Patrika : Leading Hindi News Portal - Pakistan #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Pakistan

http://api.patrika.com/rss/pakistan-news 👁 304

पाकिस्तान: नवाज शरीफ को बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने मंजूर की 6 हफ्ते की बेल


इस्लामाबाद। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को पूर्व पीएम नवाज शरीफ को देश के भीतर चिकित्सा उपचार प्राप्त करने के लिए 6 सप्ताह की राहत दी। पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश आसिफ सईद खोसा की अगुवाई वाली तीन न्यायाधीशों की पीठ ने शरीफ को 50 लाख रुपये के दो जमानती बांड जमा करने के निर्देश के बाद चिकित्सा आधार पर जमानत के लिए उनकी याचिका स्वीकार कर ली।

इलाज के लिए 6 हफ्ते की बेल

मुख्य न्यायाधीश की अगुवाई वाली न्यायपीठ ने चेतावनी दी कि छह सप्ताह समाप्त होने पर शरीफ को जेल अधिकारियों के सामने आत्मसमर्पण करना होगा। यदि वह आत्मसमर्पण करने में विफल रहते हैं, तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। शरीफ को आगे देश छोड़ने से भी रोक दिया गया हैं । आदेश में कहा गया है कि अगर शरीफ 6 सप्ताह की अवधि के बाद चिकित्सा आधार पर और राहत की मांग करते हैं तो उन्हें संबंधित उच्च न्यायालय में याचिका दायर करनी होगी। शरीफ के कानूनी वकील ख्वाजा हारिस ने शरीफ के लिए तत्काल एंजियोग्राफी का हवाला देते हुए आठ सप्ताह के लिए जमानत का अनुरोध किया था। पिता को जमानत मिलने पर शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने एक ट्वीट के माध्यम से अपनी खुशी व्यक्त की।

नवाज शरीफ को बड़ी राहत

पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी और पीएमएल-एन के प्रवक्ता औरंगजेब सहित कई पीएमएल-एन नेताओं ने मीडिया के साथ बातचीत में इस फैसले का स्वागत किया। आपको बता दें कि शरीफ अल अजीजिया भ्रष्टाचार मामले में आरोपी हैं और जवाबदेही अदालत ने उन्हें सात साल की जेल की सजा सुनाई है। इससे पहले पूर्व पाक प्रमुख ने चिकित्सा के आधार पर लाहौर HC में जमानत याचिका दायर की थी, लेकिन इसे ठुकरा दिया गया था। सुनवाई शुरू होते ही शरीफ के वकील हारिस ने अदालत को पूर्व पीएम के मेडिकल रिकॉर्ड से अवगत कराया। हारिस ने अदालत को बताया कि पूर्व पाक पीएम नवाज कई दिल की बीमारियों से पीड़ित हैं। बता दें कि नवाज शरीफ ओपन-हार्ट सर्जरी से गुजर चुके हैं।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/sc-grants-nawaz-sharif-bail-for-6-weeks-4333965/

इस्लामाबाद हाईकोर्ट का आदेश, हिंदू लड़कियों का जल्द पता लगाकर उनको सुरक्षा दे सरकार


लाहौर। पाकिस्तान में होली के मौके पर अगवा की दो हिंदू लड़कियों के मामले ने तूल पकड़ लिया है। भारत ने इस मामले में दखल के बाद इमरान सरकार पर दबाव अधिक बढ़ गया है। इसे लेकर इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने मंगलवार सुबह प्रशासन को आदेश दिया है कि लापता दोनों हिंदू लड़कियों को जल्द से जल्द ढूंढा जाए। अदालत का कहना है कि दोनों लड़कियों को सरकारी कस्टडी में रखा जाए। गौरतलब है कि बीते दिनों इस मामले के सामने आने के बाद भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान के मंत्री से बात की थी।

 

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ

इस मामले को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी,जिस पर मंगलवार को सुनवाई हुई और कोर्ट ने सख्त रुख अपनाया है। बता दें कि पाकिस्तान के सिंध प्रांत में होली के मौके पर दो हिंदू लड़कियों का अपहरण कर लिया गया था। अपहरण की घटना के बाद एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इसमें दिखाया गया कि एक मौलवी दोनों लड़कियों का निकाह करवा रहा है। एक दूसरे वीडियो में, नाबालिग लड़कियां कह रही है कि उन्होंने अपनी मर्जी से इस्लाम कुबूल कर लिया है।

इस मामले में कार्रवाई शुरू की

वीडियो वायरल होने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान में मौजूद भारतीय उच्चायोग से रिपोर्ट तलब की थी। इसके अलावा उन्होंने पाकिस्तान के मंत्री को भी ट्विटर पर लताड़ लगाई थी। पाकिस्तान के सूचना मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने कहा कि यह पाकिस्तान का आतंरिक मामला है न कि नरेंद्र मोदी के भारत का। इसके जवाब में सुषमा ने कहा था कि आपकी घबराहट दिखाती है कि आप अपराध बोध से ग्रसित हैं। भारत की कड़ी कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में इस मामले में कार्रवाई शुरू की। स्थानीय रिपोर्ट्स की मानें तो अभी तक इस मामले में सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/islamabad-high-court-ordered-to-give-protection-to-hindu-girls-4332764/

भारतीय की एयर स्ट्राइक से डरा पाकिस्तान, चीन की मदद से मजबूत करेगा अपना एयर डिफेंस


लाहौर। पाकिस्तान के बालाकोट में भारत की एयरस्ट्राइक ने एक महीने के बाद भी अपना खौफ बरकरार रखा है। इस सदमे से अब तक पाकिस्तान उबर नहीं पाया है। इस हमले के बाद पाकिस्तान लगातार अपने एयर डिफेंस को आधुनिक बनाने में लगा है। इसके लिए वह चीन की मदद ले रहा है। गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा हमले का बदला लेते हुए भारत ने 26 फरवरी को बालाकोट में एयरस्ट्राइक करके जैश-ए-मोहम्मद के तीन ठिकानों को उड़ा दिया था। इस हमले की पाकिस्तान को भनक तब लगी जब उसके तीनों आतंकी ठिकानों को ध्वस्त कर भारतीय विमान वापस अपनी सीमा में लौट रहे थे। इसके बाद से पाकिस्तानी मीडिया में इमरान सरकार और सेना को भारी फजीहत का सामना करना पड़ा। सवाल खड़े हुए कि पाकिस्तान के पास ऐसे रडार ही नहीं थे, जिसकी मदद से वह भारतीय विमानों की लोकेशन को ट्रेस कर सकें।

सैन्य ठिकानों पर तैनात किया एलवाई-80

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान ने अब चीन में बने एलवाई-80 को सैन्य ठिकानों पर तैनात किया है। एलवाई-80 मध्यम दूरी का जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल है। एलवाई-80 मिसाइल को जरूरत के मुताबिक एक स्थान से दूसरे स्थान तक आसानी से शिफ्ट किया जा सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक ये मिसाइल किसी गतिमान लक्ष्य को 40 किलोमीटर की दूरी तक हिट कर सकती है। एलवाई-80 चीन द्वारा विकसित किया गया मोबाइल एयर डिफेंस सिस्टम है, जो लो एंड मीडियम रेंज में उड़ रहे कई तरह के लक्ष्य को मारने में सक्षम है। इस एयर डिफेंस सिस्टम में आईबीआईएस-150 रडार लगा हुआ है। ये थ्री डी सर्च रडार है। ये रडार हवा में आ रहे विमानों, मिसाइलों को डिटेक्ट करने में सक्षम है। इस सिस्टम में मिसाइल लॉन्चर भी लगे हुए हैं। पाकिस्तान सरकार को डर है कि भारत की मजबूत वायुसेना दोबारा कभी भी इस तरह का हमला कर सकती है। उसे कई देशों का समर्थन प्राप्त है। ऐसे में वह अपने बचाव के लिए इस तरह की कोशिशें कर रहा है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-strengthen-the-air-defense-with-the-help-of-china-4331463/

पाकिस्तान ने दी सफाई, कहा- भारत के खिलाफ एफ-16 नहीं बल्कि चीन का जेएफ-17 किया था इस्तेमाल


इस्लामाबाद। भारत ने पुलवामा हमले का बदला लेने के लिए पाकिस्तान स्थित बालाकोट में एयर स्ट्राइक करते हुए आतंकी अड्डों को ध्वस्त कर दिया। इससे बौखलाए पाकिस्तान ने अगले दिन भारत के सैन्य अड्डों को निशाना बनाते हुए अमरीका से मिले F-16 का इस्तेमाल किया और भारतीय सीमा पर बमबारी की। हालांकि देश की सुरक्षा में तैनात भारतीय जाबांजों ने पाकिस्तान को मुहतोड़ जवाब दिया। इससे डर कर पाकिस्तानी विमान वापस लौट गए, लेकिन इस दौरान मिग-21 में सवार भारतीय विंग कमांडर ने पाकिस्तान के एक लड़ाकू विमान को मार गिराया। पर पाकिस्तान ने यह मानने से साफ कर दिया कि उनका कोई भी विमान को मार गिराया गया है। पाकिस्तान ने तो यहां तक दावा कर दिया उन्होंने कोई लड़ाकू विमान भेजा ही नहीं है।

पाकिस्तान: हिंदू नाबालिग लड़कियों को अगवा कर जबरन धर्मांतरण कराने के मामले में सात गिरफ्तार

भारत ने अमरीका को दिए थे सबूत

बता दें कि भारत ने डॉगफाइट के दौरान पाकिस्तान के मार गिराए गए एफ-16 लड़ाकू विमान के कुछ अंश को कब्जे में लिया और फिर अमरीका को इसके सबूत दिए। अमरीका ने जब पाकिस्तान के उपर दबाव बनाया तो उन्होंने यह स्वीकार किया कि भारत ने उनका एक विमान को मार गिराया है। हालांकि पाकिस्तान ने अब एक चौंकाने वाला बयान देते हुए कहा कि भारत ने जो विमान मार गिराया था वह एफ-16 नहीं बल्कि चीन का जेएफ-17 लड़ाकू विमान था। इस संबंध में पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने रूस की समाचार एजेंसी स्पुतनिक इंटरनेशनल से बात करते कहा कि पाकिस्तान ने जेएफ-17 विमान का उपयोग किया था जो कि चीन के सहयोग से उसे विकसित किया गया है। उन्होंने दावा किया कि पूरे ऑपरेशन का फुटेज भी उनके पास है। इतना ही नहीं चीन की नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जिन यीनाना ने भी दावा किया है कि पाकिस्तान ने भारत पर अमरीकी एफ-16 से नहीं बल्कि चीन के जेएफ-17 से हमला किया था और भारत के मिग-21 ने जेएफ-17 को ही मार गिराया था। बता दें कि अमरीका ने पाकिस्तान को एफ-16 लड़ाकू विमान देने से पहले यह शर्त रखी थी वह पड़ोसी देशों के खिलाफ इसका इस्तेमाल नहीं करेगा और यदि पाक ने नियमों का उल्लंघन किया तो कार्रवाई करने का अधिकार अमरीका के पास होगा। अमरीका चाहे तो विमानों को वापस ले सकता है।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-said-we-had-used-china-s-jf-17-against-india-not-american-f-16-4331323/

पाकिस्तान: हिंदू नाबालिग लड़कियों को अगवा कर जबरन धर्मांतरण कराने के मामले में सात गिरफ्तार


इस्लामाबाद। पाकिस्तान में बीते शुक्रवार होली के मौके पर दो हिन्दू लड़कियों को अगवा कर धर्मांतरण कराने के मामले में पाकिस्तान सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इसमें निकाह कराने वाला मौलवी भी शामिल है। बता दें कि सिंध प्रांत के घोटकी जिले से 13 वर्षीय रवीना और 15 वर्षीय रीना को कुछ लोगों ने अगवा कर लिया था। उसके कुछ समय बाद एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक काजी कथित तौर पर दोनों का निकाह कराते हुए दिखाई दे रहा है। इसके बाद भारत में इसको लेकर गुस्से का माहौल पैदा कर दिया। भारत सरकार की ओर से इसका विरोध किया गया। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसकी जानकारी इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्यायुक्त से मांगी। प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोशल मीडिया पर दो अलग-अलग वीडियो वायरल हो जाने के बाद मामले की जांच के आदेश दिए थे।

करतारपुर कॉरिडोर के बाद शारदा पीठ को खोलने की घोषणा कर सकता है पाकिस्तान

20 मार्च को दर्ज कराई गई थी प्राथमिकी

यह मामला सामने आने के बाद से पीड़ित लड़कियों के परिवार वालों ने कथित तौर पर इस्लाम में धर्म परिवर्तन कराने को लेकर 20 मार्च को प्राथमिकी दर्ज कराई थी। पाकिस्तान की मीडिया के मुताबिक रविवार रात पंजाब के रहीम यार खान जिले में पुलिस ने कई स्थानों पर छापेमारी की गई और कई लोगों को गिरफ्तार किया। इसमें दोनों की शादी कराने वाले निकाह खान, पाकिस्तान सुन्नी तहरीक के एक नेता और लड़कियों से शादी करने वाले दो पुरुषों के कुछ रिश्तेदार शामिल हैं। रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि हिरासत में लिए गए संदिग्धों को सिंध पुलिस को सौंप दिया गया है। जियो टीवी के मुताबिक, नाबालिग लड़कियों ने पंजाब प्रांत के बहावलपुर की एक अदालत का रुख कर संरक्षण मांगा है। गिरफ्तारी के बाद पुलिस अधीक्षक फारुख लंझार ने अपने बयान में कहा है कि लड़कियों का पता लगाने के लिए सभी उपलब्ध जानकारियों पर कार्रवाई की गई है।

पाकिस्तान: इमरान खान ने दिखाई सख्ती, हिंदू लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराने वाला मौलवी गिरफ्तार

धर्म परिवर्तन के खिलाफ बनना चाहिए कानून

बता दें कि पाकिस्तान में पीटीआई (पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ) पार्टी के हिन्दू सांसद रमेश कुमर वंकवानी ने कहा है कि धर्म परिवर्तन को लेकर एक सख्त कानून बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि जबरन धर्मांतरण के खिलाफ तैयार किए गए विधेयक को प्राथमिकता के आधार पर असेंबली में पेश एवं पारित कराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, “धर्म के नाम पर नफरत की शिक्षा देने वाले सभी लोगों से सख्ती से निपटना जाना चाहिए।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-seven-arrested-for-abducting-minor-girls-for-forcible-conversions-4331311/

पाकिस्तान: इमरान खान ने दिखाई सख्ती, हिंदू लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराने वाला मौलवी गिरफ्तार


लाहौर। पाकिस्तान में दो नाबालिग हिंदू लड़कियों का कथित रूप से निकाह करवाने वाले मौलवी को रविवार गिरफ्तार कर लिया गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इन नाबालिग हिंदू लड़कियों का अपहरण के बाद जबरन धर्म परिवर्तन करा दिया गया। इन नाबालिग लड़कियों ने पंजाब प्रांत की एक अदालत से सुरक्षा की गुहार लगाई है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं। 13 वर्षीय रवीना और 15 वर्षीय रीना का शनिवार को कुछ लोगों ने अपहरण कर लिया था।

भारत ने उठाया धर्मपरिवर्तन का मुद्दा

भारत ने पाकिस्तान के साथ सिंध प्रांत में दो हिंदू किशोरियों के कथित अपहरण और उन्हें बलपूर्वक इस्लाम धर्म स्वीकार करवाने का मुद्दा रविवार को उठाया। वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी के बीच इस मुद्दे को लेकर वाकयुद्ध भी छिड़ गया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार भारत ने पाकिस्तान से इस मामले में अपनी चिंता साझा की हैं और अल्पसंख्यक समुदायों के लोगों की रक्षा और उनकी सुरक्षा एवं कल्याण को बढ़ावा देने के लिए उचित कदम उठाने का आह्वान किया है। स्वराज ने एक ट्वीट में कहा कि उन्होंने घटना पर पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया से रिपोर्ट मांगी है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-maulvi-arrested-for-conversion-of-hindu-girls-4327135/

पाक में 2 हिंदू लड़कियों को अगवा कर धर्मांतरण के मामले में सुषमा स्वराज और फवाद चौधरी के बीच छिड़ा ट्वीट वॉर


लाहौर। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में दो बीते शुक्रवार होली के मौके पर दो हिन्दू लड़कियों को अगवा कर धर्मांतरण कराने का मामला अब गर्माता जा रहा है। भारत के विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के राज्य सूचना अधिकारी फवाद चौधरी के बीच सोशल मीडिया ट्वीटर पर युद्ध छिड़ गया है। सुषमा स्वराज ने इस मामले पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा है कि मैंने केवल इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त से दो नाबालिग हिन्दू लड़कियों के अपहरण कर जबरन धर्म परिवर्तन कराने के बारे में रिपोर्ट मांगी है। यह आपको चिड़चिड़ा बनाने के लिए काफी था, जो कि केवल आपके दोषयुक्त मानसिकता को दर्शाता है। इससे पहले सुषमा स्वराज ने इस घटना के संबंध में एक मीडिया रिपोर्ट को संलग्न करते हुए ट्वीट किया ' पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया से इस मामले पर रिपोर्ट भेजने को कहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस मामले की जांच के निर्देश जारी कर चुके हैं।'

सुषमा स्वराज के ट्वीट से बौखलाए फवाद चौधरी

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के ट्वीट से बौखलाए पाकिस्तान के राज्य सूचना अधिकारी फवाद चौधरी ने रिप्लाई करते हुए जवाब दिया है। फवाद चौधरी ने लिखा 'मै़म, यह पाकिस्तान का आंतरिक मसला है और लोगों को भरोसा है कि यह मोदी का भारत नहीं है जहां अल्पसंख्यकों पर नियंत्रण रखा गया है। यह इमरान खान का नया पाक है, जहां हमारे झंडे का सफेद रंग हम सबको समान रूप से प्यारा है। मैं उम्मीद करता हूं कि जब भारतीय अल्पसंख्यकों के अधिकारों की बात आएगी तब भी इसी तत्परता से आप कार्रवाई करेंगीं।’ इसके बाद एक दूसरे ट्वीट का जवाब देते हुए फवाद चौधरी ने लिखा 'महोदया, मुझे इस बात की खुशी है कि भारतीय प्रशासन में हमारे पास ऐसे भी लोग हैं जो अन्य देशों में अल्पसंख्यक अधिकारों की परवाह करते हैं। मुझे पूरी उम्मीद है कि आपका विवेक भी आपको अपने घर में अल्पसंख्यकों के लिए खड़ा होने की अनुमति देगा जैसा कि हमने किया है। गुजरात और जम्मू के लिए आपकी आत्मा पर ज्यादा भार पड़ना चाहिए।'

क्या है पूरा मामला

दरअसल होली के पर्व पर बीते शुक्रवार शाम को सिंध के घोटकी जिले से पाकिस्तान में रहने वाली दो हिंदू लड़कियों का अपहरण कर जबरन उनका धर्मांतरण कर मुस्लिम बनाने का मामला सामने आया था। इस घटना की वजह से हिंदू समुदाय ने बड़े पैमाने पर विरोध दर्ज कराया और अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की। मामला बढ़ता देख पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संज्ञान लेते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार को इस मामले में जांच आदेश दिए। बता दें कि कराची से पाकिस्तान हिंदू सेवा वेलफेयर ट्रस्ट के अध्यक्ष संजेश धंजा के अनुसार दो बहनों-13 वर्ष की रवीना और 15 वर्ष की रीना का कथित तौर पर अपहरण करके शादी के बाद उन्हें इस्लाम कबूल करवा दिया गया है। पाकिस्तान ट्रस्ट के मुखिया का आरोप है कि अल्पसंख्यक समुदाय के सड़क पर उतरने के बाद भी पुलिस ने केवल एफआईआर दर्ज की है। उसने मामले को बिल्कुल भी गंभीरता से नहीं लिया है। गौरतलब है कि 2018 में चुनाव अभियान के दौरान इमरान ने अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा की बात कही थी। इससे पहले 13 साल की इसाई बच्ची का अपहरण करके 6 फरवरी को उसकी शादी करवाकर इस्लाम कबूल करवा लिया गया था।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/tweet-war-start-between-sushma-swaraj-and-favad-chaudhary-in-the-case-of-conversion-of-2-hindu-girls-in-pak-4326191/

हिंदू लड़कियों के अपहरण मामले में इमरान ने दिए जांच के आदेश


लाहौर। प्रधानमंत्री इमरान खान ने सिंध में दो हिंदू लड़कियों के अपहरण कर उनकी जबरन शादी कराने के मामले में संज्ञान लिया है। उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार को इस मामले में जांच आदेश दिए हैं। पीएम ने कहा कि अगर यह रिपोर्ट सही है तो अपहृत लड़कियों की जल्द बरामदगी की जाए। राज्य सूचना अधिकारी फवाद चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सिंध और पंजाब की सरकारों को भी इस मामले के बारे में एक आम रणनीति तैयार करने और भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय ध्वज में सफेद रंग देश में अल्पसंख्यकों का प्रतिनिधित्व करता है और वह अपने सभी रंगों से प्यार करते हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय ध्वज का संरक्षण हमारा राष्ट्रीय कर्तव्य है।

पाकिस्तान दिवस: पाक सेना ने अपने हथियारों का प्रदर्शन किया, देखें तस्वीरें

अपहरण करके जबरन शादी कबूल कराया

कराची से पाकिस्तान हिंदू सेवा वेलफेयर ट्रस्ट के अध्यक्ष संजेश धंजा के अनुसार दो बहनों-13 वर्ष की रवीना और 15 वर्ष की रीना का कथित तौर पर अपहरण करके शादी के बाद उन्हें इस्लाम कबूल करवा दिया गया है। पाकिस्तान ट्रस्ट के मुखिया का आरोप है कि अल्पसंख्यक समुदाय के सड़क पर उतरने के बाद भी पुलिस ने केवल एफआईआर दर्ज की है। उसने मामले को बिल्कुल भी गंभीरता से नहीं लिया है। गौरतलब है कि 2018 में चुनाव अभियान के दौरान इमरान ने अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा की बात कही थी। इससे पहले 13 साल की इसाई बच्ची का अपहरण करके 6 फरवरी को उसकी शादी करवाकर इस्लाम कबूल करवा लिया गया।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/imran-ordered-inquiry-of-kidnapping-of-hindu-girls-4322872/

पाकिस्तान में होली खेल रही बहनों का किया अपहरण, जबरन कबूल करवाया इस्लाम, कराई शादी


लाहौर। होली के पर्व पर शुक्रवार शाम को सिंध के घोटकी जिले से पाकिस्तान में रहने वाली दो हिंदू लड़कियों का अपहरण कर लिया गया और जबरन उनका धर्मांतरण कर मुस्लिम बनाया। इस घटना की वजह से हिंदू समुदाय ने बड़े पैमाने पर विरोध दर्ज कराया है। उन्होंने अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की। उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को उनका अल्पसंख्यकों के प्रति आश्वासन याद दिलाया।

अपहरण करके शादी कबूल करा दिया

कराची से पाकिस्तान हिंदू सेवा वेलफेयर ट्रस्ट के अध्यक्ष संजेश धंजा के अनुसार दो बहनों-13 वर्ष की रवीना और 15 वर्ष की रीना का कथित तौर पर अपहरण करके शादी के बाद उन्हें इस्लाम कबूल करवा दिया गया है। पाकिस्तान ट्रस्ट के मुखिया ने आरोप है कि अल्पसंख्यक समुदाय के सड़क पर उतरने के बाद भी पुलिस ने केवल एफआईआर दर्ज की है। उसने मामले को बिल्कुल भी
गंभीरता से नहीं लिया है।

इमरान खान को उनका वादा याद दिलाया

हाल ही में इमरान खान ने ट्वीट कर कहा था कि जैसा भारत में हो रहा है उससे उलट नया पाकिस्तान में हम यह सुनिश्चित करेंगे कि हमारे अल्पसंख्यकों को समान नागरिक माना जाए। इस ट्वीट ने विवाद खड़ा कर दिया था। गवर्नमेंट पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज में राजनीतिक विज्ञान के सहायक प्रोफेसर और विभागाध्यक्ष अंजुम जेम्स पॉल ने जबरन होने वाले धर्मांतरण और नाबालिग इसाई और हिंदू बच्चियों की शादी को बंद करने पर जोर देते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को अल्पसंख्यकों के अधिकारों के होते उल्लंघन के खिलाफ खड़े होने को कहा। उन्होंने खान को उनका वादा याद दिलाया। गौरतलब है कि 2018 में चुनाव अभियान के दौरान इमरान ने अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा की बात कही थी। इससे पहले 13 साल की इसाई बच्ची का अपहरण करके 6 फरवरी को उसकी शादी करवाकर इस्लाम कबूल करवा लिया गया।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-two-hindu-sister-are-kidnap-forced-to-accept-islam-4319531/

पाकिस्तान: धूमधाम से मनाया जा रहा है नेशनल डे, इमरान खान के भाषण में रही भारत की चर्चा


इस्लामाबाद। पाकिस्तान दिवस 2019 पूरे देश में पारंपरिक उत्साह और हर्ष के साथ मनाया जा रहा है। इस मौके पर राजधानी इस्लामाबाद को दुल्हन की तरह सजाया गया है। बता दें कि पाकिस्तान दिवस 23 मार्च, 1940 को लाहौर प्रस्ताव पारित करने की याद में मनाया जाता है। इसी दिन अखिल भारतीय मुस्लिम लीग ने ब्रिटिश भारतीय साम्राज्य के मुसलमानों के लिए एक अलग राष्ट्र की मांग की थी। इस मौके पर पीएम इमरान खान के भाषण में 'भारत के आतंक' की चर्चा अधिक रही। इस बात से पता चलता है कि ताजा एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान किस कदर खौफ में है।

चीन: टूरिस्ट बस में आग लगने से 26 की मौत, 28 घायल

पाकिस्तान डे की धूम

दिन की शुरुआत इस्लामाबाद में 31 तोपों की सलामी के साथ हुई। प्रांतीय राजधानियों में 21 तोपों की सलामी के साथ पाकिस्तान डे का स्वागत किया गया। इस मौके पर लाहौर में डॉ अल्लामा इकबाल की समाधि पर गार्ड ऑफ ऑनर समारोह भी आयोजित किया गया। पाकिस्तान वायु सेना की टुकड़ियों ने इकबाल के मकबरे पर गार्ड ऑफ ऑनर पेश किया। इस्लामाबाद में पाकिस्तान दिवस की सैन्य परेड शकरपेरियन पहाड़ियों के पास परेड ग्राउंड में आयोजित की जा रही है। परेड में नागरिक और सैन्य नेतृत्व के साथ-साथ विदेशी गणमान्य लोग भी शामिल हुए।

पीएम और प्रेसिडेंट ने दी बधाई

नेशनल डे के मौके पर पीएम इमरान और प्रेसिडेंट अल्वी ने जनता को बधाई दी। बता दें कि नेशनल डे परेड में सेनाध्यक्ष जनरल क़मर जावेद बाजवा, चीफ़ जॉइंट चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ कमेटी जनरल ज़ुबैर, रक्षा मंत्री परवेज खट्टक और प्रधानमंत्री इमरान खान समेत कई नेता पहुंचे। गुरुवार को पाकिस्तान की तीन दिवसीय यात्रा पर आए मलेशिया के प्रधानमंत्री महाथिर मोहम्मद इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। प्रधानमंत्री इमरान खान और राष्ट्रपति डॉ आरिफ अल्वी ने पाकिस्तान दिवस पर दिए गए अलग-अलग संदेशों में कायदे आजम मुहम्मद अली जिन्ना द्वारा दिए गए सच्चे इस्लामिक कल्याणकारी राज्य के लक्ष्य को प्राप्त करने की आवश्यकता पर बल दिया। प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि सरकार एक ऐसे समाज की स्थापना करने के लिए कृतसंकल्प है जहां हर व्यक्ति सामाजिक-आर्थिक विकास में अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता के लिए योगदान दे सकता है।

पाकिस्तान: नेशनल डे पर पीएम मोदी ने पाक की जनता को दी बधाई, इमरान खान ने किया स्वागत

फिर छेड़ा कश्मीर का मुद्दा

पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस पर भी पीएम इमरान खान अपनी हरकतों से बाज नहीं आए। उन्होंने एक बार कश्मीर का मुदा उछाल दिया। देश को दिए अपने संबोधन में इमरान खान ने कहा, "हमें कश्मीरी लोगों को नहीं भूलना चाहिए जो लंबे समय से भारत और भारतीय सेना के आतंक का शिकार हैं।" उधर राष्ट्रपति अल्वी ने कहा कि पाकिस्तान ने चरमपंथ और आतंकवाद की चुनौतियों को पार कर लिया है। उन्होंने स्वीकार किया कि सामाजिक और आर्थिक मोर्चों पर अभी तक प्रयास नहीं किए गए थे। उन्होंने हालांकि सीधे कश्मीर का जिक्र नहीं किया लेकिन यह कहा कि भारत की बढ़ती ताकत से मुकाबला करना अनिवार्य है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-day-is-being-celebrated-today-4317231/

पाकिस्तान: नेशनल डे पर पीएम मोदी ने पाक की जनता को दी बधाई, इमरान खान ने किया स्वागत


इस्लामाबाद। भारत-पाकिस्तान के बीच मौजूदा समय में बिगड़ते माहौल के बीच एक ऐसा वाकया सामने आया है जिसको लेकर राजनीति शुरू हो गई है। दरअसल 23 मार्च यानी शनिवार को पाकिस्तान राष्ट्रीय दिवस मनाएगा, जिसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक संदेश में पाकिस्तान की जनता को बधाई दी है। इसको लेकर अब विपक्ष ने जहां पीएम नरेंद्र मोदी को निशाना बनाना शुरू कर दिया है वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पीएम मोदी के संदेश को एक पहल के तौर प्रचारित कर रहा है। बता दें कि पाकिस्तान हर वर्ष 23 मार्च को राष्ट्रीय दिवस मनाता है लेकिन इस बार एक दिन पहले 22 मार्च को मनाया।


इमरान खान ने पीएम मोदी के संदेश को किया ट्वीट

बता दें कि इमरान खान ने एक ट्वीट करते हुए लिखा है कि पीएम मोदी ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस पर जनता को बधाई दी है। इमरान ने ट्वीट करते हुए लिखा कि पीएम नरेंद्र मोदी की ओर एक मैसेज मिला है जिसमें नरेंद्र मोदी पाकिस्तान की जनता को शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि लोकतांत्रिक, शांतिपूर्ण और सौहार्दपूर्ण माहौल के लिए उप महाद्वीप के लोग एक साथ आएं, जहां हिंसा और आतंक के लिए कोई जगह ना हो। उन्होंने आगे लिखा पीएम मोदी का हमारे लोगों के लिए भेजे संदेश का मैं स्वागत करता हूं। मुझे विश्वास है कि पाक राष्ट्रीय दिवस के अवसर पर हम दोनों देश मिलकर बातचीत के रास्ते आगे बढ़ने की शुरूआत कर सकते हैं और हर मुद्दे पर बहस कर समाधान निकाल सकते हैं। इमरान ने आगे कहा कि मुख्य रूप से कश्मीर मामले को सुलझा कर अपने नागरिकों के साथ शांति और समृद्धि के संबंधों को आगे बढ़ाएं। हालांकि इस संदेश के बारे में सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाक के राष्ट्रीय दिवस पर केवल अन्य देश के राष्ट्राध्यक्ष के नाम औपचारिकता के तहत भेजे हैं। लेकिन इमरान खान ने इस संदेश को दक्षिण एशिया को आतंकमुक्त करने के महत्व के रूप में प्रचारित कर रहा है।


सरकार ने कार्यक्रम में शामिल नहीं होने का किया फैसला

बता दें कि पाक के राष्ट्रीय दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में भारत सरकार ने शामिल नहीं होने का फैसला किया। सरकार ने कहा कि दिल्ली उच्चायोग और इस्लामाबाद में भारतीय दूतावास की ओर से कोई भी प्रतिनिधि शामिल नहीं होगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत सरकार ने शुक्रवार को होने वाले पाकिस्तान राष्ट्रीय दिवस समारोह में किसी भी प्रतिनिधि को नहीं भेजने का फैसला किया है। इससे पहले भारत में पाकिस्तानी उच्चायुक्त सोहेल महमूद ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस की पूर्व संध्या पर कहा कि विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई, दोनों उच्चायुक्तों की अपने अपने मिशनों में वापसी और करतारपुर कॉरिडोर पर द्विपक्षीय बातचीत सही दिशा में कदम हैं। बता दें कि पाकिस्तान हर वर्ष 23 मार्च को राष्ट्रीय दिवस मनाता है।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pm-modi-congratulates-the-people-of-pakistan-on-national-day-imran-khan-welcomes-4316911/

जेल में बंद नवाज शरीफ से मिलने पहुंचा परिवार, इमरान सरकार पर लगाए गंभीर आरोप


लाहौर। जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के परिवार वालों ने उनसे कोट लखपत जेल में मुलाकात की और उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंता व्यक्त की। शरीफ (69) बीते साल दिसंबर से जेल में बंद हैं। नवाज को अल-अजीजिया स्टील मिल्स भ्रष्टाचार मामले में सात साल की सजा हुई है।

डॉक्टरों के साथ पहुंचा था परिवार

नवाज के भाई और विपक्ष के नेता शहबाज शरीफ मां शमीम बीबी, नवाज की बेटी मरियम और निजी डॉक्टर अदनान के साथ जेल पहुंचे। ‘पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज’ (पीएमएल-एन) के प्रमुख की बेटी मरियम ने मुलाकात के बाद ट्वीट किया कि लगातार सीने में दर्द के कारण वह अस्वस्थ हैं।

नवाज किसी से मुलाकात नहीं करेंगे

रिपोर्ट के अनुसार नवाज के रक्त शर्करा और रक्तचाप का परीक्षण भी किया गया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पार्टी का कोई अन्य नेता उनसे मिलने नहीं पहुंचा। उनकी बेटी मरियम ने कुछ समय पहले घोषणा की थी कि खराब स्वास्थ्य के कारण नवाज किसी से मुलाकात नहीं करेंगे। पीएमएल-एन के अन्य नेता हालांकि जेल के बाहर एकत्रित हुए और नारेबाजी भी की। नवाज से मिलने के बाद उनकी मां ने उनके मुश्किल समय के जल्द खत्म होने की उम्मीद जाहिर की।

इमरान सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने सरकार पर आरोप लगाया है कि वह जान-बूझकर दिल से जुड़ी उनकी बीमारी के इलाज में रोड़े अटका रही है। शरीफ के भाई एवं पीएमएल-एन अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने कहा कि तीन बार प्रधानमंत्री रहे शरीफ की जिंदादिली बनी हुई है, लेकिन उन्हें अब भी जल्द इलाज की जरूरत है।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/the-family-to-meet-nawaz-sharif-in-prison-blame-on-imran-4316347/

पाकिस्तान का हास्यास्पद आरोप, भारत ने न्यूजीलैंड आतंकी हमले को कमतर आंका


इस्लामाबाद। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पिछले सप्ताह जुमे की नमाज के दौरान क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में हुए हमलों में भारत के रुख को लेकर नाखुशी जाहिर की है। मुस्लिमों को निशाना बनाकर किए श्वेत वर्चस्ववादी आतंकवादी हमले पर भारत के रुख की आलोचना करते हुए पाकिस्तान ने कहा कि भारत ने इस हमले की 'ठीक से निंदा' नहीं की है। शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि भारत ने इस हमले को कमतर आंका है।

पाकिस्तानी विदेश मंत्री का हास्यास्पद आरोप

आपको बता दें कि न्यूजीलैंड में अर्ध-स्वचालित हथियारों से लैस एक श्वेत हमलावर द्वारा भारतीय मूल के 6 लोगों समेत 50 लोगों को मार गिराया गया था। हमलावर ने शुक्रवार की जुमे की नमाज के दौरान दो मस्जिदों में गोलियां चलाईं। हमलावर ने इस हमले को सोशल मीडिया में भी टेलीकॉस्ट किया था। दोनों मस्जिदों में 15 मार्च के नरसंहार की खबर फैलते ही दुनिया के नेताओं ने इस हमले की कड़े शब्दों में निंदा की। भारत ने भी अपने विदेश मंत्रालय के जरिये इस हमले की निंदा की थी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी क्राइस्टचर्च में मस्जिदों पर हुए इस आतंकवादी हमले की निंदा की थी। अब पाकिस्तान का कहना है कि भारत ने इस हमले की निंदा की लेकिन कहीं भी मुस्लिमों पर हमले का जिक्र नहीं किया।

भारत ने ठीक से हमले की निंदा नहीं की

पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बीजिंग की तीन दिवसीय यात्रा के दौरान पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि नई दिल्ली में "मुस्लिम 'या' मस्जिद 'शब्दों का इस्तेमाल करने की हिम्मत नहीं थी। कुरैशी यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि अगर किसी मंदिर पर हमला होता तो एपाकिस्तान भारत के साथ खड़ा होता।अपनी चीन यात्रा के बारे में चर्चा करते हुए कुरैशी ने कहा कि बीजिंग एक बार फिर संकट के समय में पाकिस्तान का बहुत अच्छा दोस्त साबित हुआ। उन्होंने कहा, "पाकिस्तान को चीन पर पूरा भरोसा है। चीन ने हाल ही में भारत-पाक संकट में जो भूमिका निभाई है, उससे यह भरोसा कायम हुआ है।"


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-criticises-india-s-condemnation-of-new-zealand-terror-attack-4315136/

पाकिस्तान में भी मनाया जा रहा है रंगों का त्योहार, इमरान सहित कई नेताओं ने हिंदू समुदाय को दी बधाई


इस्लामाबाद। रंगों का त्योहार होली आज हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। भारत के अलावा यह पर्व पूरी दुनिया में मनाया जा रहा है। पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी आज होली की धूम है। इस मौके पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और अन्य कई नेताओं ने हिंदुओं को बधाई दी है। इन नेताओं ने पाकिस्तान के हिंदू समुदाय को सुखद एवं शांतिपूर्ण होली की शुभकामनाएं दीं।

पाकिस्तान में भी मनाई जा रही है होली

पाकिस्तान में गुरुवार को जमकर होली मनाई जा रही है। लोग सड़कों पर निकलकर एक दूसरे को रंग और अबीर गुलाल लगा रहे हैं। एक दूसरे के घरों में जाकर लोग होली की मुबारकबाद दे रहे हैं। आपको बता दें कि यूं तो होली हिन्दू समुदाय का पर्व है, लेकिन पाकिस्तान के मुस्लिम समुदाय के लोग भी होली मनाने में पीछे नहीं है। हिन्दू और मुस्लिम दोनों जमकर होली मना रहे हैं। एक दूसरे को अबीर और गुलाल लगाकर लोग होली की शुभकामनाएं दे रहे हैं। हालांकि कुछ कटटरपंथी संगठनों ने होली के त्योहार का बहिष्कार किया है, लेकिन इसी लोगों के उत्साह में कोई कमी नहीं आई है।

नेताओं ने दी होली की बधाई

होली के मौके पर पाकिस्तान के नेताओं में बधाई संदेश देने का तांता लग गया। इमरान खान ने होली को लेकर एक ट्वीट किया।उन्‍होंने पाकिस्‍तान में रह रहे हिंदुओं को बधाई देते हुए कहा," रंगों के त्‍योहार होली की बहुत बहुत शुभकामनाएं।" पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी ने ट्वीट कर हिंदू समुदाय को होली की बधाई दी। सिलसिला यहीं नहीं रुका, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भी हिंदू समुदाय के लिए शांति, खुशी और समृद्धि की कामना की। मुहाजिर कौमी मूवमेंट के नेता अलताफ हुसैन ने भी सभी हिंदुओं को होली की बधाई दी है।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन के अध्यक्ष व विपक्ष के नेता शहबाज शरीफ ने भी होली के पावन पर्व पर देश के हिंदू समुदाय को शुभकामनाएं दीं।

इन संदेशों में सबसे भावुक संदेश बिलावल भुट्टो जरदारी का है। उन्होंने लिखा, "मेरे हिंदू भाई-बहनों को होली की मुबारकबाद, आओ सब मिलकर इस खुशी के मौके पर शांति का संदेश फैलाएं।"


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/holi-is-being-celebrated-in-pakistan-4312116/

समझौता ब्लास्ट केस: सभी आरोपियों के बरी होने पर बौखलाया पाक, भारत का करारा जवाब


इस्लामाबाद। बीते एक दशक से समझौता ब्लास्ट केस मामले में बुधवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की पंचकूला विशेष अदालत ने एक बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट के इस फैसले के बाद से पाकिस्तान भड़क गया है। दरअसल एनआईए की विशेष कोर्ट ने बुधवार को सुनवाई करते हुए सबूतों के अभाव में सभी आरोपियों को बरी कर दिया। इसको लेकर अब पाकिस्तान के विरोध जताया है।

पाकिस्तान ने जताया विरोध

बता दें कि फैसला आने के बाद पाकिस्तान सरकार ने फौरन इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायुक्त को बुलाया और आरोपियों को बरी किए जाने के मामले में विरोध दर्ज कराया। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारत के हाई कमिश्नर के खिलाफ इस मामले को विरोध स्वरूप उठाया गया है। हालांकि भारत ने भी कड़ा जवाब देते हुए यह साफ कर दिया कि भारत की न्यायिक प्रक्रिया पारदर्शी है। सभी आरोपियों को सबूतों और साक्ष्यों के आधार पर ही बरी किया गया है। भारत ने साफ कर दिया कि पाकिस्तान खुद इस मामले में सहयोग नहीं कर रहा था। जब भारत ने समन भेजा तो पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने उसे वापस भेज दिया था।

पाकिस्तान: चर्चा के दौरान विधायक ने दिया हिन्दू विरोधी बयान, अल्पसंख्यक सदस्यों ने सदन से किया वॉकआउट

क्या है पूरा मामला

बता दें कि 18 फरवरी 2007 को हरियाणा के पानीपत के पास समझौता एक्सप्रेस ट्रेन में बम विस्फोट हुआ था। इस घटना में 68 लोग मारे गए थे। जिसमें से पाकिस्तान के 43, भारत के 10 भारतीय और 15 अज्ञात लोग शामिल थे। इस मामले में 2007 से केस की सुनवाई चल रही थी। इसके बाद इस केस में पहली बार 2011 में चार्जशीट फाइल की गई। हालांकि इसके बाद 2012 और 2013 में भी सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की गई थी। फिर NIA की अदालत ने जनवरी 2014 में असीमानंद, कमल चौहान, राजिंदर चौधरी और लोकेश शर्मा के खिलाफ आरोप तय किए। इन सभी पर हत्या, देशद्रोह, हत्या, हत्या की कोशिश, आपराधिक साजिश के आरोप थे। बुधवार को सुनवाई के दौरान अदालत ने पाकिस्तान की एक महिला राहिल वकील की याचिका को खारिज कर दिया। कोर्ट ने राहिला की याचिका सीआरसीपीसी की धारा 311 के तहत खारिज कर दिया और फिर सभी अपना फैसला सुनाया। राहिला ने अपनी याचिका में कहा था कि वह गवाही देना चाहती है, लेकिन उसे गवाही देने का अवसर नहीं दिया गया। इसपर कोर्ट ने कहा कि एनआईए की ओर से जिन 13 गवाहों के नाम सौंपे गए हैं उसमें राहिला का नाम नहीं है। बता दें कि इस घटना में राहिला के पिता की मौत हो गई थी।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/samjhota-express-case-all-the-accused-were-acquitted-then-pakistan-to-be-angry-india-responds-strongly-4311938/

पाकिस्तान: सदन में विधायक ने दिया हिन्दू विरोधी बयान, विरोध में अल्पसंख्यक सदस्यों ने किया वॉकआउट


पेशावर। पाकिस्तान में इसी महीने कुछ दिन पहले हिन्दू समुदाय को लेकर अमर्यादित टिप्पणी करने वाले एक मंत्री को इमरान खान सरकार ने बर्खास्त कर दिया था। अब एक बार फिर से इसका असर सदन के अंदर भी देखने को मिला है। दरअसल पश्चिमोत्तर पाकिस्तान की एक प्रांतीय असेंबली में अल्पसंख्यक समुदायों का प्रतिनिधित्व करने वाले सदस्यों ने एक विधायक की कथित हिंदू विरोधी टिप्पणियों के विरोध में सदन से वॉकआउट कर दिया। बता दें कि खैबर पख्तूनख्वा प्रांतीय असेंबली के सदस्य शेर आजम वजीर ने पाकिस्तान में हिंदुओं और भारत के खिलाफ टिप्पणियां की। जिसको लेकर विधानसभा में सदस्यों ने आपत्ति जताई। इसमें से एक सदस्य रवि कुमार ने कहा कि भारत पाकिस्तान का दुश्मन है, लेकिव वह पाकिस्तान में रह रहे हिन्दू समुदाय को लेकर कोई भी बैर या शत्रुतापूर्ण रूख नहीं रखते हैं।

पाकिस्तान: नवाज शरीफ को बड़ा झटका, जमानत याचिका पर फैसला 26 मार्च तक टला

वजीर ने अपने बयान पर सफाई देते हुए मांगी माफी

बता दें कि हंगामा बढ़ते देख शेर आजम वजीर ने अपने बयान पर सफाई देते हुए माफी मांगी और कहा उनके बोलते का मतलब कुछ ओर था। उन्होंने कहा- उनके बयान का मतलब यह था कि भारत पाकिस्तान का शत्रु है, पाकिस्तान में रह रहे हिन्दुओं का नहीं। चर्चा के दौरान दिए गए इस बयान कोे सदन के अध्यक्ष मुश्ताक गनी ने वजीर के सदन की कार्यवाही से हटा दिया। बता दें कि खैबर पख्तूनख्वा की प्रांतीय असेंबली में अल्पसंख्यक समुदाय के तीन सदस्य हैं। मालूम हो कि इसी महीने के शुरूआती हफ्ते में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के सूचना मंत्री फैयाज उल हसन चौहान ने हिन्दू समुदाय को लेकर अमर्यादित टिप्पणी की थी, जिसको लेकर प्रधानमंत्री इमरान खान ने उन्हें पद से बर्खास्त कर दिया था।

 

Read the Latest Crime news in hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Crime samachar पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-the-anti-hindu-statement-given-by-the-legislator-during-the-discussion-minority-members-made-walks-from-the-house-4311791/

कंगाल हुआ पाकिस्तान, इमरान खान ने किया मंत्रालयों की संपत्ति बेचने का फैसला


इस्लामाबाद। पाकिस्तान बदहाली के कगार पर है। बीते कई सालों से एक एक पैसे को जूझ रहे पाकिस्तान में हालात दिन पर दिन बेकाबू होते जा रहे हैं। इमरान खान जब पाकिस्तान के पीएम बने थे तो उन्होंने देश को आर्थिक कंगाली के दौर से बाहर निकालने का वादा किया था। पहले उन्होंने पाकिस्तान के पीएम हाउस की गाड़ियां बेचीं , उसके बाद भैसों और हेलीकॉप्टरों की नीलामी हुई। पीएम इमरान ने चीन से लेकर यूएई तक के आगे मदद के लिए हाथ फैलाया लेकिन कुछ खास बात बनती नजर नहीं आ रही है। अब पाक कैबिनेट ने मंगलवार को देश की अपंग अर्थव्यवस्था को सहारा देने और अतिरिक्त राजस्व उत्पन्न करने के उद्देश्य से विभिन्न संघीय मंत्रालयों और संबद्ध विभागों की करोड़ों रुपये की संपत्ति बेचने का फैसला किया है।

मंत्रालयों की संपत्ति बेचने का फैसला

पाक कैबिनेट ने विभिन्न मंत्रालयों की संपत्ति बेचने का फैसला किया है। मीडिया के साथ बैठक का विवरण साझा करते हुए सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि सरकार ने संघीय मंत्रालयों और संबद्ध विभागों की संपत्ति और संपत्तियों को बेचने का फैसला किया है। उन सम्पत्तियों को बेचा जाएगा जो लंबे समय से उपयोग में नहीं है। उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री इमरान खान ने निपटान के लिए मंत्रालयों की संपत्तियों की सूची मांगी है। कई मंत्रालयों ने पहले ही अपनी सूचियों को अंतिम रूप दे दिया है और उन्हें संघीय कैबिनेट में भेज दिया गया है।"

कंगाल हुआ पाकिस्तान

पाकिस्तान सरकार ने सरकारी संगठनों के प्रमुखों की नियुक्ति के लिए प्रक्रियाओं को बदलने का भी फैसला किया। अब पाक संघीय मंत्रियों को उन्हें नियुक्त करने का अधिकार दिया। यह पूछे जाने पर कि उचित प्रक्रिया को अपनाए बिना सरकार अपनी संपत्ति कैसे बेच सकती है, चौधरी ने कहा कि सरकार ऐसी सभी संपत्तियों के निपटान के लिए एक समान नीति अपनाएगी। सूचना मंत्री ने कहा कि सरकारी संपत्ति बेचने के लिए सरकार के कुछ मंत्रियों के समिति बनाई गई। इन मंत्रियों में जुल्फी बुखारी, अली जैदी, मुराद सईद, अली अमीन गंडापुर और हम्माद अजहर शामिल हैं।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-cabinet-decides-to-sell-off-property-of-federal-ministries-4309141/

पाकिस्तान: नवाज शरीफ को बड़ा झटका, जमानत याचिका पर फैसला 26 मार्च तक टला


इस्लामाबाद। भ्रष्टाचार के मामले में जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को एक बार फिर से बड़ा झटका लगा है। दरअसल पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को नवाज शरीफ की जमानत याचिका की सुनवाई 26 मार्च तक के लिए टाल दिया है। बता दें कि नवाज शरीफ ने तबियत खराब होने का हवाला देकर इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ छह मार्च को जमानत याचिका दायर की थी। इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने 25 फरवरी को अल-अजीजिया स्टील मिल मामले में चिकित्सकीय आधार पर जमानत देने से इनकार करते हुए शरीफ की याचिका को खारिज कर दिया था। मालूम हो कि अल-अजीजिया स्टील मिल में भ्रष्टाचार करने का दोषी करार देते हुए 69 वर्षीय शरीफ को दिसंबर 2018 में जेल की सजा सुनाई गई थी। शरीफ लाहौर के कोट लखपत जेल में बंद हैं।

करतारपुर कॉरिडोर पर महबूबा मुफ्ती का बड़ा बयान, कहा-इस तरह के और भी गलियारे बनने चाहिए

तीन सदस्यीय पीठ ने सुनाया फैसला

बता दें कि मंगलवार को मुख्य न्यायाधीश आसिफ सईद खोसा की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने शरीफ की याचिका पर सुनवाई की। इस दौरान कोर्ट ने राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो को नोटिस जारी करते हुए यह आदेश दिया कि 26 मार्च को होने वाली अगली सुनवाई में जवाब दाखिल करें। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि जमानत पर फैसला भी उसी दिन आएगा। दूसरी तरफ सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष वकील ख्वाजा हैरिस ने चिकित्सकीय आधार पर फैसला देने की अपील की। उन्होंने कोर्ट को बताया कि तीन बार देश के प्रधानमंत्री रह चुके नवाज शरीफ को 17 अलग-अलग तरह की बीमारियां हैं, जिनका इलाज चल रहा है। सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने वकील से कहा कि हमें पता है कि नवाज शरीफ का इलाज लंदन में चल रहा है, पर यह जानना चाहते हैं कि क्या उनकी तबियत जेल में आने के बाद खराब हुई है? मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, चीफ जस्टिस ने सुनवाई के दौरान यह भी कहा कि लंदन में चल रहे मेडिकल जांच की रिपोर्ट पाकिस्तान के डॉक्टरों नहीं दिया गया है, इसलिए अदालत पहले पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज की रिपोर्ट देखेगी फिर कोई फैसला करेगी।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-a-major-blow-to-nawaz-sharif-decision-on-bail-plea-deferred-till-march-26-4308300/

पाकिस्तान: नवाज शरीफ ने मेडिकल आधार पर मांगी जमानत, सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज


इस्लामाबाद । भरष्टाचार के आरोप में जेल की सजा काट रहे पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ ने मेडिकल ग्राउंड पर जमानत की मांग की है। सुप्रीम कोर्ट आज दोपहर बाद इस मामले सुनवाई करेगा। नवाज शरीफ के परिवार का आरोप है कि प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार पूर्व प्रधानमंत्री को स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं दे रही है, जो पहले से काफी बीमार है और उन्हें गंभीर स्वास्थ्य जटिलताओं का सामना करना पड़ रहा है। नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज का कहना है कि शरीफ की मेडिकल हालत जानलेवा है।

चीन ने दिया पाकिस्तान को झटका, 26/11 मुंबई हमलों को बताया 'बेहद खौफनाक'

क्या मिलेगी जमानत !

पाकिस्तान सरकार के पूर्व प्रमुख ने अपने आवेदन की जल्द सुनवाई के लिए शीर्ष अदालत से दो बार अनुरोध किया है।पाकिस्तान सर्वोच्च न्यायालय मंगलवार को देश के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अपील पर सुनवाई करेगा। उम्मीद है कि दोपहर बाद उनकी याचिका पर सुनवाई होगी।नवाज शरीफ ने मेडिकल आधार पर जमानत की मांग कर रहे थे। 69 वर्षीय शरीफ दिसंबर 2018 से लाहौर की कोट लखपत जेल में अल-अजीजिया स्टील मिल्स भ्रष्टाचार मामले में सात साल की कैद की सजा काट रहे हैं। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) सुप्रीमो को पिछले सप्ताह दिल संबंधी कई दिक्क्तें थीं। उनकी बेटी मरियम के मुताबिक वह चार एनजाइना अटैक झेल चुके हैं।

राजनयिकों के उत्पीड़न को लेकर भारत ने पाकिस्तान से दर्ज कराया विरोध

बीमार हैं नवाज शरीफ

शरीफ परिवार शिकायत कर रहा है कि प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार पूर्व प्रधानमंत्री को स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं दे रही है, जिन्हें गंभीर स्वास्थ्य जटिलताएं हैं। शरीफ ने 6 मार्च को इस्लामाबाद हाई कोर्ट (IHC) के एक फैसले के खिलाफ अपील दायर की थी। इस अपील में 25 फरवरी को अल-अजीजिया स्टील मिल्स मामले में चिकित्सा आधार पर उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी गई थी । आज होने वाली सुनवाई में नवाज शरीफ को राहत मिलेगी या नहीं, इस पर सबकी नजर है। पीएमएल-एन के कई वरिष्ठ नेताओं के भी इस अवसर पर अदालत में आने की उम्मीद लगाई जा रही है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pakistan-sc-to-hear-nawaz-sharif-bail-appeal-on-medical-ground-4304693/

रहस्य बनी परवेज मुशर्रफ की बीमारी, दुबई के अस्पताल में भर्ती


दुबई। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ एक रहस्यमयी बीमारी के चलते अस्पताल में भर्ती कराए गए हैं। पूर्व सैन्य शासक और पाक के सेवानिवृत्त जनरल परवेज मुशर्रफ को एक दुर्लभ बीमारी के चलते दुबई में एक अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है। इस अस्पताल में वह पहले भी अपना इलाज करा चुके हैं। उनकी पार्टी और ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एपीएमएल) के महासचिव मेहरीन एडम मलिक ने कहा कि उनकी हालत अचानक बिगड़ने के बाद शनिवार रात पूर्व राष्ट्रपति को अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने कहा है कि अब मुशर्रफ को लम्बे समय तक अस्पताल में रहना पड़ सकता है।

परवेज मुशर्रफ बीमार

एपीएमएल ओवरसीज के अध्यक्ष अफ़ज़ल सिद्दीकी ने बताया कि मुशर्रफ को एमाइलॉइडोसिस नामक एक बीमारी हुई है। यह एक एक दुर्लभ स्थिति है। बताया जा रहा है कि पूर्व राष्ट्रपति पहले ही किसी बीमारी का इलाज अस्पताल में करा रहे थे। मुशर्रफ को शनिवार देर रात यहां भर्ती कराया गया था लेकिन रविवार देर रात तक उन्हें छुट्टी मिलने की उम्मीद है।" पार्टी के अनुसार पूर्व सैन्य शासक को डॉक्टरों द्वारा पूर्ण रूप से ठीक होने तक आराम करने की सलाह दी गई है। आपको बता दें कि पिछले साल अक्टूबर में पूर्व राष्ट्रपति मुशर्रफ को उनके नर्व सिस्टम को कमजोर होने के चलते अस्पताल में रखा गया था।

क्या है मुशर्रफ की बीमारी

मुशर्रफ को एमाइलॉयडोसिस की बीमारी है।इस बीमारी में टूटे हुए प्रोटीन कण शरीर के विभिन्न अंगों में जमा होने लगते हैं। इसके परिणामस्वरूप परवेज मुशर्रफ को खड़े होने और चलने में कठिनाई हो रही है। एपीएमएल अधिकारी ने कहा कि मुशर्रफ का इलाज पांच या छह महीने तक जारी रह सकता है। बताया जा रहा है कि अपने पूरी तरह ठीक होने पर मुशर्रफ का इरादा पाकिस्तान लौटने का है। बता दें कि मुशर्रफ को संविधान को निलंबित करने के लिए दोषी ठहराया गया था। हालांकि मार्च 2016 में इलाज के लिए उन्होंने पाकिस्तान छोड़ दिया और तब से वापस नहीं लौटे हैं।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/pakistan-news/pervez-musharraf-shifted-to-dubai-hospital-due-to-rare-disease-4300207/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Assam Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Study Material
Bihar
State Government Schemes
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Business
Astrology
Syllabus
Festival
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com