Patrika : Leading Hindi News Portal - Industry #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Industry

http://api.patrika.com/rss/industry 👁 678

BIG BASKET लेकर आया ये खास ऑफर, एक सामान खरीदने पर दूसरा सामान मिल रहा फ्री


नई दिल्ली। भारत में इन दिनों ऑनलाइन शॉपिंग का क्रेज खूब बढ़ रहा है, जिसे ध्यान में रखते हुए ई-कॉमर्स कंपनियां न सिर्फ इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट्स, होम एप्लायंसेज बल्कि ग्रॉसरी पर भी भारी डिस्काउंट और ढेरों ऑफर दे रही हैं। जी हां आप अपने घर के राशन पर भी भारी डिस्काउंट पा सकते हैं। अगर आप बिग बास्केट की वेबसाइट से राशन खरीदते हैं तो आप बेहद ही कम कीमत में सामान तो खरीद ही सकते हैं साथ ही कई प्रोडक्ट्स फ्री में भी पा सकते हैं।

बिग बास्केट लेकर आया ये खास ऑफर

बिग बास्केट अपने ग्राहकों के लिए एक शानदार ऑफर लेकर आया है। बिग बास्केट ने अपने ग्राहकों के लिए एक के साथ एक फ्री ऑफर शुरू किया है। जिसके तहत अगर ग्राहक पनीर, ग्रीन टी, ड्राई फ्रूट जैसे खाने-पीने वाले सामान खरीदते हैं तो ग्राहक एक पर एक फ्री प्रोडक्ट्स पा सकते हैं। अगर आप स्नैक खरीदना चाहते हैं तो बिग बास्केट आपके लिए बेहद ही खास ऑफर लेकर आया है। दरअसल बिग बास्केट स्नैकबाई पर बाई वन गेट वन ऑफर दे रहा है।

बिग बास्केट का बिग ऑफर

अगर आप सस्ते दामों में ड्राई फ्रूट खरीदना चाहते हैं, तो आपके पास ये अच्छा मौका है। बिग बास्केट पर 50 ग्राम का ड्राई फ्रूट एंड नट 95 रुपए का मिल रहा है। साथ ही इस पर भी बिग बास्केट बाई वन गेट वन ऑफर दे रहा है। इसके अलावा भी बिग बास्केट अपने ग्राहकों के लिए कई ऑफर लेकर आया है। जिसे आप बिग बास्केट की वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/big-basket-offering-you-buy-one-get-one-on-grocery-product-3997607/

इस राज्य के लोगों को मोदी सरकार का तोहफा, किराए की दुकान अब नहीं करनी होगी खाली


नई दिल्ली। क्या आप भी किराए पर दुकान चला रहे हैं अगर हां तो अब आपको बिल्कुल भी परेशान होने की जरूरतन नहीं है क्योंकि बजट से पहले मोदी सरकार आपके लिए एक खास तोहफा लेकर आई है। अब किराए पर दुकान चलाने वालों के लिए सरकार टेनेंसी एक्ट लाने जा रही है।


गुजरात में लागू होगा एक्ट

इस एक्ट के आ जाने के बाद किराए पर दुकान चलाने वालों को कोई परेशानी नहीं होगी। सूत्रों के मुताबिक इस एक्ट को गुजरात में लागू किया जाएगा। इस एक्ट के तहत किसी भी दुकान का मालिक किराएदार को दुकान से नहीं निकाल सकेगा।


कोर्ट की मंजूरी का इंतजार

आपको बता दें कि सरकार ने इस एक्ट का ड्राफ्ट 2014 में ही तैयार कर लिया था। इस एक्ट में अगर कोई भी किराएदार दुकान का किराया देता है तो उसको वहां से कोई भी बाहर नहीं निकाल सकता है। इस एक्ट के अंतर्गत सरकार दुकान किराया तय करने का फॉर्मूला तय किया जाएगा। फिलहाल अभी तक इस एक्ट को कोर्ट की तरफ से मंजूरी नहीं मिली है।


सभी का रखा जाएगा ध्यान

मोदी सरकार ने इस एक्ट को छोटे कारोबारियों के लिए बनाया है। इस एक्ट से कोई भी आसानी से दुकान ले सकेगा और अपना बिजनेस चला सकेगा। इसके साथ ही सरकार ने जानकारी देते हुए बताया कि किराएदारों के लिए जल्द ही नया एक्ट आएगा। एक्ट में दुकान का किराया तय करने का फॉर्मूला भी शामिल होगा।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/modi-govt-eill-give-relief-to-small-business-man-for-tenet-shop-3997474/

मुकेश अंबानी ने पीएम मोदी से की गुजारिश, कहा - भारत का डेटा भारत में ही रहे


नई दिल्ली। आजकल भारत की बड़ी-बड़ी कंपनियों का डेटा विदेशों की कंपनियों के पास आसानी से मिल जाता है, जिसको लेकर रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने पीएम मोदी से बातचीत की। अंबानी ने शुक्रवार को बातचीत करते हुए मुकेश अंबानी ने कहा कि हमें ‘डेटा के औपनिवेशीकरण’ के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए।


डेटा की सुरक्षा का रखा जाए खास ध्यान

मुकेश अंबानी ने बातचीत करते हुए कहा कि आज के समय में डेटा किसी भी कंपनी के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है। इसलिए हमें इसकी सुरक्षा का भी खास ध्यान रखना चाहिए। भारत की कंपनियों के आंकड़े सिर्फ भारत के पास ही होने चाहिए। हमें इसे किसी अन्य देश में लोगों को नहीं देना चाहिए। इससे भारत की वर्तमान स्थिति के बारे में सभी को जानकारी हो जाती है।


महात्मा गांधी ने भी चलाया था अभियान

अंबानी ने बातचीत करते हुए बताया कि माहात्मा गांधी ने भी भारतीय आंकड़ों की सुरक्षा के लिए अभियान चलाया था। अब हमें उस अभियान को फिर से शुरू करना होना और भारत के डेटा पर दूसरे देशों को कब्जे को खत्म करना होगा।


भारत में वापस लाए जाएं आंकड़े

आज के समय में भारत के लिए डेटा एक नई संपत्ति है। हमें भारत के आंकड़ों को भारत तक ही सीमित रखना चाहिए। साथ ही जो भी आंकड़े भारत के बाहर हैं उनको किसी भी तरह से भारत में वापस लाया जाए। साथ ही अंबानी ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि ‘मोदी’ की पहचान काम करने वाले व्यक्ति के रूप में हुई है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/mukesh-ambani-said-to-pm-modi-take-step-against-colonization-of-data-3996912/

जेट एयरवेज को बचाने के लिए तैयार नरेश गोयल, कर सकते हैं 700 करोड़ रुपए का निवेश


नई दिल्ली। बुरी तरह से कर्ज में डूबी जेट एयरवेज को बचाने के लिए जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल 700 करोड़ रुपए का निवेश करने को तैयार हैं। लेकिन उन्होंने ये निवेश करने से पहले एक शर्त सामने रखी है। दरअसल गोयल चाहते है कि उनकी जेट एयरवेज में हिस्सेदारी 25 फीसदी से कम नहीं होनी चाहिए।

700 करोड़ रुपए लगाने को तैयार हुए नरेश गोयल

गोयल ने एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार को पत्र लिखकर निवेश करने की बात कहीं है। गोयल ने पत्र में ये भी कहा है कि वो ये पत्र एतिहाद के रुख के मद्देनजर निपटान योजना के तहत लिख रहे हैं। जिस पर अभी तक बातचीच चल रही है। गोयल का कहना है कि कंपनी इस समय कई वित्तिय परेशानियों का सामना कर रही है। ऐसे में वो कंपनी को बचाने के लिए ये निवेश करने के लिए तैयार है। इस निवेश को करने के लिए वो अपने शेयर गिरवी रखने के लिए भी तैयार है। लेकिन वो इस निवेश तभी करेंगे जब एयरलाइन में उनकी 25 फीसदी हिस्सेदारी बनी रहेगी।

गोयल ने लिखा एसबीआई को पत्र

एसबीआई चेयरमैन रजनीश कुमार को भेजे पत्र में गोयल ने कहा है कि अगर ऐसा नहीं होता है तो मैं किसी भी तरह का निवेश या अपने शेयर गिरवी नहीं रखना चाहूंगा। गोयल आगे कहते है कि अगर सेबी मुझे छूट देता है कि मैं अपनी हिस्सेदारी 25 प्रतिशत से नीचे जाने की स्थिति में बढ़ा पाऊं और इसमें अधिग्रहण संहिता लागू नहीं हो, तो मै एयरलाइन को बचाने के लिए ये निवेश जरूर करना चाहूंगा।

गोयल के पास है इतनी हिस्सेदारी

आपको बता दें कि सेबी के टेकओवर कोड के तहत जब एक लिस्टेड कंपनी में किसी एंटिटी की हिस्सेदारी एक निश्चित सीमा से ज्यादा होती है तो ओपन ऑफर लाना जरूरी होता है। जेट एयरवेज को कर्ज देने वाले बैंकों के कंसोर्टियम में एसबीआई अग्रणी लेंडर है और स्टेकहोल्डर्स जेट एयरवेज के लिए एक रिजॉल्युशन लाने पर विचार कर रहे हैं। गौरतलब है कि बीएसई पर जेट एयरवेज के शेयर होल्डिंग पैटर्न के मुताबिक दिसंबर 2018 में खत्म हुई तिमाही तक गोयल के पास 5,79,33,665 शेयर है, जो कि कंपनी के करीब 51 फीसद स्टेक के बराबर है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/naresh-goyal-offers-to-invest-rs-700-crore-in-jet-airways-3996910/

वोडाफोन पब्लिक के साथ कर रही है गोरखधंधा, सिम में इस तरह यूजर्स के साथ हो रही धोखाधड़ी


नई दिल्ली। देश की जाना-मानी टेलीकॉम सेक्टर कंपनी वोडाफोन के बारे में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। कंपनी की ओर से कई यूजर्स के साथ धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। दरअसल, कंपनी की ओर से यूजर्स को सिम कार्ड जारी तो कर दिया जा रहा है, लेकिन जब उसे एक्टिवेट करने की बात आई तो हैरान करने वाली सच्चाई सामने आई है। यूजर्स के साथ किस तरह गोरखधंधा किया जा रहा है उसका उदाहरण आप इस यूजर्स के साथ हुए हादसा से लगा सकते हैं।

Vodafone Mail

दरअसल, कंपनी ने कर्इ यूजर्स को नंबर जारी करने के बाद उसे एक्टिवेट नहीं किया। कंपनी की लापरवाही को देखते हुए परेशान यूजर्स जब अपने नजदीकी स्टोर्स पर इस बाबत संपर्क करने गए तो स्टोर कर्मचारियों ने तो पहले इसे लेकर अपना पल्ला झाड़ दिया। यही नहीं, कंपनी ने तो एक यूजर को कह दिया कि इसके बारे में हमें कोर्इ जानकारी नहीं है। इसको लेकर हम आपकी कोर्इ मदद नहीं कर सकते हैं। इस यूजर के लिए परेशान करने की सबसे बड़ी वजह है कि उन्होंने कंपनी की आधिकारिक साइट से अपने नीजि बिजनेस के लिए एक नंबर लिया था। अब उन्होंने इस नंबर को बिजनेस संबंधित कर्इ कागजातों में दर्ज भी करा दिया है। एेसे में कंपनी द्वारा इस लापरवाही से उनके बिजनेस में भारी नुकसान होने की संभावना है। खास बात है यह ग्राहक करीब 10 सालों से वोडाफोन के कस्टमर हैं आैर इस बार उन्होंने अपने बिजनेस के लिए पोस्टपेड नंबर लिया है।


दो-दो यूजर्स को एक ही नंबर जारी

एक नहीं बल्कि कर्इ नजदीकी वोडाफोन स्टोर्स पर संपर्क करने पर स्टोर मैनेजर से लेकर कर्मचारियों तक का कहना है कि कंपनी की तरफ से जारी किया गया नंबर डिजिटली लाॅक है। एेसे में इसे दाेबारा एक्टिवेट नहीं किया जा सकता है। गौरतलब है कि यह नंबर किसी अन्य यूजर के नाम से रजिस्टर्ड है आैर कंपनी ने एक बार फिर इस नंबर को दूसरे यूजर के नाम पर रजिस्टर कर दिया है। स्टोर कर्मचारियों के रिकाॅर्ड में भी एक ही नंबर दो-दो यूजर्स के नाम रजिस्टर्ड दर्शा रहा है। ध्यान देने वाली बात है कि कंपनी ने नंबर जारी करने से पहले एक बार भी यह चेक करने की जहमत नहीं उठार्इ की जो नंबर वह जारी करने जा रही है, उसमें क्या तकनीकी बाधा आ सकती है। क्या वह डिजिटली अनलाॅक किया जा सकता है या नहीं। क्या यह नंबर एक्टिवेट करने लायक है या नहीं। यदि एेसा कोर्इ मसला है तो उसे जारी ही क्यों किया जा रहा है।


कंपनी झाड़ रही अपना पल्ला

पत्रिका बिजनेस ने जब इस यूजर से संपर्क किया तो वोडाफोन के पूरे गोरखधंधे की पोल खुल गर्इ। कंपनी की तरफ से यूजर को रिप्लार्इ किए गए मेल में इस मामले की जांच करने का आश्वासन दिया गया है, लेकिन कर्इ दिनों बाद भी इसपर कोर्इ कार्रवार्इ नहीं की गर्इ है। यूजर ने मेल से लेकर ट्वीटर हैंडल तक के माध्यम से कंपनी को संपर्क करने का प्रयास किया है। हर जगह कंपनी बस आश्वासन ही दे रही लेकिन यूजर के समस्या का निदान नहीं कर रही है। एेसे में कर्इ कस्टमर्स को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन कंपनी को अपने ग्राहकों की समस्या की नहीं बल्कि अपने धंधे से बस कमार्इ करने की पड़ी है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/vodafone-unresponsive-to-customers-complain-after-selling-fake-numbers-3996724/

अब अडाणी देंगे मुकेश अंबानी को चुनौती, 16000 करोड़ में की ये खास डील


नई दिल्ली। अब जल्द ही अडाणी और अंबानी आमने-सामने आने वाले हैं। दोनों के बीच ही कड़ी टक्कर होने वाली है। गुरूवार को अडाणी समूह ने जानकारी देते हुए बताया कि वह जर्मन केमिकल कंपनी BASF के साथ साझेदारी करेंगे। इस साझेदारी में अंबानी और अडाणी दोनों लोग 16 हजार करोड़ का निवेश कर पेट्रोकेमिकल्स की फैक्ट्री खोलेंगे।


रिलायंस इंडस्ट्रीज सबसे आगे

आपको बता दें कि आज के समय में पेट्रोकेमिकल्स सेक्टर में मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज का काफी नाम है। वहीं, अडाणी समूह और BASF ने एक बयान भी जारी किया। इस बयान में जानकारी देते हुए बताया कि गुजरात के मुंद्रा जिले में पेट्रोकेमिकल्स फैक्ट्री को खोला जाएगा इसके साथ ही वहां पर पवन और सौर ऊर्जा के प्लांट भी लगाए जाएंगे।


सौर ऊर्जा का हो ज्यादा से ज्यादा प्रयोग

सौर ऊर्जा के प्लांट के माध्यम से फैक्ट्री की इलेक्ट्रिसिटी की जरूरतों को पूरा किया जाएगा, जिससे कि बिजली की बचत की जा सके और सौर ऊर्जा का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग हो सके।


जर्मन कंपनी की हिस्सेदारी होगी ज्यादा

आपको बता दें कि इस प्रोजेक्ट में जर्मन कंपनी BASF की हिस्सेदारी भारतीय कंपनी की तुलना में अधिक होगी। इस कंपनी को अडाणी और BASF की साझेदारी से बनाया जाएगा। हालांकि पावर वेंचर में BASF की हिस्सेदारी कम रहेगी।


पहली बार होंगे आमने-सामने

आपको बता दें कि तेल से लेकर टेलीकॉम सेक्टर तक रिलायंस का दबदवा है। आज के समय में रिलायंस दुनिया भर के पांच सबसे बड़े तेल उत्पादकों की लीग में पहुंच गई। ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि जब अडाणी और अंबानी किसी बिजनेस में डायरेक्ट कंपटीशन में होंगे।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/adani-group-and-basf-will-start-perachemical-factory-with-16000-crore-3996138/

सरकार के इस नियम से ऋतिक, आलिया समेत ये स्टार फंसे मुसीबत में, ऐसे होगा कमाई पर असर


नई दिल्ली। आजकल ज्यादातर सभी बॉलीवुड सेलिब्रिटी किसी न किसी ब्रांड से जुड़े हुए हैं। इसके साथ ही कई बॉलीवुड सेलिब्रिटी जैसे सैफ अली खान, रितिक रोशन, दीपिका पादुकोण और आलिया भट्ट ने अपने खुद के फैशन ब्रांड लॉन्च किए हैं। एफडीआई नीति में हुए बदलावों से इन सभी बॉलीवुड सेलिब्रिटी को बड़ा झटका लगा है।


इन सेलिब्रिटी की कमाई पर पड़ा असर

ईकॉमर्स पर एफडीआई नीति के बदलावों का सेलिब्रिटी पर सीधा असर पड़ा है। वहीं Flipkart के फैशन पोर्टल Myntra और उसकी सहायक कंपनी Jabong से आलिया भट्ट की कमाई पर काफी असर पड़ा है, क्योंकि आलिया भट्ट इन ब्रांडों में हिस्सेदारी रखती हैं। इसके साथ ही आपको बता दें कि Myntra, Jabong और Flipkart आज के समय में लोगों की पहली पसंद बन गए हैं और इन साइट्स पर ज्यादातर सभी ब्रांड के प्रोडक्ट बेचे जाते हैं।


1 फरवरी लागू हो जाएंगे नियम

नए एफडीआई नियमों में हुए बदलावों को 1 फरवरी से लागू किया जाएगा। इस नियम के लागू होने के बाद क्या सैफ अली खान की हाउस ऑफ पटौदी, ऋतिक रोशन की एचआरएक्स, दीपिका पादुकोण की ऑल अबाउट यू ब्रांड और आलिया भट्ट जबॉन्ग जैसे ब्रांड पर अपने प्रोडक्टस की बिक्री जारी रख पाएंगे या नहीं। नए नियमों के आने के बाद सभी सेलिब्रिटी के लिए ये एक बड़ी समस्या हो सकती है।


सलमान खान पर नहीं होगा कोई असर

एक विशेषज्ञ ने जानकारी देते हुए बताया कि 1 फरवरी के बाद से सभी सेलिब्रिटी अपने ब्रांड के प्रोडक्टस को Myntra और Jabong पर नहीं बेच पाएंगे। इसके साथ ही आपको बता दें कि सलमान खान की Being Human ब्रांड, विराट कोहली की One8 और सोनम कपूर की Rheson will ब्रांड पर नई एफडीआई नीति का कोई असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि इन सभी लोगों के ईकॉमर्स मार्केटप्लेस के साथ इक्विटी संबंध नहीं हैं।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/deepika-and-other-celebrtiy-will-not-sold-out-his-product-on-ecommerce-3995137/

लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार की नई योजना, ATM से FREE में निकलेगी दवा


नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार जनता को एक नया तोहफा देने की तैयारी में है। दरअसल सरकार की नई योजना के तहत जल्‍द ही आप एटीएम से पैसा के साथ-साथ दवा भी न‍िकाल सकेंगे। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार मोदी सरकार लोगों की सुविधा के लिए हर जिले में एक ऐसा एटीएम लगाने पर विचार कर रही है जिससे आम जनता मुफ्त में दवा निकाल पाएंगे।

ATM से FREE में निकाल सकेंगे दवा

आपको बता दें कि आंध्र प्रदेश में 15 जगहों पर दवा वाले एटीएम लगे हुए हैं। इन एटीएमों से लोगों की परेशानी काफी हद तक कम हो गई है। आंध्र प्रदेश में हुए इसी प्रयोग से उत्साहित होकर केंद्र सरकार अब बड़े पैमाने पर दवा वाले ATM लगाने पर विचार कर रही है। मोदी सरकार इस एटीएम का पूरा नाम एनी टाइम मेडिसिन रखने पर भी विचार कर रही है।

एटीएम में मिलेगी 300 से अधिक जरूरी दवाएं

इस एटीएम मों ब्रांडेड और जेनरिक दवा उपलब्ध होगी। इस एटीएम से टैबलेट के साथ सिरप भी आसानी से निकल जाएगा। नेशनल लिस्ट ऑफ एसेंशियल मेडिसिन लिस्ट में मौजूद अधिकतम दवांए इस एटीएम में होगी।इसमें 300 से अधिक जरूरी दवाएं हैं। ये एटीएम डॉक्टर के प्र‍िस्‍क्र‍िप्‍शन को स्‍कैन करने के बाद ही दवा देगा। इतना ही इस एटीएम से फोन कॉल करके भी दवाएं ली जा सकेंगी। सरकार इन एटीएमों को पहले स्वास्थ्य केंद्रों, ग्रामीण क्षेत्रों में लगाने पर विचार कर रही है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/government-soon-going-to-install-medicine-atm-across-india-3988333/

अब सलमान की जगह लेंगे रणबीर कपूर, थामेंगे इस कंपनी का हाथ


नई दिल्ली। बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता रणबीर कपूर जल्द ही 'कोका कोला' के साथ नई पारी की शुरूआत कर सकते हैं। रणबीर कपूर इससे पहले कोका कोला की प्रतिस्पद्र्धी कंपनी पेप्सी के साथ भी काम कर चुके हैं। मीडिया को जानकारी देते हुए रणबीर कपूर ने कहा कि वह जल्द ही इसकी घोषणा कर सकते हैं।


संजू की सफलता के बाद बढ़े रेट

साल 2018 में संजू फिल्म की सफलता के बाद से रणबीर कपूर एक ब्रांड विज्ञापन के लगभग 6-8 करोड़ रुपये लेते हैं। इसके साथ ही वह 'कोका कोला' कंपनी के साथ एक साल से अधिक के अनुबंध कर सकते हैं। इसके साथ ही सलाहकार कंपनी डफ ऐंड फेल्प्स ने रणबीर कपूर को सेलिब्रिटी की सूची में 16वें पायदान पर रखा है। ये लगभग 150 करोड़ रुपये के ब्रांड मूल्य के साथ ब्रांड करार करते हैं।


इस साल आएंगी कई फिल्में

आपको बता दें कि इससे पहले भी रणबीर कपूर एशियन पेंट्स और फ्लिपकार्ट जैसे ब्रांडों के लिए विज्ञापन कर चुके हैं। इसके साथ ही इस साल इनकी आने वाली फिल्में भी काफी रोमांचक हैं। इस साल इनकी ब्रह्मास्त्र और शमसेरा फिल्म आएगी।


सलमान भी कर चुके हैं साथ काम

आपको बता दें कि कोका कोला इंडिया में रणबीर सिंह 'थम्स अप'ब्रांड के साथ जुड़े हुए हैं। इससे पहले सलमान खान इसका चेहरा था। 2016 में उनका कंपनी के साथ करार खत्म हो गया था, जिसके बाद अब रणबीर सिंह नया चेहरा बनकर आ रहे हैं।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/ranvir-kapoor-will-became-brand-ambassador-of-coca-cola-3984828/

चीनी कंपनियों की साजिश, अश्लील कंटेंट आैर जाली खबरों से एेसे कर रहे भारतीयों को गुमराह


नई दिल्ली। चीन की कई कंपनियों ने भारत में सीधे मोबाईल एप्लीकेशन लाॅन्च करना शुरु कर दिया है, ताकि अगली पीढ़ी के तेजी से बढ़ते इंटरनेट यूज़र्स को जोड़ा जा सके। चीन के ऐप्स जैसे टिकटाॅक, क्वाई, बीगोलाईव, अपलाईव एवं लाईक भारत में काफी लोकप्रिय हो गए हैं। इनके लोकप्रिय होने का कारण खासकर किशोरावस्था के लड़के-लड़कियों के बीच शाॅर्ट वीडियो के लिए बढ़ता जुनून है।


चीन के ऐप्स किशोर लड़के-लड़कियों को यौन सामग्री दिखा रहे हैं

13 से 19 साल के बीच के युवा लड़के-लड़की किसी गाने पर लिप सिंकिंग करके शाॅर्ट वीडियो बनाने के ट्रेंड को बहुत पसंद कर रहे हैं। ऐसे वीडियो अक्सर यौन रूप से खुले होते हैं और विशेषज्ञों की मानें तो ये ऐप यौन संबंधों के जुनूनियों के लिए शिकार की नई जगह बन गए हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि ये ऐप देश के कानून का उल्लंघन करते हैं, क्योंकि ये बच्चों और किशोरावस्था के लड़के-लड़कियों के लिए उपयुक्त नहीं हैं। हालांकि इन प्लेटफाॅर्म्स पर डिस्क्लेमर में कहा गया है कि ये ऐप्स बच्चों के लिए नहीं हैं, लेकिन उनके लक्षित ग्राहकों में छोटे व मध्यम शहरों के प्रिटीन्स एवं किशोर बच्चे हैं।


जमकर हो रहा कानून का उल्लंघन

एक अग्रणी मीडिया हाउस ने चीन के 20 से अधिक वीडियो ऐप्स की समीक्षा की, जो छोटे व मध्यम शहरों में मोबाईल एंटरटेनमेंट के नेटवर्क पर छाए हैं। इनकी लोकप्रियता गुदगुदाते वीडियो, विचारोत्तेजक नोटिफिकेशंस, आपत्तिजनक ह्यूमर एवं अश्लील सामग्री के कारण है। लाईव स्ट्रीमिंग एप्लीकेशंस जैसे बीगो लाईव एवं अपलाईव ज्यादातर व्यक्तिगत वार्तालाप पर केंद्रित हैं, लेकिन ये कानून का गंभीर उल्लंघन करते हुए बच्चों को नग्नता दिखाते हैं और वो ऐसे लोगों के जाल में फंस सकते हैं, जो नाबालिगों को आपत्तिजनक कामों के लिए मजबूर कर सकते हैं।


डेटा की गोपनीयता की समस्या

लोकप्रिय लिप सिंक ऐप, टिकटाॅक में 15 सेकंड का मेमे-फ्रेंडली कंटेंट की बहुतायत है, जिसमें यूज़र्स अपने पसंदीदा गानों पर अभिनय कर सकते हैं। ये वीडियो नुकसान रहित होने के अलावा आपत्तिजनक भी हो सकते हैं, जो इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस यूज़र ग्रुप को फौलो कर रहे हैं।

 

तेजी से बढ़ते यूज़र बेस के बावजूद टिकटाॅक जैसे ऐप के लिए भारत में शिकायत निवारण कार्यालय अभी तक नहीं है, जबकि सरकार सभी प्रमुख सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म्स के लिए इस बात पर बहुत बल दे रही है। टिकटाॅक सहित इनमें से ज्यादातर ऐप्स साफ कहते हैं कि उनके पास उचित टेक्निकल एवं संस्थानागत व्यवस्थाएं हैं, लेकिन फिर भी वो अपने प्लेटफाॅर्म द्वार आपकी इन्फाॅर्मेशन की सुरक्षा की गारंटी नहीं देते। चीन के ऐप्स की गोपनीयता की नीतियों को पढ़ने से पता चलता है कि वो एक क्लिक, आॅप्ट-इन बटन के साथ काफी ज्यादा डेटा एकत्रित कर लेते हैं। इसमें आपके स्थान की जानकारी, संपर्क, आॅडियो एवं वीडियो रिकाॅर्डिंग की अनुमति एवं नेटवर्क की पूर्ण एक्सेस शामिल है। नोनोलाईव जैसे ऐप्स अपनी गोपनीयता की नीति में भारत के लिए किसी विशेष शर्त का कोई वर्णनण् नहीं करते।


स्थानीय लेकिन असल में स्थानीय नहीं

ऐसे मोबाईल ऐप्स की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है, जो स्थानीय होने का दावा करते हैं, क्योंकि वो ऐप्स स्थानीय भाषा में उपलब्ध हैं। भारतीय भाषाओं में उपलब्ध होने के कारण उन्हें इस्तेमाल करना फेसबुक या इंस्टाग्राम के मुकाबले ज्यादा आसान है। चूंकि प्राईवेसी पाॅलिसीज़ इंग्लिश में होती हैं और प्राईवेसी पाॅलिसी स्थानीय भाषाओं में उपलब्ध न होने के कारण कई लोगों को इन ऐप्स का इस्तेमाल करने से होने वाले परिणामों को समझना मुश्किल हो जाता है और वो आसानी से इनके शिकार बन सकते हैं। भारतीय ऐप्स से अलग चीन के ऐप्स में सामान्य गोपनीयता की नीतियां स्थानीय भाषाओं में उपलब्ध नहीं हैं, इसलिए उनके लिए लेयर्ड सहमति न होने से यूज़र्स अगर चाहें तो अपने विशेष दायित्वों से मुकर सकते हैं। शेयरचैट एकमात्र भारतीय क्षेत्रीय सोशल मीडिया ऐप है, जिसकी गोपनीयता की नीति 10 क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध है।


जाली खबरों का विस्तार

इंटरनेट से हर माह 10 मिलियन भारतीय जुड़ रहे हैं। भारत में 2019 के चुनाव नज़दीक आ रहे हैं, ऐसे में सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म्स झूठी जानकारी फैलने से रोकने के लिए अपना हर संभव प्रयास कर रहे हैं। लोग आॅनलाईन खबरें ज्यादा देख रहे हैं एवं बाइटडांस का लोकप्रिय ऐस हेलो ने ऐसी एलगोरिद्म विकसित कर ली है, जिसके द्वारा पता चला है कि जाली खबरों द्वारा उत्तेजित अव्यवस्था को उनके ऐप पर ग्राहकों की संलग्नता बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह ऐसी सुर्खियों को समझता है, जिन्हें सबसे ज्यादा क्लिक मिलती हैं और उनका उपयोग अपने द्वारा प्रकाशित खबरों के लिए करता है। ये हेडलाईन अक्सर लेख की मुख्य सामग्री के मुकाबले ज्यादा उत्तेजक होती हैं, तथा जातीय या धार्मिक मामलों से जुड़ी होती हैं। इससे ग्राहक को हेडलाईन पढ़ने पर भ्रामक जानकारी मिलती है। यह ऐसी सामग्री को क्योरेट कर ग्राहकों के लिए कंटेंट को लक्षित करता है। चूंकि इंटरनेट का नया उपयोग करने वालों को इस बात के बारे में नहीं मालूम होता कि उनका क्लिक किस प्रकार भविष्य में उनके परामर्शों को प्रभावित करता है, इसलिए वो नहीं समझ पाते कि ऐप उन्हें किस प्रकार प्रभावित कर रहा है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/chinese-company-cleverly-attacks-indians-through-applications-3983714/

इस बड़ी कंपनी का अधिग्रहण करेगी भारती एयरटेल, बढ़ाने जा रही अपना बिजनेस


नई दिल्ली। भारती एयरटेल अब केन्या की टेलिकॉम कंपनी को खरीदने के लिए बातचीत कर रही है। केन्या की टेलिकॉम को अगर भारती एयरटेल के द्वारा खरीद लिया जाता है तो इसका सीधा फायदा सुनील मित्तल की टेलिकॉम कंपनी एयरटेल को मिलेगा। इसके साथ ही इसकी खरीदारी से अफ्रीकी बाजारों में भी पकड़ मजबूत होगी और वहां के ग्राहकों को भी फायदा मिलेगा।


केन्या की तीसरी बड़ी कंपनी

यह कंपनी केन्या की तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है। इस टेलिकॉम कंपनी के लगभग 5 मिलियन उपयोगकर्ता है। इसके साथ ही सफारिकॉम 30 मिलियन ग्राहकों के साथ पहले नंबर पर हैं। वहीं, एयरटेल केन्या के लगभग 10 मिलियन ग्राहक है। यह कंपनी दूसरे नंबर पर है। इसका 60 फीसदी यूके की प्राइवेट कंपनियों के हाथ में है और बाकी हिस्सा केन्या सरकार के पास है।


भारती एयरटेल के शेयर में आई गिरावट

केन्या की टेलिकॉम कंपनी को खरीदने के लिए भारती एयरटेल ने हेलियोस से बातचीत की है। वहीं, सेक्टर के विशेषज्ञों ने कहा कि एयरटेल अफ्रीका के मूल्यांकन पर वास्तविक प्रभाव का असर पड़ेगा क्योंकि एयरटेल टेलिविजन केन्या में एक हिस्सेदारी खरीदने के लिए भुगतान करता है। इस खरीदारी की बातचीत से ही बीएसई पर भारती एयरटेल का शेयर 0.64 फीसदी घटकर 331.90 रुपये पर बंद हुआ।


ग्राहकों की बढ़ी संख्या

पूर्व एयरटेल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजय कपूर ने बातचीत करते हुए कहा कि प्रीमियम एयरटेल को टेलिकॉम केन्या को खरीदने के लिए भुगतान करना होगा। इसके साथ ही उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि सितंबर 2017 से लेकर सितंबर 2018 के बीच, एयरटेल केन्या में ग्राहकों की संख्या लगभग 71 फीसदी से बढ़कर 10.4 मिलियन हो गई। इसके साथ ही बाजार में भी इसका हिस्सा 7.4 फीसदी से बढ़कर 22.3 फीसदी हो गया।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/bharti-airtel-buy-kenya-telecom-company-3982857/

IIT को मिलने वाले डोनेशन का टूट सकता है रिकॉर्ड, टॉप 5 इंस्टिट्यूट के पास इकट्ठा हुआ 1,000 करोड़ का फंड


नई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष में भारत के टॉप पांच इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (IIT) में एल्यूमिनाई डोनेशन बढ़कर 1,000 करोड़ रुपए के पार जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि आईआईटी ज्यादा से ज्यादा फन्डिंग इकट्ठा करने में लगातार प्रयास कर रहा है और आईआईटी से पढ़े बच्चे जो आज अच्छी नौकरी कर रहे हैं, इंस्टिट्यूट में ज्यादा से ज्यादा डोनेशन कर रहे हैं। आईआईटी के पांच बड़े इंस्टिट्यूट में मुंबई, चेन्नई, दिल्ली, खरगपुर और कानपुर के इंस्टिट्यूट शामिल हैं। इस संदर्भ में आईआईटी मुंबई के अधिकारियों का कहना है कि पिछले चार से पांच सालों से इंस्टिट्यूट में डोनेशन लगातार बढ़ा है।


ये है टॉप IIT इंस्टिट्यूट की फंड

आईआईटी मदरास के अधिकारी Mahesh Panchagnula का कहना है कि, 'हमें जो फंड मिल रहे हैं वो नए प्रोग्राम और रिसर्च के लिए इस्तेमाल किया जाएगा, जो सरकार की फन्डिंग से संभव नहीं था।' आईआईटी मदरास का कहना है कि उनका कुल एंडोमेंट 220 करोड़ रुपए है और अगले पांच सालों में इसे 1,000 करोड़ रुपए करने की योजना है। वहीं आईआईटी मुंबई, दिल्ली और कानपुर के पास 200 से 250 करोड़ रुपए का एंडोमेंट है। आईआईटी खरगपुर ने अब तक एंडोमेंट की राशि का खुलासा नहीं किया है।


इंस्टिट्यूट की मदद करना चाहते हैं बच्चे

आईआईटी मुंबई के निदेशक देवांग खखर का कहना है कि, 'हमारे इंस्टिट्यूट के कई बच्चे आज अच्छी जगह पर नौकरी कर रहे हैं। उनका मानना है कि अब उन्हें भी इंस्टिट्यूट के लिए कुछ करना चाहिए।' आईआईटी मुंबई को 1993 बैच से पिछले महीने 25 करोड़ रुपए की फन्डिंग मिलने की कमिटमेंट मिली है, जो अब तक की सबसे ज्यादा है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/iit-collected-fund-of-1000-crore-rupees-record-of-funds-collected-3982474/

बंद हो सकती है दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी का ये कारोबार, सरकारी नियम बनी मुसीबत


नई दिल्ली। अगर फरवरी तक सरकार द्वारा फॉरन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट (FDI) के नियमों में कोई बदलाव नहीं किया जाता है तो अमेजन (Amazon) के फूड रिटेल बिजनेस के लिए बड़ी मुसीबत खड़ी हो जाएगी क्योंकि अमेजन का फूड रिटेल बिजनेस Amazon .in पर अपने उत्पाद बेचना बंद कर सकता है। इसके साथ ही अमेजन द्वारा फ्यूचर रिटेल में स्टेक खरीदने की योजना भी टल सकती है, इसलिए ये कंपनी के लिए बड़ा झटका साबित होगा। अमेजन का फूड रिटेल सेगमेंट 2016 के मध्य में विदेशी कंपनियों के लिए खोला गया था। बता दें अमेजन इकलौती ऐसी विदेशी रिटेलर है, जिसका फूड रिटेल सेगमेंट में करीब 3,500 करोड़ रुपए निवेश का उद्देश्य था।


क्या हैं सरकार के नियम ?

दरअसल सरकार द्वारा ई-कॉमर्स एफडीआई पर एक नोटिफिकेशन जारी किया गया था। ये नियम फरवरी से लागू होंगे। नियमों के अनुसार अमेजन द्वारा मार्केटप्लेस पर अपनी सहयोगी कंपनियों के प्रॉडक्ट्स बेचने से रोक लगा दी गई थी। Amazon.in पर अमेजन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड खाद्य सामग्री बेचती थी, जिसकी बिक्री अब नहीं होगी। इस संदर्भ में अमेजन के प्रवक्ता ने कहा कि, 'भारत में हम इस तरह से निवेश करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जिसका तालमेल किसानों और ऐग्रिकल्चर कम्युनिटी के बारे में सरकार के विजन से बन सके। अभी हम ताजा गाइडलाइंस पर विचार कर रहे हैं।'


दिसंबर में दिए गए थे कड़े निर्देश

सरकार ने कहा था कि इन कंपनियों को वेयरहाउसिंग, लॉजिस्टिक्स और ऐडवर्टाइजिंग जैसी सेवाएं सभी सेलर्स को बिना किसी भेदभाव के देनी होंगी। सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों के ऐसे करार करने पर भी रोक लगा दी थी, जिसके तहत प्रॉडक्ट्स की एक्सक्लूसिव बिक्री की जाती हो। सरकार ने अमेजन और फ्लिपकार्ट सहित एफडीआई फंडिंग वाली ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए नियम दिसंबर में कड़े कर दिए थे। सरकार ने कहा था कि ऐसी इकाइयां इन्वेंटरी पर ओनरशिप नहीं रख सकती हैं।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/world-largest-e-commerce-company-business-can-close-due-to-government-3982313/

आपके लिए खतरा बना स्मार्ट TV, एेसे चोरी हो रहीं जरूरी जानकारियां


नर्इ दिल्ली। हर कोर्इ अपने घर में बेहतरीन फीचर्स वाला स्मार्ट टीवी रखना चाहता है। एक एेसी टीवी जिसके इमेज क्वालिटी बेहतरीन हो, काफी पतला, आैर आपको स्मार्टफोन जितना स्माॅर्ट, लेकिन हर मायने में ये आधुनिक टीवी अब आपके लिए सबसे बड़ा खतरा बन सकता है। दरअसल, कर्इ सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म आैर स्मार्टफोन की तरह ही ये टीवी आपके डेटा की चोरी कर रहे हैं।


आपको इस्तेमाल के आधार पर चोरी किया जा रहा डाटा

अामतौर पर बाजार में एक स्मार्ट टीवी की आैसत कीमत 30-35 हजार रुपए है। लेकिन एेसे में ग्राहक सोचते हैं कि महत इतने रुपए में उनके ड्राइंग रूम में एक एेसी चीज आ रही जो हर मायने में स्माॅर्ट है। लेकिन अापके स्मार्ट टीवी की यह कम कीमत आपके लिए खतरा बन सकता है। दरसअल, मैन्युफैक्चरर्स आपके इस्तेमाल के आधार पर कर्इ तरह की जानकारियां इकट्ठा करते हैं आैर इसे थर्ड पार्टी को बेचते हैं। इनमें आप क्या देखना पसंद करते हैं, किस तरह के एेड देखते हैं आैर आपकी लोकेशन क्या है, जैसी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां होती है। दूसरे शब्दो में कहें तो आपके टीवी पर किसी तीसरे की नजर लगातार बनी होती है।


टीवी बेचने पर नहीं मिलता अच्छा मार्जिन

बिजनेस इनसाइडर वेबसाइट ने एक मैन्युफैक्चरर से इस संदर्भ में बात किया। मैन्युफैक्चरर ने कहा, "यह एक एेसी इंडस्ट्री है जहां 6 फीसदी तक का ही मार्जिन होता है। हमें टीवी से कमार्इ करने की जरूरत नहीं होती है। हम बस अपनी लागत ही कमा पाते हैं।" विशेष तौर पर समझें तो Vizio जैसी कंपनी की टीवी से मैन्युफैक्चरर को प्रत्येक टीवी से कुछ खास कमार्इ नहीं होती है। इससे केवल ग्राहकों को फायदा होता है। लेकिन यह कंपनी अपनी कमार्इ डेटा कलेक्शन, एडवर्टाइजिंग आैर कंज्यूमर को सीधे एंटरटेनमेंट (जैसे- फिल्में) बेचकर करते हैं। इस तरह की कंपनियों के लिए यह डेटा कलेक्शन की बात नहीं बल्कि उनके लिए टीवी बेचने के बाद मुनाफा कमाने की बात है।


मुनाफे के लिए अपनाते हैं ये तरीका

एक मैन्युफैक्चरर का कहना है कि टीवी बेचने के बाद मुनाफे के लिए हमने कुछ तरीका अपनाया है। इनमें फिल्में बेचना, शो बेचना, कुछ एेड्स बेचना शामिल है। इन्हीं मुनाफे से कंपनियों को फायदा होता है जिसके बदले आपको बेहद ही कम कीमत में इस तरह की स्मार्ट टीवी उपलब्ध होती हैं। यदि एेसा नहीं करते तो कंपनियां अपनी मार्जिन बढ़ाने के लिए टीवी की कीमतों में इजाफा करेंगी।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/consumer-data-being-stolen-from-smart-tv-by-manufacturers-3978317/

अब भारत-चीन में दौड़ेंगे ई-वाहन, दोनाे देश एक दूसरे की मदद करने को उत्सुक


नर्इ दिल्ली। विश्व के दो बड़े ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जक चीन और भारत बिजली वाहनों के निर्माण में संयुक्त उद्यम के लिए उत्सुक हैं। दोनों देशों ने बीजिंग में आयोजित तीन दिवसीय सम्मेलन में इसके लिए वार्ता की। मारुति सुजुकी, टाटा, टीवीएस जैसे भारत के दिग्गज ऑटोमेकर और उद्योग संघों ने बीजिंग में 5वें चीनईवी100 फोरम में भागीदारी की, जहां दुनियाभर की ई-वाहन निर्माता कंपनियां मौजूद थीं। रविवार को समाप्त हुए तीन दिवसीय सम्मेलन का आयोजन चीन ईवी100 ने किया था, जो कि चीनी इलेक्ट्रिक मोबिलिटी उद्योग की 200 से ज्यादा दिग्गज कंपनियों का एक निजी बिजली वाहन संघ है।


चीन को पछाड़ सकता है भारत

भारतीय प्रतिनिधिमंडल के अध्यक्ष नीति आयोग के प्रधान सलाहकार अनिल श्रीवास्तव ने चीनईवी100 के अध्यक्ष चेन किंगताई से मुलाकात की। मैकिन्से के मुताबिक, चीन बिजली वाहनों की मांग और आपूर्ति दोनों में एक दिग्गज के रूप में उभरा है। हालांकि कुछ चीनी कंपनियों का मानना है कि भारत इन वाहनों की मांग के संदर्भ में चीन को पछाड़ देगा। फोरम को संबोधित करते हुए श्रीवास्तव ने इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, इसकी वर्तमान स्थिति और भविष्य के रोडमैप के लिए भारत की नीति के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि भारत वैश्विक पर्यावरण प्रतिबद्धताओं के लिए प्रतिबद्ध है और वह स्वच्छ ऊर्जा व नई ऊर्जा परिवहन के विकास व उसे अपनाने को प्रोत्साहित करेगा।


चीन निभाएगा महत्वपूर्ण भूमिका

उन्होंने यह भी कहा कि भारत द्वारा 2030 तक इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को हासिल करने में चीनी इलेक्ट्रिक वाहन कंपनियां महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकती हैं। उन्होंने उल्लेख किया कि दोनों देशों के ईवी उद्योगों के बीच अधिक बातचीत होनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने दोनों देशों के बीच एक औपचारिक बातचीत तंत्र स्थापित करने का प्रस्ताव रखा। उन्होंने बीजिंग में इस साल की पहली छमाही में दोनों पक्षों के बीच एक बैठक करने का भी प्रस्ताव रखा, ताकि सहयोग की संभावनाओं को तलाशा जा सके। श्रीवास्तव के साथ बैठक के बाद चेन ने कहा कि चीनी बिजली वाहन कंपनियों के लिए भारत एक महत्वपूर्ण देश है और उन्होंने भारतीय बाजार में चीनी उद्योगों को भागीदारी और निवेश के लिए प्रोत्साहित किया।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/india-china-to-manufacture-e-vehicle-together-3976229/

जियो को टक्कर देने आ गया वोडाफोन-आइडिया का नया प्लान, मात्र इतने रुपए में सबकुछ मिलेगा फ्री


नई दिल्ली। अब जियो को टक्कर देने के लिए वोडाफोन-आइडिया अपने ग्राहकों के लिए नया प्लान लेकर आया है। इस धमाकेदार ऑफर में लोगों को जियो से भी सस्ता प्लान मिलेगा। इस ऑफर में आपको एक साल तक आपको सब कुछ फ्री में मिलेगा।


फ्री में मिलेगी अनलिमिटेड कालिंग और डाटा

वोडाफोन-आइडिया ने अपने ग्राहकों को ध्यान में रखते हुए सस्ता और अच्छा प्लान लॉन्च किया है। आपको बता दें कि इस प्लान की कीमत 1499 रुपए है। ये प्लान जियो से भी सस्ता है। इसमें आपको एक साल तक कॉलिंग, डाटा और एसएमएस की फ्री सुविधा मिलेगी। इसके साथ ही आपको रोजाना एक जीबी फ्री 3जी/4जी डाटा भी मिलेगा और 100 एसएमएस की सुविधा भी मिलेगी। वोडाफोन-आइडिया अपने ग्राहकों को लुभाने के लिए ये खास प्लान लेकर आया है। इस प्लान में आपको अनलिमिटेड कालिंग की सुविधा भी मिलेगी।


जियो को देगा मात

वोडाफोन-आइडिया ये खास प्लान जियो को टक्कर देने के लिए लेकर आए हैं। आपको बता दें कि यही प्लान जियों में आपको 1699 रुपए में मिलता है। इसके प्लान के साथ ही आपको जियो के चैनल का सब्सक्रिप्शन भी मिलता है, लेकिन वोडाफोन-आइडिया इसी प्लान को आपके लिए 1499 रुपए में लेकर आए हैं।


वोडाफोन प्ले का सब्सक्रिप्शन भी है फ्री

आपको बता दें कि अगर आप वोडाफोन-आइडिया का ये प्लान लेते हैं तो आपको रोमिंग में भी अनलिमिटेड कॉलिंग की सुविधा मिलेगी। इसके साथ ही आप वोडाफोन प्ले का सब्सक्रिप्शन भी इश प्लान में फ्री में मिलेगा।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/vodafone-idea-introduce-new-plan-for-one-year-only-in-1499-3972227/

NASA के लिए काम करने वाली इस बड़ी कंपनी में होगी छंटनी, 600 लोगों की जा सकती है नौकरी


नई दिल्ली। अमरीकी कंपनी स्पेसएक्स (SpaceX) अपनी दो बेहद महंगी परियोजनाओं की वजह से अपने 6,000 कर्मचारियों में से 10 फीसदी संख्याबल की छंटनी करने जा रहा है। कंपनी के सीईओ एलन मस्क ने शुक्रवार को बयान में कहा, 'हमारे ग्राहकों तक सेवाओं की आपूर्ति, इंटरप्लेनेटरी स्पेसक्राफ्ट तैयार करने और वैश्विक अंतरिक्ष-आधारित इंटरनेट को विकसित करने में सफल होने के लिए स्पेसएक्स को कार्यबल में कमी करनी होगी।'


बयान में कहा गया, 'इनमें से यदि किसी एक काम को भी अलग किया गया है तो अन्य संगठन दिवालिया हो जाएंगे। इसलिए हम अपनी टीम के कुछ प्रतिभाशाली और मेहनती सदस्यों को अलग करना पड़ रहा है।'


बयान के अनुसार, 'हम कर्मचारियों की स्पेसएक्स मिशन के प्रति उनकी प्रतिबद्धता और अन्य सभी चीजों के लिए आभारी हैं। यह कार्रवाई केवल आगे आने वाली असाधारण कठिन चुनौतियों के कारण की गई है अन्यथा इसकी जरूरत नहीं होती।' नासा के लिए अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) तक सामानों की आपूर्ति करने वाली स्पेसएक्स अंतरिक्ष क्षेत्र की तेजी से बढ़ती कंपनी है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/600-employees-working-in-company-under-nasa-can-lose-their-job-3968700/

एयरलाइन कंपनियों की मेगा सेल शुरू, सिर्फ 3,399 रुपए में कर सकेंगे विदेश की सैर


नई दिल्ली। ज्यादा से ज्यादा भारतीय ग्राहकों को लुभाने के लिए विदेशी एयरलाइन कंपनियों ने अपनी टिकटें सस्ती कर दी हैं। अब आप केवल 899 रुपए में घरेलू यात्रा कर पाएंगे। वहीं विदेश यात्रा के लिए आपको केवल 3,399 रुपए देने होंगे। इससे एयरलाइन कंपनियां अडवांस सेल्स के जरिए नकदी जुटा पाएंगी। ये है इंडिगो, कतर एयरवेज, ब्रिटिश एयरवेज और एतिहाद एयरवेज के ऑफर-


इंडिगो

31 जनवरी तक इंडिगो ग्राहकों को 899 रुपए में हवाई टिकट खरीदने का सुनहरा मौका दे रही है। इंडिगो के अंतरराष्ट्रीय यात्रा के टिकट की शुरुआत 3,399 रुपए से हो रही है। सेल की टिकटें 24 जनवरी से 15 अप्रैल 2019 के बीच की यात्रा के लिए खरीदे जा सकते हैं।


ब्रिटिश एयरवेज

ब्रिटिश एयरवेज ने भी अपनी 'जनवरी सेल' शुरू कर दी है, जो 31 जनवरी तक जारी रहेगी। सेल के तहत लंदन का रिटर्न टिकट 43,779 रुपए में मिल रहा है। ब्रिटिश एयरवेज 100 गंतव्यों की फ्लाइट्स के इकॉनमी, प्रीमियम इकॉनमी और बिजनस कैबिन्स के टिकटों पर डिस्काउंट ऑफर्स दे रही है।


कतर एयरवेज

कतर एयरवेज ने इकॉनमी और बिजनस क्लास के टिकटों पर 35 फीसदी से 25 फीसदी तक का डिस्काउंट देने का फैसला लिया है। ऑफर का फायदा उठाने के लिए आप 16 जनवरी तक बुकिंग कर सकते हैं और ऑफर के तहत सेवा का लाभ आप 31 दिसंबर 2019 तक सभी फ्लाइट्स पर उठा सकते हैं। बता दें कतर एयरवेज की फ्लाइट्स दुनियाभर के 160 गंतव्यों के लिए उड़ान भरती हैं।


एतिहाद एयरवेज

एतिहाद एयरवेज द्वारा अबू धाबी, अमेरिका, यूरोप, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका की यात्रा पर जाने वालों को टिकटों पर छूट दी जा रही है। एतिहाद एयरवेज 29 जनवरी से 29 मार्च 2019 के ट्रैवल पीरियड के लिए इकॉनमी क्लास के टिकटों पर 35 फीसदी डिस्काउंट दे रही है। वहीं बिजनस क्लास के टिकटों पर आपको 20 फीसदी डिस्काउंट मिलेगा। वहीं 30 मार्च 2019 के बाद से 2 मई तक ट्रिप की समाप्ति वाले इकॉनमी टिकटों पर 10 फीसदी का डिस्काउंट दिया जा रहा है और बिजनस टिकटों पर ग्राहकों को 20 फीसदी तक का डिस्काउंट मिलेगा।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/mega-sale-of-airline-companies-started-travel-foreign-at-rs-3-399-3968305/

यौन आरोपों के मामलों में लीपापोती कर रहा गूगल, शेयरधारकों ने कहा आरोपियों को कंपनी छोड़ने के बदले मिली बड़ी रकम


नर्इ दिल्ली। गूगल के पूर्व कर्मचारी के खिलाफ लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों को छिपाने के लिए अल्फाबेट के निदेशक मंडल ने आरोपियों को कंपनी छोड़ने के एवज में क्षतिपूर्ति की मोटी राशि को मंजूरी दी। कंपनी के एक शेयरधारक द्वारा दर्ज किए गए मुकदमे में यह आरोप लगाए गए हैं। अल्फाबेट इंक गूगल की पैरेंट कंपनी है। सीएनईटी की रिपोर्ट में बताया गया कि यह मुकदमा कैलिफोर्निया प्रांतीय अदालत में दाखिल किया गया है, जिसमें निदेशक मंडल और अधिकारियों पर जिम्मेदारी का उल्लंघन, अन्यायपूर्ण तरीके से लाभ पहुंचाने, सत्ता का दुरुपयोग करने और कॉर्पोरेट को क्षति पहुंचाने का आरोप लगाया गया है।


2014 में यौन उत्पीड़न के आरोपों को बाद निकाला गया था

यह मुकदमा गूगल द्वारा यौन उत्पीड़न के आरोपी एंड्रायड के सृजक एंडी रुबिन, और गूगल के सर्च यूनिट के साल 2016 तक प्रमुख रहे अमित सिंघल को कंपनी छोड़ने के वक्त दी गई भारी भरकम रकम को लेकर लगाए गए हैं। न्यूयार्क टाइम्स ने 2018 के नवंबर की अपनी रिपोर्ट में कहा था कि रुबिन ने गूगल से 9 करोड़ डॉलर का सीवरेंस पैकेज (फुल एंड फाइनल सेटलमेंट) हासिल किया, जब उसे यौन उत्पीड़न के आरोपों में कंपनी ने 2014 में निकाला था। शेयरधारक जेम्स मार्टिन द्वारा दायर मुकदमे के मुताबिक दो पुरुषों पर लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों को कंपनी ने अपनी जांच में विश्वसनीय माना था।


दोनों आरोपाें से किया था इन्कार

मुकदमे में कहा गया, "मुकदमे में प्रतिवादी बनाए गए लैरी पेज और सर्गेइ ब्रायन द्वारा रुबिन को चुपचाप नौकरी छोड़कर जाने की अनुमति दी गई, जबकि आंतरिक जांच में उस पर लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोप विश्वसनीय पाए गए थे।" सीएनईटी की रिपोर्ट में कहा गया कि इसी प्रकार से सिंघल को राइड मुहैया कराने वाली दिग्गज उबेर के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (इंजीनियरिंग) पद से साल 2017 में गूगल में रहने के दौरान उन पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों के कारण हटा दिया गया था। रुबिन और सिंघल दोनों ने आरोपों से इनकार किया है।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/google-shareholders-says-companies-paid-hefty-amount-employees-3964984/

Maruti Suzuki के साथ मिलकर ऐसे खोलें अपना बिजनेस, होगी लाखों की कमाई


नई दिल्ली। अपना बिजनेस खोलने का सपना तो हर कोई देखता है, लेकिन अपने सपने को साकार कुछ ही लोग कर पाते हैं। देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) ऐसे सपने देखने वालों के लिए सौगात लेकर आई है, जिससे आपकी जिंदगी बदल सकती है। मारुति सुजुकी भारत में अपने डीलर्स की संख्या बढ़ाने की योजना बना रही है।


ये है कंपनी का प्लान

दरअसल मारुति इस साल अपने साथ कारोबारियों को जोड़ने की प्लानिंग कर रही है। कंपनी ने इस वित्त वर्ष अपनी बिक्री नेटवर्क को बढ़ाने की योजना भी बनाई है। इसमें डीलरशिप भी शामिल है। कंपनी पूरे देश में नए डीलर बनाने की तैयारी कर रही है। फिलहाल मारुति के पास भारत में 2625 डीलर्स हैं, आने वाले दिनों में 250 से ज्यादा नए डीलर बनाएं जाएंगे।


करना होगा ये छोटा सा काम

मारुति का डीलर बनने के लिए आपको सीधा कंपनी से संपर्क करना होगा। इसके लिए आपको मारुति सुजुकी की वेबसाइट www.marutisuzuki.com पर जाकर आपको बिजनेस अपॉर्च्युनिटी के लिंक पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपको डीलर रिक्वायरमेंट का एक विकल्प दिखेगा। डिलर रिक्वायरमेंट पर क्लिक करने पर आपके पास आवेदन फॉर्म खुल जाएगा, जिसे पूरा भरकर सबमिट करना होगा। इस फॉर्म में आपको पर्सनल डिटेल (नाम, डेट ऑफ बर्थ, जॉब), एड्रेस, मेलिंग एड्रेस, किस शहर में डीलरशिप के लिए आवेदन कर रहे हैं, जहां शोरूम खोलना है, वहां की फोटो, 3 साल की बैंक बैलेंसशीट, टैक्स रिटर्न की कॉपी और कंपनी के नाम से एक डिमांड ड्रॉफ्ट (वेबसाइट पर दी गई जानकारी के लिहाज से 1 लाख रुपए) आदि की जानकारी देनी होगी।


ऐसे सेलेक्ट होगा आपका नाम

इसके बाद अगर आपका नाम सेलेक्ट हो जाता है तो आपको कंपनी द्वारा एकमुश्‍त रकम कंपनी के पास डीडी के जरिए जमा करानी होगी। हालांकि आपको डीलरशिप मिलेगी या नहीं, यह मारुति का मैनेजमेंट तय करेगा। यदि अगर आपका नाम सेलेक्ट नहीं होता है तो आपके द्वारा भेजा गया डीडी आपको वापस मिल जाएगा।

Read the Latest business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले business news in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/industry/open-your-business-with-maruti-suzuki-and-earn-lakhs-of-rupees-3963451/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Haryana Jobs / Opportunities / Career
Bank Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Bihar Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Rajasthan Jobs / Opportunities / Career
Scholorship Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
Railway Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Gujarat Jobs / Opportunities / Career
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Maharashtra Jobs / Opportunities / Career
Punjab Jobs / Opportunities / Career
Meghalaya Jobs / Opportunities / Career
Admission Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Bihar
State Government Schemes
Study Material
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Syllabus
Festival
Business
Wallpaper
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com