Kafal Tree #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Kafal Tree

https://www.kafaltree.com/feed/ 👁 937

दो हजार साल पहले पिथौरागढ़ के तीन ओर था एक सरोवर


वह सरोवर बचपन में अपने “मुलुक’ (Pithoragarh) के बारे में पूछता था तो दादी बताती थीं एक ऐसे मैदान के बाबत, जिसमें मीलों तक पत्थर दिखते ही न थे. पहली बार सोर घाटी देखी तो लगा कि दादी ने अतिशयोक्ति की थी. वर्षों घूमा, सर्वेक्षण किया, अध्ययन किया, किन्तु मैदान न दिखा. दिखे पहाड़ ही पहाड़, पत्थर ही पत्थर. थल-सेनाध्यक्ष जनरल विपिन चन्द्र जोशी के आग्रह पर पानी की तलाश में एक बार निकला तो […]

The post दो हजार साल पहले पिथौरागढ़ के तीन ओर था एक सरोवर appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/pithoragarh-was-once-surrounded-by-a-lake/

मेरे जाने के बाद कोई नहीं गायेगा मालूशाही


उत्तराखंड के महान मालूशाही-गायक गोपीदास के साथ अपनी पहली मुलाक़ात को याद करते हुए जर्मनी के मानवशास्त्री और भारत के अध्येता कोनराड माइजनर ने लिखा है: गोपीदास से 1966 में हुई पहली मुलाकात को मैं भूल नहीं सकता. एक मित्र अध्यापक मुझे कौसानी के उत्तरी उलार में स्थित गोपीदास के घर ले गये. यहां से नन्दादेवी तथा त्रिशूल आदि के शिखरों का भव्य दृश्य है. अपने घर की देहरी में गोपीदास बैठा था. किसी बीमारी […]

The post मेरे जाने के बाद कोई नहीं गायेगा मालूशाही appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/kumaoni-folk-gopidas-konrad-meisner-malushahi/

तहजीब के शहर लखनऊ में


कहो देबी, कथा कहो – 30 पिछले कड़ी कहो देबी, कथा कहो – 29, चल उड़ जा रे पंछी तो मैं लखनऊ पहुंचा. मैं अकेला और वह अनजाना शहर, अब तक जिसकी सिर्फ कहानियां सुनी थीं. सुना था कि अपनी तहजीब के बारीक धागे से अपनी मोहब्बत में बांध लेता है यह शहर. मगर मैं तो संपादन छोड़ कर बैंक की एक बिलकुल नई तरह की नौकरी करने आ पहुंचा था जो मेरे लिए नई […]

The post तहजीब के शहर लखनऊ में appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/memoir-by-deven-mewari-30/

सौ साल पुराने कुमाऊँ की तस्वीरें


एक ज़रूरी किताब कुमाऊँ (Kumaon) के बारे में 1905 में छपी ई. शर्मन ओकले (E. Sherman Oakley) की किताब ‘होली हिमालयाज: द रिलीजन, ट्रेडिशन्स, एंड सीनरी ऑफ़ हिमालयन प्रोविन्स’ (Holy Himalaya; The Religion, Traditions, and Scenery of Himalayan Province) एक महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है. लन्दन मिशनरी सोसाइटी से जुड़े ओकले 1888 से अपनी मृत्यु के साल यानी 1934 तक अल्मोड़ा के इलाके में कार्यरत रहे थे. वे रैमजे कॉलेज में अध्यापक थे. ओकले ने गढ़वाली कविता […]

The post सौ साल पुराने कुमाऊँ की तस्वीरें appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/kumaon-old-photos-sherman-oakley-book/

माता कुन्ती, पांडव और कुटी गाँव के वेद व्यास


दारमा से व्यांस घाटी की एक बीहड़ हिमालयी यात्रा – 23 (पिछली क़िस्त: कुटी गाँव, शान्ति काकी और छागानी की खान) छियत्तर साल के कुटियाल जी सारी व्यांस घाटी में एक विख्यात धामी के रूप में जाने जाते हैं. धामी स्थानीय धार्मिक, चिकित्सकीय व आनुष्ठानिक विशेषज्ञ होते हैं. मान्यता है कि धामी बनने के लिए व्यक्ति के भीतर कुछ परामानवीय शक्तियां होना अनिवार्य है. वर्ष 1950 में देव सिंह कुटियाल जी को भान हुआ था […]

The post माता कुन्ती, पांडव और कुटी गाँव के वेद व्यास appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/a-difficult-himalayan-journey-23/

कुमाऊनी लोकोक्तियाँ – 89


डा. वासुदेव शरण अग्रवाल ने एक जगह लिखा है – “लोकोक्तियाँ मानवीय ज्ञान के चोखे और चुभते सूत्र हैं.” यदि वृहद हिंदी कोश का सन्दर्भ लिया जाए तो उस में लोकोक्ति की परिभाषा इस प्रकार दी गई है- “विभिन्न प्रकार के अनुभवों, पौराणिक तथा ऐतिहासिक व्यक्तियों एवं कथाओं, प्राकृतिक नियमों और लोक विश्वासों आदि पर आधारित चुटीली, सारगर्भित, संक्षिप्त, लोकप्रचलित ऐसी उक्तियों को लोकोक्ति कहते हैं. इनका प्रयोग किसी बात की पुष्टि, विरोध, सीख तथा […]

The post कुमाऊनी लोकोक्तियाँ – 89 appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/uttarakhand-culture-kumaoni-phrases-89/

नैनीताल की पाल नौकाओं का दिलचस्प इतिहास


दुनिया में सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित यॉट क्लब सुखद आश्चर्य वाली बात है कि नैनीताल (Nainital) का यॉट (Yacht पाल नौका) क्लब विश्व के सबसे अधिकतम ऊँचाई में स्थित एकमात्र यॉट क्लब है. यह क्लब समुद्रतल से 2084 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है. नैनीताल की इन पाल नौकाओं का इतिहास उतना ही पुराना है जितना पुराना इन नौकाओं के बनने का इतिहास. कहा जाता है कि सन् 1880 में पहली बार मेरठ के […]

The post नैनीताल की पाल नौकाओं का दिलचस्प इतिहास appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/nainital-yacht-interesting-history/

कालीचौड़ में देवी का सिद्ध पीठ


कालीचौड़ गौलापार में स्थित काली माता का प्रख्यात मंदिर है. हल्द्वानी से 10 किमी और काठगोदाम से 4 किमी की दूरी पर स्थापित कालीचौड़ मंदिर के लिए काठगोदाम गौलापार मार्ग पर खेड़ा सुल्तानपुरी से एक खूबसूरत पैदल रास्ता जाता है. खेड़ा सुल्तानपुरी से कुछ दूर चलने के बाद निर्जन और सुरम्य जंगल के बीच एक कच्ची पगडण्डी आपको कालीचौड़ के मंदिर तक ले जाती है. आधुनिक कालीचौड़ मंदिर की स्थापना आधुनिक काल में इस मंदिर […]

The post कालीचौड़ में देवी का सिद्ध पीठ appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/kali-chaur-temple-uttarakhand/

नये समय में नए अर्थ ग्रहण करते पुराने शब्द


टॉक्सिक (जहरीला) को ऑक्सफोर्ड इंग्लिश डिक्शनरी ने इस साल का अंतर्राष्ट्रीय शब्द चुना है. ऐसा नहीं है कि सबसे अधिक लोगों ने ऑक्सफोर्ड की साइट पर इस शब्द का मतलब जानने की कोशिश की और इसे छांट लिया गया बल्कि इसका इस्तेमाल राजनीति, पर्यावरण, स्त्री-पुरुष संबंध समेत दुनिया में बहुत सी नई प्रवृत्तियों को अभिव्यक्त करने के लिए भी किया जा रहा है इसलिये इसका चुनाव हुआ. दूसरे नंबर पर जो शब्द था, वह है […]

The post नये समय में नए अर्थ ग्रहण करते पुराने शब्द appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/feku-and-other-newly-acquired-hindi-words/

दो दशकों बाद नैनीसैनी एयरपोर्ट का सपना हुआ पूरा


17 जनवरी 2019 की तारीख पिथौरागढ़ के इतिहास में हमेशा के लिये दर्ज हो चुकी है. आज की भागती दुनिया में ऐसा कम ही होता है कि तीन पीढ़ियों का एक ही सपना हो. पिथौरागढ़ में नैनीसैनी एयरपोर्ट का सपना तीन पीढ़ियों को साथ जोड़ता है. पिथौरागढ़ के लोगों के लिये 17 जनवरी का यह दिन किसी पर्व से कम नहीं है. पिथौरागढ़ हवाई पट्टी 1997 में बन चुकी थी. तब से पिथौरागढ़ के लोग […]

The post दो दशकों बाद नैनीसैनी एयरपोर्ट का सपना हुआ पूरा appeared first on Kafal Tree.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.kafaltree.com/doon-pithoragarh-pantnagar-pithoragarh-flights-start/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Haryana Jobs / Opportunities / Career
Bank Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Bihar Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Rajasthan Jobs / Opportunities / Career
Scholorship Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
Railway Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Gujarat Jobs / Opportunities / Career
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Maharashtra Jobs / Opportunities / Career
Punjab Jobs / Opportunities / Career
Meghalaya Jobs / Opportunities / Career
Admission Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Bihar
State Government Schemes
Study Material
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Syllabus
Festival
Business
Wallpaper
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com