Patrika : Leading Hindi News Portal - Astrology and Spirituality #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Astrology and Spirituality

http://api.patrika.com/rss/astrology-and-spirituality 👁 2164

मंगल भवन अमंगलहारी, सब समस्याओं की एक ही दवा, हनुमान जी


श्रीराम चरित्र मानस ही यह चौपाई- मंगल भवन अमंगलहारी अर्थात सभी का मंगल ही मंगल हो । रामायण के अनुसार स्वयं राम जी को भी संकटों से बचाने वाले श्री हनुमान जी मनुष्य के भी कठिन से कठिन संकटों को पल भर में दूर कर देते हैं । अगर आपके जीवन में किसी भी तरह के दुख या समस्याएं हो तो मंगलवार के दिन इन उपायों को जरूर करें । इन्हें लगातार 3 मंगलावारों को करने से हमेशा के लिए सारे कष्ट हनुमान जी दूर कर देते हैं ।

 

मंगलवार के दिन इन उपायों को करने से शीघ्र प्रसन्न हो जाते हैं ।


1- मंगलवार के दिन किसी भी हनुमान मंदिर में एक नींबू और 4 लौंग लेकर जाएं, इसके बाद हनुमानजी के सामने नींबू के ऊपर चारों लौंग अर्पित करें । फिर हनुमानजी के इस बीज मंत्र- ।। ॐ ऐं भ्रीम हनुमते, श्री राम दूताय नम: ।। का 108 बार जप करें । मंत्र जप के बाद हनुमानजी से मनोकामना पूर्ति की कामना करते हुए नींबू को अपने साथ ही रख लें । कुछ ही दिनों में कठिन से कठिन समस्या भी दूर हो जायेगी ।

 

2- किसी पुराने हनुमान मंदिर में एक गीला नारियल लेकर जाएं, मंदिर में हनुमानजी के सामने खड़े होकर नारियल को अपने सिर से पैर तक 7 बार उतार कर जोर से फोड़ दे । इसके बाद 7 बार श्री हनुमान चालीसा का पाठ वहीं बैठकर करें । ऐसा करने से सभी बाधाएं दूर हो जाएंगी । ध्यान रहे कोई भी यह उपाय करते हुए आपको रोके टोके नहीं । इस उपाय के लाभ 7 दिनों में दिखाई देने लगते हैं ।

 

3- यदि परेशानियों से हमेशा के लिए मुक्ति चाहते हैं तो मंगलवार को हनुमानजी के मंदिर में जाकर एक नारियल पर सिंदूर से स्वस्तिक बनाएं और हनुमानजी को भेट कर दें । फिर हनुमान चालीसा का पाठ करें । इस उपाय से जल्दी ही शुभ फल प्राप्त होते हैं ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/mangalwar-hanuman-ji-puja-vidhi-in-hindi-4011486/

Kumbh mela 2019: माघ मास में प्रयाग की पावन भूमि पर करें इन चीजों का दान, मिलेगा अक्षय फल


प्रयागराज कुंभ शुरु हो चुका है, कुंभ माघ माह में लगता है और इस माह में दान, स्नान का बहुत अधिक महत्व माना जाता है। प्रयाग पवित्र स्थान माना जाता है, क्योंकि प्रयाग की पावन धरती पर भगवान ब्रह्मा नें विशाल यज्ञ करवाया था और इसी स्थान पर श्री राम, सीता और लक्ष्मण ने स्नान कर पूजा की थी। आज भी प्रयाग नगरी में स्नान और दान का विशेष महत्व माना जाता है। लेकिन जब यहां कुंभ मेला लगता है तो इस पावन स्थान का महत्व अधिक बढ़ जाता है। तो आइए जानते हैं प्रयाग में किन चीज़ों का दान करने से अक्षय फल की प्राप्ति होती है...

prayagraj kumbh 2019

1. प्रयाग में गोदान का महत्व
प्रयागराज को तीर्थों का राजा माना जाता है। इसलिए प्रयाग में किये हुए दान का अक्षय फल प्राप्त होता है। इन्हीं दानों में से एक प्रमुख दान गोदान माना जाता है, गोदान का विशेष महत्व होता है। ऋग्वेद के अनुसार जो जातक गाय का दान करता है, उसे बैकुंठ में स्थान प्राप्त होता है।

2. प्रयाग में दीपदान का विशेष महत्व
पुराणों में त्रिवेणी संगम यानी प्रयाग पर स्नान-दान का वर्णन मिलता है। पुराणों के अनुसार माना जाता है की गंगा-यमुना और सरस्वती के संगम स्थान पर माघ महीने में दान करना बहुत पुण्यदायी माना जाता है, इस जगह दीपदान देने से व्यक्ति के पापों का नाश हो जाता है। इसके साथ ही उसे अक्षय पुण्य की प्रप्ति होती है। इसके अलावा यह भी कहा जाता है की दीपदान से बीत चुकी दस पीढ़ियों और आने वाली दस पीढ़ियों का उद्धार होता है।

3. प्रयाग में फल दान का महत्व
कुंभ में फलदान का विशेष महत्व होता है यह विशेष फलदायी भी माना जाता है। फलदान करने से पुत्र प्राप्त होता है। फलदान करने के लिए नारियल, नारंगी, खजूर, अनार, सुपारी, तरबूज, कोल्हा, ककड़ी, जायफल, केला, आम, जामुन, नींबू, बेल और दूसरे मीठे फल का प्रयोग किया जा सकता है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/festivals/kumbh-mela-2019-shahi-snan-dates-and-do-this-faldan-4011422/

आज का पंचांग 21 जनवरी 2018


ज्योतिष पं. गुलशन अग्रवाल

राष्ट्रीय मिति माघ 01, शक संवत् 1940 पौष शुक्ला पूर्णिमा सोमवार विक्रम संवत् 2075। सौर माघ मास प्रविष्टे 08, जमादि उल्लावल 14, हिजरी 1440 तदनुसार अंग्रेजी तारीख 21 जनवरी सन् 2019 ई०। सूर्य उत्तरायण, दक्षिण गोल, शिशिर ऋतु। राहुकाल प्रातः 7 बजकर 30 मिनट से 9 बजे तक।

पूर्णिमा तिथि पूर्वाह्न 10 बजकर 46 मिनट तक उपरांत प्रतिपदा तिथि का आरंभ। पुष्य नक्षत्र अर्धरात्रोत्तर 2 बजकर 27 मिनट तक उपरांत आश्लेषा नक्षत्र का आरंभ। विष्कुंभ योग पूर्वाह्न 10 बजकर 33 मिनट तक उपरांत प्रीति योग का आरंभ, बव करण पूर्वाह्न 10 बजकर 46 मिनट तक उपरांत तैतिल करण का आरंभ।

आज के मुहर्त- अनुकूल समय में माघ माह के पावन पर्व में स्नान प्रारंभ करने के लिए शुभ मुहूर्त है।

चन्द्रमा दिन रात कर्क राशि पर संचार करेगा। आज ही पौष पूर्णिमा, माघस्नान प्रारंभ, शक माघ प्रारंभ, गण्डमूल अर्धरात्रोत्तर 2 बजकर 27 मिनट से, माघ कृष्णा प्रतिपदा का क्षय।

आज के विचार- आज जन्म लिए बच्चों के नाम (हू, हे, हो, डा, डी) अक्षरों पर रख सकते है। आज जन्म लिये बच्चे शरीर से बलीष्ठ होंगे। ऐसे जातक मन से उदार व सद्गुणी होंगे। इनकी दिनचर्या अनियमित रहेगी। प्रायः वंशानुगत संपदा का उपभोग करेंगे। संघर्षशील भी होंगे।

पंचांग क्या है
पंचांग या पंचागम् हिन्दू कैलेंडर है जो भारतीय वैदिक ज्योतिष में दर्शाया गया है। पंचांग मुख्य रूप से 5 अव्यवों का गठन होता है, अर्थात् तिथि, वार, नक्षत्र, योग एवं करण। पंचांग मुख्य रूप से सूर्य और चन्द्रमा की गति को दर्शाता है। हिन्दू धर्म में हिन्दी पंचांग के परामर्श के बिना शुभ कार्य जैसे शादी, नागरिक सम्बन्ध, महत्वपूर्ण कार्यक्रम, उद्घाटन समारोह, परीक्षा, साक्षात्कार, नया व्यवसाय या अन्य किसी तरह के शुभ कार्य नहीं किये जाते। जैसा कि प्राचीन समय से बताया गया है कि हर क्रिया के विपरीत प्रतिक्रिया होती है। इसी तरह जब कोई व्यक्ति पर्यावरण के अनुरूप कार्य करता है तो पर्यावरण प्रत्येक व्यक्ति के साथ समान तरीके से कार्य करता है। एक शुभ कार्य प्रारम्भ करने से पहले महत्वपूर्ण तिथि का चयन करने में हिन्दू पंचांग मुख्य भूमिका निभाता है। पंचांग एक निश्चित स्थान और समय के लिये सूर्य, चन्द्रमा और अन्य ग्रहों की स्थिति को दर्शाता है। संक्षेप में पंचांग एक शुभ दिन, तारीख और समय पे शुभ कार्य आरंभ करने और किसी भी तरह के नकारात्मक प्रभाव को नष्ट करने का विचार प्रदान करता है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/todays-panchang-21-january-2018-4010925/

रविवार की रात को करें ये चमत्कारी उपाय, दूर हो जाएगी पैसों से जुड़ी समस्याएं


सुख, शांति, समृद्धि और धन सभी व्यक्ति अपने जीवन में चाहते हैं। हर व्यक्ति की यही एक इच्छा होती है की उसका जीवन बीना किसी परेशानी के निकले। लेकिन ऐसा नहीं होता क्योंकि दुनिया में हर व्यक्ति को कुछ ना कुछ परेशानी जरुर होती है, शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसे कोई दिक्कत ना हो या वो अपने जीवन में किसी कारण से दुखी ना हो। ज्योतिषशास्त्र में मनुष्य की लगभग सभी परेशानियों का समाधान व उपाय हैं जिनते माध्यम से वह अपनी समस्याओं को दूर कर सकते हैं। उन्हीं समस्याओं में से एक समस्या है धन की समस्याएं। जब भी किसी व्यक्ति को पैसों की समस्या होती है तो वह भौतिक सुख नहीं ले पाता। जब व्यक्ति को मेहनत के बाद भी पैसों की किल्लत सहनी पड़ती है, तो कुंडली या भाग्य दोष कारण होता है। ऐसे में कुछ असरदार उपाय आपकी परेशानी हल कर सकते हैं। आइए जानते हैं वो आसान उपाय....

dhan upay on ravivar

रविवार को करें ये असरदार उपाय

जिन लोगों परिश्रम के बाद भी सफलता प्राप्त नहीं होती वो लोग इस उपाय को आजमा सकते हैं। रविवार की रात को सोते समय एक दूध भरा गिलास अपने सिरहाने रखकर सो जाएं। सुबह उठकर यह दूध से भरा गिलास को किसी भी बबूल के पेड़ की जड़ में ड़ाल दें। यह टोटका लगातार दोहराएं इससे आपकी धन संबंधी समस्याएं दूर हो जाएगी। धन संबंधी समस्याओं के साथ-साथ यदि आपके आसपास नकारत्मक शक्तियां हैं तो उनसे भी छुटकारा मिल जाएगा। इस उपाय को श्रृद्धा पूर्वक करने से आपको अपार धन, सुख-समृद्धि, संपन्नता प्राप्त होगी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/ravivar-ke-tantrik-totke-for-money-in-hindi-4008178/

अंकज्योतिष 21 जनवरी 2019: आज अंक 06 वाले जातक सूझबूझ से काम करें, कार्य बिगड़ सकते हैं


ज्योतिषाचार्य गुलशन अग्रवाल

अंक 01- आकस्मिक धनार्जन के कामकाज में पूंजि निवेश करने में बहुत सोच विचार कर कोई भी फैसला लें। कार्यस्थल पर बिगड़ते संबंधों में सुधार की कोशिशें नाकाम साबित होगी।
अनुकूलता के लिए- गाय के गोबर से बने कण्डे की धुप दें।

अंक 02- प्रियजन की किसी भी समस्या को हलके में न लें। तन व मन दोनों की स्वस्थता नये काम करने के लिए प्रेरित करेगी। उच्च शिक्षा के प्रतिफल अपने सामने आने लगेंगे।
अनुकूलता के लिए- सायंःकाल में श्वेत पदार्थों के सेवन से बचें।

अंक 03- किसी बड़ी समस्याओं में से पुरी तरह बच निकलने से पुराने पुण्य कर्म याद आएंगे। गोपनीय बातों को उजागर करने की आदत कार्यालय में अपमान का कारण बनेगी।
अनुकूलता के लिए- ब्राह्मण को धार्मिक पुस्तक दान में दें।

अंक 04- कानूनी मामलों में अत्यधिक समय बर्बाद होने से महत्वपूर्ण काम समय पर नहीं हो पाएंगे। निजी संबंधों में अपशब्दों के प्रयोग का गंभीर खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।
अनुकूलता के लिए- झुठी शान दिखाने से बचकर रहें।

अंक 05- शीत प्रकृति के व्यक्तियों को मौसम तकलीफ दे सकता है। कहीं दूर पर्यटन करने के योग बनते है। कार्यस्थल पर उत्साह की कमी से अधिकारों में कमी आ सकती है।
अनुकूलता के लिए- मौन धारण कर ही भोजन ग्रहण करें।

अंक 06- बचकानी हरकतों के कारण वरिष्ठों के समुचित सहयोग से वंचित रहेंगे। नई साझेदारी में एक दूसरे के साथ तालमेल बिठाने की कोशिशें कामयाब होती दिखाई देगी।
अनुकूलता के लिए- श्रीकृष्ण भगवान को मीठे भात का भोग लगाएं।

अंक 07- स्वजनों के विरोध के चलते महत्वपूर्ण मुद्दों को कुछ दिनों के लिए टालना पड़ सकता है। अतिरिक्त कमाई का अधिकांश हिस्सा अतिरिक्त व बेवजह के कामों में खर्च हो जाएगा।
अनुकूलता के लिए- दिये गए दान को गोपनीय रखने का प्रयास करें।

अंक 08- युवाओं को अपने संकोची स्वभाव होने का खामियाजा नौकरी में भुगतना पड़ सकता है। रिश्तेदारों की बजाए गैरों पर भरोसा कर किये गए काम नुकसान दे सकते है।
अनुकूलता के लिए- माता-पिता का आशीर्वाद लेकर कार्य शुरू करें।

अंक 09- वर्तमान समय को देखते हुए मुख्य कामकाज के साथ-साथ अतिरिक्त काम की ओर भी ध्यान देने की जरूरत है। नये मित्रों के साथ बने संबंधों में पुनः समीक्षा की जरूरत रहेगी।
अनुकूलता के लिए- गाय को हरे चने खिलाएं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/ank-jyotish-21-january-2019-know-number-six-numerology-in-hindi-4007409/

आज का राशिफल 21 जनवरी 2019: आज इस एक राशि के जातकों को हर कार्य में सफलता मिलेगी


ज्योतिष पंडित श्यामनारायण व्यास

मेष राशि: कारोबार में नई तकनीकी पर खर्च बढ़ेगा। आप के सामने बहुत सारी व्यवसायिक चव्याइस है, निर्णय आप को लेना है। कान संबंधित रोग उभर सकता है। कोयला तेल और खनिज व्यवसाय मुनाफे में रहेगा।

वृषभ राशि: विदेश में शिक्षा लेना चाहते हैं। फिजूल सोचना बंद करें। व्यवसाय में साझेदार से मन मुटाव होगा। किसी पर भी आप बहुत जल्दी विश्वास कर लेते है। भावुकता में आप अपने मन की बात किसी को न कहें।

मिथुन राशि: प्रोफेशन बदलने का मन होगा मनचाही सफलता के न मिलने से तनाव में रहेंगे। मित्रों से मतभेद संभव है। पढाई में ध्यान कम लगेगा। समय रहते अपनी संगत बदलें नहीं तो बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी।

कर्क राशि: कार्य की अधिकता रहेगी। आज सारे जरूरी काम पुरे होंगे। कार्यस्थल पर अनुकूल माहौल मिलने से आत्मविश्वास बढ़ेगा। कर्ज से संबंधित मामले हल होंगे। नए लोगों से मुलाकत होगी।

सिंह राशि: मानसिक शांति का आभास होगा। विवाह में आ रही रुकावटें दूर होगी। धर्म में रूचि बढ़ेगी। पारिवारिक रीती रिवाजों को नजरअंदाज न करें। यह जीवन का महत्वपूर्ण अंग है, खर्च बढ़ेगा।

कन्या राशि: ऋण चुकाने में सहयोग प्राप्त होगा। किसी बड़े व्यवसायिक लाभ का अंदेशा है। नौकरी के चलते अपने अधिकारियों से विवाद होगा। आंख संबंधित तकलीफ हो सकती है, सावधानी पूर्वक कार्य करें।

तुला राशि: आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। व्यवसायिक यात्रा हो सकती है। नए व्यवसायिक अनुबंध लाभकारी होंगे। सभी के लिए सुलभ रहें और नम्र रहें।

वृश्चिक राशि: कार्यस्थल पर तनावपूर्ण माहौल रहेगा। आर्थिक मामले यथावत रहेंगे। बुरे कामों का बुरा नतीजा होता है। नौकरी में स्थान परिवर्तन हो सकता है। संतान की वजह से शर्मिंदा होना पड़ सकता है।

धनु राशि: अपने फिजूल खर्च को रोकें। रुके कार्य पूर्ण होंगे। धनलाभ के योग है। नौकरी में विघ्न आ सकता है। नए कारोबार में संभल कर और सतर्कता से काम करें। पारिवारिक विवाद संभव है।

मकर राशि: जीवनसाथी की चिंता रहेगी। भाग्योदय के योग बन रहे है। जो भी करें पूरी मेहनत और विश्वास से करें सफलता जरुर मिलेगी। साहित्यकार लेखक और मंच से जुड़े लोग ख्याती प्राप्त करेंगे।

कुंभ राशि: रुक-रुक कर हो रहे कार्य से परेशान रहेंगे। पारिवारिक माहौल अनुकूल नहीं होने से तनाव बढ़ सकता है। वाहन पर खर्च होगा कार्यस्थल पर कर्मचारियों से परेशान होंगे। नए दोस्त बनेंगे।

मीन राशि: कार्यों में सफलता मिलेगी। धार्मिक यात्रा हो सकती है। व्यापार में नए सौदे लाभप्रद रहेंगे। राजीनति से जुड़े लोगों को नई जिम्मेदारी मिलेगी। करियर में बेहतर प्रस्ताव मिलने की उम्मीद है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/aaj-ka-rashifal-21-january-2019-rashi-aaj-ka-dhanu-rashifal-4007321/

Lunar eclipse 2019: 21 जनवरी को चंद्रग्रहण, इन राशियों को रहना होगा सावधान वरना हो सकता है भारी नुकसान


21 जनवरी को चंद्रग्रहण लगेगा, चंद्रग्रहण पूर्णिमा के दिन पड़ता है और इस बार खग्रास चंद्रगहण 20 जनवरी की रात को लगेगा जोकी 21 जनवरी की सुबह तक रहेगा। हालांकि यह ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा लेकिन इसके बावजूद इसका प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहण भारत में दिखाई दे या नहीं दे इसका प्रभाव सभी जीव पर देखने को मिलता है। सूर्य ग्रहण हो या चंद्रग्रहण इसका परिणाम जरुर देखने को मिलता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण के बाद स्नान और दान पूण्य का महत्व माना जाता है, इससे सर्वश्रेष्ठ फल की प्राप्ति होती है। लेकिन ग्रहण के बाद गेहूं, धान, चना, मसूर दाल, गुड़, चावल,काला कम्बल, सफेद-गुलाबी वस्त्र, चूड़ा, चीनी, चांदी-स्टील की कटोरी में खीर का दान करने से विशेष फल की प्रप्ति होती है। वहीं पंडित रमाकांत मिश्रा ने बताया की ग्रहण का वैदिक ज्योतिष में अत्यधिक महत्व माना गया है, इसके साथ ही ग्रहण का सभी राशियों पर प्रभाव भी पड़ने वाला है। आइए जानते हैं किस राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा....

chandra grahan 2019

मेष राशि: ग्रहण पड़ने से इस राशि के जातकों के भाग्य में वृद्धि होगी व पराक्रम से भरपूर लाभ मिलेगा। लाभ मिलने के साथ-साथ खर्च भी बढ़ेगा।

वृषभ राशि: ग्रहणकाल के दौरान पेट की समस्या हो सकती है। जितना परिश्रम करेंगे उतना लाभ मिलेगा, धन वृद्धि के योग बन रहे हैं।

मिथुन राशि: ग्रहणकाल के वक्त अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें, तीव्र वाणी से नुकसान झेलना पड़ सकता है। शत्रु एवं रोग से तकलीफ मिल सकती है। दंपत्य में परेशानियां आ सकती है।

कर्क राशि: चंद्रग्रहण आपके लिए कष्टकारी साबित हो सकता है। यह अपके स्वास्थ्य को प्रभावित करेगा। आपको विद्या वृद्धि, मनोबल कमजोर व भाग्य में वृद्धि होगी।

सिंह राशि: ग्रहणकाल के दौरान आपको धन वृद्धि के योग बन रहे हैं। इसके साथ ही वाहन सुख भी प्राप्त होगा। तबीयत खराब हो सकती है सतर्क रहें।

कन्या राशि: चंद्रग्रहण आपके लिए दांपत्य में तकलीफें लेकर आएगा, क्षणिक समय के लिए तनाव हो सकता है। कुलमिलाकर आपके लिए यह समय बहुत ही कष्टकारी साबित होगा।

तुला राशि: आपकी राशि के लिए ग्रहणकाल बहुत ही शुभ रहने वाला है। आर्थिक लाभ प्राप्त होगा और धन, पराक्रम में वृद्धि होगी। शत्रु पर विजय प्राप्त होगी।

वृश्चिक राशि: चंद्रग्रहण आपके लिए शुभ साबित होगा। इस दौरान आपको धन, बुद्धि एवं विद्या में वृद्धि होगी। अपने गुस्से को कंट्रोल करें व वाणी में तीव्रता ना लाएं।

धनु राशि: इस दौरान आपको दाम्पत्य में तनाव या अवरोध हो सकता है। लेकिन धैर्य से काम लें। इसके अलावा पेट व पैर की समस्या हो सकती है। आंतरिक शत्रु बढ़ सकते हैं।

मकर राशि: चंद्रग्रहण के समय आपको दांपत्य में तनाव महसूस होगा। वहीं फिजूल खर्च में वृद्धि होगी। इसके अलावा मन अशांत रहेगा। स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही ना बरतें, पैर में कष्ट हो सकता है।

कुंभ राशि: ग्रहणकाल में आपकी आय में वृद्धि होगी साथ ही साथ आपके मान-सम्मान में भी वृद्धि होगी। विद्याध्ययन में अवरोध पैदा हो सकते हैं। रोग एवं शत्रुओं का समना करना पड़ सकता है।

मीन राशि: ग्रहणकाल के दौरान क्रोध में वृद्धि होगी, धैर्य रखें। सम्मान एवं परिश्रम में अवरोध उत्पन्न होगा लेकिन आय में वृद्धि होगी। मानसिक चिंता बनी रहेगी जिसके कारण मन अशांत रहेगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/religion-news/chandra-grahan-2019-in-india-date-and-time-4006862/

ग्रहणकाल के दौरान गर्भवती महिलाएं अपने पास रखें ये एक चीज़, नहीं पड़ेगा नकारात्मक प्रभाव


21 जनवरी, सोमवार को साल का पहला चंद्रग्रहण पड़ने वाला है। चंद्रग्रहण से पहले ही जनवरी के पहले सप्ताह में साल का पहला सूर्यग्रहण पड़ा था। जनवरी महीने में यह दूसरा और पूर्ण चंद्रग्रहण पड़ने जा रहा है। जो की साल का पहला चंद्रग्रहण होगा। यह चंद्रग्रहण बहुत ही खास माना जा रहा है क्योंकि यह सुपर ब्लड मून होगा। भारत में चंद्रगहण का दृष्य नहीं है, लेकिन फिर भी इसका असर मनुष्य व सभी जीवों पर पड़ता है। ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं और नवजात बच्चों का विशेष ध्यान रखा जाता है। ज्योतिषाचार्यों द्वारा ग्रहण काल के दौरान गर्भवती स्त्रियों को घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जाती है। क्योंकि ग्रहण के दौरान वातावरण में नकारात्मक ऊर्जा काफी ज्यादा रहती है, जिससे गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान पहुंच सकता है। आइए जानते हैं गर्भवती महिलाओं को किन सावधानियों को रखना चाहिए....

chandragrahan

ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं इन बातों का रखें ध्यान

1. ग्रहणकाल के दौरान गर्भवती महिलाओं को वैसे तो घर से बाहर निकलना निकलने की अनुमती नहीं दी जाती लेकिन इसके बावजूद यदि बाहर निकलना जरुरी हो तो अपने गर्भ पर चंदन और तुलसी के पत्तों का लेप कर लें। उसके बाद निकलें।

2. ग्रहणकाल में सबसे ज्यादा सावधानी गर्भवती महिलाओं को रखनी चाहिए। इस दौरान गर्भस्थ शिशु पर ग्रहण काल का असर विपरीत पड़ सकता है। इसलिए अपने पास हमेशा नारियल रखना चाहिए। ऐसा करने से गर्भवती महिला पर वायुमंडल से निकलने वाली नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव नहीं पड़ेगा।

3. ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं चाकू, कैंची और सुई का बिल्कुल भी प्रयोग न करें। न ही कोई अन्य कार्य करें। ग्रहण से बचने के लिए सिर्फ भगवान की शुभ आराधना करें।

4. ग्रहणकाल में अन्न, जल ग्रहण नहीं करना चाहिए।

5. ग्रहणकाल के दौरान भगवान का नाम लें इसके आलावा कोई दूसरा कार्य ना करें।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/religion-news/chandragrahan-21-january-2019-pregnenet-put-this-thing-near-you-4006340/

आज का पंचांग 20 जनवरी 2018


ज्योतिष पं. गुलशन अग्रवाल

राष्ट्रीय मिति पौष 30, शक संवत् 1940 पौष शुक्ल चतुर्दशी रविवार विक्रम संवत् 2075। सौर माघ मास प्रविष्टे 07, जमादि उल्लावल 13, हिजरी 1440 (मुस्लिम) तदनुसार अंग्रेजी तारीख 20 जनवरी सन् 2019 ई०। सूर्य उत्तरायण, दक्षिण गोल, शिशिर ऋतु। राहुकाल सायं 4 बजकर 30 मिनट से 6 बजे तक।

चतुर्दशी तिथि अपराह्न 2 बजकर 19 मिनट तक उपरांत पूर्णिमा तिथि का आरंभ, आर्द्रा नक्षत्र प्रातः 8 बजकर 7 मिनट तक उपरांत पुनर्वसु नक्षत्र का आरंभ, वैधृति योग अपराह्न 2 बजकर 42 मिनट तक उपरांत विष्कुंभ योग का आरंभ, वणिज करण अपराह्न 2 बजकर 19 मिनट तक उपरांत बव करण का आरंभ। चन्द्रमा अर्धरात्रोत्तर 12 बजकर 5 मिनट तक मिथुन उपरांत कर्क राशि पर संचार करेगा।

आज के मुहर्त- अनुकूल समय में समस्त कृषि कर्म करने के लिए शुभ मुहूर्त है।

आज ही भद्रा अपराह्न 2 बजकर 19 मिनट से अर्धरात्रोत्तर 12 बजकर 33 मिनट तक। श्री सत्य नारायण व्रत, बुध मकर में रात्रि 9 बजकर 4 मिनट सूर्य सायन कुंभ में अपराह्न 2 बजकर 30 मिनट, शाकम्भरी जयंती।

आज के विचार- आज जन्म लिए बच्चों के नाम (छ, के, को, ह, ही, हू) अक्षरों पर रख सकते है। आज जन्म लिये बच्चे शरीर से सामान्य होंगे। प्रायः स्वकार्य में सुदक्ष व चंचल होंगे। इनकी न्यायायिक शैली अद्भूत रहेगी। अल्पव्यवहारी, नेतृत्व क्षमता में माहिर व परोपकारी भी होंगे।

पंचांग क्या है
पंचांग या पंचागम् हिन्दू कैलेंडर है जो भारतीय वैदिक ज्योतिष में दर्शाया गया है। पंचांग मुख्य रूप से 5 अव्यवों का गठन होता है, अर्थात् तिथि, वार, नक्षत्र, योग एवं करण। पंचांग मुख्य रूप से सूर्य और चन्द्रमा की गति को दर्शाता है। हिन्दू धर्म में हिन्दी पंचांग के परामर्श के बिना शुभ कार्य जैसे शादी, नागरिक सम्बन्ध, महत्वपूर्ण कार्यक्रम, उद्घाटन समारोह, परीक्षा, साक्षात्कार, नया व्यवसाय या अन्य किसी तरह के शुभ कार्य नहीं किये जाते। जैसा कि प्राचीन समय से बताया गया है कि हर क्रिया के विपरीत प्रतिक्रिया होती है। इसी तरह जब कोई व्यक्ति पर्यावरण के अनुरूप कार्य करता है तो पर्यावरण प्रत्येक व्यक्ति के साथ समान तरीके से कार्य करता है। एक शुभ कार्य प्रारम्भ करने से पहले महत्वपूर्ण तिथि का चयन करने में हिन्दू पंचांग मुख्य भूमिका निभाता है। पंचांग एक निश्चित स्थान और समय के लिये सूर्य, चन्द्रमा और अन्य ग्रहों की स्थिति को दर्शाता है। संक्षेप में पंचांग एक शुभ दिन, तारीख और समय पे शुभ कार्य आरंभ करने और किसी भी तरह के नकारात्मक प्रभाव को नष्ट करने का विचार प्रदान करता है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/todays-panchang-20-january-2018-4005583/

बुध का मकर राशि में प्रवेश, 3 राशि वालों के प्रभाव में होगी जबरदस्त वृद्धि


ज्योतिष शास्त्र में बुध को बुद्धि का कारक ग्रह माना जाता है। कुंडली में बुध की स्थिति बहुत महत्वपूर्ण होती है और ज्योतिष में ग्रहों की चाल राशि में बहुत ही बदलाव लाती है। ग्रहों का बदलाव राशियों में जीवन में कई बदलाव लाता है। वहीं बुध ग्रह का राशि परिवर्तन इस माह यानी 20 जनवरी को होने जा रहा है। पंडित रमाकांत मिश्रा के अनुसार बुध ग्रह 20 जनवरी को रात 8:54 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इस राशि में बुध 7 फरवरी तक गोचर करेंगे। बुध के इस राशि परिवर्तन से सभी राशियों में भारी उथल-पथल मच जाएगी। कुछ राशियों के लिए यह परिवर्तन बहुत ही अच्छा साबित होगा। वहीं कुछ राशियों के लिए सामान्य तो कुछ के लिए बुरा रहेगा। आइए जानते हैं किन राशियों के दिन पलटने वाले हैं और मालामाल होने वाले हैं....

rashi parivartan

मेष राशि
इस राशि में बुध 10वें भाव में गोचर करेंगे। इससे आपका कार्यक्षेत्र प्रभावित होगा और आपके प्रभाव में वृद्धि होगी। नौकरी में अधिकारी आपके काम की प्रशंसा करेंगे। कुलमिलाकर आपके कार्यक्षेत्र के लिए शुभ साबित होगा। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। साथी ही व्यापार में अत्यधिक लाभ प्राप्त होगा।

वृषभ राशि
आपकी राशि में बुध 9वें भाव में गोचर करेगा, जिससे आपका आर्थिक पक्ष प्रभावित होगा। इस गोचर से आपको नौकरी में प्रमोशन मिलेगा। इससे अपने कार्यस्थल पर सहयोगियों से पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। व्यापार में जरुर ही लाभ प्राप्त होगा। दांपत्य जीवन में आपसी प्रेम और सामंजस्य बढ़ेगा।

मिथुन राशि
आपकी राशि में बुध 8वें भाव में गोचर करेगा। यह गोचर आपकी सेहत को प्रभावित करेगा, जिसके कारण आपको स्वास्थ्य संबंधित दिक्कतें आ सकती है। आर्थिक मामलों में लाभ प्राप्त होगा और शुभ समाचार मिल सकते हैं। जीवनसाथी के साथ आपके रिश्ते और अधिक मजबूत और मधुर होंगे।

कर्क राशि
आपकी राशि में बुध 7वें भाव में गोचर करेगा। यह गोचर आपके लिए सामान्य रहेगा। इस दौरान साझेदारी के काम में प्रगति होगी, नई साझेदारी भी लाभप्रद रहेगी। विदेश से कोई शुभ समाचार मिल सकता है। जीवनसाथी का पूर्ण सहयोग मिलेगा।

सिंह राशि
आपकी राशि में बुध 6वें भाव में गोचर करेगा। इससे आपके कार्य में उन्नति के योग बन रहे हैं। इसके साथ ही आपको कार्य के अनुसार परिणाम प्राप्त होंगे। धन का निवेश संभलकर करें, नुकसान की आशंका है। सेहत से संबंधित समस्याएं भी आ सकती है। इस दौरान आप कम और सोच-समझकर बोलें।

कन्या राशि
आपकी राशि में बुध 5वें भाव में गेचर करेंगे। बुध का यह गोचर आपके लिए लाभकारी साबित होगा। सबसे ज्यादा इस राशि के विद्यार्थियों के लिए लाभकारी रहेगा। विदेश जानें के पूरे योग बन रहे हैं। कन्या राशि वे जातकों के लिए यह अच्छा समय है। कार्यक्षेत्र में उन्नति के अवसर मिलेंगे एवं धनलाभ मिल सकता है।

तुला राशि
आपकी राशि में बुध 4थे भाव में गोचर करेगा। यह गोचर आपके लिए बहुत शुभ साबित होगा। इस दौरान आपको समाज में मान-सम्मान प्राप्त होगा साथ ही आपका भाग्य में भी बदलाव होगा। विदेश यात्रा हो सकती है। वाणी और क्रोध पर संयम रखने की जरुरत है वरना नुकसान झेलना पड़ सकता है। घर या कार्यक्षेत्र में कुछ बदलाव हो सकता है।

वृश्चिक राशि
आपकी राशि में बुध 3रे भाव में गोचर करेगा। छोटे भाई-बहनों को लेकर आपकी चिंता बढ़ सकती है। व्यापार में प्रगति होगी। आप लाभ के लिए जोखिम उठाने के लिए भी तैयार रहेंगे। आपके प्रयास सफल होंगे, कामयाबी मिलेगी।

मकर राशि
आपकी राशि में बुध का गोचर होने वाला है। इस गोचर के दौरान आपको सामाजिक व अन्य जगहों पर मान-सम्मान और पद प्रतिष्ठा प्राप्त होगी। आपके दुश्मनों से आपकी जीत हासिल होगी। कार्यक्षेत्र में प्रमोशन, वेतन में वृद्धि, अधिकार और प्रभाव क्षेत्र में इजाफा होगा। कोर्ट-कचहरी के मामलों में के फैसले आपके पक्ष में आ सकते हैं।

कुंभ राशि
आपकी राशि में बुध 12वें भाव में गोचर करेंगे। यह समय विघार्थियों के लिए अनुकूल रहेगा, सफलता मिल सकती है। शुभ और समाचार परिणाम आपको प्राप्त होंगे। परिवार का पूरा सहयोग मिलेगा। आपको अचानक लाभ होगा। मन में नए विचार आ सकते हैं। आमदनी में वृद्धि की संभावना नजर आ रही है।

मीन राशि
आपकी राशि में बुध 11वें भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान आपको पैसों से संबंधित हर फैसला सोच-विचार करना होगा। नया घर या वाहन खरीद सकते हैं। जीवनसाथी के साथ ज्यादा वक्त गुजार पाएंगे। इस समय आप एक दूसरे के साथ एख बहुमूल्य समय व्यतीत कर पाएंगे। कारोबार में प्रगति होगी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/religion-news/budh-grah-rashi-parivartan-in-makar-rashi-2019-4003138/

राजनीतिक कारणों से उपेक्षा की शिकार हुई आदि शंकराचार्य की तपोस्थली गुरु गुफा


नरसिंहपुर। आदि शंकराचार्य ने जिस गुफा में रहकर तपस्या की थी और अपने गुरु गोविंद पादाचार्य से दंड संन्यास की दीक्षा ग्रहण की थी वह गुफा राजनीतिक कारणों से उपेक्षा का शिकार हो गई। किसी अन्य धर्म की बात होती तो शायद यह स्थान तीर्थ स्थल बन चुका होता पर सनातन धर्म का यह महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल राजनीति के फेर में उलझ गया और शासकीय स्तर पर इसका अपेक्षित विकास नहीं हो सका। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज का कहना है कि तत्कालीन सीएम शिवराज को उन्होंने नमामि देवी नर्मदे यात्रा के दौरान यहां आशीर्वाद दिया था पर उनके लिए अस्वीकार्य हो गया।

बन चुका है विशाल मंदिर
यह स्थान नर्मदा नदी के सांकलघाट और ढाना घाट के पास नीमखेड़ा धूमगढ़ में है जिसके सामने पहाड़ी पर द्विपीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज ने आदि गुरु शंकराचार्य के विशाल भव्य मंदिर का निर्माण कराया है। इस मंदिर में आदि गुरु शंकराचार्य और उनके गुरु गोविंद पादाचार्य के दंड संन्यास दीक्षा देते हुए दिव्य विग्रह स्थापित किए जाएंगे। इन विग्रहों का स्वरूप कैसा होगा इसके चित्र पत्रिका को प्राप्त हुए हैं।

शिवराज सरकार ने की गुरु गुफा की उपेक्षा
आदि शंकराचार्य की तपोस्थली गुरु गुफा को लेकर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज और पूर्व सीएम शिवराज सरकार के बीच गहरा मतभेद रहा। शिवराज सिंह चौहान ने ओंकारेश्वर में एक स्थान को आदि शंकराचार्य की तपोस्थली मानकर वहां देश की सबसे बड़ी आदि शंकराचार्य की प्रतिमा स्थापित करने की योजना बनाई थी जो परवान नहीं चढ़ सकी। जबकि इधर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज की पहल पर विशाल मंदिर दिव्य विग्रहों की प्राणप्रतिष्ठा के लिए तैयार हो चुका है। भाजपा शासन में गुरु गुफा की उपेक्षा का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वहां रोशनी तक का इंतजाम नहीं है। न ही श्रद्धालुओं के बैठने दर्शन करने व पानी, छाया आदि का इंतजाम किया गया है जबकि यह स्थल तपोभूमि होने के साथ ही एक प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण रमणीक स्थल है ।

उप राष्ट्रपति ने किया था गोविंदवन में पौधरोपण
गुरु गुफा के आसपास विकास के लिए कांग्रेस कार्यकाल में प्रयास किए गए थे। ५ जुलाई १९८९ को यहां एक वृहद पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया था। तत्कालीन उप राष्ट्रपति शंकरदयाल शर्मा ने शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज के सान्निध्य में यहां पौधरोपण किया था। कार्यक्रम का आयोजन तत्कालीन सीएम मोतीलाल बोरा की अध्यक्षता में किया गया था। यह कार्यक्रम अखिल भारतीय आध्यात्मिक उत्थान मंडल की रजत जयंती के अवसर पर आयोजित किया गया था। बहरहाल इस स्थान की देख रेख गोविंदनाथ वन विकास समिति द्वारा की जा रही है।
---------------------
अस्वीकार्य हो गया आशीर्वाद
शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज का कहना है कि नमामि देवी नर्मदे यात्रा के दौरान वे तत्कालीन सीएम शिवराज सिंह चौहान के आग्रह पर सांकलघाट पहुंचे थे और उन्हें गुरु गुफा के दर्शन कराए थे साथ ही शिवराज दंपती को स्फटिक शिवलिंग भेंट कर आशीर्वाद दिया था पर शिवराज के लिए वह अस्वीकार्य हो गया। शंकराचार्य महाराज ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानी होने की वजह से कुछ लोग उन्हें कांग्रेस के प्रकाश में देखते हैं पर यह उचित नहीं है शंकराचार्य के रूप में वे किसी पार्टी के नेताओं के गुरु नहीं हैं दीक्षा देते समय वे यह नहीं पूछते कि दीक्षा लेने आया व्यक्ति किस पार्टी का है। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज का कहना है कि नरसिंहपुर के सांकल घाट में स्थित गुरु गुफा ही वास्तव में आदि शंकराचार्य की दंड संन्यास दीक्षा स्थली है इसीलिए उन्होंने यहां आदि शंकराचार्य के मंदिर का निर्माण कराया है।
------------
विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कराएंगे स्थान का विकास
गुरु गुफा और नव निर्मित आदि शंकराचार्य मंदिर क्षेत्र के विकास को लेकर पत्रिका से बातचीत में मध्य प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कहा है कि निसंदेह यह सनातन धर्म का सबसे महत्वपूर्ण स्थल है। वे व्यक्तिगत तौर पर रुचि लेकर इस क्षेत्र का विकास कराएंगे। यह जरूरी है कि लोग इस स्थान के बारे में जानें और इसके महत्व का समझें।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/adi-shankaracharya-s-guru-cave-neglected-4002748/

विचार मंथन : अपने दोषों को भी देखा कीजिए- समर्थ गुरु रामदास


आपके प्रति यदि किसी का व्यवहार अनुचित प्रतीत होता है तो यह मानने के पहले कि सारा दोष उसी का है, आप अपने पर भी विचार कर लिया करें । दूसरों पर दोषारोपण करने का आधा कारण तो स्वयमेव समाप्त हो जाता है । कई बार ऐसा भी होता है कि किसी की छोटी-सी भूल या अस्त-व्यस्तता पर आप मुस्करा देते हैं या व्यंगपूर्वक कुछ उपहास कर देते हैं । आपकी इस क्रिया से सामने वाले व्यक्ति के स्वाभिमान पर चोट लगना स्वाभाविक है ।

 

अपनी प्रशंसा सभी को प्यारी लगती है पर व्यंग या आलोचना हर किसी को अप्रिय है । कोई नहीं चाहता कि अकारण लोग उसका उपहास करें, मजाक उड़ायें । फिर आपके अप्रिय व्यवहार के कारण यदि औरों से अपशब्द, कटुता या तिरस्कार मिलता है तो उस अकेले का ही दोष नहीं। इसमें अपराधी आप भी हैं । आपने ही प्रारम्भ में इस स्थिति को जन्म दिया है । इसलिये दूसरों से प्रतिकार की भावना बनाने के पूर्व यदि अपना भी दोष-दर्शन कर लिया करें तो अकारण उत्पन्न होने वाले झगड़े जो कि प्रायः इसी से अधिक होते हैं, क्यों हों ?

 

अगर किसी को अपनी बात मनवानी ही है अथवा यह पूर्ण रूप से जान लिया गया है कि अमुक कार्य में इस व्यक्ति का अहित है, आप उसे छुड़ाना चाहते हैं तो भी अशिष्ट या कटु-व्यवहार का आश्रय लेना ठीक नहीं । यदि वह व्यक्ति आपके तर्क या सिद्धान्त को नहीं मानता तो आप उसे अयोग्य, मूर्ख या दुष्ट समझने लगते हैं और अनजाने ही ऐसा कुछ कह या कर बैठते हैं जो उसे बुरा लगे। इससे दूसरे के आत्माभिमान को चोट लगती है, जिसकी प्रतिक्रिया भी कटु होती है । उससे कलह बढ़ने की ही सम्भावना अधिक रहेगी ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/daily-thought-vichar-manthan-samrth-guru-ramdas-4002670/

यदि अचानक आपकी जेब से गिर जाए पैसे, तो समझ लें आपके साथ होने वाला है ये


हिन्दू शास्त्रों के अनुसार कुछ ऐसे संकेत होते हैं जो हमारे कार्य के बारे में हमें शुभ व अशुभ संकेत देते हैं। शास्त्रों में अचानक हुई चीज़ें यदि कार्य की शुरुआत में घटित होती है तो वे हमारे कार्यों के सफलहोने व असफल होने की ओर ईशारा करती है। शास्त्रों में वास्तुशास्त्र बहुत ही महत्वपूर्ण और प्रमुख शास्त्र है। आजकल सभी लोग वास्तु को प्रमुख मानते हैं, घर बनवाने से पहले सभी वास्तु सलाहकार से सलाह जरुर लेते हैं, इसके अलावा कौन सी चीज़ कहां रखनी है किसका शुभ असर पड़ेगा और किसका नहीं यह भी वास्तु के अनुसार जाना जा सकता है। लेकिन क्या आपको पता है वास्तुशास्त्र में कुछ शुभ संकेत होते हैं, जिनके अचानक व्यक्ति के साथ होना बहुत ही शुभ माना जाता है। तो आइए जानते हैं कौन से हैं वो शुभ संकेत...

vastu shastra

1. वास्तुशास्त्र के अनुसार माना जाता है की यदि कोई भी व्यक्ति किसी काम के लिए घर से बाहर निकल रहा है और अचानक उसकी जेब से पैसे गिर जाते हैं, तो यह बहुत ही शुभ शगुन होता है। कहा जाता है की ऐसा होने का मतलब है की आप जिस भी किसी काम के लिए जा रहे हैं वो काम पूरा हो जाएगा। शुभ कार्य पर जाते समय जेब या हाथ से पैसों का गिरना शुभ माना जाता है।

2. वास्तुशास्त्र के अनुसार यदि कभी कपड़े बदलते समय जेब से पैसे गिर जाएं तो, यह भी बहुत ही शुभ संकेत होता है। क्योंकि कपड़े बदलते समय जेब से पैसे गिरना तरक्की का संकेत माना जाता है। माना जाता है कि आने वाले समय में व्यक्ति को रोजगार या व्यवसाय में तरक्की मिलने वाली है।

3. वास्तुशास्त्र के अनुसार माना जाता है की किसी भी व्यक्ति को पैसे देते समय यदि आपके हाथ से पैसे गिर जाते हैं तो यह धन वृद्धि का संकेत होता है। वास्तुशास्त्र में अच्छा शगुन माना जाता है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/religion-news/vastushastra-shubh-ashubh-sanket-4002622/

सभी समस्याओं का समाधान केवल सात दिनों में हो जायेगा, कर देखें


जीवन में आने वाली सभी समस्याओं का समाधान केवल सात दिनों में संभव हैं । रविवार का दिन भगवान सूर्य नारायण का दिन होता हैं । इस दिन से लेकर लगातार 7 दिनों तक यानी की शनिवार तक इस उपाय को करने से जीवन की प्रत्येक समस्याएं चाहकर भी उपाय करने वाले के पास नहीं आ पायेगी । सातों दिनों के सात देवता बतायें गये हैं । अगर हर दिन उस दिन के देवता और ग्रह को प्रसन्न व शांत करने के लिए इन उपायों को जरूर करना चाहिए । उपाय करने के बाद गरीबों को कुछ धन या फिर फल जरूर दान करें ।

 

1- रविवार का दिन- अगर किसी की कुंडली में सूर्य के कमज़ोर होने पर व्‍यक्‍ति को अपने जीवन में किसी भी क्षेत्र में सफलता नहीं मिल पाती । सूर्य को प्रसन्‍न करने के लिए नियमित जल अर्पित करें ।
रविवार का उपाय- किसी गरीब अथवा जरूरतमंद व्‍यक्‍ति को गुड़ का दान करें ।

 

2- सोमवार का दिन- अगर किसी की कुंडली में चंद्र दोष है या चंद्रमा कमज़ोर स्थिति में है तो व्यक्ति को हमेशा कोई न कोई बीमारी लगी रहती है । सर्दी-जुकाम, नेत्र संबंधी रोग और अर्थराइटिस से आप परेशान रहते हैं । चंद्र ग्रह को शांत करने के लिए आपको सोमवार के दिन शिवलिंग पर जल अर्पित करना चाहिए ।
सोमवार का उपाय- हो सके तो किसी गरीब परिवार को भोजन करायें । भोजन में दूध से बने पदार्थ होने चाहिए ।

 

3- मंगलवार का दिन- कहा जात है कि मंगल कई प्रकार की शारीरिक बीमारियां देता है । कुंडली में मंगल को मजबूत करने के लिए आपको मंगलवार के दिन हनुमान जी और मां काली की आराधना करना चाहिए ।
मंगलवार का उपाय- छोटी कन्याओं को उड़द, मूंग या तुअर की दाल से बना भोजन करावें ।

 

griha shanti

4- बुधवार का दिन- अगर कुंडली में बुध कमज़ोर हो तो उसे मजबूत करने के लिए बुधवार के दिन भगवान गणेश जी को 11 लड्डूओं का भोग लगाएं और दूर्वा चढ़ाएं ।
बुधवार का उपाय- बुधवार के दिन शाम के समय गणेश मंदिर के सामने कोई भिखारी दिखाई दे तो उसे पीली रूमाल या कपड़ा जरूर दान करें ।

 

5- गुरुवार का दिन- गुरुवार का दिन देवों के गुरु बृहस्‍पति देव की आराधना का दिन माना जाता हैं । अगर किसी की कुंडली में गुरु नीच या कमज़ोर स्‍थान में हो तो उसे अवनति मिलती है । इस दिन भगवान विष्‍णु को खीर का भोग लगाने से गुरु को मजबूती मिलती हैं ।
गुरुवार का उपाय- इस दिन पीली वस्‍तुओं, पीले रंग के वस्‍त्रों और जनेऊ का दान करें ।

 

6- शुक्रवार का दिन- यह दिन शुक्र ग्रह से संबंधित है, शुक्र ग्रह भौतिक सुख-सुविधाओं का कारक होता है । इस दिन शुक्र मंत्र का जप जरूर करें ।
शुक्रवार का उपाय- शुक्रवार के दिन किसी गरीब सुहागिन स्‍त्री को सुहाग से जुड़ी वस्‍तुओं का दान करें ।

 

7- शनिवार का दिन- शनिवार का दिन न्‍याय के देवता शनि देव का दिन होता है । शनि देव को प्रसन्‍न करने के लिए शनिवार के दिन शनि से संबंधित वस्‍तुओं का दान करें । शनिवार के दिन शिवलिंग पर काले तिल मिले जल से अभिषेक करें । पीपल के पेड़ पर भी जल चढ़ाएं ।
शनिवार का उपाय- इस दिन किसी गरीब को उड़द की दाल से बनी खिचड़ी जरूर खिलाएं ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/griha-shanti-ke-upay-4002213/

आज का राशिफल 20 जनवरी 2019: आज का दिन 6 राशि के जातकों के लिए रहेगा सर्वोत्तम


ज्योतिष पंडित श्यामनारायण व्यास

मेष राशि: व्यवसायिक उन्नति के योग बन रहे है। नई तकनिकी के उपयोग से व्यापार और उन्नत हो सकता है। मकान खरदीने का मन बना चुके है, जो जल्द पूरा होगा। किसी मित्र के सहयोग से लंबित कार्य पूर्ण होंगे।

वृषभ राशि: आप क्युं नहीं समझते की अब आप बड़े हो गये है। अपनी जिम्मेदारी को समझें और समझदारी से कार्य करें। अपने व्यवहार में आप को अत्यधिक परिवर्तन लाने की जरूरत है। समय रहते संभल जाएं तो आप के लिए बेहतर रहेगा।

मिथुन राशि: शारीरिक पीड़ा के चलते परेशान रहेंगे। किसी भी नए कार्य को करने के पहले उसकी योजना बनाएं। मन प्रसन्न रहेगा, योग्यता के अनुसार बेहतर प्रस्ताव प्राप्त होंगे।

कर्क राशि: विवाह की चिंता के चलते पारिवारिक वातावरण प्रभावित होगा। न्यायालयीन कार्यों में व्यस्त रहेंगे। अनाज व्यापारियों के लिए समय श्रेष्ठ है। सामाजिक पुछ परख बढ़ेगी।

सिंह राशि: आज दिन नए अवसरों को जन्म दे रहा है। इनका भरपूर लाभ लें। भावनात्मक संबंधों में अनुकूलता रहेगी। आप के सामने मार्ग बहुत है, अब अपने विवेक से तय आप को करना है। धार्मिक स्थलों का भ्रमण हो सकेगा।

कन्या राशि: अपने अधिकारियों से विवाद की स्थिति निर्मित होगी। अपने क्रोध को शांत रखें। खर्च की अधिकता रहेगी। संतान के भविष्य की चिंता रहेगी। संत दर्शन संभव है। समय रहते जरूरी कार्य कर लें लाभ होगा।

तुला राशि: आप की भावनाओं का लोग मजाक बनाते है। आप जैसे है, वैसे रहें। लोगों की परवाह न करें। आध्यत्मिक दृष्टी से समय उपयुक्त है। मित्रों के साथ आनंद दायक समय व्यतित होगा।

वृश्चिक राशि: व्यापार विस्तार की योजना आज सफल हो सकती है। बिना सोचे समझे कुछ न बोलें, विवाद हो सकते है। वाहन का प्रयोग सावधानी से करें। यदि किसी से कोई वादा किया है, तो आज पूरा करने का दिन है।

धनु राशि: यात्रा के योग बन रहे है। कार्यस्थल पर मन मुटाव की स्थति निर्मित होगी। जरूरी कार्य आज भी अधूरे रहेंगे। पैसों का हिसाब रखें लापरवाही से नुकसान होगा। जीवनसाथी के स्वास्थ की चिंता रहेगी।

मकर राशि: किसी पुराने मित्र से भेट संभव है। मनोरंजन के साधनों को क्रय करेंगे। परिवार को आप की जरूरत है, कोई भी फैसला एक तरफा न लें। लोह व्यापार से जुड़े जातक आज अच्छा लाभ कमा सकते है।

कुंभ राशि: अपने अधिकारों का गलत उपयोग न करें। कई दिनों से रुकी मुलाकात आज संभव है। माता-पिता के साथ समय व्यतीत होगा। जीवन में कुछ उदेश्य बनाये। समय अनुकूल है।

मीन राशि: कार्यशैली को सुधारना होगा। सुचारू रूप से चल रहे कार्यों में अवरोध आ सकते है। कई दिनों से जिस व्यक्ति की तलाश थी, वो आज मिल सकता है। दिन मिश्रित फलदाई रहेगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/aaj-ka-rashifal-20-january-2019-rashi-aaj-ka-kark-rashifal-4002130/

अगर आपकी कुंडली में हैं ये योग तो- हो सकते हैं भगवान के दर्शन


ईश्वर के दर्शन करना उनको प्राप्त करना हर मनुष्य की कामना होती हैं, लेकिन अगर बात मोक्ष पाने की करें तो वह आसान बात नहीं है । बड़े-बड़े साधु-संतों को मोक्ष की प्राप्‍ति हेतु कई वर्षों तक घोर तपस्‍या करनी पड़ी थी । यहां तक कि भगवान बुद्ध को भी निर्वाण प्राप्‍त करने के लिए अपना संपूर्ण जीवन साधना में व्‍यतीत करना पड़ा था । कुंडली में मोक्ष प्राप्‍ति योग काफी शुभ माना जाता है । कुंडली में केवल इस योग के बनने से ही मनुष्‍य को मोक्ष मिल जाता है जिसे कई लोग घोर तपस्‍या के बाद हासिल कर पाते हैं ।

 

ऐसे हो सकती हैं ईश्वर की प्राप्ति
ज्योतिषशास्त्र की माने तो सौरमंडल के कुछ ग्रह ऐसे हैं जिनके प्रभाव में आने पर मनुष्‍य सदमार्ग पर चलने की ओर प्रेरित होता है । सभी ग्रहों में गुरु सबसे अधिक शुभ ग्रह है । इसके प्रभाव में व्यक्ति सदा शुभ कर्मों के लिए प्रेरित रहता है । माना जाता है कि गुरु के शुभ स्‍थान में होने पर जातक अपने जीवन में सफलता और मान-सम्‍मान प्राप्‍त करता है, और गुरु ही एक मात्र वह व्यक्ति हैं जो ईश्वर के दर्शन करा सकता हैं ।

 

1- यदि कुंडली के बारहवें भाव में शुभ ग्रह विराजमान है और बारहवें भाव का स्वामी अपनी राशि या मित्र राशि में बैठा है एवं इन्‍हें कोई शुभ ग्रह देख रहा है तो ऐसी स्थिति में जातक अपने शुभ कर्मों के कारण ईश्वर से मिल सकता हैं ।
2- इसके अलावा जब कुंडली में केवल गुरू ही कर्क राशि में छठे, आठवें, प्रथम, चतुर्थ, सप्तम या दशम भाव में बैठा हो और अन्‍य सभी ग्रह कमजोर हों तो व्‍यक्‍ति के मोक्ष प्राप्‍ति के योग बनते हैं ।
3- जब जन्‍मकुंडली में गुरु लग्‍न स्‍थान में मीन राशि में बैठा हो या दसवें घर में विराजमान हो या किसी अशुभ ग्रह की दृष्टि उस पर न पड़ रही हो तो ऐसी स्थिति में मोक्ष प्राप्ति का योग बनता है ।

 

इन उपायों के द्वारा ईश्वर का प्राप्त किया जा सकता हैं
1- मोक्ष प्रदानता की डोर ईश्‍वर के हाथ में है लेकिन मनुष्‍य अपने सत्‍कर्मों से भी मोक्ष पा सकता है ।
2- यदि ईश्वर दर्शन चाहते हैं तो इसके लिए जरूरी है कि सबसे पहले आप वासना से भरे भावों को अपने मन से दूर कर दें ।
3- योनि-पूजन, लिंगार्चन, भैरवी-साधना, चक्र-पूजा जैसी गुप्त साधनाओं के द्वारा भी ईश्वर की प्राप्‍ति संभव है ।
3- स्त्रियों के प्रति सम्‍मान और आदर भाव रखने वाला व्‍यक्‍ति भी शीघ्र ईश्वर को प्राप्‍त कर सकता है ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/bhagwan-ke-darshan-kaise-kare-4001701/

अंकज्योतिष 20 जनवरी 2019: आज अंक 08 वाले जातक वरिष्ठों के सुझाव की अनदेखी ना करें, नुकसान हो सकता है


ज्योतिषाचार्य गुलशन अग्रवाल

अंक 01- व्यस्तता से भरी जिंदगी में मशीनरी का प्रयोग सावधानी पूर्वक करें। शारीरिक निर्बलता के दूर होने से मेहनत के कार्य अच्छे से कर पाएंगे। सहजनों के मध्य वार्तालाप से बचें।
अनुकूलता के लिए- गाय को हरी घास खिलाएं।

अंक 02- युवावर्ग को जीवन में नीत नये अवसर प्राप्त होंगे व उनका भरपूर लाभ मिलेगा। धार्मिक कार्यों में समय व्यतित होगा। अधिनस्थों पर भरोसे को कायम नहीं रख पाएंगे।
अनुकूलता के लिए- अपशब्दों का उपयोग करने से बचें।

अंक 03- नौकरी में बेहद स्पष्टता बनाए रखने की जरूरत है। भाग्य के भरोसे छोड़े गए काम प्रभावित होंगे। कानूनी विवादों में समझोते के प्रयास कुछ दिनों के लिए टल सकते है।
अनुकूलता के लिए- जरूरतमंद को भोजन कराएं।

अंक 04- व्यापार में दूसरों के सुझाव भ्रमित कर सकते है। मित्रों पर अत्यधिक विश्वास के कारण धोखा उठाना पड़ सकता है। शीतप्रकृति के व्यक्ति प्रतिकुल मौसम की चपेट में आने से बचें।
अनुकूलता के लिए- हरे रंग का उपयोग करने से बचकर रहें।

अंक 05- निर्णय में देरी से लाभदायी स्थिति हाथों से फिसल सकती है। खाने-पिने में पश्चिमी भोजन का सर्वथा त्याग करें। लाभकारी योजना में वित्तिय प्रबंध होने से मन प्रसन्न रहेगा।
अनुकूलता के लिए- प्रकृति का नुकसान करने से बचें।

अंक 06- लापरवाही से वाहन संबंधी खर्च में बढ़ोतरी होगी। ऋण कम करने के प्रयास में प्रभावी कदम उठाने की जरूरत है। कार्यस्थल पर स्वयं काम करने से शत्रुपक्ष हावी नहीं हो पाएगा।
अनुकूलता के लिए- हनुमान मंदिर में आटे से बने दीपक लगाएं।

अंक 07- अपशब्द बोलने से अप्रिय स्थिति निर्मित हो सकती है। खरीदारी में लापरवाही से आर्थिक नुकसान संभावित है। माता-पिता के स्वास्थ्य के प्रति किसी भी लापरवाही से बचें।
अनुकूलता के लिए- दिन के किसी भी समय कुछ देर मौन रहें।

अंक 08- अग्निकारक वस्तु के उपयोग में सावधानी की जरूरत रहेगी। वरिष्ठों के सुझाव की अनदेखी से नुकसान हो सकता है। व्यापार में अतिरिक्त खर्च रोक न पाने से मन अशांत रहेगा।
अनुकूलता के लिए- पक्षियों का कलरव सुनकर भोजन ग्रहण करें।

अंक 09- ऋण का भुगतान समय पर नहीं कर पाएंगे। प्रतिस्पर्धा के युग में समय के साथ न चलने से घोर निराशा रहेगी। वरिष्टों का मार्गदर्शन मुश्किलों से निकालने में सहायक होगा।
अनुकूलता के लिए- श्रीकृष्ण मंदिर में पितांबरी वस्त्र अर्पित करें।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/ank-jyotish-20-january-2019-know-number-eight-numerology-in-hindi-4001423/

भूलकर भी घर लेकर ना आएं इस मंदिर का प्रसाद, वरना साथ आ जाएगी मुसीबत


भारत देश में वैसे तो कई अनोखे मंदिर हैं जिनमें होने वाले चमत्कारों के बारे में विज्ञान भी नहीं जान पाया है। वहीं हनुमान जी के मंदिरों की बात की जाए तो उनके मंदिरों में कई रहस्य और चमत्कार छिपे हुए हैं। भगवान हनुमान जी के इन्हीं मंदिरों में से एक प्रमुख मंदिर राजस्थान के दौसा जिले में स्थित है। यह मंदिर मेहंदीपुर बालाजी के नाम से प्रसिद्ध है। मंदिर में स्थापित मेहंदीपुर बालाजी की बायीं छाती में एक छोटा सा छेद है, जिससे लगातार जल निकलता है। लोगों की मान्यताओं के अनुसार कहा जाता है की यह बालाजी का पसीना है। यहां बालाजी के साथ-साथ प्रेतराज और भैरों महाराज भी विराजमान है। भैरों जी को कप्तान कहा जाता है। मंदिर का नज़ारा पहली बार जाने वाले व्यक्ति के लिए बहुत ही भयानक होता है, क्योंकि यहां लोगों के ऊपर काली छाया और प्रेत बाधा का साया दूर करने के लिए लाया जाता है। मंदिर में प्रांगण में पहुंचते ही व्यक्ति के अंदर की बुरी शक्तियां जैसे भूत, प्रेत, पिशाच कांपने लगते हैं। यहां प्रेतात्मा को शरीर से मुक्त करने के लिए उसे कठोर से कठोर दंड दिया जाता है।

mehendipur balaji

मंदिर का प्रसाद नहीं ले जा सकते घऱ

बालाजी मंदिर की खासियत है कि यहां बालाजी को लड्डू, प्रेतराज को चावल और भैरों को उड़द का प्रसाद चढ़ाया जाता है। कहते हैं कि बालाजी के प्रसाद के दो लड्डू खाते ही भूत-प्रेत से पीड़ित व्यक्ति के अंदर मौजूद भूत प्रेत छटपटाने लगता है और अजब-गजब हरकतें करने लगता है। यहां पर चढ़ने वाले प्रसाद को दर्खावस्त और अर्जी कहते हैं। मंदिर में दर्खावस्त का प्रसाद लगने के बाद वहां से तुरंत निकलना होता है। जबकि अर्जी का प्रसाद लेते समय उसे पीछे की ओर फेंकना होता है। इस प्रक्रिया में प्रसाद फेंकते समय पीछे की ओर नहीं देखना चाहिए। आमतौर पर मंदिर में भगवान के दर्शन करने के बाद लोग प्रसाद लेकर घर आते हैं लेकिन मेंहदीपुर बालाजी मंदिर से मेहंदीपुर में चढ़ाया गया प्रसाद यहीं पूर्ण कर जाएं। इसे घर पर ले जाने का निषेध है। खासतौर से जो लोग प्रेतबाधा से परेशान हैं, उन्हें और उनके परिजनों को कोई भी मीठी चीज और प्रसाद आदि साथ लेकर नहीं जाना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार सुगंधित वस्तुएं और मिठाई आदि नकारात्मक शक्तियों को अधिक आकर्षित करती हैं। इसलिए इनके संबंध में स्थान और समय आदि का निर्देश दिया गया है।

mehendipur balaji

मेहंदीपुर बालाजी जाने से पहले जरुर रखें इन बातों का ध्यान

मेंहदीपुर बाला जी के दर्शन करने वालों के लिए कुछ कड़े नियम होते हैं। यहां आने से कम से कम एक सप्ताह पहले लहसुन, प्याज, अण्डा, मांस, शराब का सेवन बंद करना होता है। इसके अलावा जब भी बालाजी धाम जाएं तो सुबह और शाम की आरती में शामिल होकर आरती के छीटें लेने चाहिए। यह रोग मुक्ति एवं ऊपरी चक्कर से रक्षा करने वाला होता है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/temples/mehendipur-balaji-hanuman-mandir-in-rajasthan-dosa-4001248/

शनिवार शाम को एक बार जरूर करें ये काम- लेकिन किसी से कहना नहीं..


अगर गाड़ी, बंगला और लग्जरी जीवन जीने की चाहत हो तो शनिवार को शाम के समय इस एक काम को जरूर कर लें, पर ध्यान रखे इस उपाय को करने के बाद किसी को भी बताना नहीं हैं नहीं तो इसका प्रभाव तुरंत खत्म हो जायेगा । शायद आपने अमीर बनने के लिए अनेक टोटके और उपाय जरूर किये होंगे लेकिन इतना शक्तिशाली उपाय कभी नहीं किया होगा । शनिवार का शनि देव का दिन माना जाता है, और शनि देव की कृपा पाने के लिए व्यक्ति अनेक प्रकार के टोने टोटके, उपाय करता है लेकिन कभी सफलता मिलती हैं तो कभी नहीं । अगर वाकई लग्जरी लाईफ का आनंद लेना हैं तो इस उपाय को एक बार जरूर करें ।

 

1- शनिवार के दिन शाम के समय काले घोड़े की नाल या फिर बहुत पुरानी काले रंग की नाव की कील से बनी लोहे की अंगूठी बनाकर सीधे हाथ की मध्यमा उंगली में हनुमान जी के मंदिर में जाकर हनुमान जी के चरणों का सिंदूर उस पर लगाने के बाद 7 बार हनुमान चालीसा का पाठ करके अंगुठी का पहन लें । इस उपाय के बाद शनि से संबधित सभी तरह के दोषों से राहत मिलेगी ।

 

2- शनि की कृपा पाने के लिए शनिवार के दिन सूर्यास्त के समय शनि मंदिर में थोड़े से काले तिल, आटा, शक्कर इन तीनों चीजों को लेकर जाये । वहां इन सभी को शनि देव के सामने रखकर धन प्राप्ति की कामना से शनि देव के बीज मंत्र का 108 बार जप करें । जप पूरा होने के बाद सभी सामग्रियों साथ में लेकर पीपल के पेड़ के पास जाकर पीपल के पत्तों पर रख दें । ध्यान रखे इस कार्य को करते हुये कोई भी आपको देखें नहीं और ना ही आप भी किसे कहे । इस उपाय के बाद लक्ष्मीजी आपका साथ कभी नहीं छोड़ेगी ।

 

3- शनिवार को सूर्यास्त के आधे घंटे बाद काले तिल, काला कपड़ा, कंबल, लोहे के बर्तन, काले उड़द की दाल ये सभी चीज ऐसे व्यक्ति को दान करें जो केवल भिक्षा मांगकर ही गुजारा करता हों । इतना करने के बाद घर में बनी हुई ताजी रोटी में सरसों का तेल लगाकर किसी काले कुत्ते खिला दें । इस उपाय के बाद पैसा बरसने लगेगा ।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/dharma-karma/shanivar-ko-dhan-prapti-ke-upay-in-hindi-4000641/

आज का पंचांग 19 जनवरी 2018


ज्योतिष पं. गुलशन अग्रवाल

राष्ट्रीय मिति पौष 29, शक संवत् 1940 पौष शुक्ल त्रयोदशी शनिवार विक्रम संवत् 2075। सौर माघ मास प्रविष्टे 06, जमादि उल्लावल 12, हिजरी 1440 तदनुसार अंग्रेजी तारीख 19 जनवरी सन् 2019 ई०। सूर्य उत्तरायण, दक्षिण गोल, शिशिर ऋतु।

राहुकाल प्रातः 9 बजे से 10 बजकर 30 निमट तक। त्रयोदशी तिथि सायं 5 बजकर 35 मिनट तक उपरांत चतुर्दशी तिथि का आरंभ, मृगशिरा नक्षत्र पूर्वाह्न 10 बजकर 31 मिनट तक उपरांत आर्द्रा नक्षत्र का आरंभ, ऐन्द्र योग सायं 6 बजकर 37 मिनट तक उपरांत वैधृति योग का आरंभ, तैतिल करण सायं 5 बजकर 35 मिनट तक उपरांत वणिज करण का आरंभ।

आज के मुहर्त- अनुकूल समय में नये घर की वास्तुशांति करने के लिए शुभ मुहूर्त है।

चन्द्रमा दिन रात मिथुन राशि पर संचार करेगा। आज ही शनि प्रदोष व्रत, ईशान व्रत, शनि पूर्व में उदय प्रातः 7 बकर 32 मिनट।

आज के विचार- आज जन्म लिए बच्चों के नाम (की, कु, घ, छ) अक्षरों पर रख सकते है। आज जन्म लिये बच्चे शरीर से मध्यम होंगे। ऐसे जातक सौन्दर्य प्रेमी व विलासी होंगे। जीवन में समाज सुधार का काम जरूर करेंगे। प्रायः सर्वगुण संपन्न व प्रचुर धन संपदा के मालिक होंगे।

पंचांग क्या है
पंचांग या पंचागम् हिन्दू कैलेंडर है जो भारतीय वैदिक ज्योतिष में दर्शाया गया है। पंचांग मुख्य रूप से 5 अव्यवों का गठन होता है, अर्थात् तिथि, वार, नक्षत्र, योग एवं करण। पंचांग मुख्य रूप से सूर्य और चन्द्रमा की गति को दर्शाता है। हिन्दू धर्म में हिन्दी पंचांग के परामर्श के बिना शुभ कार्य जैसे शादी, नागरिक सम्बन्ध, महत्वपूर्ण कार्यक्रम, उद्घाटन समारोह, परीक्षा, साक्षात्कार, नया व्यवसाय या अन्य किसी तरह के शुभ कार्य नहीं किये जाते। जैसा कि प्राचीन समय से बताया गया है कि हर क्रिया के विपरीत प्रतिक्रिया होती है। इसी तरह जब कोई व्यक्ति पर्यावरण के अनुरूप कार्य करता है तो पर्यावरण प्रत्येक व्यक्ति के साथ समान तरीके से कार्य करता है। एक शुभ कार्य प्रारम्भ करने से पहले महत्वपूर्ण तिथि का चयन करने में हिन्दू पंचांग मुख्य भूमिका निभाता है। पंचांग एक निश्चित स्थान और समय के लिये सूर्य, चन्द्रमा और अन्य ग्रहों की स्थिति को दर्शाता है। संक्षेप में पंचांग एक शुभ दिन, तारीख और समय पे शुभ कार्य आरंभ करने और किसी भी तरह के नकारात्मक प्रभाव को नष्ट करने का विचार प्रदान करता है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/todays-panchang-19-january-2018-4000525/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Haryana Jobs / Opportunities / Career
Bank Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Rajasthan Jobs / Opportunities / Career
Scholorship Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
Railway Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Gujarat Jobs / Opportunities / Career
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Bihar Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Punjab Jobs / Opportunities / Career
Admission Jobs / Opportunities / Career
Jammu and Kashmir Jobs / Opportunities / Career
Madhya Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Bihar
State Government Schemes
Study Material
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Syllabus
Festival
Business
Wallpaper
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com