Patrika : Leading Hindi News Portal - Miscellenous India #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Miscellenous India

http://api.patrika.com/rss/miscellenous-india 👁 5113

सीबीआई विवाद: सीजेआई ने नागेश्वर राव को अंतरिम निदेशक बनाने के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से खुद को किया अलग


नई दिल्ली। सीजेआई रंजन गोगोई ने नागेश्वर राव से जुड़ी उस याचिका पर सुनवाई से अपने आप को अलग कर लिया, जिसमें उनको सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनाए जाने के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई थी। सीजेआई ने कहा कि क्योंकि वह सलेक्शन कमेटी के मेंबर है, ऐसे में इस याचिका पर सुनवाई में उनका शामिल होना ठीक नहीं है। आपको बता दें कि कॉमन कॉज नाम के एक एनजीओ ने नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनाए जाने के खिलाफ एक याचिका दायर की थी। याचिका में नागेश्वर राव की नियुक्ति उच्चाधिकार प्राप्त चयन समिति की सिफारिश के आधार पर नहीं किए जाने का आरोप लगाया गया था।

एम.नागेश्वर राव की नियुक्ति को चुनौती

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट द्वारा एनजीओ कॉमन काज की याचिका पर सोमवार को सुनवाई की जानी मुकर्रर हुई थी। कॉमन काज ने अपनी याचिका में आलोक वर्मा को हटाए जाने के बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के कार्यवाहक निदेशक के तौर पर एम.नागेश्वर राव की नियुक्ति को चुनौती दी है। मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने बुधवार को कहा था कि मामले को अगले सप्ताह सुना जाएगा। सामाजिक कार्यकर्ता-वकील प्रशांत भूषण ने याचिका में केंद्रीय जांच एजेंसी के कार्यवाहक प्रमुख के रूप में राव की नियुक्ति को चुनौती देते हुए मामले की त्वरित सुनवाई का आग्रह किया। प्रशांत भूषण ने याचिका पर इसी हफ्ते सुनवाई का आग्रह किया, जिस पर प्रधान न्यायाधीश गोगोई ने कहा कि यह 'संभव नहीं' है।

हाई पॉवर कमेटी की बैठक गुरुवार को

आपको बता दें कि सीबीआई प्रमुख की नियुक्ति को लेकर पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली हाई पॉवर कमेटी की बैठक गुरुवार को होनी है। बताया जा रहा है कि बैठक में एजेंसी के नए निदेशक के लिए संभावित नामों पर चर्चा होगी हो सकती है।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/cji-apart-hearing-petition-against-nageswara-rao-cbi-interim-director-4011466/

दिल्ली में बारिश की संभावना, कोहरे ने रोकी ट्रेनों की रफ्तार


नई दिल्ली। दिल्ली में सोमवार सुबह सर्द रही और आसमान में बादल छाए रहे। यहां का न्यूनतम तापमान मौसम के औसत तापमान से चार डिग्री ऊपर 11.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि दिनभर आसमान में बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश या गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। साथ ही किसी-किसी जगह ओलावृष्टि की भी संभावना है। उन्होंने साथ ही कहा कि दिन में तेज हवाएं चलने की भी संभावना है।

 

एक रेलवे अधिकारी ने कहा कि कोहरे के कारण दिल्ली की ओर जाने वाली कम से कम 12 ट्रेनें देरी से चल रही हैं। सुबह 8.30 बजे आद्र्रता का स्तर 95 फीसदी दर्ज हुआ। वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूवानुर्मान प्रणाली (सफर) के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 322 दर्ज किए जाने के साथ समग्र वायु गुणवत्ता 'बेहद खराब' श्रेणी में पाई गई। रविवार को न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सीजन का औसत तापमान है और अधिकतम तापमान 28.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो औसत से सात डिग्री ऊपर है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/delhi-11-trains-are-running-late-due-to-foggy-weather-4011277/

'अपनी पहचान साबित करने में ट्रांसजेंडरों को लग जाता है दस वर्ष का समय'


नई दिल्ली। देश की सर्वोच्च अदालत ने भले ही धारा 377 को हटा दिया है और समलैंगिकता को अपराध मानने से इनकार कर दिया है, फिर भी समाज में ट्रांसजेंडरों और एलजीबीटीक्यू को कानून, स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार, मीडिया रिपोर्टिग में भेदभाव सहित विभिन्न मोचरें पर समस्याओं का सामना करना पड़ता है। एलजीबीटीक्यू समुदाय का कहना है कि अभी ट्रांसजेंडरों को अपनी पहचान साबित करने में 10 साल लग जाते हैं। लव मैटर्स की ओर से शनिवार को आयोजित 'कॉन्क्वीर' में देश के विभिन्न भागों से आए ट्रांसजेंडरों ने विभिन्न क्षेत्रों में सामने आने वाली परेशानियों और समस्याओं को साझा किया। लव, सेक्स और रिलेशनशिप पर काम करने वाले एनजीओ लव मैटर्स ने केशव सूरी फाउंडेशन की साझेदारी में 'कॉनक्वीर 2019' सम्मेलन का आयोजन किया।

एलजीबीटीक्यू समुदाय का कार्यक्रम 19 को, परेशानियों और अधिकारों पर होगी चर्चा

'भेदभाव को रोकने के लिए सख्त कानून बनाना वक्त की जरूरत’

बता दें कि संस्था की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सम्मेलन में ट्रांसजेंडरों ने एकजुट होकर कहा- समुदाय के साथ समाज के हर स्तर पर होने वाले भेदभाव को रोकने के लिए सख्त कानून बनाना वक्त की जरूरत है। कानूनी प्रक्रिया को सरल बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि एलजीबीटी समुदाय से भेदभाव रोकने के लिए टीजी विधेयक बनाया गया था, लेकिन इसमें कमियां हैं और समलैंगिकों से भेदभाव पर लगाम लगाने के लिए सख्त प्रावधान नहीं हैं। बयान में आगे कहा गया है कि ट्रांसजेंडरों ने कहा- एलजीबीटी और ट्रांसजेंडरों के साथ सरकारी अस्पतालों में भेदभाव किया जाता है। सरकारी अस्पतालों में जेंडर परिवर्तन की सुविधा नहीं है। प्राइवेट अस्पतालों में काफी पैसा लगता है। सामाजिक, मानसिक, शारीरिक और जेंडर परिवर्तन में आने वाली परेशानियों से समुदाय में आत्महत्या की दर बढ़ती जा रही है। आंकड़े उपलब्ध न होने से आत्महत्या की वजहों का अभी ठीक ढंग से पता नहीं चल पाया है। समाज के कुछ लोगों में यह गलत धारणा फैली है कि ट्रांसजेंडर एचआईवी फैलाते हैं। एमबीबीएस कोर्स में रिजिवन कर इस भ्रांति को दूर किया जाना आज के वक्त की जरूरत है। इस अवसर पर लव मैटर्स की कंट्री हेड विथिका यादव ने कहा, "हम ट्रांसजेंडरों की समस्याओं के समाधान के लिए अपने इस प्लेटफॉर्म को फाउंडेशन की तरह इस्तेमाल करने की उम्मीद कर रहे हैं। हमारा मानना है कि 'कॉनक्वीर' में उठाई गई समस्याएं घर-घर तक पहुंचेंगी और समाज के लोग हर स्तर पर उपेक्षा के शिकार इस समुदाय की समस्याओं और परेशानियों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेंगे।"

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/transgenders-are-able-to-prove-their-identity-in-ten-years-time-4009228/

लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे राजनीतिक दल, IG से लेकर DSP तक की छुट्टियां रद्द


पटना। आगामी लोकसभा चुनाव के लिए सभी राजनीतिक दल ने कमर कस लिया है और तैयारियां शुरु कर दी है। इस बीच दो दिन के बिहार दौरे के दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा के दिये गये आदेश का असर राज्य के प्रशासनिक स्तर पर दिखने लगा है। आगामी आम चुनाव को देखते हुए पुलिस मुख्यालय ने आइजी (IG) से लेकर डीएसपी (DSP) तक की छुट्टियों को रद्द कर दिया है। बता दें कि बिहार के डीजीपी केएस द्विवेदी ने यह आदेश जारी किया है।

आम आदमी पार्टी का बड़ा ऐलान, तीन राज्यों में अकेले लड़ेगी लोकसभा चुनाव

चुनाव आयुक्त के साथ बैठक में डीजीपी भी थे शामिल

आपको बता दें कि बीते 17 और 18 जनवरी को मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा बिहार के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने चुनाव के दौरान आने वाली खामियों को दुरुस्त कैसे किया जाए उस संबंध में अधिकारियों से चर्चा की। इसके अलावा सुरक्षा को लेकर भी चर्चा की गई। मुख्य चुनाव आयुक्त 11 सदस्यों वाली टीम के साथ बिहार पहुंचे थे, जिसमें वरीय उपचुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा, उपचुनाव आयुक्त चंद्र भूषण कुमार, संदीप जैन, महानिदेशक धीरेंद्र ओझा, दिलीप शर्मा, आइटी निदेशक वीएन शुक्ला, एडीजी शेफाली शरण आदि प्रमुख रूप से शामिल थे। बता दें कि इस बैठक में डीजीपी केएस द्विवेदी भी शामिल थे। इस दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त ने डीजीपी केएस द्विवेदी को कुछ आवश्यक निर्देश दिये। जिसको ध्यान में रखते हुए पुलिस अधिकारियों की छुट्टी रद्द कर दी गई है। डीजीपी केएस द्विवेदी ने अपने आदेश में कहा है कि 2019 में होनेवाले लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू हो चुकी है। उन्होंने आगे कहा है कि यदि किसी को विशेष परिस्थितियों में छुट्टी की आवश्यकता होगी, तो उसके लिए ठोस कारण बताने होंगे।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/political-parties-engaged-in-preparation-for-lok-sabha-elections-vacations-from-ig-to-dsps-canceled-4009058/

गुजरात में सात घंटों में 4 बार किए गए भूकंप के झटके महसूस, सबसे ज्यादा 4.6 की तीव्रता


अहमदाबाद: गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्र में रविवार को सात घंटे के भीतर चार हल्के भूकंप दर्ज किए गए, लेकिन फिलहाल किसी जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है। गुजरात के भूकंप विज्ञान अनुसंधान संस्थान के अनुसार, भूकंप के झटके साढ़े सात घंटे की अवधि में महसूस किए गए। पहले झटके की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 1.4 थी, जिसका केंद्र कच्छ क्षेत्र के भचाऊ से आठ किलोमीटर पर स्थित था। संस्थान के अनुसार, दूसरे झटके की तीव्रता रिक्टर पैमाने 4.1 मापी गई और इसे अपराह्न् 12.23 बजे महसूस किया गया। भूकंप के झटकों से इलाके के लोग सहम गए। हालांकि किसी तरह के बड़े नुकसान की खबर नहीं है।

भूकंप का केंद्र सौराष्ट्र का उना

इसका केंद्र सौराष्ट्र के उना से 38 किलोमीटर पर 19.7 किलोमीटर की गहराई में स्थित था। तीसरे झटके की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 2.2 मापी गई, और इसे तीन मिनट बाद ही महसूस किया गया, जिसका केंद्र कच्छ क्षेत्र के भचाऊ से 29.6 किलोमीटर पर था। चौथे झटके की तीव्रता भी रिक्टर पैमाने पर 2.2 थी और यह अपराह्न् 1.37 बजे महसूस किया गया। इसका केंद्र सौराष्ट्र क्षेत्र के सुरेंद्रनगर से कोई 31 किलोमीटर पर स्थित था।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/four-times-earthquake-in-gujarat-highest-magnitude-4-6-updates-4008991/

दलित छात्रा की मौत पर बिहार में सियासी घमासान, JVP ने दी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन की चेतावनी


पटना। बिहार में सरकार और प्रशासन के तमाम दावों के बाद भी अपराधों पर लगाम नहीं लग पा रहा है। बीते दिनों कैमूर जिले के रामगढ़ थाने में ग्रामीणों के हमले के बाद बड़ौरा गांव की रहने वाली एक छात्रा की मौत का मामला अब तूल पकड़ने लगा है। जनतांत्रिक विकास पार्टी (जविपा) ने दलित परिवार की बेटी की मौत को हत्या बताते हुए आरोपी की तीन दिनों के अंदर गिरफ्तारी की मांग की और न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। जविपा के अध्यक्ष अनिल कुमार ने रविवार को पुलिस पर हत्या को आत्महत्या का मामला बनाने का आरोप लगाया और कहा कि इस घटना में सरकार और पुलिस का रवैया निराशजनक रहा। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी मनोज सिंह को बचाने के लिए सत्ताधारी दल के नेताओं के इशारे पर काम कर रही है। कुमार ने आगे यह भी कहा कि जविपा इस मामले के आरोपी मनोज सिंह की तीन दिनों के अंदर गिरफ्तारी की मांग करती है। गिरफ्तारी नहीं होने पर छात्रा को न्याय दिलाने के लिए पार्टी धरना, प्रदर्शन करेगी।

BJP विधायक ने मायावती को किन्नर से बद्तर बताया तो, सपाइयों ने उठाया ये बड़ा कदम, टेंशन में भाजपा

सरकार पर जविपा ने लगाया आरोप

आपको बता दें कि रामगढ़ में पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद अनिल कुमार ने कहा कि छात्रा की हत्या का मुख्य आरोपी मनोज सिंह ग्राहक सेवा केंद्र चलाता है, जहां छात्रा का भी खाता है। इसी खाते में पैसे के लेनदेन में छात्रा और मनोज के बीच विवाद हुआ। कुमार का आरोप है कि इसी विवाद में छात्रा ने थाने में मामला दर्ज करवाया था और बाद में फिर मनोज ने छात्रा को बहला-फुसलाकर मामला वापस करवा दिया। इसके बाद पुलिस ने छात्रा का शव रेलवे पटरी से बरामद की, जिसे पुलिस आत्महत्या बता रही है।

महिला से बनाना चाहता था शारीरिक संबंध, एक दिन ऐसी हालत में देखा, मिला कुछ ऐसा...

नीतीश कुमार की पुलिस हुई बेनकाब: जविपा

आपको बता दें कि एक छात्रा की मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने शुक्रवार को जमकर उपद्रव मचाया था। इस दौरान लोगों ने थाने में लगे वाहनों को फूंक दिया तथा थाने में तोड़फोड़ की। आक्रोशित लोगों के हमले और पथराव में मोहनिया पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) सहित छह पुलिसकर्मी घायल हो गए। जविपा के प्रमुख ने कहा है कि इस घटना से नीतीश कुमार की पुलिस बेनकाब हो गई और उनका कैसा दलित प्रेम है, यह भी उजागर हो गया है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्या सिर्फ नारों से बेटी बचेगी या बेटी पढ़ पाएगी? जविपा बिहार की दलित छात्रा को न्याय दिलाकर ही दम लेगी।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/political-assault-in-bihar-on-dalit-girl-s-death-jvp-warns-of-protest-against-the-government-4008792/

इतिहासकार रामचंद्र गुहा बोले, गांधी के बाद नेहरू-पटेल ने मिलकर भारत का निर्माण किया


नई दिल्ली। इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने रविवार को कहा कि 1948 में गांधी की हत्या के बाद जवाहरलाल नेहरू और सरदार पटेल ने मिलकर भारत का निर्माण किया। गुहा ने कहा कि आज निहित स्वार्थी लोग दोनों दिग्गजों के बीच प्रतिद्वंद्विता की कहानियां पेश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पटेल और नेहरू दोनों ने आधुनिक भारत की बुनियाद खड़ी करने में मदद की।

यह भी पढ़ें-हॉस्पिटल से छुट्टी मिलते ही अमित शाह ने किया ट्वीट, 'शुभकामनाओं के लिए आभारी हूं'

अपीजे कोलकाता साहित्योत्सव के समापन के दिन लेखक-अनुवादक त्रिदिप सुहरुद के साथ एक सत्र के दौरान उन्होंने कहा कि गांधी के निधन के बाद पटेल और नेहरू ने अपने मतभेदों को दरकिनार कर दिया और भारत को एकजुट बनाए रखा। उन्होंने आधुनिक भारत की बुनियाद रखी। पटेल के निधन के बाद भी नेहरू ने गांधी की विरासत को आगे बढ़ाया।

गुहा ने इस बात पर खेद जताया कि दोनों नेताओं को मरणोपरांत निहित स्वार्थी लोग एक-दूसरे के प्रतिद्वंद्वी के रूप में पेश कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि गांधी की अधिकांश आलोचनाएं निराधार हैं और नासमझी के कारण हैं। गुहा ने कहा कि गांधी को उनके निजी जीवन में परास्त करना असंभव है।उन्होंने कहा कि नेहरू की आलोचना अलग है।

यह भी पढ़ें-एक कांग्रेस नेता ने आलाकमान को लिखा पत्र, बोले- प्रदेश अध्यक्ष बनाओ वरना भाजपा में हो जाएंगे

इतिहासकार ने दावा किया, 'नेहरू के वंशज उनकी विरासत का गलत तरीके से दावा करते हैं। जब (कांग्रेस अध्यक्ष) राहुल गांधी राजीति से संन्यास लेंगे तभी हम सही मायने में नेहरू की महानता को समझ पाएंगे। पीढ़ियों द्वारा लगातार किए गए गलत कामों को नेहरू से जोड़ दिया गया है।'


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/historian-ramchandra-guha-says-after-gandhi-nehru-patel-create-india-4008270/

जम्मू-कश्मीर में उठी पबजी पर बैन की मांग, राज्यपाल सत्यपाल मलिक तक पहुंची शिकायत


श्रीनगर। किसी भी लोकप्रिय होती चीज को लेकर विवाद होना आम बात है। इन दिनों गेम्स की दुनिया में पबजी का नाम हर कोई जानता है। पबजी गेम ना सिर्फ बच्चों में बल्कि युवाओं में भी काफी लोकप्रिय हो गया है। हर उम्र का व्यक्ति इन दिनों पबजी का दीवाना है। इस बीच गेम को लेकर विवाद भी खड़ा हो गया है। जम्मू-कश्मीर में इस गेम को बैन करने की मांग उठी है।

10वीं और 12वीं का रिजल्ट हो सकता है खराब

जम्मू-कश्मीर स्टूडेंट एसोसिएशन ने इस गेम पर बैन लगाने की मांग की है। इस बाबत राज्यपाल सत्यपाल मलिक को चिट्ठी लिख अनुरोध किया गया है कि इस गेम पर बैन लगाया जाए। स्टूडेंट एसोसिएशन ने कहा है कि इस गेम की वजह आगामी 10वीं और 12वीं बोर्ड एग्जाम का रिजल्ट प्रभावित होगा, इसलिए इस गेम को तत्काल प्रभाव से बैन किया जाए।

राज्यपाल सत्यपाल मलिक का नहीं आया है कोई जवाब

जम्मू-कश्मीर स्टूडेंट्स एसोसिएशन की तरफ से किए गए इस अनुरोध को लेकर अभी तक राज्यपाल सत्यपाल मलिक की तरफ से कोई टिप्पणी नहीं आई है। स्टूडेंट्स एसोसिएशन का कहना है कि इस गेम की लत छात्रों के लिए बेहद ही घातक है। इसकी वजह से बोर्ड एग्जाम का रिजल्ट प्रभावित हो सकता है। स्टूडेंट यूनियन का कहना है कि इस गेम की लत ड्रग्स से कम नहीं है, ये छात्रों के भविष्य को बर्बाद कर देगा।

पबजी गेम की वजह से फिटनेस ट्रेनर हुआ था अस्पताल में भर्ती

आपको बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि पबजी गेम सुर्खियों में आया है। इसी महीने एक फिटनेस ट्रेनर को इसी गेम की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों का कहना था कि इस गेम ने उस शख्स के मानसिक संतुलन पर असर डाला था।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/jammu-kashmir-student-association-demand-to-ban-pubg-due-to-board-exam-results-4007679/

कोलकाता में कपड़े की दुकान जली, लाखों का हुआ नुकसान


दक्षिण कोलकाता में रविवार सुबह कपड़े की एक दुकान में भीषण आग लगने खबर है। घटना गरियाहाट इलाके की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार- इसमें लाखों रुपए का सामान जल गया है। आग की तीव्रता इतनी थी कि इससे आस-पास की दुकानें की चपेट में आ आईं।

रिपोर्ट्स में दमकल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि दमकल की करीब 19 गाड़ियों ने आग पर काबू पाया। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि देर रात करीब एक बजे ‘ट्रेडर एसेंबली’ इमारत में आग लग गई थी।

अधिकारी के अनुसार- घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। यह आशंका जताई जा रही है कि आग एक ट्रांसफॉर्मर में विस्फोट के कारण लगी थी।

दमकल विभाग के अधिकारी के अनुसार- ‘आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया गया है। दमकल कर्मियों ने पूरी मेहनत से आग पर काबू पाया है। आग लगने के सही कारण का पता नहीं चला है, किंतु प्राथमिक जानकारी से लगता है कि आग शायद ट्रांसफॉर्मर में विस्फोट के कारण लगी।’


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/clothing-shop-burnt-in-kolkata-4007476/

दिल्ली में मौजूद थे 174 स्मारक, अब 13 हो गए गायब


नई दिल्ली। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) अपनी आधिकारिक 'मिसिंग' सूची को सुधारने में असफल रहा है। इसके चलते राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में केंद्र सरकार द्वारा संरक्षित कुल 174 में से 13 स्मारक गायब हो चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सूत्रों ने इसका खुलासा किया कि इन गायब में से कई स्थानों का पता लगा लिया गया है या फिर इनका नाम पहली बार गलत लिख लिया गया था।

सूत्रों ने बताया कि वर्ष 2014 में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के दिल्ली सर्किल ने एक रिपोर्ट बनाई थी। इस रिपोर्ट में दावा किया गया था कि गायब स्मारकों की सूची में से 4 मिल गए हैं। हालांकि अभी तक विभाग द्वारा इस जानकारी को आधिकारिक सूची में शामिल नहीं किया गया, जिससे यह अपडेट नहीं हो सकी।

 

कुतुब मीनार

दिलचस्प बात है कि गायब हो चुके स्मारकों को खोजने की कोशिश उस वक्त शुरू हुई थी, जब महालेखा परीक्षक ने राष्ट्रीय धरोहरों की खराब देखरेख और रखरखाव के लिए विभाग को फटकार लगाई थी।

इन गायब स्मारकों को दो सर्किलों में बांट दिया गया है, जिनका नाम दिल्ली सर्किल और मिनी-सर्किल है। इनमें से दिल्ली सर्किल में तीन गुंबद वाला मकबरा, महरौली स्थित शम्सी तालाब नाम की एक मस्जिद और मुनिरका के दो मस्जिद मिलाकर कुल चार गायब स्मारक हैं।

जबकि मिनी सर्किल में मोती गेट, नजफगढ़ के पास फूल चादर, कब्रिस्तान अलीपुर, बाराखंभा कब्रिस्तान और निकोलसन की प्रतिमा समेत 9 स्मारक शामिल हैं।

वहीं, कुछ स्थानों के गायब सूची से हटा भी दिया गया है। इनमें शाहीन बाग में खोजा गया जोगाबाई टीला और निजामुद्दीन में नीली छतरी शामिल है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/13-asi-monuments-in-delhi-no-longer-exists-4007412/

साउथ पोल पर पहुंचने वाली पहली महिला बनीं ITBP की डीआईजी अपर्णा कुमार, दिल्‍ली में हुआ भव्‍य स्‍वागत


नई दिल्‍ली। उत्तर प्रदेश कैडर की आईपीएस अधिकारी अपर्णा कुमार ने दक्षिणी ध्रुव (साउथ पोल) पर सफलतापूर्वक पहुंचकर देश का नाम रोशन किया है। यह कीर्तिमान स्‍थापित करने वाली वह देश की पहली महिला हैं। उन्‍होंने दक्षिणी ध्रुव पर देश और आईटीबीपी का झंडा फहराया। अपर्णा कुमार आईटीबीपी में डीआईजी की पद पर तैनात हैं। सफल अभियान के बाद नई दिल्‍ली पहुंचने पर आइटीबीपी की ओर से इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कुमार का स्वागत किया गया। इस अवसर पर आइटीबीपी की महिला बैंड ने स्वागत धुन प्रस्तुत किया और फूलों का गुलदस्ता देकर उनका अभिवादन किया गया।

साउथ पोल पर पहुंचने में लगे 9 दिन
वह 30-35 किलोग्राम वजन लेकर बर्फ पर 111 मील की दुर्गम यात्रा कर दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाली महिला आईपीएस हैं। उन्‍होंने 4 जनवरी को अंटार्कटिका के केंद्रीय आधार शिविर से चढ़ाई शुरू की थी और 13 जनवरी को भारतीय समयानुसार सुबह करीब 5 बजे वहां पहुंचीं।

जुलाई में निकलेंगी नए मिशन पर
अब अपर्णा का अगला लक्ष्य उत्तरी अमरीका के अलास्का में माउंट डेनाली है। इस अभियान पर वह जुलाई, 2019 में निकलेंगी। उनकी नजरें अप्रैल, 2019 में दक्षिणी ध्रुव जाने पर भी है। इसके बाद वह एक्सप्लोरर्स ग्रैंड स्लैम का खिताब अपने नाम करेंगी। पूरी दुनिया में गिने चुने लोग ही हैं, जिनके पास यह दोनों खिताब होंगे। अपर्णा माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली पहली महिला पुलिस अफसर है। वह सात महाद्वीपों में से साउथ अमरीका, एशिया, ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका, यूरोप व अंटार्कटिका के सबसे ऊंचे शिखर तक पहुंची चुकी है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/first-ips-woman-aparna-kumar-reach-south-pole-grand-welcome-new-delhi-4006069/

हवा में उड़ने वाली चीजों पर आज से लगा प्रतिबंध, गणतंत्र दिवस को लेकर पुख्ता सुरक्षा की तैयारी


नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर बड़ी तैयारियां चल रही हैं। खास बात यह है कि देश की सुरक्षा एजेंसियां पहले ही कह चुकी हैं कि आतंकी इस दिन किसी बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। दिल्ली और दिल्ली से सटे राज्यों में सीमा पार से कुछ आतंकियों के पहुंचने की सूचना भी मिली थी। इसके बाद सभी राज्यों में सुरक्षा बलों समेत खुफिया एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया था। ऐसे में इस बार गणतंत्र दिवस को लेकर सुरक्षा पुख्ता करने के लइए हवा में उड़ने वाली सभी चीजों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

इन चीजों को किया गया शामिल
पैरा ग्लाइडर्स, पैरा मोटर्स, मानव रहित विमान (यूएवी), मानव रहित विमान प्रणाली (यूएएस), माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट, रिमोट से उड़ने वाले एयरक्राफ्ट, हॉट एयर बैलून और छोटे आकार के बैटरी से चलने वाले एयरक्राफ्ट शामिल हैं। इसके अलावा किसी एयरक्राफ्ट से छलांग लगाकर की जाने वाली पैराजंपिंग पर भी प्रतिबंध रहेगा।

15 फरवरी तक लगा रहेगा प्रतिबंध
दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक के मुताबिक एक आदेश जारी कर यह प्रतिबंध 20 जनवरी से 15 फरवरी तक के लिए लगाया है। आदेश में कहा गया है कि इसका उल्लंघन करने वाले के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। यही नहीं इसके अलावा आदेश में कहा गया है कि यह प्रतिबंध गणतंत्र दिवस की सुरक्षा को ध्यान में रखकर लगाया गया है। आशंका जताई गई है कि राष्ट्रीय समारोह के दौरान असामाजिक तत्व व आतंकी ऐसे चीजों का इस्तेमाल कर आम, विशिष्ट लोगों व महत्वपूर्ण सरकारी प्रतिष्ठानों को निशाना बना सकते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/ban-on-air-fly-things-in-delhi-from-today-due-to-republic-day-4005524/

दिल्ली में बारिश व ओले के आसार, रविवार वायु प्रदूषण का सबसे खराब दिन


नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण का लेवन अभी गंभीर बना हुआ है। शनिवार को केंद्रीय प्रदूषण मॉनिटरिंग स्टेशन में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 378 दर्ज किया गया। मौसम विशेषज्ञों ने रविवार को प्रदूषण का स्तर पहले से अधिक बढ़ने का पूर्वानुमान जताया है। वहीं, मौसम विभाग ने अगले सप्ताह 21, 22 और 25 जनवरी को दिल्ली और एनसीआर में बारिश की आशंका जताई है। इसके साथ ही ओले पड़ने के आसार भी बनते दिखाई दे रहे हैं।

यह खबर भी पढ़े— दिल्ली: 2019 विजय का संकल्प लेगी भाजपा, अमित शाह की जगह पार्टी का यह नेता करेगा संबोधित

 

यह खबर भी पढ़े—कश्मीर: पीडीपी ने वरिष्ठ नेता अल्ताफ बुखारी को किया बर्खास्त, पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप

रविवार को प्रदूषण का स्‍तर को सबसे खराब श्रेणी में रिकॉर्ड

उधर, दिल्‍ली में रविवार को प्रदूषण का स्‍तर को सबसे खराब श्रेणी में रिकॉर्ड किया गया। प्रदूषण का यह आंकड़ा पीएम 2.5- 261 और पीएम 10 का स्‍तर 262 पर है। मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए बताया कि शीघ्र ही मौसम में परिवर्तन देखने को मिल सकता है। इसका कारण उत्तरी दिशा से नमी वाली हवा की दिल्ली में दस्तक हो सकती है। विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम की ऐसे परिस्थिति बनेगी कि दिल्ली में 21 और 22 जनवरी को बारिश की संभावना बन सकती है। बारिश के साथ ही तेज हवाओं का दौर भी चल सकता है।

दिल्ली के 35 इलाकों में प्रदूषण का अवलोकन

वहीं, दिल्ली में शुक्रवार को शाम चार बजे एक्यूआई 397 दर्ज किया गया, जबकि बुधवार को 440 था जो वायु गुणवत्ता की खतरनाक स्थिति है। दिल्ली के 35 इलाकों में प्रदूषण का अवलोकन किया गया, जिसमें पीएम 2.5 कण 236 और पीएम-10 362 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर पाए गए। मौसम विभाग के अनुसार हवा की गति बढ़ने से शुक्रवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) में सुधार आया और यह खतरनाक स्तर से अत्यंत खराब स्तर पर आ गया।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/it-may-rain-in-delhi-and-sunday-worst-day-of-air-pollution-4005319/

कपिल शर्मा से मिले पीएम मोदी, कॉमेडी किंग ने ट्विटर पर लिखा आपका 'सेंस ऑफ ह्यूमर' भी कमाल


नई दिल्ली। नेताओं को हमने एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप तो कई बार करते हुए देखा है लेकिन ऐसे मौके बहुत कम मिलते हैं जब नेता हंसी मजाक के मूड में हों। कुछ ऐसा मौका बना शनिनवार को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुंबई में भारतीय सिनेमा के राष्ट्रीय संग्रहालय का उद्घाटन करने पहुंचे। इस दौरान फिल्म जगत की कई मशहूर हस्तियां वहां मौजूद थीं। लेकिन इनमें एक चेहरा ऐसा भी था जिसे देश में हंसाने का श्रेय भी दिया जा चुका है वो नाम था कपिल शर्मा का।


मोदी जी आपके पास गजब का सेंस ऑफ ह्यूमर
कॉमेडी किंग कपिल शर्मा ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और इस मुलाकात की एक फोटो सोशल मीडिया पर भी साझा की। खास बात यह है कि यह फोटो साझा करते हुए कपिल शर्मा ने लिखा 'आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, आपसे मिलकर अच्छा लगा और देश और फिल्म इंडस्ट्री की प्रगति को लेकर आपसे हमें अच्छे विचार जानने को मिले। मै यही कहना चाहूंगा कि आपके पास बेहतरीन सेंस ऑफ ह्यूमर है। कपिल शर्मा की तरफ से जारी इस तस्वीर में 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' धारावाहिक के फेमस किरदार जेठालाल यानी दिलीप जोशी भी नजर आए।

 


डायरेक्टर एकता कपूर ने भी अपने पिता और गुजरे जमाने के मशहूर अभनेता जितेंद्र और पीएम मोदी की मुलाकात का फोटो भी शेयर किया है. उन्होंने लिखा है, ''मेरे पिता माननीय प्रधानमंत्री जी के बड़े प्रशंसक हैं...और आज उन्होंने उनसे (पीएम) मुलाकात की.''


हाउ इज द जोश ?
पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मुंबई में भारतीय सिनेमा के राष्ट्रीय संग्रहालय के उद्घाटन के मौके पर मौजूद फिल्मी हस्तियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि फिल्में और समाज एक दूसरे का प्रतिबिंब हैं और सिनेमा की तरह भारत भी वक्त के साथ बदल रहा है। इस दौरान पीएम ने अपने भाषण में 'उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक' फिल्म का डायलॉग भी बोला. उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री के कलाकारों से पूछा- हाऊ इज द जोश? तुरंत जवाब में कलाकारों ने कहा- हाई सर। हालिया रिलीज फिल्म में यह नारा सेना के जवानों में जोश भरने के लिए इस्तेमाल किया गया है।

म्यूजियम की खास बातें
- 141 करोड़ की लागत से हुआ तैयार
- सिनेमा की एक सदी पुराने इतिहास की मिलेगी जानकारी
- 100 वर्ष से ज्यादा की यात्रा का वर्णन
- 19वीं सदी के ऐतिहासिक गुलशन महल में हुआ तैयार
- बच्चों को फिल्म निर्माण के विज्ञान, प्रौद्योगिकी और कला के बारे में जानकारी दी जाएगी
- हॉल में कैमरा, शूटिंग और अभिनय से जुड़ी जानकारियां भी होंगी
भारतीय सिनेमा के इतिहास से जुड़ी जानकारियां देने वाले इस संग्रहालय में दृश्य (विजुअल), शिल्प, ग्राफिक्स और मल्टीमीडिया की सहायता से भारतीय सिनेमा के किस्से-कहानियों का प्रस्तुतीकरण होगा। यह संग्रहालय 19वीं सदी के ऐतिहासिक गुलशन महल और नए संग्रहालय भवन में बनाया गया है। नामचीन फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल और सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी के मार्गदर्शन में संग्रहालय का निर्माण हुआ है। यहां भारतीय सिनेमा के 100 वर्ष से अधिक की यात्रा का वर्णन है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/pm-modi-meet-with-comedy-king-kpil-sharma-4005317/

करीब 2,000 IAS-IPS अधिकारी नहीं देना चाहते अचल संपत्तियों का ब्‍यौरा, लग चुका है डिफॉल्‍टर होने का ठप्‍पा


नई दिल्ली। वर्ष 2018 के लिए अचल संपत्तियों का रिटर्न भरने की आखिरी तारीख 31 जनवरी है। यानी केवल 10 दिन शेष रह गया है। इन अधिकारियों के पास अब खुद को डिफॉल्‍टर होने से बचाने के लिए 10 दिन शेष रह गए हैं। अब तक तकरीबन पांच हजार आईएएस में से 3060 अफसरों ने रिटर्न नहीं दाखिल किए हैं। मगर दो हजार से ज्यादा आईएएस-आईपीएस तो ऐसे हैं, जिन्होंने 2014 से लेकर 2017 तक के रिटर्न भी नहीं भरे हैं। डीओपीटी के नियमों के अनुसार इन अफसरों पर डिफॉल्टर होने का ठप्पा लग चुका हैं। बता दें कि तय तिथि के भीतर नहीं जमा करेंगे तो एक और मौका मिलेगा. इसके बाद डिफॉल्टर घोषित होंगे।

4926 IAS कार्यरत
डीओपीटी से मिले आंकड़ों के मुताबिक 2014 में अर्जित संपत्तियों का 1164 आईएएस अफसरों ने रिटर्न ही नहीं दाखिल किया। इसके अलावा 2015 का 1137 आईएएस ने ब्यौरा नहीं दिया। इस बीच सरकार ने कुछ सख्ती बरती तो सुस्त पड़े आईएएस अफसरों ने प्रापर्टीज की जानकारी देनी शुरू की। फिर भी 592 आईएएस डिफॉल्टर रहे। इसी तरह 2017 के लिए 715 अफसरों ने संपत्तियों की जानकारी नहीं दी। इसमें यूपी के 86 आईएएस हैं। देश में 6396 पदों की तुलना में 4926 आईएएस कार्यरत हैं।

रिटर्न भरने का सख्‍त नियम
आपको बता दें कि अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवाओं के अफसरों के लिए हर साल रिटर्न भरने का सख्त नियम है। जमीन, जायदाद और मकान आदि से जुड़े इस अचल संपत्ति रिटर्न को भरने में फेल होने पर विजलेंस क्लीयरेंस और प्रमोशन आदि के लाभ से वंचित करने की चेतावनियों की भी अधिकारियों को कोई परवाह नहीं है। अधिकारियों की इस रुख को देखते हुए डीओपीटी के नियमों के अनुसार दो हजार से ज्‍यादा अधिकारियों पर डिफॉल्टर होने का ठप्पा लग चुका हैं। यूपी में अवैध खनन के मामले में चर्चित आईएएस अफसर बी चंद्रकला के ठिकानों पर जिस तरह से छापेमारी हुई तो अफसरों की काली कमाई का मामला फिर से बहस में आ गया है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/2000-defaulter-ias-ips-officers-who-are-yet-to-file-immovable-property-4005210/

5 साल से लोकपाल पर सिर्फ बहानेबाजी कर रही मोदी सरकार: अन्ना हजारे


नई दिल्ली। समाजिक कार्यतकर्ता ने अन्ना हजारे ने एकबार फिर भूख हड़ताल का ऐलान किया है। वे लोकपाल और लोकायुक्त की नियुक्ति को लेकर 30 जनवरी से अपने गांव रालेगण सिद्धि में भूख हड़ताल करेंगे। उन्होंने कहा कि 5 साल से मोदी सरकार सिर्फ बहानेबाजी कर रही है। मेरे 32 बार खत लिखने के बाद भी प्रधानमंत्री ने जवाब नहीं दिया। पांच साल खत्म हो जा रहा लेकिन अब तक इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया।

सुप्रीम कोर्ट में भी है लोकपाल का मामला
बता दें कि बीते दिनों सुप्रीम कोर्ट ने इस बाबत सर्च कमेटी से अनुरोध किया है कि लोकपाल और उसके सदस्यों के नामों को शॉर्टलिस्ट करने के काम को फरवरी के अंत तक पूरा कर लिया जाए। कोर्ट ने यह भी कहा कि है कि चयन समिति के विचार के लिए नामों का एक पैनल भी प्रस्तुत किया जाए। अब इस मामले की अगली सुनवाई 7 मार्च 2019 को होगी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/activist-anna-hazare-attack-on-pm-narendra-modi-over-lokpal-act-4004417/

कश्मीरी पंडितों के विस्थापन के आज 29 वर्ष पूरे, सरकार से की घाटी में अपने लिए अलग बस्ती बनाने की मांग


श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर से कश्मीरी पंडितों के विस्थापन के 29 वर्ष पूरे हो गए। इस मौके पर कश्मीरी पंडित समुदाय के कुछ सदस्य शनिवार को राजधानी दिल्ली स्थित महात्मा गांधी की समाधि (राजघाट) पर एकत्रित हुए और विस्थापन दिवस मनाया। सभी ने सरकार से घाटी में अपने लिए एक अलग बस्ती बनाने की मांग की। राजघाट में सभी सदस्यों ने कश्मीर घाटी लौटने का संकल्प लिया और घर वापसी की सुविधा के लिए सरकार से अपना कर्तव्य पूरा करने की अपील की।

19 जनवरी 1990 की काली रात को क्या हुआ था कश्मीरी पंडितों के साथ

1990 में कश्मीर पंडित हुए थे विस्थापित

आपको बता दें कि 19 जनवरी 1990 में जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने कश्मीरी पंडितों के खिलाफ हिंसात्मक रूख अख्तियार कर लिया था। आतंकवादियों के साथ सैंकड़ों प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर आए थे और अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ नारेबाजी की और उन्हें परेशान किया गया। जिसके कारण कश्मीर पंडित अपने घर को छोड़कर पलायन करने को मजबूर हो गए। उसके बाद से घाटी में लगातार यह दौर जारी रहा। एक बयान में कहा गया है कि 19 जनवरी 1990 से पहले और बाद में कई कश्मीरी पंडितों की हत्या की गई, उन्हें प्रताड़ित किया गया और एक के बाद एक परिवारों को निशाना बनाया गया। इसलिए अपनी जान बचाने को लेकर घाटी से धीरे-धीरे सभी कश्मीरी पंडित पलायन कर गए।

महबूबा मुफ्ती ने प्रधानमंत्री को लिखी चिट्ठी,शारदा पीठ भी तीर्थयात्रियों के लिए खोला जाए

कश्मीरी पंडितो को लेकर सियासत

आपको बता दें कि कश्मीरी पंडितों को वापस घाटी में बसाने को लेकर लगातार सियासत होती रही है। मोदी सरकार ने 2014 में अपने चुनावी घोषणा में वादा किया था कि केंद्र में सरकार बनने पर कश्मीरी पंडितों को वापस बसाया जाएगा। लेकिन पांच वर्ष गुजर जाने के बाद भी घाटी में कश्मीरी पंडितों को बसाने का माहौल तक नहीं बन सका है। मोदी सरकार से पहले कांग्रेस की सरकारें रहीं। लेकिन फिर भी कश्मीरी पंडितों के लिए ऐसा कुछ भी नहीं किया जा सके जिससे कि वे अपने घर को लौट सकें। कश्मीरी पंडितों को लेकर हमेशा से सियासत होती रही है। चाहे वह जम्मू-कश्मीर की सरकार हो या फिर केंद्र की सरकार।

 

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/29-years-of-the-displacement-of-kashmiri-pandits-pople-demand-of-separate-place-from-the-government-for-themselves-in-vally-4004411/

ओडिशा सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन में की बढ़ोतरी, 48 लाख लोगों को मिलेगा फायदा


भुवनेश्वर। ओडिशा सरकार ने शनिवार को एक बड़ी घोषणा की है। सरकार के इस घोषणा से 48 लाख लोगों को फायदा मिलेगा। दरअसल मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शनिवार को मधु बाबू पेंशन योजना (एमबीपीवाई) के तहत 48 लाख लाभार्थियों के लिए सामाजिक सुरक्षा पेंशन में वृद्धि का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री पटनायक ने यहां अमा गांव अमा विकास कार्यक्रम में इस वृद्धि की घोषणा की। बता दें कि नई घोषणा के मुताबिक, पेंशनधारियों को अब 500 रुपये प्रति माह का संशोधित पेंशन मिलेगा, जबकि पहले 300 रुपये मिलती थी। वहीं, 80 साल के अधिक उम्र के लोगों को अब 700 रुपये प्रति माह का पेंशन मिलेगा, जो पहले 500 रुपये प्रति माह मिलता था।

ओडिशा में कांग्रेस को बड़ा झटका, नाबा किशोर दास ने दिया इस्तीफा

15 फरवरी से मिलेगा लाभ

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि करीब 48 लाख लाभार्थियों में राज्य के बुर्जुग पुरुष व महिलाएं, दिव्यांग, विधवा और निराश्रित महिलाएं शामिल है। उन्हें नया पेंशन 15 फरवरी से मिलेगा। सीएम ने पटनायक ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि मेरी सरकार का लक्ष्य एमबीपीवाई के तहत सभी वास्तविक लाभार्थियों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है। हाल ही में इस योजना में पांच लाख अतिरिक्त लाभार्थियों को शामिल किया गया है। इसके साथ ही इस योजना के लाभार्थियों की संख्या बढ़कर 48 लाख हो गई है। बता दें कि पटनायक सरकार की ओर से कई ऐसी योजनाएं चलाई जा रही है जिसका सीधा फायदा गरीब आम नागिरकों को पहुंच रहा है। पटनायक सरकरा गरीबों को सस्ते दामों में खाना भी उपल्बध करा रही है। पांच रुपये में सस्ता भोजन दिया जा रहा है। इसके अलावे बीते दिनों सरकार ने एक बड़ी घोषणा करते हुए अस्पतालों के बाहर कैंटिन खोलने का भी ऐलान किया था। इस कैंटिन में मरीजों के परिजनों को सस्ते दाम में खाना उपलब्ध हो सके इसके लिए पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/odisha-government-increases-social-security-pension-48-lakh-people-will-get-benefit-4003823/

पीएम मोदी ने राष्ट्रीय फिल्म संग्रहालय का किया उद्घाटन, कलाकारों से पूछा- हाउ इज द जोश?


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मुंबई के पेडर रोड इलाके में देश का पहला फिल्म संग्रहालय 'नेशनल म्यूजियम ऑफ इंडियन सिनेमा' का उद्घाटन किया। इस दौरान फिल्म इंडस्ट्री के के कई कलाकार नजर आए। वहीं, कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने फिल्म 'उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक' में इस्तेमाल किए गए डायलॉग का भी प्रयोग किया। उन्होंने वहां मौजूद कलाकारों से पूछा- 'हाउ इज द जोश'।

यह भी पढ़ें-कश्मीर में भारी बर्फबारी, कई उड़ानें रद्द, कई देरी से उड़ीं

हम फन पैदा करने से लेकर फैन बनाने में आगे हैं

आपको बता दें कि हाल ही में सर्जिकल स्ट्राइक पर आधारित फिल्म 'उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक' रिलीज हुई है। इस फिल्म में यह नारा आर्मी के जवान जोश भरने के लिए इस्तेमाल करते हैं। इसी नारे को आज पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान बोला। पीएम मोदी ने कहा कि भारत में बनने वाली फिल्मों में मानवीयता की भावनाओं को बेहतरीन तरीके से पेश किया जाता है। उन्होंने कहा कि हम फन पैदा करने से लेकर फैन बनाने हर जगह आगे हैं। यही वजह है कि आज युवा अगर बैटमैन का फैन है तो बाहुबली का भी फैन है।

यह भी पढ़ें-IRCTC घोटाला: 1 लाख के निजी मुचलके पर पटियाला हाउस कोर्ट से लालू यादव को

 

पीएम मोदी ने सुनाया किस्सा

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि फिल्में ही भारतीयता का पूरे विश्व में प्रतिनिधित्व करती हैं। यह फिल्में दुनिया को आकर्षित करती हैं और पूरे विश्व में भारत को ब्रैंड बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाती है। वहीं, इस दौरान उन्होंने भारतीय फिल्मों में भावुकता की तारीफ करते हुए एक किस्सा सुनाया। उन्होंने बताया, 'एक बार एक विदेश यात्रा के दौरान उनसे एक व्यक्ति ने पूछा कि भारतीय फिल्मों में लोग मंदिर में रोते हैं, पैर पकड़ लेते हैं, ऐसा क्यों है? सोचिए कि वह व्यक्ति भारत की फिल्मों में भावनात्मकता देखकर हैरान है और यही हमारी सफलता है।'


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/pm-modi-inaugurated-national-film-museum-in-mumbai-asked-how-is-the-josh-4003556/

कश्मीर में भारी बर्फबारी, कई उड़ानें रद्द, कई देरी से उड़ीं


कश्मीर में शनिवार को अधिकतर हिस्सों में बर्फबारी हुई। इससे विमान सेवाएं भी प्रभावित रहीं। कुछ उड़ानों को रद्द करना पड़ा। मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी के अनुसार- ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर सहित ऊंचे इलाकों और मैदानी इलाकों में ताजा बर्फबारी हुई है। जबकि कश्मीर के मैदानी इलाकों में हल्की बर्फबारी और ऊंचाई पर स्थित इलाकों में मध्यम बर्फबारी हुई है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार- बर्फबारी के कारण श्रीनगर हवाई अड्डे पर कुछ विमान सेवाएं रद्द कर दी गईं, जबकि कुछ विमानों ने देरी से उड़ान भरी।

‘भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण’ (एएआई) के एक अधिकारी के अनुसार- खराब मौसम के कारण आज कुछ उड़ानें रद्द करनी पड़ीं, जबकि अधिकतर विमानों ने अपने तय समय से देरी से उड़ान भरी। उन्होंने कहा कि दिन में मौसम में कुछ सुधार के साथ परिचालन सामान्य होने की संभावना है।

एक रिपोर्ट में मौसम विभाग के एक अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि पश्चिमी विक्षोभ (डब्ल्यूडी) वर्तमान में राज्य में सक्रिय है, जिसके प्रभाव के कारण 23 जनवरी तक घाटी में सामान्य से लेकर भारी बर्फबारी होने की संभावना है। इसके बाद पश्चिमी विक्षोभ की तीव्रता कम होने लगेगी।

बर्फबारी के कारण किसी अप्रिय घटना से निपटने के लिए जिला प्रशासन की ओर से हेल्पलाइन जारी की गई है। अधिकारी के अनुसार- रात में बादल छाए रहने से शनिवार को पूरी घाटी में न्यूनतम तापमान में वृद्धि हुई, अधिकतम तापमान में गिरावट आने की संभावना है।

बता दें, श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 2 डिग्री नीचे, पहलगाम में शून्य से 4.4 डिग्री नीचे और गुलमर्ग में शून्य से सात डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। लेह में रात का न्यूनतम तापमान शून्य से 9.2 डिग्री नीचे और कारगिल में शून्य से 18.9 डिग्री सेल्सियस नीचे रिकॉर्ड किया गया।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/heavy-snowfall-in-kashmir-flights-canceled-4003035/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Haryana Jobs / Opportunities / Career
Bank Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Rajasthan Jobs / Opportunities / Career
Scholorship Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
Railway Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Gujarat Jobs / Opportunities / Career
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Bihar Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Punjab Jobs / Opportunities / Career
Admission Jobs / Opportunities / Career
Jammu and Kashmir Jobs / Opportunities / Career
Madhya Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Bihar
State Government Schemes
Study Material
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Syllabus
Festival
Business
Wallpaper
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com