Patrika : Leading Hindi News Portal - MP Entertainment #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - MP Entertainment

http://api.patrika.com/rss/mp-entertainment-news 👁 309

पत्तियों, पाइप, कार पर जमी बर्फ की परत


शाजापुर. उत्तर-पूर्वी भारत में हो रही बर्फबारी शहरवासियों को जनजीवत अस्त व्यस्त कर दिया है। वहीं किसानों की फसलों को भारी नुकसान पहुंचाया है। दूसरे दिन तापमान और कम हो गया, जो 3.2 डिग्री दर्ज किया गया। बीते २० सालों में पहली बार दिसंबर माह में इतनी सर्दी देखने को मिल रही है। इससे फसलों में पाला पडऩे की आशंका बढ़ गई है। इस मौसम से जहां जिले में सर्वाधिक आलू-चना की फसल प्रभावित हुई है, वहीं सरसों और गेहूं बेहतर स्थिति में हैं। तापमान गिरने से जिले में ३० प्रतिशत के लगभग आलू की फसल का नुकसान हुआ है। वहीं 5-10 प्रतिशत चने की फसल प्रभावित हुईहै। मौसम विभाग के मुताबिक 3 जनवरी तक ५ डिग्री के आसपास तापमान बना रहेगा। ऐसे में आगामी दिनों में पाले का असर फसलों पर और अधिक बढ़ सकता है।
पिछले दो दिन पड़ रही सर्दी का असर आमजनों के साथ ही फसलों पर देखा जा रहा है। लगातार दो दिनों से लगातार3.6 और3.2 रहने से सैकड़ों हैक्टेयर की फसल पाले की चपेट में आ गई है। हालांकि अभी कितनी फसलों को नुकसान हुआ इसका सर्वे नहीं हो पाया है। कृषि वैज्ञानिकों के मुताबिक आलू की फसलों में ३० और चने की फसलों में 5 प्रतिशत नुकसान बताया जा रहा है। कृषि वैज्ञानिक डॉ. एसएस धाकड़ ने शनिवार को क्षेत्र के ग्राम सतगांव, टिमायची, टुंगनी गांव का दौरा किया। जहां फसलें पाले की चपेट में आई हैं। डॉ. एसएस धाकड़ ने बताया कि मौसम को देखते हुए किसानों को फसलों को पाले से बचाने के उपाय बताएं गए हैं। फसलों को सुरक्षित रखा जा सकता है। आगामी दिनों में तापमान 5 डिग्री के आसपास रहने की संभावना है। इसके तहत सावधानी बरतने की सलाह दी गईहै।
सिंचाई के लिए लगे पाइप कड़क हो गए
दो दिनों से उत्तर-पूर्वी में हो रही बर्फबारी का असर इतना हुआ कि शहर में पत्तों से लेकर खुली कार पानी में बर्फ की परत जमने लगी है। शनिवार को मंडी पहुंची सब्जियों में बर्फ की परत जमी हुई पाई। खेतों में सिंचाई के लिए लगे पाइप कड़क हो गए और उन पर बर्फ की परत जम गई, कई पाईप फट भी गए। दूसरे दिन भी सर्दी अधिक होने से सुबह से किसान खेतो पर पहुंची और अपनी फसलों की जानकारी ली। इसमें अनेक ग्रामों में फसलें प्रभावित होने की सूचना है।
दिन में पहने गर्म कपड़े, अलाव बना सहारा
दो दिन में न्यूनतम तापमान 8 डिग्री से घटकर 3.२ डिग्री पर पहुंच गया। नतीजन शहरवासियों को दिनभर अलाव का सहारा लेना पड़ रहा है। सुबह से कंपकंपाने वाली सर्दी से लोगों की सुबह देर से हो रही है। दिसंबर माह में सालों बाद इतनी सर्दी देखने को मिल रही है। बर्फबारी से तापमान लगातार कम होता जा रहा है। इसके पहले भी न्यूनतम तापमान लगातार आठ दिनों तक 5 से 6 डिग्री दर्ज किया जा रहा था, लेकिन इस बार पडऩे वाली सर्दी ने लोगों की दिनचर्या पर असर डाल दिया। ८ किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलने वाली हवाओं के कारण दिनभर लोग गर्म कपड़ों व सुबह से रात तक लोग अलाव जलाए रहे।
हली बार ४ डिग्री के नीचे पहुंचा तापमान
दिसंबर माह में बीते २० साल में पहली बार तापमान ४ डिग्री के पहुंचा है। अभी तक का दिसंबर माह में सबसे कम तापमान ३० दिसंबर २००३ को दर्जकिया गया था। इस वर्ष बीते सप्ताह में ५ डिग्री तक तापमान पहुंच चुका है। वहीं शुक्रवार और शनिवार को पारा ३.६ और ३.२ डिग्री पहुंच गया। ये तापमान बीते २० साल में कभी भी दिसंबर माह में नहीं रहा। जनवरी में तामपान २ डिग्री से कम रहा है।
दिसंबर में अब तक ये रहा न्यूनतम पारा
वर्ष न्यू. तापमान
27 दिसंबर2017 6.6 डिग्री
29 दिसंबर 20167.5डिग्री
15 दिसंबर 2015 4.8 डिग्री
30दिसंबर 2014 4.7डिग्री
21 दिसंबर 2013 6.6 डिग्री
२१ दिसंबर 2012 5.0 डिग्री
12 दिसंबर 2011 6.4डिग्री
20 दिसंबर 2010 6.0 डिग्री
30 दिसंबर 2009 8.1 डिग्री
25 दिसंबर 2008 6.6 डिग्री
31 दिसंबर 2007 6.9डिग्री
15 दिसंबर६ 20067.8 डिग्री
17दिसंबर 2005 4.9 डिग्री
12 दिसंबर 2004 7.6 डिग्री
पाले से फसल बचाने के लिए ये करें किसान
आलू, मटर, काबूली चना की फसल पर पाले का खतरा
खेतों में हल्की सिंचाई करें, जिससे खेत का तापक्रम 0.5 डिग्री से 2 डिग्री तक बढ़ जाता है
खेत में हल्की सिंचाई स्प्रीकंलर से करें
कुछ रसायनों के उपयोग से भी पाले से बचाव किया जा सकता है
थायोयूरिया की 500 ग्राम मात्रा का एक हजार लीटर पानी में धोल बनाकर छिड़काव करें - 8 से 10 किलोग्राम सल्फर डस्ट प्रति एकड़ बुरकाव अथवा वेटेबल या धुलनशील सल्फर 3 ग्राम प्रति लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें।
खेतों एवं बगीचों में धुआं करें
नम घास या टहनियां को इस तरह जलाएं कि धुआं खेतों पर एक परत बना लें, 6 से 8 जगहों पर धुआं करेंं।
आज से न्यूनतम तापमान में एक डिग्री की बढ़ोतरी होने की संभावना है। इस सर्दी का असर ३ जनवरी तक रहेगा। ऐसे में तापमान ५-६ डिग्री तक रहेगा।
सत्येंद्र कुमार धनोतिया, मौसम पर्यवेक्षक


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/leaves-on-the-leaves-pipe-car-frozen-ice-3903256/

संजय दत्त शूटिंग के लिए तैयार, साइन कर चुके हैं तीन फिल्में



भोपाल। जेल से रिहा होने के बाद संजय दत्त वापस अपनी पेंडिग फिल्म की शूटिंग और नई फिल्म की शूटिंग के लिए तैयार हो चुके हैं। सूत्रों के अनुसार संजय 1991 में रिलीज़ हुई अपनी फिल्म सड़क की रीमेक बनाने की योजना बनाई जा रही थी। इस फिल्म में पुरानी फिल्म के संजय और पूजा भट्ट के किरदार को निभाने के लिए दो नए चेहरे को लॉन्च करने की बात सामने आई थी।

इस फिल्म में संजय काम करना चाहते थे। सड़क फिल्म में विलेन महारानी का किरदार काफी हिट हुआ था, इसलिए संजय चाहते थे कि इस फिल्म के रीमेक में वो किरदार वह खुद निभाएं। लेकिन क्योंकि पुरानी फिल्म महेश भट्ट और मुकेश भट्ट के बैनर की थी, इसलिए उनसे डील ना हो पाने के कारण ये फिल्म नहीं बन पाई।

यह भी पढ़ें...अक्षय कुमार का फैशन सेंस, बॉलीवुड भी हुआ दीवाना

हॉलीवुड का बनेगा रीमेक
इसलिए संजय इसी फिल्म को टक्कर देने वाली हॉलीवुड की एक सफल फिल्म की कहानी का हिंदी वर्जन ला रहे हैं। बताया जा रहा है कि यह फिल्म हॉलीवुड फिल्म द इक्वलाइज़र का रीमेक होगी और उसी मिज़ाज़ की होगी। जेल से रिहा होने के बाद संजय दत्त की यह पहली फिल्म होगी। इस फिल्म का निर्देशन बैंग बैंग फमे सिद्धार्थ आनंद करेंगे।

यह भी पढ़ें...जब सोनू निगम की लाइव परफॉरमेंस पर झूम उठे लोग, देखें PHOTOS

संजय जल्द ही इस फिल्म की शूटिंग शुरू कर देंगे। इस फिल्म के अलावा संजय दो और फिल्में साइन कर चुके हैं। आपको बता दें कि जेल जाने से पहले संजय प्रदेश के दतिया जिले में स्थित देवी पीठ के दर्शन के लिए आए थे।

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/sanjay-dutt-is-ready-for-the-shooting-of-films-39180/

अक्षय कुमार का फैशन सेंस, बॉलीवुड भी हुआ दीवाना



जबलपुर। अक्षय कुमार का फैशन सेंस के दीवानों की कमी नहीं। खिलाड़ी कुमार न सिर्फ फिटनेस के मामले में बल्कि अपने फैशन सेंस के लिये भी मशहूर हैं। अक्षय कुमार कुछ महीनों से अपने कपड़ों और ड्रेसिंग स्टाइल को लेकर खूब चर्चा बटोर रहे हैं। 
बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय की पत्नि ट्विंकल उनके लिए कपड़ों का सलेक्शन करती हैं और अक्षय को भी लगता है, कि वे ट्विंकल द्वारा बताए कपड़ों में ज्यादा अच्छे दिखते हैं। अक्षय कुमार की हालिया रिलीज एयर लिफ्ट के प्रमोशन करने वे जहां भी गए उनका ड्रेसिंग सेंस फैन्स द्वारा खूब पसंद किया गया।


दीपिका को है पसंद  
खुद कमाल की ड्रसेज और बेहतरीन ड्रेसिंग सेंस के लिये जानी जाने वाली बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण भी बॉलीवुड में सबसे अच्छा ड्रेसिंग सेंस रेखा और अक्षय कुमार का लगता है। वो कहती हैं कि पुरुषों में मुझे अक्षय सर्वश्रेष्ठ लिबास पहनने वाले लगते हैं। कपड़े पहनने में अपनी सिंप्लीसिटी की वजह से वह अच्छे दिखते हैं। उनकी फिजिक एथलीटों वाली है और इस वजह से वह जिस तरह कपड़े पहनते हैं, उनका इंप्रेशन बढ़ जाता है।
 
deepika padukone

रणवीर सिंह स्टाइल के दीवाने हैं
अभिनेता रणवीर सिंह खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार के बड़े फैन हैं। उन्होंने बताया कि वे अक्षय को कई मामलों में फॉलो करते हैं। युवा रणवीर सिंह को अपना आईडल मानते हैं लेकिन रणवीर बचपन से ही अक्षय कुमार को अपना आईडल मानते हैं। रणवीर अक्सर अवॉर्ड फंक्शन या बॉलीवुड पेज 3 पार्टीज में भी हटकर ड्रेसिंग के लिए मशहूर हैं, लेकिन वो हमेशा से अक्षय की एक्टिंग और ड्रेसिंग स्टाइल को फॉलो करते आए हैं। हाल ही में एक प्रोग्राम में जब रणवीर अक्षय से मिले तो रणवीर के दिल में अक्षय के प्रति दीवानगी उनके चेहरे से साफ झलक रही थी। 

ड्रेस से मदद
अक्षय कुमार गरीब बच्चों की मदद में कभी भी पीछे नहीं रहते हैं। इसक लिए उन्होंने किसी से मदद मांगने या कोई प्रोग्राम अरेंज करने के बजाये खुद का एक नया फंडा अपनाया है। वे गरीब बच्चों की मदद के लिए अपने कपड़ों का ऑक्शन भी करवाते हैं। जिनसे मिला पैसा जरूरतमंदों की मदद में खर्च किया जाता है।

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/akshay-kumar-fashion-sense-bollywood-was-also-crazy-39067/

कभी सेल्स गर्ल थी ये स्टार, आज बॉलीवुड में छाई इनकी आवाज



भोपाल। सत्मेव जयते फेम सोना महापात्रा भोजपुर उत्सव के दौरान भोपाल आई। सोना शायद पहले इतनी नहीं जानी जाती, लेकिन सत्मेव जयते शो में घर याद आता है मुझे...,मुझे क्या बेचेगा रुपईया..., बेख़ौफ़ आज़ाद है जीना मुझे... जैसे गाने गाकर लोगों से भावनात्मक रूप से जुड़ी जिसके कारण वह काफी चर्चा में भी आईं।

उसके बाद बॉलीवुड गाने के भी उन्हें काफी ऑफर मिले। आपको बता दें कि उनका सबसे पॉपुलर गाना अंबर सरिया मुंडियारे कुडिया कुडिया... एक रात में सिर्फ एक गिटार के साथ रिकॉर्ड किया गया था। 



यह भी पढ़ें...भावुक हुए महानायक, फिल्म आनंद को ब्लॉग पर किया याद


सेल्स गर्ल की कर चुकी हैं नौकरी
सोना ने अपनी जिंदगी के बारे में कहा कि मैनें अपनी जिंदगी में बहुत संघर्ष किया है। एक वक्त ऐसा भी था जब मैं इंजीनियरिंग और एमबीए करने के बावजूद एक सेल्स गर्ल की नौकरी करती थी।   प्रोडक्टस बेचने के लिए मुझे एक से दूसरी दुकान पर भटकना पड़ता था।

यह भी पढ़ें...54 आवाज़ों में गाना गाकर दुनिया को चौंका दिया था सोनू निगम ने

फील्ड बदलने के लिए मैनें नौकरी छोड़ दी लेकिन ये राह इतनी आसान नहीं थी। उस वक्त मेरे सामने सबसे बड़ी चुनौती थी खुद को स्टैबलिश करना। कभी नहीं सोचा था कि मैं कभी इस तरह से माइक लेकर किसी स्टेज पर परफोर्मे करूगीं। लेकिन मेरी मेहनत और लगन रंग लाई और देखिए आज मैं यहां इस मुकाम तक पहुंच गई हूं।

satyamev jayate

बेटियों को समानता का दर्जा दिलाना है लक्ष्य
सोना मानती हैं कि उनका जन्म सत्यमेव जयते के हिट सॉंग मुझे क्या बेचेगा रुपईया को गाने के लिए हुआ है। वैसे तो उन्होंने बहुत गाने गाए हैं, लेकिन ये गाना उनके सबसे करीब है। सोना का कहना है कि वे समाज में बेटियों को समानता का दर्जा दिलाने के लिए जन्मी हैं।

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/sona-mohapatra-interview-in-bhopal-38830/

54 आवाज़ों में गाना गाकर दुनिया को चौंका दिया था सोनू निगम ने



भोपाल। रोमांटिक गानों से सबका दिल जीतने वाले सोनू निगम तीन दिवसीय भोजपुर उत्सव में अपनी स्पेशल परफॉरमेंस के लिए आ रहे हैं। सोनू निगम का बचपन से ही म्यूज़िक में इंटरेस्ट था। तीन साल की उम्र से ही अपने पिता अगम कुमार के मार्गदर्शन में उन्होंने स्टेज शो करना शुरू कर दिया था।

अपने टैलेंट का लोहा मनवा चुके सोनू निगम हमेशा अपने लुक और आवाज़ों में एक्सपेरिमेंट्स के लिए जाने जाते हैं। लेकिन उन्होंने पूरी दुनिया को तब चौंका दिया था जब उन्होंने एक गाना 54 आवाज़ों में गाया। यह गाना था निर्देशक फराह खान की फिल्म तीस मार खां के लिए।

यह भी पढ़ें...जब सोना मोहपात्रा के गानों पर झूम उठी ऑडियंस, देखें PHOTOS

इस गाने को गाने के लिए सोनू ने अपनी आवाज़ के अलावा जापानी, चाइनीज, पुरूष और महिला कोरस, अरबी और फ्रेंच लहजे का इस्तेमाल किया। इसके अलावा सोनू निगम ने गाने में अक्षय कुमार की आवाज़ का भी प्रयोग किया।

यह भी पढ़े....B day: साधना सरगम ने दूरदर्शन से शुरू किया था गायिकी का सफर

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/sonu-nigam-experiments-with-music-38786/

भावुक हुए महानायक, फिल्म आनंद को ब्लॉग पर किया याद


जबलपुर। आनंद (राजेश खन्ना) को कभी भी नहीं भुलाया जा सकेगा। काका के नाम से मशहूर महान एक्टर की अदाकारी ने कितनी बार ही लोगों की आंखों में पानी ला दिया। अब भी इस महान कलाकार को बड़े ही गर्व के साथ इंडस्ट्री में याद किया जाता है। इस फिल्म में काका के साथ काम कर चुके महानायक अमिताभ बच्चन अपने ऑफिशियल ब्लॉग पर इन्हें याद कर भावुक हो गए।
अमिताभ बच्चन और राजेश खन्ना अभिनीत फिल्म आनंद को रिलीज हुए 45 साल हो गए हैं।

अमिताभ ने अपने ब्लॉग पर लिखा, फिल्म आनंद को 45 साल हो गए हैं। एक असाधारण सफर। आत्मज्ञान कराने, दूसरे से मिलवाने, नतीजे का बेसब्री से इंतजार कराने वाला सफर।

फिल्म रिलीज वाले दिन उस दरमियानी रात में सड़क पर हुई मुलाकात और गुलजार के उत्साह बढ़ाने वाले अल्फाज...बहुत कुछ बीत गया है और बहुत कुछ बीतना है।

And 45 years of ‘Anand’ ! An incredible journey .. a journey of finding self, of finding others, of learning craft, of witnessing the tornado’s of adulation for your co star, of anxious waiting for the result .. of that mid night meeting in the middle of the road on release and Gulzar’s words of encouragement ..

So much has passed and so many have gone by ..


Love
Amitabh Bachchan

आपको बता दें कि जया भादुड़ी का जन्मस्थान होने की वजह से जबलपुर को अमिताभ की बतौर ससुराल जाना जाता है वहीं कवि एवं साहित्य प्रेमियों की भी यहां कमी नहीं जिसकी वजह से अमिताभ का ब्लॉग खासे लोगों के बीच पठनीय है।

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/amitabh-bachchan-wrote-in-his-blog-for-a-great-movie-anand-38759/

B day: साहिर लुधियानवी - प्रेमिका के पिता ने निकलवा दिया था कॉलेज से



जबलपुर। हिन्दी सिनेमा के सुनहरे दौर में ऐसे तो कई प्रसिद्ध गीतकार  हुए हैं, लेकिन उनमें खास मुकाम व पहचान बनाने वाले गिने-चुने लोग ही है। ऐसे ही एक शायर व गीतकार हुए साहिर लुधियानवी। जिन्होंने न सिर्फ हिन्दी सिनेमा में उनके योगदान को लोग आज भी याद करते हैं। उनके लिखे गीत आज भी लोगों की जुबां पर चढ़े हुए हैं। साहिर लुधियानवी को सन् 1964 और 1977 में सर्वश्रेष्ठ गीतकार के लिए फिल्मफेयर अवार्ड दिया गया था।


मां के साथ गरीबी में गुजारा
साहिर लुधियानवी का असली नाम अब्दुल हयी साहिर है। उनका जन्म 8 मार्च 1921 में लुधियाना के एक जागीरदार घराने में हुआ था। इनके पिता बहुत धनी थे, परंतु माता-पिता में अलगाव होने के कारण उन्हें माता के साथ गरीबी में गुजर करना पड़ा। 
साहिर की शिक्षा लुधियाना के खालसा हाई स्कूल में हुई। सन् 1939 में जब वे गर्वनमेंट कालेज के छात्र थे तब उन्हें कॉलेज की छात्रा अमृता प्रीतम से प्रेम हो गया, लेकिन वो ज्यादा दिनों तक नहीं चल सका। कॉलेज़ के दिनों में साहिर अपने शेरों के लिए साहिर लुधियानवी के नाम से ख्यात हो गए थे और अमृता इनकी सबसे बड़ी प्रशंसक बन गईं। 
अमृता के घरवालों को ये प्रेम रास नहीं आया क्योंकि एक तो साहिर मुस्लिम थे और दूसरे गरीब। बाद में अमृता के पिता के कहने पर उन्हें कॉलेज से निकाल दिया गया। 

Sahir Ludhianvi : The Magician of Words

लाहौर आए, संपादन किया
सन् 1943 में साहिर लुधियानवी लाहौर आ गये और उसी वर्ष उन्होंने अपनी पहली कविता संग्रह तल्खियां छपवाई। तल्खियाँ के प्रकाशन के बाद से ही उन्हें अपनी एक पहचान मिली। सन् 1945 में वे प्रसिद्ध उर्दू पत्र अदब-ए-लतीफ और शाहकार (लाहौर) के सम्पादक बने। 
बाद में उन्होंने द्वैमासिक पत्रिका सवेरा का भी संपादन किया। इस पत्रिका में उनकी किसी रचना को सरकार के विरुद्ध समझे जाने के कारण पाकिस्तान सरकार ने उनके खिलाफ  वारंट जारी कर दिया। उनके विचार साम्यवादी थे जिसके चलते उन्होंने पाकिस्तान छोड़ दिया और सन् 1949 में वे दिल्ली आ गए। कुछ दिनों दिल्ली में रहकर वे बंबई (वर्तमान मुंबई) आ गये जहां उन्होंने उर्दू पत्रिका शाहराह और प्रीतलड़ी के लिए बतौर संपादक काम किया।

Sahir Ludhianvi : The Magician of Words

आजादी के लिए पहला गीत लिखा
सन् 1949 में फिल्म आजादी की राह पर के लिए साहिर ने पहली बार गीत लिखे थे। किंतु बतौर गीतकार प्रसिद्धि उन्हें फिल्म नौजवान गीत ठंडी हवाएं लहरा के आएं... से मिली, जिसे सचिनदेव ने संगीतबद्ध किया था। इस सफलता के बाद साहिर लुधियानवी ने बाजी, प्यासा, फिर सुबह होगी, कभी कभी जैसे सुपरहिट फिल्मों के लिए गीत लिखे। सचिनदेव बर्मन के अलावा एन. दत्ता, शंकर जयकिशन, खैय्याम सहित उस दौर के सभी बड़े संगीतकारों ने उनके लिखे गीतों की धुनें बनाईं। 59 वर्ष की आयु में 25 अक्टूबर 1980 में 59 वर्ष की आयु में दिल का दौरा पडऩे से साहिर लुधियानवी का निधन हो गया।

फिर नहीं की शादी
साहिर का अमृता से प्रेम असफल रहा फिर मुंबई में उन्हें सुधा मल्होत्रा से प्रेम हुआ, लेकिन इसका हश्र भी वहीं हुआ। इकसे बाद वे आजीवन अविवाहित ही रहे। उन्होंने अपने जीवन को कविताओं व शेरों में भी उतारा, जिसमें गरीब प्रेमी के जीवन की गाथा भी दिखाई देती है। 

मैं फूल टांक रहा हूं तुम्हारे जूड़े में
तुम्हारी आंख मुसर्रत से झुकती जाती है
न जाने आज मैं क्या बात कहने वाला हूँ
जबान खुश्क है आवाज रुकती जाती है
तसव्वुरात की परछाइयां उभरती हैं

रॉयल्टी वाले पहले गीतकार
साहिर हिन्दी सिनेमा जगत ऐसे पहले गीतकार थे जिन्हें अपने गानों के लिए रॉयल्टी मिलती थी। उनके प्रयास के बावजूद ही संभव हो पाया कि आकाशवाणी पर गानों के प्रसारण के समय गायक तथा संगीतकार के अतिरिक्त गीतकारों का भी उल्लेख किया जाता था। इससे पहले तक गानों के प्रसारण समय सिर्फ गायक तथा संगीतकार का नाम ही उद्घोषक द्वारा लिया जाता था।

साहिर के प्रसिद्ध गीत
आना है तो आ राह में कुछ ... फिल्म नया दौर 1957, संगीतकार ओपी नैय्यर
अल्लाह तेरो नाम, ईश्वर तेरो नाम...फिल्म हम दोनो 1961, संगीतकार जयदेव
चलो एक बार फिर से अजनबी बन जाएं... फिल्म गुमराह 1963,  संगीतकार रवि
मन रे तू काहे न धीर धरे ... फिल्म चित्रलेखा 1964, संगीतकार रोशन
मैं पल दो पल का शायर हूं ... फिल्म कभी-कभी 1976, संगीतकार खैय्याम
यह दुनिया अगल मिल भी जाए तो क्या है ... फिल्म प्यासा 1957, संगीतकार एसडी बर्मन
ईश्वर अल्लाह तेरे नाम सबको संमति... फिल्म नया रास्ता 1970, संगीतकार एन दत्ता

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/sahir-ludhianvi-the-magician-of-words-38755/

B day: साधना सरगम ने दूरदर्शन से शुरू किया था गायिकी का सफर


जबलपुर। साधना सरगम आज महाशिवरात्रि के साथ ही अपना जन्मदिन भी मना रही हैं। बॉलीवुड की गई हस्तियां इस अवसर पर उन्हें जन्मदिन की बधाई भी दे रही हैं। साधना के गीतों ने अपनेे नाम को सार्थक करते हुए लोगों के दिलों में जगह बनाई।

साधना सरगम का नाम भी उन्हीं के सुरमय गीतों जैसा है। उन्होंने भारतीय सिनेमा में अपने मधुर तरानों से धूम मचा दी। फिल्मी संगीत के अलावा उन्हें भक्तिगीत, शास्त्रीय संगीत, गजल, क्षेत्रीय फि ल्म के गाने और पॉप अल्बम में भी विशेष रूचि रही है।

ये भी पढ़ें: कल्याणजी के बिना अधूरे आनंद, संगीत सीखे बिना ही मचा दी थी धूम

उदित नारायण के साथ मिलकर पहला नशा पहला खुमार..., गीत गाने वाली साधना सरगम ने चार दशकों के अपने करियर में दर्शंकों के दिलों पर अपने सुरीले नगमों की छाप छोड़ी। उनके मधुर तरानों ने सभी को अपना दीवाना बनाकर उन्हें झूमने पर मजबूर कर दिया। साधना सरगम भारतीय सिनेमा की जानी-मानी पाश्र्वगायिका हैं। उन्होंने महज 6 साल की उम्र में दूरदर्शन के लिए सूरज एक चंदा एक तारे अनेक नामक गीत गाया, जो का लोकप्रिय भी रहा।

ये भी पढ़ें: कल्याणजी के बिना अधूरे आनंद, संगीत सीखे बिना ही मचा दी थी धूम

साधना का जन्म महाराष्ट्र के दाभोल में 7 मार्च, 1962 में एक संगीतकारों के परिवार में हुआ। साधना सरगम का असली नाम साधना पुरूषोत्तम घाणेकर है। जबलपुर शहर के संगीत प्रेमी साधना को अपना कॅरियर में आगे बढऩे के लिए प्रेरणा ले रहे हैं।

ये हैं साधना के गीत जिन्होंने पूरे देश मेंं धूम मचाई
दर्द करारा... , साईं राम साईं श्याम साईं भगवान.. , बिन साजन झूला झूलूं... , धीरे धीरे आप मेरे... , चंदा रे चंदा रे... , हमको मालूम है... , माही वे... , क्या मौसम आया है... , सलाम-ए-इश्क... , अंगना में बाबा... , मेरी नींद मेरा चैन... , तेरा नाम लेने की... , तुझसे क्या चोरी है... , आइये आपका इंतजार था... , सुनो मियां सुनो... , सात समुंदर पार... , ऐतबार नहीं करना... जैसे कई मधुर गीतों को अपने सुरीले स्वर से संवारा है।

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/happy-birthday-to-famous-singer-sadhana-sargam-38447/

299 चेहरों से बनाई लता की पेंटिंग, लिम्का बुक में दर्ज हुआ नाम



नुपुर महावर @ जबलपुर। स्वर कोकिला के दुनिया में करोड़ों दीवाने और चाहने वाले हैं, लेकिन क्या कभी किसी ने उनके गानों के अलावा उनके चेहरे को पढ़ा है। नहीं न, लेकिन शहर के ये चित्रकार स्वर कोकिला लता मंगेश्कर के इस कदर दीवाने हैं कि उन्होंने लता का अनोखा पोट्रेट तैयार कर लिया।

जिसमें उन्होंने स्वर कोकिला के अलग-अलग भावों को प्रस्तुत करते 299 चेहरे इतनी खूबसूरती से उतार दिए कि देखने वाला हर शख्स कह उठता है, वाह लाजवाब। दो साल पहले बनी इस विचित्र पेंटिंग को हाल ही में लिमका बुक ऑफ रिकॉर्ड में शामिल कर लिया गया है। यह पेंटिंग गंगानगर गढ़ा, गुजराती कॉलोनी निवासी चित्रकार रामकृपाल नामदेव ने बनाई है। पते की बात यह है कि इस पेंटिंग पर लता मंगेश्कर ऑटोग्राफ दे चुकी हैं। 

LATA MANGESHKAR PAINTING

     पेंटिंग फैक्ट
  • 60 बाय 45 सेमी की पेंटिंग
  • 299 फेस लता मंगेश्कर के 
  • 630 फेस वर्ल्ड की फेमस वीमन
  • 1 फेस माता सरस्वती
  • ऑइल पेंट का वर्क 

दो महीने में बनी पेंटिंग 
रामकृपाल ने बताया कि इस पेंटिंग को बनाने में दो महीने लगे हैं, क्योंकि इसमें कुल 930 चेहरे बनाए गए हैं। एक बड़ा चेहरा लता मंगेश्कर का है। बड़े फेस में 299 फेस लता मंगेश्कर के हैं और अन्य फेस वल्र्ड की फेमस वीमन के हैं। इसमें तीन फेस जबलपुर की महिलाओं के भी हैं। 60 बाई 45 सेमी. साइज की इस पेंटिंग में लगभग 1.5 सेमी के अन्य चेहरे हैं। इस कारण इसे बनाने में वक्त लगा। 

लताजी के फैन
यह चित्रकार गायिका लता मंगेश्कर के बहुत बड़े फैन हैं। लताजी की बचपन से लेकर अब तक फोटोज को पेंटिंग में उतारकर वे एक शृंखला तैयार कर रहे हैं। जब वे लता से मिले तो अपनी पेंटिंग दिखाई। वे भी बेहद खुश हुईं और इस पर अपने दस्तखत भी किए। 

LATA MANGESHKAR PAINTING

गांधीजी की भी स्पेशल पोट्रेट 
लता के साथ-साथ रामकृपाल ने गांधीजी की भी एेसी ही पेंटिंग तैयार की है। उसमें उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के चेहरे बनाएं हैं। नामदेव ने बताया कि पेंटिंग तो सब करते हैं, लेकिन उन्होंने अपनी कला में विशिष्टता लेने के लिए पेंटिंग में इनोवेशन किया।

देखें इनके चित्रों की दुनिया - 



Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/city-artist-create-lata-mangeshkar-portrait-with-299-face-38346/

B DAY: चोरी के पैसे ने रखी थी अनुपम के करियर की नींव



भोपाल। बॉलीवुड इंडस्ट्री के जाने माने अभिनेता अनुपम खेर आज 61 साल के हो गए। अनुपम खेर को अपने करियर के इस मुकाम को पाने के लिए सिर्फ मेहनत ही नहीं बल्कि काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा। अनुपम एक्टिंग के लिए कितने पैशनेट हैं इसका अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि एक्टिंग क्लास ज्वाइन करने के लिए अनुपम ने अपनी मां के मंदिर में चढ़ाए गए पैसे चुरा लिए थे।

यह बात है अनुपम खेर के कॉलेज के दिनों की, जब उनके अंदर एक्टिंग को लेकर भूत सवार हो गया। तभी न्यूज़पेपर में एक ऐड निकला 100 रुपए में एक्टिंग कोर्स की जानकारी थी। क्योंकि उन दिनों उनके घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी, इसलिए वह अपने पिता से पैसे नहीं मांग सकते थे। उन दिनों अनुपम खेर के लिए 100 रुपए बहुत बड़ी रकम थी। अनुपम खेर को यह कोर्स हर हाल में करना था इसलिए उन्होंने मंदिर से पैसे चुराने का फैसला किया।

यह भी पढ़ें...एसिड अटैक महिलाओं की अनोखी रैम्प वॉक

यह करते हुए अनुपम अंदर ही अंदर बुरा महसूस कर रहे थे, इसलिए उन्होंने खुद को ये कहकर समझाया कि जैसे भगवान कृष्ण मक्खन चुराते थे,  उसी तरह मैं अपने एक्टिंग करियर के लिए मंदिर से पैसे चुरा रहा हूं। बस यहां से शुरू हुई अनुपम के फिल्मी करियर की शुरुआत। हालांकि, इसके बाद भी अनुपम को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा, लेकिन अनुपम के इस कदम ने ही उनके फिल्मी करियर की नींव का काम किया।

यह भी पढ़ें...WOMEN S DAY: नहीं बनने दिया बालिका वधू, अकेले लड़कर रुकवाया विवाह

MP GOVT ने दिया था कालीदास सम्मान
अनुपम की प्रतिभा को देखते हुए MP GOVT ने प्रतिष्ठित ‘कालिदास सम्मान’ से विभूषित किया था। मध्यप्रदेश में पुरस्कार लेत समय उन्होंने कहा था कि 28 साल के करियर में मिलने वाले सम्मानों में यह सबसे बड़ा सम्मान है। खेर ने सम्मान में मिली दो लाख रुपए की राशि उज्जैन के स्थानीय कलाकारों को भेंट कर दी थी।

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/b-day-special-anupam-kher-theft-money-for-acting-classes-38390/

जय गंगाजल में इनका भी रोल, प्रियंका के साथ इनका किरदार



भोपाल। मैंने फिल्म जय गंगाजल में अभिनय के बारे में आज तक किसी से चर्चा नहीं की, लेकिन फिल्म रिलीज होने के बाद शुभचिंतकों ने मुझे पहचान लिया। दिनभर फोन कर मुझे बधाइयां देते रहे। मैं प्रकाश झा का शुक्रगुजार हूं, जिसके कारण मेरी पहचान बनी। यह बात भेल के अधिकारी आसिफ आजमी ने पत्रिका से चर्चा के दौरान कही।

उन्होंने बताया कि प्रकाश एक अच्छे डायरेक्टर है। वे हर छोटे- बड़े कलाकार को पूरा मान- सम्मान देते हुए योग्यतानुसार रोल देते हैं। उनके निर्देशन में बनने वाली फिल्मों में काम करने का अवसर मिलना बहुत बड़ी बात है। हालांकि फिल्म जय गंगाजल से पहले मैंने उनकी फिल्म राजनीति, चक्रव्यूह, सत्याग्रह और आरक्षण में भी अभिनय किया है, लेकिन उसमें रोल बहुत ही संक्षिप्त थे। जय गंगाजल में कपिल शर्मा का पात्र करने का अवसर मिला, जो हाउसिंग सोसाइटी का अध्यक्ष है। वह बिल्डर माफिया (विलेन) की मनमानी के खिलाफ सड़क, थाने और कोर्ट तक आवाज उठाता है। गौरतलब है कि प्रकाश झा और प्रियंका चोपड़ा समेत स्थानीय कलाकारों की अभिनीत इस फिल्म की शूटिंग भोपाल में ही हुई है।

छोटे पर्दे पर कर चुके अभिनय
आजमी रवींद्र भवन और भारत भवन से भी जुड़े है। उन्होंने बताया कि 1984 में नाटक झूठा सच से अभिनय की शुरुआत की थी। उसके बाद दूरदर्शन में प्रसारित धारावाहिक पंचतंत्र, एक कहानी, काला जल आदि में अभिनय किया। 1998 में रामगोपाल वर्मा की फिल्म शूल में मनोज वाजपेयी के साथ रोल किया। इसके बाद प्रकाश झा के साथ फिल्म राजनीति में ब्रह्मदत तिवारी राजनेता का अभिनय किया। आजमी भेल के एटीए क्लब और अंजुमन तरक्की उर्दू संस्था के महासचिव भी हैं

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/bhel-official-acted-in-the-film-jai-gangajal-38038/

सालों की दोस्ती पर उठे सवाल, रिहाई के बाद संजय से नहीं मिले सलमान



भोपाल। इंदौर में जन्में सलमान खान और संजय दत्त की दोस्ती के बारे में तो हर कोई जानता है। 25 फरवरी को संजय दत्त के जेल से रिहा होने के बाद ये चर्चा शुरू हो गई थीं कि सलमान संजय दत्त के बाहर आने की खुशी में उन्हें पार्टी देगें। इसके साथ ही ये भी खबर थी पनवेल में स्थित अपने फार्महाउस पर संजय के रिलैक्स होने के लिए खास इंतज़ाम भी करेंगे। लेकिन अगर संजय दत्त की मानें तो पार्टी देना तो दूर, सलमान ने अब तक उनसे मुलाकात तक नहीं की है।

सूत्रों के अनुसार, इस बारे में पूछे जाने पर संजय दत्त का कहना है कि वह भी सलमान की इस पार्टी के बारे में कई बार सुन चुके हैं लेकिन पार्टी तो दूर की बात है, सलमान अब तक उनसे मिलने भी नहीं आए हैं। संजय और सलमान को बहुत ही करीबी माना जाता है, इस वजह से सलमान का संजय से ना मिलना एक बहुत बड़ा सवाल खड़ा कर रहा है। इन दोनों की दोस्ती का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जेल से रिहाई के बाद प्रेस कॉनफ्रेंस अटेंड करते वक्त संजय ने कहा था कि वह चाहते हैं कि सलमान उनसे भी बड़ा स्टार बने।

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/sanjay-dutt-states-that-salman-khan-did-not-even-meet-him-38026/

मनोज कुमार की दीवानी थीं लड़कियां, देशभक्ति फिल्मों से बनाई पहचान


जबलपुर। बॉलीवुड के जाने माने अदाकार मनोज कुमार को दादा साहेब फालके अवॉर्ड से नवाज़ा जाएगा। सिनेजगत में भरत कुमार के नाम से मशहूर मनोज कुमार को साल 2015 का दादा साहब फालके अवॉर्ड दिया जाएगा। 24 जुलाई 1937 को एल्टलाबाद पाकिस्तान में जन्में मनोज कुमार अदाकार होने के साथ-साथ निमार्ता और निर्देशक भी हैं।

मनोज कुमार की स्टाइल आज भी युवा फॉलो करते हैं। उनके डायलॉग बोलने के अंदाज ने युवतियों को ही नहीं हजारों करोड़ों युवाओं को भी अपना दिवाना बना लिया था। मनोज कुमार की स्टाइल, कपड़े पहनने का तरीका, गले में डला रूमाल अब भी पसंद किया जाता है। सिनेमा के इतिहास में अपना नाम स्वर्ण अक्षरों में लिखने वाले इस अभिनेता ने ज्यादातर देशभक्ति फिल्में कीं।



1967 में बनी फिल्म उपकार से देशप्रेम पर बनी फिल्मों की सफल शुरुआत के पश्चात, उन्होंने देशभक्ति की खुशबू में डूबी पूरब और पश्चिम, गुमनाम, शोर व क्रांति जैसी कई हिट फिल्में दीं। मनोज कुमार ने अपनी फिल्मों के जरिए लोगों को देशभक्ति की भावना का गहराई से एहसास कराया, जिसने उन्हें हर दिल अजीज फिल्मकार बना दिया। इसी देशप्रेम की बदौलत उनके चाहने वाले उन्हें मिस्टर भारत या इंडस्ट्री का भरत कुमार कहकर पुकारा करते थे।


यूं तो मनोज कुमार की हर फिल्म यादगार रही परंतु उन्हें हरियाली और रास्ता, वो कौन थी?, हिमालय की गोद में, दो बदन, उपकार, पत्थर के सनम, नीलकमल, पूरब और पश्चिम, रोटी कपड़ा और मकान और क्रांति जैसी फिल्मों के लिए जाना जाता है।


दिल्ली विश्वविद्यालय के हिंदू कॉलेज से शिक्षा प्राप्त करने के बाद मनोज ने फिल्म इंडस्ट्री में प्रवेश करने का निर्णय लिया। अपनी जवानी के दिनों में वे बॉलीवुड सुपरस्टार दिलीप कुमार से इतने प्रभावित थे कि शबनम (1949) फिल्म में दिलीप कुमार के नाम मनोज कुमार को हमेशा के लिए अपना लिया। अनेक सफल अभिनेताओं की तरह मनोज कुमार ने भी अपने शुरूआती दिनों में खासा संघर्ष किया।


क्रांति, नीलकमल में सहित अनेक फिल्मों के जरिए बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा चुके इस खूबसूरत अभिनेता से उस दौर में युवतियां खासी आकर्षक थीं। बताते हैं कि मनोज कुमार का जादू उन दिनों कुछ इस कदर छाया था कि युवतियां कहीं उनसे शादी के सपने भी संजोने थी कोई मनोज कुमार की तरह ही लाइफ पार्टनर चाहती थीं। मीडिया में ये किस्से आम हो गए थे। जो सिर्फ जबलपुर ही नहीं देश के बड़े-बड़े अखबारों में प्रकाशित किए जाते थे। मनोज कुमार की स्टाइल को अब भी शाहरूख खान, शाहिद कपूर जैसे बड़े अभिनेताओं के जरिए उनकी फिल्मों के किसी ना किसी सीन में देखने मिलता है।

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/manoj-kumar-to-be-honoured-with-the-dadasaheb-phalke-award-37732/

42 साल की उर्मिला ने 9 साल छोटे मोहसिन से रचाई शादी



भोपाल। रंगीला गर्ल उर्मिला मातोंडकर ने गुरुवार को कश्मीरी बिजनेसमैन मोहसिन अख्तर के साथ शादी कर ली। उर्मिला मातोंडकर 42 साल की हो चुकी थी और उनके पति मोहसिन अख्तर उनसे 9 साल छोटे हैं।  देर से ही सही विवाह सूत्र में बंधने से  भोपाल में रहने वाले  उनके फैंस काफी खुश हैं। वहीं कुछ निराश भी हैंं। 

उर्मिला की शादी काफी गुपचुप तरीके से हुई। शादी होने के बाद उर्मिला के फ्रैंड्स के जरिए दोनों की शादी की फोटो सोशल मीडिया पर अपलोड की गई। इस शादी में सिर्फ दोनों परिवार और उनके दोस्त शामिल हुए। उर्मीला का कहना था कि परिवार चाहता था कि यह शादी लो प्रोफाइल रखी जाए जिसके कारण ज्यादा लोगों को शादी में शामिल नहीं किया गया।

आपको बता दें कि मोहसिन एक बिजनेसमैन के साथ-साथ एक मॉडल भी हैं। वह फिल्म लक बाय चांस में नज़र आ चुके हैं।

कोई खुश तो कोई निराश है फैंस
उर्मिला ने देर से ही सही लेकिन विवाह किया। यह अच्छी बात है, लेकिन अंतरजातीय विवाह से थोड़ी निराशा है।
अनुष्का त्रिवेदी, अरेरा कालोनी भोपाल

उर्मिला अच्छी एक्ट्रेस हैं। हम उम्मीद करते हैं कि वे फिल्मों में नजर आती रहेंगी।
अंकुर गुप्ता, दानिशकुंज भोपाल

ब्यूटीफुल एक्ट्रेस और टेलेंटेड है उर्मिला। इसे हम दूरदर्शन पर आने वाले बाबाजी का बायोस्कोप और मासूम फिल्म से चाइल्ड एक्ट्रेस के रूप में देखते आ रहे हैं। 
दिव्या श्रीवास्तव, साकेत नगर

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/urmila-married-kashmiri-businessman-37400/

रिलीज़ हुई जय गंगाजल , शूटिंग के दौरान हुआ था नगर पालिका से विवाद



भोपाल। प्रकाश झा की फिल्म जय गंगाजल आज रिलीज़ हो गई है। इस फिल्म की शूटिंग भोपाल में हुई है जिसके दौरान प्रियंका भोपाल आई हुई थीं। शूटिंग को लेकर एक विवाद ने काफी तूल पकड़ा था। यह विवाद था नगर पालिका और प्रकाश झा के सहयोगियों के बीच। सेठानी घाट में जब नगर पालिका के सभापति अजय रतनानी अपने अमले के साथ वहां पहुंचे तो वहां शूटिंग की तैयारियां हो रही थीं। वहां मौजूद झा के सहयोगियों से उन्होंने कहा कि झा पर सेठानी घाट की साफ-सफाई का 50 हजार रुपए बकाया हैं।

यह भी पढ़ें...ऑनर किलिंग: छह महीने बाद मां-पिता को देख क्रोध से भर गई अर्चना

इसी बात को लेकर रतनानी और वहां मौजूद झा के सहयोगियों के बीच बहस होने लगी और ये बहस इतनी बढ़ गई कि वहां चल रही शूटिंग की तैयारियों को रोकना पड़ा। मामले की जानकारी वहां के कलेक्टर को दी गई। इस मामले ने ज्यादा तूल तब पकड़ा लिया था जब यह बात सामने आई कि कलेक्टर ने शूटिंग के दौरान कोई भी चार्ज नहीं लेने की बात कही थी। रतनानी ने प्रकाश झा पर आरोप लगाया था कि वह पिछली फिल्म की शूटिंग के दौरान झा की प्रोडक्शन टीम घाट पर गंदगी छोड़ गई थी।

यह भी पढ़ें... बेटी के हाथों में साधना ने लगाई मेहंदी, आज CM करेंगे कन्यादान

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/disputes-related-to-jai-gangaajal-37359/

ऐसे बनी फिल्म, मूवी देखने से पहले यहां देखें जय गंगाजल के अनदेखे दृश्य


आभा सेन@जबलपुर। जय गंगाजल 4 मार्च शुक्रवार को सिनेमाघरों में धूम मचाने के लिए तैयार है। बॉक्स ऑफिस पर फिल्म की खासी सफलता की उम्मीदें की जा रही हैं। एक इंटरव्यू के दौरान निर्देशक प्रकाश झा ने कहा था कि इस फिल्म की स्क्रिप्ट पर उन्होंने पहले लंबे समय तक काम किया है। इसके बाद ही यह दर्शकों के बीच लाई जा रही है। जयं गंगाजल के एक सीन में एक शब्द (साला) को लेकर भी पिछले दिनों काफी ऊहापोह की स्थिति रही। बताया जा रहा है कि फिल्म के इस सीन में इस शब्द पर बीप बजेगी। फिल्म के दृश्यों को मध्यप्रदेश में फिल्माया गया है। यहां हम आपको दिखा रहे हैं फिल्म की शूटिंग के दौरान के कुछ अनदेखे दृश्य, फिल्म देखने से पहले इन्हें जरूर देखें-

ये भी पढ़ेें: जय गंगाजल: ऐसा है एसपी आभा माथुर का किरदार, झा ने भी की एक्टिंग 







Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/watch-this-seen-before-show-of-a-jai-gangajal-37047/

सलमान ने दिखाई दरियादिली, बॉडीगार्ड से पैसे लेकर की बच्चों की मदद



भोपाल। करोड़ों दिलों पर राज करने वाले इंदौर के बेटे सलमान खान ने अपने एनजीओ बीइंग ह्यूमन के मोटिव को एक बार फिर खुद ही सच कर दिखाया है। इस बार सलमान ने बीइंक ह्यूमन का उदाहरण देते हुए उन्होंने कुछ गरीब बच्चों की मदद की।

सलमान अकसर अपने परिवार और मित्रों के साथ मुंबई के ऑलिव रेस्टोरेंट जाते रहते हैं। इस बार जब सलमान इस रेस्टोरेंट में समय बिताकर बाहर निकल रहे तो उनकी नज़र कुछ गरीब बच्चों पर पड़ी। हमेशा की तरह सलमान ने उन बच्चों की मदद करने की ठानी।

यह भी पढ़ें...Horoscope: आज जन्म लेने वाले जातकों के लिए शुभ है ये दिन

सबसे अहम बात थी कि सलमान के पास उस वक्त पैसे नहीं थे क्योंकि अकसर सलमान के पास कैश नहीं होते, सिर्फ क्रैडिट कार्ड थे। लेकिन फिर भी सलमान ने अपने बॉडीगार्ड से पैसे लेके चार बच्चों को 500-500 रुपए दिए जिससे वो बच्चे काफी खुश हो गए।

यह भी पढ़ें...MANIT में क्यों फेल नहीं होते स्टूडेंट, यह है फ़ॉर्मूला

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/salman-khan-proves-being-human-37315/

जय गंगाजल: ऐसा है एसपी आभा माथुर का किरदार, झा ने भी की एक्टिंग


आभा सेन@जबलपुर। जय गंगाजल, मशहूर फिल्म निर्देशक प्रकाश झा के निर्देशन में बनी इस फिल्म को 4 मार्च को सिनेमाघरों में प्रदर्शित किया जा रहा है। साल 2003 में प्रकाश झा की अजय देवगन अभिनीत फिल्म का लुत्फ उठा चुके दर्शकों को इस फिल्म से भी काफी उम्मीदे हैं।

यह फिल्म 2003 में बनी गंगाजल फिल्म का दूसरा भाग बताई जा रही है। लेकिन इसकी कहानी पिछली फिल्म से बिल्कुल भिन्न है। इसमें मुख्य किरदार में प्रियंका चोपड़ा नजर आ रही हैं जो कि एसपी आभा माथुर के किरदार दबंग अफसर की भूमिका में हैं।


इनके साथ हैं मानव कौल, राहुल भट्ट और निनाद कामात। करीब 10 करोड़ रूपए की लागत में बनी इस फिल्म में क्राइम दिखाया गया है। राजनीति और पुलिसिया कार्रवाई के साथ ही इसमें एक उसूलवान निडर अफसर (प्रियंका चोपड़ा) भी है जो अपनी जान की परवाह किए बगैर निष्पक्ष और सदैव जनहित में ही निर्णय लेती है। यह कहानी एसपी आभा माथुर (प्रियंका चोपड़ा) पर आधारित है, जिसका स्थानांतरण बांकीपुर जिला, बिहार में हो जाता है। यहां वह उसके विधायक (मानव कौल) के विरुद्ध लड़ाई लड़ती है।



यहां आपके लिए ज्यादा रोचक और जानने वाले तथ्य ये है कि निर्देशक प्रकाश झा ने खुद इस फिल्म पुलिस अफसर की भूमिका निभाई है जो एक सीन में विलन की सुताई करते हुए भी दिख रहे हैं।



बताया जा रहा है कि फिल्म के लिए प्रियंका चोपड़ा ने खासी मेहनत की है। इसकी शूटिंग की लोकेशन तलाशने के लिए प्रकाश झा जबलपुर भी पहुंचे थे। बाद में इन दृश्यों को होशंगाबाद में फिल्माया गया। प्रियंका चोपड़ा ने इस फिल्म में मध्यप्रदेश की एक अफसर की कुछ स्टाइल को अपनाया है।

यहां देखें ऑफिशियल ट्रेलर-


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/jai-gangajal-release-on-march-4-2016-37037/

B DAY SPECIAL: जब पाकिस्तानियों ने पहना दी थी लेगिंग



भोपाल। आशिकी-2 गर्ल श्रद्धा कपूर आज से 27 साल की हो गई हैं। श्रद्धा अपनी फिल्म ABCD-2 के प्रमोशन के लिए भोपाल आ चुकी हैं। यहां अपने फिल्म के प्रमोशन के दौरान उन्होंने भोपालवासियों के साथ काफी मस्ती की थी। जहां एक तरफ श्रद्धा ने अपने कैरियर की शुरुआत में ही सफलता की ऊंचाइयों को छूना शुरू कर दिया था वहीं दूसरी तरफ विवादों से भी उनका रिश्ता जुड़ना शुरू हो गया था। कैरियर की शुरुआत से ही श्रद्धा को काफी विवादों का सामना करना पड़ा। आइए हम बताते हैं आपको श्रद्धा से जुड़े कुछ ऐसे विवाद जिसे काफी मशहूर हुए...

सबसे बड़ा विवाद था पूरी मीडिया द्वारा श्रद्धा का बहिष्कार। यह विवाद खड़ा हुआ एक इवेंट में जहां मौजूद मीडिया श्रद्धा का इंतज़ार कर रही थी। लेकिन श्रद्धा ने तैयार होने में इतना ज्यादा वक्त लगाया कि मीडिया श्रद्धा से नाराज़ हो गई और वहां मौजूद पूरी मीडिया ने मिलकर ये फैसला लिया कि जब तक श्रद्धा इवेंट से चली नहीं जाती तब तक उस इवेंट की तस्वीरें नहीं ली जाएंगी।

यह भी पढ़ें...केन्द्रीय मंत्री का आया फोन, आवारा कुत्ता बना सरकारी गेस्ट

सिर्फ मीडिया नहीं बल्कि श्रद्धा के पिता के बयान पर भी विवाद खड़ा हो चुका है। शक्ति कपूर ने एक बार कहा था कि श्रद्धा काफी मूडी हैं और श्रद्धा के नखरे उठाना आसान नहीं है। इस बयान को सुनकर श्रद्धा को इतना गुस्सा आया कि उन्होंने इस पर बवाल मचा दिया था।

यह भी पढ़ें...RAILWAY: अब हाफ टिकट पर नहीं मिलेगी फुल बर्थ

shraddha kapoor

श्रद्धा कपूर को लेकर सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पाकिस्तान में भी विवाद खड़ा हो चुका है। वहां आयोजित एक समारोह में श्रद्धा शामिल होने गई थीं। इस समारोह में उन्होंने जरूरत से ज्यादा छोटे कपड़े पहन लिए थे। क्योंकि पाकिस्तान में ऐसे कपड़े पहनने की इजाज़त नहीं हैं इसलिए इसे आपत्तिजनक माना गया और उन कपड़ों में खीची गई श्रद्धा की तस्वीर को फोटोशॉप करके उनके शॉर्टस के नीचे काली रंग की लेगिंग लगा दी गई थी।

Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/b-day-special-shraddha-has-always-been-surrounded-by-the-disputes-37003/

PROMO RELEASE- पुरानी टीम के साथ नए अंदाज़ में दिखे कपिल शर्मा



भोपाल। जहां एक तरफ कॉमेडी नाइट्स विद कपिल शो के बंद होने से लोगों में एक मायूसी देखी जा रही थी, वहीं दूसरी तरफ कपिल शर्मा के नए शो द कपिल शर्मा शो के प्रोमो के रिलीज़ के साथ ही वो मायूसी एक बार फिर खुशी में बदल गई है। इस शो को लेकर प्रदेश में काफी उत्साह देखा जा रहा है। द कपिल शर्मा शो के 45 सेकेंड के इस प्रोमो में कॉमेडी नाइट्स विद कपिल की लगभग पूरी स्टार कास्ट नज़र आई जिसमें कपिल शर्मा के साथ-साथ सुमोना चक्रवर्ती, कीकू शारदा, सुनील ग्रोवर, चंदन प्रभाकर, अली असगर मौजूद थे।

यह भी पढ़ें...ASTRO: इन उपायों से नहीं आएंगे SUICIDE के विचार

स्टार कास्ट के साथ-साथ, शो के गेस्ट नवजोत सिंह सिद्धू भी इस प्रोमो में मैं समझ में भी आता हूं और दिल में भी आता हूं। तुम लोग रिक्शा से निकलो भाई, मैं हेलिकॉप्टर से आता हूं। कहते नज़र आए। प्रदेश में जब इस नए शो के बारे में बात की गई तो यहां के लोगों का कहना था कि वे कपिल और उनके पूरे परिवार का बेसर्बी से इंतज़ार कर रहे हैं। भोपाल की रहने वाली आंचल ने बताया कि वह इस शो को लेकर बहुत उत्सुक हैं, सबसे ज्यादा वह गुत्थी को मिस कर रही हैं और इस नए शो में उनकी एक और दमदार अदाकारी का इंतज़ार कर रही हैं। वहीं दूसरी तरफ इंदौर के रहने वाले समर का कहना है कि वह कपिल के सेंस ऑफ ह्यूमर के फैन हैं और इस शो में कपिल से और भी ज्यादा एक्स्पेक्ट कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें...EXAM प्रेशर से बच्चे को बचाएं, कुछ ऐसे रखें उनके दिल का ख्याल

आपको बता दें कि कपिल शर्मा का यह नया शो द कपिल शर्मा शो 23 अप्रैल को लॉन्च किया जाएगा। यह शो सोनी टीवी पर हर शनिवार और रविवार रात 9 बजे टेलिकास्ट होगा। कहा जा सकता है कि कपिल शर्मा अब कृष्णा अभिषेक के दो शो कॉमेडी नाइट्स बचाओ और कॉमेडी नाइट्स लाइव को टक्कर देने की तैयारी में है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mp-entertainment-news/the-kapil-sharma-show-promo-has-been-released-36679/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Assam Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Study Material
Bihar
State Government Schemes
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Business
Astrology
Syllabus
Festival
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com