Patrika : Leading Hindi News Portal - Hot on Web #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Hot on Web

http://api.patrika.com/rss/hot-on-web 👁 1380

इस तकनीक से पता चल जाएगा कितनी लंबी होगी जिंदगी, मौत की तारीख का कर सकेंगे इंतजार!


नई दिल्ली। बढ़ती उम्र के साथ लोगों को अपने मरने की तारीख या साल जानने का कौतूहल हमेशा बना रहता है। ऐसे में आमतौर पर लोग ज्योतिष विद्या के जरिए यह जानने की कोशिश करते हैं। लेकिन अब इसके लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि इन दिनों सोशल नेटवर्किंग साइटों पर कई सारे ऐसे एप्प और गेम चल रहे हैं जिसमें आपकी उम्र का सही-सही अंदाजा लगाने के साथ ही साथ आपकी मौत का भी अंदाजा लगाया जा सकता है। वैज्ञानिकों ने इस दिशा में एक शोध करके इस बात का दावा किया है।

 

 

आनुवांशिक बदलाव से लगाया जा सकता है उम्र का अनुमान

लंदन में हुए शोध के मुताबिक, किसी भी इंसान के डीएनए का विश्लेषण करके यह अनुमान लगाया जा सकता है कि कोई व्यक्ति कितनी लंबी जिंदगी जिएगा। ब्रिटेन में एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने इंसान के जीवनकाल को प्रभावित करने वाले आनुवांशिक बदलाव के संयुक्त असर का अध्ययन करके एक स्कोरिंग सिस्टम के जरिए किसी व्यक्ति की आयु का लगभग-लगभग अनुमान लगाया जा सकता है। खास बात यह है कि ऐसे में जब लोगों को खुद अपने मौत की तारीख पता होगी तो पहले से ही इस बात के लिए तैयार होंगे।

 

 

इन लोगों की होती है 5 साल ज्यादा उम्र

शोधकर्ता पीटर जोशी ने स्कोरिंग सिस्टम के आधार पर कहा, ‘‘अगर हम जन्म के समय या बाद में 100 लोगों को चुनते हैं और अपने जीवनकाल स्कोर का इस्तेमाल कर उन्हें दस समूहों में बांटते हैं तो सबसे नीचे आने वाले समूह के मुकाबले शीर्ष समूह के लोगों की जिंदगी पांच साल ज्यादा होगी।'' बात दें कि शोध के लिए वैज्ञानिकों ने पांच लाख से अधिक लोगों के आनुवांशिक डेटा के साथ-साथ उनके माता-पिता की जीवन अवधि के रिकॉर्डों का भी अध्ययन किया। वैज्ञानिकों का कहना है कि मस्तिष्क और हृदय को प्रभावित करने वाले जीन व्यक्ति की आयु को भी प्रभावित करते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/this-technique-will-tell-your-life-is-how-long-4011387/

विदेश से आई इस महिला ने कुंभ में आने से पहले बदल लिया अपना नाम, मेले में बनी आकर्षण का केंद्र


नई दिल्ली। प्रयागराज में कुंभ की धूम है। इस मेले में लाखों की तादाद में श्रद्धालु अपनी उपस्थित दर्ज करा रहे हैं। हर साल की तरह इस साल भी कई तरह की चीजें कुंभ में आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। इस साल के अर्ध कुंभ में कई ऐसी चीजें हैं जो हमारी भारतीय संस्कृति से हमें रूबरू करा रही हैं लेकिन सिर्फ भारतीय ही इस पावन मेला का आनंद नहीं उठा रहे बल्कि विदेश से आए लोग भी इस मेले में बढ़-चढ़ के हिस्सा ले रहे हैं। ऐसी ही एक महिला है जिसने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से स्नातक किया है। यह महिला कुंभ मेले में अपने अनोखे कैफे के लिए मशहूर है। इस महिला ने 'टॉयलेट कैफेटेरिया' के जरिए कुंभ मेले में स्वच्छता बनाए रखने का बीड़ा उठाया है। विदेश से आई इस महिला ने लोगों को स्वच्छता बनाए रखने के लिए जागरूक करने का यह अनोखा तरीका निकाला है। इस महिला के द्वारा बनाए गए इस कैफे में हर चीज खुले में शौच न करने के लिए जागरूक करती है।

 

kumbh mela

महिला की इस अनोखी पहल की वजह से मीडिया का ध्यान इसकी ओर गया। इंटरव्यू लेने आए एक मीडिया चैनल से बातचीत करते समय इस महिला ने बताया कि "मैं साल 1996 में पहली बार भारत आई। ऋषिकेश में जाकर मैंने वहां हिंदू संस्कृति के बारे में विस्तार से जाना। हिंदू संस्कृत ने मुझे खासा प्रभावित किया।" इस महिला का कहना है कि हिंदू धर्म ने से इतना प्रभावित किया कि इसने अपना असली नाम बदलकर साध्वी भगवती सरस्वती नाम रख दिया। साध्वी भगवती सरस्वती का कहना है कि "जब से मैं भारत आई हूं तब से मैंने फैसला लिया कि मैं संन्यासी के रूप में जीवन व्यतीत करूंगी। अपना असली नाम न बताते हुए इस साध्वी ने बताया कि कुंभ मेले में ऐसा एक कैफे खोलकर में लोगों को बताना चाहती हूं कि "खुले में शौच नहीं करना चाहिए और अपने आस-पास स्वच्छता बनाए रखना चाहिए।"


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/toilet-cafeteria-in-kumbh-mela-4011123/

कुंभ में स्नान का लाभ उठाने के लिए प्रयागराज जाने की नहीं है जरूरत, घर बैठे ऐसा कर कमा सकते हैं पुण्य


नई दिल्ली। जैसा कि आप जानते हैं कि कुंभ की शुरूआत 15 जनवरी से हो चुकी है और यह 4 मार्च तक चलेगा। पूरे 50 दिन चलने वाले इस अर्द्ध कुंभ में भाग लेने के लिए देश-विदेश से लोग प्रयागराग आ रहे हैं। हालांकि ऐसे भी कई सारे लोग हैं जो किसी कारणवश कुंभ में शामिल नहीं हो पा रहे हैं, इन्हें आज हम कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जिससे ये घर पर बैठकर भी इसका लाभ उठा सकते हैं।

 

Kumbh 2019

इन उपायों का पालन कर आप घर बैठे ही संगम में नहाने का पुण्य प्राप्त कर सकते हैं। सबसे पहले घर के वातावरण पर ध्यान दें, इसे सात्विक बनाएं। घर की साफ-सफाई पर ध्यान दें और इस बीच मांस-मछली या प्याज-लहसुन जैसे खाद्य पदार्थों का न तो सेवन करें और न ही घर पर रखें।

 

Kumbh 2019

घर के शुद्धिकरण के बाद अब खुद को पवित्र करें। हर रोज ब्रम्हमुहूर्त में उठकर स्नान करके मन्दिर में पूजा करने के लिए बैठ जाएं। सूर्य की उपासना इस दौरान प्रमुख है।श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का पाठ कर, मां गंगा के नाम का कम से कम 108 बार जप करें। शिवलिंग का अभिषेक करें।

सबसे जरूरी बात कि इस दौरान अपने तन के साथ-साथ मन को भी साफ रखें। बुरी भावनाओं का त्याग दें, किसी भी जीव के प्रति हिंसा के रवैये को न अपनाएं, प्रेम से सबके साथ पेश आए और ईश्वर का ध्यान मन ही मन करें।

 

Kumbh 2019

शाम के वक्त घर में आरती या भजन कीर्तन करें। इससे नकारात्मक शक्ति घर से चली जाएगी। भक्तिमय वातावरण बना रहेगा। इस दौरान पड़ने वाले प्रत्येक मंगलवार और शनिवार को सुन्दरकाण्ड का भी आयोजन कर सकते हैं। मकर संक्रांति स्नान के दिन खिचड़ी खाएं तथा गरीबों को भी दान करें। बता दें कि इस समय तिल के दान का बहुत महत्व है इसलिए हर रोज तिल के लड्डू का दान करें।

 

Kumbh 2019

इन सबके साथ ही अगर आपको कोई मंदिर जीर्ण या अधूरा दिखें तो उसे बनाने में अपना सहयोग प्रदान करें। अपनी क्षमतानुसार दान धर्म कर इंसान पुण्य की प्राप्ति कर सकता है।

Kumbh 2019

इसका प्रभाव आने वाले भविष्य में आप देख सकते हैं। प्रयागराज न जाकर भी आप घर पर इन उपायों के माध्यम से ईश्वर के आशीर्वाद को प्राप्त कर सकते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/by-following-these-rules-at-home-get-the-advantages-of-kumbh-4011114/

12 साल से किस्मत आजमा रहा था शख्स, लॉटरी खुली तो निकले 1.5 करोड़, फिर भी इस वजह से खाली है अभी तक हाथ


नई दिल्ली। ऊपर वाला कब किसके ऊपर मेहरबान हो जाएगा कोई नहीं जानता। लेकिन इतना तो है कि देने वाला जब भी देता है, तो छप्पड़ फाड़ कर देता है। ठीक ऐसा ही हुआ है पंजाब के गुरदासपुर में रहने वाले एक शख्स मोहन लाल के साथ। वैसे तो मोहन लाल पिछले 12 सालों से पंजाब सरकार की बम्पर लॉटरी टिकट खरीद रहे थे, लेकिन कभी कुछ हाथ नहीं आया, लेकिन इस बार 14 नवंबर में उनको हजारों, लाखों नहीं बल्की सीधे डेढ़ करोड़ की लाटरी हाथ लगी है। इसके बाद से मुहल्ले के लोगों ने उन्हें करोड़पति बोलना शुरू कर दिया है।

 

 

होती है बहुत कम आमदनी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पिछले कई सालों से मोहन लाल लोहे की अलमारियां बनाने का काम करते आ रहे हैं। पहले तो उन्हें उनको इस काम के अच्छे पैसे मिलते थे। लेकिन बदलते समय के साथ इन आलमारियों की जगह दूसरे नए सामानों ने ले ली। ऐसे में कड़ी मेहनत के बावजूद मोहन लाल महज 10 से 12 हजार रुपये ही जुटा पाते हैं। हालांकि इतना पैसा जीतने के बाद भी मोहन लाल आज भी यही काम करते हैं क्योंकि लॉटरी में जीते पैसे अभी तक उनके हाथ नहीं आए हैं।

 

 

मोहन लाल के पास नहीं था पैन कार्ड

कहने को तो मोहन लाल 14 नवंबर को ही करोड़पति बन गए थे लेकिन उनके पास पैन कार्ड नहीं था ऐसे में आज तक उनको पैसा नहीं मिल सका है। हालांकि अब उन्होंने पैन कार्ड बनवाकर भी जमा कर दिया है। मोहनलाल का मानना है कि जिस तरह से भगवान ने 1.5 करोड़ का इनाम जितवाया है वैसे ही यह रकम भी हाथ में आ ही जाएगी। बता दें कि लॉटरी के नियम के अनुसार जीतने वाले को 90 दिनों के अंदर यह राशि मिल जानी थी लेकिन फिलहाल इस समय को आगे बढ़ाया गया है।

 

 

इन पैसों से सवारेंगे बच्चों का भविष्य

मोहन लाल और पत्नी सुनीता देवी की दो बेटियां हैं, जिनमें से एक 11 साल की, तो दूसरी 5 साल की है। वो इन पैसों से अपने बच्चों का भविष्य सवारेंगे साथ ही एक नया घर भी बनाएंगे। इसके अलावा एक छोटा सा कारोबार भी शुरू करेंगे।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/man-won-1-5-crore-lottery-but-didn-t-get-prize-money-due-to-pan-card-4008481/

‘दुनिया के सबसे क्यूट’ कुत्ते की हुई मौत, डेढ़ करोड़ से ज्यादा लोग करते थे फॉलो


नई दिल्ली। क्या आपको भी पालतू कुत्तों से लगाव है? क्या आपका कुत्ता भी बहुत खूबसूरत है? हम आपसे यह बात इसलिए पूछ रहें हैं क्योंकि शनिवार की रात 'दुनिया के सबसे क्यूट' कुत्ते बू के लिए मौत बनकर आई। बू की मौत उस समय हुई जब वह सो रहा था। बू की पापुलरटी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसे फेसबुक पेज पर 1 करोड़ 60 लाख से अधिक लोग फॉलो करते हैं। इसके अलावा उसके नाम से एक किताब भी लिखी जा चुकी है। इस किताब का नाम बू- द लाइफ ऑफ़ वर्ल्ड्स क्यूटेस्ट डॉग है।

 

 

पार्टनर की मौत के बाद से रहता था उदास

बू, अमेरिका में अपने मालिकों के साथ रहता था। बू की मौत के बारे में उसके मालिकों ने बताया कि, बू के सबसे प्यारे दोस्त ‘बडी’ की मौत 2017 में हो गई थी। इसके बाद से ही बू दिल से संबंधित दिक्कतों से जूझ रहा था। बू और उसका दोस्त बडी करीब 11 सालों तक साथ रहे थे। बू के आधिकारिक फेसबुक पेज पर उसके मालिकों ने लिखा कि हमें लगता है कि जब बडी ने इस दुनिया को छोड़ा तभी से बू का दिल टूटा-टूटा सा लगता था। वह बेहद उदास रहने लगा था। उन्होंने लिखा कि हमारे परिवार का दिल टूट गया है लेकिन हमें इस बात का सुकून है कि वह अब किसी दर्द या तकलीफ में नहीं रहेगा।

 

 

फिर मिल पाएंगे बू और बड़ी

दुनिया के सबसे प्यारे कुत्ते के मालिक का मानना है कि मौत के बाद ऊपर बू को अकेला नहीं रहना पड़ेगा। वहां पर बडी उसका इंतजार कर रहा था, दोनों काफी वक्त बाद एक-दूसरे से मिलकर काफी खुश होंगे। बता दें कि मालिकों ने 2006 में बू को अपने घर लाए थे। इसके बाद से वह यहां पर रह रहा था। उसके मालिकों ने इसके नाम से फेसबुक पेज बना रखा था।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/worlds-cutest-dog-boo-dies-aged-12-from-broken-heart-4007720/

अब गंगाजल चाहिए तो खुद ही लगानी पड़ेगी डुबकी, जानें क्यों


नई दिल्ली: अभी तक आपको अगर गंगाजल चाहिए होता था तो आपको हरिद्वार या इलाहाबाद जाने की जरूरत नहीं पड़ती थी क्योंकि कई कंपनिया ऐसी हैं जो बोतलबंद गंगाजल बेचती हैं। ये कंपनियां बोतलबंद गंगाजल बेचकर अच्छा-खासा मुनाफ़ा कमा रही हैं लेकिन अब बहुत जल्द इन कंपनियों पर सरकार रोक लगाने जा रही हैं जिसके बाद अब ये कंपनियां गंगाजल को बोतल में बेच नहीं पाएंगी।

ऐसा कहा जा रहा कि जल्द ही इन कंपनियों को बोतलबंद गंगाजल बेचने से रोकने के लिए सरकार कड़े नियम बनाने जा रही है। दरअसल जल संसाधन मंत्रालय को इस कारोबार के बारे में कई शिकायतें मिली हैं, जिन पर वह विचार किया जा रहा है और ऐसे में जल्द ही कोई नया नियम आने की गुंजाइश है। सीधा जल संसाधन मंत्रालय ही इस मामले में दखल नहीं दे सकता है क्योंकि इसमें कई अन्य मंत्रालय भी शामिल हैं।

दरअसल गंगा नदी के पानी को बेचने के बाद कंपनियां मोटी कमाई कर रही हैं लेकिन इससे सरकार को कुछ ख़ास फायदा नहीं होता है साथ ही नदी के पानी का भी दोहन हो रहा है ऐसे में यह कई मायनों में देश के लिए ठीक नहीं है और इसी को देखते हुए ऐसी संभावना जताई जा रही है कि गंगा नदी के बोतलबंद पानी को बेचने पर रोक लगाईं जा सकती है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/botteled-ganga-water-will-be-ban-soon-4006005/

रेलयात्रियों के लिए अच्छी खबर, अब आसानी से मिल जाएगी ऐसी जानकारी


नई दिल्ली। रेलयात्रियों के लिए एक अच्छी खबर है कि अब उन्हें ट्रेन की स्थिति की जानकारी आसानी से मिल जाएगी। दरअसल, रेलवे ने अपने इंजन को इसरो के उपग्रह से जोड़ दिया है, जिससे उपग्रहों से मिली जानकारी से ट्रेन के बारे में पता लगाना, उसके आगमन और प्रस्थान स्वत: दर्ज होना आसान हो गया है। रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एक मीडिया एजेंसी को बताया, "नए साल में एक नई शुरुआत की गई है। ट्रेन के आवागमन की सूचना प्राप्त करने और कंट्रोल चार्ट में दर्ज करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के उपग्रह आधारित रियल टाइम ट्रेन इन्फोरमेशन सिस्टम (आरटीआईएस) से स्वत: उपयोग किया जाने लगा है।"

अधिकारी ने बताया कि यह प्रणाली आठ जनवरी को श्रीमाता वैष्णो देवी-कटरा बांद्रा टर्मिनस, नई दिल्ली-पटना, नई दिल्ली-अमृतसर और दिल्ली-जम्मू रूट पर कुछ मेल या एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए अमल में लाई गई। उन्होंने कहा कि नई प्रणाली से रेलवे को अपने नेटवर्क में ट्रेनों के संचालन के लिए अपने कंट्रोल रूप, रेलवे नेटवर्क को आधुनिक बनाने में मदद मिलेगी। अधिकारी ने कहा, "इस कदम का मकसद ट्रेनों के परिचालन की सही सूचना में आगे सुधार लाना है।"

उन्होंने बताया कि इंजन में आरटीआईएस युक्ति (डिवाइस) से इसरो द्वारा विकसित गगन जियो पोजीशनिंग सिस्टम का इस्तेमाल करके ट्रेनों की चाल और पोजीशन के बारे में पता लगाया जाता है। उन्होंने कहा, "सूचना और तर्क के अनुप्रयोग के आधार पर युक्ति ट्रेन के आवागमन (आगमन/प्रस्थान/तय की गई दूरी/ अनिर्धारित ठहराव और सेक्शन के बीच की जानकारी) की ताजा जानकारी इसरो के एस-बैंड मोबाइल सैटेलाइट सर्विस (एमएसएस) का उपयोग करके सीआरआईएस डाटा सेंटर में सेंट्रल लोकेशन सर्वर को भेजती है।" सीएलएस में प्रोसेसिंग के बाद इस सूचना को कंट्रोल ऑफिस एप्लीकेशन (सीओए) सिस्टम को भेजा जाता है, जिससे बिना किसी मानवीय हस्तक्षेप के कंट्रोल चार्ट स्वत: अपडेट होता है। अधिकारी ने बताया कि पहले ट्रेन के परिचालन की स्थिति की जानकारी मैनुअली अपडेट की जाती थी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/railway-engines-connected-to-satellite-now-train-tracking-will-be-easy-4001065/

7 बच्चों की मां है ये औरत, फिटनेस देखकर नहीं लगा पाएंगे उम्र का अंदाज़ा


नई दिल्ली: महिलाएं खूबसूरत दिखने के लिए काफी मेहनत करती हैं साथ ही दिन रात जिम में वर्कआउट करती हैं जिसे वो फिट रह सकें लेकिन एक उम्र के बाद महिलाएं खुद को फिट नहीं रख पाती हैं और ज़िम्मेदारियों की वजह से अपने आप पर ख़ास ध्यान नहीं दे पाती हैं जिसका नतीजा ये होता है कि कई बार वो अपनी उम्र से कई साल ज़्यादा बड़ी दिखाई देने लगती हैं ऐसा आम तौर पर देखा जाता है लेकिन आज इस खबर में हम आपको एक महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे देखने के बाद आप उसकी उम्र का अंदाज़ा नहीं लगा सकते हैं।

हम आपको जिस महिला के बारे में बताने जा रहे हैं उसकी तस्वीर देखने के बाद आप भी यही कहेंगे कि यह महिला 25 से 30 साल के बीच दिखाई देती है लेकिन जब आपको इस महिला की असल उम्र के बारे में पता चलेगा तो आपके होश उड़ जाएंगे। दरअसल यह महिला सोशल मीडिया पर काफी पॉपुलर हो रही है और लोग इनकी स्टोरी से काफी इंस्पायर हो रहे हैं।

यह महिला और कोई नहीं बल्कि 43 वर्षीय जेसिका एन्स्लो हैं जिनकी तस्वीर देखने के बाद आपको ऐसा लगेगा कि उनकी उम्र बेहद ही कम होगी। आपको ये बात जानकर हैरानी होगी की जेसिका की 23 साल की बेटी एलिसा भी हैं, यहां तक कि जेसिका 7 बच्चों की मां हैं। दरअसल जेसिका इतनी फिट हैं कि कोई ठीक से उनकी उम्र का अंदाज़ा नहीं लगा पाता है। कई बार तो ऐसा होता है कि जब लोग ये समझ बैठते हैं कि जेसिका अपनी बेटी एलिसा की बहन हैं।

जेसिका यूटाह की रहने वाली हैं और उन्होंने पहली बार 19 साल की उम्र में साल 1994 में अपने पहले बच्चे को जन्म दिया। साल 2013 में उन्होंने अपने 7वें बच्चे को जन्म दिया था। 43 साल की उम्र में वो किसी कॉलेज जाने वाली लड़की जैसी दिखती हैं। ऐसे में लोग उन्हें देखकर काफी हैरान होते हैं। अपनी उम्र और फिटनेस की वजह से जेसिका काफी फेमस हो गयी हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/you-can-not-guess-this-real-age-of-this-lady-4000979/

एयरपोर्ट पर खड़े प्लेन को देखकर पायलट करने लगा ऐसी हरकत, जानकार उड़ जाएंगे होश


नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर आए दिन कुछ ऐसे वीडियो और स्टोरी पोस्ट होते रहते हैं जिन्हें देखकर आपके होश उड़ जाते हैं। ऐसे ही एक वीडियो के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जो आजकर सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है, दरअसल यह वीडियो एक पायलेट का है जिसने एयरपोर्ट पर खड़े हुए प्लेन के साथ कुछ ऐसा किया जिसे देखकर आप भी दंग रह जाएंगे।

दरअसल इस वीडियो में कुछ ऐसा दिखाई पड़ रहा है कि जिस किसी ने भी इसे देखा उसकी आंखें खुली की खुली रह गयीं। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो मैसेज में साफ़ तौर पर एक पायलट को देखा जा सकता है जिसने एक गलती की वजह से ऐसा कदम उठा लिया जो दुनियाभर के लिए हैरत का विषय बन गया। दरअसल यह शख्स जिस फ्लाइट का पायलट है यह उसकी चाभी अपने घर पर भूल आया था जिसके बाद उसने अपनी गलती को सुधारने का फैसला लिया जो शायद ही कोई पायलट ले सकता था।

दरअसल इस पायलट ने कॉकपिट की खिड़की की मदद से विमान के अंदर घुसने की कोशिश करने लगा और उसकी हरकत कैमरे पर कैद हो गयी और इस पायलट की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। आपको बता दें कि यह मामला लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट का है जहां पर इस पायलट को खिड़की के जरिए विमान में चढ़ने की कोशिश करते हुए देखा गया है। पायलट की ये हरकत कैमरे में रिकॉर्ड हो गयी है। यह मामला इस हवाई अड्डे के टर्मिनल 2 का बताया जा रहा है। इस तस्वीर में पायलट खतरनाक ढंग से अपने शरीर को छोटी खिड़की में घुसाने की कोशिश करता दिख रहा है। इस तस्वीर के सामने आने के बाद इस पायलट को पहचानने की कोशिश की जा रही है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/pilot-crawling-throught-the-cockpit-window-4000079/

10 Year Challange: आपकी निजी जानकारियों में सेंध लगा सकता है ये चैलेंज


नई दिल्ली: सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर पिछले कुछ हफ़्तों से '10 Year Challenge' नाम का चैलेन्ज चल रहा है जिसमें सभी यूजर्स को अपनी 10 साल पुरानी तस्वीर को अपने आज की लेटेस्ट के साथ पोस्ट करना होता है। ये चैलेंज युवाओं में काफी पॉपुलर हो रहा है लेकिन ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि यह चैलेंज आपकी निजी जानकारियों के लिए ख़तरा साबित हो सकता है जिसकी वजह से आप कंगाल भी हो सकते हैं या फिर आपका पर्सनल डाटा चोरी हो सकता है।

आपको बता दें कि अब तक 50 लाख से ज्यादा फेसबुक यूजर्स अपनी पुरानी तस्वीरें पोस्ट कर चुके हैं और बहुत सारे लोग आगे भी ऐसा करने की तैयारी में हैं। यह चैलेंज जंगल की आग की तरह सोशल मीडिया के कई सारे प्लेटफॉर्म्स तक पहुंच चुका है ऐसे में लोग इस ख़ास हैशटैग के साथ अपनी पुरानी और नई तस्वीरों को एक साथ पोस्ट कर रहे हैं। जानकारों के मुताबिक़ यह चैलेंज हैकर्स की साज़िश भी हो सकती है जिसका मकसद लोगों के फेशियल डाटा को चुराना हो सकता है। अगर ऐसा हो जाए तो आपकी फेशियल आईडी में सेंध लगाईं जा सकती है।

चौंकाने वाली बात यह है कि इस चैलेंज से ना सिर्फ शहरी युवा जुड़ रहे हैं बल्कि नामी-गिनामी सेलेब्रिटीज भी इस चैलेंज का हिस्सा बन रहे हैं और यही वजह है कि भारी तादात में लोग इस चैलेंज में हिस्सा ले रहे हैं। टेक्नॉलजी ऑथर केट ओ-नील ने इस चैलेंज को लेकर सवाल उठाए हैं। दरअसल उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखते हुए शक जाहिर किया कि यह चैलेंज फेसबुक के उस एआई मैकेनिज्म के लिए लर्निंग का तरीका है जो चेहरों की पहचान करता है।

केट ने अपने पोस्ट में लिखा कि, 'सोचिए अगर आप अपनी साइट के फेस रिकग्निशन एल्गोरिद्म को अपडेट और ट्रेन करना हो। खासकर एज रिलेटेड पॉइंट्स और एज प्रोग्रेशन के बारे में इसे अपडेट करना चाहें तो आप कई लोगों की नई और पुरानी तस्वीरें एकसाथ चाहेंगे। यह तब ज्यादा कारगर होगा जब आपके पास इनके बीच के गैप के लिए एक फिक्स नंबर हो, जैसे 10 साल।' उन्होंने कहा कि ऐसे डेटा को पास्ट और प्रेजेंट से सीधे जोड़ा जा सकता है। इस चैलेंज को लेकर उठ रहे सवालों के बाद फेसबुक ने इससे अपना पल्ला झाड़ा है। खैर अगर आप भी इस चैलेंज में भाग लेने का मन बना रहे हैं तो इससे बचने की कोशिश करें क्योंकि ये आपकी निजी जानकारियों में सेंध लगा सकता है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/10-year-challange-can-be-dangerous-for-your-personal-details-3996692/

ट्रेन का इंतज़ार कर रही महिला ने बुना अनोखा स्कार्फ, लगी लाखों की बोली और...


नई दिल्ली। ऐसा नहीं है सिर्फ हमारे ही देश में ट्रेन लेट होती हैं। जर्मनी से एक खरब आई है जहां एक महिला ने लेट ट्रेन का इंतज़ार करते समय एक स्कार्फ बुन डाला। खास बात यह है कि इस महिला के द्वारा बुना गया यह स्कार्फ अब 7550 यूरो यानी 6 लाख रुपए में बिकने जा रहा है। क्लाउडिया वेबर नाम की यह महिला बावेरियन कंट्रीसाइड के छोटे से कस्बे से म्यूनिख तक का सफर करती है। सालभर से उस रेलवे स्टेशन में मरम्मत के चलते वहां से म्यूनिख तक के सफर में 40 मिनट के बजाय अब 2 घंटे का समय लगता था। सफर में देरी के साथ-साथ कभी-कभी ट्रेन लेट भी हो जाया करती थी। हो रही इस असुविधा की वजह से क्लाउडिया के मन में एक विचार आया। उन्होंने इस असुविधा का फायदा उठाते हुए एक स्कार्फ बुन डाला। इस स्कार्फ के बारे में उनकी बेटी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर जानकारी दी।

खास बात यही नहीं है कि यह स्कार्फ अब नीलम हो रहा है। अपने सफर में देरी होने पर क्लाउडिया का स्कार्फ बुनने का तरीका निराला था। जिस दिन उन्हें 5 मिनट की देरी होती थी उस दिन वे स्लेटी रंग के ऊन का इस्तेमाल करती थीं। जिस दिन उन्हें आधे घंटे की देरी होती थी वे गुलाबी रंग से स्कार्फ बुनती थीं और जिस दिन उन्हें उससे भी ज्यादा देर होती थी वे लाल रंग के ऊन का इस्तेमाल करती थीं। क्लाउडिया का कहना है कि जिस दिन ट्रेन लेट नहीं होती थी उस दिन वे सफेद रंग का इस्तेमाल करती थीं। इस तरह क्लाउडिया ने हो रही असुविधा का विरोध किया। उनके इस अनोखे स्कार्फ को 'रेल डिले स्कार्फ' नाम दिया गया। क्लाउडिया की बेटी सारा एक पत्रकार हैं उन्होंने एक दिन अपनी मां के द्वारा बनाए इस स्कार्फ की तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की जिसके बाद कई लोगों ने उसे लाइक और शेयर किया। सारा ने इसे बेचने का मन बनाया और उससे बने पैसों से अब वे रेलवे स्टेशन पर प्रतीक्षा करने वालों की मदद में इस्तेमाल करने का विचार कर रही हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/train-delay-scarf-of-germany-went-viral-on-social-media-3996529/

शशि थरूर ने 10 ईयर चैलेंज में किया इस पार्टी को चैलेंज, शेयर की राम मंदिर की ऐसी फोटो


नई दिल्ली। इन दिनों सोशल मीडिया यूजर्स पर 10 year challenge का खुमार जमकर बोल रहा है। खास बात यह है कि इस चैलेंज में कोई भी खुद को पीछे नहीं रखना चाहता है। यही वजह है कि बॉलीवुड सेलेब्स से लेकर स्पोर्ट्स स्टार्स और राजनेता भी अपनी-अपनी फोटो सोशल मीडिया में शेयर कर रहे हैं। इसी बीच सोशल मीडिया में काफी एक्टिव रहने वाले शशि थरूर ने अपने ट्वीटर एकाउंट में राम मंदिर की 10 साल पुरानी और अभी की फोटो शेयर की है। जिसके बाद यह पोस्ट काफी वायरल हो रही है।

चलती ट्रेन में महिला को होने लगा तेज दर्द, रेलवे ने एक ट्वीट पर तुरंत पहुंचाई मदद

 

क्या है शशि थरूर के इस ट्वीट में

शशि थरूर ने कुल चार फोटो शेयर की हैं। जिसमें दो फोटो 2009 की हैं और दो फोटो 2019 की हैं। खास बात यह है कि राम मंदिर की जो तस्वीर है वो 2009 में जैसी थी वो आज भी वैसी ही है। शशि थरूर ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए यह दिखाया है कि 2009 में बीजेपी का जो हेडक्वार्टर चंद कमरों का हुआ करता था आज वह विशालकाय बिल्डिंग में बदल लगा है लेकिन भगवान राम आज भी मंदिर बनने की राह देख रहे हैं। इसके बाद से ही यह फोटो सोशल मीडिया में वायरल हो चली है।

 

 

क्या है 10 Year Challenge, जिसमें हर कोई हो रहा शामिल

2019 की शुरूआत के साथ ही एक नया ट्रेंड चल पड़ा कि लोग 10 साल पहले कैसे दिखते थे और अब कैसे दिखते हैं। ऐसे में हर कोई अपनी फोटो का कोलाज बना कर इंस्टाग्राम, फेसबुक, ट्विटर जैसे सोशल प्लेटफार्म पर अपनी फोटो शेयर कर रहे हैं। खास बात यह है कि लोगों को यह ट्रेंड काफी पसंद आ रहा है और इसी बहाने लोग अपने पुराने दिनों को भी याद कर पा रहे हैं और दूसरों के साथ अपनी खुशियां साझा कर रहे हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/shashi-tharoor-joins-10-year-challenge-by-taking-bjp-hq-and-ram-mandir-3995812/

चलती ट्रेन में महिला को होने लगा तेज दर्द, रेलवे ने एक ट्वीट पर तुरंत पहुंचाई मदद


नई दिल्ली। बदलते समय के साथ भारतीय रेलवे ने भी खुद को खूब अपडेट किया है। यही कारण है कि बात-बात पर रेलवे को कोसने वाले भी इन दिनों सोशल मीडिया पर इंडियन रेलवे की खूब तारीफ कर रहे हैं। वैसे भी करें क्यों ना, वजह ही ऐसी है। दरअसल, ट्रेन में यात्रा कर रही एक महिला को काफी भयानक दर्द होने लगा जिसके बाद उसने अपने एक दोस्त की मदद लेकर इंडियन रेलवे और रेल मंत्री पीयूष गोयल को टैग करते हुए ट्वीट कराया। जिसके बाद भारतीय रेलवे ने तत्काल उस महिला पैसेंजर की मदद की।

 

बेंगलुरु से बरेली जा रही थी ट्रेन

जानकारी के अनुसार, यह घटना 13 जनवरी की है। जब एक महिला ट्रेन संख्या 56090 में यात्रा कर रही थी। बेंगलुरु से बरेली जा रही इस ट्रेन के कोच नंबर S7 की सीट नंबर 37 में एक महिला यात्रा कर रही थी। सफर के दौरान ही उसे बहुत तेज दर्द होने लगा। रिपोर्ट के मुताबिक, महिला को पीरियड होना शुरू हो गए थे, लेकिन महिला के पास न तो सेनेटरी पैड था और न ही कोई दवा। ऐसे में उसने अपनी इस समस्या के बारे में अपने एक दोस्त को फोन करके बताया। जिसने भारतीय रेलवे और रेल मंत्री को टैग करते हुए महिला की मदद करने की गुजारिश की।

 

 

भारतीय रेलवे ने दिया तुरंत रिस्पांस

इस पूरे मामले में सबसे अच्छी बात यह थी कि भारतीय रेलवे ने ट्विटर में 13 मिनट में ही रिस्पांस दिया और महिला के मोबाइल और पीएनआर नंबर के बारे में जानकारी मांगी। बाद में अगले स्टेशन में ट्रेन के पहुंचते ही महिला के पास रेलवे डॉक्टर पहुंचे और जरूरी दवाइयों के साथ सैनटरी पैड उपलब्ध कराया।

 

सोशल मीडिया में हो रही तारीफ

भारतीय रेलवे विभाग की मदद से एक तरफ जहां महिला शुक्रगुजार है तो वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया में लोग रेलवे के इस काम की जमकर तारीफ कर रहे हैं। बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है जब रेलवे ने किसी को मदद पहुंचाई हो। इसके पहले भी कई बार बच्चों के लिए दूध और जरूरतमंद लोगों के लिए दवाइयां उपलब्ध कराई गई है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/after-a-tweet-indian-railway-instant-help-girl-3995259/

शादी में हुई फायरिंग, दुल्हन को गोली मारकर फरार शख्स पर उठाया दूल्हे ने ऐसा सवाल


नई दिल्ली। शादी में फायरिंग का एक मामला सामने आया है। शादी में आए एक अज्ञात शख्स के इरादे से लग रहा था कि वह दुल्हन पर ही हमला करने आया था। घटना पूर्वी दिल्ली की बताई जा रही है। यहां के शकरपुर इलाके स्थित स्कूल ब्लॉक में बने प्राचीन शिव मंदिर धर्मशाला में आयोजित इस शादी में अफरातफरी का माहौल तब बन गया जब किसी ने दुल्हन को गोली मार दी। दुल्हन को देर न करते हुए अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दुल्हन के पैर में गोली लगी थी जिसकी वजह से उसकी जान पर कोई खतरा नहीं हुआ। पुलिस ने मामले की तफ्तीश शुरू कर दी और हमलावर की खोज में जुट गई। बता दें कि शादी में जयमाल की रस्म होने के बाद दूल्हा-दुल्हन जब स्टेज पर पहुंचे तब हमलावर ने उनपर गोली चला दी जिससे दुल्हन को गोली जाकर लगी।

शादी के स्टेज पर दूल्हे के पीछे जा रही दुल्हन को उसी दौरान गोली मारी गई है। दुल्हन को अफरातफरी में अस्पताल ले जाया गया जिसके बाद पुलिस में यह मामला दर्ज कराया गया। लड़की के हालत में सुधार आने के बाद उससे जब पूछताछ की गई तब उसने बताया कि उसे हमलावर के बारे में कोई जानकारी नहीं है। इस सनसनीखेज घटना के बाद दूल्हे ने सवाल उठाया कि वह कौन था। जांच में पुलिस ने उसे प्रेम प्रसंग का एंगल बता हमलावर की खोज सुरु की तो रिंकू नाम के एक शख्स का नाम सामने आया। कहा जा रहा है कि रिंकू और पूजा एक-दूसरे जानते हैं लेकिन पुलिस ने फिलहाल इस जानकारी के बारे में अभी कुछ साफ नहीं किया है। दुल्हन का कहना है कि वह रिंकू नाम के किसी शख्स को नहीं जानती। बता दें कि इस घटना को हर्ष फायरिंग से भी जोड़ा जा रहा है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/bride-got-injured-in-firing-delhi-3995042/

लड़खड़ाकर चल रही थी महिला, तलाशी ली गई तो स्कर्ट के अंदर मिला कुछ ऐसा कि चौंक गए सब


नई दिल्ली: ताइवान के किनमेन शहर के पोर्ट पर एक महिला के पास से 24 गर्बिल्स (चूहे) मिले हैं। इन चूहों को वह अपनी स्कर्ट के अंदर छिपाकर ले जा रही थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, महिला इन गर्बिल्स को चीन से लेकर आई थी। महिला का कहना था कि वो उन्हें अपने दोस्त के लिए लेकर जा रही है।

लड़खड़ाती हुई चल रही थी महिला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गर्बिल्स की तस्करी करने वाली महिला का नाम वु (60) है। वु को किनमेन के शुइतोउ पोर्ट से गिरफ्तार गिया गया। अधिकारियों को महिला की अजीब ड्रेस और उसकी अजीब चाल देखकर उस पर शक हुआ था। महिला लड़खड़ाती हुई चल रही थी, जिसके बाद तटरक्षक बल के अधिकारियों ने उसकी तलाशी ली।

स्कर्ट के अंदर से मिले जिंदा गर्बिल्स

महिला के स्कर्ट के अंदर से 24 जिंदा गर्बिल्स मिले। महिला का कहना था कि गर्बिल्स को वह अपने दोस्तों के लिए ले जा रही थी। वहीं, जब दोस्त के बारे में पूछा गया तो वह कुछ भी नहीं बता पाई।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/woman-caught-with-24-gerbils-under-her-skirt-3994767/

जिस नारियल के खोल को फेंक देते हैं आप, आज उसकी कीमत जान सिर के खड़े हो जाएंगे बाल


नई दिल्ली। आज के दौर में हर किसी के लिए ऑनलाइन बाजार 24 घंटे खुला हुआ है। यहां पर लोग बिना रोक-टोक के चीजों को खरीद और बेंच सकते हैं वो भी अपने मुंह मांगे दाम पर। यही वजह है कि लोग इन दिनों नारियल के खोल का एक स्क्रीनशाट सोशल मीडिया में शेयर कर रहें हैं और लिख रहें हैं कि पहले पता होता तो आज हम भी करोड़पति होते। दरअसल, ऐसा लिखने के पीछे की वजह यह है कि ऑनलाइन बेवसाइट अमेजन पर नारियल का खोल लगभग 3000 रूपये में बेचा जा रहा है।

 

नैचुरल और ऑर्गेनिक कहकर बेचे जाते हैं ऐसे सामान

हो सकता है कि एक बार आपको अपने कानों पर भरोसा न हो लेकिन हकीकत यही है कि ऑनलाइन मिलने वाले सामानों को ‘नैचुरल और ऑर्गेनिक’ कहकर किसी भी कीमत में बेचा जा रहा है। लेकिन 20 से 30 रूपये में मिलने वाले नारियल के खोल की कीमत हर किसी को अचरज में डाल रही है। बता दें कि इस नारियल की खोल को खरीदने के लिए ऑनलाइन कंपनी अमेजन अपने ग्राहकों को डिसकाउंट भी दे रही है। वो भी कोई छोटा-मोटा डिसकाउंट नहीं पूरे 1675 रूपये का। हैरान करने वाली बात यह है कि डिसकाउंट के बाद भी यह खोल बहुत महंगा है। यानी 3000 की कीमत वाले इस नारियल खोल पर करीब 55 प्रतिशत का डिस्काउंट दिया जा रहा है। ऐसे में 1675 रूपये के डिस्काउंट के बाद यह 1365 रूपये में मिल रहा है।

 

सोशल मीडिया में हो रहा लगातार ट्रोल

कई लोगों को तो इन फोटोज पर भरोसा नहीं हो रहा है। ऐसे में वो खुद साइट पर जाकर इसका रेट चेक रहे हैं। इसके बाद वो भी इसे ट्रोल करने में शामिल हो रहे हैं। फिलहाल यूजर्स तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं। एक यूजर ने लिखा कि अगर पता होता कि नारियल का खोल इतना महंगा बिकेगा तो अपने खेतों में नारियल के ही पेड़ लगा लेते। तो वहीं कुछ लोग नारियल के खोल का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिख रहें हैं कि हमारा तो अब इस दुनिया पर से ही भरोसा उठ गया यार।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/coconut-shell-sold-at-very-high-price-shocks-online-customer-3994642/

24 साल का ये लड़का बनेगा मायावती का उत्तराधिकारी! जानिए कहां से की है पढ़ाई


नई दिल्ली: अभी बीती 15 जनवरी को बीएसपी सुप्रीमो मायावती का जन्मदिन था, मायावती अब 63 साल की हो गयी हैं ऐसे में एक खबर जो मीडिया की सुर्खियां बन रही हैं वो है मायावती का उत्तराधिकारी कौन होगा। दरअसल मायावती के उत्तराधिकारी को लेकर ये खबरें इसलिए आ रही हैं क्योंकि आजकल मायावती जब भी किसी मंच पर आ रही हैं तो उनके साथ एक अनजान चेहरा दिखाई दे रहा है जिसे लेकर कयास लगाए जा रहे हैं कि ये लड़का मायावती का उत्तराधिकारी बन सकता है। तो चलिए आज आप जान ही लीजिए कि कौन है ये अनजान चेहरा।

बीएसपी प्रमुख मायावती के साथ जो शख्स आजकल मंच पर दिखाई देता है वो और कोई नहीं उनके भाई आनंद कुमार का 24 साल का बेटा आकाश आनंद है जो हाल ही में लंदन से एमबीए की डिग्री लेकर आए हैं। बता दें कि आनंद को लगातार मायावती के साथ कई सार्वजनिक मंचों पर देखा जा चुका है जिसे देखकर ऐसा लगता है कि मायावती अपने भतीजे को राजनीति की A B C D से रूबरू करवा रहे रहीं हैं।

हाल ही में अखिलेश यादव से मायावती की मुलाक़ात के दौरान भी उनके भतीजे आकाश आनंद उनके साथ मौजूद थे। इससे पहले जब वो तेजस्वी यादव से भी मिली थीं तब भी उनके साथ आकाश आनंद मौजूद थे। मायावती आकाश को अपने साथ ही रखकर आगे की राजनीति के लिए तैयार करती हुई दिखाई दे रही हैं जिसे देखकर ऐसा लगता है कि उनके भतीजे आकाश जल्द ही बीएसपी की कामान संभाल सकते हैं।

सार्वजानिक मंचों पर साथ आने की वजह से ही मायावती के उत्तराधिकारी के तौर पर आकाश आनंद के नाम की चर्चा तेज हो गयी है लेकिन इस बात की अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है। अगर मायावती के उत्तराधिकारी की बात करें तो काफी समय पहले मायावती ने कहा था कि उनका उत्तराधिकारी उनसे 15 साल छोटा होगा, सजातीय होगा साथ ही उनके परिवार से नहीं होगा। मायावती की इस बात को गौर करें तो आनंद का उत्तराधिकारी बनना महज अफवाह हो सकती है लेकिन एक साथ सार्वजनिक मंच पर बुआ-भतीजे का दिखाई देना इस बात की ओर इशारा कर रहा है की आकाश आनंद मायावती के उत्तराधिकारी बन सकते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/mayawati-will-give-this-boy-bsp-political-responsibilities-3994448/

पढ़ने में होशियार भाई नहीं चल पाता 1 भी कदम, बहन ने निकाला ऐसा तरीका कि अब रोज जा सकेगा स्कूल


नई दिल्ली। कहते हैं कि जिस चीज को पूरी शिद्दत से चाहो तो फिर पूरी कायनात उसे मिलाने में लग जाती है। भाई-बहन का प्यार भी इससे अछूता नहीं है। आज हम आपको जिस भाई-बहन के बारे में बताने जा रहे हैं उनका प्यार भी कुछ ऐसा ही है। दरअसल, 16 साल की मयूरी का छोटा भाई बचपन से ही दिव्यांग है। वह चल-फिर सकने में असमर्थ है लेकिन उसे पढ़ने के लिए स्कूल जाना बहुत पसंद हैं। ऐसे में उसकी बहन मयूरी ने उसे स्कूल ले जाने के लिए नायाब तरीका निकाला है।

 

हर कोई कर रहा मयूरी की तारीफ

अपने भाई की पढ़ाई के प्रति लगन देख कर मयूरी ने उसे रोज स्कूल ले जाने का फैंसला किया। लेकिन इसके लिए सबसे बड़ी समस्या यह थी कि निखिल व्हीयल चेयर के अलावा किसी और चीज में नहीं बैठ सकता था। ऐसे में 16 साल की मयूरी ने अपने भाई की सहुलियत के लिए कुछ ऐसा अविष्कार कर डाला जिसकी हर कोई तारीफ कर रहा है। पहले तो निखिल को उसके पापा स्कूटर से स्कूल छोड़ आते थे लेकिन निखिल की उम्र और वजन बढ़ने से अब ये संभव नहीं हो पा रहा था। ऐसे में मयूरी ने अपने भाई के लिए एक खास साइकिल बनाई है। जिसमें उसने निखिल के व्हीलचेयर को अपनी साइकिल के अगले हिस्से से जोड़ लिया है। अब निखिल बड़े आराम से इसमें बैठ के स्कूल जा सकता है।

 

स्कूल टीचर ने की मदद

साइकिल बनाने के इस काम में मयूरी की मदद उसके स्कूल के साइंस टीचर्स और टेक्निकल टीम ने की। जब मयूरी ने अपने भाई को स्कूल तक लाने के लिए स्कूल के प्रिंसिपल को यह आइडिया बताया तो उन्हें ये काफी पसंद आया। खास बात यह है कि इस काम को एक हफ्ते से कम समय में पूरा कर लिया गया और इसके अलावा साइकिल के इस मॉडिफिकेशन में निखिल की सुरक्षा का भी पूरा ख्याल रखा गया है। मयूरी के इस प्रयास को अब राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए चुना गया है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/girl-innovates-wheelchair-cycle-for-her-disabled-brother-3990349/

इस वजह से केजरीवाल की बेटी को किडनैप करना चाहता था बिहार का ये शख्स, सामने आई चौंकाने वाली बात


नई दिल्ली। 9 जनवरी, बुधवार का दिन। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अन्य दिनों की तरह अपने कामकाज में लगे होते हैं तभी उनकी ऑफिशियल मेल आईडी पर एक ईमेल आता है और ईमेल को देखते ही उनके दिल की धड़कन बढ़ जाती है। ईमेल के आते ही चंद घंटों में उनके परिवार की सुरक्षा अभेद किले में बदल जाती है। इसके ठीक 6 दिन बाद एक शख्स की गिरफ्तारी होती है। जो बताता है कि उसने दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाज की बेटी को ही किडनैप करने की धमकी क्यों दी?

 

मेल में लिखी थी ये बात

मीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक, धमकी देने के आरोप में 24 साल के जिस शख्स को गिरफ्तार किया गया है उसका नाम विकास राय है और उसे उत्तरप्रदेश के रायबरेली से गिरफ्तार किया गया है। विकास, बिहार के समस्तीपुर जिले का रहने वाला है और पिछले कुछ समय से दिल्ली में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था। लेकिन मेल भेजने के बाद विकास अपनी बहन के घर रायबरेली चला गया था। बाद में पुलिस ने विकास के फोन को ट्रेस करके उसे गिरफ्तार कर लिया।

 

ये थी धमकी की वजह

धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार किए गए विकास से जब पुलिस ने इस बारे में पूछताछ की तो वजह जानकर पुलिस भी हैरान रह गई। विकास ने बताया कि वह किसी हाई-प्रोफाइल व्यक्ति का ध्यान अपनी प्रॉब्लम की तरफ लाना चाहता था। ऐसे में उसने दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाज को मेल भेजने का फैंसला किया। उसने बताया कि वह मानसिक रूप से बीमार है और दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज करा रहा है। लेकिन वहां के डॉक्टरों ने उसे फिट घोषित कर दिया है। ऐसे में बेहतर इलाज पाने के लिए और ऊंची पोस्ट पर बैठे लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए उसने केजरीवाल की बेटी की किडनैपिंग की धमकी दी थी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/man-arrested-for-threatening-to-abduct-arvind-kejriwal-s-daughter-3989828/

Kumbh Mela 2019: दो तरह के होते हैं नागा साधु, इस मायने में अलग होते हैं खूनी नागा


नई दिल्ली: प्रयागराज में चल रहे महाकुंभ में नागा संन्यासियों के कैंप आम लोगों के लिए आकर्षण का बड़ा केंद्र बन गए हैं। अलग—अलग कैंप में नागा संन्यासियों के छोटे—छोटे शिविर बने हैं। ये नागा संन्यासी लोगों के लिए किसी कौतुहल से कम नहीं हैं। बता दें, नागा साधु दो प्रकार के होते हैं एक बर्फानी और एक खूनी नागा। हम आपको खूनी नागा के बारे में बता रहे हैं।

हरिद्वार और उज्‍जैन में आयोजित होने वाले कुंभ में ही नागा साधु बनने की दीक्षा दी जाती है। जिन्‍हें हरिद्वार में दीक्षा दी जाती है उन्‍हें बर्फानी नागा कहा जाता है और जिन्‍हें उज्‍जैन में नागा साधु बनने की दीक्षा दी जाती है, उन्‍हें खूनी नागा साधु कहा जाता है। खूनी नागा अपने साथ अस्त्र-शस्त्र भी धारण करते हैं और धर्म की रक्षा के लिए अपना खून भी बहा सकते हैं। दीक्षा के साथ ही अखाड़ों के भीतर उनके 5 गुरु बनाए जाते हैं। उनको भस्‍म, भगवा और रुद्राक्ष जैसी 5 चीजें धारण करने को दी जाती हैं। उन्‍हें संन्‍यासी के तौर पर जीवनयापन करने की शपथ दिलाई जाती है।

खूनी नागा साधु बनने के लिए साधुओं को रात भर ओम नम: शिवाय का भी जप करना होता है। जप के बाद अखाड़े के महामंडलेश्‍वर विजया हवन करवाते हैं। इसके बाद सभी को फिर से क्षिप्रा नदी में 108 डुबकियां लगवाई जाती हैं। स्‍नान के बाद अखाड़े के ध्‍वज के नीचे उससे दंडी त्‍याग करवाया जाता है। इस प्रक्रिया में वह नागा साधु बन जाते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/hot-on-web/kumbh-mela-2019-naga-sadhu-prayagraj-3989163/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Haryana Jobs / Opportunities / Career
Bank Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Rajasthan Jobs / Opportunities / Career
Scholorship Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
Railway Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Gujarat Jobs / Opportunities / Career
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Bihar Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Punjab Jobs / Opportunities / Career
Admission Jobs / Opportunities / Career
Jammu and Kashmir Jobs / Opportunities / Career
Madhya Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Bihar
State Government Schemes
Study Material
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Syllabus
Festival
Business
Wallpaper
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com