Patrika : Leading Hindi News Portal - Business Utility News #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US
Redirect to http://bharatpages.in/feedviewer.php?id=140&qq=&utm_source=educratsweb

Patrika : Leading Hindi News Portal - Business Utility News

http://api.patrika.com/rss/business-utility-news 👁 675

सोशल मीडिया पर अश्लील पोस्ट व वीडियोज पर चल रही खबरें बढ़ा रहीं चिंता, जानिए क्या है पूरा मामला


नई दिल्ली। सोशल मीडियाप्लेटफार्म्स के अश्लील पोस्ट व वीडियोज़ पर चल रही खबरें काफी चिंताजनक हैं। सोशल मीडिया पर बढ़ती हुई आपत्तिजनक पोस्ट्स का प्रमुख कारण है की विदेशी मंच हमारी भारतीय परम्पराओं और मूल्यों का सम्मान करने के बजाय अपने मुनाफे पर ही केंद्रित रहेंगे। यह काफी महत्वपूर्ण हो गया है कि हमारे समाज व संस्कृति को दूषित करने वाले ऐसे प्लेटफॉम्र्स को बढ़ावा न दिया जाए। साथ ही साथ यह भी ज़रूरी है की हम सोशल नेटवर्किंग के लिए कोई भारतीय विकल्प चुनें।


कई ऐप दे रहे अश्लीक कंटेंट को बढ़ावा

आज कल इंस्टाग्राम, टिकटॉक और हेलो जैसे प्लैटफॉम्र्स को मॉफ्र्ड (नकली) तस्वीरों की भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। लोग कंप्यूटर की मदद से तस्वीरें बदल कर अश्लील पोस्ट बना देते हैं। क्यूंकि ऐसे मंच हमारे दैनिक जीवन का एक प्रमुख हिस्सा बन गए हैं, जहां पूरे भारत और सभी आयु समूहों के यूज़र्स इन प्लेटफॉम्र्स के माध्यम से अपनी फोटो और वीडियो अपलोड करते हैं, इन प्लेटफ़ॉर्म की यह जि़म्मेदारी बन जाती है कि गलत व अश्लील वीडियो अपलोड न हों। लेकिन अफ़सोस की बात है की ऐसे कॉन्टेंट को हटाने के बजाय, ये प्लेटफ़ॉर्म अश्लील कॉन्टेंट के बारे में कुछ नहीं करना चाहते हैं।


विदेशी प्लेटफार्म्स से कहीं बेहतर भारतीय विकल्प।

विदेशी कम्पनी हिंदुस्तान में प्रवेश करती हैं और हमें उनके कंटेंट का आदी बनाती हैं। ऐसा करने के बाद, ये कंपनियां हमारी परंपराओं और मूल्यों पर हमला करती हैं। इसी कारण से हमें सिर्फ अपने देश और देश की कम्पनियो का समर्थन करना चाहिए। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की दुनिया में कई भारतीय विकल्प हैं। शेयरचैट और रोपोसो जैसे प्लेटफ़ॉर्म न केवल भारतीय सोशल प्लेटफ़ॉर्म हैं बल्कि ये विदेशी प्लेटफॉम्र्स के कहीं बेहतर विकल्प हैं।


भारतीय कंपनियां न केवल भारतीय मूल्यों को समझती व उनपे गर्व करती हैं, बल्कि वे भारत की विभिन्न भाषाओं का भी सम्मान करती हैं। रोपोसो पर जो भी वीडियो अपलोड किया जाता है, उसे पहले अश्लीलता के लिए मशीन द्वारा चेक किया जाता है। इसके बाद, इस ऐप के विभिन्न भाषा एक्सपर्ट यह तय करते हैं कि किस वीडियो को किस केटेगरी या चैनल (जैसे की म्यूजिक, स्पोट्र्स, न्यूज़, भक्ति, आदि) पर दिखाया जाना चाहिए। इस प्रकार से एक बार फिर ये देखा जाता है की विडिओ में कुछ अश्लील तो नहीं। इस सख्त प्रारूप के बाद भी, रोपोसो यूज़र्स को किसी भी विडिओ को अनुपयुक्त चिह्नित करने के लिए एक बटन दिया जाता है। रोपोसो, अपने यूज़र्स द्वारा मार्क किये गए कॉन्टेंट को फिर देखता है और अश्लीलता पाए जाने पर ऐसी वीडियो को हटा देता है। रोपोसो अपने मोबाइल ऐप पर अपने यूज़र्स को साफ़ और रचनात्मक वीडियो प्रदान करने के लिए ऐसा करता है।


भारतीय यूज़र्स की समस्याओं के बारे में बात करते हुए, रोपोसो के सीईओ और को-फाउंडर मयंक भंगडिया ने कहा, "इन विदेशी खिलाडिय़ों के बुरे प्रभाव को महसूस किए बिना यूज़र्स इन सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के काफी आदी हो रहे हैं। इसका सबसे बड़ा दुष्प्रभाव बच्चों व महिलाओं पर पड़ रहा है और वो अश्लीलता का टारगेट बन रहे हैं। हमारा देश हमें मूल्यों का सम्मान करना और हमारे बुजुर्गों, बच्चों व महिलाओं का सम्मान करना सिखाता है, और यह बात विदेशी कंपनियां नहीं समझ पाती हैं। हम अपने यूज़र्स को एक स्वच्छ मंच प्रदान करते हैं जिसमें कोई पॉर्न शामिल नहीं होता।"


एक बार फिर से विदेशी छोड़कर देसी अपनाने का समय आ गया है, जो की हमारे देश के हित में है। अब यह हमें तय करना है कि हमारे व हमारे बच्चों के लिए अच्छा क्या है - भारत के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म या अश्लीलता फैलाने वाले विदेशी वीडियो प्लेटफॉर्म।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/many-foreing-app-making-easy-access-of-obscene-content-on-social-media-4294774/

मुद्रा स्कीम के तहत सरकार ने तैयार की रिपार्ट, 90 हजार रुपए में अपना बिजनेस खोल करें मोटी कमाई


नई दिल्ली। अब आपको काम को लेकर किसी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने मुद्रा स्कीम के तहत एक ऐसी प्रोजेकट रिपार्ट तैयार की है जिससे आपका खुद का बिजनेस भी खुल जाएगा और आपको कैश की किल्लत भी नहीं होगी। स्कीम के तहत आपको मात्र 89,700 रुपए का निवेश करना पड़ेगा, जिसके बाद सभी खर्च काटने के बाद भी आपको 35 से 40 हजार रुपए तक मंथली मुनाफा होगा।


ऐसे करें आवेदन

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आप किसी भी बैंक में अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा, जिसमें नाम, पता, बिजनेस एड्रेस, एजुकेशन, मौजूदा इनकम और कि‍तना लोन चाहिए ये सब जानकारी लिखनी होगी। फॉर्म भरने के लिए आपको कोई प्रोसेसिंग फीस या गारंटी फीस भी नहीं देनी होगी और लोन का अमाउंट आप 5 साल में लौटा सकते हैं। सरकार की ओर से बेकरी प्रोडक्ट यानी केक, बिस्किट, चिप्स और ब्रेड की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की गई है। रिपोर्ट में खर्च और मुनाफे की पूरी कैलकुलेशन दी गई है, जिससे साफ है कि आप कैसे सालाना 4.5 लाख रुपए तक बचत कर सकते हैं।


इधर जानें पूरी डिटेल

प्रोजेक्ट का कुल कॉस्ट 5.36 लाख रुपए आएगा और इसमें आवेदन करने के लिए आपके पास लैंड होना चाहिए भले ही वो खुद का हो या किराए पर लिया हो। 5.36 लाख रुपए से 3.50 लाख रुपए की मशीनरी आएगी और 1.86 लाख रुपए की वर्किंग कैपिटल होगी। 60 फीसदी कैपेसिटी इस्तेमाल होने पर आपकी सालाना सेल्स 20.38 लाख रुपए की होगी। प्रोडक्शन कॉस्ट के रूप में आपका 14.26 लाख रुपए का खर्च आएगा, जिसमें रॉ मैटेरियल, पावर, सैलरी, टेलिफोन, मेंटेनेंस और इंश्योरेंस का खर्च शामिल है। स्कीम के तहत आपको सालाना 4.69 लाख रुपए का नेट प्रॉफिट होगा और 35 से 40 हजार रुपए एक महीने का प्रॉफिट होगा। इस बिजनेस से आपको 6.12 लाख रुपए का ग्रॉस प्रॉफिट होगा। बिजनेस खोलने के लिए आपको खुद से 89,700 रुपए का योगदान करना होगा और आपको 2,97,500 रुपए का टर्म लोन मिल जाएगा। वर्किंग कैपिटल लोन के रूप में आपको 1,49,000 रुपए की राशि भी प्राप्त की जाएगी।

Read the Latest business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/government-made-report-on-mudra-scheme-open-business-from-90000-rupees-4121907/

अब पैन कार्ड के बिना नहीं कर पाएंगे आप ये 10 जरूरी काम


नई दिल्ली। सरकारी डॉक्यूमेंट में अब आधार के अलावा पैन कार्ड भी जरूरी है। अब आप बिना पैन कार्ड के कई काम नहीं कर पाएंगे तो अगर आपने अभी तक अपना पैन कार्ड नहीं बनवाया है तो उसको जल्द ही बनवा लें क्योंकि भारत में पैन कार्ड का इस्तेमाल फोटो पहचान पत्र के तौर पर किया जाता है। इसके साथ ही आज के समय में नकद लेन-देन में भी पैन कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए आज हम आपको बताते हैं कि पैन का इस्तेमाल कहां-कहां जरूरी है-


1. कैश ट्रांजैक्शन - आज के समय में अगर आप 2.5 लाख से ज्यादा का ट्रांजैक्शन करते हैं तो आपको आप उसको बिना पैन कार्ड का नहीं कर पाएंगे।


2. बिजनेस शुरू करने में - आप अगर कोई बिजनेस शुरू करने के बारे में विचार कर रहे हैं तो आपके लिए ये कार्ड होना बहुत ही जरूरी है क्योंकि अब बिना पैन कार्ड के बिजनेस शुरू करना संभव नहीं है।


3. वाहन खरीदने के लिए - अगर आप कार, बाइक या किसी भी तरह का कोई भी वाहन खरीदना चाहते हैं तो उस समय भी पैन कार्ड होना जरूरी है।


4. संपत्ति बेचने पर - इसके साथ ही अगर आप 10 लाख से ज्यादा रूपए की अचल संपत्ति को बेचना चाहते हैं तो भी आपके लिए ये कार्ड जरूरी है।


5. 2 लाख से ज्यादा के सामान के लिए - वहीं अगर आप 2 लाख से ज्यादा रुपए की कीमत का सामान खरीदना चाहते हैं तो आपको पैन देना जरूरी है।


6. बैंक अकाउंट खोलने में - बैंक अकाउंट खोलने के लिए भी आपके पास पैन कार्ड होना सबसे ज्यादा जरूरी है।


7. लाइफ इंश्योरेंस के लिए - अगर आप 50 हजार से ज्यादा का लाइफ इंश्योरेंस लेते हैं तो उसके लिए भी पैन कार्ड जरूरी है।

 

8. निवेश करने के लिए - अब आप कहीं भी निवेश करना चाहते हैं या बांड, फॉरेन करेंसी कहीं भी निवेश करना चाहते हैं तो उसके लिए भी ये काफी जरूरी है।


9. अनलिस्टेड शेयर - अब आप एक लाख से ज्यादा के अनलिस्टेड शेयर खरीदना चाहते हैं तो आपके पास पैन कार्ड होना जरूरी है।

 

आपको बता दें कि नए नियमों के अनुसार 31 मई 2019 से आपके पास आपका पैन नंबर होना जरूरी है। आप बिना पैन नंबर के एक भी काम नहीं कर पाएंगे तो अगर आपने अभी तक पैन कार्ड नहीं बनवाया है तो उसको जल्द ही बनवा लीजिए। साथ ही आपको बता दें कि पैन कार्ड इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से जारी किया जाता है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/these-10-work-you-can-not-do-without-pan-card-4044690/

घर बैठे बन जाएगा आपका वोटर आईडी कार्ड, एेसे करें आॅनलाइन आवेदन


नर्इ दिल्ली। लाेकसभा चुनाव 2019 में अब करीब 100 दिन ही बचे हैं। भारतीय लोकतंत्र में एेसा पहली बार होगा कि 21वी सदी में पैदा हुए युवा पहली बार वोट देने के अधिकार का प्रयोग करेंगे। एेसे में निर्वाचन आयोग के पास एक सबसे बड़ी चुनौती है कि सही समय पर मतदाताआें को वोटर कार्ड जारी कर दिया जाए। इसके लिए आयोग ने हार्इटेक माध्यमों का प्रयोग करना शुरू कर दिया है। मतदाताआें की सुविधा के लिए निर्वाचन आयोग वेबसाइट, मोबाइल एेप आैर सोशल मीडिया पर उपस्थिति दर्ज कर दी है। इस सुविधा के साथ ही अब वोटर आसानी से वोटर लिस्ट में अपना नाम दर्ज करा सकते हैं। साथ ही निर्वाचन आयाेग ने वोटर आर्इडी बनाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है।


कैसे करें आवेदन

निर्वाचन अायोग की इस सुविधा के बाद अब आपको चुनाव आयोग के चक्कर नहीं काटने होंगे। इससे सबसे बड़ी सुविधा 18 वर्ष की उम्र से ऊपर के लोगों को होगी। अाप अपने स्मार्टफोन या कंप्यूटर के माध्यम से आवेदन के एक माह के अंदर ही वोटरकार्ड प्राप्त कर सकेंगे। इसके लिए आपको सबसे पहले अपनी र्इ-मेल आर्इडी आैर मोबाइल नंबर तैयार रखना होगा। इसी माध्यम से निर्वाचन आयोग आपसे संपर्क करेगा। इसके बाद आपको चुनाव आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। यहां पर अप्रवसी भारतीयों से लेकर आम भारतीय भी नए वोटर आर्इडी कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।


घर पहुंचेगा वोटर आर्इडी

आपके लिए जरूरी है कि आप सभी जानकारी सावधानी से भरें। एक बार जब आपने पूरी जानकारी सावधानी पूर्वक भर लिया तो आपको इसे सबमिट करना होगा। सबमिशन के 15 दिनाें के अंदर आप इसमें बदलाव कर सकते हैं। साथ ही आप आवेदन का स्टेटस भी आॅनलाइन चेक कर सकते हैं। इसके बाद आपके एरिया का बूथ लेवल अधिकारी (बीएलआे) अापके घर पर आएगा। आपके द्वारा अपलोड किए गए डाॅक्यूमेंट्स को वेरिफार्इ करने के लिए उसकी हार्डकाॅपी जमा करेगा। इसके एक माह के अंदर अापके घर अापका वोटर आर्इडी पहुंचा दिया जाएगा।


किन डाॅक्युमेंट्स की होगी जरूरत

एड्रेस प्रुफ (इसके लिए आप आधार कार्ड, पासपोर्ट, दसवीं की मार्कशीट, बर्थ सर्टिफिकेट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, बैंक पासबुक, फोन/पानी/बिजली/गैस का बिल आदि में किसी दो डाॅक्यूमेंट्स का स्कैन काॅपी आैर फोटो काॅपी देना होगा।) स्कैन काॅपी आपको वेबसाइट पर अपलोड करनी होगी जबकि फोटोकाॅपी आपको बीएलआे को देनी होगी।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/get-your-voter-id-card-in-a-month-by-applying-online-4041550/

UIDAI देता है ये खास सुविधा, इस तरह 2 मिनट में छुपाएं अपने आधार का डेटा


नई दिल्ली। आधार कार्ड के डेटा की सुरक्षा को लेकर लगातार सवाल उठते रहे हैं। आधार के डेटा को सेफ रखने की दिशा में आधार की नोडल एजेंसी uidai एक खास सुविधा देती है, जिसका नाम है मास्क्ड ई-आधार (Masked eAadhar)। मास्क्ड आधार के उपयोग से आप अपना आधार नंबर कवर कर सकते हैं। कवर करने के बाद आपको अपने आधार नंबर के केवल आखिरी 4 डिजिट ही दिखेंगे। हांलांकि मास्क्ड आधार से केवल आपका आधार नंबर ही कवर होता है, तस्वीर या QR कोड नहीं।


ऐसे डाउनलोड करें Masked eAadhaar

Masked eAadhaar डाउनलोड करने के लिए आपको uidai.gov.in पर जाना होगा, जिसके बाद माई आधार सेक्शन में डाउनलोड आधार पर क्लिक करके आपको आधार नंबर, वर्चुअल आधार कार्ड या एनरोलमेंट ID में से किसी एक विकल्प को चुनना होगा। इसके बाद सामान्य आधार और मास्क्ड आधार का ऑप्शन दिखेगा जहां से मास्क्ड आधार का विकल्प आपके सामने आएगा। इसके बाद निर्धारित स्पेस में आधार नंबर, वर्चुअल आधार कार्ड या एनरोलमेंट ID डालने के बाद आपको अपना नाम, पिन कोड और सिक्योरिटी कोड भी डालना होगा। अब OTP के लिए रिक्वेस्ट करने पर OTP आधार से लिंक आपके मोबाइल नंबर पर आ जाएगा। रिसीव हुए OTP को दर्ज करने और डाउनलोड आधार पर क्लिक करने के बाद Masked Aadhaar कार्ड डाउनलोड हो जाएगा।


केवल यहां मिलती है मास्क्ड आधार की सुविधा

हालांकि मास्क्ड आधार की सुविधा केवल eAadhaar पर ही मिलती है, जिसे लेने के लिए eAadhaar डाउनलोड करते वक्त मास्क्ड आधार आॅप्शन पर क्लिक करना होता है। मास्क्ड आधार भी किसी अन्य ID प्रूफ की तरह मान्य है। आधार की ई-कॉपी पासवर्ड प्रोटेक्‍टेड होती है। eAadhaar पासवर्ड से सुरक्षित आधार की इलेक्ट्रॉनिक कॉपी है। लेकिन आधार अधिनियम के अनुसार, eAadhar सभी उद्देश्यों के लिए आधार की फिजिकल कॉपी के बराबर मान्य है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/uidai-give-services-to-hide-data-of-aadhar-card-4016754/

नहीं होगी बिजली बिल जमा करने में कोर्इ झंझट, साथ में मिलेगा इतने रुपए का कैशबैक


नर्इ दिल्ली। दिल्ली में फोनपे पर बिजली के बिलों के भुगतान पर 250 रुपये तक का कैशबैक मिल सकता है। डिजिटल भुगतान प्लेटफार्म-फोनपे ने सोमवार को इसकी घोषणा की। कम्पनी के मुताबिक इस ऑफर को पाने के लिए ग्राहकों को बीएसईएस राजधानी या फिर बीएसईएस यमुना के बिलों का भुगतान करना है और इसके लिए आवश्यक न्यूनतम बिल राशि 300 रुपये है।


44 लाख से अधिक उपभोक्ताआें को अकार्षित करने का प्लान

बीएसईएस प्रवक्ता ने कहा, " डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने में बीएसईएस सदैव तत्पर रहा है। इस संकल्प के हिस्से के रूप में, डिस्कॉम ने एक बार फिर फोनपे के साथ साझेदारी की है ताकि उसके 44 लाख से अधिक उपभोक्ताओं के लिए एक आकर्षक कैश-बैक योजना तैयार की जा सके। हमें उम्मीद है कि यह उनके डिजिटल अनुभव को और बेहतर बनाना जारी रखेगा।"


नहीं देना होगा विलम्ब शुल्क

फोनपे ने कहा है कि उसने बिल रिमाइंडर और ऑटोपे जैसी सुविधाओं को भी लॉन्च किया है, जो डिजिटल भुगतान को आसान बनाने में बेहद सहायक है और ग्राहकों के दैनिक जीवन का अभिन्न अंग बनते जा रहे हैं। बिल रिमाइंडर्स के साथ ग्राहक अब विलम्ब शुल्क भुगतान के दु:ख को खत्म करने के लिए परेशानी मुक्त भुगतान के अनुभव का आनंद ले सकते हैं। ग्राहक अपने डेबिट और/या क्रेडिट कार्ड को लिंक करके ऑटोपे की सुविधा को भी सक्षम कर सकते हैं और यह सुनिश्चित कर सकत हैं कि उनके बिल का निर्धारित समय पर भुगतान हो सके।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/pay-electrcity-bill-and-get-cashback-on-phonepay-3978866/

जल्द ही इस सेवा से लिंक करे पैन कार्ड, नहीं अधर में लटक सकता है आपका ट्रांजैक्शन


नर्इ दिल्ली। किसी भी बड़े वित्तीय लेनदेन के लिए आपके पास पैन यानी पर्मानेंट अकाउंट नंबर होना अनिवार्य है। सामान्यतः प्रत्येक व्यक्ति के पास उनका पैन कार्ड होता है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स (CBDT) ने पैन को आधार से लिंक करना अनिवार्य कर दिया है और इसके लिए समय-सीमा निर्धारित की है। अगर अभी तक आपने अपना PAN कार्ड आधार से लिंक नहीं किया है तो आने महीने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। सीबीडीटी ने पैन को आधार के लिंक करने की समय सीमा बढ़ाकर 31 मार्च 2019 कर दिया है।

ITR दाखिल करने हो सकती है समस्या

अगर 31 मार्च आपने आपने पैन कार्ड को आधार से लिंक नहीं किया है तो आपका पैन इनवैलिड माना जाएगा और इसके बाद आप पैसों के ट्रांजैक्शन, ITR फाइल करने सहित कई समस्या का सामना करना होगा। गौरतलब है कि इससे पहले पैन-आधार कार्ड को लिंक करने की अंतिम तारीख 30 जून 2018 थी, लेकिन बड़ी संख्या में लोगों ने आधार से लिंक नहीं कराया था इसलिए तारीख को आगे बढ़ा दिया गया।


कैसे करें पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक?

1. इनकम टैक्स की ई-फाइलिंग वेबसाइट incometaxindiaefiling.gov.in पर विजिट करें।

2. अब पेज पर दिए लाल रंग के 'लिंक आधार' पर क्लिक करें।

3. अगर आपका अकाउंट नहीं बना है तो रजिस्ट्रेशन करें।

4. लॉगइन करते ही नया पेज खुलेगा अब ऊपर दिख रही ब्लू स्ट्रिप में प्रोफाइल सेटिंग चुनें।

5. प्रोफाइल सेटिंग में आधार कार्ड लिंक करने का ऑप्शन दिखेगा, इसे सेलेक्ट करें।

6. यहां दिए गए सेक्शन में अपना आधार नंबर और कैप्चा कोड डालें।

7. जानकारी भरने के बाद नीचे दिख रहे 'लिंक आधार' ऑप्शन पर क्लिक करें. आपका पैन -आधार लिंक हो जायेगा।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/link-your-pan-card-to-aadhar-card-for-making-transaction-3943271/

अब ट्रेन यात्रा के दौरान नहीं मिला बिल तो मुफ्त होगा आपका खाना, रेल मंत्री ने दी जानकारी


नर्इ दिल्ली। ट्रेन यात्रा के दौरान लोगों के लिए सबसे बड़ी परेशानी खाने-पीने की होती है। सफर के दौरान अच्छी क्वालिटी का खाना लोगों के लिए सबसे बड़ी परेशनी होती है। एेसे में इसी परेशानी को देखते हुए रेल मंत्री पियूष गोयल ने मुसाफिरों को राहत के लिए एक बड़ा एेलान किया है। रेल मंत्री ने कहा है कि इस साल मार्च से ट्रेन यात्रा के दौरान खाने-पीने के सामानों की रेट-लिस्ट सार्वजनिक रूप से लगार्इ जाएगी। साथ ही रेट लिस्ट पर लिखा रहेगा 'कृपया कोर्इ टिप न दें, अगर बिल नहीं मिला तो आपका भोजन मुफ्त है।'


उपलब्ध होगा पीआेएस मशीन

रेल मंत्री ने कैटिरंग सेवाओं में सुधार और पारदर्शिता लाने के लिए सभी जोनल रेलवे को इस संबंध में निर्देश दिए हैं। गोयल ने यह भी कहा है कि 31 मार्च 2019 तक सभी ट्रेनों में कैटरिंग स्टॉफ और टीटीई को स्वाइप तथा बिल निकालने वाली मशीनों के साथ पीओएस (प्वाइंट ऑफ सेल) मशीनें उपलब्ध की जानी चाहिए। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक में पियूष गोयल ने यह भी निर्देश दिए हैं कि जनवरी 2019 के अंत तक यात्रियों की सुविधा के लिए सभी तरह की शिकायतों के लिए एक हेल्पलाइन नंबर विकसित किया जाए।


वार्इफार्इ की सुविधा

इस हेल्पलाइन पर यात्री किसी भी तरह की परेशानी होने पर शिकायत दर्ज करा सकते इसपर त्वरित करवाई भी सुनिश्चित की जाए। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, रेल मंत्री ने यह भी कहा है कि वाईफाई कनेक्टिविटी 723 स्टेशनों से बढाकर 2000 स्टेशनों पर की जानी चाहिए। वाईफाई का कार्य जल्द पूरा करने के लिए सम्बंधित अधिकारी को पुरस्कार भी दिया जाएगा।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/get-free-meal-during-train-journey-if-you-do-not-get-receipt-3933645/

इंडियन स्कूल आॅफ पब्लिक पाॅलिसी की विस्तार योजना, एेसे उठा सकते हैं फायदा


नर्इ दिल्ली। इंडियन स्कूल ऑफ पब्लिक पॉलिसी अपने पॉलिसी डिज़ाईन एवं मैनेजमेंट में फ्लैगशिप प्रोग्राम में एडमिशन के पहले राउंड के लिए आवेदन आमंत्रित कर रहा है। विकसित होते पब्लिक पॉलिसी मैनेजर, प्रैक्टिशनर एवं एडमिनिस्ट्रेटर्स के लिए डिज़ाईन किया गया मास्टर के समतुल्य यह प्रोग्राम विद्यार्थियों को मजबूत पॉलिसी फाउंडेशन के लिए तैयार करेगा और उन्हें पॉलिसी डिज़ाईन, क्रियान्वयन, मैनेजमेंट एवं एसेसमेंट में प्रमुख कौशल प्रदान करेगा। पहले राउंड में आवेदन जमा करने की अंतिम तारीख 15 जनवरी, 2019 है।


पहले सत्र की शुरुआत अगस्त, 2019 से नई दिल्ली के कुतुब इंस्टीट्यूशनल एरिया में प्रोग्राम परिसर में होगी और इसमें पचास विद्यार्थी शामिल होंगे। इस कार्यक्रम का वार्षिक शुल्क 7 लाख रु. होगा और इसके लिए जरूरत आधारित वित्तीय मदद के तहत सभी योग्य विद्यार्थियों को 25 प्रतिशत से 100 प्रतिशत तक फीस में छूट दी जाएगी।


आईएसपीपी मिशन के बारे में एवं विकसित होते प्रशिक्षण एवं शोध प्लेटफॉर्म के निर्माण के लिए डॉ. सुभाशीष गंगोपाध्याय, डीन, इंडियन स्कूल ऑफ पब्लिक पॉलिसी ने कहा, ‘‘हमें आईएसपीपी फाउंडिंग क्लास में प्रवेश की घोषणा करने की खुशी है। हम उन विद्यार्थियों को तलाश रहे हैं, जिन्होंने न केवल शानदार एकेडेमिक प्रदर्शन किया है, बल्कि जिन्हें कक्षा से बाहर समाज, समुदाय और मुद्दों में संलग्न होने का तरीका भी मिल गया है। एडमिशन के लिए हमारा दृष्टिकोण व्यवहारिक और कठोर है और हम पब्लिक पॉलिसी के माध्यम से हमारे समाज में परिवर्तन लाने के लिए एप्टिट्यूड एवं प्रतिबद्धता को काफी महत्व देते हैं। हमें विभिन्न देशों, भारत के सभी राज्यों एवं आईआईटी, आईआईएम, दिल्ली यूनिवर्सिटी जैसे अग्रणी संस्थानों आदि में संभावित आवेदकों से काफी रुचि प्राप्त हुई है। हम एक विस्तृत फाउंडिंग क्लास के निर्माण के लिए आशान्वित हैं।’’


किसी भी विधा में ग्रेजुएषन डिग्री वाले विद्यार्थी आईएसपीपी की वेबसाईट पर उपलब्ध आवेदन फॉर्म जमा करके प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं। चयनित किए गए विद्यार्थियों को व्यक्तिगत इंटरव्यू एवं ग्रुप डिस्कशन के लिए बुलाया जाएगा। आवेदन के लिए उम्र की सीमा नहीं है, लेकिन क्लास की अनुमानित औसत आय 26 साल है। एडमिशन की प्रक्रिया तीन राउंड्स में होगी। एडमिषन का दूसरा एवं तीसरा राउंड क्रमशः मिड-जनवरी 2019 में एवं अप्रैल, 2019 के पहले सप्ताह में प्रारंभ होगा। अधिक जानकारी के लिए www.ispp.org.in पर लॉग ऑन करें।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/indian-school-of-public-policy-scheme-get-benefit-3888878/

इस साल पैन कार्ड के नियमों में हुए हैं ये बड़े बदलाव, आप पर ऐसे पड़ेगा असर


नई दिल्ली। pan card का पूरा नाम होता है Permanent Account Number, यानी स्थायी खाता संख्या। इसका प्रमुख उपयोग टैक्स भरने के लिए होता है। पैन कार्ड के जरिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट एक व्यक्ति के द्वारा किए गए सभी ट्रांजेक्शन को लिंक करता है और उनपर नजर रखता है ताकि टैक्स की चोरी को रोका जा सके। पैन कार्ड में 10 अंकों की संख्या होती है, जो कि आयकर विभाग द्वारा निर्धारित की जाती है। यह प्रक्रिया केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) के अंतर्गत आती है। नए साल की शुरुआत होने से पहले पत्रिका आपको बताएगा कि साल 2018 में पैन कार्ड के नियमों में क्या बदलाव आए।


PAN कार्ड आवेदन के लिए सिर्फ मां का नाम लिखना पर्याप्त

साल 2018 में आयकर विभाग ने स्थायी खाता संख्या (पैन) आवेदन में आवेदक के पिता-माता के अलग होने की स्थिति में पिता का नाम देने की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया है। आयकर विभाग ने एक अधिसूचना के जरिए आयकर नियमों में संशोधन किया था, जिसके अनुसार आवेदन फॉर्म में ऐसा विकल्प आया जिसमें आवेदक को माता-पिता के अलग होने की स्थिति में मां का नाम देने की अनुमति दी गई। ये नियम पांच दिसंबर से लागू हुआ था।


ट्रांसजेंडर्स को मिला उनका हक

इसके अतिरिक्त विभाग द्वारा पैन कार्ड के नियमों में किए गए बदलाव में सबसे प्रमुख है कि सरकार ने ट्रांसजेंडर्स को उनका हक दिया। पैन कार्ड ऐप्लीकेशन फॉर्म में ट्रांसजेंडर्स के लिए अलग से कॉलम बनाया गया। इसके मद्देनजर सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्‍ट टैक्‍सेस (सीबीडीटी) ने इनकम टैक्‍स कानून की धारा 139ए और 295 के तहत नोटिफिकेशन भी जारी की थी। सरकार ने इनकम टैक्स नियमों में संशोधन करते हुए ट्रांसजेंडर्स के लिए अलग कॉलम बनाया था। ट्रांसजेंडर्स की पहचान सुनिश्चित करने के लिए पैन कार्ड फॉर्म में उनके लिए स्वतंत्र जेंडर का कॉलम लाया गया। दरअसल ट्रांसजेंडर कम्‍युनिटी के लोगों को पैन कार्ड बनवाने में काफी दिक्‍कत उठानी पड़ती थी और यह समस्‍या और गहरा गई थी। इसलिए सरकार ने ये बड़ा कदम उठाया।


4 घंटे में तैयार हो जएगा पैन कार्ड

इसके साथ ही अब सिर्फ 4 घंटे में पैन कार्ड तैयार हो जाएगा। इसके लिए टैक्स विभाग सुधार के कई उपाय करने जा रहा है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने एक कार्यक्रम में कहा कि टैक्स विभाग ने कई क्षेत्रों में टेक्नोलॉजी में सुधार और ऑटोमेशन के लिए कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि चार घंटे में पैन जारी करने की सुविधा एक साल के अंदर शुरू हो जाएगी।

 

2.5 लाख रुपए से ज्यादा ट्रांजेक्शन करने पर बनवाना होगा पैन

किसी एक वित्त वर्ष में 2.5 लाख रुपए या इससे ज्यादा ट्रांजेक्शन करने वाली संस्था के लिए पैन बनवाना जरूरी बना दिया गया है। इनकम टैक्स ऐक्ट के सेक्शन 139 ए में इसका संशोधन किया गया। ऐसी एंटिटीज को अगले वित्त वर्ष की 31 मई तक पैन के लिए आवेदन करना होगा। इस कदम से आयकर विभाग को फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन पर नजर रखने में मदद मिलेगी। इसके अलावा करदाताओं का दायरा बढ़ाने और टैक्स चोरी रोकने में भी सहायता मिलेगी।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/pan-card-rules-changed-this-year-will-affect-you-like-this-3875291/

ड्राइविंग लाइसेंस पर सरकार ने बदले नियम, अब 16 साल के युवाओं को भी मिलेगा फायदा


नई दिल्ली। देश के युवाओं को बड़ी खुशखबरी देते हुए केंद्र सरकार ने अहम निर्णय लिया है। सरकार द्वारा की गई घोषणा के अनुसार, अब 18 नहीं, बल्कि 16 साल के युवा भी ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) बनवा सकेंगे। हालांकि इस ड्राइविंग लाइसेंस से युवाओं को केवल दो पहिया वाहन चलाने की अनुमति दी जाएगी। नए नियम लागू होने से मोटरसाइकिल, स्कूटर, स्कूटी आदि दो पहिया वाहन युवा चला सकेंगे।सरकार के इस नियम से करोड़ों युवाओं को तो फायदा होगा ही, लेकिन महानगरों से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को लाभ होगा।


लाइसेंस बनवाने की क्या होगी शर्त ?

इस संदर्भ में 20 दिसंबर को ही सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय ने अधिसूचना जारी कर दी थी। जारी की गई अधिसूचना के मुताबिक मोटरसाइकिल समेत तमाम हल्के दो पहिया वाहनों को चलाने के लिए युवा डीएल बनवाने का आवेदन कर सकेंगे। हालांकि दो पहिया वाहन 50 सीसी से अधिक नहीं होनी चाहिए। इतना ही नहीं, वाहनों की अधिकतम रफ्तार 70 किलोमीटर प्रति घंटा से अधिक नहीं होनी चाहिए। 16 से 18 साल के युवाओं के लिए एक और शर्त रखी गई है जिसके अनुसार वाहन की इंजन क्षमता 4.0 किलोवॉट तक ही सीमित होनी चाहिए।


करोड़ों किशोरों को होगा फायदा

मामले पर परिवहन विशेषज्ञों ने कहा कि सरकार के इस फैसले से करोड़ों किशारों को फायदा होगा। सरकार का यह कदम भविष्य में इलेक्ट्रिक और ग्रीन फ्यूल वाली मोटरसाकिल, स्कूटर, स्कूटी आदि को बढ़ावा देने में सहायक सिद्ध होगा। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि अधिसूचना जारी होने के बाद राज्य सरकारें मोटर वाहन अधिनियम 1989 के नियमों में बदलाव कर किशोरों का डीएल बनवाने की प्रक्रिया शुरू करेंगी।


महानगरों से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को होगा फायदा

महानगरों के अलावा सरकार के इस फैसले से सबसे अधिक फायदा ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को होगा क्योंकि छोटे शहरों में लोगों को गंतव्य तक पहुंचने के लिए घंटो इंतजार करना पड़ता है। नए नियम से किशोरों को आसानी होगी। ग्रामीण क्षेत्रों के किशोरों को अधिक फायदा होगा। अब यातायात पुलिस डीएल के अभाव में उनका चालान नहीं काटेगी। और युवा भी बेफ्रिक होकर घर का कामकाज निपटा सकेंगे।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/16-year-old-will-be-benefitted-by-new-driving-license-guidelines-3875051/

इतिहास है गवाह, इस महीने में पैदा होने वाले बनते हैं सफल कारोबारी


नई दिल्ली। जिंदगी में हर कोई ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाना चाहता है। पैसे कमाने के लिए परिश्रम के अलावा अगर कुछ चाहिए होता है, तो वो है भाग्य। अगर आपका भाग्य साथ हो तो आपको सफल बिजनेसमैन बनने से कोई नहीं रोक सकता। हालांकि अच्छा कारोबार करने के लिए आप किस महीने पैदा होते हैं, वो भी काफी मायने रखता है। ज्योतिष और अंक विज्ञान के मुताबिक दिसंबर में पैदा होने वाले अत्यंत भाग्यशाली होते हैं। भारत में भी कई ऐसे अदाहरण देखे जा चुके हैं। भारत के कई दिग्गज कारोबारियों का जन्मदिन दिसंबर में ही होता है। आइए आपको बताते हैं कौन हैं वो-


इस महान हस्ती का जन्मदिन साल के आखिरी महीने में

बिजनेस वर्ल्ड की मशहूर हस्ती रतन टाटा का जन्मदिन 28 दिसंबर को आता है। कार बनाने वाले टाटा समूह को कामयाबी की बुलंदियों तक पहुंचाने में रतन टाटा का सबसे ज्यादा योगदान है। टाटा भारत के सबसे सम्मानित और सफल उद्योगपतियों में से एक हैं। इतना ही नहीं, 2016 में बिजनेस जगत के तीन सबसे चर्चित लोगों में रतन टाटा भी शामिल थे। उन्हें साल 2000 में पद्मभूषण और 2008 में पद्मविभूषण से सम्मानित भी किया गया था। दिसंबर में केवल रतन टाटा ही नहीं बल्कि बिजनेस क्षेत्र की एक और बड़ी हस्ती हा जन्मदिन आता है। पत्रिका आपको बताएगा कौन है वो।


जिंदगी में सफल बनने के लिए लेना होगा जोखिम

भारत के सबसे सफल कारोबारियों में से एक धीरजलाल हीरालाल अंबानी का जन्मदिन भी दिसंबर में ही आता है। इसे महज संयोग कहें या किस्मत का खेल की देश के सबसे सफल कारोबारियों का जन्मदिन साल के आखिरी महीने में आता है। धीरूभाई अंबानी का जन्म 28 दिसंबर 1932 को हुआ था। रिलायंस उद्योग के संस्थापक धीरूभाई का सबसे प्रसिद्ध वाक्या था कि, 'अगर आप गरीब पैदा होते हैं तो ये आपकी गलती नहीं है पर अगर आप गरीब मरते हैं तो ये आपकी गलती है।' उनकी बातों से ना केवल उनका परिवार बल्कि पूरा देश प्रेरित होता आया है। उनका मानना था कि अगर आपको कुछ कमाना और जिंदगी में सफल बनना है तो जोखिम लेना ही होगा।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/people-born-in-this-month-are-successful-businessmen-3868410/

नए साल पर पीएम मोदी ने दिया सबसे बड़ा तोहफा, अब एेसे मुफ्त में मिलेगा गैस कनेक्शन


नर्इ दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बहुप्रतिक्षित योजनाआें में से एक उज्ज्वला योजना भी है। इस योजना के तहत अभी तक केवल एससी-एसीटी आैर आेबीसी वर्ग के लाेगों को लाभ दिया जा रहा था। लेकिन अब केंद्र सरकार ने इस योजना का लाभ उन लोगों को भी देने का फैसला किया है जिनके पास राशन कार्ड होगा। साथ में सरकार ने यह भी कहा है कि इस स्कीम का लाभ परिवार की मुखिया महिला को दिया जाएगा। इसके लिए जिला आपूर्ति विभाग को डेटा भेजने की तैयारी भी शुरू हो गर्इ है। साथ ही हिंदुस्तान पेट्रोलियम ने सभी एजेंसियों को एक सर्कुलर भी जारी कर दिया है।


राशनकार्ड धारकों को मिलेगा गैस कनेक्शन

उज्ज्वला योजना के तहत प्रधानमंत्री की अगुवार्इ वाली एनडीए सरकार ने पर्यावरण को प्रदूषण रहित आैर ग्रामीण व गरीब परिवारों को चूल्हे से निजात देने के उद्देश्य से इस स्कीम को लाॅन्च किया था। इस स्कीम के तहत एससी-एसीटी आैर आेबीसी वर्ग के लोगों को मुफ्त में एलपीजी रसोर्इ गैस वितरित किए गए थे। अब इस योजना की सफलता को देखते हुए सरकार ने इसका दायरा बढ़ाने का फैसला लिया है। अब प्रत्येक राशनकार्ड धारक इस स्कीम के तहत मुफ्त में रसोर्इ गैस दिया जाएगा।


आपके पास होनी चाहिए ये जरूरी कागजात

अगर आपके पास भी राशन कार्ड है आैर आप भी इस स्कीम का लाभ उठाते हुए मुफ्त में गैस कनेक्शन लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपको आधार कार्ड, फोटो, बैंक पासबुक जैसे डाॅक्युमेंट्स की जरूरत होगी। इसके लिए आपकी उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। अापके जिला मुख्यालय पर आपूर्ति विभाग से भेजा गया डेटा वेरिफार्इ किया जाएगा। इसके बारे में अधिक जानकारी जानने के लिए आप टोल फ्री नंबर या स्कीम की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/now-ration-card-holders-to-get-free-gas-connection-3850325/

अब एक घंटे में ही एेसे बनवा सकते हैं ड्राइविंग लाइसेंस, जानिए क्या है पूरी प्रक्रिया


नर्इ दिल्ली। अगर आप भी ड्राइविंग लाइसेंस के लिए लंबी कतारों व दलालों के चक्कर से परेशान हैं तो यह खबर आपके लिए है। अब आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए न तो लंबी लाइन में घंटों खड़े होने की जरूरत है आैर न ही दलालों से लूटने की। दरअसल, अब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए टेस्ट टच स्क्रीन के माध्यम से होगा। इसके लिए एटीएम की तर्ज पर है ड्राइविंग लाइसेंस के लिए टच स्क्रीन कियोस्क लगाए जाएंगे। इसके लिए ब्लूप्रिंट भी तैयार कर लिया गया है। अब ट्रासंपोर्ट सर्विसेज को पासपोर्ट आॅफिस की तरह ही आॅर्गेनाइज करने का प्लान है।


अंतरराष्ट्रीय एजेंसी की होगी नियुक्ति

इस योजना के तहत काम सही गति से हाेता रहा तो अप्रैल 2019 तक यदि आप लाइसेंस टेस्ट पास कर लेते हैं तो मात्र एक घंटे के अंदर आपका ड्राइविंग लाइसेंस आपको हाथों में होगा। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मोटर लाइसेंसिंग आॅफिस में लाइसेंस, आरसी वेरिफाइ करने की जानकारी एक नर्इ एजेंसी को दी जाएगी। फिलहाल यह काम डीम्ट्स की देखरेख में होती है। लेकिन अब इसके लिए एक अंतरराष्ट्रीय स्तर की कंपनी को नियुक्त किया गया है।


मिलेंगी यह सुविधाएं

नए सिस्टम के तहत आपको लाइन लगाने की जरूरत नहीं होगी। जब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने के लिए जाएंगे तो अापको एक टोकन दिया जाएगा। साथ ही सभी मोटर लाइसेंसिंग आॅफिस में एक हेल्प डेस्क भी होगा। जब आपको टोकन मिलेगा तभी आपको जानकारी दी जाएगी की आपको किस काउंटर पर जाना है। साथ ही टीवी स्क्रीन पर टोकन नंबर भी दिया जाएगा।


चार भाषाआें में होगा टेस्ट

लर्निंग लाइसें बनवाने के लिए आपको टच स्क्रीन पर एक टेस्ट देना होगा। महिलाआें की सुविधा का ख्याल रखते हुए उनके लिए अलग काउंटर की व्यवस्था भी की जाएगी। मौजूदा समय में यह टेस्ट हिन्दी व इंग्लिश में ही हाेता है लेकिन इसे अब पंजाबी व उर्दू में इस टेस्ट के लिए तैयारी किया जा रहा है। यदि एेसा हाेता है तो अब चार भाषाआें में टेस्ट लिया जाएगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/know-get-your-driving-license-in-an-hour-after-these-changes-3762466/

अगर आप भी चलाते हैं मोबाइल में दो सिम कार्ड तो जरूर पढ़ लें यह खबर


नई दिल्ली। हाल के वर्षों में मोबाइल फोन का जिस तेजी से विस्तार हुआ वैसा और किसी क्षेत्र में नजर नहीं आता। इसके चलते आज देश में मोबाइल धारकों की संख्या देश की कुल आबादी के 90 फीसदी के करीब है। टेलीकॉम सेक्टर की इस तेजी को आने वाले दिनों में झटका लग सकता है। सेलुलर ऑपरेटर्स असोसिएशन ऑफ इंडिया के मुताबिक, अगले 6 महीनों में उपभोक्ताओं की संख्या में 2.5 से 3 करोड़ की कमी आ सकती है। एक विशेषज्ञ के मुताबिक, सालभर में ग्राहकों की संख्या में गिरावट 6 करोड़ तक जा सकती है। इसकी वजह यह है कि सभी कंपनियों की कमोबेश एक तरह के टैरिफ प्लान और सेवाओं के चलते ग्राहक अब अलग-अलग कंपनियों के एक से ज्यादा सिम कार्ड रखने की जगह किसी एक कंपनी के सिम कार्ड को तरजीह देने लगे हैं। इसके चलते ग्राहकों संख्या में बड़ी गिरावट देखने को मिल सकती है।

साढ़े सात करोड़ ग्राहकों के पास एक सिम

बता दें कि सितंबर तक देश में कुल 1.2 अरब मोबाइल उपभोक्ता थे। देश में अभी करीब 7.3 करोड़ से 7.5 करोड़ सिंगल सिम वाले कस्टमर (यूनिक कस्टमर) उपभोक्ता हैं। बाकी ग्राहक 2 या अधिक सिम वाले हैं। ग्राहक 2 सिम इसलिए इस्तेमाल करते हैं ताकि वे जगह के हिसाब से किफायती और अच्छी सर्विस का लाभ उठा सकें। अब, चूंकि सभी ऑपरेटरों की प्राइस और सर्विस क्वॉलिटी लगभग एक समान है तो कई कनेक्शन की कोई जरूरत ही नहीं रह गई है। ऐसे में ये ग्राहक अपने दूसरे नंबर को बंद कर सकते हैं।

कंपनियों का नया रुख भी होगा जिम्मेदार

दो या ज्यादा सिम वाले ग्राहकों की ओर से नियमित रीचार्ज न कराने से परेशान कंपनियां इसका तोड़ लंबी अवधि वाले रीचार्ज को खत्म कर कम अवधि के प्लान पेश करके निकाला है। हाल ही में भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने 28 दिन की वैधता वाले 35 रुपए, 65 रुपए और 95 रुपए के न्यूनतम रीचार्ज प्लान लॉन्च किए हैं। इन दोनों कंपनियों के मिनिमम प्लान अब जियो के जियोफोन यूजर्स के लिए 49 रुपए के मिनिमम रिचार्ज प्लान की टक्कर में हैं। ऐसे में अब ग्राहकों को किसी एक ऑपरेटर को चुनने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/if-you-used-two-sim-cards-then-first-read-this-news-3745828/

इस चाइनीज कंपनी के साथ शुरू करें खुद का बिजनेस, जमकर होगी कमार्इ


नई दिल्ली। अगर आप बहुत दिनों से कम बजट में बिजनेस करने के बारे में सोच रहे हैं। तो, चाइनीज स्मार्टफोन निर्माता कंपनी शाओमी आपको ये मौका देने जा रही है। भारत में अपने कारोबार को और मजबूत करने के लिए शाओमी लगातार निवेश करने में लगी हुई है। अपने कारोबार को तेजी से बढ़ाने के लिए शाओमा ने साल के अंत तक 5 हजार मी स्टोर खोलने की प्लानिंग कर रखी है। ऐसे में शाओमी लोगों को कंपनी से जुड़कर मी स्टोर खोलने का मौका दे रही है। अगर आप भी बिजनेस करने का मन बना रहे हैं तो यह आपके लिए एक अच्छा मौका है।

शाओमी के साथ बिजनेस करने का मौका

शाओमी अपने इस कदम से उन लोगों को साथ जुड़ने का मौका दे रहा है, जो शाओमी के साथ बिजनेस करना चाहते है। शाओमी ग्लोबल के उपाध्यक्ष और शाओमी इंडिया के प्रबंध निदेशक मनु कुमार जैन का कहना है कि, मी स्टोर को खोलने के लिए एवरेज साइज 300 वर्ग फीट तक का होना चाहिए। जिसमें मी होम स्टोर का औसत आकार 1,200 वर्गफीट का होना चाहिए है। साथ ही एक गांव में अधिकतम दो मी स्टोर्स हो सकते हैं।

ऐसे करें आवेदन

अगर आप भी स्टोर खोलने के इच्छुक हैं तो कंपनी की वेबसाइट पर जाकर मी स्टोर्स फ्रेंचाइजी एप्लीकेशन फार्म भरना होगा। फॉर्म में आपको स्टोर का नाम, पार्टनर का नाम के अलावा स्टोर की हाइट (फीट में) फ्रंट साइज, स्टोर के कार्पेट एरिया और स्टोर टाइप के बारे में भी जानकारी देनी होगी। फॉर्म को भरने पर आपसे कंपनी की तरफ से संपर्क किया जाएगा। इसके बाद यदि आप शार्टलिस्ट हो जाते हैं तो आगे का प्रोसेस होगा।

कम लागत में शुरू कर सकते हैं मी स्टोर

जैन के अनुसार मी स्टोर की फ्रेंचाइजी लेने के लिए 10 लाख रुपए से कम का निवेश करना होगा। उन्होंने बताया भागीदार बनने के लिए किसी को रिटेल या व्यापार के अनुभव की जरूरत नहीं है। लेकिन उसे मी ब्रांड से लगाव होना चाहिए। आपको बता दें स्टोर की ब्रांडिंग की पूरी लागत शाओमी की तरफ से दी जाएगी। जबकि अन्य खर्च जैसे इंटीरियर्स या किराया भागीदार को वहन करना होगा। इससे पहले कंपनी ने कहा था कि देश के ग्रामीण इलाकों में रिकार्ड 500 रिटेल स्टोर्स खोले गए हैं। कंपनी ने इन्हें मी स्टोर्स कहा है और अभी इन्हें महानगरों में खोला जा रहा है। कंपनी का यह भी कहना है कि शाओमी की योजना से लगभग 15,000 लोगों को रोजगार मिलेगा।उन्होंने कहा कि अपने ऑफलाइन नेटवर्क को और मजबूत बनाने के लिए कंपनी विस्तार योजना पर काम कर रही है।

 

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/xiaomi-plans-to-set-up-5000-stores-in-rural-india-by-end-of-2019-3740141/

घर बैठे मिनटों में बनवाएं अपना ड्राइविंग लाइसेंस, वो भी मात्र 350 रुपए में


नई दिल्ली। गाड़ी या बाइक चलाने के लिए लोगों के पास ड्राइविंग लाइसेंस होना बेहद आवश्यक है। इसके बिना ड्राइविंग करना कानून अपराध माना जाता है। यही नहीं, फाइन और पेनाल्टी भी देनी पड़ सकती है। पहले ड्राइविंग लाइसेंस बनावाने के लिए कई बार ऑफिसों के चक्कर काटने पड़ते थे। लेकिन अब आपको ना तो आरटीओ ऑफिस के बार-बार चक्कर लगाने पड़ेगें, न लंबी-लंबी लाइनों में लगना पड़ेगा। सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना अब और आसान कर दिया है। सरकार ने ये सर्विसेज पूरी तरह से ऑनलाइन कर दी है। यहां हम आपको ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस अप्लाई करने का तरीका बताने जा रहे हैं।कर सकते है।

ऐसे करें लाइसेंस के लिए अप्लाई

अगर आप लर्नर लाइसेंस के लिए अप्लाई करना चाहते है तो आपको सड़क परिवहन की वेबसाइट पर जाना होगा। वहां पर आप अपने राज्य को सिलेक्ट करें। उसके बाद अप्लाई ऑनलाइन ऑप्शन पर क्लिक करें। इसके बाद न्यू लर्नर लाइसेंस सिलेक्ट करें। दिशा-निर्देशों को पढ़ने के बाद आगे बढ़े। इसके बाद एक नया पेज खुलेगा और कुछ कैटेगरी दी गई होगी। उनमें से एक आपको को सिलेक्ट करें।फिर सबमिट पर क्लिक कर आगे बढ़ जाना है। आगे बढ़ने के बाद अपने राज्य और आरटीओ ऑफिस को सिलेक्ट करें। इसके बाद फार्म में मांगी गई जरूरी जानकारी को भर दे। इस बात के बारे में जानकारी भी जरूर दे की आपको कौन-सी गाड़ी चलाने के लिए लाइसेंस बनवाना है। सारी डिटेल्स भरने के बाद सबमिट कर दे।

ऐसे करें डॉक्युमेंट्स अपलोड

अब बारी है डॉक्युमेंट्स अपलोड करने की। डॉक्युमेंट्स के लिए आपको वापस होमपेज पर जाना होगा। होमपेज पर जाकर आप डॉक्युमेंट्स सेक्शन को सिलेक्ट करें। यहां पर आप अपनी फोटो, सिग्नेचर और डॉक्युमेंट अपलोड करें। होमपेज पर ही फीस पेमेंट का सेक्शन भी मौजूद है। यहां से आप पेमेंट की प्रोसेस पूरी कर सकते हैं। इसके बाद आपको आरटीओ ऑफिस में ड्राइविंग टेस्ट के लिए बुकिंग करनी होगी। इसके लिए आपको इन्क्वायरी आॅन स्लॉट अवेलेबिलिटी पर किल्क करना है। ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने के बाद आपको फीस जमा करनी होगी। इसके लिए 350 रुपए की फीस निर्धारित है। आप यह फीस ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपके पास आरटीओ दफ्तर से एक मैसेज आएगा। । इस मैसेज में आपके टेस्ट की तारीख और समय की जानकारी होगी। आपको निर्धारित समय पर ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए आरटीओ दफ्तर जाना होगा। टेस्ट पास करने के बाद आपका लाइसेंस 15 दिन के अंदर घर पर पहुंच जाएगा।

परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए करें ये काम

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने के बाद आपको फीस जमा करनी होगी। इसके लिए 350 रुपए की फीस निर्धारित है। अगर आपको परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना है तो आप लर्निंग लाइसेंस बनने की तारीख से एक महीने बाद परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको ऊपर दिया गया प्रोसेस ही फॉलो करना है। बस अप्लाई आॅनलाइन सेक्शन में न्यू ड्राइविंग लाइसेंस सिलेक्ट कर आगे लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस का नंबर देना होगा।

 

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/now-get-driving-online-license-in-just-350-rupee-3729224/

फ्री में जिंदगीभर देखिए 150 टीवी चैनल, बाजार में आया नया सेट टॉप बॉक्स


नई दिल्ली। यदि आप रिलायंस जियो का सेट टॉप बॉक्स बाजार में आने का बाद नया सेट टॉप बॉक्स खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो थोड़ा ठहर जाएं। आज हम आपको एक एेसे सेट टॉप बॉक्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप जिंदगीभर 150 चैनल्स मुफ्त में देख सकेंगे। ये सभी चैनल फ्री टू एयर चैनल होंगे। खास बात यह है कि इस सेट टॉप बॉक्स का इस्तेमाल करने के लिए आपको छतरी की भी आवश्यकता नहीं पड़ेगी। यानी आप इस सेट टॉप बॉक्स को सीधे टीवी से कनेक्ट कर 150 से अधिक चैनल्स देख सकेंगे।

ये है नया सेट टॉप बॉक्स

बिना छतरी की मदद के आपको 150 से अधिक चैनल दिखाने वाले इस सेट टॉप बॉक्स को इंटरनेट सेट टॉप बॉक्स नाम दिया गया है। खास बात यह है कि आप इस सेट टॉप बॉक्स का इस्तेमाल इंटरनेट के बिना भी कर सकते हैं। यदि आप इस सेट टॉप बॉक्स को इंटरनेट से कनेक्ट कर देते हैं तो यह हाईटेक बॉक्स बन सकता है। इसे इंटरनेट से कनेक्ट करने के बाद आप 1000 से अधिक चैनल देख सकते हैं, इसमें एचडी चैनल भी शामिल हैं। आप इस सेट टॉप बॉक्स को LAN केबल या फिर वाईफाई के जरिए भी इंटरनेट से कनेक्ट कर सकते हैं।

यहां से कर सकते हैं खरीदारी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह सेट टॉप बॉक्स पूरी तरह से मेड इन इंडिया हैं और दिल्ली के विकास नगर, उत्तम नगर, करोल बाग बाजारों के अलावा ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है। इसे इंटरनेट और बिना इंटरनेट भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इंटरनेट कनेक्शन होने पर यह आपको 1000 चैनल और बिना इंटरनेट 150 चैनल उपलब्ध कराएगा। इस सेट टॉप बॉक्स को सभी तरह के TV से कनेक्ट किया जा सकता है। इसमें एंटीना IN पोर्ट, RC केबल पोर्ट, HDMI पोर्ट के विकल्प दिए गए हैं। डोंगल का इस्तेमाल करने के लिए भी इसमें USB पोर्ट दिया गया है। आप यह सेट टॉप बॉक्स 1500 रुपए में खरीद सकते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/you-can-watch-150-tv-channels-free-for-lifetime-by-this-set-top-box-3723068/

मोदी सरकार दे रही है 75 हजार रुपए, घर बैठे बस करना होगा ये छोटा-सा काम


नई दिल्ली। देश के युवाओं को रोजगार और पैसे कमाने के लिए मोदी सरकार लगातार कई प्रयास करती रही है। पिछले चार साल के कार्यकाल में मोदी सरकार ने कई ऐसी योजनाएं शुरु की हैं जिससे युवाओं को रोजगार के लिए दर-दर भटकना न पड़े। यहीं नहीं युवाओं को पैसे कमाने और रोजगार को लेकर प्रोत्साहित करने के लिए सरकार लगातार कई तरह के प्रोग्राम और काॅन्टेस्ट का आयोजन करती रहती है। ऐसे में यदि आप भी कम समय में मोटी कमाई करने के बार में सोचते हैं तो आपको बता दें कि सरकार ऐसे ही एक काॅन्टेस्ट का आयोजन कर रही है जिससे आपको पास 75 हजार रुपए कमाने का मौका है। आइए जानते है कि आखिर क्या है मोदी सरकार का ये नया काॅन्टेस्ट आैर आप इसमें कैसे भाग ले सकते है।

बस करना होगा ये काम

दरअसल यूनियन पब्ल‍िक सर्व‍िस कमीशन अपना लोगो बदल रही है। नया लोगो बनाने का काम किसी प्रोफेशनल को देने की बजाय सरकार आम आदमी को इसे तैयार करने का मौका दे रही है। जिसके लिए सरकार ने लोगों से एक काॅन्टेस्ट के जरिए लोगो डिजाइन का आवेदन मांगा है। जिस भी व्यक्ति द्वारा बनाया गया लोगो सरकार को पसंद आएगा, सरकार उसे यूनियन पब्ल‍िक सर्व‍िस कमीशन की आधिकारिक वेबसाइट और सोशल मीडिया पर इस्तेमाल करेगी। इस काॅन्टेस्ट में जो भी विजेता होगा उसे 75 हजार रुपए का इनाम मिलेगा। इस काॅन्टेस्ट में भाग लेने के लिए आपके पास केवल 1 दिसंबर के शाम 6 बजे तक का समय है।

कैसे करें अप्लाई

आपको अपनी एंट्री सब्मिट करने से पहले लोगो का छोटा सा इंट्रो भी देना होगा। इस इंट्रो में आपको लोगो के बारे में बताना होगा। इसके साथ ही बताना होगा कि कैसे ये यूनियन पब्ल‍िक सर्व‍िस कमीशन को प्रदर्श‍ित करता है। साथ ही अपनी एंट्री भेजने से पहले यह ध्यान रखें कि आपकी MyGov.in पर प्रोफाइल अप टू डेट हो। ऐसा न होने पर आपकी तरफ से की जाने वाली एंट्री नहीं ली जाएगी। इस आयोजन के बारे में और अधिक जानकारी लेने के लिए आप www.upsc.gov.in पर जा सकते हैं।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/design-this-logo-for-modi-government-and-earn-75-thousand-rupee-3720487/

इस लड़के की उम्र है महज 7 साल, सालाना करता है 71 करोड़ रुपए की कमार्इ


नर्इ दिल्ली। बिजनेस को लेकर आपने कर्इ बार ये बात सुनी होगी कि इसके लिए कोर्इ उम्र नहीं होती। आपके पास बस आर्इडिया होना चाहिए। यदि आपके पास एक बेहतर आर्इडिया है आैर अाप अपने पूरी लगन से इसमें जुट जाते हैं तो निश्चित ही इसमें सफल होंगे । आज हमारे बीच बहुत से एेसे उदाहरण हैं जिसमें लोग एक बेहद गरीब आैर निम्न वर्ग में पैदा हाेने के बाद भी बिजनसे में अपना मुकाम हासिल कर लेते हैं। वहीं अपवाद के रूप में कुछ एेसे लोग भी होते हैं जो छोटी सी उम्र में दूसरों के लिए मिसाल बन जाते है। हम आपको एक एेसे ही बच्चे के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी उम्र महज 7 साल है लेकिन ये नन्हा लड़का अपने बिजनेस के जरिए दुनियाभर में छाया हुआ है। ये लड़का सालाना 71 करोड़ रुपए की कमार्इ करता है।


इस तरह करता है 71 करोड़ रुपए की कमार्इ

इस लड़के का नाम रायन है। रायन यूट्यूब पर वीडियोज के जरिए साल में करीब 71 करोड़ रुपए की कमार्इ करता है। रायन ने यूट्यूब के जरिए अपने कमार्इ की शुरूआत जुलार्इ 2015 में किया था। इसके बाद से अब तक रायन अपने यूट्यबू चैनल पर कर्इ सारे वीडियो आैर पोस्ट डाल चुके हैं। इस दौरान रायन का सबसे लोकप्रिय वीडियो 'ज्वाइंट एग सरप्राइज' टाइटल का है। इस वीडियो को 80 करोड़ बार देखा जा चुका है। मौजूदा समय में रायन के इस यूट्यूब चैनल पर को 14 मिलीयन(1.4 करोड़) लोग सब्सक्राइब कर चुके हैं। आपको बता दें कि यूट्यूब पर 'रायन टाॅयल रिव्यू' काफी लोकप्रिय हैं। इस चैनल को रायन आैर उनका परिवार मिलकर चलाता है जिसमें रायन वीडियाे के जरिए खिलौनों का रिव्यू करता है।


फोर्ब्स की लिस्ट में भी दर्ज करा चुका है नाम

चौकाने वाली बात ये है कि रायन को फोर्ब्स की लिस्ट में शामिल किया जा चुका है। फोर्ब्स ने यूट्यूब से कमार्इ करने वाले लोगों में रायन का जगह दे चुकी है। फोर्ब्स ने हाल ही में यूट्यूब के जरिए कमार्इ करने वोल टाॅप 10 सेलेब्रिटीज की लिस्ट जारी की थी। इस लिस्ट में 71 करोड़ सालाना कमार्इ के साथ रायन को 9वां स्थान मिला था।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/business-utility-news/this-boys-earns-71-crore-from-youtube-3709464/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Medical & Pharma Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Assam Jobs / Opportunities / Career
SSC Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
UPSC Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Faculty & Teaching Jobs / Opportunities / Career
Maharashtra Jobs / Opportunities / Career
Jammu and Kashmir Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Chhattisgarh Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Study Material
Bihar
State Government Schemes
Technology
Exam Result
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Employment News
Scholorship
Business
Astrology
Syllabus
Festival
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com