिका

पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले में माता के स्वर रज्जु गिरी थी। निकटतम बस स्टैंड नालहाटी बस स्टैंड है और

निकटतम रेलवे स्टेशन नालहटी जंक्शन है। निकटतम हवाई अड्डा डमडुम, कोलकाता में स्थित है।

 

43. देवघर- बैद्यनाथ

झारखंड के बैद्यनाथ में जयदुर्गा मंदिर एक ऐसी जगह है जहां माता माता सती का हृदय गिरा था। मंदिर को स्थानीय रूप से बाबा मंदिर / बाबा धाम कहा जाता है। परिसर के भीतर, जयदुर्गा शक्तिपीठ वैद्यनाथ के मुख्य मंदिर के ठीक सामने मौजूद हैं। निकटतम रेलवे स्टेशन हावड़ा-पटना-दिल्ली लाइन से जसीडिह (10 किमी) है। निकटतम हवाईअड्डा - रांची, गया, पटना और कोलकाता मैं हैं।

44. कर्णाट जयादुर्गा

कर्णाट शक्ति पीठ कांगड़ा, हिमाचल प्रदेश में स्थित है, माता माता सती के दोनों कान गिरे थे। यहां देवी को जयदुर्गा या जयदुर्ग और भगवान शिव को अबिरू के रूप में पूजा की जाती है। निकटतम हवाई अड्डा गगगल हवाई अड्डा है हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में स्थित है, जहां से कांगड़ा केवल 18 किलोमीटर है।

 

45. यशोर- यशोरेश्वरी

बांग्लादेश के खुलना जिला के ईश्वरीपुर के यशोर स्थान पर माता के हाथ की हथेली गिरी थी। यह ईश्वरपुर, श्यामनगर उपनगर, सातखिरा जिला, बांग्लादेश में स्थित है। निकटतम हवाई अड्डा बांग्लादेश की राजधानी ढाका में स्थित है, और इस हवाई अड्डे पर दोनों राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का प्रावधान है। दोनों देशों के बीच कोई रेल मार्ग नहीं है, ऐसे में कुछ बसें हैं जो भारत के प्रमुख शहरों से इस पवित्र स्थल तक जाती है।

 

46. अट्टाहास- फुल्लरा

पश्चिम बंगला के अट्टाहास स्थान पर माता के निचला ओष्ठ गिरा था। यह कोलकाता से 115 किमी दूर है।अहमपुर अहमपुरपुर कटवा रेलवे से लगभग 12 किमी दूर है। नेताजी सुभाष चंद्र हवाई अड्डे निकटतम हवाई अड्डे है, जो कि लाहपुर से लगभग 1 9 6 किलोमीटर दूर है।

 

47. नंदीपूर- नंदिनी

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले मी माता का गले का हार गिरा था। बीरभूम में विभिन्न स्थानों से शुरू होने वाली कई सीधी बसें हैं। यह शक्ति पीठ स्थानीय रेलवे स्टेशन स केवल10 मिनट की दूरी पर है। निकटतम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कोलकाता में नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे है।

48. लंका- इंद्राक्षी

श्रीलंका में संभवत: त्रिंकोमाली में माता की पायल गिरी थी। यह पीठ, नैनातिवि (मणिप्लालम) में है, श्रीलंका के जाफना से 35 किलोमीटर, नल्लूर में है। रावण (श्रीलंका के शासक या राजा) और भगवान राम मैं भी यहां पूजा की थी।

 

49. विराट- अंबिका

यह शक्ति पीठ राजस्थान मैं भरतपुर के विराट नगर में स्थित है जहां माता के बाएं पैर कि उंगलियां गिरी थी। निकटतम हवाई अड्डा जयपुर है और राष्ट्रीय उड़ानों के साथ-साथ यहां से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें भी उपलब्ध हैं।भरतपुर रेलवे स्टेशन पर कई सीधी ट्रेन उपलब्ध हैं। भरतपुर रेलवे स्टेशन से अंबिका शक्तिपीठ तक पहुंचने के लिए स्थानीय ट्रेन से जाना पड़ता है।

 

50. सर्वानन्दकरी

बिहार के पटना में माता माता सती कि यहां दाएं जांघ गिरी थी। इस शक्तीपीठ को सर्वानंदकरी के नाम से जाना जात है।निकटतम हवाई अड्डा जय प्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है, जो 8 किलोमीटर दूर स्थित है।

 

51. चट्टल

यह मंदिर मा माता सती के 51 शक्ति पिठों में सूचीबद्ध है। ऐसा कहा जाता है कि, माँ माता सती का दाहिना हाथ यहाँ गिरा था। चट्टल शक्ति पीठ, चटगांव जिला, बांग्लादेश के सताकुंडा स्टेशन में स्थित है।

बांग्लादेश में सड़क परिवहन सबसे आम साधन है यद्यपि इस भाग के लिए कोई सीधी ट्रेन नहीं है, इसलिए तीर्थयात्रियों को चटगांव से यहां तक पहुंचने के लिए ट्रेन बदलने की जरूरत है। निकटतम हवाई अड्डा शाह अमानत अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। इस शक्ति पीठ को देखने के लिए भारतीय तीर्थ यात्रियों को वीजा के लिए आवेदन करना होगा।

52. सुगंध

सुगंध शक्तिपीठ देवी सुनंदा को समर्पित एक मंदिर है। यह बांग्लादेश से, 10 किलोमीटर उत्तर बुलिसल के शिखरपुर गांव में स्थित है। यह कहा जाता है कि माँ माता सती की नाक यहाँ गिरी थी। बरिएसल सिटी में एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। झालकाटी रेलवे स्टेशन निकटतम रेलवे स्टेशन है।

educratsweb.com

Posted by: educratsweb.com

I am owner of this website and bharatpages.in . I Love blogging and Enjoy to listening old song. ....
Enjoy this Author Blog/Website visit http://twitter.com/bharatpages

if you have any information regarding Job, Study Material or any other information related to career. you can Post your article on our website. Click here to Register & Share your contents.
For Advertisment or any query email us at educratsweb@gmail.com

RELATED POST
1. श्री रावण कृतं सम्पूर्ण शिव तांडव स्तोत्र
“श्री रावण कृतं सम्पूर्ण शिव तांडव स्तोत्र” "शिव ताण्डव स्तोत्र की महिमा" हर किसी के मन में एक ख्याल हमेशा आता है कि; क्या कोई ऐसा मंत्र है जो आपको सारा वैभव और सिद्ध
2. 12 ज्योतिर्लिंग और क्या है उनके महत्व
12 ज्योतिर्लिंग और क्या है उनके महत्व July 12, 2020 12 Jyotirlingas, Baidyanath, Bhimashankar,
3. बरसाने के एक संत की कथा
बरसाने के एक संत की कथा एक संत बरसाना में रहते थे और हर रोज सुबह उठकर यमुना जी में स्नान करके राधा जी के
4. पितरों का श्राद्ध करना चाहिए? शास्त्रों और पुराणों में श्राद्ध के बारे में क्या बताया है?
पितरों का श्राद्ध करना चाहिए? शास्त्रों और पुराणों में श्राद्ध के बारे में क्या बताया है?
5. आरती के बाद क्यों बोलते हैं कर्पूरगौरं मंत्र
आरती के बाद क्यों बोलते हैं कर्पूरगौरं मंत्र किसी भी मंदिर में या अपने घर में जब भी पूजन कर्म होते हैं तो वहां कुछ मंत्रों का जप अ
6. Temples and Holy places in and around Babadham
Temples and Holy places in and around Babadham Basukinath Deoghar :: Basukinath Basukinath is the 2nd most famous Mandir in and around Deoghar. It is located route from Deoghar to Dumka. It is said that Basukinath Mandir is the court of Baba Bhole Nath. At Basukinath Dham Shiva and parvati Mandir are just in
7. 10 Mysterious Things About Ram Setu
10 Mysterious Things About Ram Setu The debate about whether the Palk Strait is natural or a man-made bridge is going on from years. Many discussions have led to some interesting things that make us astonished about Ram Setu. Ram Setu or Rama's Bridge is a causeway that is created across the sea connecting Pamban Is
8. पूजा के नियम : सामान्य पूजन विधि
पूजा के नियम : सामान्य पूजन विधि  इस पेज में मैंने पूजन करने की सामान्य विधि का वर्णन किया है. ये परम पूज्य रामकृष्ण परमहंस द्वारा प्रतिपादित तांत्रिक पद्धति है. राम कृष्ण मिशन में इसी पद्धत
9. शाबर मंत्रों से पल भर में सिद्ध होते हैं हर काम
  शाबर मंत्रों से पल भर में सिद्ध होते हैं हर काम अचूक एवं स्वयंसिद्ध मंत्र शाबर मंत्र आम ग्रामीण बोलचाल की भाषा में ऐसे स्वयंसिद्ध मंत्र हैं जिनका प्रभाव अचूक होता है।
10. Navratra : नवरात्री विशेष : साधकों/उपासकों द्वारा नवरात्र के पूजन में की जाने वाली सामान्य भूलें
साधकों/उपासकों द्वारा नवरात्र के पूजन में की जाने वाली सामान्य भूलें https://shaktianusandhankendra.blogspot.com/2019/02/navratra.html इस पेज पर मैं कुछ और लिखना चाह रहा था, जैसे पूजन क
11. ईश्वर को जानने की प्रक्रिया है ध्यान
ईश्वर को जानने की प्रक्रिया है ध्यान            ईश्वर को पाना संभव
12. Navratra Muhurt 2019 : नवरात्र मुहूर्त 2019
नवरात्र मुहूर्त 2019  (सम्पूर्ण नवरात्र महापुजनम)
13. अग्रसेन महाराज की जीवन गाथा
'जाने भगवान श्री अग्रसेन जी का ऐतिहासिक इतिहास'' धार्मिक मान्यतानुसार इनका जन्म मर्यादा पुरुषोतम भगवान श्रीराम की चौंतीसवी पीढ़ी में सूर्यवशीं क्षत्रिय कुल के महाराजा वल्लभ सेन के घर म
14. शाबर मंत्र साधना के नियम | साधना में सफल होने के लिए आवश्यक नियम
शाबर मंत्र साधना , वैदिक मंत्र साधना की तुलना में थोड़ी आसान होती है किन्तु इसका अभिप्राय यह नहीं कि शाबर मंत्र से जुड़े नियमों को ध्यान में न रखते हुए साधना में सफल होने के प्रयास किये जाये | किसी भी
15. गायत्री मंत्र क्यों और कब ज़रूरी है
*गायत्री मंत्र क्यों और कब ज़रूरी है* *☀सुबह उठते वक़्त 8 बार ❕✋✌👆❕अष्ट कर्मों को जीतने के लिए !!* *🍚🍜 भोजन के समय 1 बार❕👆❕ अमृत समान भोजन प्राप्त होने के लिए !!* *🚶 बाहर जाते समय 3 बार ❕
16. सुलभ सामग्री : दुर्लभ प्रयोग
सुलभ सामग्री : दुर्लभ प्रयोग  आध्यात्म के अनेक रूप है, अनेक पहलू है. हर किसी से आध्यात्म का विशुद्ध रूप संभव नहीं है. इस पुस्तक में जन-सामान्य के लिए छोटे-छोटे वैसे प्रयोग सम्मिलित किय
17. मंत्रों का विशिष्ट विज्ञान
मंत्रों का विशिष्ट विज्ञान   ‘’मननात्
18. संयुक्त यन्त्र : श्री गणेश, लक्ष्मी और सरस्वती के एक साथ पूजन का यन्त्र और पूजन विधि
संयुक्त यन्त्र : श्री गणेश, लक्ष्मी और सरस्वती के एक साथ पूजन का यन्त्र और पूजन विधि
19. हनुमान चालीसा | Hanuman Chalisa in Hindi
हनुमान जी सम्पूर्ण भारत के सर्वाधिक लोकप्रिय देव हैं। शायद ही कोई गांव हो जहाँ हनुमान जी का मंदिर न हो। उनकी युवाओं में महती लोकप्रियता उनके बल, बुद्धि और विद्या के निधान होने से है और वे इन सब के
20. जानिए दुर्गा देवी के शस्रों का रहस्य (ज्ञान) !! Devi durga weapons meaning in hindi
जानिए दुर्गा देवी के शस्रों का रहस्य (ज्ञान) !! Devi durga weapons meaning in hindi
21. जय माँ श्री महालक्ष्मी देवी
जय माँ श्री महालक्ष्मी देवी  मुंबई, महाराष्ट्र  
22. Jitiya Vrat 2019: जीवित्पुत्रिका व्रत तिथि, महत्‍व, कैसे करें पूजन...
जीवितपुत्रिका व्रत का काफी महत्‍व है Jivitputrika Vrat 2019: जितिया या जिउतिया या जीवित्पुत्रिका व्रत क
23. जय मां वैष्णो देवी जी
जय मां वैष्णो देवी जी जय भैरों बाबा जी आप सभी भक्तजनों को "नवरात्री" के महापर्व की कोटि कोटि शुभकामनाए । मां वैष्णो देवी आप सभी की मनोकामनाए
24. दशहरा एवं दुर्गा पूजा की शुभकामना संदेश भेजे । अपने दोस्तो को शुभकामनाएँ संदेश अपने नाम के साथ भेजे @educratsweb #educratsweb
दशहरा एवं दुर्गा पूजा की शुभकामना संदेश भेजे । अपने दोस्तो को शुभकामनाएँ संदेश अपने नाम के साथ भेजे @educratsweb #educratsweb
25. महाकाली शाबर मंत्र सिद्धि | इस शाबर मंत्र से माँ काली को शीघ्र प्रसन्न करें |
|| महाकाली शाबर मंत्र साधना || महाकाली , माँ दुर्गा का ही प्रचंड रूप है जिनका जन्म धर्म की रक्षा करने के लिए और पापियों और दुष्टों का नाश करने के लिए हुआ है | महाकाली – महा और काली जिसका अर्
26 UPSC Combined Defence Services Examination (CDS) (I) 2021 #UPSC 2 Days Remaining for Apply
The Union Public Service Commission (UPSC) will hold the Combined Defence Services Examination (CDS) (II), 2020 on 7th  February 2021 for admission to Indian Military Academy, Dehradun, Naval Academy, Ezihimala, Air force Academy, Hyderabad, and Officers Training Academy, Chennai for the courses (Men and Women) for recruitment of following 345 Sarkari Naukri Vacancy of Officers in Navy, Army, and Indian Air Force. (UPSC Advt. No. 2/2021.CDS-I) Online application on prescribed format i ...
27 Non-Teaching Vacancy Recruitment in NIT Jalandhar 2020 #Punjab 2 Days Remaining for Apply
Dr. B. R. Ambedkar National Institute of Technology (NIT), Jalandhar (Punjab) invites online applications in the prescribed format for Recruitment to the following various 93 Non-Teaching Sarkari Naukri vacancy posts (Advt. No. 04/2020) NIT Jalandhar Non-Teaching Recruitment 2020 Vacancies     Technical Assistant : 23 vacancies (UR-11, EWS-02, OBC-06, SC-03, ST-01), Pay Scale : Pay Level-6 ₹35400-112400     SAS Assistant : 02 vacancies ...
28 UPSC Government Jobs Vacancy Recruitment 14/2020 #UPSC 5 Days Remaining for Apply
Union Public Service Commission (UPSC), Dholpur House, New Delhi invites Online application on prescribed recruitment form by 03/12/2020 for following Sarkari Naukri Government Jobs vacancy posts especially Specialist (Faculty - Assistant Professor Medical), Nurse, Assistant Director etc. in various Central Government Departments/Organisations in the prescribed online format (UPSC Advt. No. 14/2020). UPSC Government Jobs Recruitment 14/2020 Vacancies ...
29 Recruitment of Assistant Engineer Civil Vacancy in NWDA 2020 #Jobs 33 Days Remaining for Apply
The National Water Development Agency (NWDA), an autonomous Society under the Ministry of Jal Shakti Irrigation invites online applications in the prescribed format for the following Govt. Job vacancies of Assistant Engineer (Civil Engineering) (Advt. No. 06/2020) NWDA Recruitment NWDA Assistant Engineer Civil Recruitment 2020 Vacancies     Assistant ...
30 Recruitment of Junior Engineer Trainee Electrical Electronics Telecommunication Vacancy in UPPCL 2020 #Uttar Pradesh 30 Days Remaining for Apply
Uttar Pradesh Power Corporation Ltd (UPPCL)  invites online application on prescribed format from eligible Indian Nationals for direct recruitment to the following Sarkari Naukri vacancy posts of Junior Engineer (Trainee - Electrical Engineering) and Junior Engineer (Trainee - Electronics/Telecommunication) for various offices (DISCOMS/TRASCO) of Uttar Pradesh Power Corporation Ltd. (UPPCL) (Advt. No. 07/VSA/2020/JE/E&M). ...
31 ADMISSIONS OPEN FOR SESSION 2021 - 2022 CLASSES V & IX (BOYS & GIRLS) CLASSES VI & VII (GIRLS ONLY) IN Acharyakulam #Admission 22 Days Remaining for Apply
ADMISSIONS OPEN FOR SESSION 2021 - 2022 CLASSES V & IX (BOYS & GIRLS) CLASSES VI & VII (GIRLS ONLY) IN AcharyakulamUnder the spiritual and divine guidance of Param Pujya Yogrishii Swami Ramdev Ji and Param Shraddhey acharya Balkrishna ji, Acharyakulam nurtures its students in the divine and spiritual vic ...
We would love to hear your thoughts, concerns or problems with anything so we can improve our website educratsweb.com ! visit https://forms.gle/jDz4fFqXuvSfQmUC9 and submit your valuable feedback.
Save this page as PDF | Recommend to your Friends

http://educratsweb(dot)com http://www.educratsweb.com/content.php?id=775 http://educratsweb.com educratsweb.com educratsweb