Patrika : Leading Hindi News Portal - Astrology and Spirituality #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Astrology and Spirituality

http://api.patrika.com/rss/astrology-and-spirituality 👁 5163

आज का पंचांग 25 मार्च 2019: आज जन्म लेने वाले बच्चे सहनशील होंगे, ऐसे होगा इनका भाग्योदय


ज्योतिष गुलशन अग्रवाल

आज जन्म लेने वाले बच्चों के नाम तो, ना, नी, नू, ने अक्षरों पर रख सकते हैं। आज जन्में बच्चों का जन्म लोहे के पाए में होगा। सूर्योदय से लेकर संपूर्ण दिवस पर्यन्त तक वृश्चिक राशि रहेगी। आज जन्म लिए बच्चे शरीर से कृषकाय होंगे। सामान्यतः इनका भाग्योदय करीब 30 वर्ष की आयु में होगा। इनमें कोई न कोई व्यसन ज़रूर रहेगा। सामान्यतः सहनशील होंगे किंतु उतार-चढ़ाव अवश्य रहेंगे। वृश्चिक राशि में जन्में जातक को अनैतिक कार्यकलापों से दूर रहना चाहिए। श्रम साध्य का भाव रखना चाहिए।

तिथि

सूर्योदय से सायंः 07.59 मिनट तक पूर्णा संज्ञक पंचमी तिथि रहेगी। पश्चात नंदा संज्ञक षष्ठी तिथि लगेगी। पंचमी तिथि में नागराज की पूजा करने से विष का भय नहीं रहता, स्त्री और संतान प्राप्त होते हैं और श्रेष्ठ लक्ष्मी भी प्राप्त होती है। षष्ठी तिथि में कार्तिकेय की पूजा करने से मनुष्य श्रेष्ठ मेधावी, रूपसंपन्न, दीर्घायु और कीर्ति को बढ़ाने वाला हो जाता है।

नक्षत्र

सूर्योदय से प्रातः 07.02 मिनट तक मिश्र साधारण विशाखा नक्षत्र रहेगा। पश्चात मृदु मैत्र अनुराधा नक्षत्र लगेगा। औषधि एवं रसायन के निर्माण, सर्जरी और चिकित्सा संबंधी अन्य कार्य के लिए विशाखा एवं अनुराधा दोनो नक्षत्र शुभ माने जाते हैं। नए पुराने वाहनो का क्रय-विक्रय वाहन के उपयोग, वाहन से यात्रा करने या सवारी आदि के लिए अनुराधा नक्षत्र शुभ माने गए हैं।

योग

सूर्योदय से सायंः 06.13 मिनट तक वज्र योग रहेगा पश्चात सिद्धि योग लगेगा। वज्र योग के स्वामी वरुण देव माने जाते हैं, जबकि सिद्धि योग के स्वामी गजानन जी महाराज माने गए हैं।

विशिष्ट योग

वज्र योग को अशुभ योग माना गया है। किसी भी कार्य की शुरुआत के लिए वज्र योग के प्रथम 03.36 मिनट का त्याग करना चाहिए। सिद्धि योग बेहद शुभ होता है। इसमें किए गए धार्मिक कार्य सफल होते हैं।

आज का शुभ मुहूर्त

अनुकूल समय में यज्ञोपवीत संस्कार करने के लिए शुभ मुहूर्त है।

श्रेष्ठ चौघड़िए

प्रातः 06.27 मिनट से 07.58 मिनट तक अमृत का चौघड़िया रहेगा। प्रातः 09.28 मिनट से 10.59 मिनट तक शुभ का चौघड़िया रहेगा। एवं दोपहर 02.01 मिनट से सायंः 06.33 मिनट तक क्रमशः चंचल लाभ व अमृत के चौघड़िया रहेंगे।

करण

सूर्योदय से प्रातः 08.26 मिनट तक कौलव नामक करण रहेगा। इसके पश्चात तैतिल नामक करण लगेगा। इसके पश्चात गर नामक करण लगेगा।

व्रतोत्सव

व्रत/पर्वः श्रीरंग पंचमी। श्री पंचमी। श्री जयंती। मेला नवचंडी (मेरठ)।

चंद्रमाः सूर्योदय से लेकर संपूर्ण दिवस पर्यन्त तक चंद्रमा जल तत्व की वृश्चिक राशि में रहेंगे।

दिशाशूलः पूर्व दिशा में। अगर हो सके तो आज पूर्व दिशा में की जाने वाली यात्रा को टाल दें।

राहु कालः प्रातः 07.58.16 से सायंः 09.28.59 तक राहु काल वेला रहेगी। अगर हो सके इस समय में शुभ कार्यों को करने से बचना चाहिए।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/aaj-ka-panchang-25-march-2019-4327278/

दशामाता व्रत 2019 पूजा मुहूर्त समय व्रत कथा, जानिए पूजा के लिए शुभ समय


हर व्यक्ति का समय एक बार बदलता जरूर है। अगर अनेक उपाय व तमाम मेहनत के बाद भी समय नहीं बदले तो मनुष्य को दशामाता का व्रत, पूजा आदि करना चाहिए। चैत्रमाह के कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि को ये किया जाता है। पीपल के वृक्ष पर होने वाली इस पूजा को अगर समय का ध्यान रखकर बेहतर मुहूर्त में किया जाए तो एक वर्ष के अंदर समय में बदलाव आता है। ये बात रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी वीरेंद्र रावल ने कही। वे भक्तों को रंग पंचमी के दिन दशामाता की कथा, पूजा मुहूर्त, शुभ समय आदि के बारे में बता रहे थे।

ज्योतिषी रावल ने कहा कि दशामाता का व्रत चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की दशमी को किया जाता है। मान्यता है कि इस व्रत को करने से व्यक्ति का बुरा समय दूर हो जाता है तथा अच्छा समय आ जाता है। इस व्रत को 2019 में शनिवार (30 मार्च) को मनाया जाएगा। माना जाता है जब व्यक्ति की दशा ठीक होता है तो उसके सभी कार्य सफल होने लगते हैं, लेकिन जब व्यक्ति की दशा खराब होती है उसके कार्य में बाधा आने लगती है। इसलिए चैत्र मास की दशमी को दशामाता का व्रत किया जाता है जिससे व्यक्ति के जीवन में चल रहा बुरा समय दूर हो सके।

पहले जाने इस व्रत की पूजा विधि

अगर आप पहली बार पूजा कर रहे है तो घर के किसी कोने में साफ सफाई करके एक दीवार पर स्वास्तिक बनाएं। इसके बाद स्वास्तिक के पास 10 बिंदियां बनाएं। पूजा में रोली, मौली , सुपारी, चावल, दीप, नैवेद्य, धुप आदि शामिल करें। इसके अलावा सफेद धागा लें और उसमे गांठ बना लें। फिर उसे हल्दी में रंग लें। इस धागे को दशामाता की बेल कहा जाता है। दशामाता की पूजा के बाद इस धागे को गले में धारण करें। इस धागे को पूरे साल ना उतारें। अगर आपको पूजा करते हुए एक वर्ष या उससे अधिक समय हो गया है तो जब दशामाता की पूजा करें तो पुराने धागे को उतारकर नया धागे धारण करें। दशमाता की पूजा विधि विधान से करने पर मनुष्य का बुरा समय दूर हो सकता है तथा दशमाता की कृपा सदैव बनी रहती है। इसके साथ ही घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

ये रहती है पूजा सामग्री

पूजा सामग्री में रोली, मौली , सुपारी, चावल, दीप, नैवेद्य, धुप आदि का इंतजाम कर लें। साथ में सफेद धागा लें और उसमे गांठ बना लें। फिर उसे हल्दी में रंग लें। इस धागे को दशमाता की बेल कहते हैं। पूर्व के वर्ष की बेल को पीपल में बांधा जात है व महिलाएं नई बेल लेकर अपने घर में आती है। इसकी पूजा के साथ में ही करके इसे गले में धारण करें। इसे फिर पुरे साल कभी न उतारें। अगले साल जब फिर पूजा करें तो इसे उतारकर नए धागे की पूजा करके धारण करें। दशमाता की पूजा विधिपूर्वक करने से दशमाता की कृपा सदैव बनी रहती है। घर में सुख-शांति और समृद्धि आती है।

पूजा के लिए शुभ मुहूर्त

शुभ चौघडिय़ा सुबह 7.57 से 9.29 तक।
लाभ चौघडि़या दिन में 2.07 से 3.29 बजे तक।
अभिजीत मुहूर्त 12.09 से 12.59 तक


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/dasha-mata-vrat-puja-vidhi-subh-muhurat-4326838/

अंकज्योतिष 25 मार्च 2019: बहते जल में कर दें थोड़ा सा मूंग प्रवाहित, भारी नुकसान से बच जाएंगे आप


ज्योतिषाचार्य गुलशन अग्रवाल

अंक 01- भूमि-भवन से संबंधित पहले से चल रहे काम में ठहराव आने से नए काम शुरू करने के पहले गंभीरता से विचार करना होगा। अपने मिलने वालों में उलझा पैसा मिलने लगेगा।
अनुकूलता के लिए- किसी भी मंदिर मे पचरंगी धागा चढ़ाए।

अंक 02- मानसिक तनाव के बरकरार रहने से व्यक्तिगत समस्या का समाधान समय पर नही हो पाएगा। अपना काम निकालने के लिए नौकरों के साथ तालमेल बनाकर रखना होगा।
अनुकूलता के लिए- प्रातः काल राधाकृष्ण के दर्शन करें।

अंक 03- मित्रों के मध्य चल रही बातचीत को हल्के में लेते हुए प्रतिष्ठा का मुद्दा न बनाएं। तकरीबन कार्यो में अपनी बैबाक राय व साफगोई से नुकसान उठाना पड़ सकता है।
अनुकूलता के लिए- बहते जल मे थोड़े से मूंग प्रवाहित करें।

अंक 04- अपनी देखरेख में काम करने वाले कर्मचारियों की मनमानी आपका बहुत बड़ा नुकसान करवा सकती है। पहले से चल रही असामान्य गतिविधियों में बदलाव आने लगेगा।
अनुकूलता के लिए- भोजन में श्वेत पदार्थो के सेवन से बचें।

अंक 05- नए संबंधो को व्यवसायिक दृष्टि से भुनाने के लिए पिछले कुछ दिनों से चल रहे अथक प्रयासों में पूरी तरह नाकाम रहेंगे। कार्यस्थल पर वरिष्ठों के साथ बढ़ता तनाव दिक्कत देगा।
अनुकूलता के लिए- केसरिया रंग का कोई भी एक वस्त्र धारण करें।

अंक 06- कार्यस्थल के महत्वपूर्ण व्यक्तियों के कारण होने वाले नुकसान के बावजुद दिमागी संतुलन बनाए रखना होगा। अनावश्यक खर्च हो जाने के कारण परेशानी मे आ जाएंगे।
अनुकूलता के लिए- गुड़-धनिये का सेवन कर घर से निकलें।

अंक 07- परिवार के सदस्यों में सामंजस्य को बरकरार रखने के लिए अतिरिक्त प्रयत्नो की आवश्यकता रहेगी। पिछले कुछ दिनों से लाभांश में आती सतत कमी चिंता का कारण बनेगी।
अनुकूलता के लिए- ब्राह्मण को वस्त्र दान में दें।

अंक 08- सेहत की दृष्टि से पहले से चल रही छोटी-मोटी गढ़बढ़ को टालने की कोशिश न करें तो ठीक रहेगा व किसी अनुभवी की सलाह लेकर चलें। प्रत्येक कार्य धैर्य से करना होगा।
अनुकूलता के लिए- किसी भी धार्मिक पुस्तक का पठन करें।

अंक 09- घर में अनावष्यक रूप से भोग विलास की वस्तुओं मे खूब धन खर्च होगा। नौकरीपैशा व्यक्ति को कार्य में परिवर्तन करने से पहले दूसरी जगह काम सुनिश्चित करना होगा।
अनुकूलता के लिए- देवी मंदिर मे लोंग की माला चढ़ाएं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/ank-jyotish-25-march-2019-know-number-three-numerology-in-hindi-4324794/

आज का राशिफल 25 मार्च 2019: परिवार के सहयोग से बड़ा काम होगा, जानिए किस्तम बदलने का उत्तम समय


ज्योतिष पंडित श्यामनारायण व्यास

1. मेष राश‍िफल/Aries Horoscope Today: कार्यो में रुकावट आ सकती है। कार्य स्थल पर बार बार खराब हो रही मशीनरी के लिए आपने कार्य स्थल पर वास्तु अनुरूप परिवर्तन कराने से लाभ होगा संतान के विवाह प्रस्ताव आज आ सकते हैं।

2. वृषभ राश‍िफल/Tauras Horoscope Today: मांगलिक कार्यो में खर्च होगा। विरोधी सक्रिय होंगे। कारोबार में विस्तार होगा। नए मित्र बनेंगे। धार्मिक कार्यो में रूचि बढ़ेगी। रिश्तों में दरार आ सकती है।

3. मिथुन राश‍िफल/Gemini Horoscope Today: पारिवारिक सोहार्द बना रहेगा। किसी रिश्तेदार की मदद से कार्य पूर्ण होंगे। व्यपार में परिवर्तन के योग हैं। ससुराल पक्ष से सुखद समाचार प्राप्त होंगे।

4. कर्क राश‍िफल/Cancer Horoscope Today: अपने प्रोफेशन से आप न खुश हैं। समय के साथ स्थिति आप के अनुकूल बनेगी। जीवनसाथी का व्यवहार मनोबल बढ़ाएगा। कर्ज लेने की स्थिति निर्मित हो सकती है।

5. सिंह राश‍िफल/Leo Horoscope Today: अपने सहकर्मियों से बातों में नर्मी लाएं। विदेश में व्यापार स्थापित करने का विचार सफल होगा। नौकरी बदलने के योग बन रहे हैं। किसी की सिफारिश से काम बन सकता है।

6. कन्या राश‍िफल/Virgo Horoscope Today: हितकारी समय चल रहा है। सप्रयोजन यात्रा से लाभ होगा। महत्वपूर्ण अनुबंध आज हो सकते हैं। नेत्र रोग से पीड़ित रहेंगे। समय पर कार्य करना सीखें।

7. तुला राश‍िफल/Libra Horoscope Today: समय की अनुकूलता का आभास होगा। परिवारजनों के सहयोग से कोई बड़ा काम हो सकता है। जमीन जायदाद से सम्बंधित मामले आज सुलझ सकते हैं। न्याय पक्ष मजबूत होगा।

8. वृश्चिक राश‍िफल/Scorpio Horoscope Today: दिन की शुरुआत में आलस के चलते कुछ न करने का मन होगा। जरूरी कार्यो को प्राथमिकता से पूर्ण करें। लेनदेन में सावधानी रखें। पुराने मित्रों से भेट होगी। निवेश से लाभ संभव है।

9. धनु राश‍िफल/Sagittarius Horoscope Today: कारखाने में नई मशीनरी के लगने से लाभ होगा। समय अपने पराए की पहचान करा देगा। जीवनसाथी के व्यवहार में परिवर्तन आएगा। वाहन सुख संभव। यात्रा हो सकती है।

10. मकर राश‍िफल/Capricorn Horoscope Today: आपकी चंचलता के चलते संबंध कमजोर होंगे। किसी भी कार्य को करने से पहले उसे समझे उसके प्रति समर्पित रहे तो ही आप सफल होंगे। शेयर वायदा से जुड़े लोग आज सतर्कता से निवेश करें। न्याय पक्ष कमजोर रहेगा।

11. कुंभ राश‍िफल/Aquarius Horoscope Today: समय रहते कार्यो को पूर्ण करें। लंबे समय स्व भूमि संबंधी कार्य रुखा हुआ है उसके प्रति आप लापरवाही कर रहे है। समय रहते कार्रवाई करे। अन्यथा भारी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

12. मीन राश‍िफल/Pisces Horoscope Today: किसी भी कार्य को करने के लिए आत्मविश्वास होना चाहिए। हिम्मत से आगे बड़े सफलता मिलेगी। घरेलू खर्च बढ़ेंगे। पुराने मित्रों से मुलाक़ात हो सकती है। जल्दबाजी में गलत फैसले लेने से बचें।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/aaj-ka-rashifal-25-march-2019-rashi-aaj-ka-tula-rashi-rashifal-4324715/

आज का पंचांग 24 मार्च 2019: पर्यटन में विशेष रुचि रखेंगे आज जन्म लेने वाले बच्चे, ऐसे होगा इनका भाग्योदय


ज्योतिष गुलशन अग्रवाल

आज जन्म लेने वाले बच्चों के नाम ता, ती, तू, ते, तो अक्षरों पर रख सकते हैं। आज प्रातः 07.40 मिनट तक जन्में बच्चों का जन्म चांदी के पाए में होगा, पश्चात लोहे के पाए में होगा। सूर्योदय से अर्धरात्रि 01.07 मिनट तक तुला राशि रहेगी पश्चात वृश्चिक राशि रहेगी। आज जन्म लिए बच्चे शरीर से सामान्य होंगे। प्रायः इनका भाग्योदय करीब 22 वर्ष की आयु में होगा। ऐसे जातक मानवधर्मप्रेमी व अवसरवादी होंगे। इन्हें पर्यटन में विषेश रुचि रहेगी। विज्ञान विषय में पारंगत होंगे। मान सम्मान की चाह रहेगी। तुला राशि में जन्में जातक को सहित्य प्रेम को कम नहीं करना चाहिए।

तिथि

सूर्योदय से रात्रि 08.51 मिनट तक रिक्ता संज्ञक चतुर्थी तिथि रहेगी। पश्चात पूर्णा संज्ञक पंचमी तिथि लगेगी। चतुर्थी तिथि में भगवान श्री गणेश का पूजन करना चाहिए। इससे सभी प्रकार के विघ्नों का नाश हो जाता है। पंचमी तिथि में नागों की पूजा करने से विष का भय नहीं रहता, सुशील स्त्री और उत्तम संतान प्राप्त होते हैं और श्रेष्ठ लक्ष्मी भी प्राप्त होती है।

नक्षत्र

सूर्योदय से प्रातः 07.40 मिनट तक चर चल स्वाती नक्षत्र रहेगा। पश्चात मिश्र साधारण विशाखा नक्षत्र लगेगा। वर-वधु की दिखाई रस्म, सगाई, विवाह आदि के लिए स्वाती नक्षत्र शुभ माने गए हैं। औषधि एवं रसायन के निर्माण सर्जरी और चिकित्सा संबंधी अन्य कार्यों के लिए विशाखा नक्षत्र शुभ माने गए हैं। वहीं, सन्यास , मुकदमेबाजी आदि कार्य विशाख नक्षत्र में किये जा सकते हैं।

योग

सूर्योदय से रात्रि 08.04 मिनट तक हर्षण योग रहेगा पश्चात वज्र योग लगेगा। हर्षण योग के स्वामी भंगदेव माने जाते हैं, जबकि वज्र योग के स्वामी वरुणदेवता माने गए हैं।

विशिष्ट योग

दोनो ही योगों को कार्य की शुरुआत के लिए अशुभ माना जाता है। अतिआवश्यक होने पर किसी भी कार्य की शुरुआत के लिए इन दोनो योगों के प्रथम 03.36 मिनट का त्याग करना चाहिए।

आज का शुभ मुहूर्त

अनुकूल समय में वस्तु विशेष का विक्रय करने के लिए शुभ मुहूर्त है।

श्रेष्ठ चौघड़िए

प्रातः 07.59 मिनट से दोपहर 12.30 मिनट तक क्रमशः चंचल लाभ व अमृत का चौघड़िया रहेंगे। एवं दोपहर 02.01 मिनट से 03.31 मिनट तक शुभ का चौघड़िया रहेगा।

करण

सूर्योदय से प्रातः 09.42 मिनट तक बव नामक करण रहेगा। इसके पश्चात बावल नामक करण लगेगा। इसके पश्चात करण लगेगा। इसके पश्चात कौलव नामक करण लगेगा।

व्रतोत्सव

व्रत/पर्वः संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत।

चंद्रमाः सूर्योदय से अर्धरात्रि 01.07 मिनट तक चंद्रमा वायु तत्व की तुला राशि में रहेंगे। पश्चात जल तत्व की वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे।

दिशाशूलः पश्चिम दिशा में। अगर हो सके तो आज पश्चिम दिशा में की जाने वाली यात्रा को टाल दें।

राहु कालः दोपहर 05.02.23 से सायंः 06.32.57 तक राहु काल वेला रहेगी। अगर हो सके इस समय में शुभ कार्यों को करने से बचना चाहिए।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/aaj-ka-panchang-24-march-2019-4322466/

स्पंदन - कल्पना


जीवन वर्तमान है, स्मृति अनुभव है और कल्पना व्यक्ति की योजन शक्ति है। आज के कार्यों में पिछले अनुभवों को ध्यान में रखते हुए वर्तमान को कैसे संजोया जाए, इसके लिए कल्पनाशीलता आवश्यक है। कल्पना सकारात्मक हो, सृजनात्मक हो, दूरगामी हो। कल्पना जीवन को महत्त्व देने का श्रेष्ठ माध्यम है।

रस, माधुर्य, स्नेह, लालित्य भाव सभी कल्पना से जुड़े हैं। व्यवहार की भाषा में आप इसे सपने देखना भी कह सकते हैं। जब व्यक्ति सपने देखेगा तभी तो उनको पूरा कर सकेगा। जो सपना ही नहीं देख पाए उसका विकास असम्भव है। केवल दिवास्वप्न ही व्यर्थ जाते हैं। स्वप्न निजी धरातल के भी हो सकते हैं, कार्यक्षेत्र के भी और जीवन के किसी भी क्षेत्र के, जिससे आप जुडऩा चाहते हैं।

कल्पना का कार्य
आम धारणा यह है कि स्मृति बन्धन है, व्यक्ति को अपने अतीत से बांधकर रखती है। स्मृति के कारण व्यक्ति मुक्त नहीं रह पाता। स्मृति में अनेक बिम्ब और प्रतिबिम्ब होते हैं, प्रतिध्वनियां होती हैं, प्रतिक्रियाएं होती हैं, जो व्यक्ति के जीवन को सीमित करती रहती हैं, उसको एक निश्चित दिशा में ही बांधे रखती हैं। स्मृति के कारण कई बार व्यक्ति वर्तमान में भी नहीं जी पाता। अपनी स्मृतियों में ही खोया रहता है। पर, उपलब्धि कुछ नहीं होती। स्मृति में खो जाना कल्पना नहीं है, सपना भी नहीं है।

स्मृति को तोडक़र बाहर निकालना कल्पना का कार्य है। जीवन को दिशा देना भी कल्पना का कार्य है। व्यक्ति के मानस को झकझोरने का कार्य कल्पना ही कर सकती है। जीवन का बोध करा सकती है। आज की आधुनिक प्रबन्ध व्यवस्था में योजन शब्द का अर्थ भी कल्पना ही है। परिणाम तो किसी के हाथ में नहीं है। केवल प्रयास करने का कार्य हमारा है। लक्ष्य बनाकर प्रयास करने की दिशा तय करना हमारी कल्पना शक्ति का ही कार्य है। प्रबन्धकीय योजन में अनेक विशेषज्ञों की सृजनशीलता और कल्पना उपयोग में आती है।

योजना का प्रारूप सकारात्मक होता है। भावी दृष्टिकोण उसमें समाहित रहता है। कल्पना हमारा भविष्य तय करती है।एक व्यक्ति नौकरी करता है। घर से चिट्ठी आती है कि अमुक तारीख को तुम्हारी शादी तय कर दी गई है। वह दस-पंद्रह दिन का अवकाश लेकर घर जाता है। शादी करके, पत्नी को लेकर नौकरी पर चला जाता है। इस दम्पती के भावी जीवन की कल्पना आसानी से की जा सकती है। दोनों को ही सपने देखने का समय नहीं मिला।

सगाई और शादी के बीच का अन्तराल जीवन का सबसे महत्त्वपूर्ण भाग इसलिए है कि व्यक्ति अपनी जिन्दगी के बारे में सपने देख सके। उसे इतना तो मालूम होना ही है कि भावी जीवन-साथी की पारिवारिक और सामाजिक स्थिति क्या है, आर्थिक और शैक्षणिक स्वरूप क्या है।भावी रिश्तों की मिठास का यह समय कन्याओं के लिए शायद अधिक महत्त्वपूर्ण होता है। उन्हें स्नेह और माधुर्य बटोरना है, आगे बांटना है। इस काल की सारी कल्पना रसमय होती है।
जीवन में रस का नया संचार कर देती है। यह रस पूरी उम्र बना रहता है। पूरी उम्र जीवन साथी पर यह रस उड़ेला जाता रहेगा।

कल्पना की मिठास
मातृत्व भी इसी प्रकार का सपने देखने का काल है, जहां रस की प्रधानता होती है। माधुर्य और स्नेह होता है। होठ गुनगुनाते हैं। यही रस बालक को उम्र भर मिलता है। इस रस को बटोरने के लिए समय देना पड़ेगा। इसके बिना सब कुछ नीरस अथवा पुस्तक पढक़र किया हुआ-सा लगेगा। भावनाओं की गहनता कम होगी, बुद्धि का धरातल व्यापक होगा। जीवन के सभी रिश्ते भावप्रधान होते हैं। जीवन के सभी क्षेत्रों में लक्ष्य बनाने का कार्य, कार्य के साथ पूर्ण मनोयोग और स्मृति से मुक्त रहने का मार्ग कल्पना ही प्रशस्त करती है। भाव यदि नकारात्मक हैं तो मन में अनेक प्रकार के संशय, आवेग और तनाव को भी कल्पना जन्म देती है। कल्पना के बहाव में इतनी शक्ति होती है कि व्यक्ति अपना अतीत और वर्तमान दोनों ही भूल बैठता है। वह ऊर्जावान की अपेक्षा ऊर्जाहीन बन जाता है।

स्मृति हो अथवा कल्पना, दोनों ही साधन की तरह काम आनी चाहिएं। ये साध्य नहीं हो सकतीं। अपेक्षा इस बात की है कि कार्य की समाप्ति के साथ ही स्मृति और कल्पना भी सुप्त रह सकें, दिनचर्या समाप्ति के बाद हम स्वयं में रह सकें तथा कल की चिन्ता न रहे।

वैयक्तिक और सामाजिक दोनों ही धरातलों पर हम अपने ज्ञान और अनुभवों को साथ रखकर अपने भावी जीवन की कल्पना करें तथा मन को पटु बनाने और एक निश्चित लक्ष्य बनाकर कार्य करना शुरू करें तो जीवन को मोड़ सकते हैं। स्वाध्याय में भी तो हम यही करते हैं—क्या करना चाहिए, क्या नहीं करना चाहिए और क्या बनना है। एक निश्चित लक्ष्य को लेकर नियमित योजना करना, आगे से आगे नई मंजिल तय करना तथा व्यापकता का भाव बनाए रखना व्यक्ति की कल्पना को ही स्वाध्याय बना देता है। कल्पना का सबसे उज्ज्वल पक्ष यह है कि यह सदा व्यक्ति को आशावान बनाती है।

हर छात्र अच्छे नम्बरों से पास होने के सपने देखता है। आगे से आगे अपने भविष्य का चित्र तैयार करता चला जाता है। इसमें मिठास होती है तो बड़े होने या बनने का सुख भी होता है। सकारात्मक कल्पना में कड़वापन होता ही नहीं है। यथार्थ के सहारे, अपनी क्षमता के अनुकूल वह संघर्ष को तैयार होता है। जो बड़े सपने देखता है वह छोटा नहीं रह सकता।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/spandan-imagination-4319720/

आज का राशिफल 24 मार्च 2019 : आज कुंभ सहित इन 6 राशि के जातकों की खुल सकती हैं लाटरी


आज फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि हैं, आज का दिन कुंभ राशि के अलावा इन 5 राशि के जातकों के लिए समय बेहतर अच्छा साबित होने वाला हैं, कन्या, सिंह, तुला, मकर, और मीन के कई जातकों की कोई बड़ी लाटरी लग सकती हैं ।

 

1. मेष राश‍फिल/Aries Horoscope Today- आप की आदतों के कारण आप ने अपनों से दुरिया बना ली । समय रहते अपने सम्म स्वभाव और व्यवहार को बदले तो अच्छा होगा । आर्थिक स्थिति में पहले से सुधार होगा । नए संपर्क स्थापित होंगे ।

2. वृषभ राश‍फिल/Tauras Horoscope Today- पारिवारिक लोगो से सम्बन्ध मधुर होंगे । कार्यस्थल पर किसी से आकर्षित होंगे । भाग्योदय संभव है । जो भी काम करे पुरे आत्मविश्वास के साथ और आनंद से करे । निश्चित सफल होंगे ।

3. मिथुन राश‍फिल/Gemini Horoscope Today- नए व्यापार की शुरुवात अनुकूल होगी । कान संबंधित पीड़ा हो सकती है । अनावश्यक विवादों में न बोले नुक्सान हो सकता है । नोकरी में बदलाव के योग है । राजनीति से जुड़े लोग मनचाही सफकता पा सकते है ।

4. कर्क राश‍फिल/Cancer Horoscope Today- आर्थिक मामले सुलझने की उमीद है । जिन लोगो की आप ने मदद की थी वही आप का विरोध करेंगे । रूचि अनुसार काम मिलने से मन प्रसन्न रहेगा । सुख सुविधा पर खर्च संभव हे। मानसिक अस्थिरता रहेगी ।

5. सिंह राश‍फिल/Leo Horoscope Today- वैचारिक मतभेद दूर होंगे । किसी को अपने मन की बात बताने का मोका मिलेगा । कारोबार में नये सोदे लाभप्रद रहेंगे । रुके कार्य पुरे होने में अभी समय लग सकता है । मांगलिक खर्च संभव है ।

6. कन्या राश‍फिल/Virgo Horoscope Today- बीती बातो को भुला कर अपने रिस्तों की नई शुरुवात करें । आप की उन्नती से विरोधी को तकलीफ हो सकती है । राजनीति के चलते शत्रु आप को नुकसान पहुचाने का हर संभव प्रयास करेंगे ।

7. तुला राशिफल/libra horoscope today- सामाजिक वर्चस्व में वृद्धि होगी । मन में किसी बात को ले कर दुविधा है उसी के कारण आप तनाव महसूस कर रहे है । उधार दिया पैसा आने में संदेह है । मित्र आप के कार्यो में साहयक होंगे । यात्रा सुखद होगी ।

8. वृश्चिक राशिफल/scorpio horoscope today- कार्यस्थल पर सहकर्मी आप की सफलता से इर्ष्या करेंगे । कार्यो में हो रही देरी से चिंतित होंगे । कारोबार में नई तकनिकी का प्रयोग लाभान्वित करेगा । बहनों से झगडा हो सकता है । धन आगमन में हो रही रुकावट दूर होगी ।

9. धनु राश‍फिल/Sagittarius Horoscope Today- धार्मिक माहोल में समय व्यतीत होगा । धनार्जन के नये स्त्रोत स्थापित होंगे । माता बके स्वास्थ की चिंता रहेगी । पारिवारिक मांगलिक आयोजनों की रुपरेखा बनेगी । दोस्तों के साथ किसी जरूरी मसले पर चर्चा होगी ।

10. मकर राश‍फिल/Capricorn Horoscope Today- रुके कार्य और योजनाओं को क्रियाशील करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे । बिमारी के कारण तनाव पैदा होगा पर घबराय नहीं अपने इष्ट पर भरोसा रखे । सब अनुकूल होगा । जीवन साथी का साथ मिलेगा ।

11. कुंभ राश‍फिल/Aquarius Horoscope Today- नई योजनाओ में पूंजी निवेश सोच समझ कर करें । पुराने विवाद से युक्त जमीन जायदाद के मसले लंबित होंगे । शत्रु परास्त होंगे । नए संपर्क आप को ख्याती दिलवा सकते है । कारबार विस्तार के योग है ।

12. मीन राश‍फिल/Pisces Horoscope Today- नया काम शुरू करने से पहले अनुभवियो और बडो से मार्ग दर्शन सलाह लेवे । पूंजी निवेश करने में सतर्क रहे । किसी की बातो में जल्द फस जाते है खुद को परिपक्व करे । अध्यन के लिए कर्ज लेना पड़ सकता है ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/aaj-ka-rashifal-24-march-2019-4319524/

अंकज्योतिष 24 मार्च 2019: अंक 05 वाले जातकों की खुलने वाली हैं किस्मत, ईश्वर पर विश्वास रखें


दिनांक 24 मार्च -(अंकज्योतिष)

अंक 01 - अति आत्मविश्वास मे रहकर कानुनी प्रकरणों को आगे बढ़ाने के प्रयास से नुकसान संभव है । बाहर खाने-पीने के बजाए घर पर बने भोजन को महत्व देने की जरूरत है ।
अनुकूलता के लिए - कन्याओं को यथासंभव वस्त्र वितरित करे ।

अंक 02 - शीत प्रकृति वाले व्यक्तियों को मौसम की मार से बचकर रहना होगा । शुभ प्रसंग में आनेजाने में अत्यधिक समय व्यतित होगा । अधिनस्थ के भरोसे कार्य में नुकसान संभव है ।
अनुकूलता के लिए - धार्मिक पुस्तक का दान करे ।

अंक 03 - आज से व्यापार में छाई मंदी में कमी आने की संभावना है । वाणी संयम न होने से प्रियजनों के साथ संबंधों को बरकरार नही रख पाएगें । आज से स्वास्थ्य ठीक रहने लगेगा ।
अनुकूलता के लिए - निषक्तजन को गर्म दुध वितरित करे ।

अंक 04 - अत्यधिक व्यसनों के कारण समय को साधने में कठिनाई महसुस होगी । कामकाज के सिलसिले में लघु यात्रा के योग बनते है । धर्म के बनाए रिस्तों में प्रगाढ़ता आएगी ।
अनुकूलता के लिए - खाने में स्वेत पदार्थो से बचकर रहे ।

अंक 05 - मुख्य व्यवसाय के साथ-साथ अतिरिक्त कामकाज पर भी ध्यान देने की जरूरत है । आर्थिक मंदी से होने वाले नुकसान के बावजुद भी अपना कामकाज अप्रभावित रहेगा ।
अनुकूलता के लिए - देव स्थान मे गुड़ व मीठी रोटी चढ़ाए ।

अंक 06 - युवाओं को भविष्य के प्रति सोच में नये तरीके अपनाने व उसे क्रियान्वित करने के प्रति गंभीरता से विचार करना होगा । मशीनरी, वाहन आदि से संबंधी कामकाज प्रभावित होगा ।
अनुकूलता के लिए - हनुमान मंदिर मे ध्वजा चढ़ाए ।

अंक 07 - त्वरित सौदा के निपटारे में जल्दबाजी न दिखाए । स्वनिर्णय में दूसरो की दखलअंदाजी के दुखद परिणाम आएगें । अच्छी संगत व संपर्क का असर कार्य क्षेत्र में मिलेगा ।
अनुकूलता के लिए - गरीबों में शिक्षा से संबंधित वस्तु दान करे ।

अंक 08 - विभागीय परीक्षाओं के प्रति अरूचि बनी रहेगी । भुलने की आदत अधिनस्थों के साथ रिस्तों में खटास डाल सकती है । आध्यात्मिक प्रसंगों में व्यस्तता कामकाज प्रभावित करेगी ।
अनुकूलता के लिए - मक्खन मिश्री का स ेवन कर कार्य की शुरूआत करे ।

अंक 09 - हाथ आए मौको को गवाना पड़ सकता है । साथ मिलकर किये गए काम सफल रहेगें । नौकरी पैशा व्यक्तियों को नौकरी में तरक्की के अवसरों को भुनाना हितकर रहेगा ।
अनुकूलता के लिए - पक्षियों को भुनी हुई ज्वार खिलावें ।

*************


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/ank-jyotish-24-march-2019-know-number-four-numerology-in-hindi-4318432/

चैत्र नवरात्र- 6 से 14 अप्रैल तक भूलकर भी नहीं करें ये काम, वरना पड़ेगा जीवन भर पछताना


चैत्र नवरात्र- 6 से 14 अप्रैल तक भूलकर भी नहीं करें ये काम, वरना पड़ेगा जीवन भर पछताना

फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथी (6 से 14 अप्रैल 2019) से चैत्र नवरात्र का शुभारंभ होगा, इन नौ दिनों तक आद्यशक्ति मां दुर्गा की विशेष पूजा आराधना की जाती हैं । देश के कोने कोने में आस्था व श्रद्धा का माहौल दिखाई देता है । लोग उपवास रखते है, माता का सोलह श्रंगार करते हैं, हर दूसरा व्यक्ति अलग अलग तरीके से पूजा भी करते, कन्याभोज कराते हैं । लेकिन इन सब के बाद अगर नवरात्र के दिनों में कुछ ऐसे काम है जिन्हें करना निषेध माना जाता हैं अगर भूलवस ये कार्य हो जाये तो माता से क्षमा याचना करके प्रायश्ति किया जा सकता हैं । प्रायश्ति स्वरूप मां दुर्गा के बीज मंत्र का नवरात्र के आखरी दिन 251 बार जप करना चाहिए ।

 

नवरात्र में इन कामों को करने से बचें ।

1- नवरात्र प्रतिपदा से लेकर एकादशी तिथि तक अपने नाखूनों को बिलकुल भी नहीं काटे ।

2- नवरात्र के दिनों में अपने बाल भी नहीं कटवाना चाहिए ।

3- नवरात्रि काल की इस शुभ अवधि में सिलाई-बुनाई का काम भी नहीं करना चाहिए ।


4- नवरात्र की इस विशेष अवधि में किसी निंदा भी नहीं करना चाहिए, झूठ नहीं बोलें एवं मुधभाषी बने रहे ।

5- प्रयास करें की नवरात्र के नौ दिनों तक सूर्यास्त के बाद घर में झाड़ू नहीं लगाएं, या कम से कम पूजा घर और रसोई में नहीं लगाने का प्रण ले ।

6- नौ दिनो तक यदि संभव है तो घर में चप्पल मत पहनो या पूजा कक्ष में चप्पल पहन कर प्रवेश करने से बचो, चमड़े से बनी वस्तुओं का भूलकर भी प्रयोग ना करे ।

7- नवरात्र के नौ दिनों तक शराब, मांस, तंबाकू जैसी अन्य पदार्थों का सेवन नहीं करें ।

8- नवरात्र के नौ दिनों तक किसी भी महिलाओं का अपमान नहीं करें ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/navratri-puja-me-na-kare-ye-kam-4318223/

हनुमान जी हैं तो सब कुछ संभव हैं, यह छोटा सा काम बना देगा मालामाल


जी हां हनुमान जी हैं तो सब कुछ संभव है, जिसके उपार इनकी कृपा हो जाये वह हो जाता हैं मालामाल, केवल शनिवार और मंगलवार ही नहीं कुछ भक्त तो हनुमान चालीसा का पाठ हर दिन करते हैं । हनुमान चालीसा को सिद्ध करके कोई मनवाछिंत फल प्राप्त कर सकता हैं । हनुमान चालीसा की शुरुआत से अंत तक सफलता के कई सूत्र हैं । जाने हनुमान चालीसा से अपने जीवन में क्या-क्या बदलाव लाये सकते है ।

 

हनुमान चालीसा के पाठ से व्यक्ति के जीवन में आते हैं ये अद्भूत बदलाव

1- श्रीगुरु चरन सरोज रज ।
निज मनु मुकुरु सुधारि ।।

अर्थात - अपने गुरु के चरणों की धूल से अपने मन के दर्पण को साफ करता हूं- गुरु का महत्व चालीसा की पहले दोहे की पहली लाइन में लिखा गया है । जीवन में गुरु नहीं है तो आपको कोई भी आगे नहीं बढ़ा सकता । गुरु ही आपको सही रास्ता दिखा सकते हैं । आज के दौर में गुरु हमारा मेंटोर भी हो सकता है, बॉस भी । माता-पिता को पहला गुरु ही कहा गया है । अगर तरक्की की राह पर आगे बढ़ना है तो विनम्रता के साथ बड़ों का सम्मान करें ।

 

2- कंचन बरन बिराज सुबेसा ।
कानन कुंडल कुंचित केसा ।।
अर्थात - हनुमान जी के शरीर का रंग सोने की तरह चमकीला है, सुवेष यानी अच्छे वस्त्र पहने हैं, कानों में कुंडल हैं और बाल संवरे हुए हैं । आज के दौर में व्यक्ति की तरक्की इस बात पर भी निर्भर करती है कि वह रहता और दिखता कैसे हैं । इसलिए, रहन-सहन और पहनावा हमेशा अच्छा रखें ।

 

3- बिद्यावान गुनी अति चातुर ।
राम काज करिबे को आतुर ।।
अर्थात - हनुमान जी विद्यावान हैं, गुणों की खान हैं, चतुर भी हैं । राम के काम करने के लिए सदैव आतुर रहते हैं । आज के दौर में एक अच्छी डिग्री होना बहुत जरूरी है । लेकिन चालीसा कहती है सिर्फ डिग्री होने से व्यक्ति सफल नहीं होंगे । विद्या हासिल करने के साथ उसे अपने गुणों को भी बढ़ाना पड़ेगा, बुद्धि में चतुराई भी लानी होगी । हनुमान में तीनों गुण हैं, वे सूर्य के शिष्य हैं, गुणी भी हैं और चतुर भी ।

 

4- सूक्ष्म रुप धरि सियहिं दिखावा ।
बिकट रुप धरि लंक जरावा ।।
अर्थात - हनुमान जी ने अशोक वाटिका में सीता को अपने छोटे रुप में दर्शन दिए, और लंका जलाते समय हनुमान जी ने बड़ा स्वरुप धारण किया । व्यक्ति को कब, कहां, किस परिस्थिति में खुद का व्यवहार कैसा रखना है, ये कला हनुमानजी से सीखी जा सकती है ।

 

5- तुम्हरो मंत्र बिभीसन माना ।
लंकेस्वर भए सब जग जाना ।।
अर्थात - विभीषण ने हनुमान जी की सलाह मानी, और वे लंका के राजा बने ये सारी दुनिया जानती है । हनुमान जी सीता की खोज में लंका गए तो वहां विभीषण से मिले, विभीषण को राम भक्त के रुप में देख कर उन्हें राम से मिलने की सलाह दे दी । विभीषण ने भी उस सलाह को माना और रावण के मरने के बाद वे राम द्वारा लंका के राजा बनाए गए । किसको, कहां, क्या सलाह देनी चाहिए, इसकी समझ बहुत आवश्यक है । सही समय पर सही इंसान को दी गई सलाह सिर्फ उसका ही फायदा नहीं करती, आपको भी कहीं ना कहीं फायदा पहुंचाती है ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/hanuman-chalisa-ke-benefits-4317618/

विचार मंथन : ऐसे थे भारत मां के वीर सपूत छत्रपति शिवाजी


भारत के वीर सपूतों में से एक हिंदू हृदय सम्राट, मराठा गौरव छत्रपति शिवाजी न सिर्फ एक महान शासक थे बल्कि दयालु योद्धा भी थे । शिवाजी पिता शाहजी और माता जीजाबाई के पुत्र थे । उनका जन्म महाराष्ट राज्य के पुणे के पास स्थित शिवनेरी में हुआ था । शिवाजी एक सेक्युलर शासक थे और वे सभी धर्मों का समान रूप से सम्मान करते थे । उनकी सेना में मुस्लिम बड़े पद पर मौजूद थे, इब्राहिम खान और दौलत खान उनकी नौसेना के खास पदों पर थे, सिद्दी इब्राहिम उनकी सेना के तोपखानों का प्रमुख था । शिवाजी ने अपने सैनिकों की तादाद को 2 हजार से बढ़ाकर 10 हजार किया था, भारतीय शासकों में वो पहले ऐसे थे जिसने नौसेना की अहमियत को समझा । उन्होंने सिंधुगढ़ और विजयदुर्ग में अपने नौसेना के किले तैयार किए, रत्नागिरी में उन्होंने अपने जहाजों को सही करने के लिए दुर्ग तैयार किया था ।

 

उनकी सेना पहली ऐसी थी जिसमें गुरिल्ला युद्ध का जमकर इस्तेमाल किया गया, जमीनी युद्ध में शिवाजी को महारत हासिल थी, जिसका फायदा उन्हें दुश्मनों से लड़ने में मिला, पेशेवर सेना तैयार करने वाले वो पहले शासक थे । धार्मिक हिंदू के साथ दूसरे धर्मों का भी सम्मान करते थे, संस्कृत और हिंदू राजनीतिक परंपराओं का विस्तार चाहते थे ।

 

शिवाजी ने 1657 तक मुगलों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध कायम रखे थे, यहां तक कि बीजापुर जीतने में शिवाजी ने औरंगजेब की मदद भी की लेकिन शर्त ये थी कि बीजापुर के गांव और किले मराठा साम्राज्य के तहत रहे. दोनों के बीच मार्च 1657 के बीच तल्खी शुरू हुई और दोनों के बीच ऐसी कई लड़ाईयां हुईं जिनका कोई हल नहीं निकला । शिवाजी को एक दयालु शासक के तौर पर भी याद किया जाता है ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/daily-thought-vichar-manthan-chhatrapati-shivaji-4315786/

चैत्र नवरात्रि होती सबसे अधिक फलदायी, इन नियमों के साथ करें मां दुर्गा की पूजा उपासना


चैत्र नवरात्र को पूजा, उपासना, साधना की दृष्टि से सबसे अधिक फलदायी बताया गया हैं । हिन्दू धर्म के शास्त्रों में छ: ऋतुएँ जिन्हें नारी-रूप में बताया गया हैं, और प्रत्येक ऋतु एक विशेष नवरात्रि के रूप में मनाई जाती है । इनमें चैत्र नवरात्र को शक्ति रूप मां दुर्गा की आराधना के सर्वोपरी माना जाता हैं, इसी के साथ हिन्दू वर्ष का आरंभ भी होता है । जाने इस चैत्र नवरात्र में माता की कृपा पाने के लिए कौन कौन से नियमों का पालन करना चाहिए । इस साल 6 अप्रैल से चैत्र नवरात्र शुरू होंगे जो 14 अप्रैल तक रहेंगे ।

 

नवरात्र में इन नियमों का पालन करने से माता दुर्गा के अनेक आशीर्वाद मिलते है ।


1- नौ दिनों तक प्रतिदिन सुबह 6 बजे तक स्नान कर ही लेना चाहिए, एवं हर दिन धुले हुए वस्त्रों को ही धारण करें ।
2- दिन में केवल एक बार सात्विक भोजन करना चाहिए ।
3- नौ दिनों तक घर का बना हुआ भोग ही माता रानी को अर्पित करनी चाहिए, ओर अगर संभव नहीं हैं तो दूध और फलों का भोग लगा सकते हैं ।
4- नौ दिनों तक घर के पूजा स्थल एवं नजदीक के मंदिर में सुबह एवं शाम को गाय के घी का दीपक जलायें ।


5- संभव हो तो नौ दिनों तक 7 साल से छोटी दो कन्याओं को फल या अन्य कोई उपहार भेंट, शाम के समय अवश्य करें ।
6- नौ दिनों तक माता के बीज मंत्रों, चालीसा, स्त्रोत आदि जप, पाठ अनिवार्य रूप से करें ।
7- संभव हो नौ दिनों तक गाय के घी का अखण्ड दीपक अवश्य जलाना चाहिए ।
8- दुर्गा सप्तशती या देवी माहात्म्य पारायण कराने से जीवन में उत्कृष्ट प्रगति, समृद्धि और सफलता मिलती हैं ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/chaitra-navratri-2019-puja-ke-niyam-4315560/

आज का राशिफल 23 मार्च 2019: रुका धन मिलने से मन प्रसन्न रहेगा, शुभ है आज का दिन


ज्योतिष पंडित श्यामनारायण व्यास

मेष राशिफल / Aries Horoscope Today: आज खान-पान पर नियंत्रण जरूरी है। व्यर्थ के दिखवों से दूर रहें। मानसिक शांती की तलाश में रहेंगे। संतान के विवाह में विलंब से चिंता होगी। न्यायालयीन कार्य आज पुरे होंगे। व्यवसाय में कोशिशों के बावजूद मंदी रहेगी।

वृषभ राशिफल / Tauras Horoscope Today: काम की अधिकता रहेगी। नौकरी में मनचाहा स्थानांतरण व पदोन्नति के भी योग बन रहे हैं। आर्थिक निवेश सोच-समझकर कार्य करें। पारिवारिक कार्यों में आप की पूछ परख बढ़ेगी।

मिथुन राशिफल / Gemini Horoscope Today: आज आपको पत्नी से सहयोग व समर्थन मिलेगा। व्यवसाय में उन्नति संभव है। कारोबार में कुछ नवीन योजनाएं बनेंगी। आपके द्वारा लिए गए निर्णय गलत साबित होंगे।

कर्क राशिफल / Cancer Horoscope Today: समाजिक आयोजनों में आप की प्रशंसा होगी। व्यापार, व्यवसाय में लाभदायक सौदे आत्मबल बढ़ायेंगे। आज साहस, पराक्रम बढ़ेगा। धर्म ग्रंथों के पठन-पाठन में अभिरुचि बढ़ेगी।

सिंह राशिफल / Leo Horoscope Today: आप बहूत जल्दी दूसरों के विश्वास में आ जाते है, सतर्क रहें। विपरीत परिस्थितियों से दृढ़ता से सामना कर सकेंगे। व्यापार में परेशानियों का अंत होगा। प्रेम प्रसंग के योग है। उधार लिया पैस कैसे चुकायेंगे इसी सोच में परेशान रहेंगे।

कन्या राशिफल / Virgo Horoscope Today: आप की दिनचर्या में आये बदलाव से निजी कार्य प्रभावित होंगे। परिवार में मांगलिक अवसर आएंगे। व्यवसाय में लाभ के योग बन रहे है। नौकरों पर नजर रखें।

तुला राशिफल / Libra Horoscope Today: आज रुका धन मिलने से धन संग्रह बढ़ेगा। आत्मविश्वास के बल बुते पर आगे बढ़ेंगे। पारिवारिक सुख-संतोश बना रहेगा। मनोरंजन के कार्यों में रुचि बढ़ेगी। आज अपनी वस्तुएं संभालकर रखें।

वृश्चिक राशिफल / Scorpio Horoscope Today: अपने स्वास्थ्य के प्रति आप कितने लापरवाह है। किसी नए व्यापार में निवेश करने के योग हैं। आज विद्वानों के साथ रहने का अवसर मिलेगा। लाभदायक सौदे होंगे। प्रसिद्धि मिलेगी।

धनु राशिफल / Sagittarius Horoscope Today: अपने संबंधों के प्रति आप लापरवाही कर रहे है। व्यवसाय में विकास की योजनाएं बन सकती हैं। आर्थिक अनुकूलता रहने से सुख साधन बढ़ेंगे। निजी जीवन में भागदौड़ के बाद सफलता की संभावना है।

मकर राशिफल / Capricorn Horoscope Today: नौकरी में बदलाव चाहते है, पर फैसला लेने में अस्मन्जस्य की स्थिति रहेगी। साहित्य पठन में रुचि बढ़ेगी। संतान के भविष्य की चिंता रहेगी। कारोबार में सोच-समझकर लिए गए निर्णय शुभ फल देंगे।

कुंभ राशिफल / Aquarius Horoscope Today: समय का सदुपयोग करें। अपनी सांगत बदलें। दुसरों की उन्नती से दुखी न हो आप मेहनत करें और संकुचित मानसिकता बदलें। व्यापार में हर किसी पर विश्वास न करें। अपनों से प्रतिस्पर्धा से बचें। कानूनी विवाद पक्ष में हल होंगे।

मीन राशिफल / Pisces Horoscope Today: समय पर काम होने से मन अशांत रहेगा। कलात्मक कार्यों का प्रतिफल मिलेगा। व्यापारिक नवीन योजनाएं बनेंगी। निर्माणकार्य में सुधार होगा। जीवनसाथी की भावनाओं का अपमान करने से बचें। वैवाहिक जीवन में तनाव रहेगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/aaj-ka-rashifal-23-march-2019-rashi-aaj-ka-tula-rashi-rashifal-4314795/

इस तारीख से शुरू होगी चैत्र नवरात्र, अभी से कर लें मां सिंह वाहिनी को प्रसन्न करने की ऐसे तैयारी


माँ दुर्गा के चैत्र नवरात्रे आते ही चारों ओर खुशियों और उल्लास का महौल स्वतः ही बन जाता है । चैत्र नवरात्रि में जहां जहां नजर पड़े वहां वहां हर कोई मां सिंह वाहिनी की भक्ति में लीन नजर आने लगता हैं । मान्यता हैं कि रंग भरी होली के सप्ताह भर बाद चैत्र नवरात्र प्रारंभ हो जाते हैं । इस चैत्र नवरात्र पर्व की सुंदरता तो रंगो में ही होती है, चारों दिशाओं में इन्द्रधनुषी परिधान मनमोहक से लगते हैं । नौ दिनों तक माता दुर्गा के 9 अलग अलग रूपों की आराधना माता को प्रिय लगने वाले नौं रंगों के कपड़ों को पहन कर करने से माता अति प्रसन्न हो जाती हैं । अगर आप भी माता को प्रसन्न करके उनकी कृपा पाना चाहते हो तो ऐसा जरूर करें ।

 

चैत्र नवरात्र महापर्व का आरंभ आगामी 6 अप्रैल शनिवार से शुरू होकर 14 अप्रैल रविवार 2019 तक रहेगा । इन नौ दिनों में इन नौरंगों के माध्यम से माता की करें आराधना, प्रसन्न होकर इच्छा पूरी कर देगी मां सिंह वाहिनी जगदंबा ।

 

1- पहले दिन - शनिवार को लाल या हरे रंग के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें ।

2- दूसरे दिन - रविवार को पीला या सुनहरे रंग के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें ।

3- तीसरे दिन - सोमवार को सफेद या गुलाबी रंग के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें ।
4- चौथे दिन - मंगवार को आसमानी या जामुनी रंग के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें ।
5- पांचवें दिन - बुधवार को नारंगी रंग के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें ।
6- छठवें दिन - गुरुवार को नीला या क्रीम रंग के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें ।
7- सातवें दिन - शुक्रवार को लाल या सफेद रंग के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें ।
8- आठवें दिन - शनिवार को हल्का हरा या पीले रंग के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें ।
9- नौंवें दिन - रविवार को पीला या लाल रंग के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें ।

************


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/chaitra-navratri-2019-in-india-4314793/

अंकज्योतिष 23 मार्च 2019: आज अंक 04 वाले जातकों को नौकरी के अच्छे प्रस्ताव मिलेंगे, लाभ होगा


ज्योतिषाचार्य गुलशन अग्रवाल

अंक 01- मंदी के दौर में यदि किसी अतिरिक्त कामकाज के विषय में सोचते हैं तो मंदिलें स्वतः मिलती जाएगी। सामाजिक कार्यक्रम में जुड़ने से पहले अपनी आदतों में सुधार लाना होगा।
अनुकूलता के लिए- आसमानी रंग के उपयोग से बचें।

अंक 02- धर्म व कर्म में पूर्ण विष्वास रख अपने कार्यों को अंजाम दें, व्यर्थ के अंधविष्वास में जीवन नष्ट करने की कोशिश न करें। कामकाज में मन को स्थिर करने का प्रयत्न करें।
अनुकूलता के लिए- श्रीकृष्ण मंदिर में माखन मिश्री का भोग लगाएं।

अंक 03- युवाओं व विद्यार्थियों को करियर में मिले अच्छे प्रस्तावों को अमल में लाने के लिए भारी मुसिबतों का सामना करना पड़ेगा। अपनी सोच में पहले से अधिक बदलाव लाना होंगे।
अनुकूलता के लिए- कमलगट्टे की माला से लक्ष्मी मंत्र का जाप करें।

अंक 04- व्यस्त व अनिश्चित जीवनशैली के कारण सेहत के प्रति लापरवाही जेब को भारी पड़ सकती है। व्यस्तता भरी जिंदगी में संबंधों को व्यवहारिक बनाने के प्रयास करने होंगे।
अनुकूलता के लिए- एक जायफल अपने पास में रखें।

अंक 05- अच्छे साथियों द्वारा बीच मझधार में छोड़ने के कारण कामकाज में पहले से कही ज्यादा परिश्रम करना होगा। नये माहौल में एक दूसरे के साथ सामंजस्य बिठाने का प्रयत्न करें।
अनुकूलता के लिए- देवी मंदिर में श्वेत पुष्प की माला चढ़ाए।

अंक 06- वाहनों को चलाने में नियमों के पालन के साथ-साथ बदलते मौसम की परिस्थिति का भी ध्यान रखें अन्यथा नुकसान संभावित है। विद्यार्थियों के लिए दिन अनुकुल रहेगा।
अनुकूलता के लिए- हनुमान चालिसा का विधिवत पाठ करें।

अंक 07- बच्चों का विपरित चलना व हठी स्वभाव मन को पीड़ा पहुंचाएगा। सामाजिक संस्थाओं में भागीदारी के मौके व अपने द्वारा किये गए परमार्थके काम प्रतिष्ठा में वृद्धि करेंगे।
अनुकूलता के लिए- व्यसनों से दुर रहने की कोशिश करें।

अंक 08- कार्यक्षेत्र में पहले से चल रहे कामों की ओर ही ध्यान देने की जरुरत है। नये सिरे से कोई भी जोखिम उठाने से बचें। आलस बरकरार रहने से मनोबल कमजोर होगा।
अनुकूलता के लिए- घर के मुख्य द्वार को प्राकृतिक बंधनवार से सजाएं।

अंक 09- नौकरी में वरिष्ठ कर्मचारियों का भरपुर सहयोग नई योजनाओं में मंजिल तक पहुंचाने में मदद करेगा। आलस्य व बढ़ते तनाव के कारण किसी भी काम में मन नहीं लगोगा।
अनुकूलता के लिए- बहते जल में थोड़े से मुंग प्रवाहित करें।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/ank-jyotish-23-march-2019-know-number-four-numerology-in-hindi-4314485/

जो यह पढ़े हनुमान चालीसा.... सिर्फ ये 5 चौपाई ही बदल देगी आपकी जिन्दगी


अनेक हनुमान भक्त अपनी दिनचर्या की शुरूआत हनुमान चालीसा के पाठ से ही करते हैं । श्री हनुमान चालीसा में कुल 40 चौपाइयां हैं, ये उस क्रम में लिखी गई हैं जो एक आम आदमी की जीवन क्रम होता है और इसे शायद बहुत ही कम लोग जानते होंगे । माना जाता है कि तुलसीदास जी ने चालीसा की रचना श्री रामचरित्र मानस की रचना से पूर्व श्रीहनुमान को गुरु बनाकर राम जी को पाने के लिये की थी ।

 

अगर व्यक्ति सिर्फ हनुमान चालीसा पढ़ रहे हैं तो यह व्यक्ति को भीतरी शक्ति तो दे रही है लेकिन अगर आप इसके अर्थ में छिपे जिंदगी के सूत्र समझ लें तो आपको जीवन के हर क्षेत्र में सफलता दिला सकते हैं । हनुमान चालीसा सनातन परंपरा में लिखी गई पहली चालीसा है, शेष सभी चालीसाएं इसके बाद ही लिखी गई । हनुमान चालीसा की शुरुआत से अंत तक सफलता के कई सूत्र हैं । जाने हनुमान चालीसा से अपने जीवन में क्या-क्या बदलाव ला सकते है ।

 

हनुमान चालीसा की शुरुआत गुरु से हुई हैं..


श्रीगुरु चरन सरोज रज ।
निज मनु मुकुरु सुधारि ।।

अर्थात - अपने गुरु के चरणों की धूल से अपने मन के दर्पण को साफ करता हूं- गुरु का महत्व चालीसा की पहले दोहे की पहली लाइन में लिखा गया है । जीवन में गुरु नहीं है तो आपको कोई भी आगे नहीं बढ़ा सकता । गुरु ही आपको सही रास्ता दिखा सकते हैं । आज के दौर में गुरु हमारा मेंटोर भी हो सकता है, बॉस भी । माता-पिता को पहला गुरु ही कहा गया है । अगर तरक्की की राह पर आगे बढ़ना है तो विनम्रता के साथ बड़ों का सम्मान करें ।

 

1- पहनावें का रखें ख्याल..

कंचन बरन बिराज सुबेसा ।
कानन कुंडल कुंचित केसा ।।
अर्थात - हनुमान जी के शरीर का रंग सोने की तरह चमकीला है, सुवेष यानी अच्छे वस्त्र पहने हैं, कानों में कुंडल हैं और बाल संवरे हुए हैं । आज के दौर में व्यक्ति की तरक्की इस बात पर भी निर्भर करती है कि वह रहता और दिखता कैसे हैं । इसलिए, रहन-सहन और पहनावा हमेशा अच्छा रखें ।

 

2- सिर्फ डिग्री काम नहीं आती..

बिद्यावान गुनी अति चातुर ।
राम काज करिबे को आतुर ।।
अर्थात - हनुमान जी विद्यावान हैं, गुणों की खान हैं, चतुर भी हैं । राम के काम करने के लिए सदैव आतुर रहते हैं । आज के दौर में एक अच्छी डिग्री होना बहुत जरूरी है । लेकिन चालीसा कहती है सिर्फ डिग्री होने से व्यक्ति सफल नहीं होंगे । विद्या हासिल करने के साथ उसे अपने गुणों को भी बढ़ाना पड़ेगा, बुद्धि में चतुराई भी लानी होगी । हनुमान में तीनों गुण हैं, वे सूर्य के शिष्य हैं, गुणी भी हैं और चतुर भी ।

 

3- अच्छा स्रोता बनें..

प्रभु चरित सुनिबे को रसिया ।
राम लखन सीता मन बसिया ।।
अर्थात - हनुमान जी राम चरित यानी राम की कथा सुनने में रसिक है, राम, लक्ष्मण और सीता तीनों ही हनुमान जी के मन में वास करते हैं । जो व्यक्ति की प्रायोरिटी है, जो काम है, उसे लेकर सिर्फ बोलने में नहीं, सुनने में भी व्यक्ति को रस आना चाहिए । अच्छा श्रोता होना बहुत जरूरी है । अगर किसी के पास सुनने की कला नहीं है तो वह कभी भी अच्छे लीडर नहीं बन सकते ।

 

4- कहां, कैसे व्यवहार करना है ये ज्ञान जरूरी है..

सूक्ष्म रुप धरि सियहिं दिखावा ।
बिकट रुप धरि लंक जरावा ।।
अर्थात - हनुमान जी ने अशोक वाटिका में सीता को अपने छोटे रुप में दर्शन दिए, और लंका जलाते समय हनुमान जी ने बड़ा स्वरुप धारण किया । व्यक्ति को कब, कहां, किस परिस्थिति में खुद का व्यवहार कैसा रखना है, ये कला हनुमानजी से सीखी जा सकती है ।

 

5- अच्छे सलाहकार बनें

तुम्हरो मंत्र बिभीसन माना ।
लंकेस्वर भए सब जग जाना ।।
अर्थात - विभीषण ने हनुमान जी की सलाह मानी, और वे लंका के राजा बने ये सारी दुनिया जानती है ।- हनुमान जी सीता की खोज में लंका गए तो वहां विभीषण से मिले, विभीषण को राम भक्त के रुप में देख कर उन्हें राम से मिलने की सलाह दे दी । विभीषण ने भी उस सलाह को माना और रावण के मरने के बाद वे राम द्वारा लंका के राजा बनाए गए । किसको, कहां, क्या सलाह देनी चाहिए, इसकी समझ बहुत आवश्यक है । सही समय पर सही इंसान को दी गई सलाह सिर्फ उसका ही फायदा नहीं करती, आपको भी कहीं ना कहीं फायदा पहुंचाती है ।

 

6- आत्मविश्वास की कमी ना हो

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माही ।
जलधि लांघि गए अचरज नाहीं ।।
अर्थात - हनुमान जी ने राम नाम की अंगुठी को अपने मुख में रखकर समुद्र को लांघ लिया, इसमें कोई अचरज नहीं है । अगर किसी व्यक्ति में खुद पर और अपने परमात्मा पर पूरा भरोसा है तो आप कोई भी मुश्किल से मुश्किल समय को आसानी से पूरा कर सकते हैं । आज के युवाओं में एक कमी ये भी है कि उनका भरोसा बहुत टूट जाता है । आत्मविश्वास की कमी भी बहुत है । प्रतिस्पर्धा के दौर में आत्मविश्वास की कमी होना खतरनाक है, इसलिए अपनेआप पर पूरा भरोसा रखे ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/hanuman-chalisa-ke-faide-4314300/

इन 10 बातों का हमेशा रखें ध्यान, जीवन में बनी रहेगी सुख-शांति और समृद्धि


जीवन में समस्या तो बहुत ही आम बात है। आज के समय भागदौड़ भरे इस जीवन में कोई भी व्यक्ति सुखी नहीं है। किसी को धन संबंधी समस्याएं हैं तो किसी को अन्य समस्या। इन समस्याओं के उपाय हम पूरी दुनिया में ढ़ूंढते हैं लेकिन सच तो यह है की जबतक व्यक्ति खुद में बदलाव नहीं करता तब तक उसे समस्याएं घेरे रहती है। हमारे धर्म में ऐेसे कई नियम हैं जिनका पालन कर लेने मात्र से ही व्यक्ति की आधी समस्याएं हल हो सकती है। लेकिन बहुत से लोग इन धर्म के नियमों का पालन नहीं करते हैं, इसलिए उनके जीवन में दुख, असफलता और काफी सारी उथल पुथल मची रहती है। यदि आपके जीवन में भी दुख मुसीबतें हैं तो आप भी कुछ नियमों का पालन कर जीवन में आने वाले सभी दुखों से मुक्ति पाकर सफल बन सकते हैं। आइए जानते हैं वो 10 बातें जिनसे आप दुख मुक्त और सुखी जीवन जी सकते हैं.....

 

10 facts of life

इन 10 नियमों का पालन करें...

1. ईश्वर को हमेशा सर्वोपरि मानें और एकनिष्ठ बने रहें।

2. व्यक्ति को रोज़ मंदिर जाना चाहिए।

3. प्रतिदिन संध्या वंदन करें, सकारात्मकता बनी रहती है।

4. इस दस तरह के पापों से बचकर रहें।

(दूसरों का धन हड़पना, निषिद्ध कर्म, देह को सबकुछ मानना, कठोर वचन, झूठ बोलना, निंदा करना, बकवास करना, चोरी करना, दूसरों को दुख देना, पराए स्त्री-पुरुष से संबंध)।

5. वेद को साक्षी मानें और जब भी समय मिले गीता पाठ करें।

6. सात्विक जीवन का अनुसरण करें, आश्रमों के अनुसार जीवन को ढालें।

7. हर हिंदू के पांच नित्य कर्तव्यों को जानकर उसका पालन करें।

8. सभी को समान समझें और छुआछूत का भाव ना रखें।

9. हिंदुओं के 16 संस्कारों का पालन करें।

10. संयुक्त परिवार का हमेशा पालन करें।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/religion-news/10-impotant-things-for-every-person-to-get-successful-life-4314236/

शनिवार के दिन केवल 21 बार पढ़ लें इस मंत्र को- धन ही नहीं व्यक्ति भी होगा वश में


अगर आप धनवान बनने के साथ किसी व्यक्ति विशेष को भी अपने वश में करने की इच्छा रखते हो तो ये छोटा सा उपाय आपकी हर मनोकामना पूरी कर देगा । मंगल भवन अमंगल हारी, शनिवार करें सब इच्छा पूरी । जी हैं शनिवार के दिन से शुरू करके 31 दिन तक इस छोटे से वशीकरण मंत्र को हर रोज केवल 21 बार जपने से कोई भी अथाह धन का स्वामी बनने के साथ जिसे चाहे उसे अपने वश में कर सकता है ।

 

शनिवार के दिन सूर्योदय के बाद उत्तर दिशा की ओर मुंह करके लाल मूंगे की माला से नीचे दिये गये मंत्र को कुल 31 दिनों तक 3 माला का जप करने से मंत्र सिद्ध हो जायेगा । सिद्ध होने के बाद उक्त वशीकरण मंत्र को 21 बार अभिमंत्रित करके इच्छित व्यक्ति या वस्तु पर प्रयोग करने से वे आपकी हो जायेगी । मंत्र में अमुक शुव्द के स्थान पर जिसे भी वश में करना हो उसका नाम 3 बार उच्चारण करें ।

 

मंत्र–

।। ऊँ नमो भास्कराय त्रिलोकात्मने अमुक महीपति में वश्यं कुरू कुरू स्वाहा ।।

- अनार के पंचांग में सफेद घुघची मिला-पीसकर तिलक लगाने से समस्त संसार वश में हो जाता है ।
- कड़वी तूंबी (लौकी) के तेल और कपड़े की बत्ती से काजल तैयार करें । इसे आंखों में लगाकर देखने से वशीकरण हो जाता है ।
- बिल्व पत्रों को छाया में सुखाकर कपिला गाय के दूध में पीस लें । इसका तिलक करके साधक जिसके पास जाता है, वह वशीभूत हो जाता है ।
- कपूर तथा मैनसिल को केले के रस में पीसकर तिलक लगाने से साधक को जो भी देखता है, वह वशीभूत हो जाता है ।


- केसर, सिंदूर और गोरोचन तीनों को आंवले के साथ पीसकर तिलक लगाने से देखने वाले वशीभूत हो जाते हैं ।
- प्रातःकाल काली हल्दी का तिलक लगाएं । तिलक के मध्य में अपनी कनिष्ठिका उंगली का रक्त लगाने से प्रबल वशीकरण होता है ।
- कौए और उल्लू की विष्ठा को एक साथ मिलाकर गुलाब जल में घोटें तथा उसका तिलक माथे पर लगाकर जिस भी मनचाही स्त्री के सम्मुख जाओगे वह सम्मोहित होकर जान तक न्योछावर करने को उतावली हो जाएगी ।

******************


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/shanivar-ka-vashikaran-mantra-in-hindi-4314029/

अंकज्योतिष 22 मार्च 2019: अंक 01 वाले जातकों को मिलेगी अपार सफलता


ज्योतिषाचार्य गुलशन अग्रवाल

अंक 01- कार्यालय में अपने से वरिष्ठ सदस्यों के साथ अनबन के कारण पुरा समय चिंताओं में बितेगा। अनजाने में अपने द्वारा हुई गलत हरकत नौकरी के खतरे में डाल सकती है।
अनुकूलता के लिए- यथाशक्ति शिक्षण सामग्री दान में दें।

अंक 02- जल्दी-जल्दी लाभ कमाने के चक्कर में अपने द्वारा कुछ सौदों में गलती हो सकती है। उच्च शिक्षा में मिली आशातित सफलता को करियर में भुनाने के प्रयास विफल रहेंगे।
अनुकूलता के लिए- काले श्वान को मीठी रोटी खिलाएं।

अंक 03- अपने से कनिष्ठ सहयोगियों की मदद से कार्यस्थल पर मन इच्छित मुकाम को पाने में सफल रहेंगे। कामकाज में महिला मित्रों का सहयोग लेने से धोखा उठाना पड़ सकता है।
अनुकूलता के लिए- गुड़ धनिये का सेवन कर घर से निकले।

अंक 04- कारोबार में वक्त की नजाकत देखते हुए कर्तव्यनिष्ठ व्यक्ति को साथ में लेकर चलने का प्रयास करें। पैसा के लेनदेन में असावधानी के कारण कोई बड़ी दुर्घटना घट सकती है।
अनुकूलता के लिए- आंकड़े के पुष्प शिवजी को चढ़ाए।

अंक 05- घर की महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों से फारिग हो स्वयं के कल्याण के लिए धर्मकर्म के विषय में सोचने के मौके मिलेंगे। अपने साथी के प्रति वफादार रहने की कोशिश करें।
अनुकूलता के लिए- गणेश जी को मोदक का भोग लगाएं।

अंक 06- शेयर बाजार में निवेश करते वक्त मनोबल के कमजोर रहने से बेहद असमंजस्य की स्थिति बनेगी। निजी संबंधों में पिछले कुछ दिनों से चल रहे मनमुटाव में कमी आएगी।
अनुकूलता के लिए- घर में जलस्थान के समीप घी का दीपक लगाएं।

अंक 07- अपने कामकाज में गुणवत्ता को बरकरार रखने के लिए अथक प्रयास भी काम नहीं आएंगे व सबक कुछ भाग्य भरोसे छोड़ना होगा। अर्जित ज्ञान को बांटने का प्रयास करें।
अनुकूलता के लिए- अपने से वरिष्ठ का अपमान करने से बचे।

अंक 08- किन्ही अच्छे मित्रों व सगे संबंधियों का साथ अनेतिक कामों में जाने से अपने को बचा कर रखेगा। पुराने विवाद के समाधान की राह में रोड़ा बनने की कोशिश न करें।
अनुकूलता के लिए- दिन के किसी भी समय कुछ देर ऊं का उच्चारण करें।

अंक 09- पहले से चल रहे कर्ज को कम करने में व्यर्थ का दिखावा व आडंबर आजे आएंगे। निजी संबंधों में चल रही कलह भावनात्मक रुप से पूरी तरह तोड़ के रख देगी।
अनुकूलता के लिए- ब्राह्मण को धार्मिक पुस्तक दान में दें।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/ank-jyotish-22-march-2019-know-number-one-numerology-in-hindi-4312706/

आज का राशिफल 22 मार्च 2019: आज इस राशि के लिए बन रहे हैं सुख वृद्धि एवं पारिवारिक उन्नति के योग


ज्योतिष पंडित श्यामनारायण व्यास

मेष राशिफल / Aries Horoscope Today: नए दोस्त बनेंगे। किसी अनजान पर विश्वास करने की भूल न करें। परिवार के कार्यक्रमों में व्यस्तता रहेगी। बैंक के वित्तीय सहयोग से व्यापार में विस्तार होगा। पुराना रुका पैसा मिलेगा। समाज में प्रतिष्ठा मिलेगी।

वृषभ राशिफल / Tauras Horoscope Today: जिन्हें आप अपना मानते थे, वे आप के विरोधी हो जायेंगे। अतिरिक्त आय का स्रोत मिलने से आय बढ़ेगी। मांगलिक कार्यक्रम में भाग लेंगे। कार्य में परिवार का पूर्ण सहयोग रहेगा।

मिथुन राशिफल / Gemini Horoscope Today: आकस्मिक धन लाभ हो सकता है। जोखिम के कार्यों से बचें। सामाजिक कद बढ़ेगा। राजनीतिक प्रभाव से सप्लाई का आदेश मिलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। पारिवारिक समस्याएं सूझ-बूझ से निपटाएं।

कर्क राशिफल / Cancer Horoscope Today: संतान के करियर में आ रहे उतार चढ़ाव से तनाव रहेगा। धनलाभ के अवसर आएंगे। व्यापार में उन्नति होगी। नई योजनाओं का सूत्रपात होगा। निवेश में वृद्धि होगी। रचनात्मक रुचि बढ़ेगी।

सिंह राशिफल / Leo Horoscope Today: खान-पान में सावधानी रखें। पेट संबंधित तकलीफ हो सकती है। जमीन जायदाद के कार्यों में अटकले आ सकती है। इच्छित कार्य पूर्ण होंगे। रिश्तेदारों से भेंट होगी। व्यापार अच्छा चलेगा। सामाजिक कार्यों में रुचि लेंगे।

कन्या राशिफल / Virgo Horoscope Today: अपनी आदतों को सुधारें। अध्ययन के लिए विदेश जाना हो सकता हे।दुसरो की ख़ुशी के लिए परेशान होना पड़ेगा।भौतिक सुख के साधन मिलेंगे। अपने प्रयासों से उन्नति पथ प्रशस्त करेंगे। आय से अधिक व्यय नहीं करें। दूसरों से बिना कारण नहीं उलझें।

तुला राशिफल / Libra Horoscope Today: घर परिवार में बूजुर्गों के स्वास्थ की चिंता रहेगी। नए वस्त्र आभूषण की प्राप्ति संभव है। व्यापार में लाभदायी अनुबंध होंगे। अधीनस्थों के मध्य आपका महत्व कम होगा। घर-परिवार की परेशानी से दुख होगा।

वृश्चिक राशिफल / Scorpio Horoscope Today: व्यर्थ विवादों से दूर रहें। भूल करने से विरोधी बढ़ेंगे। आर्थिक मामले सुलझाने में लगे रहेंगे। वाहन सुख की संभावना है। कार्यक्षेत्र में बाधाएं आ सकती हैं। यात्रा संभव है।

धनु राशिफल / Sagittarius Horoscope Today: अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें। अपने रहस्य दुसरों को न दें, अन्यथा मुसीबत आ सकती है। दांपत्य सुख में कमी आएगी। व्यर्थ समय नष्ट न करें। खर्चों में कमी करने का प्रयत्न आवश्यक है। मांगलिक उत्सवों में शामिल होने के अवसर आएंगे।

मकर राशिफल / Capricorn Horoscope Today: राजनीति में नए संबंधों के प्रति सतर्क रहना होगा। आजीविका के नए रास्ते खुलेंगे। सुख वृद्धि एवं पारिवारिक उन्नति होगी। विरोधी परास्त होंगे। नौकरी में कार्य की प्रशंसा के योग हैं।

कुंभ राशिफल / Aquarius Horoscope Today: बोलचाल में विशेष ध्यान दें। मित्रों से सहयोग लेना पड़ेगा। अल्प परिश्रम से ही लाभ होगा। रुका कार्य होने से हर्ष होगा। नए विचार, योजना पर चर्चा संभव है। आपसी संबंधों को महत्व दें।

मीन राशिफल / Pisces Horoscope Today: आप के व्यवहार से सहकर्मी खुश होंगे। जीवन में नई उड़ान भरने का समय आया है। इसका लाभ लें। पारिवारिक जानों से भेंट होगी। अनायास खर्च हो सकता है। समाजिक कार्यक्रमों में भाग ले सकेंगे।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/aaj-ka-rashifal-22-march-2019-rashi-aaj-ka-makar-rashi-rashifal-4312622/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Assam Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Study Material
Bihar
State Government Schemes
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Business
Astrology
Syllabus
Festival
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com