Patrika : Leading Hindi News Portal - Bangalore #educratsweb
HOME | LATEST JOBS | JOBS | CONTENTS | STUDY MATERIAL | CAREER | NEWS | BOOK | VIDEO | PRACTICE SET REGISTER | LOGIN | CONTACT US

Patrika : Leading Hindi News Portal - Bangalore

http://api.patrika.com/rss/bangalore-news 👁 4217

निजी बसों के लिए विशेष बस टर्मिनल बनाने की पहल


बेंगलूरु. मैजेस्टिक और सिटी मार्केट सहित शहर के कई क्षेत्रों में निजी बसों के बेतरतीब और अव्यस्थित पार्किंग के कारण आम लोगों को होने वाली परेशानी जल्द ही इतिहास बन सकती है, क्योंकि परिवहन विभाग को निजी बसों की पार्किंग के लिए विशेष टर्मिनल बनाने की भूमि मिल गई है।

सूत्रों के अनुसार परिवहन विभाग लम्बे अरस से निजी बसों के लिए विशेष टर्मिनलों के निर्माण का पक्षधर रहा है। विभाग की यह परिकल्पना जल्द ही साकार होने की संभावना बढ़ गई क्योंकि बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) ने सेंट्रल सिल्क बोर्ड, पीनिया और बैयप्पनहल्ली में निजी बस टर्मिनल बनाने के लिए भूमि आवंटित करने का मार्ग प्रशस्त किया है।


निजी बसों अव्यस्थित पार्किंग के कारण आए दिन कई सडक़ों पर जाम की नौबत आ जाती है और वाहन चालकों सहित आसपास के वाणिज्यिक और आवासीय क्षेत्र के लोगों की परेशानी बढ़ जाती है। इस संबंध में विभिन्न नागरिक संगठनों और शहरी परिवहन विशेषज्ञों ने कई बार सरकार से निजी बसों के लिए विशेष टर्मिनलों के निर्माण की मांग की। इसके अतिरिक्त निजी बसों के कारण सार्वजनिक परिवहन निमगों के बसों को भी परेशानी होती है। इसलिए परिवहन विभाग भी इसे क्रियान्वित करना चाहता है।


हाल ही में विभाग ने उन सडक़ों, रूट और बस अड्डों का सर्वेक्षण शुरू किया है जिन पर निजी बसों का सर्वाधिक आवागमन होता है। जनवरी के अंत तक विभाग पर अध्ययन रिपोर्ट आने की संभावना है।


राज्य के मुख्य सचिव ने भी परिवहन विभाग सहित बेंगलूरु मेट्रो रेल निगम लिमिटेड (बीएमआरसी एल) को कहा था कि निजी बस टर्मिनल निर्माण के लिए बैयप्पनहल्ली, सेंट्रल सिल्क बोर्ड और पीनिया स्थित जमीन का निरीक्षण करें। अगर निजी बस टर्मिनलों का निर्माण होता है तो शहर के कोर एरिया में ट्रैफिक जाम की बड़ी बाधा दूर हो जाएगी।


प्रवेश प्रतिबंध के बावजूद अराजकता
सेंट्रल बिजनेस डिस्ट्रिक्ट (सीबीडी) में निजी बसों के प्रवेश पर प्रतिबंध के नियमों के बावजूद यातायात संबंधी अराजकता व्याप्त है। बीबीएमपी, बेंगलूरु विकास प्राधिकरण (बीडीए), यातायात पुलिस, शहरी भूमि परिवहन निदेशालय और अन्य सरकारी एजेंसियों के अधिकारियों वाली एक समिति का गठन किया गया है जो इस प्रतिबंध के प्रभावी क्रियान्वयन की रूपरेखा तय करेंगे।


मजबूरी में बंद करना पड़ा पीनिया बस डिपो
निजी बसें मैजेस्टिक से चलने के कारण केएसआरटीसी को भी परेशानी झेलनी पड़ी है। वर्ष २०१४ में केएसआरटीसी ने ३९.२५ करोड़ रुपए की लागत से बने पीनिया बस डिपो से हुब्बल्ली, हासन, बल्लारी, होसपेट, शिवमोग्गा, तुमकूरु आदि रूटों के लिए १०२१ बस शेड्यूल की शुरुआत की थी। पीनिया बसवेश्वर बस डिपो को विशेष सुविधाओं से युक्त किया गया, जिसमें वाणिज्यिक परिसर, पार्किंग सुविधा, सुसज्जित शौचालय, अग्रिम आरक्षण बुकिंग काउंटर, कैंटीन, सामान रखने वाले कमरे, प्रतीक्षालय और विश्राम कक्ष शामिल हैं।

केएसआरटीसी ने जब अपनी बस सेवाओं को पीनिया स्थानांतरित किया तो यात्रियों ने केएसआरटीसी के बदले निजी बसों को प्राथमिकता देनी शुरू कर दी क्योंकि निजी बसें पूर्ववत मैजेस्टिक से चल रही थीं। मजबूरी में केएसआरटीसी ने पीनिया डिपो बंद कर दिया और अब करोड़ों की लागत का डिपो बेकार पड़ा है। माना जा रहा है कि जब निजी बसों को पीनिया सहित अन्य बाहरी क्षेत्रों में टर्मिनल बनाकर रोका जाएगा तब पीनिया बस डिपो के दिन फिरेंगे।

शहर में नहीं होगा निजी बसों का प्रवेश
तीनों प्रस्तावित टर्मिनलों के निर्माण के बाद निजी बसों का शहर के भीतर प्रवेश बंद हो जाएगा। बैयप्पनहल्ली, सेंट्रल सिल्क बोर्ड और पीनिया शहर के तीन हिस्सों में हैं और प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्गों से जुड़े हैं। ऐसे में राज्य तथा पड़ोसी राज्यों से आने वाली निजी बसें बाहरी क्षेत्र में ही रुक जाएंगी और निजी बसों के कारण होने वाली पार्किंग और जाम की समस्या दूर हो जाएगी। विशेषकर चामराजपेट, टीपू सुल्तान रोड, कलासिपाल्या मार्केट, आनंद राव सर्कल आदि से हर दिन खुलने वाली सैंकड़ों बसों को शहर के बाहर ही रोका जा सकेगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/initiatives-to-make-special-bus-terminals-for-private-buses-4010318/

सात साल बाद जारी होंगे 10 हजार ऑटो रिक्शा परमिट


बेंगलूरु. ऑटो रिक्शा परमिट की बाट जोह रहे लोगों के लिए नया वर्ष बड़ी खुशखबरी लेकर आया है। परिवहन विभाग ने दस हजार नए ऑटो रिक्शा परमिट जारी करने की मंजूरी दी है, इसमें ५००० इलेक्ट्रिक जबकि ५००० सीएनजी ऑटो रिक्शा परमिट शामिल होंगे। नए परमिट की एक और खासियत होगी कि इस बार ५०० परमिट को दोनों श्रेणियों में महिलाओं के लिए आरक्षित किया गया है।


क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए) के चेयरमैन एवं बेंगलूरु शहरी जिला उपायुक्त विजय शंकर के अनुसार ऑटो रिक्शा चालाकों को पहले आओ पहले पाओ के आधार पर नए परमिट जारी होंगे। ऑटो चालकों की ओर से लम्बे समय से नए परमिट जारी करने की मांग की जा रही है। पिछली बार वर्ष-२०११ में परमिट जारी हुए थे।

विभाग के अनुसार नए परमिट मार्च २०१९ तक जारी कर दिए जाएंगे। इसके अतिरिक्त अगले पांच वर्षों के दौरान २५,००० नए एलपीजी-सीएनजी परमिट जारी होंगे। विभाग का यह निर्णय राज्य की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की बजटीय घोषणा के अनुरूप है जिसमें तत्कालीन मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने रोजगार सृजन के मकसद से ३० हजार नए ऑटो रिक्शा परमिट जारी करने की घोषणा की थी। आरटीए ने पर्यावरण हितैषी परिवहन सेवाओं को प्रोत्साहन देने के लिए ५००० इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा परमिट जारी करने की योजना बनाई है।

इलेक्ट्रिक वाहनों को भविष्य का वाहन बताते हुए इसकी शुरूआत का निर्णय किया गया है। विभाग का कहना है कि इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा परमिट जारी होने से इलेक्ट्रिक वाहनों की व्यहार्यता एवं चुनौतियों का भौतिक परीक्षण भी स्पष्ट हो जाएगा, भविष्य में सभी ऑटो रिक्शा को इलेक्ट्रिक ऑटो में बदलने की कार्ययोजना को अंतिम रूप देने में सहायता मिलेगी।


महिलाओं के लिए विशेष छूट
परिमट जारी करने में महिलाओं को स्वाबलंबी बनाने पर भी ध्यान दिया गया है। इसलिए ५०० परमिट महिलाओं के लिए आरक्षित करने का प्रावधान किया गया है। विभाग के इस निर्णय के बाद निकट भविष्य में बेंगलूरु की सडक़ों पर महिलाएं भी ऑटो रिक्शा चलाती दिख सकती हैं। वहीं बीबीएमपी की ओर महिला सशक्तिकरण की दिशा में ऑटो रिक्शा खरीदने की इच्छुक महिलाओं को ८० हजार रुपए की छूट दी जाएगी।


बंद हो जाएगा टू-स्ट्रोक ऑटो रिक्शा
परिवहन आयुक्त वीपी इक्केरी ने हाल ही में कहा है वर्ष-२०२० तक शहर में सभी टू-स्ट्रोक ऑटो रिक्शा को पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा। मौजूदा समय में इस प्रकार के करीब २० हजार ऑटो रिक्शा का परिचालन हो रहा है। सरकार की ओर से कहा गया कि जो टू-स्ट्रोक वाहन मालिक अपने वाहन को कबाड़ करेंगे और उसके बदले इलेक्ट्रिक वाहन को अपनाएंगे उन्हें सरकार की ओर से ३० हजार रुपए की छूट मिलेगी।

१.२५ लाख परमिट लेकिन १.९४ लाख ऑटो
परिवहन विभाग के आंकड़ों के अनुसार बेंगलूरु में १.२५ लाख परमिट जारी किए हैं जबकि शहर में १.९४ लाख ऑटो रिक्शा का पंजीकृत हैं। पंजीयन और परमिट के अंतर के कई कारण बताए जाते हैं। इसमें पुराने वाहनों के लिए लिया गए परमिट को नए वाहनों के लिए उपयोग करना। शहर के बाहर पंजीकृत वाहनों का शहर में इस्तेमाल करना प्रमुख है।


परमिट कालाबाजारी पर लगेगी रोक
जानकारों के अनुसार नए परमिट जारी करने का निर्णय परमिट कालाबाजरी को भी रोकेगा। ऑट्रो रिक्शा चालकों का कहना है कि लम्बे समय से परमिट जारी होने के कारण अवैध रूप से परमिट बेचने की घटनाएं होती थी। दलालों द्वारा परमिट स्थानांतरण के लिए ७० हजार रुपए तक लिए जाते हैं कि जबकि परमिट की मूल कीमत मात्र ५०० रुपए है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/10-000-auto-rickshaw-permits-will-be-issued-after-seven-years-4010154/

पानी की बर्बादी रोकने में बोर्ड को मिली 37 प्रतिशत सफलता


बेंगलूरु. जल संकट से परेशान रहने वाले बेंगलूरुवासियों के लिए अब ज्यादा पानी मिल सकेगा। ज्यादा पानी मिलने की संभावना के पीछे मूल कारण पानी की बर्बादी रोकने में बेंगलूरु जलापूर्ति एवं सीवेज बोर्ड (बीडब्ल्यूएसएसबी) को सकारात्मक सफलता मिली है।

बोर्ड के अनुसार मौजूदा वित्त वर्ष में शहर में पानी की बर्बादी रोकने में बड़ी सफलता हासिल हुई। बोर्ड चेयरमैन तुसार गिरिनाथ के अनुसार मौजूदा वर्ष में बेहिसाबी पानी की मात्रा ३७ प्रतिशत तक कम हुई है। इससे न सिर्फ पानी की बर्बादी कम हुई है बल्कि बोर्ड के राजस्व में भी रेकॉर्ड वृद्धि दर्ज हुई है और पिछले महीने ११३ करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ।


उन्होंने कहा कि वर्ष-२०१३ में १६४ करोड़ रुपए से बेहिसाबी पानी को रोकने की परियोजना शुरू की गई थी। इसका मकसद उस पानी की बर्बादी को रोकना था जो पाइप लाइन के लीकेज और पुराने पाइपलाइन के कारण हो रहा था। पिछले वर्षों के दौरान इसमें सकारात्मक सफलता मिली और अब तक तय लक्ष्य का ४८ प्रतिशत हासिल किया जा चुका है। परियोजना के तहत १०० मिमी डायामीटर वाली पुरानी पाइपों को बदला गया और पुरानी पाइपों में सभी दरारों और छेदों को बंद करने का मरम्मत किया गया। इसके अतिरिक्त अवैध पानी कनेक्शन वालों पर भी कार्रवाई की गई जिससे पानी की बर्बादी रोकने में सफलता मिली है।


नए क्षेत्रों में पहुंचा पानी
बीडब्ल्यूएसएसबी द्वारा पानी बचत का फायदा आम जनता को भी मिल रहा है। बोर्ड के अनुसार शहर के बाहरी क्षेत्रों के ३५ गांवों में अब पेयजल आपूर्ति शुरू की गई है जबकि कुल १०० गांवों तक पानी पहुंचाने की योजना है।


चूंकि पानी की बर्बादी रोकी गई है इसलिए नए क्षेत्रों तक पानी पहुंचाने में सफलता मिल रही है। वहीं पुराने क्षेत्रों में लोगों को ज्यादा बेहतर तरीके से पानी मिलने का मार्ग प्रशस्त हो रहा है।

अस्तित्व में आएगा कावेरी जलापूर्ति स्टेज-५
बेंगलूरु. बीडब्ल्यूएसएसबी ने कावेरी जलापूर्ति परियोजना, स्टेज-५ के लिए परामर्श कंपनियों के चयन को अंतिम रूप दिया है। इसमें तीन जापानी कंपनियों सहित भारत की ओरिएंटल कंसल्टेंसी ग्लोबल, एनजेएस इंजीनियर्स प्राइवेट लिमिटेड, ब्लैक वीच और टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स फरवरी या मार्च तक निविदाएं जारी करेंगी। परामर्श कंपनियां वर्ष 2026 तक पूरे स्टेज-५ परियोजना के काम को अंतिम रूप देने के लिए जिम्मेदार होंगी। ५५०० करोड़ रुपए की परियोजा के तहत शहर की परिधि में पांच जमीनी स्तर के जलाशयों का निर्माण होगा जो गोट्टीगेरे, काडुगोडी, चोक्कहल्ली, सिंगापुरा और लिंगदेवरहल्ली में बनेंगी।

स्टेज-५ की परियोजना से कावेरी बेसिन से २९ टीएमसी पानी प्रति वर्ष हासिल करने का लक्ष्य भी पूरा हो जाएगा। बीडब्ल्यूएसएसबी के एक इंजीनियर ने कहा, स्टेज-५ के पूरा होने पर बेंगलूरु में जलापूर्ति की मात्रा ७७५ एमएलडी (मिलियन लीटर प्रति दिन) बढ़ जाएगी जो मौजूदा समय में १४०० एमएलडी है। वर्ष २०२२ तक इसके चालू होने का लक्ष्य है और तब शहर को २१७५ एमएलडी पानी मिलने लगेगा। स्टेज-५ से शहर के बाहरी क्षेत्रों के ११० गांवों में जलापूर्ति सुनिश्चित करने में सफलता मिलेगी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/board-achieves-37-percent-success-in-preventing-waste-of-water-4010138/

घर-घर पहुंचाएंगे कांग्रेस का संदेश


बेंगलूरु. कांग्रेस की प्रदेश प्रचार समिति के नव नियुक्त अध्यक्ष व पूर्व मंत्री एच.के. पाटिल ने शुक्रवार को पदभार संभाल लिया। पाटिल ने कहा कि पार्टी को मजबूत बनाकर राज्य में घर-घर कांग्रेस का संदेश पहुंचाया जाएगा।

पैलेस मैदान में शुक्रवार को आयोजित पदभार ग्रहण समारोह में उन्होंने कहा कि कुछ लोग पूछ रहे हैं कि कांग्रेस ने पिछले 60 वर्षों में क्या किया है, लेकिन यह उनके अज्ञान की पराकाष्ठा है। कांग्रेस मुक्त भारत का नारा देने वाले लोग भविष्य में स्वयं ही विलुप्त हो जाएंगे। कांग्रेस के त्याग व बलिदानों से देश सुदृढ़ हुआ और पार्टी के शासनकाल में देश की प्रगति हुई है। इससे पहले प्रचार समिति के पूर्व अध्यक्ष डी.के. शिवकुमार ने पाटिल को पार्टी का ध्वज सौंपा।

उन्होंने कहा कि प्रचार समिति के अध्यक्ष पद पर रहते अच्छा काम करने से वे संतुष्ट हैं और उन्होंने पार्टी द्वारा मिली जिम्मेदारी का बखूबी निर्वाह किया, अब पाटिल यह कार्य देंखेंगे। कांग्रेस पार्टी निष्ठावान लोगों को पद व पहचान देती है और मंच पर बैठे अनेक नेता इसका प्रमाण हैं। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि भाजपा के नेता गुरुग्राम में 104 विधायकों के नजरबंद कर गठबंधन सरकार को गिराने के प्रयास कर रहे हैं।


16 जनवरी को दिल्ली में हुई बैठक में प्रधानमंत्री की मौजूदगी में आपरेशन कमल पर चर्चा हुई। प्रधानमंत्री मोदी हमारे विधायकों व कार्यकर्ताओं को डराने धमकाने की कोशिश कर रहे हैं। उपमुख्यमंत्री जी. परमेश्वर ने कहा कि भाजपा के नेता ‘आपरेशन कमल-2’ के अभियान पर निकले हैं और हमारे विधायकों को प्रलोभन दे रहे हैं। लोकतांत्रिक व्य्वस्था के तहत इस तरह की हरकतें करना शर्मनाक है।


कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धरामय्या ने कहा कि मोदी सरकार ने जनता से किया एक भी वादा पूरा नहीं किया है। भाजपा के नेता झूठ को सच बनाने पर तुले रहते हैं पर हम सच बोलने में डरते नहीं हैं। मैंने विकास के मसले पर एक मंच पर आकर बहस करने के लिए चुनौती दी लेकिन उनके पास बहस करने का दम नहीं है। भाजपा को डूबता हुआ जहाज बताते हुए उन्होंने विधायकों को इस जहाज में सवार नहीं होने की अपील की। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गूंडुराव, कार्यकारी अध्यक्ष ईश्वर खंड्रे, बीके हरिप्रसाद, एम.वी. राजशेखरन आदि नेता उपस्थित रहे।

मोदी के इशारे पर विधायक खरीदने का प्रयास : वेणुगोपाल
प्रदेश कांग्रेस प्रभारी के.सी. वेणुगोपाल ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इशारे पर राज्य की गठबंधन सरकार को अस्थिर करने के लिए कांग्रेस के विधायकों की खरीद-फरोख्त का प्रयास किया, जो पूरी तरह से विफल हो गया है। भाजपा के विधायक पिछले एक सप्ताह से दिल्ली में हैं। उनका वहां पर क्या काम है? इस बारे में कोई सवाल नहीं उठा रहा है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/congress-message-to-be-sent-home-4010125/

पिछले दो दिनों में करीब 130 विमानों का आवागमन बाधित


बेंगलूरु. मौसम के बदले तेवर के कारण पिछले एक सप्ताह के दौरान सैकड़ों हवाई यात्रियों को मुसीबत झेलनी पड़ी है। केम्पेगौड़ा हवाई अड्डे (केआइए) पर १२ जनवरी से १८ जनवरी के बीच कोहरे के कारण २०९ विमानों का आवागमन बाधित हुआ।


शुक्रवार सुबह भी केआइए पर कोहरे का सफेद चादर फैली रही, जिस कारण ६७ विमानों के आवागमन में बाधित हुआ। इसके बेंगलूरु से उड़ान भरने वाली ४५ विमान और आगमन वाले २१ विमान शामिल रहे जबकि एक कार्गो विमान को डायवर्ट करना पड़ा। तडक़े एक घंटे से ज्यादा समय तक केआइए से किसी प्रकार की विमान आवाजाही नहीं हुई। वहीं गुरुवार को भी ६२ विमानों का परिचालन बाधित हुआ था।


केआइए सूत्रों के अनुसार २०९ बाधित विमानों में १२४ प्रस्थान विमान थे जबकि ७५ आगमन वाले थे। इस दौरान बेंगलूरु में उतरने वाले दस विमानों को हैदराबाद और चेन्नई हवाई अड्डों के लिए डायवर्ट किया गया। डायवर्ट विमानों में ब्लूडार्ट के तीन कार्गो विमानों को चेन्नई जबकि शेष सात इंडिगो के यात्री विमान थे जिन्हें हैदराबाद भेजा गया।


बेंगलूरु में नवंबर से फरवरी के बीच कोहरे का समय माना जाता है। हालांकि अपने सदाबहार मौसम के लिए मशहूर बेंगलूरु में सामान्यत: ठंड के दिनों घना कोहरा ना के बराबर देखा जाता है।


विशेषकर शहर के अंदरूनी क्षेत्रों में धुंध के कारण वाहनों की आवाजाही प्रभावित नहीं होती है, लेकिन केआइए के बाहरी क्षेत्र में होने और विमान परिचालन के लिए दृश्यता का दायरा ज्यादा होने के कारण कोहरे से विमानों का आवागमन प्रभावित होता है।


विमानों के उड़ान भरने या उतरने के लिए दृश्यता की आदर्श मानक स्थिति २.५ किलोमीटर है। कोहरे के कारण यह दायरा कम जाता है और हवाई यात्रियों को मुसीबत झेलनी पड़ती है। हालांकि केआइए पर बने रहे टर्मिनल-२ में कैटेगरी-३ इंस्ट्रुमेंटल लैंडिंग प्रणाली स्थापित की जा रही है, जिसके बाद दृश्यता स्थिति ५० मीटर होने पर भी विमान परिचालन बाधित नहीं होगा। मौजूदा समय में देश में सिर्फ दिल्ली, चंडीगढ़, कोलकाता, जयपुर और अमृतसर हवाई अड्डों पर यह सुविधा है।

दावणगेरे रहा राज्य में सबसे ठंडा
मौसम विभाग के अनुसार राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम शुष्क बना हुआ है। शुक्रवार को दावणगेरे राज्य में सबसे ठंडा रहा और न्यूनतम तापमान १०.३ डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। वहीं, बेंगलूरु में अधिकतम तापमान २८ डिग्री सेल्सियस जबकि न्यनूतम तापमान १३ डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा। हालांकि दिन के समय तेज धूप होने के कारण ठंड मौसम खुशनुमा बना रह रहा है, लेकिन रात और सुबह के समय न्यनूतम तापमान में गिरावट से ठंड बढ़ जा रही है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/traffic-of-nearly-130-aircraft-blocked-in-the-last-two-days-4010107/

धारवाड़ साहित्य संभ्रम में नागरिकता पर तीखी बहस


धारवाड़. धारवाड़ साहित्य संभ्रम के दूसरे दिन शनिवार को राष्ट्रीयता और नागरिकता पर तीखी बहस हुई। समकालीन विषयों पर वरिष्ठ विचारक डॉ. शिवविश्वनाथन के विचार पेश करते ही सभी ने कड़ी आपत्ति व्यक्त की जिससे कुछ देर तक माहौल तनावपूर्ण हो गया।

भाषण की शुरुआत में ही शिवविश्वनाथन ने कहा कि पहले वे इस बात का खुलासा करेंगे कि वे एक एंटी नेशनलिस्ट हैं। हम 19वीं सदी में अंग्रेजों की ओर से बनाई राष्ट्रीयता को ही 21वीं सदी में भी हम अपना रहे हैं जो सही नहीं है। समय बदलने के साथ परिकल्पनाएं भी बदलती हैं। नागरिकता के विषय में भारत को विशाल भूमिका निभानी चाहिए। राष्ट्रीयता नामक सीमित दृष्टिकोण के पीछे पडऩे के बजाए लोकसत्तात्मक तौर पर सवालों को पूछने, विश्लेषण, समीक्षा करने की आदत को विकसित करने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीयता प्रशासन, देश की नागरिकता तथा सीमा सुरक्षा के मुद्दों के बीच ही घूमती रहती है परन्तु भारत की राष्ट्रीयता कल्पना तक सीमित रह गई है। अधिक से अधिक संवाद होने पर ही हमारे इतिहास के बारे में कई आयामों की कहानी कहने के जरिए बहुत्व तथा विविधता को समझने की जरूरत है।

शिवविश्वनाथन ने एक संस्मरण सुनाते हुए कहा कि पाकिस्तान का दौरा कर वापस लौटने के दौरान वहां की जनता ने पटना के लिए एक पार्सल दिया। उन घटनाओं को याद करते हुए शिवविश्वनाथन ने कहा कि बातचीत या संवाद खुलकर होना है तो बंदिशें लगाना सही नहीं है। पाकिस्तान तथा भारत के बीच की सीमाएं खुलनी चाहिए। शांति स्थापना के लिए इस पहल को शायद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोबल पुरस्कार भी शायद मिल सकेगा।

इतने में उपस्थित लोगों ने डॉ. शिवविश्वनाथन के बयान का विरोध कर कहा कि आप केवल एक ही छोर (पक्ष) की विचारधारा प्रस्तुत कर रहे हैं। शांति स्थापित करने के लिए दोनों ओर के लोगों को स्वीकार करना चाहिए। कश्मीरी पंडि़तों की स्थिति के बारे में आप क्यों बात नहीं कर रहे हैं।


संवाद के निर्देशक रंगकर्मी केवी अक्षर ने हस्तक्षेप कर बात जारी रखने की सुविधा की। शिवविश्वनाथन की भाषण समाप्त होते ही और अधिक विरोध व्यक्त हुए। भारतीय सेना की ओर से दुष्कर्म करने के बयान का एक सेवा निवृत्त सैनिक ने सिरे से खारिज किया। लेखिका नीता श्रीनिवास ने कश्मीरी पंडि़तों, मुम्बई हमला, गजऩी का हमला, मुगाल काल के बारे में बात करने की शिवविश्वनाथन से मांग की।


गणेश देविदत पटनायिक ने कहा कि इस सम्मेलन का उद्देश्य ही खुल कर चर्चा करने के लिए मौका देना है। पक्ष-विपक्ष में संवाद होना चाहिए। इसके लिए खुलकर अपने पक्ष को रखने वाले सभी का आभार है कहकर वाद-विवाद को खत्म किया।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/poor-debate-on-citizenship-in-dharwad-literature-confusion-4010094/

संगीत के माध्यम से ही विश्व में समरसता संभव : हंसलेखा


बेंगलूरु. विभिन्न धर्म, समुदाय, जातियों, भाषाओं वाले विश्व को संगीत एक सूत्र में पिरो सकता है। संगीत के माध्यम से विश्व में समरसता संभव है। यह कहना है संदलवुड के मशहूर संगीतकार हंसलेखा का।

शुक्रवार को तीन दिवसीय संगीत उत्सव के उद्घाटन समारोह में उन्होंने कहा कि युद्ध, आतंकवाद जैसी समस्याओं से जूझ रही दुनिया को संगीत ही राहत दिला सकता है। युवा प्रतिभाओं को संगीत क्षेत्र में सक्रिय रहने के लिए अभिभावकों तथा समाज को प्रोत्साहित करना होगा।

तीन दिवसीय इस संगीत महोत्सव में कर्नाटक संगीत, हिंदुस्थानी संगीत, लोक संगीत समेत विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा। 20 जनवरी को संगीत क्षेत्र की पांच शख्सियतों को कर्नाटक संगीत संघ के वार्षिक पुरस्कारों से सम्मानित किया जाएगा। पुरस्कार के लिए गायिका बी.के. सुमित्रा, दोड्ड रंगेगौड़ा, प्रवीण गोडखिंडे आदि का चयन किया गया है।


उन्नत कृषि तकनीक अपनाएं किसान
बीदर. कृषि विभाग के सहायक निदेशक एम.ए. अन्सारी की अध्यक्षता में निदेशक कार्यालय में तालुका कृषि समाज की बैठक रखी गई। बैठक में इजराइल की तर्ज पर कृषि पद्धति को बढ़ावा देने के संबंध में गहन चर्चा की गई। अंसारी ने किसानों से उन्नत कृषि तकनीक अपनाने का आह्वान किया।


बैठक में यह भी चर्चा की गई कि तालुका कृषि समाज के लिये बीदर तालुका में खुद की इमारत नहीं है। इमारत निर्माण करने के लिये खाली जगह उपलब्ध कराने के लिये एपी.एम.सी. के अधिकारी को अपील पत्र देने के बारे में बैठक में फैसला लिया गया। बोरवेल रिचार्ज करने के विधान संबंधी किसानों में जागृति लाने के लिये वर्कशाप आयोजित करने की बात कार्यकारी सदस्यों ने बताई। बेंगलूर में होने वाले सावयव तथा सिरिधान्य मेले में भाग लेने के लिए सभी कार्यकारी सदस्यों को सूचित किया गया।


बैठक में अकाल के हालात पर भी चर्चा की गई। कृषि विभाग के सहायक निदेशक ने अपील की कि मनरेगा योजना के संबंध में अधिक प्रचार करके अकाल की स्थिति में तालुक के मजदूरों को काम मुहैया कराने में सहायक बने।
तालुका कृषि समाज के अध्यक्ष सिद्धरामय्या स्वामी, उपाध्यक्ष महेश चिंतामणी, सदस्य दयानंद स्वामी शिवय्या स्वामी, संजीवकुमार वैजनाथ बुय्या, अनिल अंटगे, शंकरप्पा पाटील, मछलीपालन विभाग के वीरभद्रप्पा, कृषि विभाग के पांडुरंग पाटील सहित अन्य उपस्थित थे।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/music-is-possible-only-through-the-music-hanselaka-4010079/

उन्नत कृषि तकनीक अपनाएं किसान


बीदर. कृषि विभाग के सहायक निदेशक एम.ए. अन्सारी की अध्यक्षता में निदेशक कार्यालय में तालुका कृषि समाज की बैठक रखी गई। बैठक में इजराइल की तर्ज पर कृषि पद्धति को बढ़ावा देने के संबंध में गहन चर्चा की गई। अंसारी ने किसानों से उन्नत कृषि तकनीक अपनाने का आह्वान किया।

बैठक में यह भी चर्चा की गई कि तालुका कृषि समाज के लिये बीदर तालुका में खुद की इमारत नहीं है। इमारत निर्माण करने के लिये खाली जगह उपलब्ध कराने के लिये एपी.एम.सी. के अधिकारी को अपील पत्र देने के बारे में बैठक में फैसला लिया गया। बोरवेल रिचार्ज करने के विधान संबंधी किसानों में जागृति लाने के लिये वर्कशाप आयोजित करने की बात कार्यकारी सदस्यों ने बताई। बेंगलूर में होने वाले सावयव तथा सिरिधान्य मेले में भाग लेने के लिए सभी कार्यकारी सदस्यों को सूचित किया गया।


बैठक में अकाल के हालात पर भी चर्चा की गई। कृषि विभाग के सहायक निदेशक ने अपील की कि मनरेगा योजना के संबंध में अधिक प्रचार करके अकाल की स्थिति में तालुक के मजदूरों को काम मुहैया कराने में सहायक बने।
तालुका कृषि समाज के अध्यक्ष सिद्धरामय्या स्वामी, उपाध्यक्ष महेश चिंतामणी, सदस्य दयानंद स्वामी शिवय्या स्वामी, संजीवकुमार वैजनाथ बुय्या, अनिल अंटगे, शंकरप्पा पाटील, मछलीपालन विभाग के वीरभद्रप्पा, कृषि विभाग के पांडुरंग पाटील सहित अन्य उपस्थित थे।


देश की अखंडता बनाए रखने में युवाओं की भूमिका अहम
बल्लारी. देश की एकता व अखंडता बनाए रखने में युवाओं की भूमिका अहम है। ये विचार राष्ट्रीय युवा योजना दिल्ली के निदेशक डॉ. एसएन सुब्बराव ने व्यक्त किए। वे शहर के कित्तूर रानी चेन्नम्मा बालिका माध्यमिक विद्यालय में आयोजित बच्चों के राज्यस्तरीय एकता सम्मेलन के उद्घाटन के दौरान बोल रहे थे। कार्यक्रम भारत सेवादल की ओर से आयोजित किया गया था।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों में नेतृत्व के गुण विकसित करने के लिए डॉ. एनएस हर्डीकर ने भारत सेवादल की स्थापना की। विद्यार्थियों को सेवादल का सदस्य बनकर देश सेवा में अग्रसर होना चाहिए। विद्यार्थी भविष्य में उच्च अधिकारी, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री या अन्य लोकप्रतिनिधि बन सकते हैं।

उन्होंने कहा कि जो बिना भ्रष्टाचार के लोक सेवा के प्रति समर्पित रहता है वही सच्चा देशभक्त बन सकता है। सेवादल केंद्र समिति के प्रधान सचिव एमवी देवीप्रसाद ने कहा कि भारत सेवादल संस्थान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के संरचित कार्यक्रमों को क्रियान्वित करने की दिशा में कार्य रही है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/farmers-adopt-advanced-agricultural-techniques-4010068/

देश की अखंडता बनाए रखने में युवाओं की भूमिका अहम


बल्लारी. देश की एकता व अखंडता बनाए रखने में युवाओं की भूमिका अहम है। ये विचार राष्ट्रीय युवा योजना दिल्ली के निदेशक डॉ. एसएन सुब्बराव ने व्यक्त किए। वे शहर के कित्तूर रानी चेन्नम्मा बालिका माध्यमिक विद्यालय में आयोजित बच्चों के राज्यस्तरीय एकता सम्मेलन के उद्घाटन के दौरान बोल रहे थे।

कार्यक्रम भारत सेवादल की ओर से आयोजित किया गया था। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों में नेतृत्व के गुण विकसित करने के लिए डॉ. एनएस हर्डीकर ने भारत सेवादल की स्थापना की।

विद्यार्थियों को सेवादल का सदस्य बनकर देश सेवा में अग्रसर होना चाहिए। विद्यार्थी भविष्य में उच्च अधिकारी, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री या अन्य लोकप्रतिनिधि बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि जो बिना भ्रष्टाचार के लोक सेवा के प्रति समर्पित रहता है वही सच्चा देशभक्त बन सकता है। सेवादल केंद्र समिति के प्रधान सचिव एमवी देवीप्रसाद ने कहा कि भारत सेवादल संस्थान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के संरचित कार्यक्रमों को क्रियान्वित करने की दिशा में कार्य रही है।
इस अवसर पर सेवादल के राज्य अध्यक्ष एचएम गुरुसिद्दस्वामी, गांधीभवन के सचिव टीजी विट्ठल, दलपति चंद्रशेखर सहित सेवादल के कई प्रमुख उपस्थित थे।

युवाओं ने की श्मशान की सफाई
बल्लारी. पिछले दो महीनों से युवाओं की एक टीम बिना किसी प्रचार के श्मशान साफ कर रही है। युवा कंटीली झाडिय़ों को हटाकर इनके स्थान पर पेड़ लगा रहे हैं।


शहर के तालूरु मार्ग पर रेणुका नगर के निकट स्थित श्मशान में कंटीली झाडिय़ां उगी थीं। मृतकों को दफनाने के बाद मृतकों के परिजन समाधि पर मृतक के नाम का पैनल अवश्य लगाते परंतु श्मशान को साफ करने की दिशा में कोई अग्रसर नहीं हुआ। कुल मिलाकर श्मशान कंटीली झाडिय़ों का अड्डा बना था। अंतिम संस्कार के वक्त मृतकों के परिजन अपनी आवश्यकतानुसार जगह साफ कर शव को दफनाते थे।


बीते सात महीनों से आत्मसंतुष्टि नामक स्वयंसेवकों की टीम के सदस्य श्मशान को साफ कर वहां पर हरियाली प्रदान करने वाले पेड़ लगा रहे हैं। शहर के मेदार केतय्या के निवासी रेवण्णा बीते तीन सालों से जगह-जगह पर पेड़ लगाने का कार्य कर रहे हैं। श्मशान के हालात देख सफाई के प्रति अग्रसर हुए रेवण्णा को उनके साथियों का भी साथ मिला। रेवण्णा को इस सामाजिक कार्य में बीएच रामकृष्णा,श्रीनिवास, शेक्षावली, रघु, हनुमंत, मारुति, कृष्णा, बाबू, नागराज, प्रहलाद सहित कईयों ने मदद की । रेवण्णा व उसके साथियों ने सफाई के लिए हर रविवार सुबह ७ से ९ बजे तक समय निकाल कर कंटीली झाडिय़ों को काटकर जलाया।


बीते सप्ताह से पेड़ लगाने का कार्य चल रहा है। रेवण्णा का कहना है कि वे हर रविवार अपने साथियों के साथ मिलकर १५ पेड़ लगाते हैं व हर दूसरे दिन पेड़ों को सींचते हैं। रेवण्णा व उनकी टीम में शामिल सदस्य कहते हैं कि वे श्मशान को सुंदर उद्यान बनाना चाहते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/role-of-youth-in-maintaining-the-integrity-of-the-country-4010052/

देहदान के बारे में प्रचलित अंधविश्वास हों दूर


सिरसी-कारवार. कारवार के सरकारी कला तथा विज्ञान कॉलेज में अंगदान जागृति कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन महाराष्ट्र के सांगली जिले के अंगदाता प्रमोद लक्ष्मण महाजन ने किया। वे बाइक से १८ राज्यों का दौरा कर १० हजार कि.मी. की दूरी तय करेंगे। यह यात्रा उन्होंने २१ अक्टूबर २०१८ को पुणे से शुरू की जो २६ जनवरी २०१९ को पुणे में खत्म होगी।


प्रमोद रिबर्थ फाउंडेशन नामक संस्थान के स्वयंसेवक हैं। देश भर की यात्रा में इन्हें राज्य सरकार तथा संगठनों, संस्थानों का सहयोग मिल रहा है। गुरुवार को कारवार के सरकारी कला तथा विज्ञान कालेज पहुंचे प्रमोद लक्ष्मण महाजन ने अंगदान के महत्व के बारे में विस्तृत जानकारी दी। कार्यक्रम का उद्घाटन पौधों को सींचकर किया। उन्होंने कहा कि अंगदान अमूल्य है अत: वे अपनी किडनी योजना के तहत दान कर चुके हैं। अंग प्रत्यारोपण व देहदान के बारे में जो अंधविश्वास है उसे दूर करना चाहिए।


इस अवसर पर सरकारी कला व विज्ञान कॉलेज रेडक्रॉस विंग स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग तथा एनएसएस की ओर से प्रमोद लक्ष्मण महाजन का सम्मान किया गया। कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ. कल्पना केरवडी ने कहा कि यह एक विशेष कार्यक्रम है इसका लाभ सभी को उठाना चाहिए।


कार्यक्रम में अतिथि रहे जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी एसजी नायक ने अंगदान के बारे में जागरूकता फैलाने की आवश्यकता पर बल दिया। अतिथियों का स्वागत व संचालन प्राध्यापक डॉ. वी.वी. गिरी ने किया। अतिथियों का परिचय मनोज नायक ने करवाया। अंत में व्याख्याता डॉ. प्रीति तल्लूरु ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर एनएसएस अधिकारी प्रो. आईके नायक, प्रो. लोकेश उपस्थित थे। स्वागत गीत नागवेणी ने प्रस्तुत किया। इस अवसर पर उमेश शेट्टी, प्राध्यापक तथा विद्यार्थी उपस्थित थे। कार्यक्रम के बाद बाइक रैली निकाली गई।

युवाओं ने की श्मशान की सफाई
बल्लारी. पिछले दो महीनों से युवाओं की एक टीम बिना किसी प्रचार के श्मशान साफ कर रही है। युवा कंटीली झाडिय़ों को हटाकर इनके स्थान पर पेड़ लगा रहे हैं। शहर के तालूरु मार्ग पर रेणुका नगर के निकट स्थित श्मशान में कंटीली झाडिय़ां उगी थीं। मृतकों को दफनाने के बाद मृतकों के परिजन समाधि पर मृतक के नाम का पैनल अवश्य लगाते परंतु श्मशान को साफ करने की दिशा में कोई अग्रसर नहीं हुआ। कुल मिलाकर श्मशान कंटीली झाडिय़ों का अड्डा बना था। अंतिम संस्कार के वक्त मृतकों के परिजन अपनी आवश्यकतानुसार जगह साफ कर शव को दफनाते थे।


बीते सात महीनों से आत्मसंतुष्टि नामक स्वयंसेवकों की टीम के सदस्य श्मशान को साफ कर वहां पर हरियाली प्रदान करने वाले पेड़ लगा रहे हैं। शहर के मेदार केतय्या के निवासी रेवण्णा बीते तीन सालों से जगह-जगह पर पेड़ लगाने का कार्य कर रहे हैं। श्मशान के हालात देख सफाई के प्रति अग्रसर हुए रेवण्णा को उनके साथियों का भी साथ मिला। रेवण्णा को इस सामाजिक कार्य में बीएच रामकृष्णा,श्रीनिवास, शेक्षावली, रघु, हनुमंत, मारुति, कृष्णा, बाबू, नागराज, प्रहलाद सहित कईयों ने मदद की । रेवण्णा व उसके साथियों ने सफाई के लिए हर रविवार सुबह ७ से ९ बजे तक समय निकाल कर कंटीली झाडिय़ों को काटकर जलाया।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/removed-prevalent-superstitions-about-the-family-4010040/

युवाओं ने की श्मशान की सफाई


बल्लारी. पिछले दो महीनों से युवाओं की एक टीम बिना किसी प्रचार के श्मशान साफ कर रही है। युवा कंटीली झाडिय़ों को हटाकर इनके स्थान पर पेड़ लगा रहे हैं। शहर के तालूरु मार्ग पर रेणुका नगर के निकट स्थित श्मशान में कंटीली झाडिय़ां उगी थीं। मृतकों को दफनाने के बाद मृतकों के परिजन समाधि पर मृतक के नाम का पैनल अवश्य लगाते परंतु श्मशान को साफ करने की दिशा में कोई अग्रसर नहीं हुआ। कुल मिलाकर श्मशान कंटीली झाडिय़ों का अड्डा बना था। अंतिम संस्कार के वक्त मृतकों के परिजन अपनी आवश्यकतानुसार जगह साफ कर शव को दफनाते थे।


बीते सात महीनों से आत्मसंतुष्टि नामक स्वयंसेवकों की टीम के सदस्य श्मशान को साफ कर वहां पर हरियाली प्रदान करने वाले पेड़ लगा रहे हैं। शहर के मेदार केतय्या के निवासी रेवण्णा बीते तीन सालों से जगह-जगह पर पेड़ लगाने का कार्य कर रहे हैं। श्मशान के हालात देख सफाई के प्रति अग्रसर हुए रेवण्णा को उनके साथियों का भी साथ मिला। रेवण्णा को इस सामाजिक कार्य में बीएच रामकृष्णा,श्रीनिवास, शेक्षावली, रघु, हनुमंत, मारुति, कृष्णा, बाबू, नागराज, प्रहलाद सहित कईयों ने मदद की । रेवण्णा व उसके साथियों ने सफाई के लिए हर रविवार सुबह ७ से ९ बजे तक समय निकाल कर कंटीली झाडिय़ों को काटकर जलाया।


बीते सप्ताह से पेड़ लगाने का कार्य चल रहा है। रेवण्णा का कहना है कि वे हर रविवार अपने साथियों के साथ मिलकर १५ पेड़ लगाते हैं व हर दूसरे दिन पेड़ों को सींचते हैं। रेवण्णा व उनकी टीम में शामिल सदस्य कहते हैं कि वे श्मशान को सुंदर उद्यान बनाना चाहते हैं।

भावगीते संजे कार्यक्रम में स्वरसरिता प्रवाहित
धारवाड़. डॉ. द.रा. बेंद्रे राष्ट्रीय स्मारक ट्रस्ट के तत्वावधान में साधनकेरी स्थित बेंद्रे भवन में शुक्रवार शाम भावगीते संजे नामक कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में जाने-माने गायक पंडित सिध्दरामय्या मठपति ने कई गीत प्रस्तुत किए। सिध्दरामय्या मठपति ने अंबिकातनयदत्त, सिद्दय्या पुराणिक, देवेंद्रकुमार हकारी तथा रंगराज वनदुर्ग विरचित गीतों की प्रस्तुति के जरिए स्वरसरिता प्रवाहित की। साथी कलाकार डॉ. अर्जुन वठार ने हार्मोनियम पर तथा अल्लमप्रभु कडकोल ने तबला पर साथ दिया। कार्यक्रम के प्रारंभ में ट्रस्ट के अध्यक्ष डॉ. डीएम हिरेमठ ने विचार व्यक्त किए। अंत में प्रकाश बालीकायी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर ट्रस्ट के सदस्य सचिव केएच चन्नूर, डॉ. राजप्पा दलवाई, प्रो. एजी सबरद, डॉ. संगमनाथ लोकापुर सहित कई उपस्थित थे।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/cleaning-of-cremation-of-youth-4010025/

भावगीते संजे कार्यक्रम में स्वरसरिता प्रवाहित


धारवाड़. डॉ. द.रा. बेंद्रे राष्ट्रीय स्मारक ट्रस्ट के तत्वावधान में साधनकेरी स्थित बेंद्रे भवन में शुक्रवार शाम भावगीते संजे नामक कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में जाने-माने गायक पंडित सिध्दरामय्या मठपति ने कई गीत प्रस्तुत किए।

सिध्दरामय्या मठपति ने अंबिकातनयदत्त, सिद्दय्या पुराणिक, देवेंद्रकुमार हकारी तथा रंगराज वनदुर्ग विरचित गीतों की प्रस्तुति के जरिए स्वरसरिता प्रवाहित की। साथी कलाकार डॉ. अर्जुन वठार ने हार्मोनियम पर तथा अल्लमप्रभु कडकोल ने तबला पर साथ दिया।

कार्यक्रम के प्रारंभ में ट्रस्ट के अध्यक्ष डॉ. डीएम हिरेमठ ने विचार व्यक्त किए। अंत में प्रकाश बालीकायी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर ट्रस्ट के सदस्य सचिव केएच चन्नूर, डॉ. राजप्पा दलवाई, प्रो. एजी सबरद, डॉ. संगमनाथ लोकापुर सहित कई उपस्थित थे।

कोई भी विधायक कांग्रेस छोड़ कर नहीं जाएगा
हुब्बल्ली. प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष के.ई. राधाकृष्ण ने विश्वास जताया है कि राज्य सरकार को कोई खतरा नहीं है। राज्य सरकार सुरक्षित है। कांग्रेस विधायक दल की बैठक में अनुपस्थित विधायक पार्टी छोड़ कर गए हैं यह कहना गलत है।
शहर के सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए राधाकृष्ण ने कहा कि विधायक दल की बैठक में अनुपस्थित चारों विधायक विभिन्न कारणों के चलते बैठक में भाग नहीं ले पाए हैं। वे कांग्रेस पार्टी छोडक़र नहीं जाएंगे।


उन्होंने कहा कि रिसॉर्ट की राजनीति भाजपा ने ही आरम्भ की है। हमारे विधायक रिसॉर्ट में हैं। उनके साथ पार्टी के वरिष्ठ नेता बजट संबंधी चर्चा कर रहे हैं। हमारे विधायक भाजपा वालों की तरह दूर नहीं गए हैं, बेंगलूरु में ही हैं।


भाजपा ने ही शुरू किया ऑपरेशन कमल
राधाकृष्ण ने कहा कि ऑपरेशन कमल का शिकार हुए किसी ने भी चुनाव नहीं जीता। आगामी लोकसभा चुनाव में 28 में से 20 क्षेत्रों में जीत हासिल करेंगे। भाजपा सरकार की सत्ता में ऋणभार 49 प्रतिशत बढ़ा है। मई में लोकसभा चुनाव के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूछने वाला तक कोई नहीं होगा। पीएम मोदी देश की जनता को बताएं कि वे कितने घंटे संसद में बैठे हैं।


मोदी को लोकतंत्र पर विश्वास नहीं है। संवाददाता सम्मेलन में धारवाड़ ग्रामीण जिला कांग्रेस अध्यक्ष अनिलकुमार पाटील, महानगर जिला कांग्रेस महासचिव रजत उल्लागट्टिमठ आदि उपस्थित थे।


जानलेवा है नशीली वस्तुओं का सेवन
धारवाड़. नशीली वस्तुओं का सेवन धीमे जहर के प्रभाव की तरह व्यक्ति को धीरे-धीरे खत्म कर देता है। युवा पीढ़ी को नशीली वस्तुओं के चंगुल में फंस कर अपनी जि़ंदगी को बर्बाद नहीं करना चाहिए।

ये विचार हुब्बल्ली -धारवाड़ महानगर पुलिस आयुक्त एमएन नागराज ने व्यक्त किए। वे शनिवार सुबह केई बोर्ड कालेज में आयोजित नशीले पदार्थ के लत विरोधी दिवस के अवसर पर बोल रहे थे। कार्यक्रम पुलिस विभाग की ओर से आयोजित किया गया था।

उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी पर देश को विकसित करने की जिम्मेदारी है। समाज के विकास में बाधा डालने वाली कुकर्म को हटाने में युवकों की भूमिका अहम है। आपराधिक मामलों से संबंधित शिकायतें थाने में अवश्य दर्ज करवानी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज की रक्षा करने की जिम्मेदारी जनता की भी है। पुलिस की वर्दी न होने के बावजूद भी पुलिस के अनुरूप ही जनता को भी समाज की रक्षा करने के प्रति अग्रसर रहना चाहिए।

पुलिस आयुक्त रविंद्र गडादी ने कहा कि नशे की लत से युवाओं की जिंदगी बर्बाद हो जाती है। नशीली वस्तुओं के सेवन, परिवहन व व्यापार जैसे मामले में गिरफ्तार होने पर युवकों को सरकारी या निजी क्षेत्र में नौकरी नहीं मिलती। क्षण भर के सुकून के लिए नशीली वस्तुओं की लत में फंसे विद्यार्थियों का जीवन बर्बाद हो जाता है। अतिथियों का स्वागत केई बोर्ड कॉलेज के प्राचार्य मोहन सिद्धांति ने किया। मंच पर पुलिस उपायुक्त बीएस नेमगौडा, सहायक पुलिस आयुक्त एमएन रुद्रप्पा, प्रोबेशनरी डीवाईएसपी रवि नायक उपस्थित थे। कार्यक्रम में सर्किल पुलिस इन्सपेक्टर (सीपीआई) महांतेश बसापुर, लक्ष्मीकांत तलवार सहित कई पदाधिकारी व विद्यार्थी उपस्थित थे। इस अवसर पर जागरूकता रैली भी निकाली गई।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/bhavgeeti-sanjay-program-floats-vowelism-4010007/

कोई भी विधायक कांग्रेस छोड़ कर नहीं जाएगा


हुब्बल्ली. प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष के.ई. राधाकृष्ण ने विश्वास जताया है कि राज्य सरकार को कोई खतरा नहीं है। राज्य सरकार सुरक्षित है। कांग्रेस विधायक दल की बैठक में अनुपस्थित विधायक पार्टी छोड़ कर गए हैं यह कहना गलत है।

शहर के सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए राधाकृष्ण ने कहा कि विधायक दल की बैठक में अनुपस्थित चारों विधायक विभिन्न कारणों के चलते बैठक में भाग नहीं ले पाए हैं। वे कांग्रेस पार्टी छोडक़र नहीं जाएंगे।

उन्होंने कहा कि रिसॉर्ट की राजनीति भाजपा ने ही आरम्भ की है। हमारे विधायक रिसॉर्ट में हैं। उनके साथ पार्टी के वरिष्ठ नेता बजट संबंधी चर्चा कर रहे हैं। हमारे विधायक भाजपा वालों की तरह दूर नहीं गए हैं, बेंगलूरु में ही हैं।

भाजपा ने ही शुरू किया ऑपरेशन कमल
राधाकृष्ण ने कहा कि ऑपरेशन कमल का शिकार हुए किसी ने भी चुनाव नहीं जीता। आगामी लोकसभा चुनाव में 28 में से 20 क्षेत्रों में जीत हासिल करेंगे। भाजपा सरकार की सत्ता में ऋणभार 49 प्रतिशत बढ़ा है। मई में लोकसभा चुनाव के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूछने वाला तक कोई नहीं होगा। पीएम मोदी देश की जनता को बताएं कि वे कितने घंटे संसद में बैठे हैं।
मोदी को लोकतंत्र पर विश्वास नहीं है। संवाददाता सम्मेलन में धारवाड़ ग्रामीण जिला कांग्रेस अध्यक्ष अनिलकुमार पाटील, महानगर जिला कांग्रेस महासचिव रजत उल्लागट्टिमठ आदि उपस्थित थे।


जानलेवा है नशीली वस्तुओं का सेवन
धारवाड़. नशीली वस्तुओं का सेवन धीमे जहर के प्रभाव की तरह व्यक्ति को धीरे-धीरे खत्म कर देता है। युवा पीढ़ी को नशीली वस्तुओं के चंगुल में फंस कर अपनी जि़ंदगी को बर्बाद नहीं करना चाहिए।

ये विचार हुब्बल्ली -धारवाड़ महानगर पुलिस आयुक्त एमएन नागराज ने व्यक्त किए। वे शनिवार सुबह केई बोर्ड कालेज में आयोजित नशीले पदार्थ के लत विरोधी दिवस के अवसर पर बोल रहे थे। कार्यक्रम पुलिस विभाग की ओर से आयोजित किया गया था।

उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी पर देश को विकसित करने की जिम्मेदारी है। समाज के विकास में बाधा डालने वाली कुकर्म को हटाने में युवकों की भूमिका अहम है। आपराधिक मामलों से संबंधित शिकायतें थाने में अवश्य दर्ज करवानी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज की रक्षा करने की जिम्मेदारी जनता की भी है। पुलिस की वर्दी न होने के बावजूद भी पुलिस के अनुरूप ही जनता को भी समाज की रक्षा करने के प्रति अग्रसर रहना चाहिए।

पुलिस आयुक्त रविंद्र गडादी ने कहा कि नशे की लत से युवाओं की जिंदगी बर्बाद हो जाती है। नशीली वस्तुओं के सेवन, परिवहन व व्यापार जैसे मामले में गिरफ्तार होने पर युवकों को सरकारी या निजी क्षेत्र में नौकरी नहीं मिलती। क्षण भर के सुकून के लिए नशीली वस्तुओं की लत में फंसे विद्यार्थियों का जीवन बर्बाद हो जाता है। अतिथियों का स्वागत केई बोर्ड कॉलेज के प्राचार्य मोहन सिद्धांति ने किया। मंच पर पुलिस उपायुक्त बीएस नेमगौडा, सहायक पुलिस आयुक्त एमएन रुद्रप्पा, प्रोबेशनरी डीवाईएसपी रवि नायक उपस्थित थे। कार्यक्रम में सर्किल पुलिस इन्सपेक्टर (सीपीआई) महांतेश बसापुर, लक्ष्मीकांत तलवार सहित कई पदाधिकारी व विद्यार्थी उपस्थित थे। इस अवसर पर जागरूकता रैली भी निकाली गई।थे।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/no-legislator-will-leave-congress-4009983/

जानलेवा है नशीली वस्तुओं का सेवन


धारवाड़. नशीली वस्तुओं का सेवन धीमे जहर के प्रभाव की तरह व्यक्ति को धीरे-धीरे खत्म कर देता है। युवा पीढ़ी को नशीली वस्तुओं के चंगुल में फंस कर अपनी जि़ंदगी को बर्बाद नहीं करना चाहिए।

ये विचार हुब्बल्ली -धारवाड़ महानगर पुलिस आयुक्त एमएन नागराज ने व्यक्त किए। वे शनिवार सुबह केई बोर्ड कालेज में आयोजित नशीले पदार्थ के लत विरोधी दिवस के अवसर पर बोल रहे थे। कार्यक्रम पुलिस विभाग की ओर से आयोजित किया गया था।

उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी पर देश को विकसित करने की जिम्मेदारी है। समाज के विकास में बाधा डालने वाली कुकर्म को हटाने में युवकों की भूमिका अहम है। आपराधिक मामलों से संबंधित शिकायतें थाने में अवश्य दर्ज करवानी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज की रक्षा करने की जिम्मेदारी जनता की भी है। पुलिस की वर्दी न होने के बावजूद भी पुलिस के अनुरूप ही जनता को भी समाज की रक्षा करने के प्रति अग्रसर रहना चाहिए।

पुलिस आयुक्त रविंद्र गडादी ने कहा कि नशे की लत से युवाओं की जिंदगी बर्बाद हो जाती है। नशीली वस्तुओं के सेवन, परिवहन व व्यापार जैसे मामले में गिरफ्तार होने पर युवकों को सरकारी या निजी क्षेत्र में नौकरी नहीं मिलती। क्षण भर के सुकून के लिए नशीली वस्तुओं की लत में फंसे विद्यार्थियों का जीवन बर्बाद हो जाता है। अतिथियों का स्वागत केई बोर्ड कॉलेज के प्राचार्य मोहन सिद्धांति ने किया। मंच पर पुलिस उपायुक्त बीएस नेमगौडा, सहायक पुलिस आयुक्त एमएन रुद्रप्पा, प्रोबेशनरी डीवाईएसपी रवि नायक उपस्थित थे। कार्यक्रम में सर्किल पुलिस इन्सपेक्टर (सीपीआई) महांतेश बसापुर, लक्ष्मीकांत तलवार सहित कई पदाधिकारी व विद्यार्थी उपस्थित थे। इस अवसर पर जागरूकता रैली भी निकाली गई।

शाहू मराठा महोत्सव और सांस्कृतिक कार्यक्रम २४ से
कोल्हापुर. अखिल भारतीय मराठा महासंघ और मराठा स्वराज्य भवन ट्रस्ट की ओर से २४ जनवरी से चार दिवसीय राजर्षि शाहू मराठा महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। दसरा चौक में महोत्सव और सांस्कृतिक कार्यक्रम शाहू स्मारक भवन में होंगे। सुबह दस बजे महापौर सरिता मोरे उद्घाटन करेंगी।

महासंघ के जिलाध्यक्ष वसंतराव मुलीक ने बताया कि शाहू स्मारक भवन में महोत्सव की तैयारी के लिए प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक हुई। बैठक के बाद मुलीक ने कहा कि मराठा समाज ने आरक्षण हासिल किया। समाज को संगठित रखने के लिए अलग-अलग उपक्रम चलाए जा रहे हैं। समाज के सर्वांगीण विकास के लिए महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। चार दिन अलग-अलग प्रबोधन पर मेला व सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे।

इस कार्यक्रम में छात्रों के कलागुण पेश किए जाएंगे। समाज को संगठित रखने के लिए अलग-अलग समाजों के अध्यक्षों का सम्मान किया जाएगा। पालकमंत्री चंद्रकांत पाटील के साथ जिले के सभी सांसद, विधायकों को महोत्सव के लिए निमंत्रण दिया जाएगा। महोत्सव के आखिरी दिन जिलाधिकारी अविनाश सूबेदार व जिला पुलिस प्रमुख अभिनव देशमुख को निमंत्रित किया जाएगा। इस समय जे.के. पोवार, पंढरीनाथ मांढरे, शैलजा भोसले, डॉ. संदीप पाटील, नितिन हरगुडे, डॉ. शिवाजीराव हिलगे, शिवाजी पाटील, विश्वासराव चौगुले आदि उपस्थित थे।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/deadly-intake-of-narcotics-4009969/

विचाराधीन बंदियों को समय पर नहीं मिल रही सीएआर सुरक्षा



जाकिरहुसैन पट्टणकुडी
हुब्बल्ली. शहर के उपकारागृह के विचाराधीन बंदियों को बाहर ले जाने के दौरान शहर सशस्त्र आरक्षण बल (सीएआर) को समय पर सुरक्षा उपलब्ध नहीं करने के आरोप सुनाई दे रहे हैं। इसके चलते आपात मौकों में बंदियों को बाहर ले जाने वाले कारागृह के कर्मचारियों को समस्या पेश आ रही है।


उपकारागृह के विचाराधीन बंदियों को अदालत में पेश करना पड़ता है। बंदियों को एक जेल से दूसरी जेल में स्थानांतरित करने के दौरान समस्या पेश आती है। इसके अलावा आपात मौकों में इन्हें अस्पताल ले जाना पड़ता है।


कारागृह के एक अधिकारी का कहना है कि बंदियों को बाहर ले जाने पर उन्हें किसी प्रकार की समस्या अथवा खतरा पेश नहीं आना चाहिए, इस पर ध्यान देना चाहिए। इसके अलावा ये बंदी फरार नहीं हो पाएं इस पर भी सतर्कता बरतनी चाहिए। इसके लिए उचित सुरक्षा की जरूरत होती है। इस मुद्दे पर सीएआर आपात तौर पर प्रतिक्रिया नहीं दे रहा है।
कारागृह की पुस्तिका के नियमों के अनुसार सुरक्षा होनी चाहिए। बीमारी जैसे आपात मौकों पर सुरक्षा नहीं होने पर यह बंदी की जान के लिए खतरा हो सकता है। इसके चलते विनती करते ही प्रतिक्रिया व्यक्त की गई तो सुविधा होगी।


वीवीआईपी के आने पर होती है समस्या
मैं कुछ समय सीएआर प्रभारी पुलिस उपायुक्त था। सुरक्षा समस्या के बारे में कोई शिकायत नहीं आई थी। आमतौर पर विनती करने के तुरन्त बाद कर्मचारियों को भेजा जाता है। बड़े मेलों व समारोहों में वीवीआईपी व्यक्तियों के आने के दौरान जरूर थोड़ी समस्या हो सकती है। समस्या होने पर संबंधित अधिकारी के ध्यान में ला सकते हैं।
बी.एस नेमगौड़ा, पुलिस उपायुक्त (अपराध एवं यातायात), हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर

दी जाती है सुरक्षा
बड़े पैमाने के बंदोबस्त होने पर ही कर्मचारियों को तुरंत भेजने में समस्या होती है। इसके अलावा दूसरे मौकों पर सुरक्षा उपलब्ध की जाती है। बीमार बंदियों को अस्पताल ले जाते समय किसी भी कारण देर किए बिना प्रतिक्रिया व्यक्त की जाती है। आखिरकार स्थानीय थाना पुलिसकर्मियों को तो भेजा जाता है। रविंद्र गडादी, पुलिस उपायुक्त (कानून एवं सुव्यवस्था), हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर

अस्पताल, न्यायालय तथा एक जेल से दूसरी जेल को स्थानांतरित करने के दौरान समय पर सीएआर कर्मियों को उपलब्ध करने पर सुविधा होगी। हुब्बल्ली के उपकारागृह में सप्ताह में एक बार किम्स अस्पताल चिकित्सक आकर स्वास्थ्य जांच करते हैं। छुटपुट बीमारी होने पर इलाज करते हैं। बीमारी अधिक होने पर खुद अस्पताल में भर्ती करने के निर्देश देते हैं। एच.ए. चौगुले, अधीक्षक, उपकारागृह हुब्बल्ली


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/cair-security-can-not-be-found-on-detainees-in-question-4009946/

हजार खंभों वाली बस्ती थी मूडबिदरे


सिरसी-कारवार. प्रथम अतिरिक्त जिला तथा सत्र न्यायालय के न्यायाधीश शांतवीर शिवप्पा ने कहा कि पहले मूडबिदरे हजार खंभों वाली एक ही बस्ती थी। वहीं आज मूडबिदरे शिक्षा संस्थान तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए जाना जाता है। वे गुरुवार शाम सिरसी के विकास आश्रम मैदान में आयोजित आल्वास सांस्कृतिक उत्सव के उद्घाटन के दौरान बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि मानसिक दबाव कम करने के लिए इस प्रकार के कार्यक्रम अनुपूरक हैं। कार्यक्रम जिलाप्रशासन उत्तर कन्नड़, पर्यटन विभाग आल्वास शिक्षा प्रतिष्ठान मूडबिदरे, आल्वास नुडिसिरी इकाई की ओर से आयोजित किया गया था। सिरसी उपविभागीय अधिकारी के.राजु मोगवीर ने कहा कि प्रत्येक कला जीवन के अतीत के बारे में बताता है।

उन्होंने कहा कि आचार-विचारों को समझना कला से ही संभव है। यल्लापुर संकल्प संस्थान के प्रमोद हेगड़े ने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर डॉ.शिवराम केवी, दीपक हेगड़े दोड्डूर, रविंद्र हेगड़े, तालुक पंचायत की अध्यक्ष श्रीलता कालेरमने सहित कई उपस्थित थे।

उत्तर पूर्व परिवहन संस्थान के श्रमिकों ने दिया धरना
बल्लारी. उत्तर पूर्व परिवहन संस्थान के विभागीय नियंत्रक के खिलाफ श्रमिकों ने संस्थान के विभागीय कार्यालय के सामने शनिवार को धरना दिया। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि नियंत्रक चंद्रशेखर श्रमिकों की समस्याएं सुनने के बजाय पीडि़त कर रहे हैं। केएसआरटीसी स्टाफ तथा श्रमिक फेडरेशन के अध्यक्ष एचवी अनंत सुब्बराव ने कहा कि सदैव श्रमिकों को पीडि़त करना उचित नहीं है।

नियंत्रक चंद्रशेखर ना तो वरिष्ठ अधिकारियों को सहयोग दे रहे हैं और ना ही श्रमिक संगठन के नेताओं के साथ परामर्श ही कर रहे हैं जो अनुचित है। सुब्बाराव ने कहा कि डिपो में ना ही पेयजल की व्यवस्था है और ना ही शौचालय की सुविधा ही है। बेवजह नौकरी से हटाए गए श्रमिकों को पुन: नौकरी पर रखने की मांग रखी। प्रदर्शन में के. नागभूषण राव, आदिमूर्ति, टी. चेन्नप्पा, जी. शिवकुमार सहित कई उपस्थित थे।

छुट्टी पर आए सैनिक की दुर्घटना में मौत
बेलगावी. नागरमुनोली गांव के पास निप्पनी-मुधोल स्टेट हाइवे पर एक ट्रैक्टर की टक्कर से बाइक पर सवार एक व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि 28 वर्षीय योद्धा सिकंदर मुल्तानी की मौके पर ही मौत हो गई थी। मुल्तानी ने मद्रास इंजीनियरिंग में पंजाब में पिछले 9 वर्षों तक सेवा की थी। चालीस दिन की छुट्टी पर अपने गांव बेलगावी जिले की चिक्कोडी तहसील के नागरमनवली गांव आया था। चिक्कोडी पुलिस ने मौके पर जाकर जांच की। इसके बाद मामला दर्ज कर लिया।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/moodwave-was-a-thousand-slopes-4009930/

उत्तर पूर्व परिवहन संस्थान के श्रमिकों ने दिया धरना


बल्लारी. उत्तर पूर्व परिवहन संस्थान के विभागीय नियंत्रक के खिलाफ श्रमिकों ने संस्थान के विभागीय कार्यालय के सामने शनिवार को धरना दिया। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि नियंत्रक चंद्रशेखर श्रमिकों की समस्याएं सुनने के बजाय पीडि़त कर रहे हैं। केएसआरटीसी स्टाफ तथा श्रमिक फेडरेशन के अध्यक्ष एचवी अनंत सुब्बराव ने कहा कि सदैव श्रमिकों को पीडि़त करना उचित नहीं है।

नियंत्रक चंद्रशेखर ना तो वरिष्ठ अधिकारियों को सहयोग दे रहे हैं और ना ही श्रमिक संगठन के नेताओं के साथ परामर्श ही कर रहे हैं जो अनुचित है। सुब्बाराव ने कहा कि डिपो में ना ही पेयजल की व्यवस्था है और ना ही शौचालय की सुविधा ही है। बेवजह नौकरी से हटाए गए श्रमिकों को पुन: नौकरी पर रखने की मांग रखी। प्रदर्शन में के. नागभूषण राव, आदिमूर्ति, टी. चेन्नप्पा, जी. शिवकुमार सहित कई उपस्थित थे।

छुट्टी पर आए सैनिक की दुर्घटना में मौत
बेलगावी. नागरमुनोली गांव के पास निप्पनी-मुधोल स्टेट हाइवे पर एक ट्रैक्टर की टक्कर से बाइक पर सवार एक व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि 28 वर्षीय योद्धा सिकंदर मुल्तानी की मौके पर ही मौत हो गई थी। मुल्तानी ने मद्रास इंजीनियरिंग में पंजाब में पिछले 9 वर्षों तक सेवा की थी। चालीस दिन की छुट्टी पर अपने गांव बेलगावी जिले की चिक्कोडी तहसील के नागरमनवली गांव आया था। चिक्कोडी पुलिस ने मौके पर जाकर जांच की। इसके बाद मामला दर्ज कर लिया।

रिसॉर्ट राजनीति को भाजपा ने दिया बढ़ावा

हुब्बल्ली. राजस्व मंत्री आरवी देशपांडे ने कहा है कि बढ़ती रिसॉर्ट राजनीति चिंता का विषय है। हाल के वर्षों भाजपा ने ही रिसॉर्ट राजनीति संस्कृति विकसित की है।


शहर के हवाई अड्डे पर शनिवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए देशपांडे ने कहा कि रिसॉर्ट राजनीति ही करनी होती तो हम क्यों यहां आते थे। हाल ही के दिनों में इस रिसॉर्ट राजनीति की परम्परा विकसित हो रही है। यह केवल कांग्रेस पार्टी तक ही सीमित नहीं है। इतने दिनों तक भाजपा वाले क्या कर रहे थे। प्रशासन अच्छी प्रकार से चल रहा है। हमारे विधायक शुक्रवार शाम ही रिसॉर्ट गए हैं। भाजपा विधायक पिछले आठ दिनों से रिसॉर्ट में हैं। हमारे पार्टी के सभी विधायकों पर हमें विश्वास है। विश्वास पर संदेह नहीं होना चाहिए।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/north-eastern-transportation-institute-workers-4009901/

छुट्टी पर आए सैनिक की दुर्घटना में मौत


बेलगावी. नागरमुनोली गांव के पास निप्पनी-मुधोल स्टेट हाइवे पर एक ट्रैक्टर की टक्कर से बाइक पर सवार एक व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि 28 वर्षीय योद्धा सिकंदर मुल्तानी की मौके पर ही मौत हो गई थी।

मुल्तानी ने मद्रास इंजीनियरिंग में पंजाब में पिछले 9 वर्षों तक सेवा की थी। चालीस दिन की छुट्टी पर अपने गांव बेलगावी जिले की चिक्कोडी तहसील के नागरमनवली गांव आया था। चिक्कोडी पुलिस ने मौके पर जाकर जांच की। इसके बाद मामला दर्ज कर लिया।

रिसॉर्ट राजनीति को भाजपा ने दिया बढ़ावा

हुब्बल्ली. राजस्व मंत्री आरवी देशपांडे ने कहा है कि बढ़ती रिसॉर्ट राजनीति चिंता का विषय है। हाल के वर्षों भाजपा ने ही रिसॉर्ट राजनीति संस्कृति विकसित की है।


शहर के हवाई अड्डे पर शनिवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए देशपांडे ने कहा कि रिसॉर्ट राजनीति ही करनी होती तो हम क्यों यहां आते थे। हाल ही के दिनों में इस रिसॉर्ट राजनीति की परम्परा विकसित हो रही है। यह केवल कांग्रेस पार्टी तक ही सीमित नहीं है। इतने दिनों तक भाजपा वाले क्या कर रहे थे। प्रशासन अच्छी प्रकार से चल रहा है। हमारे विधायक शुक्रवार शाम ही रिसॉर्ट गए हैं। भाजपा विधायक पिछले आठ दिनों से रिसॉर्ट में हैं। हमारे पार्टी के सभी विधायकों पर हमें विश्वास है। विश्वास पर संदेह नहीं होना चाहिए।


उन्होंने कहा कि हाल के वर्षों में भाजपा ने रिसॉर्ट राजनीति की संस्कृति विकसित की है। भाजपा वाले हमारे विधायकों को लालच देने की वजह से रिसॉर्ट में जमा हुए हैं। भाजपा के लाख प्रयास करने के बाद भी वह हमारे विधायकों को विश्वास में ले नहीं पा रही है। हमारे सभी विधायकों पर हमें विश्वास है परन्तु भाजपा वाले हमारे विधायकों को तकलीफ दे रहे हैं। कई प्रकार के लालच देकर खींचने की कोशिश कर रहे हैं। इसके बावजूद सरकार को कोई खतरा नहीं है। सरकार सुरक्षित और मजबूत है।


देशपांडे ने कहा कि राज्य में 156 तालुकों को सूखाग्रस्त तालुक घोषित किया गया है। सूखाग्रस्त घोषित तालुकों में पेयजल व्यवस्था उपलब्ध करने व मवेशियों को चारा उपलब्ध करने के लिए सभी प्रकार की व्यवस्था की गई है। सूखा अध्ययन के लिए चार मंत्रिमंडल की उपसमितियों का गठन किया गया है। सूखाग्रस्त घोषित तालुकों के लिए एक करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं। हाल ही में घोषित नए तालुकों के लिए भी 50 लाख रुपए मंजूर किए गए हैं। भेड़-बकरी विकास निगम की ओर से भी पांच करोड़ रुपए सूखा राहत कार्य के लिए दिए गए हैं। 15 लाख रुपए का चारा किट वितरित किया गया है। जिन तालुकों में सूखा नहीं है वहां पेयजल के लिए 15 लाख रुपए दिए गए हैं। तीन-चार दिन पूर्व विजयपुर, गदग, बागलकोट, हावेरी का दौरा किया गया है। सूखाग्रस्त जिलों का दौरा किया जा रही है। शनिवार को धारवाड़ जिले के सूखाग्रस्त तालुकों का दौरा कर रहे हैं। सूखाग्रस्त तालुकों का दौरा कर फसल की स्थिति, पेयजल का जायजा लिया जाएगा। सूखे से निपटने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया गया है।


उन्होंने कहा कि पशुपालन विभाग की ओर से मवेशियों को चारे की व्यवस्था के लिए 15 करोड़ रुपए दिए गए हैं। कहीं पर भी पेयजल की समस्या नहीं होनी चाहिए इस पर ध्यान दिया जा रहा है। जनता समेत मवेशियों को भी समस्या नहीं होनी चाहिए इस बारे में अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। सूखे के कारण रोजगार की तलाश में ग्रामीणों के शहरों की ओर पलायन को रोकने की कार्रवाई की गई है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/death-due-to-accident-in-a-military-accident-4009887/

रिसॉर्ट राजनीति को भाजपा ने दिया बढ़ावा


हुब्बल्ली. राजस्व मंत्री आरवी देशपांडे ने कहा है कि बढ़ती रिसॉर्ट राजनीति चिंता का विषय है। हाल के वर्षों भाजपा ने ही रिसॉर्ट राजनीति संस्कृति विकसित की है। शहर के हवाई अड्डे पर शनिवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए देशपांडे ने कहा कि रिसॉर्ट राजनीति ही करनी होती तो हम क्यों यहां आते थे।

हाल ही के दिनों में इस रिसॉर्ट राजनीति की परम्परा विकसित हो रही है। यह केवल कांग्रेस पार्टी तक ही सीमित नहीं है। इतने दिनों तक भाजपा वाले क्या कर रहे थे। प्रशासन अच्छी प्रकार से चल रहा है। हमारे विधायक शुक्रवार शाम ही रिसॉर्ट गए हैं। भाजपा विधायक पिछले आठ दिनों से रिसॉर्ट में हैं। हमारे पार्टी के सभी विधायकों पर हमें विश्वास है। विश्वास पर संदेह नहीं होना चाहिए।


उन्होंने कहा कि हाल के वर्षों में भाजपा ने रिसॉर्ट राजनीति की संस्कृति विकसित की है। भाजपा वाले हमारे विधायकों को लालच देने की वजह से रिसॉर्ट में जमा हुए हैं। भाजपा के लाख प्रयास करने के बाद भी वह हमारे विधायकों को विश्वास में ले नहीं पा रही है। हमारे सभी विधायकों पर हमें विश्वास है परन्तु भाजपा वाले हमारे विधायकों को तकलीफ दे रहे हैं। कई प्रकार के लालच देकर खींचने की कोशिश कर रहे हैं। इसके बावजूद सरकार को कोई खतरा नहीं है। सरकार सुरक्षित और मजबूत है।


देशपांडे ने कहा कि राज्य में 156 तालुकों को सूखाग्रस्त तालुक घोषित किया गया है। सूखाग्रस्त घोषित तालुकों में पेयजल व्यवस्था उपलब्ध करने व मवेशियों को चारा उपलब्ध करने के लिए सभी प्रकार की व्यवस्था की गई है। सूखा अध्ययन के लिए चार मंत्रिमंडल की उपसमितियों का गठन किया गया है। सूखाग्रस्त घोषित तालुकों के लिए एक करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं। हाल ही में घोषित नए तालुकों के लिए भी 50 लाख रुपए मंजूर किए गए हैं। भेड़-बकरी विकास निगम की ओर से भी पांच करोड़ रुपए सूखा राहत कार्य के लिए दिए गए हैं।

15 लाख रुपए का चारा किट वितरित किया गया है। जिन तालुकों में सूखा नहीं है वहां पेयजल के लिए 15 लाख रुपए दिए गए हैं। तीन-चार दिन पूर्व विजयपुर, गदग, बागलकोट, हावेरी का दौरा किया गया है। सूखाग्रस्त जिलों का दौरा किया जा रही है। शनिवार को धारवाड़ जिले के सूखाग्रस्त तालुकों का दौरा कर रहे हैं। सूखाग्रस्त तालुकों का दौरा कर फसल की स्थिति, पेयजल का जायजा लिया जाएगा। सूखे से निपटने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया गया है।


उन्होंने कहा कि पशुपालन विभाग की ओर से मवेशियों को चारे की व्यवस्था के लिए 15 करोड़ रुपए दिए गए हैं। कहीं पर भी पेयजल की समस्या नहीं होनी चाहिए इस पर ध्यान दिया जा रहा है। जनता समेत मवेशियों को भी समस्या नहीं होनी चाहिए इस बारे में अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। सूखे के कारण रोजगार की तलाश में ग्रामीणों के शहरों की ओर पलायन को रोकने की कार्रवाई की गई है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/bjp-gives-a-boost-to-resort-politics-4009877/

काली सूची में होंगे घटिया निर्माण करने वाले ठेकेदार : महापौर


बेंगलूरु. महापौर गंगाम्बिका ने फिर दोहराया है कि घटिया निर्माण कार्य करने वाले ठेकेदारों को काली सूची में शामिल किया जाएगा।
उन्होंने येडियूर वैदिक केंद्र का उद्घाटन करते हुए कहा कि जय नगर चौथे ब्लॉक के ११वें, १२वें मेन रोड के करीब टेंडर श्यूर के तहत सडक़ों का निर्माण गुणवत्तापूर्ण नहीं होने की शिकायतों के बाद कार्य रोक दिया गया है। वहां का दौरा किया जाएगा और शिकायतें सही साबित हुईं तो ठेकेदारों को एक रुपया भी भुगतान नहीं होगा। साथ ही ठेकेदारों का नाम काली सूची में डाल दिया जाएगा। घटिया निर्माम की जांच पालिका के आयुक्त की अध्यक्षता वाली सतर्कता समिति के द्वारा करवाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि शहर को स्वच्छ रखने के बजाय बहुत से लोग यहां-वहां कचरा फेंक कर रहे हैं। प्रतिबंधित स्थानों पर कचरा फेंकने वालों पर जुर्माना लगाया जा रहा है, फिर भी स्थिति नहीं सुधर रही है। यही हालत रहे रहे तो ऐसे लोगों को कुछ दिनों के लिए जेल भेजने के प्रावधान किए जाने पर विचार करना होगा।

उन्होंने कहा कि पालिका ने येडियूर वार्ड में झील के पास ६० लाख रुपए खर्च कर अत्याधुनिक वैदिक केंद्र बनाया गया है। धार्मिक अनुष्ठान के लिए सुविधा उपलब्ध की गई है। इस अवसर पर उप महापौर भद्रेगौड़ा, आयुक्त एन. मंजुनाथ प्रसाद, पार्षद पूर्णिमा रमेश और अन्य कई पार्षद, पालिका के अधिकारी उपस्थित थे।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/bangalore-news/contractors-who-will-do-poor-construction-will-be-black-listed-4009402/

SHARE THIS


Subscribe via Email


Explore Jobs/Opportunities
Jobs Jobs / Opportunities / Career
Haryana Jobs / Opportunities / Career
Bank Jobs / Opportunities / Career
Delhi Jobs / Opportunities / Career
Sarkari Naukri Jobs / Opportunities / Career
Uttar Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Himachal Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Rajasthan Jobs / Opportunities / Career
Scholorship Jobs / Opportunities / Career
Engineering Jobs / Opportunities / Career
Railway Jobs / Opportunities / Career
Defense & Police Jobs / Opportunities / Career
Gujarat Jobs / Opportunities / Career
West Bengal Jobs / Opportunities / Career
Bihar Jobs / Opportunities / Career
Uttarakhand Jobs / Opportunities / Career
Punjab Jobs / Opportunities / Career
Admission Jobs / Opportunities / Career
Jammu and Kashmir Jobs / Opportunities / Career
Madhya Pradesh Jobs / Opportunities / Career
Explore Articles / Stories
Education
Government Schemes
News
Career
Admit Card
Bihar
State Government Schemes
Study Material
Technology
DATA
Public Utility Forms
Travel
Sample Question Paper
Exam Result
Employment News
Scholorship
Syllabus
Festival
Business
Wallpaper
Explore more
Main Page
Register / Login
Like our Facebook Page
Follow on Twitter
Subscrive Our Newsletter Via Nuzzle
Get Updates Via Rss Feed
Sarkari Niyukti
Free Online Practice Set
Latest Jobs
Feed contents
Useful Links
Photo
Video
Post Jobs
Post Contents
Supremedeal : India Business Directory
Find IFSC Code
Find Post Office / Pincode
Contact us
Best Deal

Disclaimer: we only provide job information. we are not associated with any job website. Although we take extreme care for accuracy of the information provided, but you must check the authenticity of the website before applying for the job. We are not responsible for your operation , once you leave our website and apply thereafter. Please recheck the genuineness of the job website from yourself also.

Copyright © 2018. Website template by WebThemez.com