Patrika : Leading Hindi News Portal - Corporate #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Corporate

http://api.patrika.com/rss/latest-corporate-news 👁 604

अनिल अंबानी की डूबती नइया बचाने उतरे छोटे बेटे अंशुल अंबानी, ऐसे करेंगे पिता की मदद


नई दिल्ली। देश के सबसे अमीर कारोबारी घराने अंबानी परिवार के एक शख्स और रिलायंस समूह के अध्यक्ष अनिल अंबानी के छोटे बेटे अंशुल अंबानी ने बतौर मैनेजमेंट ट्रेनी रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर को जॉइन किया है। इस संदर्भ में कंपनी ने बताया कि 23 वर्षीय अंशुल अंबानी पिछले सप्ताह रिलायंस समूह में शामिल हुए थे। देश के शीर्ष उद्योगपतियों में शुमार अनिल अंबानी के बड़े बेटे अनमोल अंबानी भी इसी प्रकार कंपनी में शामिल हुए थे।


रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर में शामिल हुए अंशुल

रिलायंस समूह का कहना है कि अंशुल ने न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के स्टर्न स्कूल ऑफ बिजनेस से प्रबंधन में डिग्री पूरी करने के बाद बतौर मैनेजमेंट ट्रेनी रलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर को जॉइन किया है। रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर इस समूह की इंजीनियरिंग, प्रोक्योरमेंट और कंस्ट्रक्शन (ईपीसी) शाखा है। इसके पास कंपनी का बिजली उत्पादन और वितरण कारोबार, मुंबई मेट्रो, रक्षा कारोबार और कई विविध सड़क और हवाईअड्डा परियोजनाएं भी हैं।

 

बड़े भाई ने भी किया था ये काम

अंशुल अंबानी के बड़े भाई अनमोल अंबानी ने ट्वीट करते हुए खुशी जताई। अनमोल अंबानी ने 2014 में बतौर ट्रेनी रिलायंस मुचुअल फंड जॉइन किया था। इसके बाद साल 2016 में दो साल की ट्रेनिंग के बाद वे रिलायंस कैपिटल के बोर्ड में शामिल हुए थे। अनिल अंबानी के अलावा अनमोल ही हैं जो रिलायंस ग्रुप की वित्तीय सेवाओं के व्यापार के बोर्ड में शामिल हैं। इतना ही नहीं रिलायंस कैपिटल के सीईओ की अनुपस्थिति में संचालित कंपनियों के सभी सीईओ और ग्रुप के फंक्शनल हेड अनमोल को रिपोर्ट ही करते हैं। अनमोल जब कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में शामिल हुए थे, तब कंपनी के शेयर में 40 फीसदी की बढ़ोत्तरी भी हुई थी।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/anil-ambani-son-anshul-ambani-entered-reliance-group-to-help-his-dad-4005496/

सोना-चांदी बनी इस करोड़पति बाबा के लिए मुसीबत, कुंभ में आने से लगा प्रतिबंध


नई दिल्ली। कुंभ की शुरू होने से लेकर अभी तक चर्चा में रहने वाले वाले गोल्डन बाबा एक बार फिर सुर्खियों में आ गए हैं। इस बार भी गोल्डन बाबा के सुर्खियों में आने का कारण उनका सोने की ज्वैलरी से खास लगाव रखना ही हैं। दरअसल गोल्डन बाबा को कुंभ से निष्कासित कर दिया गया है। साथ ही उनकी कुंभ में आवंटित जमीन भी जब्त कर ली गई हैं। आइए जानते हैं कितने लाख की ज्वैलरी पहनते हैं गोल्डन बाबा।

पहनते हैं 27 लाख की डायमंड की घड़ी

कुंभ में हिस्सा लेने पहुंचे गोल्डन बाबा हमेशा 20 किलो की गोल्डन ज्वैलरी पहने रखते हैं। इसके अलावा 27 लाख की डायमंड की घड़ी भी पहनते हैं। बाबा का कहना है, जितना प्रेम उन्हें सोने के आभूषणों से है, उतना ही प्रेम शिव की आराधना में है। वे पिछले 25 सालों से कांवड़ यात्रा कर रहे हैं। सोने और बाबा की सुरक्षा के लिए इस बार की कांवड़ यात्रा के दौरान 25 निजी गार्ड हमेशा उनके साथ में चल रहे थे।

हर साल बढ़ता चला जाता है सोना

गोल्डन बाबा के मुताबिक सोने के आभूषण उनके इष्टदेव की तरह है। इसलिए उन्होंने सोना पहनने के शौक को अपना लिया है। गोल्डन बाबा शिव भक्त है और वो पिछले 25 सालों से कावर यात्रा कर रहे हैं। हर कावर यात्रा के साथ बाबा की गोल्डन ज्वैलरी बढ़ती चली जाती है। आपको बता दें कि गोल्डन बाबा का असली नाम सुधीर मक्कड़ है। उन्हें गोल्डन पूरी के नाम से भी जाना जाता है। गोल्डन बाबा जूना अखाड़े से भी जुड़े हुए हैं। गोल्डन बाबा ने दिल्ली के गांधीनगर मेंकपड़ा और प्रॉपर्टी डीलिंग का काम भी किया है। ऐसा कहा जा रहा है कि गोल्डन बाबा को कुंभ से निकाले जाने की पीछे की वजह लाखों की ज्वैलरी पहन कर आना और लोगों को धमकियां देना हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/golden-baba-wear-27-lakh-diamond-watch-and-20-kg-gold-jewellery-3995025/

सबसे अमीर एशियार्इ बनने के बाद मुकेश अंबानी की एक आैर उपलब्धि, अब मिला ये खास ताज


नर्इ दिल्ली। फॉरेन पॉलिसी मैगजीन ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी को 'शीर्ष 100 वैश्विक चिंतक' की 2019 की वार्षिक सूची में शामिल किया है। मैगजीन के अनुसार, 2018 में एशिया के सबसे अमीर आदमी के रूप में जैक मा को विस्थापित करने वाले अंबानी को दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में स्मार्टफोन इंटरनेट क्रांति में तेजी लाने का श्रेय दिया जाता है।

जैक मा को पछाड़कर बने थे सबसे अमीर एशियार्इ

मैगजीन ने अपनी वेबसाइट पर कहा, "44.3 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ मुकेश अंबानी 2018 में जैक मा को पछाड़कर एशिया के सबसे अमीर आदमी बन गए थे। अंबानी की कमाई तेल, गैस और खुदरा क्षेत्रों में उनके कारोबार से होती है, लेकिन अपनी नई दूरसंचार कंपनी जियो के माध्यम से वे भारत पर सबसे बड़ा प्रभाव डालने जा रहे हैं।"


जियो को मिली अपार सफलता

वेबसाइट पर आगे कहा गया, "जियो के लांच के बाद पहले छह महीनों के लिए सेलुलर डेटा और वॉयस मुफ्त देकर अंबानी दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में 10 करोड़ से ज्यादा लोगों को स्मार्टफोन इंटरनेट क्रांति से जोड़ चुके हैं। अंबानी की योजना का अगला चरण डिजिटल हवाई तरंगों का उपयोग करते हुए कंटेट और लाइफस्टाइल उत्पाद बेचना है और आखिरकार गूगल और फेसबुक से प्रतिस्पर्धा करना है।" इस सूची में शामिल अन्य प्रमुख हस्तियों में अलीबाबा के सह-संस्थापक और कार्यकारी अध्यक्ष जैक मा, अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष के प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्ड, यूरोपीय प्रतिस्पर्धा आयुक्त मार्ग्रेथ वेस्टेगर और लेखक और टीवी होस्ट फरीद जकारिया शामिल हैं।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/mukesh-ambani-awarded-top-global-thinker-in-2019-3988794/

निसान के पूर्व मुखिया की जमानत हुई खारिज, अभी और करना होगा इंतजार


नई दिल्ली। टोक्यो की एक अदालत ने मंगलवार को निसान के पूर्व प्रमुख कार्लोस घोसन की जमानत अर्जी को खारिज कर दी है। अदालत ने घोसान पर नए आरोप लगने के बाद यह फैसला किया। इसी के साथ उनके सलाखों से बाहर आने की संभावना भी धूमिल हो गई है।


सुनवाई तक रहेंगे हिरासत में

इस फैसले के बाद घोसन को सुनवाई तक हिरासत में रहना पड़ सकता है। टोक्यो की जिला अदालत ने एक बयान में कहा कि 'घोसन के वकीलों की ओर से दी गई जमानत अर्जी को आज खारिज कर दिया गया है।'


लगाए गए कई आरोप

अभियोजन पक्ष के वकीलों ने शुक्रवार को घोसन पर वित्तीय अनियमितता के दो नए आरोप लगाए थे। हालांकि, घोसन ने इन आरोपों को खारिज किया है। अदालत में पेश हुए घोसन ने अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों की निंदा करते हुए कहा, 'उन्हें गलत तरीके से आरोपी ठहराया गया है और अनुचित तरीके से हिरासत में लिया गया है।'

(ये कॉफी भाषा से ली गई है।)

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/court-rejects-nisans-former-chief-carlos-ghosns-bail-3984619/

मुकेश अंबानी के पास हैं दुनिया की पांच सबसे महंगी चीजें, कीमत जानकर हो जाएंगे हैरान


नई दिल्ली। मुकेश अंबानी का नाम तो आप सभी सुना ही होगा। यह न सिर्फ भारत के सबसे अमीर व्यक्ति हैं बल्कि एशिया की सबसे अमीर लोगों में इनकी गिनती होती है। मुकेश अंबानी अपनी लाइफ को रॉयल अंदाज से जीते हैं। साल 2018 में इनकी नेटवर्थ में करीब 21,754 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। मुकेश अंबानी के पास कई ऐसी महंगी चीजें हैं जो सिर्फ अमीर शख्स ही खरीद सकता है। आज हम आपको मुकेश अंबानी की इन महंगी चीजों के बारे में बताते हैं।

 

एंटीलिया

मुकेश अंबानी के पास देश का सबसे महंगा घर है। उनका ये घर मुंबई के अल्टामाउंट में स्थित है। यह घर 27 मंजिल का है और इस घर की साफ-सफाई के लिए 600 नौकर हैं जो हमेशा देखभाल करते हैं। इनके इस घर में 168 कारें खड़ी करने की जगह है। इसके साथ ही इस घर की छत पर तीन हैलीपैड भी बने हुए हैं। इस घर में एक प्राइवेट थियेटर और स्नो रुम भी है। बकिंघम पैलेस से बाद इसका नंबर आता है। यह (एंटीलिया) दुनिया की सबसे महंगी निजी आवासीय संपत्ति है।

 

बीएमडब्ल्यू 760i (BMW 760Li)

मुकेश अंबानी के पास BMW760Li गाड़ी हैं और ये गाड़ी बुलेट प्रूफ है। इसकी कीमत लगभग 8 करोड़ 50 लाख रुपए है। मुकेश अंबानी की बीएमडब्ल्यू कार मुंबई की सबसे महंगी कारों में से एक है। इसका रजिस्ट्रेशन सबसे महंगा हुआ था। इनकी गाड़ी में बोर्ड कॉन्फ्रेंस सेंटर, लैपटॉप और टीवी स्क्रीन भी लगी हुई है।

 

एयरबस 319 जेट

इसके साथ ही मुकेश अंबानी के पास एयरबस 319 कारपोरेट जेट भी है। इस प्लेन में सारी लग्जरी सुविधाएं मौजूद हैं। इसमें एक एंटरटेन्मेंट केबिन, लग्जरी स्काई बार और फैन्सी डाइनिंग एरिया है। इस विमान में लगभग 25 लोगों के बैठने की व्यवस्था है और इसकी लागत लगभग 100 मिलियन डॉलर है। ये जेट 2007 में मुकेश ने पत्नी नीता अंबानी को बर्थडे पर दिया था। इस विमान के अलावा उऩके पास दो निजी विमान बोइंग बिजनेस जेट-2 और फॉल्कन 900EX भी हैं।

 

मेबैक 62

मुकेश अंबानी के पास मेबैक भी है। ये मेबैक उन्होंने अपनी पत्नी नीता अंबानी को तोहफे में दी थी। इस कार की अधिकतम रफ्तार 250 किमी प्रति घंटा है। इस कार के अलावा उनके पास एस्टन मॉर्टिन, मर्सडीज एस क्लास और अन्य लग्जरी कारें भी हैं। इस कार की खास बात ये है कि ये कार मात्र 5.4 सेकेंड में 0 से 100 किमी की रफ्तार पकड़ सकती है। आपको बता दें कि इस कार की कीमत एक मिलियन डॉलर से भी ज्यादा है।

 

याच

मुकेश अंबानी के पास क याच भी है और इसकी कीमत लगभग 1 मिलियन डॉलर से भी ज्यादा है। इसके साथ ही इसमें सारी सुविधाएं हैं। यह याच एक लग्जरी घर की तरह दिखता है। इसके साथ ही इसमें 58 मीटर लंबे और 38 मीटर चौड़े इस याच में सोलर ग्लास रूफ लगी हुई है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/asia-richeast-man-mukesh-ambani-have-worlds-most-expensive-things-3983543/

अनंत नारायण ने मिंत्रा आैर जबोंग के CEO पद से दिया इस्तीफा


नर्इ दिल्ली। फ्लिपकार्ट समूह के ई-टेल पोर्टल मिंत्रा और जबोंग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अनंत नारायण ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कंपनियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। मिंत्रा और जबोंग ने यहां एक बयान में कहा, "अनंत ने बाहरी अवसरों के लिए मिंत्रा और जबोंग के सीईओ पद से इस्तीफा देने का निर्णय लिया है।"


अमर नगरम बन सकते हैं अगले प्रमुख

बयान के अनुसार, पिछले तीन साल से कंपनी से जुड़े अनंत (42) ने मिंत्रा और जबोंग को फैशन ई-कॉमर्स बाजार में प्रमुख स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। फ्लिपकार्ट समूह के सीईओ कल्याण कृष्णमूर्ति को रिपोर्ट करने के लिए मिंत्रा और जबोंग ने अपने प्रमुख के तौर पर अमर नगरम का नाम सुझाया है। बयान के अनुसार, "हाल ही में फ्लिपकार्ट से मिंत्रा में आए अमर समूह के साथ लगभग सात साल से हैं और प्रत्येक कनेक्टेड डिवाइस पर खरीदारी करने के अनुभव को आसान बनाने में प्रमुख भूमिका निभाई है।"


पिछले साल ही फ्लिपकार्ट का वाॅलमार्ट ने किया था अधिग्रहण

देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी के तौर पर 11 वर्ष पुरानी फ्लिपकार्ट समूह में फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, जबोंग ई-टेल साइट्स और डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म फोनपे शामिल हैं। फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण रिटेल कंपनी वालमार्ट ने किया है। वालमार्ट ने पिछले साल मई में 16 अरब डॉलर (1,16,256 करोड़ रुपये) में कंपनी की 77 फीसदी हिस्सेदारी हासिल की थी।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/anant-narayanan-resigns-as-ceo-of-myntra-and-jabong-3981653/

अब ओला के साथ बड़ी पारी खेलेंगे सचिन बंसल, 150 करोड़ का खेला दांव


नई दिल्ली। फ्लिपकार्ट के को-फाउंडर सचिन बंसल ने ऑनलाइन कैब की कंपनी ओला में 150 करोड़ रुपये का निवेश किया है। यह जानकारी कॉरपोरेट अफेयर्स मिनिस्ट्री के पास दाखिल डॉक्युमेंट्स से सामने आई है। वॉलमार्ट डील के बाद से ही सचिन बंसल फ्लिपकार्ट से अलग हो गए थे। उनके अलग होने के बाद यह पहला बड़ा निवेश माना जा रहा है।


वॉलमार्ट के बाद पहला बड़ा निवेश

आपको बता दें कि रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (ROC) में दाखिल डॉक्यूमेंट्स से पता चला है कि उन्होंने कंपनी में 70,588 'सीरीज जे' तरजीही शेयरों की खरीदारी की है। वहीं, पिछले साल वॉलमार्ट को फ्लिपकार्ट की हिस्सेदारी बेचने के बाद बंसल को लगभग 1 अरब डॉलर मिले थे, जिसके बाद ओला में निवेश इनका पहला बड़ा निवेश है।


ई-कॉमर्स सेक्टर की सबसे बड़ी डील थी

सचिन बंसल ने 2007 में बेंगलूरु में बिन्नी बंसल के साथ मिलकर फ्लिपकार्ट की शुरुआत की थी। पिछले साल मई में वालमार्ट ने 1.07 लाख करोड़ रुपये में फ्लिपकार्ट की 77 फीसदी हिस्सेदारी को खरीद लिया था। आपको बता दें कि ये ई-कॉमर्स सेक्टर की सबसे बड़ी डील थी। इससे पहले कभी भी इस सेक्टर में इतनी बड़ी डील नहीं हुई थी।


डील के बाद सचिन बंसल ने छोड़ी कंपनी

इसके साथ ही इस डील के बाद सचिन बंसल ने इस कंपनी छोड़ दिया। वहीं, कुछ ही महीनों बाद बिन्नी बंसल के ऊपर भी यौन के आरोप लगाए गए, जिसकी वजह से उन्हें कंपनी को छोड़ना पड़ा। इसके साथ ही बंसल ने वित्‍त वर्ष 2018-19 की पहली तिमाही के लिए एडवांस टैक्‍स के रूप में 699 करोड़ रुपये जमा किए हैं।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/sachin-bansal-invest-150-crore-rupee-in-ola-3979632/

ये हैं दुनिया के सबसे महंगे तलाक, सेटेलमेंट में चुकाए अरबों रुपए


नई दिल्ली। दुनिया में किसी को भी अलविदा बोलना बहुत ही मुश्किल होता है चाहे वह अमीर आदमी हो या गरीब। वहीं, कई लोगों को तो ये शब्द बोलना काफी महंगा भी पड़ जाता है। आजकल दुनिया के सबसे अमीर आदमी जेफ बेजॉस चर्चाओं में बने हुए हैं। ऐमेजॉन के फाउंडर जेफ बेजोस और उनकी वाइफ मैकेन्ज़ी बेजोस ने तलाक का ऐलान किया है। ये लोग जल्द ही तलाक ले सकते है। आपको बता दें कि तलाक लेने के बाद जेफ बेजोस की संपत्ति का बंटवारा हो जाएगा और दुनिया के सबसे अमीर आदमी होने का तमगा भी उनसे छिन जाएगा।


जेफ बेजॉस और मैकेन्ज़ी बेजोस

ऐमजॉन के संस्थापक जेफ बेजॉस और उनकी पत्नी मैकेंजी के बीच सेटलमेंट रकम अभी तय नहीं हुई है। लोगों का मानना है कि बेजॉस की संपत्ति का बंटवारा होगा तो मैकेंजी के हिस्से में 69 अरब डॉलर यानी 4860 अरब, 70 करोड़ और 50 लाख रुपये आने की संभावना है। अगर मैकेंजी को इतनी संपत्ति मिलती है तो जेफ बेजॉस दुनिया के सबसे अमीर आदमी नहीं रहेंगे। साथ ही ये तलाक दुनिया का सबसे महंगा तलाक होगा।


एलक विलडनस्टीन और जॉसलीन विलडनस्टीन

बेजॉस के बाद फ्रेंच के रहने वाले अमरीकी व्यापारी और आर्ट डीलर एलक विलडनस्टीन का तलाक भी चर्चा में रहा था। इन्होंने शादी के लगभग 24 सालों के बाद अपनी पत्नी जॉसलीन विलडनस्टीन को तलाक दे दिया था। इन दोनों लोगों का सेटेलमेंट लगभग 267 अरब, 84 करोड़ और 30 लाख रुपये (3.8 बिलियन डॉलर) पर हुआ था। बेजॉस के तलाक के बाद उऩका तलाक सबसे महंगा तलाक बन जाएगा।


बर्नी एकलिस्टन और स्वेलिका रेडिएक

साल 2009 में यूके की अमीर हस्तियों में से एक बर्नी एकलिस्टन और स्वेलिका रेडिएक ने भी तलाक लिया था। स्वेलिका रेडिएक क्रोशिया की एक मशहूर मॉडल थीं। इन लोगों के तलाक का सेटेलमेंट लगभग 84 अरब और 57 करोड़ रुपये (1.2 बिलियन डॉलर) में हुआ था।


रुपर्ट मर्डोक और एना टॉर्ब

विलडनस्टीन को बाद मीडिया मुगल रुपर्ट मर्डोक और पत्रकार एना टॉर्ब का तलाक भी काफी चर्चाओं में रहा था। इन लोगों का तलाक 1998 में हुआ था। इनके तीन बच्चे हैं। इसके साथ ही इनके तलाक का सेटेलमेंट लगभग 119 अरब, 82 करोड़ और 45 लाख रुपये (1.7 बिलियन डॉलर) में हुआ था। इन्होंने अपनी शादी के बाद लगभग 31 साल साथ में गुजारे थे।


स्टीव और एलन वीन

लॉस वेगास के रहने वाले स्टीव और एलन वीन ने एक बार नहीं बल्कि दो बार शादी की थी, लेकिन दोनों बार शादी करने के बाद इन लोगों ने तलाक कर लिया। इन लोगों की पहली शादी 1963 से 1986 तक चली थी और उसके बाद दूसरी शादी 1991 से 2010 तक चली थी। इन लोगों के तलाक का सेटेलमेंट लगभग 70 अरब, 48 करोड़ और 50 लाख रुपए (1 बिलियन डॉलर) में हुआ था। जब इन लोगों ने दूसरी बार तलाक लिया तो वो इनके लिए काफी महंगा साबित हुआ था।


बॉब जॉनसन और शीला जॉनसन

बॉब जॉनसन और शीला जॉनसन ने 2002 में तलाक लिया था। इनकी शादी 1969 में हुई थी। इन लोगों ने मिलकर टेलिविजन नेटवर्क की भी स्थापना की थी। इन लोगों के तलाक का सेटेलमेंट लगभग 28 अरब, 16 करोड़ और 42 लाख रुपये (400 मिलियन डॉलर) में निपटा था।


मेल गिब्सन और रोबिन मोर

इन लोगों ने साल 2006 में तलाक लिया था। इन लोगों के तलाक का सेटेलमेंट 29 अरब, 90 करोड़, 93 लाख रुपये (425 मिलियन डॉलर) में हुआ था। ये लोग अपनी शादी के बाद लगभग 26 साल तक साथ में रहे थे।


एलीना रेबलवलेव और दमित्री रेबलवलेव

एलीना रेबलवलेव रूस के काफी अमीर बिजनेसमैन थे। इन लोगों का तलाक 2014 में हुआ था और सेटेलमेंट के तौर पर दमित्री को 42 अरब, 56 करोड़ और 69 लाख रुपए (604 मिलियन डॉलर ) मिले थे। दमित्री ने अपने पति पर बेवफाई का आरोप लगाया था।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/top-10-expencive-divorced-in-the-world-3968864/

अब इन अरबपतियों के साथ होगा सचिन बंसल का ठिकाना, यहां खरीदने जा रहे हैं बंग्ला


नई दिल्ली। वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे के बाद कंपनी से अलग हुए सह-संस्थापक सचिन बंसल नई प्रॉपर्टी खरीदने की तैयारी में हैं। बंसल ने बेंगलुरु के कोरामंगला इलाके में 45 करोड़ रुपए की रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी खरीदने की योजना बना ली है और इस डील को साइन भी कर लिया है। ऐसा बंसल वॉलमार्ट द्वारा फ्लिपकार्ट के अधिग्रहण से प्राप्त धनराशि के एक हिस्से से करेंगे।


ये है अरबपतियों का इलाका

बंसल का कोरामंगला में एक और घर है। बता दें ये इलाका अरबपतियों के इलाके के नाम से मशहूर है। कोरामंगला को अरबपतियों का इलाका इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस इलाके में इन्फोसिस (Infosys) के को-फाउंडर नंदन नीलेकणि का 5,000 sqft का बंग्ला है। तीन साल पहले बिन्नी बंसल ने भी 3 करोड़ रुपए में इस इलाके में 10,000 sqft का बंग्ला खरीदा था। इनके अलावा बीपीएल मोबाइल (BPL) के फाउंडर राजीव चंद्रशेखर का घर भी इसी इलाके में है।


ये है अब तक की सबसे बड़ी डील

सचिन बंसल ने जब फलिपकार्ट छोड़ा था तो उन्हें प्री-टैक्स के रूप में करीब 70 अरब रुपए मिले थे। बेंगलुरु की अब तक की सबसे बड़ी रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी की डील Quest Global के चेयरमैन अजीत प्रभु द्वारा की गई थी। प्रभु ने बेंगलुरु के Hebbal में 50 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी खरीदी थी। बेंग्लुरु में Koramangala and Lavelle Road अरबपतियों की रहने के लिए उनकी लोकप्रिय जगह है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/sachin-bansal-going-to-purchase-bungalow-at-this-area-of-billionaire-3967603/

आपके पास है मोटरसाइकिल तो हर महीने मिलेंगे 25 हजार रुपए, इस तारीख तक है मौका


नई दिल्ली। आज के दौर में करीब करीब हर इंसान के पास टू-व्हीलर जरुर होता है। अगर आपके पास भी दोपहिया वाहन या कोई मोटरसाइकिल है तो आपके पास 25 हजार रुपए महीने कमाने का मौका है। दरअसल कैब एग्रीगेटर कंपनी ओला के साथ हाथ मिलाकर हरियाणा सरकार ने दिन दिवसीय रोजगार मेले का आयोजन किया है। इस रोजगार मेले का उद्देश्य राज्य के हजारों बाइक चालकों को उद्यमिता के अवसर प्रदान करना है, जिसमें बाइक विनिर्माता, सेवा प्रदाता, गुरुग्राम के रोजगार कार्यालय के प्रतिनिधि और वित्तीय संस्थान शामिल होंगे।

3 दिन तक महारोजगार मेला

आपको बता दें कि यह रोजगार मेला तीन दिन तक यानी 12 जनवरी तक है। इसमें ई बाइक्स खरीदने या लीज पर लेने की सुविधा के साथ पहली बार के इन उद्यमियों के लिये मौजूदा वाहनों को येलो-बोर्ड कमर्शियल व्हीकल्स में बदलने का विकल्प भी होगा। यह अनूठा आयोजन हरियाणा सरकार के दूरदर्शी कार्यक्रम 'सक्षम सारथी' के अनुसार है जिसका लक्ष्य हरियाणा के युवाओं को बेहतर आजीविका के अवसर प्रदान करना है।

रोजगार पाने में मिलेगी मदद

कैब एग्रीगेटर कंपनी ओला ने अपने बयान में बताया है कि कंपनी ने पिछले साल जुलाई में हरियाणा सरकार के रोजगार विभाग के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किये थे, ताकि 'सक्षम सारथी' कार्यक्रम के तहत राज्य में आजीविका के 35,000 अवसर निर्मित किये जा सकें।

दिखाने होंगे ये कागजात
अगर आपको भी इस मेले का लाभ उठाना है तो आपको अपने वाहन की आरसी, परमिट प्रमाण पत्र, फिटनेस प्रमाण पत्र, इंश्योरेंस, पीयूसी प्रमाण पत्र, ड्राइवर/ऑपरेटर डॉक्यूमेंट, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, आधार कार्ड, बैंक अकाउंट डिटेल के लिए पासबुक या कैंसल चेक लेकर आना होगा।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/if-you-have-two-wheeler-you-can-earn-25000-per-month-3967547/

17 साल की मां ने दिया था जन्म, पत्नी के लिए धोए बर्तन, एेसे खड़ा किया 10 लाख करोड़ का सम्राज्य


नर्इ दिल्ली। अाज यानी 12 जनवरी को दुनिया के सबसे बड़े अमीर जेफ बेजोस का जन्मदिन है। अमेजन के संस्थापक व CEO जेफ बेजोस ने हाल ही में अपनी पत्नी मैकेंजी से तलाक लेने की घोषणा किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तलाक के बाद बेजोस की अाधी संपत्ति उनकी पत्नी के पास चला जाएगा। तलाक की खबरों के बाद ही बीते दिनों बेजोस आैर न्यूज एंकर लाॅरेन संशेज की अफेयर की खबरे भी आने लगी हैं। बेजोस की जिंदगी में हालिया मसलों को छोड़ उनके बारे में बात करें तो उनको एक बात बेहद ही अच्छे से पता है कि उनकी यह कंपनी हमेशा के लिए नहीं रहेगी। हाल ही में एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि मुझे पता है कि चीजें आती है आैर जाती है। उन्हें ये बात अच्छे से पता है कि हर चीज की अपनी एक्सपायरी डेट है। आज धरती के सबसे बड़े धनकुबेर के जन्मदिन पर उनके बारे में हम कुछ दिलचस्प बातें आपको बताना जा रहे हैं। साथ में हम यह भी जानेंगे कि जेफ बेजोस ने अाखिर कैसे इतना बड़ा सम्राज्य खड़ा किया।


किशोर मां से जन्में थे जेफ बेजोस

जेफ बेजोस काे एक किशोर मां ने जन्म दिया था। कर्इ इंटरव्यू में जेफ बेजोस ने अपनी का शुक्रिया अदा किया है। वो अपनी मां से हमेशा इस बात के लिए शुक्रगुजार रहे कि उन्होंने बेजोस को सबसे बेहतर जीवन प्रदान किया। बेजोस ने एक बार कहा था कि उनकी मां ने सौतेल पिता से तब शादी की थी जब वो 4 साल के थे। मां के इस एक फैसले ने उनका पूरा जीवन बदल कर रख दिया।


1996 में शुरू की थी कंपनी

अमेजन की स्थापना करने से पहले जेफ बेजोस अपना समय वाॅल स्ट्रीट पर बिताते थे। यहीं से बिजनेस को लेकर उनकी रुचि बढ़ती गर्इ आैर वो बस खुद का बिजनेस खोलना चाहते थे। आप जानकर चौंक जाएंगे कि अमेजन का आइडिया उन्हें न्यू याॅर्क से सीटल के एक रोड ट्रिप के दौरान आया था। आज बेजोस को दुनिया में कम से कम एक बात की चिंता तो कभी नहीं करनी होगी, वौ है पैसे की। एक अाॅनलाइन बुक स्टोर के तौर पर शुरू हुर्इ अमेजन अपने आप में एक सम्राज्य है। साल 1996 में जब ये सब शुरू हुआ तब उनकी पत्नी आैर अन्य लाेग जिन्हें कंप्यूटर के बारे में जानकारी थी, आॅर्डर फाइल करने में उनकी मदद करते थे। जेफ बेजोस खुद पैकेज को पोस्ट आॅफिस तक ले जाते थे। आज अपनी कंपनी को इस मुकाम पर पहुंचाने के बाद बेजोस का कहना है कि जीवन में उनका केवल एक ही उद्देश्य रहा है। वो उद्देश्य है कि जल्द से जल्द अाप बड़े बने। इसके लिए उन्होंने दिन-रात एक कर दिया था।


ग्राहकों के रिव्यू के आधार पर फैलाया अपना बिजनेस

जेफ बेजोस को आज दुनिया के सबसे बड़े अरबपति बनाने में सबसे बड़ा याेगदान उनके ग्राहकों का है। जब वो किताबों के अलावा म्युजिक व वीडियाे की सेल भी शुरू करना चाहते थे तो उन्होंने अपने 1,000 ग्राहकों को एक र्इ-मेल भेजा था। इस र्इ-मेल में बेजाेस ने उनसे पूछा था कि किताबों के अलावा उन्हें आैर क्या पसंद है। तब एक महिला ग्राहक ने उन्हें रिप्लार्इ में कहा कि वा चाहती हैं कि अमेजन से वो वाइपर्स खरीद सकें। इस एक आइडिया के बाद नए अमेजन का जन्म हुआ। जेफ बेजोस को इससे एक बात साफ पता चल चुका था कि ग्राहक अपनी सुविधा चाहते हैं आैर वो इसके लिए खर्च करने को तैयार हैं। लोग समय से अपने सामान की डिलिवरी चाहते हैं।


दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है अमेजन

हालांकि अमेजन के बढ़ते सम्राज्य के साथ उनके रास्ते में कर्इ तरह के रोड़े आए लेकिन वो अपने लक्ष्य से भटके नहीं। उन्हें इस बात की उम्मीद है कि उनकी कंपनी प्रतिस्पर्धियों की तुलना में अपने ग्राहकों के लिए हमेशा आगे रहे। उनकी इसी आशावादी विचारधारा व उद्देश्यन ने आज दुनिया के सबसे सफल शख्स के रूप में ला खड़ा किया है। अमेजन आज एक वैश्विक कंपनी अौर हर घर में इसका नाम है। ये दुनिया की उन कंपननियों में से एक है जिसपर ग्राहकों को पूरा भरोसा रहता है। कंपनी अपने ग्राहकों को जल्द से जल्द डिलिवरी, बेहतरीन कीमत आैर जरूरत पड़ने पर आसान रिटर्न की सुविधा के लिए जानी जाती है। जेफ बेजोस ने अपने इस सम्राज्य को विश्वास व भरोसे पर खड़ा किया है। उन्होंने जरूरत पड़ने पर लंबी छलांग लगार्इ, एेसे लोगों के साथ रहे जो उन्हें हमेशा प्रोत्साहित करते हैं।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/jeff-bezos-birthday-special-journey-of-becoming-worlds-billionaire-3967200/

जायदाद के बाद विजय माल्या की इस कीमती चीज पर ED की नजर, जानिए कैसे कंगाल होगा ये शराब कारोबारी


नई दिल्ली। बीते दिनों शराब कारोबारी विजय माल्या को आर्थिक भगोड़ा करार दिया गया था। अब प्रवर्तन निदेशालय (ED) प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) के आदेश का इंतजार कर रहा है ताकि वो विजय माल्या की इक्विटी होल्डिंग्स की नीलामी कर सके और ज्यादा से ज्यादा पैसा वापस ले सके।


कर्ज से 200 करोड़ रुपए ज्यादा हैं शेयर्स के दाम

माल्या के शेयर्स का दाम 11,000 करोड़ रुपए है, जो उनके कर्ज से 200 करोड़ रुपए अतिरिक्त है। इस बीच शेयर के दामों में गिरावट की भी उम्मीद जताई जा रही है, जिससे शेयर्स के दाम 11,000 करोड़ रुपए से नीचे आ जाएंगे। ईडी का कहना है कि इससे पहले की शेयर में गिरावट हो, वो उन्हें बेचना चाहते हैं। लेकिन ऐसा सिर्फ तभी हो सकता है जब PMLA कोर्ट शेयर बेचने का आदेश दे क्योंकि माल्या को एक नहीं बल्कि कई पार्टियों को पैसा देना है, जिसमें उनकी सौतेली मां और कर्नाटक की सरकार भी शामिल है। माल्या के शेयर्स की बिक्री का पैसा किसे मिलना है इसका फैसला PMLA कोर्ट अगले महीने यानी फरवरी में लेगी। एक अधिकारी का कहना है कि इसके लिए एक कमिटी का गठन भी किया जाएगा।


UK गृह सचिव के फैसले का माल्या कर रहे इंतजार

इससे पहले माल्या की सौतेली मां ऋतु माल्या ने कहा था कि ईडी ने उनकी दो कंपनियों के 17 फीसदी शेयर भी गलती से अटैच कर दिए थे। बता दें 2017 में कर्नाटक की सिंगल बेंच ने ऋतु माल्या को United Breweries Holdings Ltd (UBHL) की लिक्युडेटर नियुक्त किया था। 11,000 करोड़ रुपए के शेयर्स के अतिरिक्त ईडी ने मालया का मुंबई, नई दिल्ली, तमिल नाडु और बैंगलुरू स्थित बंग्लो भी अटैच किया है। बैंगलुरू की संपत्ति में 1,000 करोड़ रुपए का किंग्फिशर टावर फ्लैट्स और 713 करोड़ रुपए की एक अन्य संपत्ति शामिल है। माल्या यूके गृह सचिव की ओर से 9 फरवरी को आने वाले प्रत्यर्पण के फैसले का इंतजार कर रहे हैं। अगर उनके प्रत्यर्पण को मंजूरी नहीं मिलती तो भारत सरकार लंदन हाई कोर्ट में अपील करेगी।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/ed-after-vijay-mallya-property-now-going-to-take-big-step-3966939/

एयरसेल-मैक्सिस विवाद के बाद NSE के चेयरमैन अशोक चावला ने दिया इस्तीफा


नई दिल्ली। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसर्इ) के चेयरमैन अशोक चावला ने शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। एक्सचेंज ने इसके बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि हाल के दिनों में कुछ कानूनी मसलों को ध्यान में रखते हुए चावला ने अपने पद से इस्तीफा दिया है। एक वाक्य प्रेस रिलीज में इसके बारे में कोइ विस्तृत जानकारी नहीं दी गर्इ है। अशोक चावला का यह इस्तीफा ठीक उसी दिन आया है जिस दिन केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने दिल्ली के विशेष अदालत को बताया कि उसने कुछ फाइलों को लेकर मंत्रालय से रोक लगाने की अनुमति ले ली है। यह मामला एयरसेल मैक्सिस डील से जुड़ा हुआ है जिसमें अशोक चावला का भी नाम है।


अक्टूबर माह में सेबी ने इस्तीफे का किया था इशारा

इसके पहले भी मीडिया रिपोर्ट्रस में कयास लगाए जा रहे थे कि एयरसेल—मैक्सिस केस के जांच के दौरान चावला को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ सकता है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने कहा है कि अब इस पद के लिए फिट नहीं है। सेबी के स्टॉक एक्सचेंज व कॉर्पोरेशन नियमों के तहत कोई भी व्यक्ति जिसपर नैतिक अक्षमता या आर्थिक आरोप लगे हों, वो स्टॉक एक्सचेंज का नेतृत्व नहीं कर सकता है। अक्टूबर माह में ही सेबी ने चावला के चेयरमैनशिप की जांच शुरू कर दी थी। सेबी ने यह जांच चावला के खिलाफ लगे दो शिकायतों के बाद की थी जिसमें सीबीआई जांच कर रही थी। शुरुआती जांच के बाद सेबी ने वित्त मंत्रालय को कहा था कि यदि चावला पर आरोपों को लेकर चार्जेज लगते हैं तो उन्हें चेयरमैन पद के लिए फिट करार नहीं दिया जाएगा।


विशेष अदालत ने पी चिदंबरम आैर उनके बेटे की अंतरिम सुरक्षा की अवधिक बढ़ार्इ

इस विशेष अदालत ने एयरसेल—मैक्सिस केस में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम की अंतरिम सुरक्षा की अवधि 1 फरवरी तक बढ़ा दी है। इस मामले में पांच वरिष्ठ अधिकारियों पर आरोप लगे हैं जिनमें से एक अशोक चावला भी हैं। यह मामला विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (FIPB) में भ्रष्टाचार एवं वित्तीय अनियमितता का है। इस मामले में सीबीआई जांच कर रही है कि पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने विदेशी फर्म्स को कैसे FIPB अप्रुवल दिया था क्योंकि इसके लिए वित्तीय मामलों के कैबिनेट कमेटी के पास ही अधिकार था। गत 19 जुलाई को सीबीआई ने 18 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दायर किया था।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/nse-chairman-ashok-chawla-resign-due-to-probe-in-aircel-maxis-case-3966236/

एयरसेल-मैक्सिस केस: पी चिदंबरम व कार्ति चिदंबरम की अंतरिम सुरक्षा 1 फरवरी तक बढ़ी


नर्इ दिल्ली। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने एयरसेल-मैक्सिस केस को 1 फरवरी 2019 तक के लिए टाल दिया है। साथ में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआर्इ) आैर प्रवर्तन निदेशालय (र्इडी) मामले को लेकर कोर्ट ने पी चिदंबरम आैर उनके बेटे कार्ति चिदंबरम की अंतरिम सुरक्षा की अवधि भी 1 फरवरी 2019 तक के लिए बढ़ा दी है। इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने ही पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम आैर उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को गिरफ्तारी से दी गर्इ अंतरिम छूट को 11 जनवरी तक बढ़ाया था।

दोनों ने अपने उपर लगे आरोपों को किया है खारिज

आपको बता दें कि यह मामला एयरसेल आैर मैक्सिस सौदे के दौरान विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआर्इपीबी) को लेकर की गर्इ कथित अनियमितताआें का है। इस केस में अब तक 18 लोगों पर आरोप लग चुके हैं। चिदंबरम के अतिरिक्त, पांच अधिकारियों पर भी यह केस चल रहा है। दोनों जांच एजेंसियों द्वारा लगाए गए आराेपों को बेटे व पिता ने खारिज कर दिया है। एजेंसियों ने कहा है कि दोनों जांच में मदद नहीं कर रहे हैं। कार्ति व पी चिदंबरम ने कहा है कि उनपर लगे आरोप निराधार हैं आैर इसके लिए कस्टडी में किसी तरह की जांच जरूरत नहीं है।


600 की जगह 3500 करोड़ रुपए की दी थी मंजूरी

सीबीआर्इ ने 26 नवंबर को कोर्ट को जानकारी दिया था कि केंद्र ने पी चिदंबरम के खिलाफ केस चलाने की अनुमति दे दी है। आर्इएनएक्स केस में कार्ति का भी नाम सामने आया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बेटे के माध्यम से पी चिदंबरम ने यह डील की थी। नियमों के मुताबिक वह 600 करोड़ रुपए के निवेश को अपने स्तर पर मंजूरी दे सकते थे। लेकिन उनके उपर आरोप है कि उन्होंने 3500 करोड़ रुपए की मंजूरी दी थी।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/patiala-court-extends-interim-protection-till-feb-1-of-p-chidambaram-3963006/

दुनिया के सबसे अमीर बेजोस दंपत्ति का तलाक करवाने में इस महिला का है बड़ा हाथ, नाम जानकर आपके भी उड़ जाएंगे होश


नर्इ दिल्ली। दुनियाभर में यह बात फैल चुकी है कि जेफ बेजोस आैर उनकी पत्नी मैकेंजी बेजोस तलाक लेने जा रहे हैं। दोनों ने ट्वीट कर घोषणा की है। लेकिन पिछले दो दिनों से यह चर्चा आम है कि दोनों में सब कुछ सामान्य होने के बाद भी तलाक क्यों लिया जा रहा है। अब इस बात का खुलासा हुआ है कि दाेनों के बीच तलाक क्यों हो रहा है? वास्तव में इस तलाक के पीछे 'वो' का हाथ है। वास्तव में इस वो से जेफ बेजोस का प्रेम संबंध चल रहा है। जिसके कारण जेफ आैर मैकेंजी तलाक ले रहे हैं। 'वो' बेजाेस के करीबी दोस्त की पत्नी हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि इस 'वो' का नाम क्या है? साथ ही 'वो' क्या काम करती है?

'वो' की गिरफ्त में बेजोस
दुनिया में अधिकतर शादियां पति-पत्नी के बीच 'वो' के आने से टूट जाती है। जेफ बेजोस आैर मैकेंजी की 25 साल पुरानी शादी टूटने की वजह भी वो ही है। द इंक्वायरर और न्यू यॉर्क पोस्ट की रिपोर्ट्स के अनुसार बेजॉस अभी हॉलीवुड के टैलेंट एजेंट और उनके दोस्त पैट्रिक वाइटसेल की पत्नी लॉरेन सांचेज के इश्क में हैं। सांचेज टीवी एंकर रह चुकी हैं। वह हेलिकॉप्टर की पायलट भी हैं। सांचेज और वाइटसेल पहले से ही अलग हो चुके हैं। खास बात यह है कि मैकेंजी को पता था कि तलाक से पहले उनसे अलग रहने के दौरान उनके पति सांचेज के साथ डेटिंग कर रहे थे।

जेफ की बायोग्राफी में हैं कर्इ बातों का जिक्र
बेजॉस की बायोग्राफी का रिव्यू करते हुए मैकेंजी ने लिखा है, 'उन्होंने (बेजॉस) जब बिजनेस प्लान बनाया था, तब मैं उनके साथ थी। अमेजन के शुरुआती वर्षों में मैंने उनके और कई दूसरे लोगों के साथ कन्वर्टेड गराज, बेसमेंट वेयरहाउस, बार्बेक्यू की गंध से भरे ऑफिसों और क्रिसमस के भीड़-भड़क्के वाले डिस्ट्रीब्यूशन सेंटरों में काम किया था। बाद के दिनों में कंपनी में उनकी मौजूदगी कम होती गई। बेजॉस के करीबियों के मुताबिक, बेजॉस के मशहूर हो जाने के बाद मैकेंजी ने अपनी प्राइवेसी बनाए रखी।

1993 में हुई थी जेफ और मैकेंजी की शादी
अापको बता दें कि बेजॉस और मैकेंजी की मुलाकात न्यूयॉर्क के हेज फंड डी ई शॉ में हुई थी। वहां एक पद के लिए मैकेंजी का पहला इंटरव्यू बेजॉस ने ही लिया था। फिर वहीं दोनों अगल-बगल के ऑफिसों में काम करने लगे। 1993 में उन्होंने शादी की और फिर सालभर बाद सिएटल में बेजॉस ने अमेजन की शुरुआत की। बेजॉस-मैकेंजी के चार बच्चे हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/jeff-bezos-s-girlfriend-lauren-sanchez-is-biggest-reason-for-divorce-3961254/

पबजी खेलने वालों के लिए अच्छी खबर, जीतने वाले को मिलेगा 1 करोड़ रुपए का कैश


नई दिल्ली। पिछले कुछ ही महीनों में भारत में लोगों के दिलों में पबजी मोबाइल गेम ने एक अलग जगह बनार्इ है। लोगों को यह गेम इतना पसंद आ रहा है कि वो घंटों इस गेम को खेल रहे हैं। साथ अपने दोस्तों को भी इस गेम के बारे में बता रहे हैं। अब गेम को पसंद करने वालों के लिए अच्छी खबर यह है कि कंपनी ने गेम को जीतने वाले को एक करोड़ रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। जी हां, आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर एक करोड़ रुपए का यह इनाम कैसे जीता जा सकता है…

एेसे जीत सकते हैं एक करोड़ रुपए
मोबाइल गेम पबजी मोबाइल ने अपने लांच के बाद से शानदार कामयाबी हासिल की है और अब तक इसके 20 करोड़ से ज्यादा डाउनलोड हो चुके हैं। इसकी निर्माता टेन्सेंट गेम्स और पबजी कापोर्रेशन ने ओपो पबजी मोबाइल इंडिया सीरीज 2019 की घोषणा की हैं, जो कि भारत में आयोजित होने वाला पहला आधिकारिक ओपन-टू-ऑल टूर्नामेंट होगा। इस सीरीज के विजेता को 1 करोड़ रुपये की ईनामी राशि दी जाएगी।

आेपो फोन जीतने का भी मौका
कंपनी ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि यह देश में ई-स्पोर्ट के लिए एक टिकाऊ पारिस्थितिकी तंत्र तैयार करने की दिशा में प्रतिबद्धता जाहिर करने वाला ठोस कदम है। इस टूर्नामेंट में भाग लेकर 1 करोड़ रुपये की शानदार पुरस्कार राशि के अलावा ओपो द्वारा प्रायोजित फोन भी जीते जा सकते हैं।

30 शहरों से 2,50,000 रजिस्ट्रेशन
बयान में कहा गया कि कंपनी ने पिछले साल अक्टूबर में पहले आधिकारिक पबजी मोबाइल कैंपस चैंपियनशिप का आयोजन किया था, जिसे जबर्दस्त रिस्पॉन्स मिला था। इस टूर्नामेंट के लिए 30 शहरों के 1000 से अधिक कॉलेजों से तीन सप्ताह के भीतर 2,50,000 से अधिक रजिस्ट्रेशन मिले हैं। अगर आपने अभी तक इस कांप्टीशन के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है तो अभी करा लीजिए। वर्ना बाद में हाथ मलने के अलावा कुछ नहीं रह जाएगा।

एेसे करें रजिस्ट्रेशन
- टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए प्लेयर्स को पबजी मोबाइल इंडिया सीरीज के पेज पर जाकर रजिस्टर करना होगा।
- यहां प्लेयर्स को एक स्क्वैड आईडी मिलेगी जिसके जरिए वह किसी टीम के साथ जुड़ सकते हैं या अपनी टीम बनाने के लिए दूसरे प्लेयर्स को इनवाइट कर सकते हैं।
- टूर्नामेंट में प्लेयर्स को फाइनल खेलने से पहले दो क्वालिफाइंग राउंड को क्लियर करना होगा।
- सभी गेम्स को एशिया सर्वर रीजन में आयोजित किया जाएगा।

यह हैं टूर्नामेंट की तारीखें
- गेम का पहले क्वालिफाइंग राउंड 21 से 27 जनवरी के बीच आयोजित किया जाएगा जिसमें प्लेयर्स को एरैंगल मैप में अपनी टीम के साथ 15 क्लासिक राउंड्स खेलने होंगे।
- दूसरे राउंड का आयोजन 16 से 19 फरवरी के बीच के आयोजित किया जाएगा जिसमें पहले राउंड के टॉप के 400 स्क्वैड्स को 20 अलग अलग स्लॉट्स में बांटा जाएगा।
- तीसरे राउंड का आयोजन 21 से 24 फरवरी के बीच किया जाएगा जिसमें 80 स्क्वैड को 20 स्क्वैड के ग्रुप में बांट दिया जाएगा।
- इस टूर्नामेंट का फाइनल मार्च में आयोजित किया जाएगा चिकन डिनर के लिए टॉप की 20 टीमों के बीच कॉम्पिटिशन होगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/winner-of-pubg-mobile-india-2019-will-get-rs-1-crore-3960729/

निसान धोखाधड़ी मामले में कार्लोस घोशन से पूछताछ रद्द, बीमारी की वजह से लिया गया फैसला


नर्इ दिल्ली। धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार निसान मोटर के पूर्व चेयरमैन कार्लोस घोश्न के बीमार होने के कारण उनसे पूछताछ रद्द कर दी गई। घोश्न 19 नवंबर से हिरासत में हैं। समाचार एजेंसी 'एफे' को उनके कानूनी सलाकार टीम ने बताया कि घोश्न को बुधवार की रात से काफी बुखार है और चिकित्सकों ने उनको आराम करने की सलाह दी है।


गिरफ्तारी के बाद से ही पूछताछ जारी

उनके निसान के प्रमुख रहते हुए कथित तौर पर हुई वित्तीय अनियमितताओं के बारे में अधिक से अधिक साक्ष्य जुटाने की कोशिश में जुटे अभियोजक गिरफ्तारी के बाद से ही उनसे पूछताछ कर रहे हैं। अदालत ने बुधवार को घोश्न के वकीलों द्वारा उनकी हिरासत खत्म करने की मांग ठुकरा दी। उनको मंगलवार को पहली बार न्यायाधीश के समक्ष पेश किया गया था, जहां उन्होंने खुद को निर्दोष बताया।


क्या है घोश्न पर आरोप

घोश्न पर आरोप है कि 2008 के वित्तीय संकट में निसान की लेखाबही में उन्होंने अपने व्यक्तिगत निवेश के नुकसान को दर्ज कर दिया था, हालांकि उनके वकीलों का कहना है कि उनके इस कार्य को कंपनी प्रबंधन की मंजूरी मिल चुकी है। उनकी हिरासत की अवधि शुक्रवार तक बढ़ा दी गई है। अभियोजक हिरासत की अवधि आगे बढ़ाने की कोशिश में नए आरोप लगा सकते हैं।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/interrogation-with-nissan-ex-chairman-carlos-ghosn-cancelled-3959173/

लगातार दूसरे साल भी सर्वाधिक कमार्इ करने वाले सेलिब्रिटी बनें विराट कोहली, ये है पूरी लिस्ट


नर्इ दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली लगातार दूसरे साल भी भारत के सबसे महंगे सेलिब्रिट एंडोर्सर बन गए हैं। डफ एंड फेल्प्स वैलुएशन रिपोर्ट में विराट को भारत के टाॅप सेलिब्रिटी एंडोर्सर्स की लिस्ट में पहला पायदान मिला है। विराट कोहली की कुल ब्रांड वैल्यू 170 मिलियन डाॅलर (करीब 1205 करोड़ रुपए) का है। वर्तमान में विराट कोहली 24 बड़े ब्रांड्स के अंबेसडर हैं। हाल ही में उन्होंने र्इ-काॅमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट के साथ नर्इ डील साइन की है। बताते चलें कि बेवरेज कंपनी पेप्सी के साथ अपने करार को खत्म करते हुए उन्होंने कहा था कि वो केवल सेहतमंदी उत्पाद वाली कंपनियों को ही एंडोर्स करेंगे।


दीपिका पादुकोण दूसरी सबसे महंगी सेलिब्रिटी

बाॅलीवुड अदाकारा दीपिका पादुकोण ने भी कुछ इन्हीं कारणों से कोका-कोला से अपना चार साल पुराने करार को खत्म कर दिया है। इसकी जगह उन्होंने टेटली ग्रीन टी को चुना है। 'पद्मावत' फिल्म के बाद से ही सफलता की नांव पर सवार दीपिका पादुकोण इस लिस्ट में दूसरे पायदान पर हैं। साल 2018 में शाहरूख खान को इस लिस्ट में दूसरे पायदान से खिसकर पांचवे पायदान पर आ गए हैं। 102 मिलियन डाॅलर (करीब 723 करोड़ रुपए) की ब्रांड वैल्यू के साथ दीपिका कुल 21 ब्रांड्स की अंबेसडर हैं।


शाहरूख खान को झटका

साल 2017 की तुलना में साल 2018 में अक्षय कुमार को इस लिस्ट में एक पायदान का फायदा हुआ है। 2018 में 67.3 मिलियन डाॅलर (करीब 475 करोड़ रुपए) के साथ अक्षय कुमार तीसरे पायदान पर हैं। इस साल अक्षय कुमार कर्इ नए ब्रांड्स के साथ जुड़े हैं। साल 2018 में केवल एक फिल्म करने वाले शाहरूख खान पांचवे स्थान पर फिसल गए हैं। 2017 के मुकाबले शाहरूख खान के ब्रांड वैल्यू में 43 फीसदी की गिरावट आर्इ जिसके बाद अब उनकी ब्रांड वैल्यु 61 मिलियन डाॅलर (करीब 428 करोड़ रुपए) रह गर्इ है। उनके पास फिलहाल 13 ब्रांड्स का ही एंडाॅर्समेंट है। रणवीर सिंह को इस साल चौथा स्थान मिला है। रणवीर सिंह की कुल ब्रांड वैल्यु 63 मिलियन डाॅलर (करीब 444 करोड़ रुपए) है।


बाॅलीवुड के बाद स्पोर्ट्स का दबदबा

साल 2018 में टाॅप 20 सेलिब्रिटीज का कुल ब्रांड वैल्यू 877 मिलियन डाॅलर (करीब 62 हजार करोड़ रुपए) है जिसमें सबसे अधिक वर्चस्व फिल्मी सितारों का है। उनके बाद इस लिस्ट में स्पोर्ट्सपर्सन आैर टीवी कलाकारों का नाम है। इस लिस्ट में केवल स्पोर्ट्सपर्सन्स की बात करें तो इसमें विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर, एम एम धोनी, आैर पीवी सिंधु को मिलाकर कुल ब्रांड वैल्यू 241 मिलियन डाॅलर (करीब 1700 करोड़ रुपए) है।


ये हैं इस साल के टाॅप 10 महंगे सेलिब्रिटी एंडोर्सर

1. विराट कोहली - 1205 करोड़ रुपए
2. दीपिका पादुकोण - 723 करोड़ रुपए
3. अक्षय कुमार - 475 करोड़ रुपए
4. रणवीर सिंह - 444 करोड़ रुपए
5. शाहरुख खान - 428 करोड़ रुपए
6. सलमान खान - 393 करोड़ रुपए
7. अमिताभ बच्चन - 290 करोड़ रुपए
8. आलिया भट्ट - 254 करोड़ रुपए
9. वरुण धवन - 223 करोड़ रुपए
10. ऋतिक रोशन - 218 करोड़ रुप

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/virat-kohli-highest-paid-celebrity-endorsers-here-is-the-full-list-3958369/

रेमंड ग्रुप के चेयरमैन पद से हटेंगे गौतम सिंघानिया, कहा- मुझपर अन्य जिम्मेदारियों का बोझ


नर्इ दिल्ली। रेमंड ग्रुप के प्रोमोटर व चेयरमैन गौतम सिंघानिया ने कहा है कि वह सभी ग्रुप कंपनियों के चेयरमैन पद से हटेंगे। उनका कहना है कि वह कंपनी के कार्यप्रणाली से पूूरी तरह से अलग होना चाहते हैं जिसमें प्रतिस्पर्धात्मक व स्वतंत्र रूप से काम करने की क्षमता है। उन्होंने कहा कि मैं पहले ही कंपनी की एफएमसीजी र्इकार्इ आैर रेमंड अपैरल के चेयरमैन पद से हट चुका हूं। अब उन्हें कंपनी की इंजीनियरिंग र्इकार्इ - जेके फाइल्स अौर रिंग प्लस एक्वा के चेयरमैन पद से हटना है। इसके लिए वह पहले से ही नए चेयरमैन की तलाश में है।


कहा- मुझपर कर्इ अन्य जिम्मेदारियां

गौतम सिंघानिया ने कहा, "मुझे नहीं पता की मैं कितने लंबे समय के लिए रेमंड लिमिटेड का चेयरमैन रहूंगा। मेरे दिमाग में कुछ बात है जिसे मैं अभी साझा नहीं करना चाहूंगा। मैं ग्रुप की सभी कंपनियों का चेयरमैन नहीं हूं।" सिंघानिया ने कहा कि वो प्रत्येक कंपनी के लिए स्वंतत्र गवर्नेंस का इंतजाम कर रहे हैं जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि प्रोमोटर परिवार कंपनी की दैनिक कार्यप्रणाली से बिल्कुल अलग रहे। 53 वर्षीय गौतम सिंघानिया ने कहा, "यदि किसी कारणवश कल मैं दुनिया में नहीं रहा तो स्वतंत्र लोग सभी चीजों की जिम्मेदारी ले सकें। रेमंड प्रतिस्पर्धात्मक आैर स्वतंत्र रूप से काम कर सकता है। मेरे बच्चे अभी बहुत छोटे हैं आैर मुझपर पत्नी, बच्चे से लेकर कर्मचारियों आैर शेयरहोल्डर्स, बैंक तक की जिम्मेदारी है।"


एफएमसीजी व्यापार के चेयरमैन पद से दिया था इस्तीफा

उन्होंने कहा कि अब वो रणनीति के साथ-साथ नए प्रोडक्ट डेवलपमेंट, बजट टार्गेट आैर पब्लिक रिलेशन पर ध्यान देंगे। एफएमसीजी व्यापार में राजीव बख्शी चेयरमैन हैं आैर सिंघानिया निदेशक हैं। उनके अतिरिक्त तीन अतिरिक्त निदेशक भी हैं। हाल ही में गौतम सिंघानिया रेमंड अपैरल के चेयरमैन पद से हटे थे जिसके बाद निर्विक सिंह ने पदभार संभाला था।


पिता के साथ विवाद को लेकर क्या बोले गौतम सिंघानिया

अपने पिता विजयपत सिंघानिया से विवाद को लेकर उन्होंने कहा कि उनके पिता के पास सैकड़ों करोड़ रुपए हैं आैर यदि वह किसी के मदद मांगते हैं तो कोर्इ भी उनकी मदद कर सकता है। पिछले साल अक्टूबर माह में ही विजयपत सिंघानिया को रेमंड ग्रुप के चेयरमैन एमेरिटस पोस्ट से हटाया गया था। विजयपत सिंघानिया ने बेटे पर आरोप लगाया है कि उनके द्वारा गौतम सिंघानिया को उपहार में 1 हजार करोड़ रुपए के 37 फीसदी स्टेक देने के बाद भी उन्हें दक्षिण मुंबर्इ के जेके हाउस में डुपलेक्स घर नहीं दिया गया।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/gautam-singhania-to-exit-from-chairman-post-all-raymond-group-3957330/

इस अरबपति कारोबारी ने पहले बाप को घर से निकाला, अब डर के मारे वापस बुलाने को हुए राजी


नई दिल्ली। रेमंड ग्रुप के चेयरमैन गौतम सिंघानिया का लंबे समय से अपने पिता विजयपत सिंघानिया के साथ विवाद चल रहा है। विवाद के चलते सुर्खियों में रहने वाले गौतम सिंघानिया अपने पिता से डरे हुए नजर आ रहे हैं। गौतम सिंघानिया अब अपने पिता के साथ बैठकर विभिन्न मुद्दों पर बात करने को तैयार हैं। इतना ही नहीं गौतम ने अपने पिता को परिवार के साथ रहने का प्रस्ताव भी दिया है।


पिता के किताब लिखने से सहमे गौतम

इस संदर्भ में गौतम सिंघानिया ने कहा कि, 'मेरे पिता एक किताब लिख रहे हैं और मुझे अच्छे से पता है कि यह मेरे खिलाफ होगी और इसमें 95 फीसदी से अधिक उनकी कोरी कल्पना होगी।' गौतम ने कहा, 'अगर उन्हें (पिता विजयपत सिंघानिया को) कोई समस्या है तो हम बैठकर इस पर चर्चा कर सकते हैं। उन्हें किताब लिखने की क्या आन पड़ी? अगर उन्हें कोई दिक्कत नहीं है तो मैं उनके साथ बैठकर मुद्दों पर बात करने को तैयार हूं। ईश्वर ने मुझे जरूरत से ज्यादा ही दिया है। मेरा किसी से कोई विवाद नहीं है, लेकिन मुझे ऐसा कुछ करने को मत कहिए जो मेरे लिए संभव नहीं हो।'


क्या है पूरा मामला ?

दरअसल मुंबई के एक सिविल कोर्ट ने विजयपत सिंघानिया की आत्मकथा 'द कंप्लीट मैन' पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद गौतम सिंघानिया ने ये बात कही। साल 2015 में विजयपत 90 वर्ष पुरानी कंपनी रेमंड के चेयरमैन पद से हट गए थे। विजयपत ने अपने बेटे को उत्तराधिकार सौंप कर कंपनी की पूरी हिस्सेदारी भी उनके नाम कर दी थी, जिसके बाद से सिंघानिया परिवार में संघर्ष शुरू हो गया। विजयपत ने आरोप लगाया है कि उनसे रेमंड के अवकाश प्राप्त चेयरैमन की उपाधि भी छीन ली गई है और फ्लैट से भी निकाल दिया गया है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/latest-corporate-news/this-crorepati-businessman-is-scared-and-will-bring-back-his-father-3956481/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Haryana Jobs / Opportunities / Career
Bank Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Rajasthan Jobs / Opportunities / Career
Scholorship Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
Railway Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Gujarat Jobs / Opportunities / Career
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Bihar Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Punjab Jobs / Opportunities / Career
Admission Jobs / Opportunities / Career
Jammu and Kashmir Jobs / Opportunities / Career
Madhya Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Bihar
State Government Schemes
Study Material
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Syllabus
Festival
Business
Wallpaper
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com