Patrika : Leading Hindi News Portal - Football #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Football

http://api.patrika.com/rss/football-news 👁 158

Football : भारतीय कोच कांस्टेनटाइन के बाद सेंटर बैक अनस ने लिया संन्यास


नई दिल्ली। केरला ब्लास्टर्स और भारत के सेंटर बैक अनस इदाथोदिका ने मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल से संन्यास की घोषणा कर दी। गोल डॉट कॉम के मुताबिक 31 साल के अनस ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपना फैसला जगजाहिर किया। अनस ने इंस्टाग्राम और ट्विटर पर जारी अपने संदेश में कहा कि वह युवाओं को मौका देना चाहते हैं और इसी कारण यह फैसला ले रहे हैं।

सोशल मीडिया पर दिया भावुक संदेश -
अनस ने अपने संदेश में कहा, "भरे हुए मन से मैं अंतर्राष्ट्रीय फुटबाल से संन्यास ले रहा हूं। मेरे लिए यह काफी कठिन फैसला है। मैं कुछ और साल खेलना चाहता था लेकिन अब युवाओं को मौका देने के लिए यह मेरे लिए संन्यास का सबसे माकूल वक्त है। राष्ट्रीय टीम में आने के लिए मुझे 11 साल तक इंतजार करना पड़ा और यह मेरे करियर का सबसे महान पल था। हालांकि मेरा सफर छोटा था लेकिन इस दौरान मैंने टीम के लिए अपना 100 फीसदी देने का प्रयास किया।"

 

भारत के लिए कुल 19 मैच खेले -
अनस संयुक्त अरब अमीरात में जारी एएफसी एशियन कप में खेलने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे। भारतीय टीम ग्रुप स्तर से ही बाहर हो गई। केरल में फुटबाल का गढ़ कहे जाने वाले मल्लापुरम में जन्में अनस ने भारत के लिए कुल 19 मैच खेले। अनस ने सभी मैच स्टीफेन कांस्टेनटाइन की देखरेख में खेले। कांस्टेनटाइन ने भी भारत की असमय हार के बाद अपने पद से इस्तीफे दे दिया। भारतीय फुटबाल महासंघ ने कांस्टेनटाइन का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

संदेश झिंगन के साथ डिफेंस में शानदार जोड़ी बनाई -
अनस ने भारतीय टीम में संदेश झिंगन के साथ डिफेंस में शानदार जोड़ी बनाई और जल्द ही कांस्टेनटाइन की पहली पसंद बन गए। अनस अपने पूरे करियर के दौरान चोट से परेशान रहे। अनस ने हालांकि कहा कि वह क्लब फुटबाल खेलते रहेंगे क्योंकि फुटबाल से उन्हें असीम प्यार है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/indian-football-team-center-back-anas-edathodika-announces-retirement-3987455/

Asia Cup Football : बेहरीन से हारने के बाद भारतीय फुटबाल टीम के मुख्य कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने दिया इस्तीफा


नई दिल्ली। भारतीय फुटबाल टीम के मुख्य कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने यहां एएफसी एशियन कप के अंतिम ग्रुप मैच में बहरीन के खिलाफ मिले 0-1 की हार के बाद इस्तीफा दे दिया है। टूर्नामेंट के पहले मैच मेंथाईलैंड को 4-1 हराकर शानदार शुरुआत करने वाली भारतीय टीम अपनी जीत को लय को जारी नहीं रख पाई और मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) एवं बहरीन के खिलाफ हारकर प्रतियोगिता से बाहर हो गई।

कांस्टेनटाइन ने मैच के बाद दिया इस्तीफा -
कांस्टेनटाइन ने मैच के तुरंत बाद अपने पद इस्तीफा देने की घोषणा कर दी। 56 वर्षीय कांस्टेनटाइन ने 2015 में टीम के मुख्य कोच का पद संभाला था और उनके मार्गदर्शन में टीम ने आठ साल के लंबे अंतराल के बाद एशियन कप के लिए क्वालीफाई किया। इससे पहले, कांस्टेनटाइन ने 2002 से 2005 के बीच भारतीय टीम के कोच रहे थे।

बहरीन ने भारत को 1-0 से हराया -
आठ साल के लंबे अंतराल के बाद एएफसी एशियन कप में भाग ले रही भारतीय फुटबाल टीम ने पहली बार इस टूर्नामेंट के नॉकआउट राउंड में पहुंचने का सुनहरा मौका गंवा दिया। अल शारजाह स्टेडियम में ग्रुप-ए के अपने तीसरे मैच में बहरीन ने भारत को 1-0 से मात देकर प्रतियोगिता से बाहर कर दिया। बहरीन के लिए मैच का एकमात्र गोल पेनाल्टी के जरिए इंजुरी टाइम (91वें मिनट) में जमाल राशिद ने दागा।


आखिरी पायदान से संतोष करना पड़ा -
इस हार के बाद भारतीय टीम को ग्रुप-ए में तीन अंकों के साथ आखिरी पायदान से ही संतोष करना पड़ा। भारत के खिलाफ पहले मैच में 1-4 से करारी शिकस्त झेलने वाली थाईलैंड की टीम ने ग्रुप स्तर के अपने अंतिम मैच में मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ खेला और चार अंकों के साथ तीसरे पायदान पर रही। भारत 1964 में इस टूर्नामेंट का उपविजेता रहा था लेकिन टूर्नामेंट राउंड रोबिन प्रारूप में खेला गया था और केवल चार टीमों ने ही उसमें हिस्सा लिया था।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/stephen-constantine-resigns-from-head-coach-of-the-indian-football-3981878/

Asia Cup Football : 91वें मिनट में गोल दागकर बहरीन ने तोड़ा भारत का सपना, 1-0 से हराकर टूर्नामेंट से किया बाहर


नई दिल्ली। आठ साल के लंबे अंतराल के बाद एएफसी एशियन कप में भाग ले रही भारतीय फुटबाल टीम ने सोमवार को यहां पहली बार इस टूर्नामेंट के नॉकआउट राउंड में पहुंचने का सुनहरा मौका गंवा दिया। अल शारजाह स्टेडियम में ग्रुप-ए के अपने तीसरे मैच में बहरीन ने भारत को 1-0 से मात देकर प्रतियोगिता से बाहर कर दिया। बहरीन के लिए मैच का एकमात्र गोल पेनाल्टी के जरिए इंजुरी टाइम (91वें मिनट) में जमाल राशिद ने दागा।

इस हार के बाद भारतीय टीम को ग्रुप-ए में तीन अंकों के साथ आखिरी पायदान से ही संतोष करना पड़ा। भारत के खिलाफ पहले मैच में 1-4 से करारी शिकस्त झेलने वाली थाईलैंड की टीम ने ग्रुप स्तर के अपने अंतिम मैच में मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ खेला और चार अंकों के साथ तीसरे पायदान पर रही।

भारत 1964 में इस टूर्नामेंट का उपविजेता रहा था लेकिन टूर्नामेंट राउंड रोबिन प्रारूप में खेला गया था और केवल चार टीमों ने ही उसमें हिस्सा लिया था। भारत के लिए मैच की शुरुआत खराब रही और दूसरे मिनट में ही सेंटरबैक अनस एदाथोडिका चोटिल हो गए। अनस चोट के कारण मैदान पर अधिक देर तक नहीं टिक पाए और कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने टूर्नामेंट में पहली बार ईस्ट बंगाल के खिलाड़ी सलाम रंजन सिंह को मौका दिया।

बहरीन की टीम शुरुआत से ही भारत पर हावी नजर आई। छटे मिनट में ही गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू को 18 गज के बॉक्स के अंदर बचाव करना पड़ा। भारत को बढ़त बनाने को पहला मौका 13वें मिनट में मिला। प्रीतम कोटाल ने विपक्षी टीम के बॉक्स में मौजूद फारवर्ड खिलाड़ी अशिक कुरुनियान को पास दिया लेकिन वह हेडर के जरिए गेंद को गोल में नहीं डाल पाए। 22वें मिनट में हालीचरण नारजारे और 28वें मिनट में सुनील छेत्री भी गोल करने में विफल रहे।

पहले हाफ में भारत के फारवर्ड खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए लेकिन डिफेंस में मौजूद खिलाड़ियों ने नॉकआउट राउंड में पहुंचे की भारत की उम्मीदों को जिंदा रखा, खासकर संदेश झिंगन ने कई मौकों पर महत्वपूर्ण टैकल किए। उन्होंने वन ऑन वन की स्थिति में बहरीन के किसी भी खिलाड़ी को गेंद लेकर आगे नहीं जाने दिया। रंजन सिंह और प्रीतम कोटाल ने भी उनका बखूबी साथ निभाया।

कांस्टेनटाइन ने दूसरे हाफ की शरुआत में दूसरा बदलाव किया। उन्होंने कुरुनियान की जगह थाईलैंड के खिलाफ पहले मैच में शानदार गोल करने वाले स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुआ को मौका दिया। भारत ने दूसरे हाफ के शुरुआत में लौंग बॉल के साथ ही छोटे-छोटे पास करके अटैक करने की कोशिश की। हालांकि, बहरीन की डिफेंस ने भारतीय टीम को गाले करने का कोई खास मौका नहीं दिया।

मैच के 61वें मिनट में बहरीन की ओर से मोहम्मद रोमेही की जगह अब्दुल्ला हेलाल मैदान पर आए और उन्होंने आते ही बॉक्स के बाहर गोल करने का प्रयास किया। तीन मिनट बाद विंगर उदांता सिंह ने गेंद के साथ बेहतरीन दौड़ लगाई। उन्हें बहरीन के हमाद अल-शमसान ने अपने बॉक्स के बाहर गिरा दिया जिसके कारण भारत को फ्री-किक मिली लेकिन छेत्री गेंद को गोपोस्ट के ऊपर से मार बैठे।

बहरीन ने अपना अटैक जारी रखा। 71वें मिनट में मारहून ने शॉट लिया और गेंद पोस्ट पर लगकर बाहर चली गई। मैच के अंतिम 10 मिनटों में बहरीन ने लगातार अटैक किया जिसका परिणाम उन्हें 91वें मिनट में पेनाल्टी के जरिए मिला। राशिद ने पेनाल्टी को गोल में बदलने में कोई गलती नहीं और अपनी टीम को अगले दौर में पहुंचा दिया।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/india-lose-to-bahrain-go-out-of-asian-cup-with-a-strong-performance-3981787/

एएफसी महासचिव ने भी माना कि बढ़ा है भारत में फुटबॉल का स्‍तर


अबू धाबी : विश्‍व फुटबॉल में भारत की ताकत बढ़ रही है। व़ह विश्‍व रैंकिंग में उछाल मार कर टॉप 100 में शामिल हो गया है। भारत की वर्तमान में रैंकिंग 97वीं है। इस बार एएफसी एशियन कप में भी भारत का प्रदर्शन काफी शानदार रहा है। विश्‍व फुटबॉल में भारत के बढ़ते कद को एशियाई फुटबॉल परिसंघ (एएफसी) के महासचिव डाटो विंसडर जॉन भी मानते हैं। उन्‍होंने कहा कि वह भारत में फुटबॉल के बढ़ते स्तर को जानते हैं। बता दें कि एएफसी एशिया कप में भारत ने पहले मैच में थाईलैंड को 4-1 से करारी शिकस्त दी थी। हालांकि अपने दूसरे मैच में उसे मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के हाथों कड़ी टक्कर के बाद 0-2 से हार का सामना करना पड़ा था।

कहा- बहुत पहले भारत की क्षमता परख ली थी
अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) ने जॉन के हवाले से बताया कि भारत के प्रदर्शन से कुछ लोग भले ही हैरान हों, लेकिन एएफसी यह जानती है कि पिछले एक दशक में भारत में फुटबाल ने कितनी प्रगति की है। एएफसी का विजन और मिशन परिसंघ के सदस्यों को हर तरह की सहायता मुहैया कराने के प्रति उनकी प्रतिबद्धता है। उन्‍होंने बहुत पहले ही भारत की क्षमता को परख लिया था। वह विभिन्न कार्यक्रमों के जरिए खेल के स्तर को बढ़ाने के लिए कई साल से एआइएफएफ के साथ मिल कर काम कर रहे हैं। भारतीय फुटबॉल ने भविष्‍य का संकेत दे दिया है कि वह नई ऊंचाइयों को छू सकता है। इसमें हाल में मलेशिया में हुए एएफसी अंडर-16 चैम्पियनशिप में भारतीय टीम का 2002 के बाद पहली बार क्वार्टर फाइनल में पहुंचना और बेंगलूरु एफसी का 2016 में एएफसी कप के फाइनल तक का सफर भी शामिल है।

अंतरराष्‍ट्रीय मैच का अनुभव दिलाने के लिए टूर्नामेंट की मेजबानी भी दी
इस बीच भारत ने 2016 में एएफसी अंडर-16 चैम्पियनशिप और 2017 में अंडर-17 विश्व कप की मेजबानी भी की थी। जॉन ने कहा कि एएफसी ने 2016 में भारत में एएफसी अंडर-16 चैम्पियनशिप कराने का फैसला सिर्फ इसलिए नहीं लिया था कि उसे 2017 में विश्व कप की मेजबानी करने का मौका मिले, बल्कि भारत को अंतरराष्‍ट्रीय मैचों में खेलने को अनुभव भी प्राप्त हो, जो फुटबॉल के विकास के लिए बेहद जरूरी है। एएफसी एशियन कप यूएई 2019 के दौरान भारत के प्रशंसक एकजुट होकर अपनी टीम को समर्थन प्रदान कर रहे हैं और उम्मीद है कि भारतीय टीम के शानदार प्रदर्शन से देश में फुटबॉल की स्थिति बदलेगी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/afc-general-secretary-dato-windsor-john-know-about-indian-football-3980880/

स्पेनिश लीग : मेसी ने रचा इतिहास, स्‍पेनिश लीग में दागा 400वां गोल, बार्सिलोना जीता


बार्सिलोना : अर्जेटीना और दुनिया वर्तमान में महानतम खिलाड़ी लियोनेल मेसी ने एक और इतिहास रच दिया। उन्‍होंने स्पेनिश लीग में 400 गोल दाग दिए। उनके और लुइस सुआरेज के शानदार खेल की बदौलत एफसी बार्सिलोना ने रविवार रात 19वें दौर के मैच में आईबार को 3-0 से करारी शिकस्त दी। इस जीत के साथ ही लीग की तालिका में उसने अपना शीर्ष स्‍थान कायम रखा। इस जीत के बाद मौजूदा चैम्पियन बार्सिलोना के 43 अंक हो गए हैं, जबकि आईबार मात्र 22 अंकों के साथ 16वें स्थान पर खिसक गया है।

मुकाबले का तीसरा गोल करते ही अपने 400 गोल पूरे किए
लियोनल मेसी ने इस मुकाबले का तीसरा गोल जैसे ही दागा इस लीग में उन्‍होंने अपने 400 गोल पूरे कर लिए। उन्होंने यह कीर्तिमान मात्र 435 लीग मैचों में हासिल कर लिया। इसी के साथ वह स्पेनिश लीग के फर्स्‍ट डिवीजन लीग में सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी भी बन गए। मेसी ने लीग स्तर पर 400 गोल करने के लिए पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो से 63 मैच कम खेले। रोनाल्डो ने अब तक इंग्लैंड, स्पेन और इटली में 507 मैचों में 409 गोल किए हैं।

बार्सिलोना ने किया दमदार प्रदर्शन
इस मैच में बार्सिलोना ने शुरुआत से ही दमदार प्रदर्शन किया और पूरे मैच में 59 प्रतिशत बॉल पोजेशन अपने पास रख कर आईबार को कोई मौका नहीं दिया। पहला गोल उरुग्वे के स्टार स्ट्राइकर सुआरेज ने 19वें मिनट में दागा। पहले हाफ में बार्सिलोना की टीम ने कई प्रयास किए, लेकिन वह अपनी बढ़त को दोगुना नहीं कर पाई।
मेजबान टीम के लिए दूसरा हाफ दमदार रहा। मेसी ने 53वें मिनट में शानदार खेल दिखाया और बाएं पैर से गोल करते हुए बार्सिलोना की बढ़त को दोगुना कर दिया।
आईबार ने गोल करने के लिए अटैकिंग फुटबॉल खेलने की कोशिश की, लेकिन छह मिनट बाद ही सुआरेज ने मैच का अपना दूसरा गोल कर मेजबान टीम की जीत सुनिश्चित कर दी। बता दें कि स्‍पेनिश लीग की तालिका मेंदूसरे पायदान पर मौजूद एटलेटिको मेड्रिड के 38 अंक हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/lionel-messi-create-history-scored-400-goal-in-spanish-league-3980616/

Asia Cup Football : आज बहरीन के खिलाफ अहम मैच खेलेगा भारत


नई दिल्ली। भारतीय फुटबाल टीम आज यहां अल शारजाह स्टेडियम में एएफसी एशियन कप के ग्रुप-ए के अपने तीसरे मैच में बहरीन की टीम से भिड़ेगी। भारत के लिए विपक्षी टीम से 2011 में इस टूर्नामेंट में मिली करारी हार का बदला लेने और नॉकआउट राउंड में जगह बनाने का सुनहरा मौका है। आखिरी बार 2011 में भारत ने एशियन कप में भाग लिया था और ग्रुप स्तर के दूसरे मैच में उसे बहरीन के खिलाफ 2-5 से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी। हालांकि, दोनों टीमों के मौजूदा फॉर्म को देखते हुए भारतीय टीम जीत की प्रबल दावेदार मानी जा रही है।

ग्रुप तालिका में भारत फिलहाल, दो मैचों के बाद तीन अंकों के साथ दूसरे पायदान पर मौजूद है। तीसरे स्थान पर मौजूद थाईलैंड के भी इतने ही अंक हैं लेकिन गोल अंतर के आधार पर भारत आगे है। बहरीन एक अंक के साथ आखिरी पायदान पर स्थित है जबकि पिछले मैच में भारत को हराकर मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) चार अंकों के साथ शीर्ष पर बना हुआ है। इस ग्रुप में हर टीम के पास अगले दौर में पहुंचने का सुनहरा मौका है। भारतीय टीम अगला मैच जीतकर बिना किसी मुश्किल के नॉकआउट रांउड में प्रवेश करना चाहेगी। अगर मैच ड्रॉ भी रहता है तो उसे यूएई और थाईलैंड के बीच होने वाले मैच के नतीजे पर निर्भर रहा होगा। भारत चाहेगा कि मेजबान टीम थाईलैंड को शिकस्त देने में कामयाब रहे और यूएई की मौजूदा स्थिति देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा कि वह आसानी से मुकाबला अपने नाम करेगा।

भारत के पास पिछले मैच में यूएई को हराकर अंतिम-16 पहुंचने का शानदार मौका था लकिन उसे 0-2 से हार झेलनी पड़ी। कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने भी माना कि बहरीन के खिलाफ उन्हें हार हाल में जीत दर्ज करनी होगी। भारत और बहरीन सात बार एक-दूसरे से भिड़े हैं। बहरीन ने पांच मैचों में जीत दर्ज की है जबकि भारत केवल एक ही मुकाबला जीत पाया है। बहरीन के खिलाफ भारत की टीम में किसी बदलाव की अपेक्षा नहीं की जा रही है। कोच ने पिछले मैच में भी वही टीम मैदान पर उतारी थी जिसने थाईलैंड के खिलाफ दमदार जीत दर्ज की थी। हर बार कि तरह इस मैच में सभी की नजरें करिश्माई फारवर्ड सुनील छेत्री पर टिकी होंगी जबकि डिफेंस में मौजूद खिलाड़ी अपने प्रदर्शन को बेहतर करना चाहेंगे। सेंटर बैक अनस एडाथोडिका के लिए पिछला मैच अच्छा नहीं रहा था और बहरीन के खिलाफ होने वाले महत्वपूर्ण मैच में कोई गलती नहीं करना चाहेंगे।

दूसरी ओर, बहरीन का हालिया फॉर्म खराब रहा है। टूनार्मेंट के पहले मैच में उसने मेजबान टीम के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ खेला जबकि दूसरे मैच में थाईलैंड के खिलाफ उसे 0-1 की अप्रत्याशित हार झेलनी पड़ी। हालांकि, बहरीन के पास भी अगले दौर में पहुंचने का सुनहरा मौका है। अगर बहरीन की टीम यह मुकाबला जीतने में कमायाब होती है और यूएई भी अपना मैच जीत जाता है, तो बहरीन तीन मैचों में चार अंकों के साथ नॉकआउट राउंड में प्रवेश कर जाएगा। यह मैच भारतीय समय अनुसार रात 9:30 बजे खेला जाएगा।

भारतीय टीम :

गोलकीपर : गुरप्रीत सिंह संधू, अमरिंदर सिंह, विशाल कैथ।

डिफेंडर : प्रीतम कोटाल, संदेश झिंगन, अनस एदाथोडिका, सलाम रंजन सिंह, सार्थक गोलुई, सुभाशीष बोस और नारायण दास।

मिडफील्डर : उदांता सिंह, जैकीचंद सिंह, प्रणॉय हल्दर, अनिरुद्ध थापा, विनीत राय, रॉलिगं बोर्गेस, जर्मनप्रीत सिंह, अशिक कुरुनियान, हालीचरण नारजारे।

फारवर्ड : सुनील छेत्री, जेजे लालपेखलुआ, बलवंत सिंह, सुमित पस्सी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/india-to-face-bahrain-in-their-last-match-of-the-group-stage-match-acf-3976866/

एएफसी एशियन कप फुटबॉल : बहरीन से बदला लेकर अंतिम 16 में पहुंचने को तैयार टीम इंडिया


शारजाह : भारतीय फुटबॉल टीम सोमवार को अल शारजाह स्टेडियम में एएफसी एशियन कप के अपने तीसरे और ग्रुप चरण अपने अंतिम मुकाबले में बहरीन का सामना करेगी। विश्‍व रैंकिंग के हिसाब से बहरीन से ऊपर की भारत की टीम पर अपने ग्रुप से दूसरे चरण में जाने का दबाव होता तो एक दबाव यह भी होगा कि वह बहरीन को पटक कर 2011 में इसी टूर्नामेंट में इस टीम से मिली अपनी करारी हार का बदला चुकाए। भारत ने आखिरी बार 2011 में एशियन कप में भाग लिया था और ग्रुप स्तर के अपने दूसरे मैच में बहरीन ने उसे 2-5 से रौंद दिया था। हालांकि तब से अब तक गंगा में काफी पानी बह चुका है और मौजूदा फॉर्म और रैंकिंग को आधार माने तो इस बार भारतीय टीम जीत की प्रबल दावेदार है। लेकिन जैसा भारतीय टीम के मुख्‍य कोच कांस्‍टेनटाइन ने भी कहा था कि मैच कागजों पर नहीं, मैदान पर खेले जाते हैं। इसलिए टीम इंडिया को बहरीन के खिलाफ सावधान रहना होगा।

इस मैच में हार कर सकती है भारत का अभियान समाप्‍त
बता दें कि फिलहाल भारत ग्रुप तालिका में भारत दो मैचों के बाद तीन अंकों के साथ दूसरे पायदान पर मौजूद है। तीसरे स्थान पर मौजूद थाईलैंड के भी इतने ही अंक हैं, लेकिन गोल अंतर के आधार पर भारत उससे आगे है। बहरीन के पास मात्र एक अंक है और वह आखिरी स्‍थान पर है, लेकिन अगर वह भारत से जीत गया तो टीम इंडिया को बाहर करने के साथ दूसरे दौर के लिए क्‍वालिफाई भी कर सकता है। मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) अकेले चार अंक लेकर शीर्ष पर बना हुआ है। इस ग्रुप में हर टीम के पास अगले दौर में पहुंचने का मौका है। भारतीय टीम को अगर किसी अगर-मगर के बिना अगले दौर में जगह बनानी है तो उसे इस मैच में जीतना ही होगा। ड्रॉ होने की स्थिति में भारत को यूएई और थाईलैंड के बीच मुकाबले के नतीजे पर निर्भर रहना होगा, जो भारत किसी हाल में न हीं चाहेगा। भारत के पास पिछले मैच में यूएई को हराकर अंतिम-16 पहुंचने का शानदार मौका था, लेकिन 0-2 से हारकर उसने खुद के लिए मुश्किल खड़ी कर ली है।

कोच ने कहा जीत चाहिए
भारतीय टीम के कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने भी माना कि बहरीन के खिलाफ उन्हें हार हाल में जीत दर्ज करनी होगी। उन्‍होंने कहा कि पहले भी कहा है कि उनकी टीम इस ग्रुप से क्वालीफाई कर सकती है और उनका लक्ष्‍य भी यही है। अगर टीम जीत दर्ज करती है तो किसी और चीज की चिंता करने की जरूरत नहीं है। यह अहम मैच है और वे अच्छा प्रदर्शन कर तीन अंक हासिल करना चाहेंगे। उन्‍होंने कहा कि हालांकि विपक्षी टीम का डिफेंस अच्छा है। यह मैच मुश्किल साबित होने जा रहा है, लेकिन उनकी टीम ने यह साबित किया है कि वह अच्छी टीमों के खिलाफ गोल कर सकते हैं।

भारत को 5 में मिली है हार और सिर्फ 1 मुकाबला जीता है
अगर आंकड़ों की बात करें तो भारत और बहरीन के बीच अब तक सात मुकाबले हुए हैं और 5 बार जीत बहरीन के हाथ लगी है। एक मैच ड्रा रहा है तो भारत केवल एक ही जीत पाया है।

कोच ने कहा कि आंकड़ों पर भरोसा नहीं
कोच कांस्टेनटाइन ने कहा कि उनका भरोसा आंकड़ों पर नहीं है। मैच के दौरान कई चीजें मायने रखती है। आखिरी बार कब खेला था? क्या यही टीम थी? स्थिति क्या थी? हर चीज बदलती रहती है। वहीं हम यह जानते हैं कि बहरीन ने शानदार प्रदर्शन कर टूर्नामेंट में जगह बनाई है। वह बिना लड़े हार नहीं मानेंगे।"

पिछली टीम ही उतारेगी टीम इंडिया
बहरीन के खिलाफ भारतीय की टीम में बदलाव की कोई संभावना नहीं दिख रही है। पिछले मैच में जो टीम मैदान पर उतरी थी, उसी के उतरने की उम्‍मीद है। भारतीय टीम की उम्‍मीद हर बार कि तरह इस मैच में भी करिश्माई फारवर्ड सुनील छेत्री पर टिकी रहेगी, जबकि डिफेंस को और चौकस होना होगा। सेंटर बैक अनस एडाथोडिका के लिए पिछला मैच अच्छा नहीं रहा था और बहरीन के खिलाफ होने वाले अहम मैच में वह कोई गलती नहीं करना चाहेंगे।

टूर्नामेंट में बहरीन का फॉर्म नहीं है बेहतर
भारतीय टीम इस बात का भी फायदा उठाना चाहेगी कि बहरीन टीम ने इस टूर्नामेंट में अच्‍छा खेल नहीं दिखाया है। उसका हालिया फॉर्म खराब रहा है। टूर्नामेंट के पहले मैच में मेजबान टीम के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ खेला, जबकि दूसरे मैच में थाईलैंड के खिलाफ उसे 0-1 की अप्रत्याशित हार झेलनी पड़ी।
बहरीन के सहायक कोच खालिद ताज ने कहा कि वह उस भारतीय टीम का सम्मान करते हैं, जिसने पहले दो मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है। उन्होंने एशिया में खुद को बहुत बेहतर किया है। हम भारत का सामना करने के लिए अपने खिलाड़ियों को मानसिक और शरीरिक रूप से तैयार कर रहे हैं।

यह मैच भारतीय समय अनुसार रात के 9:30 बजे खेला जाएगा।

भारतीय टीम :
गोलकीपर : गुरप्रीत सिंह संधू, अमरिंदर सिंह, विशाल कैथ।
डिफेंडर : प्रीतम कोटाल, संदेश झिंगन, अनस एदाथोडिका, सलाम रंजन सिंह, सार्थक गोलुई, सुभाशीष बोस और नारायण दास।
मिडफील्डर : उदांता सिंह, जैकीचंद सिंह, प्रणॉय हल्दर, अनिरुद्ध थापा, विनीत राय, रॉलिगं बोर्गेस, जर्मनप्रीत सिंह, अशिक कुरुनियान, हालीचरण नारजारे।
फारवर्ड : सुनील छेत्री, जेजे लालपेखलुआ, बलवंत सिंह, सुमित पस्सी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/sharjah-afc-asian-cup-football-india-vs-bahrain-match-preview-3974316/

भारत का रक्षण बेहतर रहा तो जीत पक्‍की : शाटोरी


नई दिल्ली : इंडियन सुपर लीग (आइएसएल) क्लब नॉर्थ-ईस्ट युनाइटेड के मुख्य कोच एल्को शाटोरी ने एएफसी एशियन कप में बहरीन के खिलाफ होने वाले अहम मैच से पहले कहा कि भारतीय टीम को मुकाबले में अपने डिफेंस पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है।

सोमवार को है बहरीन से मुकाबला
बता दें कि भारतीय टीम को टूर्नामेंट के ग्रुप-ए के अपने आखिरी मैच में सोमवार को बहरीन का सामना करना है। भारत ने अपने पहले मैच में दमदार प्रदर्शन करते हुए थाईलैंड को 4-1 से रौंद कर रख दिया था, लेकिन दूसरे मैच में उसे मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ वह अपना विजयी अभियान जारी नहीं रख पाई और उसे 0-2 से हार का सामना करना पड़ा।

थाईलैंड के खिलाफ भी रक्षण में थी समस्‍या
शाटोरी ने कहा कि विपक्षी टीम अपनी तैयारी करती है। जैसा मैंने थाईलैंड के खिलाफ भी कहा था कि भारत का डिफेंस अहम होगा। उस मैच में टीम का डिफेंस सटीक नहीं था। जहां तक बात है बहरीन की तो वह टीम लॉन्‍ग बॉल रणनीति अपनाएगी, क्योंकि उनके स्ट्राइकर बहुत तेजी से दौड़ सकते हैं और इसके लिए भारत को तैयार रहना होगा।

अमीरात जैसा ही खेलती है बहरीन
यूएई और बहरीन का खेलने का तरीका लगभग एक जैसा है, लेकिन ईस्ट बंगाल के पूर्व कोच का मानना है कि भारतीय डिफेंडर डायरेक्ट प्ले को आसानी से पढ़ सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि अमीरात और बहरीन में यह अंतर है कि यूएई पीछे से अटैक करने में समय लेती है, जिसके कारण उनकी ओर से खेली गई लॉन्‍ग बॉल अचरज में डाल देती है, जबकि बहरीन डायरेक्ट खेलती है। इस कारण भारत को कम परेशानी होगी। भारतीय डिफेंडर इसे पढ़ सकते हैं।
भारत फिलहाल, ग्रुप-ए की तालिका में तीन अंकों के साथ दूसरे पायदान पर मौजूद है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/eelco-schattorie-says-indian-defence-is-create-trouble-for-team-3970321/

एएफसी एशियन कप फुटबॉल : चीन और दक्षिण कोरिया के बाद ईरान भी पहुंचा दूसरे चरण में


अबू धाबी : ग्रुप सी से चीन और दक्षिण कोरिया के दूसरे चरण में स्‍थान बनाने के बाद अब ग्रुप डी से ईरान ने भी दूसरे चरण में अपना स्‍थान पक्‍का कर लिया है। एएफसी एशियन कप के ग्रुप-डी के अपने दूसरे मुकाबले में उसने वियतनाम को हराकर नॉकआउट राउंड में जगह पक्की कर ली है। ईरान ने शनिवार को दमदार प्रदर्शन करते हुए वियतनाम को 2-0 से शिकस्त दी।
फारवर्ड खिलाड़ी सरदार अजमोउन ने ईरान के लिए मैच का पहला गोल 38वें मिनट में 18 गज के बॉक्स के अंदर से हेडर के जरिए किया।
ईरान की टीम ने बढ़त बनाने के बाद दूसरे हाफ में भी अपने दमदार प्रदर्शन को जारी रखा। 51वें मिनट में अजमोउन ने एक बार फिर शानदार खेल दिखाया और बाएं पैर से बेहतरीन गोल करते हुए अपनी टीम की बढ़त को दोगुना कर दिया।

छह अंक लेकर पहुंचा दूसरे चरण में
इस जीत के बाद ईरान तालिका में छह अंकों के साथ पहले पायदान पर काबिज है, जबकि वियतनाम तीसरे और यमन चौथे स्थान पर काबिज है। अंतिम दो पायदान पर मौजूद टीमों ने एक भी अंक अर्जित नहीं किया है और गोल अंतर के आधार पर वियतनाम बेहतर स्थिति में है।

चीन और कोरिया पहले ही पहुंच चुके हैं दूसरे चरण
एएफसी एशिया कप के ग्रुप चरण के मुकाबले खेले जा रहे हैं। हालांकि हर टीम का अपने-अपने ग्रुप में करीब-करीब एक मुकाबला बाकी है, इसके बावजूद ग्रुप सी से चीन और दक्षिण कोरिया दूसरे चरण में पहुंच गए हैं। इन दोनों ने अभी तक खेले ग्रुप चरण के अपने दोनों मैच जीत कर 6-6 अंक हासिल कर लिए हैं और तीसरे-चौथे स्‍थान पर काबिज किर्गिस्‍तान और फिलीपींस बाहर हो गए हैं।

चीन गोल औसत के आधार पर शीर्ष पर
ग्रुप सी के खेले गए मुकाबले में चीन और दक्षिण कोरिया का शानदार प्रदर्शन जारी है। चीन की टीम ने ग्रुप-सी के मैच में फिलीपींस को 3-0 से हराया, जबकि वहीं दक्षिण कोरिया ने किर्गिस्तान को 1-0 से मात दी। इन दोनों टीमों को ग्रुप स्तर पर अभी एक-एक मैच और खेलना है और इन दोनों के छह अंक हो गए हैं। हालांकि बराबर अंक होने के बावजूद गोल औसत के आधार पर ग्रुप-सी की तालिका में चीन शीर्ष पर है और दक्षिण कोरिया दूसरे पायदान पर काबिज है और इस ग्रुप के अंतिम मुकाबले से यह तय होगा कि कौन सी टीम इस ग्रुप से पहले स्‍थान पर रह कर क्‍वालिफाई करेगा और दूसरे नंबर की टीम कौन होगी। वहीं किर्गिस्तान तीसरे और फिलीपींस चौथे स्थान पर है।
चीन के लिए मिडफील्डर ली वू ने दमदार प्रदर्शन किया और दो गोल किए। मैच का अंतिम गोल डाबायो यू ने दागा। जबकि किर्गिस्तान के खिलाफ दक्षिण कोरिया की ओर से मैच का एकमात्र गोल फारवर्ड खिलाड़ी मिन-जाए किम ने किया।

सोमवार को है भारत का ग्रुप चरण का अंतिम मुकाबला
बता दें कि भारत सोमवार को बहरीन के खिलाफ एशियन कप के ग्रुप स्तर में अपना आखिरी मैच खेलना है। यह भारत के लिए करो या मरो का मैच बन गया है। अगर भारत को बिना किंतु-परंतु के दूसरे चरण में जाना है तो उसे यह मैच जीतना ही होगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/afc-asian-cup-2019-china-and-south-korea-entered-2nd-round-3969813/

एएफसी एशियन कप फुटबॉल : स्किल ही नहीं, फिटनेस भी बेहतर है इस भारतीय टीम की


अबू धाबी : भारतीय फुटबॉल टीम पिछले दो-तीन सालों से शानदार प्रदर्शन कर रही है। इसके पीछे प्‍लेयर्स का कौशल बढ़ना और कोच कांस्‍टेनटाइन की कोचिंग तो है ही, लेकिन खिलाड़ियों की बेहतर हुई फिटनेस की बड़ी भूमिका से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। टीम के फिजियोथेरेपिस्ट गिगी जॉर्ज ने भी माना कि पिछले कुछ सालों के दौरान खिलाड़ियों ने अपने फिटनेस पर काफी ध्‍यान दिया है। बता दें कि गिगी 2011 से भारतीय टीम के साथ हैं और हर दिन को वह एक नई चुनौती के रूप में देखते हैं।

स्‍पोर्ट्स साइंस के इस्‍तेमाल से बेहतर हुए नतीजे
अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआइएफएफ) ने गिगी जार्ज के हवाले बताया कि पिछले कुछ सालों में खिलाड़ियों की फिटनेस बेहतर हुई है। उन्‍होंने कहा कि आप जेजे लालपेखलुआ का उदाहरण ले सकते हैं। वह 2012 में भारत के लिए पहला मैच खेले थे तब से लेकर अब तक उन्होंने खुद को शारीरिक रूप से काफी बेहतर किया है। गिगी ने कहा कि वह इसके लिए एआइएफएफ को भी धन्यवाद देना चाहेंगे, जिन्होंने फिजियोथेरेपी के नए उपकरण टीम को मुहैया कराए। इसके अलावा डैनी डिएगन और जोल कार्टर का भी योगदान हैं। उनकी ओर से लाए गए स्पोर्ट्स साइंस के नए-नए तरीके से भी प्‍लेयर्स की फिटनेस बेहतर करने में मदद मिली।

प्‍लेयर्स को जरूरत के हिसाब से ट्रेनिंग दी जाती है
मेडिकल टीम के सदस्‍य डॉ शेर्विन शेरिफ ने कहा कि हर दिन का कार्यक्रम पहले ही तय कर लिया जाता है। सुबह की शुरुआत स्क्रीनिंग से साथ होती है। स्क्रीनिंग परिणामों के आधार पर, खिलाड़ियों की उनकी आवश्यकताओं के अनुसार जांच की जाती है। प्रशिक्षण सत्रों के दौरान हम प्रत्येक खिलाड़ी को ट्रैक करते हैं और उसके अनुसार कार्यवाही करते हैं।

सोमवार को है ग्रुप चरण का अंतिम मुकाबला
बता दें कि भारत सोमवार को बहरीन के खिलाफ एशियन कप के ग्रुप स्तर में अपना आखिरी मैच खेलना है। यह भारत के लिए करो या मरो का मैच बन गया है। अगर भारत को बिना किंतु-परंतु के दूसरे चरण में जाना है तो उसे यह मैच जीतना ही होगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/indian-football-team-fitness-is-better-than-previous-year-3968937/

कोच कांस्टेनटाइन और कप्‍तान छेत्री को उम्‍मीद, भारत दूसरे चरण के लिए करेगा क्‍वालिफाई


अबू धाबी : एएफसी एशियन कप के ग्रुप-ए मैच में थाईलैंड को 4-1 से रौंदकर अपने अभियान का शानदार आगाज करने वाली भारतीय टीम अपने दूसरे मैच में मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ 2-0 से हार गई। इससे भारत के दूसरे चरण में पहुंचने के अभियान को झटका लगा है। लेकिन अब भी वह बेहतर गोल औसरत के आधार पर अपने ग्रुप में दूसरे स्‍थान पर बरकरार है। लेकिन अगर भारत को बिना अगर मगर के अपने ग्रुप से क्‍वालिफाई करना है तो उसे अपने ग्रुप का अंतिम मैच हर हाल में जीतना होगा। भारत के लिए अंतिम मुकाबला करो या मरो का बन गया है। भारतीय फुटबॉल टीम के कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन इस मुकाबले की अहमियत खूब समझते हैं। इसलिए उन्‍होंने कहा है कि बहरीन के खिलाफ उन्हें किसी भी हालत में जीत दर्ज हासिल करनी होगी।

बहरीन के खिलाफ बढ़े मनोबल के साथ उतरना होगा
अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआइएफएफ) ने कांस्टेनटाइन के हवाले से बताया कि अपने ग्रुप के अंतिम मैच में उनकी टीम को बढ़े मनोबल के साथ बहरीन के खिलाफ तैयार होना होगा। उन्‍हें जीत के लिए खेलना होगा और कुछ अंक अर्जित करने होंगे। उम्मीद है कि हम अच्छे नतीजे हासिल कर अगले दौर के लिए क्वालिफाई करने में कामयाब रहेंगे।

सोमवार को है करो या मरो का मैच
भारत सोमवार को अपने ग्रुप चरण के अंतिम मुकाबले में बहरीन का सामना करेगा और अगर वह यह मैच जीत जाता है तो बिना किसी अगर-मगर के प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बना लेगा। भारतीय टीम के मुख्‍य कोच ने कहा कि उन्‍होंने लड़कों से कहा है कि आप मैच नहीं हारे। आपने साबित किया है कि आप किस काबिल हैं। यहां तक कि यूएई के खिलाड़ी भी आपकी क्षमता से आश्चर्यचकित थे। उन्हें विश्वास ही नहीं था कि हम इतना अच्छा खेलेंगे।

कप्‍तान छेत्री ने भी बढ़ाया हौसला
भारतीय टीम के कप्‍तान और स्टार स्ट्राइकर सुनील छेत्री ने भी अपनी टीम का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि वे अभी टूर्नामेंट में बने हुए हैं और बहरीन का सामना करने के लिए तैयार हैं। एक टीम के रूप में वे एकजुट हैं और मुकाबले के लिए तैयार हैं।
भारत फिलहाल, ग्रुप तालिका में तीन अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/football-constantine-and-chhetri-hopeful-to-take-indian-chance-3963640/

Asia Cup Football : भारत को 2-0 से हरा चार अंकों के साथ पहले पायदान पर पहुंचा यूएई


नई दिल्ली। एएफसी एशियन कप के अपने पहले मैच में थाईलैंड के खिलाफ 4-1 से ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाली भारतीय फुटबाल टीम को यहां ग्रुप-ए के दूसरे मुकाबले में गुरुवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ 0-2 से हार झेलनी पड़ी। यूएई इस जीत के बाद चार अंकों के साथ पहले पायदान पर पहुंच गया है। थाईलैंड और भारत के तीन-तीन अंक हैं लेकिन गोल अंतर के आधार पर भारतीय टीम दूसरे स्थान पर बनी हुई है और टूर्नामेंट के नॉकआउट स्तर पर पहुंचने की उसकी उम्मीदें बरकरार हैं।

थाईलैंड ने आज अपने दूसरे ग्रुप मुकाबले में बहरीन को 1-0 से मात दी थी। बहरीन एक अंक के साथ आखिरी पायदान पर मौजूद है। यूएई के लिए इस रोमांचक मैच में खल्फान मुबारक अल शम्सी और अली अहमद मबखौत ने गोल किए। जायेद स्पोर्ट्स सिटी में घरेलू दर्शकों के सामने मेजबान यूएई की शुरुआत शानदार रही। यूएई ने गेंद को अपने नियंत्रण में रखते हुए अटैक किया और दूसरे मिनट में ही भारतीय गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू को 18 गज के बॉक्स के अंदर बचाव करना पड़ा। भारतीय टीम यूएई द्वारा किए गए शुरुआती आक्रमण से जल्द ही उबरने में कामयाब रही और सातवें मिनट में पहला अटैक किया। राइटबैक प्रीतम कोटाल ने मेजबान टीम के बॉक्स में बेहतरीन खेल दिखाया और मैच का पहला कॉर्नर अर्जित किया। हालांकि, डिफेंडर संदेश झिंगन हेडर के जरिए गेंद को गोल में नहीं डाल पाए।

मैच के 11वें मिनट में भारत ने एक बार फिर अटैक किया। इस बार कप्तान छेत्री ने अपनी बाईं ओर फारवर्ड खिलाड़ी अशिक कुरुनियान को पास दिया लेकिन यूएई के गोलकीपर खालिद ईसा ने शानदार बचाव करते हुए मेजबान टीम को मैच में पिछड़ने नहीं दिया। ईसा ने 23वें मिनट में एक बार फिर शानदार बचाव किया। इस बार उन्होंने छेत्री के हेडर को गोल में जाने से रोक दिया। भारत ने अपना अटैंकिंग खेल जारी रखा लेकिन पहला हाफ समाप्त होने से पहले मेजबान टीम बढ़त बनाने में कमयाब रही। 42वें मिनट में शम्सी ने बॉक्स के अंदर से शानदार गोल करते हुए स्कोर 1-0 कर दिया। राष्ट्रीय टीम के लिए शम्सी का यह पहला गोल है। कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने दूसरे हाफ में एक बदलावा किया और हालीचरण नारजारे की जगह पिछले मैच में गोल करने वाले स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुआ को मैदान पर लेकर आए। जेजे ने कोच के भरोसे को सही साबित किया और 53वें बॉक्स के बाहर से शानदार प्रयास किया। इसके दो मिनट बाद, बॉक्स में दाईं ओर से विंगर उदांता सिंह ने गोल करने का बेहतरीन प्रयास किया लेंकिन गेंद पोस्ट पर लगकर बॉक्स के बाहर चली गई।

भारत को भले ही गोल करने के अधिक मौके मिले लेकिन फीफा रैंकिंग में 79वें स्थान पर मौजूद यूएई ने अधिक बॉल पाजेशन रखा। 75वें मिनट में अल हम्मादी ने बॉक्स के अंदर से गोल करने की कोशिश की और गेंद कोटाल के पांव से लगकर पोस्ट पर लगी लेकिन संधू उसे पकड़ने में कामयाब नहीं हो पाए। हालांकि, वह भाग्यशाली रहे कि गेंद गोल में नहीं गई। मैच के अंतिम क्षणों में भारतीय टीम ने लौंग बॉल खेलते हुए बराबरी का गोल करने का प्रयास किया लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाई। 88वें मिनट में मबखौत ने गोल करके मेजबान टीम की जीत सुनिश्चित कर दी। भारतीय टीम ग्रुप स्तर का अपना आखिरी मैच बहरीन के खिलाफ सोमवार को खेलेगी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/afc-uae-topped-the-pooltable-with-4-points-after-beating-india-by-2-0-3962077/

एएफसी एशियन कप : कोच कांस्टेनटाइन को उम्‍मीद, टीम इंडिया हरा सकती है युएई को


अबू धाबी : भारतीय फुटबॉल टीम के कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने एएफसी एशियन कप के दूसरे ग्रुप मैच में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) जैसी मजबूत टीम का सामना करने से पहले यह स्‍वीकार किया कि मेजबान टीम की फीफा रैंकिंग भारत से बेहतर है, लेकिन उन्‍होंने यह भी कहा कि इसे लेकर टीम इंडिया चिंतित नहीं हैं। मुकाबले हमेशा मैदान पर खेले जाते हैं, कागजों पर नहीं। फीफा रैंकिंग में भारत फिलहाल 97वें स्‍थान पर है, जबकि यूएई की रैंकिंग 79वीं है। फुटबॉल समीक्षक यूएई को इस मुकाबले पहले जीत का प्रबल दावेदार मान रहे हैं, लेकिन भारत ने थाईलैंड के खिलाफ पिछले मैच में जैसा प्रदर्शन किया है, उसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

कोच ने कहा- कोई मुकाबला आसान नहीं
अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआइएफएफ) ने टीम इंडिया के मुख्‍य कोच स्‍टीफन कांस्टेनटाइन के हवाले से बताया कि वह जानते हैं कि ग्रुप चरण के सभी तीनों मुकाबले बहुत कठिन होंगे। इस स्तर पर कोई भी मैच आसान नहीं होता, लेकिन वे उनका कड़ा मुकाबला करने को तैयार हैं और यह भी कि कोई भी मुकाबला मैदान पर खेला जाता है, न कि कागजों पर।

मेजबान होने के नाते उन पर दबाव है
कांस्टेनटाइन ने कहा कि एएफसी एशियन कप की मेजबान टीम है यूएई। इसलिए टीम इंडिया से ज्‍यादा उन पर रहेगा। यह समझा जा सकता है कि वह हर हाल में तीन अंक प्राप्त करने की कोशिश करेंगे।
थाईलैंड के खिलाफ पिछले मैच में एक गोल करके फॉर्म वापसी का संकेत देने वाले भारत के स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुआ से भी कोच खासा प्रभावित नजर आएं। उन्‍होंने कहा कि जेजे बहुत अच्‍छा खिलाड़ी है, लेकिन दुर्भाग्यवश हाल में वे अधिक मैच नहीं खेल पाए हैं। जेजे को आप पोजिशन पर डालिए और देखिए वह आपको गोल करके देंगे। मुझे बहुत खुशी है कि उन्होंने थाईलैंड के खिलाफ गोल किया। उनके हिस्से गोल आना चाहिए, खासकर इस स्तर पर।

भारत गुरुवार को यूएई की टीम को सामना करेगी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/afc-asian-cup-football-stephen-constantine-said-india-can-beat-uae-3953437/

एएफसी एशियन कप : यूएई के खिलाफ होगी भारतीय डिफेंस की परीक्षा, भारत इतिहास रचने की दहलीज पर


अबू धाबी : एएफसी एशियन कप के पहले मैच में थाईलैंड के खिलाफ 4-1 से धमाकेदार जीत दर्ज करने वाली भारतीय फुटबॉल टीम गुरुवार को जाएद स्पोर्ट्स सिटी में मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को हरा कर पहली बार इस टूर्नामेंट के नॉकआट स्तर में पहुंचना चाहेगी। थाईलैंड के खिलाफ मिली बड़ी जीत से भारत तीन अंक हासिल कर चुका है। वह अब अपने ग्रुप में टॉप पर है। दूसरी तरफ संयुक्‍त अरब अमीरात और बहरीन के बीच इस ग्रुप का पहला मैच बराबरी पर समाप्‍त हुआ था। इस वजह से दोनों संयुक्‍त रूप से दूसरे नंबर पर हैं। इसके अलावा भारतीय टीम का गोल अंतर भी बेहतर है जो ग्रुप से क्‍वालिफाई करने में अंक बराबर होने की स्थिति में मदद करेगा।

थाईलैंड के खिलाफ बड़ी जीत मिलने से बढ़ा हुआ है हौसला
भारतीय टीम और उसके कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन का हौसला थाईलैंड के खिलाफ खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन से बढ़ा हुआ है। थाईलैंड के खिलाफ पहला हाफ 1-1 की बराबरी पर रहने के बाद भारत ने दूसरे हाफ मजबूत थाई डिफेंस को तोड़ कर गोलों की बरसात कर दी थी। कोच कांस्टेनटाइन ने कहा कि उनकी टीम काफी युवा है। इस कारण वह काफी रोमांचित है। मेजबान टीम के साथ होने वाला मैच काफी अलग होगा, क्योंकि यह टीम काफी मजबूत है, लेकिन मेरे लड़कों के लिए यूएई उनके रास्ते में खड़ी सिर्फ एक अन्य टीम है।

भारतीय फॉरवर्ड शानदार फॉर्म में
भारतीय फॉरवर्ड खिलाड़ियों ने थाईलैंड के खिलाफ खेले गए पिछले मुकाबले में शानदार खेल दिखाया था। सुनील छेत्री ने दो गोल किए तो मिडफील्‍डर अनिरुद्ध थापा ने भी जमाए। यहां तक कि स्‍थानापन्‍न के रूप में सेकेंड हॉफ में मैदान पर आए जेजे लालपेखलुवा ने भी मैदान पर आते ही एक गोल जमा दिया। बता दें कि मिड फील्डर अनिरुद्ध थापा का यह पहला अंतरराष्‍ट्रीय गोल था। हालांकि आशिक कुरुनियन इस मैच में कोई गोल नहीं कर सके, लेकिन उन्होंने अपने शानदार खेल से सबका ध्यान खींचा। छेत्री और एफसी पुणे सिटी के विंगर कुरुनियन ने पूरे समय थाईलैंड की रक्षापंक्ति को हमेशा व्यस्त रखा। कुरुनियन से यूएई के खिलाफ भी इसी तरह के चमकदार खेल की उम्मीद की जा रही है।

रैंकिंग में यूएई बेहतर है
बता दें कि भारत की फीफा रैंकिंग जहां 97 है, तो वहीं यूएई की रैंकिंग 79वीं है। उसका रिकॉर्ड और रैंकिंग दोनों भारत से काफी ज्‍यादा बेहतर है। ग्रुप-ए में वह सबसे ऊंची रैंकिंग वाली टीम है और वह भारत को परेशानी में डाल सकता है। एक मजबूत टीम के खिलाफ मिडफील्ड में थापा और प्रणय हलधर को अपना 100 प्रतिशत देना होगा।

डिफेंस को भी रहना होगा चौकस
भारत को डिफेंस को लेकर कोच कांटेस्‍टाइन कई बार चिंता जता चुके हैं, हालांकि थाईलैंड के खिलाफ रक्षा पंक्ति ने शानदार खेल दिखाया था। लेकिन यूएई की टीम के खिलाफ उन्‍हें ज्‍यादा सावधान रहना होगा, क्योंकि 2015 में एशियन प्लेयर ऑफ द ईयर चुने गए अहमद खलील और अली मबखाउत जैसे खिलाड़ी ब्‍लू टाइगर्स के लिए खतरा हो सकते हैं। ये खिलाड़ी गोल के मौके भुनाने में माहिर हैं। मबखाउत को यूएई के लिए सबसे अधिक गोल करने वाला खिलाड़ी बनने के लिए सात गोलों की जरूरत है। ऐसे में संदेश झिंगन और अनस इडाथोडिका को बैकलाइन में काफी सतर्क रहना होगा।

घरेलू दर्शकों का भी मिलेगा सपोर्ट
इसके अलावा जो सबसे बड़ी बात यूएई के पक्ष में जाती है, वह है कि वह अपने देश में एशिया कप खेल रहा है और उसे घरेलू दर्शकों का पूरा सपोर्ट मिलेगा। इसके अलावा वह अपने पहले पहले मैच में पूरे तीन अंक हासिल न कर पाने के कारण जीत हासिल करने के लिए और ज्‍यादा बेताब है। उनके कोच ने भी माना कि भारत के खिलाफ वे बदली हुई मानसिकता के साथ उतरेगी। यूएई कोच अल्बटरे जाचेरोनी ने कहा कि उनके खिलाड़ी पहले मैच में अपनी संघर्षशक्ति नहीं दिखा सके थे। भारत के खिलाफ वह गलती नहीं करेंगे। बदली मानसिकता के साथ मैदान पर उतरेंगे।
यूएई की टीम को चोटिल ओमर अब्दुल रहमान की कमी खलेगी। ओमर को एशिया के सबसे अच्छे खिलाड़ियों में से एक माना जाता है, लेकिन जाचेरोनी की टीम ओमर के बगैर भी काफी मजबूत है। इस कारण गोलपोस्ट के सामने गुरप्रीत सिंह संधू को काफी सावधान रहना होगा।

भारतीय टीम :
गोलकीपर : गुरप्रीत सिंह संधू, अमरिंदर सिंह, विशाल कैथ।
डिफेंडर : प्रीतम कोटाल, संदेश झिंगन, अनस एदाथोडिका, सलाम रंजन सिंह, सार्थक गोलुई, सुभाशीष बोस और नारायण दास।
मिडफील्डर : उदांता सिंह, जैकीचंद सिंह, प्रणय हलधर, अनिरुद्ध थापा, विनीत राय, रॉलिगं बोर्गेस, जर्मनप्रीत सिंह, अशिक कुरुनियान, हालीचरण नारजारे।
फारवर्ड : सुनील छेत्री, जेजे लालपेखलुआ, बलवंत सिंह, सुमित पस्सी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/afc-asia-cup-football-india-fight-against-uae-in-group-stage-3953285/

मोहम्मद सलाह को लगातार दूसरी बार चुना गया अफ्रीका का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी


नई दिल्ली। म्रिस के फुटबाल खिलाड़ी मोहम्मद सलाह ने लगातार दूसरी बार अफ्रीका के सर्वश्रेष्ठ फुटबाल खिलाड़ी का पुरस्कार अपने नाम किया है। समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, इंग्लिश क्लब लिवरपूल से खेलने वाले सलाह ने इस पुरस्कार को जीतने के लिए अपने साथी खिलाड़ी सेनेगल के सादियो माने और गबोन के पियरे एमेरिक-आउबामेयांग को मात दी। आउबामेयांग आर्सेनल के लिए क्लब फुटबाल खेलते हैं।


सलाह ने कहा-
सलाह ने मंगलवार को यहां समारोह के दौरान कहा, "मैंने बचपने से इस पुरस्कार को जीतने का सपना देखा है और अब मैं लगातार दो बार इसे जीतने में कामयाब हुआ हूं।" उन्होंने कहा,"मुझे दो बार यह पुरस्कार जीतकर गर्व महसूस हो रहा है। मैं अपने परिवार और अपने टीम के साथियों को धन्यवाद देना चाहता हूं। मैं इस पुरस्कार को अपने देश को समर्पित करना चाहता हूं।"

शानदार रहा है सलाह का प्रदर्शन-
लिरपूल के लिए पिछले सीजन 26 वर्षीय सलाह ने 44 गोल दागे और अपनी टीम को यूरोपीय चैम्पियंस लीग के फाइनल तक लेकर गए। हालांकि, उन्होंने विश्व कप में केवल दो गोल किए लेकिन उसके बाद से अब तक वह लिवरपूल के लिए 29 मैचों में 16 गोल दाग चुके हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/mohamed-salah-voted-african-footballer-of-the-year-for-the-second-time-3953250/

भारतीय फुटबॉल टीम की शानदार पहल, भारतीय ब्लाइंड टीम की आर्थिक के लिए आए आगे


अबू धाबी : एएफसी एशियन कप के अपने पहले ही मैच में ही थाईलैंड पर धमाकेदार जीत करने वाली भारतीय फुटबॉल टीम ने अब एक और बड़ा काम कर करोड़ों भारतीयों का दिल जीत लिया। ब्लू टाइगर्स के नाम से मशहूर भारतीय फुटबॉल टीम ने ब्लाइंड फुटबॉल टीम की आर्थिक मदद के लिए आगे आई है। इसके तहत अब उसने पिछले दो-तीन सालों के दौरान विभिन्‍न आर्थिक दंडों के माध्‍यम से जमा की गई 50,000 रुपए की धन राशि ब्लाइंड फुटबॉल टीम को देगी। सीनियर फुटबॉल टीम के कोच स्‍टीफन कांस्टेनटाइन इसकी घोषणा मंगलवार को की।

कोच ने बताया सामूहिक प्रयास
भारतीय टीम के प्रमुख कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने यह जानकारी देते हुए कहा कि यह अहम है कि हम उनकी मदद करें। इस राशि से प्रत्येक ब्लाइंड फुटबॉलर अपने लिए गेंदें खरीद सकेंगे। यह पूरी टीम की ओर से एक सामूहिक प्रयास है। हमारी टीम की तरफ से यह एक छोटी-सी शुरुआत है।

ब्‍लाइंड फुटबॉल फेडरेशन ने किया धन्‍यवाद
इंडियन ब्लाइंड फुटबाल फेडरेशन (आइबीएफएफ) के सपोर्टिंग निदेशक सुनील जे मैथ्यू ने ब्लू टाइगर्स की इस पहल के लिए धन्‍यवाद दिया और कहा कि कोच्चि स्थित राष्ट्रीय ब्लाइंड फुटबॉल अकादमी को उनके फुटबॉलरों के लिए मदद करने के लिए ब्‍लू टाइगर्स का धन्यवाद। इस मदद के लिए हम एआइएफफ के कोचिंग स्टाफ और पूरी टीम का शुक्रिया अदा करते हैं और साथ में टीम इंडिया एएफसी एशिया कप में अच्‍छा प्रदर्शन करे, उन्हें इसकी शुभकामनाएं देते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/indian-football-team-give-economic-support-of-blind-team-3949379/

मेसी से ज्‍यादा गोल करने पर छेत्री बोले- रिकॉर्ड मायने नहीं रखता


आबू धाबी : थाईलैंड के खिलाफ रविवार को एएफसी एशियन कप के पहले ग्रुप मैच में दो गोल कर अंतरराष्‍ट्रीय स्तर पर गोल करने के मामले में सुनील छेत्री ने अर्जेटीना के महान फुटबॉलर लियोनल मेसी को भी पछाड़ दिया है। वर्तमान में खेल रहे फुटबॉलरों में अपने देश के लिए उनसे ज्‍यादा गोल सिर्फ रोनाल्‍डो नाम हैं।
इस उपलब्धि पर भारत के इस स्टार खिलाड़ी ने कहा कि उन्होंने कभी सपनों में भी नहीं सोचा था कि वह अपने देश के लिए इतने अधिक मैच खेलेंगे। छेत्री ने भारत के लिए 105 मैचों में 67 गोल दागे हैं, जब‍कि मेसी के नाम कुल 65 गोल है। भारत के लिए टीम के लिए सबसे अधिक मैच खेलने का रिकॉर्ड पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया के नाम है। छेत्री उनसे मात्र दो मैच पीछे हैं। भूटिया ने अपने शानदार करियर में कुल 107 मैच खेले हैं। अगर भारतीय टीम ग्रुप चरण से आगे पहुंचती है तो इसी एशिया कप में सुनील छेत्री उन्‍हें पछाड़ देंगे। छेत्री ने अपना पहला अंतरराष्‍ट्रीय मैच पाकिस्तान के खिलाफ 2005 में खेला था।

छेत्री ने कहा कि वह जानते थे कि देश के लिए खेलेंगे
अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआइएफएफ) ने छेत्री के हवाले से बताया कि उन्‍होंने कभी सपनों में नहीं सोचा था कि ऐसा दिन आएगा और इतने ज्‍यादा मैच खेलेंगे और इतने गोल करेंगे। छेत्री ने कहा कि वह यह जरूर जानते थे कि देश के लिए एक दिन खेलेंगे। उनके लिए पहली बार भारत के लिए खेलना यादगार पल था। उन्‍हें गर्व महसूस हुआ था।

मेसी से तुलना को गलत बताया
छेत्री ने अपनी तुलना मेसी से होने को गलत बताया। उन्‍होंने कहा कि उनके लिए अभी कोई रिकॉर्ड मायने नहीं रखता। शायद, आज से 10 साल बाद जब हम साथ बैठे, तब हम रिकॉर्ड के बारे में बात कर सकते हैं। भारत ग्रुप-ए के अगले मैच में गुरुवार को मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (युएई) का सामना करेगा और छेत्री ने माना कि उनकी टीम के लिए मुकाबला कठिन होगा।

बहरीन और अमीरात की टीमें बेहतरीन है
ग्रुप के अपने अगले मैच के बारे में छेत्री ने कहा कि उनका ध्‍यान अब 10 तारीख को मेजबान यूएई के खिलाफ होने वाले अगले मैच पर केंद्रित है। वह मैच बहुत कठिन होगा। अगर आप मुझसे पूछे तो ग्रुप स्‍तर पर होने वाले तीनों मैच में थाईलैंड के खिलाफ हुआ मुकाबला ग्रुप सबसे आसान था। यूएई के खिलाफ खेलना कठिन होगा। हमें यह भी नहीं भूलना चाहिए कि बहरीन बेहतरीन टीम है। हमें दोनों मैचों में अपना 100 प्रतिशत देना होगा।
भारत ने 1964 के बाद पहली बार एशियन कप के किसी मैच में जीत दर्ज करने में कामयाब हुआ है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/footballer-sunil-chhetri-told-record-hasnot-value-for-him-3943235/

एशिया कप फुटबॉल : जीत से उत्‍साहित कांस्टेनटाइन ने भरी हुंकार, हर मैच जीतने की कोशिश करेंगे


आबू धाबी : एएफसी एशियन कप में थाईलैंड के खिलाफ टीम इंडिया के धमाकेदार प्रदर्शन से प्रसन्‍न भारतीय फुटबाल टीम के मुख्य कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने हुंकार भरी है। उन्‍होंने कहा कि इस मैच से लोगों को भारतीय टीम की काबिलियत की झलक देखने को मिली है। बता दें कि भारत की एशियन कप के पिछले आठ मैचों में यह पहली जीत है। इससे पहले वह टूर्नामेंट के सात मुकाबलों में से छह में हारा था और एक ड्रॉ कराया था।
अल-नाहयान स्टेडियम में रविवार रात को खेले गए ग्रुप-ए के अपने पहले मुकाबले में भारत ने थाईलैंड को करारी मात दी। इस मैच में भारतीय टीम के लिए कप्तान सुनील छेत्री ने दो और अनिरुद्ध थापा तथा जेजे लालपेखलुआ ने एक-एक गोल किया।

पूरे मैच में टीम ने संघर्ष किया
कोच कांस्टेनटाइन ने कहा कि वह अपनी टीम के इस प्रदर्शन से बेहद खुश हैं। उन्‍हें लगता है कि है कि खिलाड़ियों ने पूरे 93वें मिनट तक संघर्ष किया और इतने वर्षों बाद एशियन कप में पहली जीत हासिल कर वह बहुत खुश हैं। बता दें कि फुटबॉल का मैच 45-45 मिनट के दो हॉफ में खेला जाता है। खेल के बीच बरबाद समय को अतिरिक्‍त समय में जोड़ा जाता है। कल के मैच के 93 मिनट में 3 मिनट अतिरिक्‍त समय के थे।

हर मैच जीतने की कोशिश रहेगी
मुख्‍य कोच ने यह भी कहा कि उनकी टीम हर मैच को जीतने की कोशिश कर रही है। उनकी टीम प्रतिस्पर्धा करना चाहती हैं और प्रतिस्पर्धी बने रहना चाहती है। उन्‍होंने कहा कि उनकी टीम हर मैच जीतने की कोशिश करती है। वह 4-1 या 5-1 की जीत की उम्मीद लेकर मैदान में नहीं उतरते।

अभी काम खत्‍म नहीं हुआ
भारतीय टीम के कोच कांस्टेनटाइन ने कहा कि उन्‍हें भले ही इस जीत से खुशी मिली है, लेकिन वह अभी इससे संतोष नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि यह एक प्रक्रिया है। हम इस जीत से संतोष नहीं करने वाले। अभी दो मैच और बाकी हैं और क्वालिफाइंग के लिए हमें दो और अंक हासिल करने हैं। हम यहां क्वालिफाई करने आए हैं। अब समय नहीं रह गया है कि कोई भारत को उस नजर से देखें, जैसे देखता आया है। हालांकि उन्‍होंने यह भी कहा कि वे भावना के साथ आगे बढ़ने की कोशिश नहीं कर रहे हैं।

कड़ी मेहनत का है नतीजा
कांस्टेनटाइन के अनुसार, यह जीत पिछले कुछ सालों में की गई कड़ी मेहनत का नतीजा है। पिछले दो-तीन वर्षों में टीम ने काफी प्रगति की है। लेकिन अभी टीम को ग्रुप चरण से आगे बढ़ने के लिए कम से कम दो और अंकों की जरूरत है। अभी हमारा काम खत्‍म नहीं हुआ। ग्रुप चरण से आगे बढ़ने के बाद हम उत्साहित हो सकते हैं। हमारी प्राथमिकता अब भी ग्रुप से आगे बढ़ना है। यह टीम के लिए एक और मैच की तरह ही है। यह एक और जीत है, जो वे चाहते थे और यह एएफसी एशियन कप में मिली है।
भारतीय टीम का अगला मुकाबला 10 जनवरी को शेख जायद स्पोर्ट्स सिटी में संयुक्त अरब अमीरात के खिलाफ होगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/football-coach-constantine-says-we-shall-try-to-win-all-matches-3942412/

Asia Cup Football : 20 वर्षीय खिलाड़ी अनिरुद्ध थापा का जीत के बाद बयान, यह सिर्फ टीम की नहीं, पूरे भारत की जीत


नई दिल्ली। भारतीय फुटबाल टीम के 20 वर्षीय खिलाड़ी अनिरुद्ध थापा का कहना है कि एएफसी एशियन कप के पहले मैच में थाईलैंड के खिलाफ मिली जीत केवल टीम की ही नहीं, बल्कि पूरे भारत की जीत है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, एएफसी एशिया कप के ग्रुप-ए में रविवार रात को अल-नाहयान स्टेडियम में खेले गए मैच में भारत ने थाईलैंड को 4-1 से हराया।

हमने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है -
भारत की एशियन कप में आठ मैचों में यह पहली जीत है। इससे पहले टूर्नामेंट के सात मुकाबलों में उसने एक ड्रॉ खेला था, जबकि छह में उसे हार मिली थी। इस मैच में भारतीय टीम के लिए कप्तान सुनील छेत्री ने दो गोल किए, जबकि अनिरुद्ध थापा और जेजे लालपेखलुआ ने एक-एक गोल किया। यह अनिरुद्ध का भारतीय टीम के साथ अंतर्राष्ट्रीय करियर का 12वां मैच था। मैच के बाद एक बयान में अनिरुद्ध ने कहा, "शानदार। हमारे और भारत के लिए एक बड़ा मैच। 2011 में हम अपना पहला मैच ऑस्ट्रेलिया से हार गए थे। इस टूर्नामेंट में भी कई लोगों को उम्मीदें होंगी और कई लोगों को शक, लेकिन हमने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है।"

1986 के बाद अब हराया थाईलैंड को -
अनिरुद्ध ने कहा, "यह जीत हमारे कप्तान सुनील छेत्री के लिए है। हमारा समर्थन करने वाले सभी प्रशंसकों के लिए। स्टॉफ के हर सदस्य के लिए है। यह केवल भारतीय टीम की जीत नहीं, बल्कि पूरे भारत की जीत है।" बता दें भारत की एशियन कप में आठ मैचों में यह पहली जीत है, इससे पहले टूर्नामेंट के सात मुकाबलों में उसने एक ड्रॉ खेला था, जबकि छह मैचों में उसे हार मिली थी। सुनील छेत्री ने इस अहम मैच में भारत के लिए दो गोल किए, जबकि अनिरुद्ध थापा और जेजे लालपेखलुआ ने एक-एक गोल किया। छेत्री टीम के लिए कुल 67 गोल कर चुके हैं, जबकि थापा का भारत के लिए यह पहला गोल है। भारतीय टीम आठ वर्ष के लंबे अंतराल के बाद इस टूर्नामेंट में हिस्सा ले रही है और उसने आखिरी बार थाईलैंड को 1986 में कुआलालम्पुर में हुए मेदेर्का टूर्नामेंट में मात दी थी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/anirudh-thapa-says-not-only-football-team-whole-india-won-in-asia-cup-3941055/

एशिया कप फुटबॉल में भारत का शानदार आगाज, छेत्री की दो गोलों की मदद से थाईलैंड को 4-1 रौंदा


आबू धाबी : भारतीय फुटबॉल टीम ने रविवार को एएफसी एशियन कप के ग्रुप-ए के अपने पहले मुकाबले में थाईलैंड को 4-1 से रौंद कर दूसरे चरण में अपने जाने की उम्‍मीदों को परवान चढ़ाया है। बता दें कि भारत की एशियन कप पिछले आठ मैचों में यह पहली जीत है। इससे पहले सात मुकाबलों में से छह में भारत को हार का मुंह देखना पड़ा था और एक मुकाबला उसने ड्रॉ खेला था।

कप्‍तान सुनील छेत्री रहे नायक
इस अहम मुकाबले में भारतीय टीम की जीत के नायक कप्‍तान सुनील छेत्री रहे। उन्‍होंने इस मैच में दो गोल किए, जबकि अनिरुद्ध थापा और जेजे लालपेखलुआ ने एक-एक गोल दागा। बता दें कि छेत्री टीम के लिए कुल 67 गोल कर चुके हैं। यह दुनियाभर में किसी भी प्‍लेयर से ज्‍यादा है, जिसने अपने देश के लिए गोल किया है। अनिरुद्ध थापा ने भारत के लिए अपना पहला गोल दागा। भारतीय टीम आठ साल के लंबे अंतराल के बाद इस टूर्नामेंट में वापसी कर रही है। भारत ने थाईलैंड को इससे पहले आखिरी बार 1986 में कुआलालम्पुर में हुए मेदेर्का टूर्नामेंट में हराया था।

किया अटैकिंग फुटबॉल का प्रदर्शन
भारत ने मैच की सकारात्मक शुरुआत की और अटैकिंग फुटबॉल का मुजाहरा किया। तीसरे मिनट में आशिक कुरुनियान ने लेफ्ट फ्लेंक से बॉक्स में शानदार क्रॉस दिया, लेकिन बॉक्स में कोई भी भारतीय खिलाड़ी गेंद को अपने नियंत्रण में नहीं ले पाया। इसके 11 मिनट बाद भारत को 18 गज के बॉक्स के बाहर फ्री-किक मिली। युवा मिडफील्डर थापा ने फ्री-किक ली और थाईलैंड के डिफेंडर ने हेडर के जरिए गेंद को क्लियर कर दिया। मैच के 26वें मिनट कुरुनियान एक बार फिर गेंद लेकर थाईलैंड के बॉक्स में दाखिल हुए और गेंद गोलकीपर से लग कर डिफेंडर के हाथों से टकरा गई। इस फाउल के लिए भारत को पेनाल्टी मिली, जिस पर गोल करने में छेत्री ने कोई गलती नहीं की।
एक गोल से पिछड़ने के बाद थाईलैंड की टीम ने बराबरी की ताबड़तोड़ कोशिशें की। इसका नतीजा यह हुआ कि भारतीय डिफेंस में मिले थोड़े से जगह का फायदा उठाते हुए 33वें मिनट में थाईलैंड के कप्‍तान तेरासिल दांगडा ने बेहतरीन हेडर के जरिए गोल दाग दिया। थाईलैंड के लिए दांगडा का यह 43वां गोल है।

भारत ने दूसरे हाफ में बनाया दबदबा
भारत ने दूसरे हाफ की धमाकेदार शुरुआत की। मैच शुरू हुए दो मिनट ही बीते थे कि 47वें मिनट में विंगर उदांता सिंह ने दाएं छोर से बॉक्स में बेहतरीन पास दिया और कुरुनियान ने गेंद को छेत्री की ओर धकेल दिया। छेत्री ने इसे सीधे गोलपोस्‍ट में पहुंचा दिया। भारतीय खिलाड़ियों का 2-1 की बढ़त बनाने के बाद आत्मविश्वास काफी बढ़ गया। उसने लगातार अटैक करते हुए थाईलैंड कें डिफेंस को परेशान रखा। 68वें मिनट में छेत्री ने बॉक्स में एक बार फिर खलबली मचाई और बॉक्स में ही मौजूद थापा को पास दिया जिन्होंने राष्ट्रीय टीम के लिए अपना पहला गोल करते हुए स्कोर 3-1 कर दिया।
भारतीय टीम ने अपने आक्रामक खेल को जारी रखा। सब्स्टीट्यूट के रूप में मैदान पर आए स्ट्राइकर जेजे लालपेखुआ ने 81वें मिनट में गोल करते हुए भारत की जीत सुनिश्चित कर दी। जेजे लंबे समय से खराब फॉर्म में चल रहे थे और उनके इस शानदार प्रदर्शन से कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन को बाकी के मैचों के लिए आक्रमण में अधिक विकल्प मौजूद करा दिए।
भारत का अगला मुकाबला गुरुवार को मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ होगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/football-news/afc-asia-cup-football-india-win-against-thailand-4-1-score-3938674/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Haryana Jobs / Opportunities / Career
Bank Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Bihar Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Rajasthan Jobs / Opportunities / Career
Scholorship Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
Railway Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Gujarat Jobs / Opportunities / Career
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Maharashtra Jobs / Opportunities / Career
Punjab Jobs / Opportunities / Career
Meghalaya Jobs / Opportunities / Career
Admission Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Bihar
State Government Schemes
Study Material
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Syllabus
Festival
Business
Wallpaper
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com