Patrika : Leading Hindi News Portal - Mutual Funds #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Mutual Funds

http://api.patrika.com/rss/mutual-funds-news 👁 304

पर्सनल लोन लेने से पहले इन सात बातों का रखें ध्यान


नई दिल्ली। क्या आपको अर्जंट फंड की आवश्यकता है? क्या आपके परिवार में कोई एमरजेंसी है जिसके लिए आपको जल्द से जल्द पैसा चाहिए? क्या अपने बच्चे को एक अच्छे कॉलेज में पढ़ाने के लिए आपके पास पैसे कम पड़ गए हैं। या फिर आपको व्यक्तिगत जरूरत के लिए जल्द से जल्द पैसे की जरूरत है। ऐसी स्तिथि में अपने बैंक जाए और पर्सनल लोन के लिए आवेदन करें क्योंकि ये आपको जल्द ही मिल जाएगा और ये एमरजेंसी में फण्ड जुटाने का सबसे आसान तरीका है।


सबसे मशहूर फाइनेंसियल प्रोडक्ट में से एक है पर्सनल लोन

पर्सनल लोन सबसे मशहूर फाइनेंसियल प्रोडक्ट में से एक है और पैसों की कमी के समय जरुरतों को पूरा करने के लिए ये सबसे बहतर विकल्प है। किसी एमरजेंसी स्थिति से उभरने के लिए जब फण्ड की जरूरत होती है तब ये बहुत लाभदायक साबित होता है। साथ ही किसी कर्ज का एक ही बार में भुगतान करने के लिए पर्सनल लोन लाभदायक होता है। इसके मशहूर होने का सबसे बड़ा कारण ये है कि इसके उपयोग करने पर किसी प्रकार की सीमा नहीं है और ये एक असुरक्षित लोन है। आपको घर मरम्मत, उच्च शिक्षा, शादी और किसी एमरजेंसी के लिए आसानी से पर्सनल लोन मिल जाता है। इनमें से किसी भी उद्देश्य के लिए आपको बिना कुछ गिरवी रखे पर्सनल लोन मिल जाएगा। लेकिन आपको पर्सनल लोन ध्यान से लेना चाहिए क्योंकि लेंडर जोखिम के कारण ज्यादा ब्याज दर पर लोन देते हैं। यहां हम आपको बताएंगें कि पर्सनल लोन लेने से पहले किन बातों पर ध्यान देना चाहिए।


पर्सनल लोन क्या है?

पर्सनल लोन एक असुरक्षित लोन है जिसके लिए बैंक या फाइनेंसियल संस्थान कुछ गिरवी रखने की मांग नहीं करते हैं। होम लोन और कार लोन के विपरीत पर्सनल लोन के उपयोग पर किसी तरह की सीमा नहीं है क्योंकि इसका उद्देश्य ही आपको अलग-अलग तरह की फाइनेंसियल एमरजेंसी में फण्ड मुहैया कराना है। पर्सनल लोन मिलने की प्रकिर्या छोटी होती है और मंजूरी के बाद अमाउंट आपके बैंक अकाउंट में आ जाता है। असुरक्षित लोन होने के कारण पर्सनल लोन को ज्यादा जोखिम वाला लोन माना जाता है क्योंकि इसे लेने के लिए कुछ गिरवी नहीं रखना होता है। इसलिए इस लोन की ब्याज दर उन सभी लोन के मुकाबले ज्यादा होती है जिनके लिए आपको कुछ गिरवी रखना पड़ता है। पर्सनल लोन आवेदन से पहले आपको इन 7 चीजों के बारे में विचार करना होगा-


सबसे बहतर विकल्प को चुनें

लगभग सभी बैंक और फाइनेंशियल संस्थान पर्सनल लोन देते हैं लेकिन ब्याज दर और अन्य शुल्क सभी बैंकों के अलग-अलग होते हैं। अगर आप एक निश्चित अमाउंट का पर्सनल लोन लेना चाहते हैं तो भी उसकी ब्याज दर और अन्य शुल्क सभी बैंकों में अलग-अलग होंगें। इसलिए ये सलाह दी जाती है कि पहले ऑफर जांचें, तुलना करें और फिर अपने लिए सबसे बहतर ऑफर चुनें। इस से आपके हजारों लाखों रुपए बच सकते हैं जिसे आप ज्यादा ब्याज दर वाले लोन पर खर्च करते।


आय और खर्चों के मुताबिक ईएमआई

पर्सनल लोन की ब्याज दर अन्य लोन के मुकाबले ज्यादा होती है। लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि आप ऐसी ईएमआई चुनें जिसे देने में आपको समस्या हो और आपके मासिक बजट पर उसका प्रभाव पड़े। ऐसी स्थिति में हो सकता है आप ज्यादातर महीनों में ईएमआई को चुका दें लेकिन अगर किसी एक महीने आपको कोई और फाइनेंशियल एमरजेंसी आ गई तो आप ईएमआई नहीं दे पाएंगे। इसलिए हमेशा ये सलाह दी जाती है कि ईएमआई इस हिसाब से रखें कि आप किसी भी स्थिति में उसे चुका पाएं। आपको ईएमआई अपनी मासिक आय की 20 फीसदी से 30 फीसदी तक ही रखनी चाहिए।


लोन अवधि को छोटा रखें

आमतौर पर लोग लोन भुगतान अवधि को लम्बा रखते हैं क्योंकि इस से लोन ईएमआई कम रहती है और टैक्स लाभ भी मिलता है। लेकिन आपको ये पता होना चाहिए कि लम्बी लोन अवधि में आपको सब मिलाकर ज्यादा रकम चुकानी पड़ती है। इसलिए ये सलह दी जाती है कि लोन भुगतान अवधि छोटी रखें लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि ऐसी ईएमआई चुन लें जिसे आप चुका ही ना पाएं। पर्सनल लोन आवेदन से पहले ये दोनों बातें ही दिमाग में रखें। लोन अमाउंट, लोन भुगतान अवधि और ईएमआई के बीच एक संतुलन होना चाहिए।


ईएमआई कैलकुलेटर

ईएमआई कैलकुलेटर एक ऑनलाइन टूल है जिसकी मदद से आप लोन लेने से पहले उसकी ईएमआई पता कर सकते हैं। आपको वो ईएमआई पता चल जाएगी जिसका भुगतान लोन लेने के बाद आपको हर महीने करना होगा। आपको ईएमआई कैलकुलेट करने के लिए लोन अमाउंट, उसकी ब्याज़ दर, और भुगतान अवधि बतानी होगी। आपको ये पता चल जाता है कि लोन लेने के बाद आपके मासिक बजट पर कितना प्रभाव पड़ने वाला है।


उतना ही लें जितनी जरूरत है

लोन अमाउंट आसानी से मिल जाते हैं और मंजूरी के एक-दो दिन बाद ही आपके बैंक अकाउंट में पैसे आ जाते हैं। इसलिए हो सकता है कि आप जितनी आवश्यकता है उस से ज्यादा लोन लेने लगें। पर्सनल लोन की ब्याज दर अन्य सभी लोन से ज्यादा होती है इसलिए उतना ही लें जितनी जरूरत है।


सबसे कम ब्याज दर चुनें

बैंक लोन देने के लिए हमेशा प्रतिस्पर्धा करते हैं। इसलिए बैंक या फाइनेंसियल संस्थान से सबसे बहतर ब्याज दर के लिए बातचीत करें। थोड़ी भी ब्याज़ दर कम होने से आपको लोन भुगतान करने में आसानी होगी।


लोन एग्रीमेंट को ध्यान से पड़ें

सभी तरह के शुल्क और भुगतान में देरी या भुगतान ना करने पर जुर्माने के बारे में जानने के लिए आपको लोन एग्रीमेंट को हमेशा ध्यान से पड़ता चाहिए। इस से आपको ये पता रहेगा कि भुगतान ना करने पर आपको किस तरह की स्थिति का सामना करना पड़ सकता है। अपने बैंक और फाइनेंशियल संस्थान पर आख मूंद कर भरोसा ना करें क्योंकि हो सकता हैं वो आपको लोन से सम्बंधित सभी तरह की जानकारी ना दें।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/be-cautious-of-these-seven-things-before-taking-personal-loan-3996384/

इस काम को शुरू करने पर सरकार आपको देगी 2.5 लाख रुपए, हर माह होगी मोटी कमार्इ


नर्इ दिल्ली। केंद्र सरकार लगातार देश में व्यापार वर्ग को बढ़ावा देने के लिए कर्इ तरह की योजनाएं लाती रहती है। इन योजनाआें में से प्रधानमंत्री भारतीय जनआैषधि परियोजना (PMBJP) भी एक है। सरकारी अांकड़ों के मुताबिक इस योजना के तहत अब तक कुल 3600 जनआैषधि स्टोर खाेले जा चुके हैं। इन स्टोर्स पर 700 जेनेरिक दावाआें के साथ-साथ 154 छोटे-बड़े मेडिकल उपरकरण अासानी से उपलब्ध होते हैं। दरअसल, इस परियोजना के तहत सरकार जेनेरिक दवाआें को बेहद ही कम कीमत में आसानी से उपलब्ध कराना चाहती है। इन स्टोर्स पर बाजार की तुलना में 80-85 फीसदी तक सस्ती दवाएं उपलब्ध होती हैं। सरकार ने इस साल देशभर में जनआैषधिक केंद्र की संख्या बढ़ाकर 5,000 करने का लक्ष्य रखा है।


सरकार देगी 2.5 लाख रुपए

अगर आप भी इस योजना के तहत सरकार की मदद से स्टोर खोलते हैं तो आपको दवाआें पर 20 मार्जिन के अतिरिक्त 15 फीसदी इंसेटिव भी मिलेगा। आपको अधिकतम 10,000 रुपए का इंसेटिव दिया जाएगा। साथ ही, सरकार आपको इस योजना के तहत तब तक इंसेटिव देती रहेगी जब तक की यह रकम 2.50 लाख रुपए न हो जाए। इस योजना के तहत स्टोर खोलने पर भी आपको करीब 2.5 लाख रुपए खर्च करना हाेगा। यदि आप उत्तरी-पूर्व भारत में या नक्सल प्रभावित इलाकों में रहते हैं तो सरकार इंसेटिव की अधिकतम सीमा को बढ़ाकर 15 हजार रुपए कर देगी। साथ ही, कमजोर तबके के लेागों के लिए सरकार ने 50,000 रुपए एडवांस के रूप में देने का प्रावधान रखा है।


क्या होगी योग्यता

इसके लिए सरकार तीन तरह की कैटेगरी बनार्इ है। पहले कैटेगरी में बेरोजगार फार्मासिस्ट, डाॅक्टर, रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर जैसे लोगों के लिए है। दूसरी कैटेगरी में ट्रस्ट, गैर-सरकारी संस्था, नीजि अस्पताल, सेल्फ हेल्प ग्रुप इस योजना के तहत जनआैषधिक खोल सकते हैं। तीसरे कैटेगरी में वो एजेंसियां होंगी जो राज्य सरकारों की तरफ से नाॅमिनेट की गर्इ हैं। इस योजना के तहत खुद का स्टोर खोलने के लिए आपको 120 वर्गफुट की जमीन होनी चाहिए जहां अाप अपनी दुकान खोल सकें। सरकार आपको 700 दवाएं उपलब्ध कराएगी।


किन कागजातों की होगी हो जरूरत आैर कैसे करें अप्लार्इ

इसके लिए आपके पास रिटेल ड्रग सेल्स का लाइसेंस होने अनिवार्य है। आवेदन के लिए आधार कार्ड आैर पैन कार्ड की भी जरूरत होगी। यदि आप अपने संस्था, एनजीआे, हाॅस्पिटल या चैरिटेबल ट्रस्ट के लिए आवेदन कर रहे हैं तो इसके लिए भी अापके पास आधार कार्ड, पैन कार्ड आैर पंजीयन प्रामण पत्र देना अनवार्य होगा। आवेदन के लिए आप जनआैषिधि की अाधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं। आप अपना आवेदन ब्यूरो आॅफ फाॅर्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग आॅफ इंडिया के जनरल मैनेजर के नाम पर भेज सकते हैं। इस वेबसाइट पर आपको कर्इ जरूरी जानकारियां आसानी से उपलब्ध हो जाएंगी। आप आॅनलाइन माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/start-your-own-janaushadhi-kendra-and-earn-per-month-3995381/

McDonald's के साथ मिलकर ऐसे शुरू करें खुद का बिजनेस, होगी करोड़ों की कमाई


नई दिल्ली। अगर आप बहुत समय से अपने सपनों का रेस्टोरेंट खोलने और अपना खुद का बिजनेस शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं, तो मैक्डोनल्ड्स आपके लिए एक अच्छा मौका लेकर आया है। दरअसल दुनिया की सबसे बड़ी फास्ट फूड रेस्टोरेंट खोलने के लिए फ्रेंचाइजी दे रहा है। मैक्डोनल्ड्स का नाम और कारोबार इतना बड़ा है कि इसके साथ बिजनेस कर के आप करोड़ों कमा सकते हैं। आईए आपको बताते हैं कि आप कैसे मैक्डोनल्ड्स के साथ मिलकर बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

McDonald के साथ करें करोड़ों की कमाई

आपको बता दें कि 118 से ज्‍यादा देशों में मैक्डोनल्ड्स के 36 हजार से ज्यादा रेस्टोरेंट हैं। मैक्डोनल्ड्स का बिजनेस इतना बड़ा है कि इससे करीब 7 करोड़ से ज्यादा ग्राहक जुड़े हुए हैं। इतना ही नहीं मैक्डोनल्ड्स ब्रिटेन में प्रति वर्ष करीब 30 लाख ग्राहकों से डील करता है। ऐसे में अगर आप McDonald's की फ्रेंचाइजी लेते हैं तो आप भी इसके साथ जुड़कर करोड़ों की कमाई कर सकते हैं। हालांकि, इसका इन्वेस्टमेंट काफी बड़ा है।

ऐसे मिलती है McDonald की फ्रेंचाइजी

McDonald's भारत में डायरेक्ट फ्रेंचाइजी नहीं देती हैं। भारत में फ्रेंचाइजी देने के लिए कंपनी ने दो कंपनियों को नियुक्त कर रखा है। इन कंपनियों के जरिए ही आप भी McDonald's की फ्रेंचाइजी ले सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपके पास डेवलपमेंट लाइसेंस होना जरूरी है। अगर आप पश्चिमी भारत और साउथ इंडिया में रेस्टोरेंट खोलना चाहते है तो इसके लिए आपको हार्डकैस्टल रेस्टोरेंट प्राइवेट लिमिटेड से संपर्क करना होगा। वहीं दूसरी तरफ अगर आपको उत्तर या पूर्वी भारत में McDonald's का रेस्टोरेंट खोलना है तो इसके लिए आपको कनॉट प्लाजा रेस्टोरेंट प्राइवेट लिमिटेड से संपर्क करना होगा।

McDonald देगा 20 साल तक की फ्रेंचाइजी

McDonald's रेस्टोरेंट खोलने के लिए 20 साल तक की फ्रेंचाइजी देता है। अगर आप मैक्डोनल्ड्स की फ्रेंचाइजी लेकर खुद रेस्टोरेंट खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 6 से 14 करोड़ का भारी-भरकम इन्वेस्टमेंट करना पड़ेगा। साथ ही आपके पास 5 करोड़ की लिक्विड कैपिटल भी होना चाहिए। इसके अलावा आपको 30 लाख की फ्रेंचाइजी फीस भी देनी होगी। इतना ही नहीं आपको रेस्टोरेंट की कुल बिक्री का 4 फीसदी सर्विस फीस के रूप में देना होगा। अगर आप अपने रेस्टोरेंट को McDonald में कनंपर्ट करना चाहते हैं तो McDonald आपको इसका भी विक्लप देता है। बता दें कि फ्रेंचाइजी लेने के लिए आपके पास जमीन होना बेहद ही जरूरी है। अगर आपके पास जमीन नहीं है तो ऑपरेटर लीज के तहत McDonald's 11 महीने की लीज पर जगह मुहैया कराती है। McDonald's की फ्रेंचाइजी लेने से पहले आप फ्रेंचाइजी डिस्क्लोजर डॉक्युमेंट यानी FDD को अच्छे से पढ़ें।इसमें फ्रेंचाइजी लेने के नियमों को अच्छे से समझया गया है। आप FDD को गूगल से भी डाउनलोड कर सकते हैं।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/opportunity-to-start-business-with-mcdonald-s-3994892/

सिर्फ एक दिन में मिल जाएगा IT रिफंड का पैसा, 4241 करोड़ रुपए से बनाया जा रहा है ये खास पोर्टल


नई दिल्ली। बुधवार को कैबिनेट की मीटिंग में इनकम टैक्सपेयर्स के लिए बड़ा फैसला लिया गया। कैबिनेट ने एक ऐसा पोर्टल बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है जिससे इनकम टैक्सपेयर्स को मात्र एक या दो दिन में रिफंड मिल जाएगा। इस पोर्टल पर करीब 4241 करोड़ रुपए का खर्च होगा, जिसे सरकार की मंजूरी मिल गई है।


पोर्टल से आपको मिलेंगी ये सुविधाएं

इससे पहले इनकम टैक्सपेयर्स को रिफंड के लिए 63 दिनों तक का इंतजार करना पड़ता था। ये निश्चित रूप से इनकम टैक्सपेयर्स के लिए बड़ी खबर है क्योंकि अब उन्हें एक या दो दिन के भीतर ही रिफंड मिल जाएगा। इतना ही नहीं, इनकम टैक्स का जो खास पोर्टल बनाया जा रहा है, उसी पोर्टल के जरिए इनकम टैक्स विभाग तमाम जानकारी देंगे। उसको सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट के जरिए तुरंत प्रोसेस कर दिया जाएगा। इसके साथ ही इनकम टैक्स रिटर्न में अगर कोई गलत जानकारी डालते हैं, तो उस भूल को आप तुरंत सुधार सकेंगे। लेकिन इनकम टैक्स रिटर्न में अगर आपने जानबूझकर कोई गलत जानकारी दी है तो उसे इनकम टैक्स विभाग के अधिकारी तुरंत पकड़ लेंगे।


इंफोसिस बनाएगा ये खास पोर्टल

इस पोर्टल के जरिए सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट और इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ऑनलाइन फाइलिंग व्यवस्था को इंटीग्रेट कर दिया जाएगा। 4241 करोड़ रुपए की लागत से जो खास पोर्टल बनाया जा रहा है, उसकी जिम्मेदारी इंफोसिस (Infosys) को दी गई है। सरकार का दावा है कि इंफोसिस द्वारा तैयार किया जा रहा ये पोर्टल 21 महीने के भीतर ही काम करना शुरू कर देगा।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/you-will-get-it-refund-money-in-one-day-new-portal-being-made-3994612/

खतरे में है आपका पेंशन आैर प्रोविडेंट, ILFS संकट बनी सबसे बड़ी वजह


नर्इ दिल्ली। हजाराें वेतनभोगियों के प्रोविडेंट फंड आैर पेंशन फंड पर खतरे का साया मंडरा रहा है। दरअसल, इन फंड्स ने इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज में निवेश किया था। इकोनाॅमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इन फंड्स ने 15,000-20,000 रुपए का निवेश किया था। इनमें से रिटायरमेंट फंड हैंडल करने वाले कर्इ फर्म्स ने बाॅन्ड या पूंजी के रूप में IL&FS में निवेश किया था। इन फंड्स को उम्मीद थी कि IL&FS का रेटिंग एजेंसियो ने AAA रेटिंग दिया है, एेसे में इनसे उन्हें बेहतर रिटर्न मिलेगा।


इन जगहों से IL&FS को मिला था निवेश

चूंकि, इन फंड्स में कुछ खास पारदर्शिता नहीं जिसकी वजह से निवेश की पूरी रकम के बारे में नहीं पता चल सका है। विश्लेषकों का अनुमान है कि पूरी रकम 20,000 करोड़ रुपए से भी अधिक हो सकती है। गौरतलब है कि IL&FS संकट में करीब 91,000 रुपए की पूंजी फंसी जिसका 61 फीसदी हिस्सा बैंक लोन आैर 33 फीसदी हिस्सा डिबेंचर्स, काॅमर्शियल पेपर्स, नियामकीय फाइलिंग आदि रूप में है। लोन देने वाले बेैंकाें में यस बैंक , पंजाब नेशनल बैंक, इंडसइंड बैंक आैर बैंक आॅफ बड़ौदा का सबसे अधिक हिस्सा है। लेकिन प्रोविडेंट फंड्स आैर पेंशन संबंधि आंकड़ों काे लेकर पूरा डेटा अभी तक उपलब्ध नहीं है।


कैसे होगी नुकसान की भरपार्इ

इस मामले से जुड़े एक जानकार का कहना है, "IL&FS समूह प्रोविडेंट का अनुमानित 40 फीसदी हिस्सा है।" इस संकट के बाद नेशनल कंपनी लाॅ ट्रिब्युनल (एनसीएलटी) द्वारा IL&FS को क्रेडिटर्स द्वारा पूंजी दिए जाने पर रोक लगने के बाद बाजार को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। एेसे में अभी तक यह बात साफ नहीं हो पार्इ है कि ये प्रोविडेंट फंड आैर पेंशन फंड अपने नुकसान की भरपार्इ करेंगे। इसका सबसे बड़ा असर पेंशनभाेगियों पर पड़ सकता है।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/ilfs-crisis-may-stop-your-pf-and-pension-funds-here-is-why-3989243/

अब भूल जाइए ईएमआई की टेंशन लेना, इस तरह करेंगे लोन का भुगतान तो नहीं होंगे परेशान


नई दिल्ली। अब से आपको कभी भी ईएमआई का भुगतान नहीं करना होगा। ये सुनने में कितना अच्छा लगता है, लेकिन क्या ऐसा हो सकता है कि आपको किसी भी कर्ज का भुगतान ही न करना हो। आज के समय में हम सभी के पास कार लोन, एजुकेशन लोन और पर्सनल लोन होता ही है। इसके अलावा क्रेडिट कार्ड का भुगतान भी करना होता है। तो ऐसे में हम कैसे बिना अपने ईएमआई के भुगतान को कम कर सकते हैं। इसके बारे में आज हम आपको बताते हैं।


अब भूल जाइए ईएमआई की टेंशन

आज हम आपके एक ऐसी पद्धति के बारे में बताते हैं, जिससे आप अपनी ईएमआई को भूलकर आसानी से अपना जीवन जी सकते हैं। इस तकनीकी का नाम ऋण स्नोबॉल पद्धति है। ये बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय मॉडल है। आइए हम इसके बारे में आपको विस्तार से बताते हैं।


ऋण स्नोबॉल क्या है और यह कैसे काम करता है-

अगर आप भी अपने लोन से बाहर आना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपने छोटे ऋण का भुगतान करना शुरू करना चाहिए। उसके बाद ही आपको बड़े लोन के बारे में सोचना चाहिए। ये लोन की प्रक्रिया उन लोगों के विपरीत है जो सोचते हैं कि ऊंची ब्याज दर पर हमें अपने कर्ज का भुगतान कर देना चाहिए और उससे बाहर निकल जाना चाहिए। जबकि ये बिल्कुल गलत सोच है। ऐसा करने से हमें अपने कर्ज के बदले में ज्यादा पैसे चुकाने होते हैं।


आइए हम आपको बतातें हैं कि आप कैसे अपने लोन का भुगतान कम कर सकते हैं-

1.सबसे पहले आप अपने ऋण को सबसे छोटे से लेकर सबसे बड़े के क्रम में लगाए।

2.इसके बाद आप अपने छोटे लोन को छोड़कर जितने भी बड़े लोन है उनका न्यूनतम भुगतान कर दें।

3.इसके बाद अपने सबसे छोटे कर्ज पर जितना हो सके उतना भुगतान करें।

4.इस प्रक्रिया को आप तब तक दोहराएं जब तक सारे लोन का पूरा भुगतान न हो जाए।

5.इसके अलावा अगर आपके पास कोई अतिरिक्त नकदी प्रवाह है तो आप उसका प्रयोग सबसे छोटे ऋण का भुगतान करने के कर सकते हैं।


वहीं, अगर आप सबसे बड़े लोन से शुरूआत करेंगे तो आप इतनी जल्दी अपने लोन से छुटकारा नहीं पा सकते हैं। इसलिए आपको हमेशा ही छोटे से बड़े क्रम में लोन का भुगतान करना चाहिए।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/use-snowball-method-for-paid-the-loan-and-emi-3983955/

इस लड़के ने कर दी करोड़ों रुपए के नोटों की बारिश, इसके बाद जो हुअा वो सपने में भी नहीं सोच सकते आप


नर्इ दिल्ली। आपने अक्सर सोचा होगा कि काश कभी पैसों की बारिश होती। आपको जानकर हैरानी होगी की दक्षिणी चीन में एक शख्स के पास इतना अधिक पैसा हो गया कि उसने अपने यहां गरीबों की बस्ती में पैसों की बारिश कर दी। यह मामला पिछले माह का ही है। इस शख्स इतना पैसा क्रिप्टोकरंसी में निवेश कर कमाया था। इस व्यक्ति का नाम वोंग चिंग-किट है। वोंग अपने इलाके के उंची इमारत से जाकर पास की गरीब बस्ती में चीनी मुद्रा में इन पैसों की बारिश की थी। अपनी कमार्इ से हजारों लोगों की भलार्इ करने वाले वोंग अब फंसते हुए नजर आ रहा है।


चार लोगों ने लगाया आरोप

दरअसल, बिटकाॅइन से मोटी कमार्इ करने वाले वोंग पर चार ब्लाॅकचेन मैनेज करने वाले लोगों ने फ्राॅड का आरोप लगा दिया है। इन चार लोगों ने कुल 380 हजार डाॅलर (करीब 2 करोड़ 60 लाख) के फ्राॅड का आरोप लगाया है। चीन की एक वेबसाइट के मुताबिक, इस शख्स ने अपनी क्रिप्टोकरंसी मैनेज करने के लिए माइनिंग मशीन खरीदा था। वोंग पर आरोप लगाने वाले लोगों का कहना है कि ये मशीने इस शर्त पर बेची गर्इं थी कि इनसे होने वाली कमार्इ का कुछ हिस्सा उन्हें भी दिया जाएगा।


वोंग के खिलाफ दर्ज हुए 20 केस

अब इसी बात को लेकर उन्होंने वोंग पर आरोप लगाया है कि उन्होंने रिटर्न मार्जिन नहीं दिया है। वोंग का कहना है कि जब तक उनका क्रिप्टोकरंसी प्रोजेक्ट पूरा नहीं हो जाता, तब तक उनके साथ रिटर्न मार्जिन देने का कोर्इ करार ही नहीं है। गत अक्टूबर माह के बाद से अब तक उनके वोंग के खिलाफ करीब 20 केस दर्ज किया जा चुका है।


पुलिस ने हिरासत में लिया

पुलिस ने अपने जांच में पाया है कि इसमें कुल 9 पुरुष आैर 1 महिला ने 120 हजार डाॅलर (करीब 85 हजार) के हेरफेर का मामला दर्ज कराया है। उनका कहना है कि इन पैसों का हेरफेर वोंग के बिजनेस की वजह से हुआ है। पिछले महीने ही पुलिस ने इस बाबत वोंग को हिरासत में लिया था। लोकल मीडिया के मुताबिक, वोंग पर पुलिस ने अभी तक कोर्इ चार्ज नहीं लगाया है।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/man-rained-local-currency-later-faced-legal-battle-3977540/

आपके बच्चों को मिलेगा सुनहरा भविष्य, केवल 7 साल में ऐसे बना सकते हैं 20 लाख रुपए


नई दिल्ली। आज के समय में हर मां-बाप अपने बच्चों को अच्छे स्कूल में पढ़ाना चाहता है, लेकिन महंगी शिक्षा व्यवस्था के कारण मध्यम वर्गीय लोगों के लिए ऐसा कर पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। कई बार पैसों की कमी के कारण मां-बाप अपने बच्चों को मनचाहे स्कूल में नहीं पढ़ा पाते हैं और कई लोग एजुकेशन लोन या पर्सनल लोन जैसा महंगा लोन लेकर पढ़ा भी लेते हैं तो उसकी किस्त में उनको जरूरत से ज्यादा रुपए देने पढ़ते हैं। इसलिए आज हम आपको एक ऐसा तरीका बताते हैं, जिससे आप अपने बच्‍चे के लिए 7 साल में 20 लाख का फंड बना सकते हैं।


एसआईपी में करें निवेश

अब आप अपने बच्चे के लिए 7 साल में 20 लाख का फंड आसानी से बना सकते है और 20 लाख रुपए में आप अपने बच्चे को अच्छे स्कूल में पढ़ा सकते हैं। अगर आप सात साल में बीस लाख रूपए का फंड बनना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान यानी एसआईपी लेनी होगी और इस प्लान में आपको हर नहीने 15000 रुपए निवेश करने होंगे।


सात साल में मिलेगा 15 फीसदी तक रिटर्न

इस निवेश के बाद अगर आपको सात सालों में 13 फीसदी रिटर्न मिलता है तो 7 साल के बाद आपका कुल फंड 20 लाख रुपए हो जाएगा। इसके साथ ही आपको बता दें कि अगर आप लंबी अवधि के लिए निवेश करते हैं तो आपको एसआईपी म्‍यूचुअल फंड स्‍क्‍ीमों में 15 फीसदी तक रिटर्न आसाने से मिल जाता है।


बढ़ा सकते हैं मंथली एसआईपी

आपको बता दें कि अगर आपको बीस लाख रुपए अपने बच्चे की पढ़ाई के लिए कम लगते हैं तो आप अपनी मंथली एसआईपी को बढ़ा सकते हैं। इसके साथ ही अगर आप बचपन से ही अपने बच्चे के लिए ये फंड बना देते हैं तो आपको बिल्कुल भी परेशान नहीं होना पड़ेगा और आप कम निवेश में ज्यादा बड़ा फंड बना पाएंगे।


समय रहते ले स्कीम

अगर आपने बचपन में इस स्कीम को नहीं लिया तो आपको अपने बच्चे की पढ़ाई के टाइम पर पर्सनल लोन लेना होगा जो कि आपको बहुत ज्यादा ही महंगा पड़ेगा। इसलिए अब आप समय रहते प्लानिंग कर लेते हैं तो आपको किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होगी।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/you-can-take-education-fund-for-your-child-in-sip-plan-3957063/

ऐसा करने पर आपको मुफ्त में मिलेगा 50 लाख रुपए का इंश्योरेंस कवर, होटल बुकिंग भी होगी फ्री


नई दिल्ली। भारतीय रेल का ई-टिकटिंग और कैटरिंग आर्म (आईआरसीटीसी) यात्रियों के लिए एक बड़ी सौगात लेकर आया है। इस नई स्कीम के मुताबिक अगर आप IRCTC के जरिए एयर टिकट खरीदते हैं तो आपको मुफ्त में 50 लाख रुपए का इंश्योरेंस कवर मिलेगा। इस स्कीम की शुरुआत अगले महीने यानी फरवरी से होगी। IRCTC की एयर टिकटिंग पोर्टल से बुक किए गए वन वे और राउंड ट्रिप्स, दोनों तरह के टिकटों पर ट्रैवल इंश्योरेंस कवर मिलेगा।


इनको मिलेगा लाभ

इस संदर्भ में IRCTC के चेयरमैन एम. पी. माल का कहना है कि फ्री ट्रैवल इंश्योरेंस सभी घरेलू एवं अंतर्राष्ट्रीय रूटों के हवाई यात्रियों को मिलेगा, भले ही उनका टिकट किसी भी क्लास का हो। इससे दुर्घटना में मौत या पूर्णरूपेण अपंगता की स्थिति में उनके परिवार और उन्हें वित्तीय सुरक्षा मिलेगी। IRCTC के मुताबिक वे प्रतिबद्ध ग्राहकों के लिए कैशबैक ऑफर देने की भी व्यवस्था कर रहे हैं।


फ्री में होती है होटल बुकिंग

यात्रियों की सुरक्षा के लिए इंश्योरेंस प्रीमियम का खर्च खुद IRCTC उठाएगी। माल ने कहा, यह हवाई यात्रा को अवरोध रहित बनाने के लिए किया गया है। बता दें दूसरे एयर ट्रैवल पोर्टल्स प्रति टिकट 200 रुपए तक फी लेते हैं जबकि IRCTC सिर्फ 50 रुपए लेती है और कोई कैंसिलेशन चार्ज भी नहीं लेती। इसके साथ ही IRCTC होटल बुकिंग की भी सुविधा देती है, लेकिन इसके लिए कोई फी नहीं वसूलती।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/free-insurance-cover-of-50-lakh-rupees-and-hotel-booking-on-doing-this-3955508/

सरकार ने बदले नियम, यहां से 10 नहीं बल्कि 3 साल बाद भी निकाल पाएंगे अपना पैसा


नई दिल्ली। नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) खाताधारकों को सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। अभी तक अकाउंटहोल्डर्स रिटायरमेंट के बाद पूरा या फिर NPS में डिपॉजिट शुरू होने के मिनिमम 10 साल बाद ही पैसा विदड्रॉ कर सकते थे लेकिन अब वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने कहा है कि NPS सब्सक्राइबर्स जरूरत पड़ने पर केवल तीन साल बाद भी NPS अकाउंट से प्रीमैच्योर विदड्रॉल कर सकेंगे।


इसलिए उठाया गया ये कदम

हालांकि विदड्रॉल की लिमिट NPS अकाउंट में मौजूद बैलेंस के 25 फीसदी से ज्यादा नहीं हो सकती। सब्सक्राइबर्स के Tier-II अकाउंट से विदड्रॉल पर कोई प्रतिबंध नहीं है। NPS एक फ्यूचर सेविंग अकाउंट है और सब्सक्राइबर के रिटायर हो जाने के बाद ही वह इसका पैसा प्राप्त कर सकता हैं। ऐसे में सब्सक्राइबर्स के समक्ष अचानक आई वित्तीय जरूरतों की संभावना को देखते हुए सरकार ने NPS अकाउंट से आंशिक विदड्रॉल की अनुमति दी है।


क्या है NPS ?

एनपीएस एक रिटायरमेंट सेविंग अकाउंट है, जिसे भारत सरकार ने 1 जनवरी 2004 को लॉन्च किया था। इस तारीख के बाद जॉइन करने वाले सभी सरकारी कर्मचारियों के लिए यह योजना अनिवार्य है। 2009 के बाद से इस योजना को प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले लोगों के लिए भी खोल दिया गया है। जिसके चलते प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाला कोई भी कर्मचारी जिसकी उम्र 18 से 60 साल के बीच है, अपनी मर्जी से इस योजना में शामिल हो सकता है। NPS में दो तरह के अकाउंट होते हैं Tier-I और Tier-II। Tier-I एक रिटायरमेंट अकाउंट होता है, जिसे हर सरकारी कर्मचारी के लिए खुलवाना अनिवार्य है। वहीं Tier-II एक वॉलेंटरी अकाउंट होता है, जिसमें कोई भी वेतनभोगी अपनी तरफ से इन्वेस्टमेंट शुरू कर सकता है और कभी भी पैसे निकाल सकता है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/government-changed-rules-you-can-take-your-money-after-3-years-3952711/

सावधानः NPS खाताधारक 31 जनवरी से पहले कर लें ये काम, नहीं तो लग सकता है बड़ा झटका


नर्इ दिल्ली। अगर आपने अपने नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) खाते से कुछ रकम निकालने के लिए अप्लार्इ किया आैर अभी तक यह रकम आपको नहीं मिली है तो इसके लिए आपको फिर से आवेदन करना होगा। एनपीएस ने उन लोगों के लिए फिर से आवेदन करना होगा जिन्हाेंने 30 नवंबर 2018 से पहले इसके लिए आवेदन किया है। एनपीएस ने निकासी को लेकर कहा है कि आपको एक बार फिर से सभी कागजात पूरे करने होंगे आैर इसके लिए एक बार आैर आवेदन करना होगा। एेसे में आइए जानते हैं कि क्या है इसके लिए पूरी प्रक्रिया आैर इस कैसे आवेदन करना होगा।


क्या है अंतिम तारीख

यदि आपने एनपीएस खाते से कुछ रकम निकालने के लिए हार्डकाॅपी नहीं जमा किया है आैर आॅनलाइन रूप से इसके लिए आवेदन किया है तो आपका आवेदन पेंडिंग ही रहेगा। यदि 31 जनवरी से पहले तक यह पास नहीं किया जाता है तो इसे विड्राॅ ही माना जाएगा। एेसे में यदि आपने 30 नवंबर 2018 से पहले अावेदन किया है आैर अभी भी इस स्कीम के तहत पैसा निकालना चाहते हैं तो अपको एक बार फिर से सभी कागजात जमा करने होंगे। इसे आपको 31 जनवरी 2019 से पहले वेरिफार्इ करवाना होगा।


कहां करना होगा सबमिट

इसके लिए आपको जरूरी कागजातों के साथ-साथ पार्शियल विड्राॅ फाॅर्म (601-PW) भरना होगा। POP के लिए आप आॅनलाइन आवेदन कर सकते हैं। एनपीएस की आधिकारिक वेबसाइट पर आप इसे डाउनलोड कर सकते हैं। यदि आप सरकारी कर्मचारी हैं तो नोडल आॅफिस के पे एंड अकाउंट अधिकारी या जिला ट्रेजरी आॅफिस के पास जमा कर सकते हैं।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/nps-pensioners-get-alert-fill-this-form-before-31-january-3952576/

इन अरबपतियों के करा रखा है अपने बॉडी के अलग-अलग हिस्सों का इंश्योरेंस, कीमत जान हैरान रह जाएंगे आप


नई दिल्ली। आजकल के दौर में अपनी सेहत को लेकर हर इंसान फिक्रमंद रहता है। फिर चाहे आम आदमी हो या सेलिब्रिटीज। इसलिए इंश्योरेंस के कारोबार में लगातार तेजी देखी जा रही है। आजकल हर तरह के इंश्योरेंस बाजार में उपलब्ध हैं। फिर चाहे वो आपके पूरे शरीर का हो या फिर शरीर के किसी खास अंग का। यूं तो आपने हर्ट, लीवर जैसे शरीर के अहम पार्ट के इंश्योरेंस के बारे में सुना होगा। लेकिन भारत समेत दुनिया भर में कई ऐसे अरबपति सेलिब्रिटीज हैं जिन्होंने अपने बॉडी के ऐसे हिस्सों का इंश्योरेंस करा रखा है जिसके बारे में अमूमन लोग सोचते तक नहीं है।

इन्होनें ले रखा है इंश्योरेंस

अगर आप हॉलिवुड की फिल्में देखते हैं या गाने सुनते हैं तो आपने मडोना का नाम जरुर सुना होगा। आपको बता दें कि मडोना के करीब 2 मिलियन डॉलर (13.90 करोड़ रुपए) का अपना ब्रेस्ट इंश्योरेंस करा रखा है। दरअसल हॉलिवुड में अपने शरीर के अलग अलग हिस्सों के इंश्योरेंस कराने का चलन है। इसिलए केवल मडोना ही नहीं बल्कि कई ऐसे सेलिब्रिटीज हैं जिन्होंने करोड़ों का इंश्योरेंस रखा है।

इन्होंने खर्च किए 6.95 करोड़

हॉलीवुड की और चर्चित सेलिब्रिटी है हौली मेडिसन। ये अपने चर्चित टीवी सिरियल, अपने किताब के लिए अक्सर चर्चा में रहती है। इन्होंने भी अपने ब्रेस्ट का इंश्योरेंस ले रखा है, जो 1 मिलियन डॉलर यानि (6.95 करोड़ रुपए) का है। अपने इस अनोखे इंश्योरेंस के बारे में जब हौली से पुछा गया तो उन्होंने बताया कि मुझे अपने शरीर के इस अंग से बहुत प्यार है। बिजनेस इनसाइडर के मुताबिक हौली ने कहा कि मैं अपने इस अंग से बहुत प्यार करती हूं और इसे खोना नहीं चाहती। इसलिए मैने इसका इंश्योरेंस करवाया है।

भारत में भी बढ़ रहा है चलन

विदेशों का यह चलन भारतीय सेलिब्रिटीज पर दिखने लगा है। ब़लीवुड की मशहूर और अरबाज खान की पूर्व पत्नी मलाइका अरोड़ा खान ने भी एक इंटरव्यू में बताया कि वो अपने बट का इंश्योरेंस करवाना चाहती हैं। जब Malaika Arora से सवाल पूछा गया कि वे शरीर के किस अंग का इंश्योरेंस कराना पसंद करेंगी? एक्ट्रेस ने सवाल का बेबाकी से जवाब देते हुए कहा मैं अपने बट का इंश्योरेंस कराना चाहूंगी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/these-celebrities-spends-crore-on-insurance-3936072/

पोस्ट ऑफिस में इस तरह से करें निवेश, बन जाएंगे करोड़पति, टैक्‍स में भी मिलेगी छूट


नई दिल्ली। साल 2019 को शुरू हुए अभी कुछ ही दिन हुए हैं। ऐसे में आप सबने प्लानिंग कर ली होगी कि इस साल आपको कहां निवेश करना है और अपने पैसे को बढ़ाना कैसे है। पत्रिका आपको बताएगा कि कैसे आप करोड़पति बन सकते हैं। पोस्ट ऑफिस में निवेश करना एक अच्छा विकल्प है। सरकार पोस्ट ऑफिस में निवेश के लिए सुरक्षा की गारंटी भी देती है। सुरक्षा की गारंटी के साथ साथ आपको फिक्स ब्याज दरें भी मिलती रहेंगी। पोस्‍ट आफिस (Post Office) में कई तरह के निवेश के विकल्‍प मौजूद हैं। अगर इन विकल्‍पों में आप निवेश शुरू करें तो करोड़पति बना जा सकता है।


इस बात का रखें ध्यान

पोस्‍ट ऑफिस में निवेश करने से आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि कुछ निवेश 5 साल में मैच्‍योर हो जाते हैं, तो कुछ 15 साल तक के लिए किए जा सकते हैं। ऐसे में अगर लंबे समय के लिए निवेश करना है तो एक बार की मैच्‍योरिटी के बाद दोबारा निवेश करना होगा। ब्‍याज दरों का सरकार समय-समय पर रिवीजन करती है।


इनकम टैक्‍स में मिलेगी छूट

पोस्‍ट आफिस में कुछ निवेश ऐसे भी हैं, जिनमें अच्‍छा ब्‍याज मिलने के साथ ही इनकम टैक्‍स में छूट भी मिलती है। इसमें PPF, NSC जैसे निवेश विकल्‍प शामिल हैं। निश्चित रूप से पोस्ट ऑफिस में निवेश करना लाभदायक साबित हो सकता है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/invest-on-post-office-to-be-crorepati-and-discount-in-income-tax-3932431/

इस तरकीब से आप बना सकते हैं 1 करोड़ रुपए का फंड, नहीं करनी होगी कोई मेहनत


नई दिल्ली। अमीर बनने का सपना तो हर कोई देखता है, लेकिन कामयाबी उसे ही मिलती है जो अपने सपने को साकार करने के लिए हर संभव प्रयास करे। कहते हैं मेहनत का फल मीठा होता है लेकिन आज पत्रिका आपको बताएगा कि कैसे आप आसानी से 1 करोड़ रुपए तक का फंड बना सकते हैं।


यह भी पढ़ें: नए साल पर 500 रुपए से बन जाएंगे 10 करोड़ के मालिक, बस करना होगा ये छोटा सा काम


धैर्य से लें काम

अमीर बनने के सपने को साकार करने के लिए आपको सिर्फ धैर्य से काम करना होगा क्योंकि 1 करोड़ का फंड एकत्रित करने की जो तरकीब हम आपको बताने जा रहे हैं उसमें 17.5 सालों का वक्त लग सकता है। इसके लिए आपको तीन स्टेप के इन्वेस्टमेंट प्लान के मुताबिक चलना होगा और हर महीने म्युचुअल फंड में एक तय रकम निवेश करनी होगी। इसके साथ ही आपको हर साल अपना निवेश भी बढ़ाना होगा।


3 स्टेप के इन्वेस्टमेंट प्लान के मुताबिक चलें

तीन स्टेप के इन्वेस्टमेंट प्लान के पहले चरण में आपको म्युचुअल फंड एसआईपी (SIP) में 5,000 रुपए मंथली निवेश शुरू करना होगा। इसके बाद आपको हर साल 15 फीसदी तक का निवेश बढ़ाना होगा। यानी दूसरे साल आपको एसआईपी में 5,750 रुपए का निवेश करना होगा। इसके बाद अगले साल के लिए आपको फिरसे 15 फीसदी निवेश बढ़ाना होगा। अगर आपके निवेश पर सालाना 14 फीसदी रिटर्न मिलता है तो आप 17.5 महीनों में 1 करोड़ का फंड बना लेंगे। आपको इस बात पर ध्यान देना होगा कि आप फंड से बीच में पैसा नहीं निकालें क्योंकि ऐसा करने पर आप अपना लक्ष्य हासिल नहीं कर पाएंगे।

 

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/make-1-crore-rupees-by-not-doing-any-hardwork-3927114/

शराब के शौकीनों के लिए बुरी खबर, राज्य सरकारें ले सकती हैं ये फैसला


नई दिल्ली। कृषि संकट को कम करना देश के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। किसानों की कर्जमाफी राजनीतिक दलों के एजेंडे में हैं और देश के सबसे अहम मुद्दों में से एक है। बीते कई वर्षों से कृषि कर्जमाफी को लेकर राजनीतिक दलों के बीच जंग छिड़ी हुई है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इसके परिणाम क्या होंगे। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार इसकी कीमत शराब कंपनियों को चुकानी पड़ सकती है क्योंकि कर्जमाफी की वजह से पड़ने वाले आर्थिक बोझ को कम करने के लिए राज्य सरकारें शराब पर टैक्स बढ़ाने की ताक में हैं।


शराब पर बढ़ सकता है टैक्स

इस संदर्भ में एडलविस सिक्यॉरिटीज लिमिटेड का कहना है कि कृषि कर्जमाफी के बाद वित्तीय सुराख को भरने के लिए सरकारों को रेवेन्यू की जरूरत है और सरकारें इसके लिए टैक्स बढ़ाने की कोशिश में हैं। टैक्स में वृद्धि का शराब की मांग पर असर होगा, क्योंकि कंपनियां अतिरिक्त लेवी ग्राहकों से वसूलेंगी। इसका मतलब होगा कि कृषि कर्जमाफी के बाद शराब महंगी हो सकती है।


शराब पर टैक्स बढ़ाना है संभावित विकल्प

एडलविस सिक्यॉरिटीज के विश्लेषक अबनीश रॉय और आलोक शाह ने 1 जनवरी को एक इन्वेस्टर नोट में लिखा था कि शराब पर टैक्स बढ़ाना (जिससे करीब 25 फीसदी राजस्व आता है) सर्वाधिक संभावित विकल्प है, क्योंकि राज्य सरकारें कर्ज लेकर अपना जीडीपी-कर्ज अनुपात नहीं बिगाड़ना चाहेंगी। उन्होंने कहा कि पहले भी ऐसा होता रहा है। छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में हुए चुनावों में कांग्रेस ने किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था। कहा जा रहा है कि इसी वादे के चलते कांग्रेस इन राज्यों में सत्ता में आई।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/state-government-can-increase-tax-on-alcohol-3925248/

हर महीने करना चाहते हैं डबल कमाई तो इस स्कीम में लगाए पैसा, ये है पूरा प्रोसेस


नई दिल्ली। साल 2019 में अगर आपने भी पैसा बचाने के बारे में विचार किया है तो आज हम अपको एक नई स्कीम के बारे में बताएंगे। इस स्कीम में पैसा लगाने से अपका काफी फायदा होगा और अपका पैसा भी सुरक्षित रहेगा। पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम से आपकी हर महीने अच्छी कमाई होगी।


कोई भी खोल सकता है अकाउंट

पोस्ट ऑफिस की यह खास स्कीम उन सभी लोगों के लिए अच्छी है जो अपनी जमा पर ज्यादा इनकम करना चाहते हैं। इस स्पेशल स्कीम में न केवल आपको हर महीने अच्छी इनकम मिलेगी बल्कि आपकी जमा पूंजी भी सेफ रहेगी। अगर किसी के पास नियमित कमाई का कोई साधन नहीं है वह लोग भी इस स्कीम में भाग ले सकते हैं।


अपका पैसा रहेगा सेफ

इस स्पेशल स्कीम का नाम पीओएमआईएस है। इस स्कीम में अगर आप एक बार पैसा लगाते हैं तो यह तय है कि आपको हर महीने पैसा मिलता रहेगा। विशेषज्ञों ने जानकारी देते हुए बताया कि निवेश करने के लिए यह स्कीम काफी अच्छी है। इसको कोई भी बिना किसी झंझट के खोल सकता है। इस स्कीम में बैंक एफडी या डेट इंस्ट्रूमेंट की तुलना में ज्यादा रिर्टन मिलता है।


हर महीने करना होगा इतना निवेश

मंथली इन्वेस्टमेंट स्कीम अकाउंट कोई भी खोल सकता है। अगर आप सिंगल अकाउंट खोलते हैं तो आप इसमें अधिकतम 4.5 लाख रुपए जमा करा सकते हैं और कम से कम आपको 1500 रुपए जमा कराने होते हैं। वहीं अगर आप ज्वॉइंट अकाउंट में इस स्कीम को लेते हैं तो आपको इसकी डबल राशि देनी होती है।


बच्चों का भी खुल सकता है खाता

बच्चे से लेकर बड़े तक कोई भी इस अकाउंट को खोल सकता है। 10 साल से कम उम्र के बच्चे का खाता उनके माता-पिता या लीगल गार्जियन की ओर से खोला जा सकता है। बड़ा होने के बाद बच्चा खुद भी उसकी जिम्मेदारी ले सकता है। अगर आप इस स्कीम में निवेश करते हैं तो आपको 7.3 फीसदी सालाना ब्याज मिलता रहेगा।


5 साल तक कर सकते हैं निवेश

आपको बता दें कि अगर आपने इस स्कीम से हर महीने पैसे नहीं निकाले तो वह रकम आपके पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट में रहेगी और आपका ब्याज भी आपकी जमा राशि में जुड़ जाएगा। इस स्कीम का मेच्योरिटी पीरियड 5 साल है। अगर आप चाहे तो 5 साल बाद फिर से इस स्कीम में निवेश कर सकते हैं। आप अपना खाता पोस्ट ऑफिस में जाकर खुलवा सकते हैं। इसके साथ ही इस खाते को खोलने के लिए आपको आधार कार्ड, वोटर आईडी, पैन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में से किसी एक की फोटो कॉपी जमा करनी होगी। इसके अलावा आपको पहचान पत्र और 2 पास्टपोर्ट साइज फोटो की आवश्यक्ता होगी।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/start-investment-in-post-office-monthely-investment-scheme-3922339/

11 सालों बाद भी देश के बुजुर्गों की कमाई महज 200 रुपए, सरकार ने नहीं लिया अब तक कोई एक्शन


नई दिल्ली। मोदी सरकार में देश का हर व्यक्ति सामाजिक सुरक्षा चाहता है चाहे वह युवा हो या बुजुर्ग, लेकिन भारत में पिछसे कई सालों से बुजुर्गों की हालत काफी खराब है। जहां एक तरफ सरकार बुजुर्गों को उनकी सुरक्षा का आश्वासन देती हैं वहीं उनको आय के नाम पर महज 200 रुपए देती है। आज के समय में भारत में बुजुर्गों की बढ़ती संख्या मुफलिसी में जीवन गुजार रही है।


11 साल बाद भी नहीं हुआ पेंशन में कोई बदलाव

देश के वह बुजुर्ग जो सरकारी नौकरी नहीं करते थे वह सभी आज सरकार द्वारा दी जा रही पेंशन के भरोसे हैं, लेकिन पिछले 11 सालों से पेंशन राशि में कोई भी बदलाव नहीं आया है। आज से 11 साल पहले भी सरकार बुजुर्गों को 200 रुपए महीना पेंशन देती थी और आज भी वह उसी 200 रुपए में अपना जीवन बिता रहे हैं, लेकिन 5 राज्य की सरकारों का कहना है कि उन्होंने इस पेंशन राशि में अपनी तरफ से धनराशि जोड़कर इसे 2000 तक कर दिया है। आपको बता दें कि देश में 5.8 करोड़ बुजुर्ग ऐसे हैं जिनको पेंशन या कोई अन्य प्रकार की सहायता नहीं मिलती है।

old pension scheme

महज 200 रुपए में बिता रहे जीवन

आपको बता दें कि वैसे तो केंद्र सरकार 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वृद्धा पेंशन देती है, लेकिन देश में बढ़ती महंगाई को देखते हुए इसकी राशि इतनी कम है कि देश का बुजुर्ग चाह कर भी इसमें अपना महीने का खर्च नहीं चला सकता है। दरअसल, साल 2007 में 60-79 वर्ष के आयु वर्ग के लिए इस योजना के अंतर्गत मासिक पेंशन की राशि मात्र 200 रुपये रखी गई थी। उसी समय यह राशि बहुत कम मानी गई थी, वहूं जो लोग 80 साल से अधिक के थे उनकी पेंशन 500 रुपये रखी गई थी। आज 11 साल बीत जाने के बाद भी देश पेंशन में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है। हंगाई के हिसाब से देखें तो साल 2007 में तय किए गए 200 रुपये की कीमत आज मात्र 92 रुपये ही रह गई है।


इन राज्यों में मिलती है ज्यादा पेंशन

वहीं आपको बता दें कि देश के ही कुछ राज्य ऐसे हैं, जहां देश के बुजुर्गों को लगभग 2000 रुपए तक पेंशन मिल जाती है। इऩ राज्यों की सूची में गोवा, दिल्ली, केरल और हरियाणा शामिल है। साथ ही देश में दूसरी ओर कुछ राज्य ऐसे हैं, जहां सरकारें अपनी ओर से बहुत कम धनराशि जोड़ती हैं और वहां के वरिष्ठ नागरिकों को अभी तक 500 रुपये से भी कम की पेंशन मिलती है। ऐसे राज्यों में बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात और मणिपुर हैं।

 

pmvvy

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना

बुजुर्गों को ध्यान में रखते हुए मोदी सरकार ने एक खास योजना की शुरुआत की, जिसका नाम प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (पीएमवीवीवाई PMVVY) रखा गया। इस योजना के तहत निवेश सीमा को दोगुना कर 15 लाख रुपये करने को मंजूरी दी, जिससे वरिष्ठ नागरिकों का सामाजिक सुरक्षा कवर बढ़ सके। यह योजना 60 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए है, लेकिन इस योजना का लाभ सिर्फ वही लोग उठा सकते हैं, जो इसमें निवेश कर सके। इस योजना में अगर कोई 15 लाख रुपये का निवेश करता है तब उसे योजना जारी रहने तक 10000 रुपये हर महीने पेंशन मिलती रहेगी।


बुजुर्गों को मिलती हैं ये सभी सुविधाएं

साल 2017 में मोदी सरकार ने देश में गरीबी रेखा से नीचे गुजर-बसर करने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए राष्ट्रीय वयोश्री योजना की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत सरकार वरिष्ठ नागरिकों को सुनने में सहायक मशीन और व्हीलचेयर सहित उम्र संबंधी सहायक उपकरण नि:शुल्क प्रदान करती है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/modi-govt-not-take-any-action-regarding-senior-citizen-pension-in-indi-3920015/

अब आपके WhatsApp पर मिलेगी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी, इस बड़ी कंपनी ने शुरू किया सेवा


नर्इ दिल्ली। लाइफ इंश्योरेंस कम्पनी भारती एक्सा लाईफ इंश्योरेंस ने बुधवार से अपने ग्राहकों को व्हाट्सएप द्वारा पॉलिसी देने की सेवा शुरू कर दी। कंपनी ने व्हाट्सएप के माध्यम से रिन्यूअल प्रीमियम रसीदें भी देनी शुरू कर दी हैं। इससे पूर्व कम्पनी ने व्हाट्सएप के द्वारा क्लेम इंटीमेशन सेवा शुरू की थी। व्हाट्सऐप द्वारा पॉलिसी दस्तावेज एवं रिन्यूअल प्रीमियम रसीद की शुरुआत की घोषणा भारती एक्सा लाईफ इंश्योरेंस के मैनेजिंग डायरेक्टर एवं चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर विकास सेठ ने की।


इन चैनलों से ले सकते हैं पाॅलिसी

भारती एक्सा लाईफ इंश्योरेंस पहले कुछ लाईफ इंश्योर्स में से एक है, जो अपने ग्राहकों को पॉलिसी कॉन्ट्रैक्ट, रिन्यूअल प्रीमियम रसीद एवं क्लेम इंटीमेशन की सुविधा व्हाट्सएप द्वारा दे रहा है। यह कंपनी के विविध चैनलों, जिनमें इसकी शाखाओं का व्यापक नेटवर्क, मजबूत कस्टमर केयर और कॉन्टैक्ट सेंटर, डाइनामिक पोर्टल एवं समझदार चैटबॉट शामिल है, के अलावा पॉलिसीधारकों के लिए एक इंस्टैंट व अतिरिक्त कस्टमर सेवा विकल्प है।


ग्राहकों से जुड़ने में होगी आसानी

इस सेवा की शुरुआत पर सेठ ने कहा, "टेक्नॉलॉजी-संचालित कम्युनिकेशन आज की तेजी से चलती दुनिया में लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हो गया है। व्हाट्सऐप जैसे मोबाइल इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म के साथ हम ग्राहकों के लिए उनका पॉलिसी कॉन्ट्रैक्ट, रिन्यूअल प्रीमियम एवं क्लेम इंटीमेशन सुगम कम्युनिकेशन चैनल से प्राप्त करना आसान बना रहे हैं। हमें विश्वास है कि यह इंस्टैंट एवं अतिरिक्त कम्युनिकेशन टूल हमें ग्राहकों की संलग्नता और ग्राहकों से संपर्क बेहतर बनाने में सहयोग करेगा तथा हमारे पॉलिसीधारकों की सुविधा बढ़ाएगा।"


मिलेंगे ये फायदे

उन्होंने कहा कि पॉलिसी दस्तावेज जारी होने के बाद जल्द ही डाउनलोड के लिए उपलब्ध हो जाएगा। इसी प्रकार रिन्यूअल प्रीमियम रसीदें पॉलिसी में प्रीमियम का एडजस्टमेंट होने पर डाउनलोड के लिए तैयार हो जाएंगी। भारती एक्सा लाईफ इंश्योरेंस की चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर इशिता मुखर्जी ने कहा कि पॉलिसीधारक अपने पॉलिसी कॉन्ट्रैक्ट एवं रिन्यूअल प्रीमियम रसीद तत्काल देखकर डाउनलोड कर सकेंगे। यह संपूर्ण प्रक्रिया ग्राहक को उसके मोबाईल फोन पर एक लिंक प्रदान करके पूरी की जा सकेगी। वह एसएमएस/ईमेल द्वारा दिए गए लिंक पर क्लिक करके एवं पहले से भरा संदेश कंपनी को व्हाट्सएप पर भेजकर प्रक्रिया पूरी कर सकेगा। मुखर्जी ने कहा कि इसके अलावा ग्राहकों को व्हाट्सएप विंडो में दिए गए नए लिंक के माध्यम से सत्यापन की प्रक्रिया पूरी करनी होगी।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/get-your-life-insurance-policy-on-your-whatsapp-3918334/

नए साल में करोड़पति बनने का शानदार मौका, बस 500 रुपए करने होंगे खर्च


नर्इ दिल्ली। अमीर बनने की चाहत हर किसी में होती है। इसके लिए लोग प्लानिंग भी करते हैं। लेकिन प्लानिंग कैसी है इस पर ज्यादा निर्भर करता है। अगर आपकी प्लानिंग बिल्कुल सही है तो आप छोटे से निवेश से भी करोड़पति बन सकते हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि आप छोटे निवेश से करोड़पति बन सकते हैं…

मात्र 500 रुपए का करें निवेश
अगर आप रोजाना 500 रुपए यानी महीने में 15 हजार रुपए का निवेश करते हैं तो आप 30 साल में 10 करोड़ रुपए बना सकते हैं। इसके लिए आपको यह चुनना होगा कि आपको कहा इंवेस्ट करना है। आपको हर साल अपनी इनकम बढ़ाने के लिए अपने फंड का 10 फीसदी ज्यादा इन्वेस्ट भी करना चाहिए। इस तरह करोड़पति बनने से आपको कोई नहीं रोक सकता।

यहां कर सकते हैं निवेश
अगर आप 10 करोड़ रुपए का फंड बनाना है तो आप इक्विटी, म्‍युचुअल फंड, एसआईपी में निवेश शुरू कर सकते हैं। अगर आप हर माह 15,000 रुपए इक्विटी, म्‍युचुअल फंड या एसआईपी में निवेश करते हैं और आपको सालाना 15 फीसदी रिटर्न मिलता है तो अगले 30 साल में आपका कुल फंड 10.50 करोड़ रुपए हो जाएगा।

म्‍युचुअल फंड से मिला है कि 50 फीसदी का रिटर्न
अगर पिछले 12 महीनाें की बात करें तो म्युचुअल फंड ने 30 से 50 फीसदी तक का फायदा दिया है। क्रिसिल-एएमएफआई के डाटा के अनुसार म्‍युचुअल फंड ने पिछले 10 साल में 10.45 फीसदी, पिछले 5 साल में 16.58 फीसदी और पिछले एक साल में 15.31 फीसदी रिटर्न दिया है। आपको फायदा हर हो एेसा भी संभव नहीं है।

लगा दिया है सरकार ने टैक्स
केंद्र सरकार ने 1 अप्रैल, 2018 से इक्विटी म्चुचुअल फंड पर टैक्स लगा दिया है। अगर आपको इक्विटी म्चुचुअल फंड में निवेश पर सालाना 1 लाख रुपए से अधिक रिटर्न मिलता है तो उस पर आपको 10 फीसदी टैक्स देना होगा. पहले इक्विटी म्युचअल फंड पर मिलने वाला रिटर्न टैक्स फ्री था।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/great-chance-to-become-millionaires-just-rs-500-will-be-spent-3916490/

साल के पहले दिन ही मोदी सरकार ने दिया तोहफा, इन खातों में पैसा लगाने पर मिलेगी अधिक ब्याज


नई दिल्ली। मोदी सरकार ने नए साल पर पोस्ट ऑफिस के ग्राहकों को नई सौगात देने का फैसला लिया है। जिन भी ग्राहकों का पोस्ट ऑफिस में खाता है अब उनको पहले की तुलना में अधिक ब्याज मिलेगा। सरकार ने पोस्ट ऑफिस की बचत योजनाओं पर ब्याज दरें बढ़ा दिया है। पोस्ट ऑफिस की जमा दरों में यह बढ़ोतरी 0.10 फीसदी की हुई है।


क्या है ब्याज दरों में बढ़ोतरी को लेकर नियम

सरकार अब आपको एक साल के जमा पर 0.10 फीसदी ज्यादा ब्याज देगी। आपको बता दें कि सरकार हर तिमाही ब्याज दर तय करता है, लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है कि वह हमेशा ब्याज दर में बढ़ोतरी करे। ऐसा कभी-कभी ही होता है। फिलहाल सरकार ने स्माल सेविंग्स स्कीम पर ब्याज की दर को बढ़ा दिया है।


पोस्ट ऑफिस स्कीम्स पर मिलता है टैक्स छूट

आप पब्लिक प्रॉविडेंट फंड में निवेश कर के भी लाभ कमा सकते हैं। इसमें भी हर तिमाही ब्याज दरें तय की जाती हैं। पीपीएफ खातों में जमा राशि पर सालाना 8 फीसदी की ब्याज दर मिलती है। इस जमा पर ब्याज की गणना सालाना आधार पर की जाती है और इसे हर साल मूलधन राशि में जोड़ा जाता है। अगर आप पोस्ट ऑफिस के पीपीएफ में निवेश करते हैं तो आपको आयकर में भी लाभ मिल सकता है।


निश्चित समय के लिए मिलता है ब्याज

पोस्ट ऑफिस एफडी में आप एक फिक्स्ड टाइम तक के लिए निवेश कर सकते हैं और आपको उसका ब्याज भी एक निश्चित समय तक के लिए ही मिलता है। इसमें आप निश्चित रिटर्न और ब्याज भुगतान का लाभ उठा सकते हैं। पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट (टीडी) या फिर फिक्स्ड डिपॉजिट एक, दो, तीन और पांच साल के लिए हो सकता है और जितने समय के लिए आप प्लान लेते हैं ब्याज भी आपको उतने समय तक के लिए ही मिलता है।


वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी है स्पेशल स्कीम

डाकघर वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी एक स्पेशल स्कीम लेकर आया है, जिसका नाम पोस्ट ऑफिस सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS) है। यह पैसा बनाने में काफी कारगर है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/mutual-funds-news/modi-govt-increase-interest-rate-in-small-savings-scheam-in-post-offic-3913003/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Haryana Jobs / Opportunities / Career
Bank Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Bihar Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Rajasthan Jobs / Opportunities / Career
Scholorship Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
Railway Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Gujarat Jobs / Opportunities / Career
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Maharashtra Jobs / Opportunities / Career
Punjab Jobs / Opportunities / Career
Meghalaya Jobs / Opportunities / Career
Admission Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Bihar
State Government Schemes
Study Material
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Syllabus
Festival
Business
Wallpaper
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com